एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो

छवि स्रोत,सुहागरात सेक्सी वीडियो चोदा चोदी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फंडा: एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो, थोड़ी देर बाद मैं आटी के ऊपर हो गया और उनकी चुदाई करते हुए झड़ कर गिर गया.

सेक्सी कैसी होती है

पहली रात में उसने मुझे ऐसा चोदा था कि चुत में से मेरा खून तक निकल आया था. ఇండియా బ్లూ ఫిలింकाजल, क्या तुमने कभी इसके पहले सेक्स किया है या किसी से चूत को चटवाया है?काजल- नहीं भैया.

मामी को मेरे खड़े होते लंड का अहसास हो चुका था, जो उनके पेट में ठोकरें मार रहा था. ब्लू सेक्सी बढ़िया सीमैंने उस की टांगों को फैलाया और पाव रोटी सी चूत को खोल कर देखा, अन्दर की पत्तियां और चूत बिल्कुल गुलाबी रंग की थी.

अनिता- नहीं संजय प्लीज़ तुम ऐसा कुछ नहीं करोगे, जो हुआ सो हुआ उस वक़्त हालत ऐसे थे.एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो: तो ये सबसे अच्छा मौका था मौसी और मेरे लिए… मौसी झट से मुझे अपने साथ दूसरे कमरे में ले गईं और अन्दर से कमरे को बंद कर लिया.

इसके बाद लंड को गांड के छेद पर रख कर पुश कर दिया और मजे से उसकी गांड मारने लगा.इसके बाद मैंने भी गौर किया तो पाया कि अर्चना अक्सर मुझे लगातार देखती रहती थी.

सेक्सी बढ़िया वाली फिल्म - एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो

सुमन बिस्तर से उठ कर नीचे आई और बाथरूम के दरवाजे को करीब से जाकर देखने लगी.वो ऐंठते हुए झड़ रही थी… झड़ने के बाद बैंगन फेंक कर नंगी ही सो गयी.

मेरे पति ने मेरे मम्मे बहुत मसले हैं, शादी से पहले ही मसलता था, जब हम मिलते थे, अब मेरे मम्मों के साइज़ से तो अंदाज़ लगा कि मुझे वो कितना मसलता था. एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो अब माया नंगी खड़ी उस्मान का लंड चूस रही थी और अमित से अपनी चुत चटवा रही थी.

उसके बाद मैंने धीरे-धीरे अपने भी सारे कपड़े उतार दिए और फिर मैडम को अपनी गोदी में उठा कर उसके होंठों पर किस किया.

एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो?

नेहा अब हम दोनों मर्दों के बीच सेंडविच बन चुकी थी और हम दोनों मर्दों के लंड नेहा की चूत और गांड चोद रहे थे. तुम चाहे जितना भी चीखोगी या चिल्लाओगी मैं तुम्हारी एक भी नहीं सुनूंगा क्योंकि इसी तरह की चुदाई में औरत को मजा आता है और वो अपनी पहली पहली बार की चुदाई को सारी जिन्दगी याद करती है. और मैं उन्हें बेड के करीब ले गया और उन्हें बेड पर लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया.

सामने से आती हुई गाड़ी की रोशनी में चाचाजी अपनी हवसी नजरों से मुझे घूर रहे थे. बुआ का केवल एक लड़का था, जिसकी शादी अभी नहीं हुई थी, तो वह ही बुआ की देखभाल करता था. मेरे घर के जीने बाहर से हैं, तो कोई भी आये जाए किसी को पता नहीं चलता.

मयूरी ने घर का दरवाजा खोला और अन्दर आकर हॉल में घुसते ही देखा तो बस. वह लंड बाहर निकालने की कोशिश करती रही और मैं तुनक तुनक कर उसके कंठ में झड़ता रहा. रात को बहन को प्यास लगी तो पानी पीने रसोई में गई तो उसने देखा कि उसके भाई के कमरे की लाईट जली हुई है.

मेरा लंड अभी भी पूरा खड़ा था और चड्डी की बगल से थोड़ा बाहर निकल आया था. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं जोर जोर से ऊंह ऊंह आह आह आह करने लगी, मुझे नशा सा भी छाने लगा, मैं भी कुछ न कुछ बकने लगी.

दीपक ने एक जोरदार ठाप लगाई और पूरा लंड जड़ तक मामी की चुत में समां गया.

काफी देर तक धीरे धीरे लंड पेलने के बाद मैंने देखा कि उसने आँखें बंद कर लीं, तो मैंने हाथ उसके मुँह से हटाया.

और चोदेगा कमीने??मैंने भी कहा- जान, मेरा लंड भी अभी कड़क है, जी भर के चुदना. उनकी सांस उखड़ने लगी थी, तभी मामी ने 69 की स्थिति में आकर खेल का रुख बदल दिया. हमारे पी जी के सामने एक सेक्सी सी भाभी रहती हैं, उन का नाम किरण है.

उसने ज़ोर से धक्का मारा और उसका पूरा लंड एकदम से चुत में अन्दर चला गया. मैं घूम कर सोनिया की चूत के पास चला गया और मनोज घूम कर नेहा के पास आया गया. बहूरानी मुझसे बेचैन होकर लिपटने लगी; और अपनी चूत देर देर तक ऊपर उठाये रखते हुए लंड का मज़ा लेने लगी.

मैं बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होशियार था इस वजह से मैं अपनी क्लास में फेमस था.

तभी उसने मुझे अपने चुचे देखते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया और अपना पल्लू सही किया. फिर चाची करवट लेने के लिए हिलने लगीं तो झट से मेरी आंख खुल गई और मैं चाची के ऊपर से हट गया. शाम को जब चाचा आए तो मैं थोड़ा बाहर की तरफ जाने चला गया और फिर उनकी बातें सुनने लगा.

लेकिन अंकल यह दाग धब्बे कैसे हैं इस शॉर्ट्स पर?नीता के पूरे नंगे जिस्म की झलक देख कर पप्पू का लंड और तन गया. मेरी यह आप बीती आज से करीब दो साल पहले की है, जब मैं ग्रेजुएशन कर रहा था. दोस्तो, जो भी आगे होगा, जरूर बताऊंगा तब तक के लिए नमस्कार, मेरी ये कहानी कैसी लगी आपको, आप ईमेल जरूर करना.

हम दोनों जैसे ही निकले तो मम्मी ने कुछ सोच कर आम रास्ते से जाने के बजाए छोटे रास्ते से जाने का निर्णय किया जो खेतों के बीचों बीच डोल से जाता था.

मुझसे रुका नहीं गया, मैंने उसको वहीं लिटाया और उसके ऊपर आकर लंड मोनिका की चूत पर सैट किया. मेरे पूछने पर उसने बताया- शिवानी को मैंने तुम्हारे बारे में बता दिया था कि तुम मेरे क्लास मेट रहे हो और काफी अच्छे, जिंदा दिल और रोमांटिक आदमी हो, और कुछ नहीं बताया है, शिवानी भी मिलने की इच्छुक लग रही थी.

एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो रवि के दिल में मेरे लिए क्या था, यह तो मैं नहीं जानता था लेकिन मुझे लगने लगा था कि उस पर मेरा ही हक़ है. मैंने उसको वहीं लिटाया, किस किया और लंड खड़ा होने के बाद चुत में डाल दिया.

एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो मैंने आकर उसे सब कुछ बताया तो वो शरारत से मुस्कुरा दी, बोली- मजा आएगा. मैंने सोचा कि वो साला तो बाहर चुदाई करके मजे करता फिर रहा है, मैं भी क्यों ना मजे करूं.

आँखें बंद करते ही वो सारे मंजर मेरे सामने घूमने लगे जिसमें चाचाजी मेरी चुत को फुल लेन्थ चाट रहे थे, अपनी जीभ को मेरी चुत में डीपली अन्दर बाहर कर रहे थे.

बड़े-बड़े बूबे

फिर 5-6 झटकों के बाद मैं चुत के अन्दर ही झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया. अर्चना ने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसे हाथ में लेकर सहलाने लगी, मैंने भी उसकी चूत को ऊपर से ही मसलना शुरू कर दिया. मैं जैसे ही बेड पर उनके पास बैठी तो उन्होंने पूछा- कैसा लगा जय का लंड?मैंने कहा- क्या मतलब है तुम्हारा?वो बोले- शादी के पहले मैं ही जय को जगाया करता था.

मेरा लंड अभी भी पूरा खड़ा था और चड्डी की बगल से थोड़ा बाहर निकल आया था. अब आगे…मुझे वही खुशबू आ रही थी, सो मैं भी समझ गया कि मौसी ने उंगली की है. क्या पहन कर आऊँ तुम्हारे लिए?मैं- वैसे तो कार से आओगी… तो मैं तुम्हें वन पीस में देखना चाहता हूँ।वो- अच्छा.

तभी अंकल ने एक जोरदार झटका मारा और उनका पूरा लंड मेरी गांड में जड़ तक घुस गया.

उसकी 34 इंच की उठी हुई गठीली चूचियां और उनके ऊपर काले-काले चूचक हल्का स्लोप लिए हुए पेट में गहरी नाभि, आज साली लाल पैंटी में गजब सुंदर लग रही थी. लेकिन तभी जब मैंने अपना हाथ उसकी फुद्दी पर फेरा तो पाया कि वो पहले से ही झड़ चुकी थी. उसने लॉन्ग कोट पहना हुआ था घुटनों तक का… अंदर आते ही सबसे पहले उसने अपना लॉन्ग कोट उतार कर टांगा.

जब अंजलि को ज्यादा मजा आने लगा तो अंजलि ने चुत का दबाव मेरे मुँह पर बढ़ा दिया, जिससे कि मुझे सांस लेने में दिक्कत होने लगी. उसकी कामुकता बढ़ गई, हार्ट बीट बढ़ गए और उस की गर्म साँसें मेरे हाथों पर महसूस हो रही थीं।मैं- प्लीज बोलो ना?वो- ऊओक्के. उमन्न…”उस ने मेरे मुँह को अपनी चूचियों में दबा लिया और मेरे बाल कस के पकड़ लिए.

मक्खन सी बुर का कसैला नमकीन स्वाद पाकर लंड फिर से आकार लेने लगा था. लेकिन उस दिन मैं नहीं गया क्योंकि मुझे मामी के साथ में बाज़ार जाना था.

मेरे घर में मम्मी पापा और मुझसे सात साल बड़ा भाई जिगर है, जो थोड़ा सा भोला (मंदबुद्धि) है. हस्त मैथुन के दौरान समीर लड़कियों की तरह आह उहू कर रहा था, जिससे मुझे भी लंड रगड़ने में मजा आ रहा था. करीब बीस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं अपनी बहन की नरम गांड में झड़ गया.

मुझे क्या ऐतराज हो सकता था, मैंने भी कह दिया- हाँ, जब तुम कहो, जहाँ कहोगे, मैं आ जाऊँगी, बस मुझे प्यार ऐसे ही करते रहना।उसके बाद हम आधी फिल्म बीच में ही छोड़ कर घर वापिस आ गए।मगर इससे पहले कि हमारा कोई प्रोग्राम बनता, उसके पापा का ट्रांसफर हो गया, वो मुझे छोड़ कर चला गया।मैं बहुत रोई, इसलिए नहीं कि मेरा बॉयफ्रेंड चला गया बल्कि इसलिए कि मेरे हाथ से चुदाई का मौका चला गया।कहानी जारी रहेगी.

मैंने सर हिलाया और आयिल की शीशी लेकर मैडम से बोला- आप आराम से बेड पर लेट जाइए. मैं तो इस खेल में फर्स्ट टाइमर थी, पर मुझे उसके मम्मों को दाबने में, चूसने में मुझे बहुत मजा आया. अब तो मेरी बच्चेदानी से लंड टकराता तो मुझे स्वर्ग सा अनुभव हो रहा था.

अब उनकी बड़ी बड़ी दूध से भरी चूचियां लटक गईं और मैं अपने हाथ से मम्मों को दबाने लगा. क्या साब यह तो बहुत छोटी सी है अभी आपकी बिटिया की जितनी!”बिटिया जैसी है, बिटिया नहीं है.

कुछ देर बाद मैं चूचियों को कपड़े के अन्दर से महसूस करना चाह रहा था तो मैंने उसके कुरते के गले में धीरे से हाथ डाला ही था कि बहन ने करवट बदल ली. लेकिन बार बार मामी और अर्चना की चुत का वियोग सहन नहीं कर सका और बाट जोहते जोहते फिर मामी के घर एक दिन जा पहुँचा. थोड़ी देर तक तो मेरी रफ्तार सामान्य रही लेकिन उसके बाद मैंने तेजी से विनीता का चूतभंजन करने लगा.

चिल्ड्रन कार

सासू माँ को तो कुछ पता नहीं चला, पर मैं उनकी डबल मीनिंग बात समझ रही थी.

मेरी उंगली आराम से चली गई, फिर मैंने दो उंगलियां डाल कर देखीं तो दोनों आराम से चली गईं. कंडक्टर बोला- बस यहाँ आधा पौना घन्टा बस रुकेगी, जिसे डिनर करना हो या बाहर जाना हो, वो जा सकता है. अब बर्थ डे के दिन इनको नाराज़ करोगी क्या? चलो सब किस करो देखना मेरी दिव्या अबकी बार मुझे पक्का पहचान जाएगी.

लेकिन कमबख्त दिल है न, एक बार जो चीज़ मिल जाती है फिर उसके लिए इसमें घमंड पैदा हो जाता है, सोचता है कि इस पर उसी का हक है. मैं भूखे शेर की तरह अपनी बहन के मम्मों पर टूट पड़ा और उसकी चूचियों को दबाने और चूसने लगा. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो करने वालीचूंकि मैं उस वक्त छत पर था, तो मैंने देखा कि नीचे मौसी नहा रही हैं, उनके बदन पर सिर्फ एक सफेद रंग का पेटीकोट था, जिसे वो अपनी चूचियों तक चढ़ाए हुए थीं और मग्गे से पानी डालते हुए नहा रही थीं, पानी से उनका पेटीकोट भीग कर पारदर्शी हो गया था.

लेकिन भाभी ने कोई जवाब ना देते हुए गुस्से से मुझे देखा और वहां से चली गईं. मयूरी ने घर का दरवाजा खोला और अन्दर आकर हॉल में घुसते ही देखा तो बस.

” मैंने खुद को उनकी बांहों में समर्पित करते हुए उसकी जीन्स की ज़िप खोल दी, अपना हाथ अन्दर डालकर उनका लंड टटोलने लगीं. रूपा को उस से चुद कर इतना मजा आया कि वो उसकी गुलाम बन गई और उसे अपने घर लाकर अपनी बेटी को पटाने की छूट दे दी. सांवली बुर के बीच से हल्की गुलाबी झलक का नजारा ऐसा लग रहा था मानो एक सुन्दर गुलाब खिल गया हो.

उसने कहा- क्या आप किसी विवाहित महिला के साथ सेक्स करना चाहते हो?मैंने कहा- मैं विवाहित महिला के साथ सेक्स करना नहीं चाहता हूँ. अगले 2 मिनट गुलशन जी ने फुल स्पीड से सुमन की चुदाई की और दोनों बाप बेटी एक साथ झड़ गए. यदि आप पाठिकाओं में से कोई मेरा साथ निभाने को तैयार हो तो मुझे अवश्य मेरी जी मेल आई डी पर संपर्क करें.

फिर कुछ देर बाद मेरा भाई अपनी मम्मी को बाँहों में लेकर नाचने लगा और मैं यश को… कभी यश मुझे किस करता तो कभी मम्मी को… कभी भाई मुझे किस करता तो कभी मम्मी को!धीरे धीरे हम सब पर नाच का खुमार चढ़ने लगा.

सुबह उठ कर जल्दी से नहा धो कर सबसे पहले क्लास में 15 मिनट पहले ही पहुँच गया क्योंकि आरती पहले आ जाती थी. मेघा बेबी रात भर ले लेगी… थकेगी तो नहीं?”नहीं थकूंगी अंकल, आप अभी मुझे यहीं हाईवे पर कार में चोदिये न!”जानती है बेबी मैंने तुझे बीस हज़ार रूपए क्यों दिए हैं.

वो स्पीड से चोदने लगे, उनके लंड की नसें फूल गईं, लंड आग की तरह गर्म हो गया. नीता ने फिर पप्पू का हाथ अपने जिस्म से हटा कर सोफ़ पे आकर टीवी ऑन किया. मम्मी शरमा गईं और बोलीं- मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?अब ससुर बोले- आप तो अभी भी जवान दिखती हो.

तभी तो दर्द का नाटक किया मैंने, अब जल्दी से आ जाओ और मेरी चुत को सुकून दे दो. मुझे लग रहा था कि उसके चुचे जोर से चूस लूँ और पूरा का पूरा खरबूजा खा जाऊं. एक दिन सुमन भाभी थोड़ी अपसेट सी दिखीं, मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.

एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो जब मैंने उसकी तरफ एक बार चुपके से देखा तो वो भी अपनी आँखो से ब्लू-फिल्म के मजे ले रही थी. मैंने कहा- क्या हुआ?तो बोली- गुदगुदी हो रही है!मैंने फिर जीभ से उसकी चूत चाटने लगा, उसकी चूत से नमकीन पानी निकलने लगा, मैंने जीभ से चाट से साफ कर दिया, वो बोली- और चाटो जीजा जी, बहुत अच्छा लग रहा है, आई लव यू… जीजा जी, आप मुझे भी चोदना जैसे बड़े जीजा जी दीदी को चोदते हैं।मैंने कहा- क्यों नहीं, मैं भी तो यही चाहता हूँ.

भोंसड़ा का फोटो

मैंने अपनी एक उंगली चूत के अंदर घुसा दी तो वो कांप उठी और सिसकारियां भरने लगी. अब आगे पूजा की चुदाई की कहानी का मजा लीजिए…कुछ दिनों से पूजा वासना की आग में जल रही थी और आज इत्तफ़ाक़ से उसके घर वाले और संजय के घर वाले किसी फंक्शन में साथ गए. मुझे क्या इरादा है?गोपाल- डार्लिंग, इरादा तो तेरी चुत चाटने का है और जमकर तेरी चुदाई करना है.

हाय दोस्तो, मेरी यह स्टोरी भाई बहन सेक्स की है यानि भाई बहन की चुदाई की…मेरा नाम पल्लवी है और मेरी उम्र 28 साल है. उसने मेरी पैंट नीचे खींच दी और दोनों हाथों से मेरी गांड को दबाने लगा; मसलने लगा. மலையாளம் செஸ் போட்டோपापा ने शाम को मम्मी को फोन किया कि ट्रेन में रिजर्वेशन नहीं मिली, तुमको बस से ही जाना पड़ेगा.

मुझे क्या ऐतराज हो सकता था, मैंने भी कह दिया- हाँ, जब तुम कहो, जहाँ कहोगे, मैं आ जाऊँगी, बस मुझे प्यार ऐसे ही करते रहना।उसके बाद हम आधी फिल्म बीच में ही छोड़ कर घर वापिस आ गए।मगर इससे पहले कि हमारा कोई प्रोग्राम बनता, उसके पापा का ट्रांसफर हो गया, वो मुझे छोड़ कर चला गया।मैं बहुत रोई, इसलिए नहीं कि मेरा बॉयफ्रेंड चला गया बल्कि इसलिए कि मेरे हाथ से चुदाई का मौका चला गया।कहानी जारी रहेगी.

सबसे पहले मौसी ने मुझे बताया- वो जो तेरा नुन्नू है… उससे लंड कहते हैं और ये जो मेरी है… जहाँ तुमने कल उंगली डाली थी, इसे चुत कहते हैं. मैंने तुरंत बात पलटी और कहा- मेरा मतलब, जो महिला मेरे लंड से चुदाई का मजा ले रही होगी, उसके पारखी होने की बात से था.

मैं उठी तो मेरी गांड पर मैंने हाथ फेरा, वो एकदम चिकनी और खुली सी लगी. दोस्तो, अब ये सब भी बहुत उत्तेज़ित हो गए थे और इनके लंड अब लोहे की तरह सख़्त हो गए थे. शाम को थोड़ा अंधेरा भी होने लगा था तो अन्दर कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था.

फिर कुछ देर बाद सब सोने की तैयारी करने लगे क्योंकि रात के 9 बज चुके थे.

वो दोनों नहा कर नंगी ही बाहर आ गईं और बाबा की कामुक नज़र नीतू पर जम गई. लगभग बीस मिनट में मामी की गति तेज हो गई और हर धक्के के साथ वे चीखकर गरम लावा छोड़ने लगीं. फिर मैंने भाभी के ब्लाउज़ को उनकी चूचियों से पूरा हटाते हुए एक साइड में कर दिया.

भोजपुरी भाभी की चुदाई सेक्सी वीडियोउसके जिस्म की कामुकता इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि वो कांपने लगी।मैं- जान. दूधिया गोरा बदन, टमाटर जैसी छोटी-छोटी चूचियां, चने की दाल के बराबर निप्पल और बिना झाँटों वाली चिकनी चूत, ख़रबूज़े जैसी गांड.

राजस्थानी सेकस

अगर मेरी किस्मत में रवि का साथ लिखा है, उसके लंड से चुदने का अहसास लिखा है तो मुझे समलैंगिक होने में कोई परेशानी नहीं है. तभी मैंने सोनिया को कहा- चल तू आजा साली, ले ले आज तू भी नेहा जैसे ही अपनी जवानी का मजा लूट ले. मैं भी उनके पीछे चला गया और उनके पीछे जाकर उनको हग कर लिया और फिर एक वाशरूम में अन्दर खींच कर उनको किस कर दिया.

मैंने एकदम से जोर से धक्का मारा, पूजा ने चीख मारना चाहा, पर रीतिका उस के मुँह पर बैठ गई. जब कोई लड़का उस पर फिकरा कसता या भीड़ में कोई उसका बदन छूता तो उसे अच्छा लगता था. मामी की चुदाई की यह आप बीती मेरे जीवन की एक ऐसी घटना है, जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता हूँ.

सामने से आती हुई गाड़ी की रोशनी में चाचाजी अपनी हवसी नजरों से मुझे घूर रहे थे. मैंने कहा- क्या भाभी जी कुंवारा लंड अपनी चुत में लेना चाहती हैं, इसका इशारा अपने दूध दबा कर दे सकती हैं?उस आदमी ने भाभी को हैंगआउट का मैसेज पढ़ाया और भाभी ने हंसते हुए अपने दोनों दूध अपनी फ्रॉक से बाहर निकालते हुए जोर से मसल दिए. आज पहली बार मुझे किसी लड़की के शरीर के इतने नजदीक जाने का मौका मिला था.

उस दिन मैं मैं पहली बार उसके साथ अकेले लगभग दो घंटे उसके घर रहा और बड़ी मुश्किल से अपने लंड पर कंट्रोल किए रहा. मैं ऊपर मरीज नहीं रखता था इसलिए स्टाफ का आना जाना ऊपर नहीं होता था.

काजल ने झट से अपने दोनों हाथों से उसको पकड़ लिया और उसके साथ खेलने लगी.

अंजलि ने चुत को अच्छे से साफ किया हुआ था और शायद कोई अच्छा डीओ लगाने के कारण चुत से अच्छी खुशबू आ रही थी. लैंड कैसा होता हैदरअसल मैं नहा कर सिर्फ तौलिया बांधे बाहर आ गया था तो मैं मामी के यूं देखने से एकदम से शर्मा गया. മുല സെക്സ്थोड़ी ही देर में अंजलि फिर से गरम हो गई थी, लेकिन मैं आज अंजलि के साथ पूरा मज़ा लेना चाहता था. उसकी साइज़ क्या थी? मुझे कुछ भी मालूम नहीं था, फिर भी मैंने कहा- ठीक है बुला लो उसको भी!शीला ने मोबाईल उठाया और एक नंबर डायल किया- सुमन, तुम फ्री हो.

जहाँ पर मैं उसके होंठों पर बहुत देर तक किस करता रहता और उसे भी मजा आता.

मैं उसकी गांड पर अपने लंड का अहसास कराते हुए उसकी गर्दन और कान के नीचे चूमने लगा. यह घटना कोई प्यार की नहीं, बेवफाई की हिया, सेक्स की है, लालसा, वासना की है. फिर सोचा कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा… दर्द ही तो होगा… और बॉयफ्रेंड के लंड से ही तो दर्द होगा.

बहूरानी के तन पर कोई वस्त्र नहीं था, एकदममादरजात नंगी, उसकी जुल्फें खुली हुई कन्धों पर बिखरीं थीं. मैंने भी ज़्यादा देर ना करते हुए अपना हाथ उसकी दोनों टाँगों के बीच फिराने लगा, उसने भी अपनी टांगें खोल के अपनी सहमति जता दी. मेरी ये हालत मौसी से देखी नहीं गई, सो उन्होंने मुझे छोड़ दिया और बोलीं- तुम्हें जवान होने में अभी कुछ दिन और लगेंगे.

रक्षाबंधन का पिक्चर

वो अपनी छोटी बहन जो हुस्न की परी थी, के मुँह में अपने लंड के होने से स्वर्ग का आनन्द ले रहा था. वैशाली ने बीच में अपना हाथ डाला और मेरे लंड हो हाथ से पकड़ कर बाहर निकाल दिया और शिवानी की गांड और चूतड़ों पर फिराने लगी. तो जरूर करवाती थी। लेकिन उसने मुझे चुदाई नहीं करने दी। इसी बीच मैंने अपनी दीदी की गाण्ड देखनी शुरू कर दी।मैंने रात में एक बार उसको चूत में उंगली डालते देखा था.

जोशना और परिधि क्लास की सबसे सेक्सी दो लौंडियां थीं, दोनों पक्की सहेलियां थी.

दस मिनट बाद किसी ने मेरे कमरे का डोर नॉक किया और मुझे एहसास हुआ जैसे ये अनुराधा हो.

मैं लगातार चूत चाटे जा रहा था और कुंवारी चुत का मदनरस पी कर मैं धन्य हो गया क्योंकि रीना अभी तक वर्जिन थी. मैं जल्दी से बाथरूम में गई, साड़ी उठाई, पैन्टी उतारी और चूत पर हाथ रखते ही मेरी उंगली चूत के अन्दर जा घुसी और चूत को शीशे में देखकर खूब रगड़ा. फुल सेक्सी जानवर वालीफिर मैंने भाभी के ब्लाउज़ को उनकी चूचियों से पूरा हटाते हुए एक साइड में कर दिया.

मैं सेक्स स्टोरी पढ़ते हुए कामोत्तेजित हो गई और अपने एक हाथ को चुत पर ले जाकर चुत सहलाने लगी, अपने हाथ को शलवार के अन्दर डाल कर चुत सहलाते हुए दाने को मसलने लगी. ऐसे ही एक महीना गुजर गया अब कहानी को उसके अंजाम तक पहुँचाने का टाइम आ गया है तो चलो विस्तार से आपको बताती हूँ कि क्या हुआ आगे. थोड़ी देर बाद मॉम बाहर आईं उन्होंने सफेद सलवार कमीज पहना हुआ था, जिसमें से उनकी ब्रा और और पेंटी भी जोकि काले रंग की थी, साफ़ नज़र आ रही थी.

हरामी मज़े पूरे ले रहा था बस नाटक ऐसे कर रहा था, जैसे मैं कुछ समझ नहीं रही थी. पायल की आज नाईट शिफ्ट है तो वो हॉस्पिटल चली गई है मुझे तुम्हें देखना है, तुम छत पर आओ.

जिसकी वजह से मैं ठरकी हो गया और अब मेरा मन सिर्फ चूत व गाण्ड चाटने को करता है।बात उस समय की है.

मैं बोली- रूको, मैं बेडरूम का दरवाजा बंद करना भूल गई हूँ अभी बंद करके आती हूँ. मैंने उलाहने भरे स्वर में पूछा कि साली जी आपने तो रास्ते में ही मेरा पूरा करंट ही निकाल दिया, अब कैसे होगा. फिर हमें वो क्लिनिक मिला, तब थोड़ी मुस्कान मेरे और मोनिका के चेहरे पर आई.

नया सेक्सी वीडियो मूवी मैंने उनके मम्मों को अपने हाथों में भर लिया और दीदी की गर्दन पर अपने होंठों को रख दिया. अनुराधा ने मेरी गोटियों को हाथ में लिया और कहा- इन्हें क्या कहते हैं?मैं- इन्हें बाल्स या आँड कहते हैं.

अब मुझमें मौसी को चोदने की बात घर कर गई थी, पर रिश्ता ऐसा था कि कुछ कर नहीं सकता था. अच्छे से कुचल दो मेरी चूत… आह… आह… क्या मस्त लंड है आपका…” बहूरानी अपनी ही धुन में बहक रही थी अब. पप्पू की गोटियाँ मसलते हुए वो बोली- आहहहह… और चाट मेरी चूत और ऐसे ही मसल डाल मेरे मम्मे पप्पू.

मोटू पतलू की कहानी बताइए

कहो तो बात करवाऊं?” अंकल ने उस सतपाल नाम के पुलिस वाले के हाथ में कुछ पैसे रखते हुए कान में कहा. पूजा ने कराहते हुए कहा- उफ्फ… ठीक है आह… मामू अब आपको जो करना है आह… जल्दी करो… आह… मेरी गांड में बहुत जलन हो रही है आह… सस्स आह…संजय ने आधे लंड को बाहर निकाला, जो गांड में था, फिर पूरी ताक़त से वापिस अन्दर डाला. मैं एक बार जिस किसी लेडी का मसाज कर देता हूँ, वो मुझे कभी भूल नहीं सकती.

मेरी कमीनी कुत्ती माँ मेरे पास बैठी अपनी बेटी की चूत फटती देख खीसें निपोर रही थी. थोड़ी देर बाद मैंने उसको अपना लंड चूसने को बोला तो उसने मेरे पास आकर मेरे को बिस्तर पर धक्का देकर गिरा दिया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

तभी उस ने मुझ से मेरा मोबाइल मांगा, बोला कि फ्रेंड को जरूरी कॉल करनी है.

मैंने अपना सामान पैक करके कार में रखा और तभी मेरी नजर अनुराधा पे पड़ी. अब भाई मुझे गोदी में उठा के नाचने लगा और मैं गोदी में से ही उसे किस करने लगी. भाभी के पीछे मेरा 7 इंच का लंड भी अपने पूरे ताव में था और पीछे सुमन भाभी की गांड से भिड़ा हुआ था.

लेकिन मेरी तलाश ऐसी किसी भाभी या आंटी की चुत को लेकर थी, जिसे किसी कुंवारे लड़के के लंड से अपनी चुत चुदवाने की लालसा हो. मेरी मौसी की एक लड़की भी थी, जिसकी उम्र अभी सिर्फ 18 साल थी और वो एक खिलती हुई कली थी. उसने मुझे गांड मारने से मना नहीं किया तो मुझे समझ में आ गया कि इसके सब छेद खुले हुए हैं.

जब गांड ने अंगूठा झेल लिया तो मामी ने अंगूठे के साथ एक उंगली और बढ़ा दी.

एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो: ”अन्दर पांच हज़ार गिनकर रखे हैं हज़ार से एक पैसा ज्यादा लिया तो टांगें तोड़ दूंगी. जब फ्लॉरा ने ये महसूस किया तो उनसे पूछ लिया- आप क्या देख रहे हो?गुलशन- तुम बहुत सुन्दर हो फ्लॉरा बेटी.

इतना गोरा बदन देख कर तो मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था।मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था. उस दिन हमें गाँव के 2 लड़कों ने देख लिया और आते जाते उसको ताने मारने लगे, फिर मेरे धमकाने और समझाने पर रुके. पार्किंग से मैंने गाड़ी निकाली और बहूरानी को अपने बगल में आगे बैठा के गाड़ी बढ़ा दी.

कुछ देर बाद मेरे ठीक होने पर चाचाजी ने अपना लंड धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया.

आज भी अक्सर वीकेंड में उसका पति जब आउट ऑफ़ टाउन होता है, मुझे इस हॉट आंटी के साथ सेक्स करने को मिलता है. हाय रीडर्स, मेरा नाम सागर सिंह है, मैं मध्य प्रदेश का रहने वाला हूँ. मैंने मामी की चुत से लंड निकाल कर अर्चना के मुँह में फिर से लंड का पानी झाड़ दिया.