एक्स एचडी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी में बीएफ चुदाई करते हुए

तस्वीर का शीर्षक ,

এডেল বই এডেল: एक्स एचडी बीएफ वीडियो, एक दिन प्रजनन अंगों के बारे में पढ़ाना था तो उसने सेक्स नॉलेज के लिए स्पर्म के बारे में पूछा.

देहाती मे बीएफ

मैंने उसके हाथ में अपना हाथ दिया और उसने मुझे उठाया और फिर दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया. बीएफ वीडियो देखिए बीएफकमलनाथ ने झट से राजेश्वरी को रोका और उसे पीठ के बल चित्त लिटा दिया.

लेकिन मेरे जोर देने पर फिर वो मान गई, बोली- अगर दर्द हुआ तो निकाल देना. गुजराती लड़की सेक्सी बीएफइधर राजेश ने मुझे साफ-साफ कहा- समीर बात ये है कि वैसे तो हम दोनों ही पेड (पैसे लेने वाले) कपल हैं, मेरी वाइफ पैसे लेकर सेक्स करती है.

मैंने सीधे बोल दिया कि मैं तो इसके साथ सेक्स करने के लिए कुछ भी कर जाऊंगा.एक्स एचडी बीएफ वीडियो: 32 के साइज के चूचियां थीं और गांड एकदम मस्त और बिल्कुल बाहर निकली हुई थी.

मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों लोग नंगे थे और वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मेरी चूची को दबा रहा था.मैंने पूछा- क्या तुमको इसके बारे में भी विस्तार से जानना है?वो बोली- हां सर, प्लीज!मैंने उसकी चूत पर अपनी जीभ को रख दिया और उसमें जीभ घुसाते हुए उसको चूसा और फिर दोबारा बाहर निकाल कर कहा- मर्द इसको इस तरह से प्यार करता है.

star बीएफ - एक्स एचडी बीएफ वीडियो

मैंने उसको शांत करने की कोशिश की लेकिन वो चुप नहीं हो रही थी और दर्द से कराह रही थी.मैंने कॉल किया, तो मेरे कुछ बोलने से पहले ही वह बोल उठी- कहां थे अब तक? कितने फोन किए … सुबह कुछ करने नहीं दिया, तो क्या नाराज हो गए?फिर मैंने उसे समझाया कि मैं नाराज नहीं हुआ हूं … मैं तुम्हारा ही वेट कर रहा था और मुझे कब नींद आ गई, पता ही नहीं लगा.

मैं उसकी चूत चाटने के साथ ही अपने हाथ ऊपर करके उसके रसीले मम्मों को अपने हाथों से मसल रहा था. एक्स एचडी बीएफ वीडियो सुरेश अपना पूरा लंड अन्दर डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था, जिससे मुझे और भी मजा आ रहा था और साथ में मुझे शांति भी मिल रही थी.

दरअसल ये खेल ऐसा है, जिसमें लोग अपनी अपनी काल्पनिक भूमिका में नाटक करते हुए संभोग की क्रियाएं करते हैं.

एक्स एचडी बीएफ वीडियो?

उनको क्या पता था ये बच्चा अब उनकी जवानी के क्या क्या करने की सोचने लगा है. अब रवि ने अपने एक एक हाथों से उसकी दोनों जांघों को पकड़ा और अपनी कमर से दबाब देते हुए पूरा का पूरा लिंग रमा की योनि में उतार दिया. और मैं ये भी जानती हूं कि तुम उस दिन टॉयलेट में मुठ मार रहे थे मेरे नाम की! सच कहूँ तो मैं भी उस दिन चुदना चाहती थी लेकिन मौका नहीं मिला.

फिर मैंने पूरा लंड घुसा कर चोदना शुरू कर दिया और वो दर्द भरी सिसकारियों के साथ चुदने लगी. उन्होंने आह भरी और मुझे चूचे सहलाने के लिए मेरे हाथ को अपने हाथ से दबा दिया. तब मॉम ने कहा- हमारा परिवार चुत मारने वाला परिवार है … तुझसे पहले तेरा भाई मुझे चोद चुका है.

लेकिन कोई तरीका समझ में नहीं आ रहा था। मैं कभी-कभी कोई अश्लील फिल्म की सीडी लाकर रात में फिल्म भी देख लेता था जिससे मेरे मन में चुदाई करने की चाहत और तेज होती जा रही थी।एक दिन मैंने सोचा कि क्यूँ ना अपनी साली को पटाया जाए चुदाई के लिए … इससे मेरा काम बहुत आसान हो जाएगा और जब तक पत्नी नहीं आती है, तब तक जब भी मन करेगा, भरपूर मज़े ले सकूँगा. दो गिलास पेप्सी मतलब दो पेग व्हिस्की अन्दर हो गई तो मैं नमिता को लेकर बेडरूम में आ गया. फिर वो कहने लगी कि चूत में लंड डालो तो मैंने कहा कि अगर तुम सफाई करने दोगी तो ही मैं डालूंगा.

उस छेद से सब कुछ साफ नजर आ रहा था क्योंकि बाथरूम का वो छेद थोड़ा बड़ा था. इसी बीच वो कहने लगी- अब तुम मेरे ऊपर आ जाओ!मैं उनके ऊपर आकर उनकी चूत मारने लगा और मैं भी बोला- भाबी, मुझे भी तुम शुरू से ही बहुत ज्यादा पसंद थी.

हम दोनों आपस में बातें करते हुए ऐसे दिखा रहे थे कि सब कुछ नॉर्मल ही हो रहा है.

सौ एकड़ जमीन थी उसकी लगभग। घर के आस पास बहुत सारे आम के बगीचे थे और बगीचे से बाहर खेत ही खेत थे.

मेरे अलग होते ही रवि ने निर्मला को धकेलते हुए उसे नीचे जमीन पर गिरा कर लिटा दिया और उसकी दोनों टांगें फैला उसके मोटी मांसल जांघों के बीच झुक गया. मेरे दिमाग में एकदम से घंटी बजी और बचपन का एक डायलाग याद आ गया जब हम कुछ कमीन दोस्त किसी भी बड़े चूचे वाली लड़की को देख कर लव स्कूल कह देते थे. कुछ देर तक ऐसे ही करने के बाद मुझसे रहा न गया और मैंने अपने मोटे लंड जोर से भाभी की चूत में पेल दिया तो भाभी की आह्ह निकल गई.

मेरे लंड में तनाव आने लगा था और मैं जान बूझ कर मौसी की गांड के छेद तक पहुंचने की कोशिश करने लगा. वो मेरी गुलाम बन के रहेगी, मैं उसे किसी से भी चुदवाऊंगी, कितने भी कस्टमर चढ़वाऊंगी … तेरे को उससे कोई मतलब नहीं रहेगा. उसने मेरी टांग को चूमते हुए एक हाथ से मेरे स्तन को मसलना शुरू किया और एक हाथ से मेरी दूसरी जांघ पकड़ ली.

वो अपनी चूत और गांड चुदाई में मिले आनन्द के कारण बहुत खुश नजर आ रही थी।उसके बाद हम लोगों ने कुछ देर आराम किया.

कविता भी अब गर्म हो चुकी थी, पर अपने किरदार के वजह से वो केवल कसमसा रही थी. एक दिन की बात है मेरा साले ने फोन करके बताया कि आज मैं आपके घर पर नहीं आ पाऊंगा, काम का लोड ज्यादा है, इसलिए आप विशाखा का ख्याल रखना. रवि के अण्डकोषों से एक एक बूंद बूंद करके वो झाग बिस्तर पर गिर कर फैल गया था.

मैं उसके मुँह को अपने लंड से चोदता रहा और ऊपर से ही उसके चूतड़ों पर ज़ोर ज़ोर से झापड़ मारता रहा. [emailprotected]अन्तर्वासना डॉट कॉम स्टोरी का अगला भाग:कमसिन लड़की की अनचुदी बुर ठोकी. मैंने चादर को मुठ्ठियों में भर लिया और उसके धक्कों के साथ अपनी आवाजें निकालने लगी.

अब जब भी साराह मैम का फोन आता तो ज्यादातर बात गर्लफ्रेंड को लेकर ही होती और वो मुझे समझाती रहती थी.

मुझे वहां उस जगह रहने में कुछ दिनों तक कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा क्योंकि उस जगह के बारे में मुझे कुछ भी मालूम नहीं था. मैंने अपनी पैंट को निकाल दिया और फिर अपने अंडरवियर को भी निकाल कर एक तरफ डाल दिया.

एक्स एचडी बीएफ वीडियो कुछ ही पलों में कविता और कांतिलाल एक दूसरे में घुल से गए और एक दूसरे का परस्पर साथ देने लगे. मैं भी चुपके से उसके नहाने वाली जगह पर चला गया और फिर हमेशा की तरह जब वो अंदर आई तो हम दोनों शुरू हो गये.

एक्स एचडी बीएफ वीडियो हो सकता है कि मेरे कुछ साथियों को मेरी ये बात कुछ फेंकालॉजी लगे, मगर ये सही बात है. मैं सोफे की तरफ गई … तो रमा बोली- अरे साड़ी वाड़ी तो उतार ही दे तू … अभी और ग्राहक दे रही हूँ आज तुझे.

अब मैं उठा और उसके दुपट्टे से अपने लंड को साफ़ करके सोफे पर बैठ गया.

সানি লিওনের বিএফ এইচডি

भाभी लंड चूसते हुए बोल रही थीं- क्या मस्त लंड है तेरा विशाल … तेरे भैया का तो इसका आधा भी नहीं है … उनको चुदाई में मन ही नहीं लगता है, आज तो तू मेरी चूत फाड़ ही देगा. मैं जहां तक अपने अनुभव से जानती हूं कि इस तरह के आसन में मर्दों को ज्यादा आनन्द आता है … क्योंकि लिंग का ऊपरी हिस्सा योनि के अन्दर सीधे जाता है, जबकि योनि का रास्ता पेट की तरफ होता है. पर मुझे पता था कि लंड कैसे डालना है।मैंने कुछ देर और आधे लंड को अंदर बाहर किया और उसके बूब्स से खेलता रहा।जब मुझे लगा कि अब सोनम सामान्य हो चुकी है और दर्द सहने के लिये तैयार है.

अगले मैं उस कमरे में बीस मिनट पहले ही आ गया और उसके आने का इन्तजार करने लगा. तो उस दिन मैंने देखा कि वो एक बस स्टैंड पर खड़ी हुई शायद बस का इंतजार कर रही थी. हम सबने अपनी अपनी पैंटी घुटनों तक सरकाया और एक कतार में गमलों के ऊपर बैठ गए.

तभी एक पुलिस वाला आया और मौसी से बोला- नया माल लाई हो मौसी!ऐसा बोल कर उसने मेरी बीवी को खड़ा किया और उसके मम्मे दबा दिए.

आधे घंटे तक प्रयास करने के बाद आखिरकार सबने हार मान ली और सब बैठ गए. मैंने उससे पूछा- तुम्हें और आगे पढ़ना है या शादी करनी है?वो बोली- मुझे आगे और पढ़ना है. मैं भी उसका साथ देने लगी और अपनी गांड उठा उठाकर उसका लंड अपनी चूत में लेने लगी.

अंतरा और जोर से चिल्लाने लगी, मैंने उसकी आवाज को अनसुना करके अपनी स्पीड बढ़ा दी और अंतरा के होंठों को किस करने लगा. मैं एक ऐसी चुत की तलाश में था जो मेरे लंड का पानी अपनी चुत में लेकर निकलवा सके. वो मेरी टांगों को चूमता हुआ चूतड़ तक पहुंच गया और किसी भूखे भेड़िये की तरह चूमता हुआ मेरी पीठ और पीठ से दोबारा चूतड़ों तक चूमता रहा.

वो मुझे रोज काव्या की तस्वीरें देता था, लेकिन कभी उसने मुझे उसकी एक भी न्यूड फोटो नहीं दी. शोभा को इस हालत में देख कर मेरा तो लन्ड खड़ा हो चुका था, ये युक्ता ने भी महसूस कर लिया था.

सुरेश अपना लंड पकड़ कर मुठ मारने लगा और उसके बाद उसने मेरी ब्रा और पेंटी निकाल दिया. उसने मुझे कांतिलाल के साथ ही रहने को कहा और फिर मुझे एक नए तरह के कपड़े दे दिए. जब मैंने महसूस किया कि अब यह पूरी गर्म हो चुकी है, तो मैंने धीरे से उसके कान में कहा- चलो बगल वाले कमरे में चलते हैं.

अपूर्वा बोली- मुझे पता नहीं था तुम्हें ये सब इतना पसंद है और शादीशुदा औरतें बहुत पसंद हैं.

वहां पहुंचने में अभी पूरे हफ्ते का समय था क्यूंकि मेरे पास पांच दिन लगातार काम था. शुरू-शुरू में एक दो दिन मैंने उसे काम करते देखा तो मैंने उसके स्तनों की तरफ ध्यान दिया जो कि बहुत ही रसभरे मालूम होते थे. मैंने एक दो दिन ध्यान से देखा कि वो रोज बगीचे की तरफ पहले पेशाब करने के लिए जाती थी.

सफर के दौरान कई बार तो हमको अपनी यह ट्रेन सेक्स स्टोरी आगे बढ़ाने का मौका मिल जाता था लेकिन कई बार नहीं मिल पाता था. वह मेरे साथ जमकर सेक्स करती है।एक बार मैं उसे दुकान में चोद रहा था.

बीच बीच में वह मेरे लंड को दबा भी रही थी अपने हाथों की मुट्ठी में भर कर वह मेरे लंड को भींच देती थी। लेकिन लंड से अभी भी थोड़ा थोड़ा खून निकल रहा था. अब जब मैंने दोबारा मम्मी की चुदाई शुरू की, तो मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत में जा रहा था. मुझे कांतिलाल के ऊपर चढ़ कर उसका लिंग अपनी योनि में लेने में ज्यादा देर नहीं लगी थी.

सेक्सी में सेक्स

कमलनाथ- क्यों तुम्हारी दीदी तुम्हें नहीं बताती क्या?राजेश्वरी- नहीं.

वो हाथ में मेरा लंड महसूस करके बोलने लगी- या अल्लाह … कितना लंबा और मोटा है. आज ये वाकिया सगाई टूटने के करीब तीन महीने बाद का था, जब मुझे वो लड़की मिली थी. कभी कभी मैं दोनों चुचियों को एक साथ सटा कर चाटने की कोशिश भी करता था, लेकिन चूचों के बड़े साइज़ के चलते मैं पूरी तरह से ऐसा नहीं कर पा रहा था.

रवि के धक्के आराम और धीमी गति के थे, जिससे मैं समझ गई थी कि थकान की वजह से जोश और उत्तेजना दोनों ही कम हो गए थे. उन्होंने मेरा लंड झट से अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगीं. सेक्सी बीएफ पिक्चर सेक्सी वीडियोमैंने धीरे से सुपारे का अगला भाग दीदी की गांड में घुसाया तो वो उचक गई.

रास्ते में बातें करते हुए मैंने बहाने से भाभी से उनकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछने की कोशिश की. चूंकि उन्होंने मुझे कुछ विशेष सुविधा दी थी, इसलिए मैं विरोध नहीं कर सकी.

भाभी ने अपने मस्त चूचों को मेरी कुहनी के आगे वाले भाग की तरफ अपने चूचों को मेरे हाथ से सटा दिया और मेरे हाथ पर अपने चूचों को स्पर्श देने लगी. इस तरह कमलनाथ यानि लड़के के भाई ने राजेश्वरी (लड़की की बहन) को राजी कर लिया. कमलनाथ दनादन धक्के मारे जा रहा था और कविता वहीं कराह कराह कर अपने चूतड़ों को उठाने का प्रयास कर रही थी.

रवि अब केवल धक्के ही नहीं मार रहा था बल्कि धक्कों के साथ साथ मेरे शरीर के अंगों को सहलाकर, दबा और मसल कर उनका आनन्द ले रहा था. मेरी योनि की पंखुड़ियों को अपनी उंगलियों से फैला कर बोला- वाह कितनी प्यारी, सुंदर और कामुक है तुम्हारी चुत … और देखो यही तो है स्वर्ग जाने का रास्ता. पहले तो मैंने नहीं उठाया, फिर डरते डरते कॉल उठाया, तो सामने नलिनी थी.

तीन लंड अपने तीनों छेदों में लेकर भाभी शायद गांड चुदाई के दर्द को भी भूल गई थी.

फिर वो अपना लहंगा ठीक करने लगी और मैं पास में खड़ा होकर पेशाब करने लगा. मैंने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और किरण ने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिये.

दीदी ने जब यह बात सुनी तो पहले वो गुस्से से बोलीं- तूने हमारी बातें ऐसे छुपकर क्यों सुनी?मैंने कहा- सॉरी दीदी. उसकी जांघिया को देख कर एक पल के लिए कोई भी कह सकता था कि वो औरतों वाली पैंटी है या मर्द के लिए भी ऐसे चलती है. वो बोली- तो तुमने मुझसे कभी कहा क्यों नहीं?उसके जवाब में मैंने कहा- ये तो मेरी फीलिंग थी.

मैं अभी शांत होने को ही थी कि उसने भी अपनी पिचकारी जोरदार धक्कों के साथ छोड़नी शुरू कर दी. मैं भी बहुत गर्म थी, सो मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं हुई और मैं बिना रुके धक्के लगाने लगी. और वैसे भी मैं अपने कमरे में अकेली ही सोऊंगी। मुझे अकेले नींद भी नहीं आती है, अजीब सा लगता है.

एक्स एचडी बीएफ वीडियो ये उन दिनों की बात है जब शुरू शुरू में कोरोना वायरस के चलते दुनिया में चारों और उथल पुथल मचने लगी थी। फिर भारत में भी मामले आने शुरू हो गये. मोनू के सिर के पास सोनू चला गया और उसने वहां बैठ कर भाभी को लंड चुसवाना शुरू कर दिया.

गांव की देहाती चुदाई वीडियो

(यह उसका काल्पनिक नाम है असली नाम नहीं बताऊंगा)मैंने चौंकते हुए पूछा कि कौन रूबीना?तो उसने कहा कि मैं वही रूबीना, जिसे आप रोज देखते हैं और बात तक नहीं करते. हम होटल से बाहर आ कर एक गार्डन में गए और वहां कुछ देर बैठकर एक दूसरे की बाँहों एक दूसरे को किस किया. उसकी बात सुनकर मैं थोड़ा मुस्कुराया और मैंने कहा- हर तरह का?वो एक पल के लिए झेंपी लेकिन अगले ही पल बोली- हां, हर तरह का खेल खेलने को राजी हूँ.

नमिता की कमर पकड़ कर मैंने धक्का मारा तो पहले धक्के में मेरे लण्ड का सुपारा और दूसरे धक्के में मेरा पूरा लण्ड नमिता की गांड में सरक गया. कुछ ही देर में मोनू का वीर्य भाभी की चूत में निकल गया और वो नीचे से हट गया. बीएफ बंगाली सेक्सी बीएफमेरी उत्तेजना इस कदर बढ़ गई थी कि उसके मसलने से जो दर्द हो रहा था, वो भी आनन्द प्रदान कर रहा था.

उसके बाद मैंने एक गिलास उठाया और उसको दारू से भर के काव्या को दिया.

इससे पहले उन 3 मर्दों से मुझे नहीं मिला था, शायद उसकी कमी का मुझे अफसोस था और कांतिलाल से मेरे मन में कोई उम्मीद थी. करीब 10 मिनट उसने मुझे यूँ ही बिना रुके धक्के मारे और फिर वो रुक गया.

यह मेरी पहली चोदाई की कहानी एक ऐसी औरत के साथ की है, जिससे न मैं कभी मिला था, ना कभी उसको लेकर कुछ सोचा था कि जिंदगी में ऐसी कोई औरत आएगी. जब हालत ऐसे हों कि किसी भी तरफ से कोई भी आ सकता हो, तो पसीने छूट जाते हैं. हालांकि उसने मेरे साथ पहले भी संभोग किया था, पर उस समय मैं इतना अधिक खुली हुई नहीं थी.

दीदी ने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और अपनी चूत पर रख कर उस पर दबाव बनाती हुई बैठती चली गई.

अन्तर्वासना पर मेरी यह पहली चुदाई की स्टोरी है बुआ की बेटी की चुत चुदाई की जो कि दो महीने ही पुरानी है. अब मैं काव्या की चूत और जांघों को चाट रहा था और काव्या मेरे लंड और अंडों से खेल रही थी. उसने बोला- आराम से धीरे धीरे हिलना और जांघें घुटनों से मोड़ लेना, इससे आराम मिलेगा.

सेक्सी बीएफ सेक्स वीडियो मेंभाभी ने एक रेशमी सा गाउन पहना हुआ था और उनके गीले बाल उनके कंधे पर बिखरे हुए थे. कुछ दिन के बाद शकूर को जब मुझ पर भरोसा हो गया तो एक दिन उसने कहा कि तू रोज कॉलेज जाता है तो मेरी बहन को भी साथ में ले जाया कर.

चूत की चुदाई का वीडियो दिखाओ

मुझे भाभी से अलग होने का मन नहीं था, पर होना पड़ा क्योंकि बच्चे परेशान करने लगे थे. मुझे बड़ा दर्द हो रहा था, मगर मुझे मालूम था कि इस दर्द के बाद मीठा मजा मिलने वाला है, इसलिए मैंने इस दर्द को सहन कर लिया. मैंने उठ कर अंदर झांक कर देखा तो मेरी दीदी अपनी कुछ सहेलियों के साथ अपने कमरे में किटी पार्टी कर रही थी.

उनकी टांगें फैली हुई थीं और लंड वैसे ही एक साइड में अगल से दिखाई दे रहा था. भाबी सेक्स स्टोरी के पहले भागज़िप में फंसा लंड-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी ससुराल गया हुआ था और मेरी सलहज अकेली मेरे साथ सोयी थी. उसने अब मेरे चूतड़ों को दोनों हाथों से फैलाना शुरू कर दिया और अपना मुँह बीच में डाल मेरी योनि जीभ से टटोलनी शुरू कर दी.

रमा ने मुझसे कहा कि मैं यहां की खास मेहमान हूँ … इसलिए मैं ही केक काटूँ. अगले अंक में मैं सोनम आपको मेरी कहानी बताऊंगी कि कैसे मेरी जिन्दगी में चुदाई की शरूआत हुई. और जब मेरे भइया तुम्हारी दीदी को चोदते हैं, तो तुम्हारी दीदी को बहुत मजा आता है.

हालांकि उसने अपने चेहरे से नकाब हटाया हुआ था, जिससे मैं उसका चेहरा देख सका. अगर तुम चाहती हो क़ि मैं परेशान ना रहूं तो मुझे अपनी दीदी की कमी महसूस ना होने दो, मेरे प्यार को अपना लो।अब उसका विरोध कम हो गया और वो मेरी बांहों में लिपट गई.

जब तक मेरे पति घर नहीं आये मैं विकास के लंड से चूत और गांड की चुदाई करवाती रही.

इसमें रिश्तों में चुदाई की कुछ हिंदी सेक्स स्टोरी का लिंक पर क्लिक किया, तो सामने भाई बहन, बाप बेटी की सेक्स स्टोरी आ गईं. चूत की चुदाई देसी बीएफमेरे स्तनों को तो उसने ऐसे दबोच रखा था, जैसे उनमें से सारा रस निचोड़ लेना चाह रहा हो. वीडियो में बीएफ भेजिए बीएफमैंने उससे मजाक मजाक अचानक में कह दिया- क्यों ना हम पति की अदला-बदली कुछ दिन के लिए करके कुछ नए तरीके से मस्ती करें. विवेक ने मेरे होंठों को अपने होंठों से लॉक कर लिया दो मिनट तक उसने मुझे यूं ही जकड़े रखा.

लिंग का सुपारा अब तक मेरी योनि में प्रवेश कर चुका था और अपना संतुलन बनाने के बाद उसने धक्का मारा.

इस घटना के बाद अब जब भी हम लोग आपस में सेक्स करते, तो कुछ ना कुछ दूसरे कपल और गैर मर्दों या महिलाओं की बात करते रहते, इससे हमारे सेक्स करने में कुछ ज्यादा ही मजा आने ला था. गांड मारने के बाद में मॉम ने पूछा- तू मुझे अपने बच्चे की मॉम कब बनाएगा. तभी मैंने उसके कपड़े उतरने शुरू कर दिए तो वो शरमाते हुए मना करने लगी और बोली- मुझे बहुत शर्म आ रही है.

तो दोस्तो, अनचुदी बूर की चोदाई कहानी कैसी लगी आपको?[emailprotected]. उनके वजह से मुझे भी हवाई जहाज में सफर करने का आज अवसर मिलने वाला था. तब तक कॉफी आ गई, कॉफी पीते हुए मैंने उससे बोला- आगे क्या?वो समझ गई, पर कुछ नहीं बोली.

सेक्सी लो

जब उसका लिंग पूरी तरह से जब मेरी योनि में हिल-मिल गया, तो मैंने अपनी नजरें रवि से मिलाईं. शकूर की बहन से मेरी नॉर्मल बात होती थी लेकिन शकूर के साथ मैं कई बार गप्पें मार लिया करता था. तुम बहुत प्यारी हो, बहुत सेक्सी हो … तुम्हारे ये बूब्स बहुत गोल और सुंदर हैं … जी करता है इनका सारा रस पी जाऊं … इनको बिल्कुल भी नहीं छोड़ूँ … हमेशा के लिए है तुझे अपनी बना कर अपने पास ही रख लूं.

मैंने दीदी की पजामी पर हाथ मारा तो दीदी की जांघों के बीच में उठी हुई सी वो आकृति हाथ को छू गई.

मैंने भी झट से उसकी जांघों पर हाथ रख दिया और बोला कि अब बता के क्या फायदा? अब तो आपकी शादी हो गयी है.

थोड़ी देर उसकी जीभ मेरी योनि पर और क्या चली कि मैं कांपते हुए झड़ने लगी. सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि जिससे सब कुछ बदल गया. बीएफ पिक्चर अंग्रेज वालीमैंने कहा- जान निकलने वाला है, कहां गिराऊं?वो बोली- अंदर नहीं पागल, कुछ गड़बड़ हो जायेगी.

नीचे अपनी चूत में लंड लिए आंटी मेरे बदन पर हाथ फेरते हुए बड़बड़ा रही थीं- आह … और तेज जान … हां और तेज … फाड़ दे इसे … पूरा घुस जा इसमें … आह बहुत मजा आ रहा है … और तेज चोद राजा … आह आज से तू मेरा पति है … आह मुझे जम कर चोद दे. पांच मिनट के बाद वो मुझे अपनी बांहों में कस कर पकड़ने लगी और उसकी बुर मेरे लंड पर कसने लगी. जब मैं आया था तो घर का मेन गेट खुला हुआ था और घर पर भी कोई नहीं था.

कुछ देर ताश खेलने के बाद वो फिर से पलंग के एक बाजू में तकिया लेकर बैठ गयी और बोली कि मेरी तो आज कमर और ज्यादा दर्द कर रही है. मैंने सुबह के करीब तीन बजे फिर से मामी को जगाया और हम दोनों चुपके से उठ कर बाथरूम में चले गये.

वो जैसे ही कुछ ढीली पड़ीं, मैंने तेजी से हाथ नीचे ले जाकर उनकी कच्छी को उतार दिया.

मेरे पूछने पर उसने बोला- मेरे पति आज सुबह ही 2 दिन के लिए बाहर जाने वाले थे, तो उनकी तैयारी में टाइम लग गया … इसलिए मेरा काम अब तक खत्म ही नहीं हुआ. उसका सुपारा मेरी योनि के भीतर अब तेज धार धार तलवार सा महसूस होने लगा था, जिससे मैं और अधिक ताकत और मस्ती में अपनी कमर हिला हिला उसके लिंग को अपनी योनि से मलने लगी थी. मैं भाभी के बदन को चूमने लगा और धीरे धीरे भाभी की चूत पर मैं अपना मुँह ले गया.

भाई बहन का बीएफ हिंदी अंकल ने मेरे दूधों को अपने हाथों में भर लिया और उनको दबाने सहलाने लगे. ये दोनों इतने अधिक झीने थे कि उनमें से उसकी ब्रा और पेंटी का रंग भी दिख रहा था, उसने काले रंग की ब्रा और काले रंग की पेंटी पहनी हुई थी.

फिर मैं नीचे गया और मां से बोला कि मम्मी मैं कॉलेज जा रहा हूँ, खाना वहीं खा लूंगा. वो आ गयी और मैंने उसको छत पर रात के घुप्प अंधेरे में चूसना शुरू कर दिया. उस रात मैंने मॉम की 4 बार चुदाई की और उन्हें मैंने अपनी पहली पत्नी बना दिया.

ववव क्सक्सक्स व्हिडिओस

मेरी बीवी चुदाई की थकान से और नींद की गोलियों के नशे में घोड़े बेच कर सो गई. तब उसने मेरा सर और जोर से अपनी टांगों के बीच में दबा दिया और वह धीरे-धीरे नीचे बैठे लगी. मैं भी इस बात से परिचित थी, सो मैंने भी किसी तरह का विरोध भाव नहीं दिखाया.

उसी टाइम अचानक सीमा भाबी ने अपनी कमर थोड़ी सी हिलाई और मेरा लंड उनकी गांड की दरार में घुसने लगा. सिखाते हुए उसने मुझे तैयार करना शुरू किया और मुझे एक कामुक वस्त्र पहनाया.

मैं 24 साल का एक हैंडसम बंदा हूं, जिसे देख कर हर किसी की चूत में खुजली मच सकती है.

मुझे अभी केवल कुछ पल ही हुए थे धक्के देते और अब मैं झड़ने को थी, सो मैंने अपनी पूरी ताकत लगा दी थी. मैंने कई बार अपने लंड की मुठ भी मारी थी, लेकिन अब तक मुझे कभी किसी चूत के असली में दर्शन नहीं हो सके थे. मैंने उसकी बुर को पहले कुछ देर सहलाया और फिर अपनी उंगली को उसकी बुर में ऊपर से ही ऊपर नीचे फेरने लगा.

फिर उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू कर दिया और मेरे चूचों को दबाने लगा. बस 10, 9, 8, 7, 6, 5, 4, 3, 2, 1 धूमम … म्म … की … आवाज आई और राजशेखर ने उस बोतल को खोल दिया. वहाँ मेरे होंठों का स्पर्श महसूस होते ही काजल प्यार में पागल हो गयी और आह आह की आवाज निकालने लगी.

कोई 5 मिनट उसने मुझमें इस तेजी में धक्के मारे कि मैं खुद को रोक न सकी और सोफे को पूरी ताकत से पकड़ कर जोर लगाती हुई झड़ने लगी.

एक्स एचडी बीएफ वीडियो: आंटी फिर कहने लगी- तुम इतना शरमाते क्यूं हो?मैंने कहा- बस ऐसे ही, मैं बचपन से ही ऐसा हूं. राजेश्वरी ने राजशेखर की उत्तेजना भंग सी कर दी थी, उसमें पहले की तरह जोश नहीं दिख रहा था.

कुछ देर बाद उसने मेरी ब्रा को उतार दिया और मेरे एक दूध के निप्पल को किस करने लगा. शाम को पांच बजे के करीब दिल्ली-मुंबई राजधानी एक्सप्रेस में मेरा टिकट था. मेरे चेहरे पर जिज्ञासा के भाव देख कर वो भी समझ गया था कि मुझे उनकी बात समझ नहीं आ रही है.

मतलब?कमलनाथ- तुम्हें नहीं पता चोदने का मतलब क्या होता है?राजेश्वरी- नहीं मुझे नहीं पता चोदना क्या होता है.

कुणाल ने निधि के दोस्तों से पता लगाया था कि वह कॉलेज में बहुत सारे लड़कों के साथ चुदाई कर चुकी थी। चुदाई करना उसे बहुत पसंद था, उसे नए-नए लण्ड के साथ सेक्स करना बहुत पसंद था।कुणाल हमेशा निधि को चोदने के लिए मेरे कमरे का इस्तेमाल करता था, वह हमेशा निधि को लेकर मेरे रूम पर आता था. हालांकि उसके बदन को आज पहली बार छूते हुए ही मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था. मैं ऐसे बारी-बारी करने लग गया और आंटी भी जोर जोर से सिसकारियां लेने लेने लग गई।अब मैंने मेरे एक हाथ से आंटी की चूत को सहलाना शुरू कर दिया.