सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका

छवि स्रोत,जंगल सेक्स कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

घोड़ा लड़की वाला बीएफ: सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका, फिर एक मिनट बाद लंड ने अपनी जगह बना ली तो मामी को दर्द होना कम हो गया.

हिंदी एचडी सेक्स वीडियो

अब नंगे तो सभी थे ही, मोहन ने मुझे पकड़ कर उठाया और पास में ही एक तरफ लेटा लिया. मा बेटा सेकसीइस पर मैंने उनसे पूछ लिया- आप लोग कितने दिनों के अंतर पर सेक्स करते हैं.

उसने मुझे हल्का सा धक्का मारते हुए पलंग पर गिरा दिया और मेरे पैरों के बीच बैठकर मेरे लंड को अपने मुँह में भर कर चूसने लगी. पंजाबी में सेक्सी वीडियो दिखाएंकहां ये सारा बर्तन फटका करके एक घर से 1200 कमाती थी और कहां आज इसे सिर्फ 15 मिनट में 1200 बन गए.

बीच बीच में उनके चूचियां मेरी पीठ से टच होतीं, तो मेरी शरीर में झुरझुरी सी हो जाती.सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका: तो फिर उनकी चूत को जैसे ही मुंह लगाया तो वो एकदम से उछल पड़ी और अपनी योनि में मेरा मुंह घुसा दिया.

मैं उसकी चूत मारना चाहता था हर हाल में!अगले दिन फिर मैं उसको लेकर मॉल के छठे फ्लोर पर गया.मैं अगले ही पल अपने लंबे हो चुके लंड को कविता भाभी की चूत में डालने लगा.

एचडी सेक्सी वीडियो इंडियन - सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका

मैंने रोहन से बोला- रोहन, आपको याद है आपके कहने पर मैंने आपके दोस्त जॉन और अलेक्स से चुदाई करवाई थी और वो सिर्फ आपके दोस्तों की मन की इच्छा की वजह से हुआ था.फिर पूछने पर उसने बताया कि उसको एक बहुतमस्त सेक्सी वेबसाइटमिली है जिसका नाम है- दिल्ली सेक्स चैट।वो कहने लगा कि उस पर अनेकों ओपन माइंडेड सेक्सी वेबकैम मॉडल्स हैं जो इंडियन है और इंडिया के अलग अलग राज्यों से हैं.

मैं कपड़ों की दुकान पर गयी और भाईजान से पूछा- किस तरह के कपड़े लूं?भाईजान बोले- जैसे तुझे पसंद हों वैसे ले ले. सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका धीरे धीरे अन्दर बाहर होने की जगह तेज़ी से चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी गई.

मैं आप सभी का शुक्रगुजार हूँ कि आप सभी ने मेरी पिछली कहानीखूबसूरत किरायेदार भाभी को पटा कर चोदाको बहुत प्यार दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका?

उसके हाव भाव से पता लग रहा था कि हर चाहने वाले को वह अपना सेक्सी फिगर दिखाना कुछ ज्यादा ही पसंद करती थी. देखने में आंटी एक बहुत ही सेक्सी लेडी हैं और वो हर वक़्त मुझसे चिपक कर ही बात करती हैं. ” मैं फ़ोन के सामने देख देख कर जोर जोर से बड़बड़ाये जा रही थी और विजय अपने पूरे दमखम से मेरी चुदाई कर रहा था।10 मिनट इस पोज में चोदने के बाद विजय ने अपना लोड़ा में चूत में से निकाल दिया और पलंग पर बैठ गया और मुझे इशारे में अपनी गोद में आने को बोला.

हार कर मुझे अपने होंठ ढीले करने पड़े और मैंने उसके सामने आत्मसमर्पण कर दिया. एक भाभी जब पति के साथ होते हुए भी चुदवा लेती है तो सोचो कि उसकी चूत में कितनी आग होगी. शायरा की भीगी हुई पैंटी देखकर उसकी चुत की महक लेने के लिए अपने आप ही मेरा सिर उसकी जांघों के बीच झुक गया.

एक बार, दो बार और जब‌ मैं लगातार उसके हाथ को ही चूमता रहा तो शायद मेरे प्यार की तपिश से उसका हाथ भी जल उठा. अब आगे:ममता जी ने अपनी चुत से हाथ निकाल कर देखा और कहने लगीं- ओय ये क्या कर दिया तूने?उन्होंने मुझे‌ हिलाते हुए कहा. मैंने उसके दिल की धड़कने सुनी और खुद को उसकी बांहों में समर्पित कर दिया.

दस हज़ार सुनते ही आदमी की बांछें खिल गईं और बोला- हमें ये फ्लैट पसन्द है, आप दे दीजिए. अचानक वो जोर-जोर से बड़बड़ाने लगा और उसने अपने वीर्य की एक तेजधार मेरी बच्चेदानी के अंदर मारी.

तुम हम दोनों को अच्छी तरह चोद पाओ, इसलिए ये स्टेमिना बढ़ाने की दवा है.

पूरा कमरा चुदाई की आवाज से गूंज उठा- आहह हहह आहहह ऊईई ईईई ऊईईईई चोदो चोदो चोदो मुझे लेलो मेरी आहहहह आहहह चोदो और चोदो।अब वो भी गांड को आगे पीछे करने लगी.

उसमें से ढेर सारी क्रीम मेरी योनि में मल दी और उंगली से योनि के भीतर तक क्रीम लगा दी. मैं उनकी आंखों में देख रही थी और वो मेरी आंखों में!फिर मेरी आंखें बंद हो गईं. देसी गर्ल की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस की एक जवान लड़की ने लॉकडाउन में मुझसे पैड मंगवाए.

वो बड़ी अदा से मुस्कराती हुई बोली- अरे उठो न … आज ऑफिस नहीं जाना क्या?मैं कुछ नहीं बोला, तो वो मेरे ऊपर ही लेट गयी. रोहन ने फोन देखते हुए मुझसे कहा- हमारे क्लाइंट थॉमस का फ़ोन आ रहा है. फिर उसने मेरे लंड को देखा और अपनी ड्रेस ऊपर करके अपने चूचे मुझे दिखा दिये ताकि मेरा लंड फिर से खड़ा हो जाये.

उस दिन में अरुण को पढ़ाते समय भी मैं सलोनी भाभी के सेक्सी शरीर के बारे में ही सोच रहा था.

मैं घूम कर गीत के सामने आ गया और मैंने अपना लंड गीत के मुंह के पास कर दिया. उसने मुझे खाने के‌ लिए बोल‌ तो‌ दिया था … मगर शायद अब वो भी सोच रही होगी कि मुझसे खाने के लिए बोलकर ही गलती कर दी. मैंने एक झटके में दोनों पैग हलक के नीचे उतारे और सिगरेट लेने के लिए नंगा ही उठा.

मैंने उनके ऊपर झुककर उनके होंठों को किस किया और धीरे से अपना हथियार बाहर निकाला. शमा बोली- मुझे क्या करना होगा!शाही सर बोले- कुछ नहीं, सिर्फ अपने कपड़े उतारो और हमें नंगी होकर दिखा दो और एक एक बार सबका लंड चूस लो. एक बार तो भैंसा के चढ़ते ही कटरी के पांव डगमगाने लगे परंतु भैंसा ने उसे अपने अगले पांव से जकड़े रखा और पीछे से ठोकता रहा.

धीरे धीरे समय निकला, तो हम दोनों एक दूसरे को काफ़ी पसंद करने लगे थे.

मेरी उंगलियां स्वतंत्र होकर कभी उसकी गांड के अन्दर घुस जातीं, तो कभी उसकी चुत की पुत्तियों को मसल देती. मैंने भाभी से पूछा- फिर क्या हुआ?भाभी ने कुछ मुस्करा कर अपनी आंखें बंद करके अपनी गर्दन घुमा ली और चुप हो गई.

सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका अभी नहीं, जब तुम्हारा दिल करे, मैडम से मेरा नंबर लेकर मुझे फोन करना. भाभी हंस दीं भाभी की सेक्स करने की इच्छा थी और मुझे उनकी तरफ से खुली छूट मिल गई.

सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका मोहन का माल तो पहले ही मेरी चूत में भरा था, ऊपर से जब सलीम ने मुझे चोदा तो मोहन के माल की तो झाग बन गई. अब दिल में कोई शक नहीं था कि ये औरत मुझे पसंद करती है और मुझे आज इस मस्त अहसास को संभालना होगा.

मैंने भी ज्यादा दबाव नहीं दिया और कुछ चुम्मे और ब्लाउज के ऊपर से ही उसकी चुचियों को मसल कर अपना काम चला लिया.

एक्स एक्स एक्स वीडियो गांव की

आप बस लंड हिलाना छोड़ कर पहले मेल करो कि मेरी मौसी सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है. साड़ी इतनी कसी थी कि उसकी गांड बिल्कुल बाहर निकलने को होकर उठी हुई दिखाई दे रही थी. मेरा भी मन करता था कि मैं भी अपनी लाइफ को ऐसे ही इंजॉय करूं लेकिन मैं ये सब बात बताकर भाईजान की नजरों में गिरना नहीं चाहती थी.

’ करके बोलीं- आह धीरे चोद मां के लौड़े … फ्री की चुत मिली तो रंडी की चुत समझ कर न चोद. कभी कभी समय की कमी के चलते मैं सभी पाठकों को जबाव नहीं दे पाती, इसके लिए क्षमा चाहती हूँ. अब तक गीत संजय को छोड़ कर मेरे पास आ गयी और मेरे टट्टों को हाथ में पकडे़ हुए बोली- उफ्फ्फ़ कितना मस्त है रवि का!संजय पीछे से गीत के पास आकर उसके चूचे दबाते हुए बोला- रवि का क्या?मैंने भी नेहा के होंठों को किस करते हुए और एक हाथ से गीत के सर को पकड़ कर अपने लंड के पास करते हुए लंड चूसने का इशारा किया.

अब अगले भाग में आपको लिखूंगा कि कोविड वार्ड में चुत चुदाई कैसे हुई और कौन कौन लंड के नीचे आया.

कहीं तुम्हें भी ब्रा और पैंटी इकट्ठा करने का शौक तो नहीं है?रवि- नहीं, ये शौक केवल रमेश का ही है. कुछ देर बाद मैं उठा और मैंने ज़ीनिया से कहा- अब मैं चलता हूं क्योंकि मुझे घर भी जाना है. इससे मेरी शॉर्ट नाइटी और ऊपर की ओर हो गयी … जिससे मेरी गांड पर थॉमस के हाथ जम गए.

दोस्तो, मैं अमित अपनी साली की चुदाई की कहानी के पिछले भागलॉकडॉउन में चूत कैसे मिलीमें आपको बता रहा था कि किस तरह से लॉकडाउन में मैं अपनी ससुराल में फंस गया था और एक दिन मेरी साली मेरे लंड को चूसने लगी थी. तभी वो लोग अपना समान लेकर आने लगे और मुझसे मदद के लिए पूछा तो मैंने भी उनका समान रखवा दिया।अब समस्या ये थी कि मेरे वाले केबिन में काफी समान हो गया था और लेटने में तकलीफ हो रही थी. वो- हां, उसने वो बैंक में मुझे फोन तो किया था … पर मुझे याद ही नहीं रहा.

एक अर्चना की मम्मी और मेरी मामी के साथ मेरी चुदाई की कहानी और दूसरी सेक्स कहानी वो जिसमें अर्चना की मदमस्त जवानी का मजा उसके दोनों भाइयों ने उसकी चुत चुदाई करके मजा लिया था. फिर मेरी बॉडी को चूमते हुए उसने मेरी पैंट का हुक खोल दिया और पैंट को खींच कर मेरी टांगों से अलग कर दिया.

चाचा जी बोले- देखो बेटा, मैं मानता हूँ कि तुम्हारी और मेरी उम्र में बहुत फर्क है, फिर भी मैं तुमसे गुजारिश करूंगा कि अगर मैं सेक्स के दौरान गाली गलौच करूं … तो तुम बुरा नहीं मानना. मैंने शादी के लिए ही दो अच्छे सूट खरीदे थे और दो पहले वाले सूट भी साथ रख लिये थे. कुछ देर के बाद रंजू झड़ गई लेकिन मैं लगातार उसकी चुत चुदाई करता रहा.

कुछ देर रुकने के बाद मैं आगे पीछे होते हुए तेज़ तेज़ धक्के देने लगा.

फिर भाभी ने ही चुप्पी तोड़ी और मुझसे सॉरी बोलने लगी कि ऐसे उन्हें नहीं बैठना चाहिए था. अनीता अपने कमरे में चली गयी और मैं बेड पर वापिस इस तरह सो रहा था, जैसे अभी नींद में हूँ. मैंने अपनी एक टांग को नेहा की टांग से लिपटा रखा था और मेरे सामने संजय भी गीत को लिपट कर उसके मम्मों को अपने होंठों में लेकर लेटा हुआ था.

फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और अपने आप को ठीक किया।उसके चेहरे पर खुशी दिख रही थी। वो एक बार फिर मेरे गले लगी और मुझे किस करके ‘आई लव यू’ बोला।उसके बाद हम दोनों एक एक करके नीचे आ गये।तब के बाद हमें जब भी मौका मिलाहमने चुदाई की।आज वो मेरे साथ बहुत खुश है। मैंने उससे वादा किया था कि मैं उसे कभी छोड़कर नहीं जाऊंगा. बीच बीच में उनके चूचियां मेरी पीठ से टच होतीं, तो मेरी शरीर में झुरझुरी सी हो जाती.

अन्नू और डॉली अभी कुछ देर पहले ही चुदवाकर आईं थी इसलिए उनका अब और चुदवाने का मन नहीं हो रहा था. तभी मेरे दिमाग में आया कि सैनिटरी पैड तो शायरा भी इस्तेमाल‌ करती होगी. भाभी ने मुझसे बोला- अभी तो बहुत उतावली हो रही थी अब यहां क्या कर रही है जा न उसके पास!मैं भागकर विजय के रूम में चली गई और अंदर से दरवाजा बंद कर दिया.

हिंदी xxx hd

फिर उस दिन हम दोनों ऐसे ही नॉर्मल रहने लगे … लेकिन हमारे पति लोग नार्मल नहीं थे.

इतना बोलकर जैसे ही घूमी, जीजू ने मेरी गांड पर चपत मारते हुए बोली- कहां जा रही हो मेरी रानी!मैं थोड़ी गुस्से में बोली- आज आप सही में पागल हो गए हो. घर में नाईट सूट में क्या क़यामत ढा रही थी वो … उसके मम्मों की साइज भी अभी बहुत अच्छी दिख रही थी. अब्बू और चाचा को ऑफिस के काम से फ़ुर्सत ही नहीं मिलती है, इसलिए अम्मी और चाचियां अपने काम या खरीदी के लिए खुद ही अपनी कार लेकर बाज़ार चली जाती हैं.

इधर मैं बेहोशी की हालत में आ गई और दर्द से चिल्ला रही थी- छोड़ दो मुझे आअहह अहह आअहह आहह मैं मर गई. तो चलिए शुरू करते हैं जीजा साली का प्यार कहानी को।नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम नीलम है मेरी लम्बाई लगभग पाँच फुट है और मेरे बदन का साइज़ 32-30-32 है. देहाती गर्ल सेक्स वीडियोमैंने अपना लोअर उतार दिया और दादी की टांगें घुटनों से मोड़कर उसकी जांघों की मसाज करने लगा.

जैसे ही उसकी चुत पर मेरी जीभ ने मजा लेना शुरू किया, पूजा कामुक सिसकारियां लेने लगी. मेरी चूत में से बहुत सारा पानी चादर को गीली कर चुका था और विजय के धक्कों से आवाज मधुर संगीत में बदल चुकी थी.

वो खुश हो गया- पर प्लीज़ क्या मैं एक बारे इन्हें छू कर देख सकता हूँ. बाभी Xxx हिंदी कहानी का अगला भाग:बंगालन भाभी को फ्लैट दिला कर चोदा- 3. शायरा भी लगभग सारी भीग गयी थी जिससे उसका सफेद रंग का पतला सा कुर्ता उसके बदन से चिपक गया था और उसकी गुलाबी ब्रा के साथ उसके शरीर के सारे कटाव एकदम उजागर हो गए.

मैंने कहा- रोहन, तुम नीचे खड़े हो कर बिन्नी का इंतजार मत करना, अपने घर चले जाना, ऐसा न हो कि पुलिस वाले आस पास हों और तुम दोनों को फिर तंग करें. यह कहानी आपको रोमांचित कर रही है या नहीं, आप अपनी राय इस पते पर दे सकते हैं. मेरी मम्मी की और उनकी बहुत अच्छी बनती है … इसलिए वो अक्सर मेरे घर आती जाती हैं.

एक अर्चना की मम्मी और मेरी मामी के साथ मेरी चुदाई की कहानी और दूसरी सेक्स कहानी वो जिसमें अर्चना की मदमस्त जवानी का मजा उसके दोनों भाइयों ने उसकी चुत चुदाई करके मजा लिया था.

भाभी का सेक्स का मन था और मैं ये मौक़ा गंवाने के मूड में बिल्कुल भी नहीं था. ” सानिया ने मुस्कुराते हुए कहा।लो ये 100 रुपये ले जाओ तुम्हें जो पसंद हो खा पी लेना.

तो सनी बोला- देखो न मासी, दीदी मेरी एक भी बात नहीं मानती हैं और डांटती भी हैं. उसकी बातों में खुशी झलक रही थी, ऐसा मुझे साफ समझ में आ रहा था कि वो हंस भी रही है. हम दोनों ही कामुक सिसकारियां निकल कर पूरे कमरे में गूंज रही थीं ‘आहह ओह … आहह … हम्म … उफ …’कुछ देर तक इसी तरह धक्कम पेल चुदाई के बाद मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा.

इससे पहले की मेरी इंडियन सेक्सी चुदाई स्टोरीगर्लफ्रेंड की कुंवारी चूत उसी के घर में फाड़ीप्रकाशित हो चुकी हैं, जिन्हें आप सबने पढ़ा और सराहा. फिर धीरू अंकल ने मेरे पीछे जाकर मेरी गांड में दो उंगलियां एक साथ डाल दी, जिससे मैं चिहुंक उठी. मुझे बहुत मजा आ रहा था; मैं भी उन्हें गालियां दे देकर उनका जोश चढ़ा रही थी.

सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका कविता बोलती रही- मुझे याद आ गया वो दिन, जब मैंने तुम्हारी बुर पहली बार चखी थी, पर तब मेरी प्यास नहीं बुझ सकी थी. मैंने पूछा- फिर आप क्या करती थी?भाभी- मैंने क्या करना था, उंगली वगैरह से रगड़ कर सो जाती थी.

মারাঠি বিপি

बाहर से उसके बूब्स इतने बड़े महसूस नहीं हो रहे थे मगर जब मैं उनको मसलने लगा, तब मालूम पड़ा कि वो भरे हुए थे. बस आप आकर अपने लंड से इस भोग को अच्छे से लगाइए और लंड को भर भरके घुसेड़ कर मुझे मस्त चोद दीजिए … और ऐसी चुदाई कीजिए कि हम दोनों तृप्त हो जाएं. मैंने आँटी से पूछा- आँटी आप सन्तुष्ट हैं?आँटी ने मुझे चेहरे से पकड़ कर एक गाल पर जोरदार किस किया और बोली- यह रही रसीद!रात का एक बज गया था.

मुझे भी अपनी क्लास के दूसरे सेक्शन का एक लड़का धीरे धीरे अच्छा लगने लगा और फिर बहुत अच्छा लगने लगा. मैं उसके पास गई तो उसने दोनों हाथों को मेरी टांगों के नीचे से लेकर खुद खड़े खड़े मुझे अपनी गोदी में उठा लिया. बच्चों को मोटा करने का तरीकारोहन फोन के बाद टेंशन में थे और मैं भी चिंतित होने का नाटक करने लगी थी.

अभिषेक ने मेरा किस पाकर मेरी चूचियों को दबाया और बोला- ठीक है … इस किस की कीमत पर छोड़ रहा हूँ.

तो धीरे-धीरे उन्होंने अपनी बातें और अपनी परेशानियां कहनी शुरू कर दीं. मुझे आज यही रुकना है। कल सुबह चला जाऊंगा।मैंने कहा- मैं आपको होटल तक ले चलूंगी।उसने मुझे बाइक पर बैठने के लिए बोला।मैं बैठ गयी और रास्ता बताती गयी।बातों से पता चला कि वो यह घूमने के लिए आया है।उसने पूछा- कोई गाइड मिल सकता है क्या जो मुझे यहाँ घुमा सके?मैंने उसे बताया- आप बेवजह पैसा खर्च करोगे.

अब मुझे गीतिका को हासिल करने में कोई ज्यादा परेशानी नहीं लग रही थी क्योंकि उसकी मम्मी ने भी अपनी रजामंदी दे दी थी. मौका देख कर मैंने बैग से वाइन की बोतल निकाल कर शर्ट ऊंचा करके पैंट के अन्दर डाल कर वापिस शर्ट नीचे खींच ली. फिर बस स्टॉप पर आकर शायरा तो बस के इंतजार में वहीं खड़ी हो गयी मगर मैं कॉलेज जाने के लिए वहां से पैदल ही निकल लिया.

उस समय मेरी चुचियों का साइज 34 था और चुचियाँ ही मुझे ज्यादा परेशान करती थीं.

‘कितनी मस्त चूत है इसकी, अभी तो ये गुलाबी है पर चार छह बार चुद कर इसके होंठों पर सांवलापन आ जाएगा जल्दी ही!’ मैंने सोचा और झुक कर फिर से चाटने लगा. लेकिन हमारी बातें अब सेक्स की तरफ रुख़ ले चुकी थीं … और मैं उसे किसी रूम पर ले जाने के लिए मना रहा था. इसके उपरांत मैंने जीभ को चूत के मुहाने पर इधर उधर घुमाया और ज़ोर से भगनासा पर जीभ से टुक टुक की.

செக்ஸ் vidoesवैसे तो मम्मी मुझे भेजती नहीं है इसलिए कि कहीं नीलम की सील ना टूट जाये क्योंकि दीदी के घर में किराये पर कमरा लेकर पढ़ने वाले लड़के रहते हैं. एक बार दोबारा से कमरा हमारी जांघों की थप थप और बेड खिच खिच की आवाजों से भर गया.

ब्लू सेक्सी वीडियो चलने वाली

’ की आवाजें होने लगी थीं और रॉनी की सीत्कारें निकलनी शुरू हो गई थीं. मैं तेजी से उनकी चूत में जीभ को घुसा घुसाकर चूत को अंदर तक चोदने लगा. मैं उनके दरवाजे तक पहुंच गया- क्या हुआ?चाची ने मुझे कमरे में अन्दर बुलाया.

अब तक भाभी दो बार चुत झाड़ चुकी थीं और उसी जोश में लंड को चूस चूस कर सारा का सारा लंड से निकला कामरस गटकती चली गईं. उसके बाद मैंने अपने हाथों से अपनी एक चुची को पकड़ के उसके मुँह में डाल दी. खैर … आप लोग तो बस कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी का लुत्फ लीजिये और ऐसे ही मुझे सहयोग करते रहिए.

अभी जो लोग फ्लैट खाली करके गए थे वे दो बुजुर्ग पति पत्नी थे, जो रिटायरमेंट के बाद अपने शहर चले गए थे. मेरा पूरा परिवार गांव में रहता था मगर मैं पढ़ाई की वजह से शहर में अकेला रहने आया था।मैं पहली बार शहर में पढ़ाई करने के लिए आया था. मैं किसी ना किसी बहाने से उससे रोज़ मिलने लगी और हमारी दोस्ती गहरी होती चली गयी.

मैंने कभी दीवार के साथ खड़ी करके, कभी अपने ऊपर चढ़ा कर, कभी उसे करवट से लिटा कर, एक टांग को अपने कंधे पर रखकर और भी जितने भी संभोग के आसन मुझे आते थे, मैंने गीतिका को पूरी रात चोद कर पूरा संतुष्ट कर दिया और फिर हम दोनों नंगे ही सुबह 9 बजे तक सोते रहे. मुझे लगा कि मौक़ा अच्छा है, मुझे इसका फायदा लेकर भाभी की चूत चुदाई कर देनी चाहिए.

मैं बोली- हां तो साफ साफ बोलो ना … क्या बोलना है … जब से घुमा रहे हो.

उसमें से ढेर सारी क्रीम मेरी योनि में मल दी और उंगली से योनि के भीतर तक क्रीम लगा दी. ससुराल बहू का सेक्सीएक दिन छोड़ कर पट्टी बदली जायेंगी।अब हर दूसरे दिन भैया के साथ बाइक पर मैं पट्टी कराने जाती थी. गद्दे की दुकानफिर हम दोनों ने मिलकर चाय पी और अपनी कार में बैठकर माउंट आबू के लिए रवाना हुए. तभी मेरे मोबाइल की रिंग बजी तो मैं उनसे थोड़ा दूर हट कर पिछली बालकॉनी में जा कर मोबाइल सुनने लगा.

मैंने जैसे ही अपने हाथ को फिराते हुए उनकी छाती पेट और फिर नीचे चूत पर फिराया तो भाभी ने एकदम अपनी टांगों को चौड़ा किया और बोली- आओ!मैंने अबकी बार नीचे खड़े हो कर भाभी को दोनों टांगों से पकड़ा और बेड के किनारे की ओर खींच लिया.

उसने थोड़ा उठ कर मुझे चूमा और मेरी योनि पर हाथ फ़ेरती हुई बोली- अभी तो तुमने मजा लिया ही कहां है. उस दिन मैंने जानबूझ कर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसके कारण मेरी चूचियों के निप्पल साफ़ झलक रहे थे. जब मैं भाभी की चूत पर अपनी चूत रगड़ने लगी तो भाभी बोली- रानी, आज तो बिना कुछ अंदर जाए पूरा मज़ा नहीं आएगा, रुको, मैं अभी आती हूँ.

इतने में दीदी बोलीं- तेरा पति तो मेरी पूजा कर भी चुका है … और प्रसाद भी खा चुका है. क्योंकि उन्हें भी ऐसा लगता था कि कंपनी का बहुत सारा नुकसान हो जाएगा और हम बर्बाद हो जाएंगे. जब निशु मेरे लंड के आस-पास क्रीम लगा रहा था, तो मेरा छोटा सा लंड खड़ा हो गया.

वर्जन सेक्स वीडियो

मैंने बिन्दू से कहा- कोई बात नहीं, हम जब भी मिलेंगे तो इसी तरह ही थोड़ी प्यार मोहब्बत की बातें फटाफट कर लिया करेंगे. मेरे जाते ही उन्होंने मुझसे बोला- सर, आप 5 मिनट देरी से आए हो!मैं चुप रहा क्योंकि मैं कुछ भी बोलने की हालत में नहीं था. कभी वो मेरी छाती की घुंडियों को अपने मुँह में डाल कर चूसती जा रही थी.

कोई पेंशन लेने आया था, तो कोई एटीएम कार्ड लेने, कोई आधार जमा करवाने.

फिर धम्म से लौड़े पर बैठ जाती जिससे सुपारी चूत के अंतिम छोर तक जाकर यूट्रस से चुम्बन करती.

वो मेरे बदन से लेकर उंगलियों, सिर से लेकर पांव की उंगलियां चाट रही थी. उनकी आंखें यह भी कह रही थीं कि तुम्हारे आने से मुझे अच्छा लगा, मैं तुमसे संतुष्ट होना चाहती हूं. लोकल सेक्सी व्हिडिओतभी एक सुंदर सी लड़की मेरे पास आकर बोली- क्या आप माउंट आबू जा रहे हैं?मैं भी उसकी आवाज सुनकर एकदम से चौंक गया और अचरज भरी निगाहों से उसे देखने लगा.

पर कमरे में मेरे कानों में पहले और अभी की कराह और मादक सिसकियां गूंज रही थीं, जो मुझे बेचैन किए जा रही थीं. मेरे चूतड़ों के नीचे बिस्तर गीला हो चुका था और सीने पर मेरे स्तनों का दूध फ़ैल गया था. सौरभ ने भी अपना लोअर निकाला और मेरी टांगों के बीच में अपने लण्ड को पकड़कर बैठ गया.

जैसे ही मैंने अपने सुपारे को क्लिटोरियस पर रखा, गीतिका तड़प गई और बोली- अन्दर करने से पहले ही जान निकाल दोगे क्या?मैंने थोड़ा झुककर गीतिका की दोनों चूचियों को पकड़ लिया और उसके गर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिये. तुम अपनी नाइट ड्यूटी यहीं लगवा लो।अब हम दोनों चुदाई का मज़ा लेने लगे.

करीब 11 बजे तक नर्स ने सासू माँ की ड्रिप उतार दी और दवाइयाँ भी दे दी.

मैंने कहा- ऐसे नहीं, यहां साथ में ही एक कोठी के ऊपर मेरा रूम है, जब भी तुम चाहो पार्क की बजाए मेरे कमरे में मिल लिया करो. फिर भाभी को दरवाज़े से चिपका कर उनके सूट को ऊपर कर मैं घुटनों के बल बैठ गया और उनके दूध पीने लगा. आप बस लंड हिलाना छोड़ कर पहले मेल करो कि मेरी मौसी सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है.

फोटो फोनिया दिल मे अब तक भाभी ने कम्बल अलग कर दिया था और उनकी साड़ी अस्त व्यस्त हो गई थी. उसने अगले ही पल खड़े होकर पेंटी निकाल फैंकी और अकड़ कर मुँह चिढ़ाते लंड पर बैठ गई.

उसकी चूत सहलाने से गजब का मजा आ रहा था और मेरा लंड उछल उछल कर ऊपर उठ रहा था. एक बार मेरे सामने अगर किसी औरत की ब्रा और पैंटी खुल गयी तो खुल गयी। फिर वो मेरी हो जाती है. सभी एक ही रूम में बैठे थे और विजय बोला- शालिनी मैं कार सही करवाने जा रहा हूं.

इंडियन हॉट चुदाई

मेरे लौड़े ने मेरी लोअर से बाहर आने की बगावत शुरू कर दी थी।जल्दी ही आप देखेंगे कि उसके बाद दीपिका और मैं दोनों कैसे गर्म हुए. मैंने उसे व्हाट्सैप पर मैसेज करके लिखा कि मुझे बोतल चाहिए … उस बोतल में शराब डाल कर पियूंगा, तो किसी को शक नहीं होगा. मैंने फिर से हामी भर दी … और भाभी के बाथरूम में शॉवर के नीचे खड़ा हो गया.

सो किसी अजनबी से बात करके टाइम पास भी हो जाएगा और हर बात के लिए हर तरह से बची भी रहूँगी. लेकिन अब क्या हो सकता था … मम्मी को पता चल गया था।अगले दिन मम्मी मुझे लेकर अस्पताल गयीं जो कि मेरे घर से थोड़ी दूर था.

ऐसी मद भरी अंगड़ाई जो मुर्दे को भी उठा दे!मेरा लंड खड़ा हो गया!उसे देखकर वो मुस्कुराने लगी!मैं- क्या हुआ?ज़ारा- साहब सलामी दे रहे हैं!मैं- इसे तो सलामी देनी ही पड़ेगी! तुम इस घर की मल्लिका जो ठहरीं!ज़ारा- तो इन दो प्यार करने वालों को मिला देते हैं!अपनी चूत पर उंगली रख कर बोली और बिस्तर पर चढ़ने लगी.

झटके देते देते ही वे बोले- सोच … अगर तेरी चूत में एक साथ दो लंड हों. उस सेक्स कहानी में मैंने आपको बताया था कि कैसे मैंने प्रिया भाभी को पटाकर चोदा था. भाभी- आंह उफ़ … संजय … कितना मज़ा आ रहा है यार … तुम्हारा लंड तो मेरी बच्चेदानी तक पहुंच रहा है … आह अब तो जब जब मेरा मन करेगा, मैं तुम्हारी पैंट की ज़िप को खोल लूंगी, तुम्हारा लंड निकाल लूंगी और अपनी चूत में ले लूंगी.

उसके लौड़े पर मैं ऊपर नीचे होने लग गई और मेरे बूब्स उसके सीने में गड़ रहे थे. मैंने समझा कि शायद किसी और का होगा, इसलिए मैंने उसका रिप्लाई नहीं दिया. भाभी ने अपनी चुत मुझसे कोई दस मिनट तक चुसवाई और फिर पीछे खिसकने लगीं.

”ओह … पर मम्मी यहाँ क्यों आ रही है? मैंने तो कुछ नहीं किया है?”अरे ऐसा कुछ नहीं है … उसे कुछ पैसों की जरूरत है तो लेने आ रही है.

सेक्सी वीडियो बीएफ अमेरिका: इस पर मेरा दिमाग बिगड़ गया, मैंने चिल्लाते हुए कहा- मादरचोदी, धंधे पर आकर भी भाव खाती है … चल जल्दी कपड़े खोल कर पास आजा, नहीं तो गांड में झाड़ू घुसा कर भगा दूंगा. दोस्तो, मैं आपको इधर एक बात बता दूँ कि भैया की शादी को काफी समय हो गया था.

मैंने पूछा- आदमी का कैसा होता है?भाभी- आदमी का लण्ड भैंसा के लण्ड से मोटा और आगे से फूला हुआ होता है और उसके सुपारे में स्पंज होता है जो चूत को नुकसान नहीं पहुँचाता और उससे बहुत ही अच्छा लगता है, उसका मज़ा ही अलग है, और आदमी औरत को नीचे लिटा कर जब उसके ऊपर लेटता है और उसकी चूचियों को पीता है, दबाता है तो उस चुदाई का मज़ा ही कुछ और है. मैंने पूछा- वह कैसे??भाभी- कल रात को खीरे से करेंगे, तुम्हें मज़ा आएगा. अब तो उनको मालूम पड़ गया है कि मेरी सेक्स की इच्छा है और मैं अतृप्त हूँ.

उसे मैंने अपनी गोद में दोनों तरफ़ टांगें चौड़ी कर बैठा लिया, तो अर्चना की चुत और मेरा लंड दोनों आमने सामने आ गए.

हर जगह किसी के चिकोटी काटने के तो किसी के दांत से काटने के निशान पड़े थे. मैं बेड पर बैठ गया और मैंने बिन्दू की चुचियों को दोबारा निकाला और मुंह में भर कर पीने लगा. जब मैं आखिरी दिन गयी तो डाक्टर ने कहा कि एक सप्ताह के बाद एक बार आकर चेक करवा लेना!मम्मी ने कहा- ठीक है.