उड़ीसा सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,ओपन सेक्सी वीडियो हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी दे दे: उड़ीसा सेक्सी बीएफ, शायद ये शायरा के पति ने भेजा था … क्योंकि उस पर एक तरफ तो यहां का पता था, मगर दूसरी तरफ सऊदी का कोई पता लिखा हुआ था.

सेक्सी सेक्सी फिल्में

जब तक मैं सलवार पकड़ती तब तक उसने पैंटी भी घुटनों के नीचे कर दी।अब मेरी चूत उसके सामने थी मुझे बहुत शर्म आ रही थी. बिल्ली पर निबंध हिंदी मेंथोड़ी देर यूं ही चुम्बन और आलिंगन करने के बाद मेरा भी मन होने लगा कि कविता के बदन से खेलूं.

हर जगह किसी के चिकोटी काटने के तो किसी के दांत से काटने के निशान पड़े थे. जिम करते समय क्या पीना चाहिएमैंने सूरज को उस दिन के लिए सॉरी बोला और उसे अपनी रजामंदी भी दे दी कि मैं सेक्स के लिए तैयार हूँ.

मैंने उसका जोश बढ़ाने के लिए कहा- चाचा औ भोसड़ी वाले चाचा … जरा आराम से करो! वरना 2 मिनट में निकल लोगे.उड़ीसा सेक्सी बीएफ: नहीं तो मेरे साथ पैदल चलो, रास्ते में बातें भी होती रहेंगी और आज तो धूप भी नहीं है … शायद बारिश आएगी.

कविता बोलती रही- मुझे याद आ गया वो दिन, जब मैंने तुम्हारी बुर पहली बार चखी थी, पर तब मेरी प्यास नहीं बुझ सकी थी.जितना वो अपने काले लंड से मेरी चुत की मालिश करता, मेरी चूत की चुदास उतनी ही बढ़ती जा रही थी.

प्रेग्नेंट कैसा होता है - उड़ीसा सेक्सी बीएफ

मैंने अपनी एक टांग को नेहा की टांग से लिपटा रखा था और मेरे सामने संजय भी गीत को लिपट कर उसके मम्मों को अपने होंठों में लेकर लेटा हुआ था.भाभी के शरीर की मालिश करने से लेकर फ़ोरप्ले और सेक्स करते हुए मुझे एक घंटा से भी ज्यादा हो चुका था.

उसने मुझे जो कहानी लिख कर भेजी है, उसे आप उसी के शब्दों में पढ़ें और आनन्द लें. उड़ीसा सेक्सी बीएफ तभी अचानक मुझे महसूस हुआ कि गर्मी कुछ ज्यादा ही बढ़ चली है और लंड महाराज कभी भी धोखा दे सकते हैं.

अब मैंने पूछा- भाभी आपने मेरी झूठी कॉफी क्यों पी?भाभी बोलीं- झूठा पीने से प्यार बढ़ता है.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ?

कुछ पल बाद भाभी मेरे बगल में आकर मेरे कान में धीरे से बोलीं- बी एफ है क्या मोबाइल में!मैं तो उनकी बात सुनकर दंग रह गया और मुंडी नीचे किए हुए बोला- मैं ये सब नहीं रखता. पर नताशा का रूप लावण्य ऐसा था … मानो कई एक पुष्प ही पूरी बगिया की सुंदरता के लिए काफी हो. कुछ देर बात करने के बाद थॉमस मेरे मम्मों को सहलाते हुए बोला- अंजलि, अब हमें बेडरूम में चलना चाहिए … अगर रोहन को कोई परेशानी ना हो तो!रोहन बोले- नहीं सर मुझे कोई परेशानी नहीं है … आप दोनों कमरे में जा सकते हो.

मैं तौलिया बांधे उसी के सामने अपने बाल झड़ाने लगी और वो लगातार मुझे देख रहा था. उसने मेरी कमर के नीचे से हाथ डाला और मुझे और भी अपनी तरफ खींच लिया, जिससे उसका लंड मेरी चूत के और भी अंदर तक जाने लगा. फिर हम लोग घर आ गये।अब मुझे बस एक बार अस्पताल जाना था क्योंकि डाक्टर ने मम्मी से बोल दिया था एक सप्ताह बाद आकर चेक करवाने को।इसी बीच गाँव से पापा का फोन आ गया तो भैया मम्मी को लेकर गाँव चले गये.

हैलो फ्रेंड्स, मैं रमित फिर से एक बार आपको अपनी मुहब्बत नैना के साथ हुई सेक्स कहानी को आगे लिख रहा हूँ. मैंने नेहा के होंठों को अपने होंठों में लेकर उसकी चूत को अपने लंड से स्पीड से चोदना शुरू कर दिया और ऊपर से संजय भी उसके चूतड़ों पर चपत लगाता हुआ उसकी गांड को चोद रहा था. अब हम तीनों के शरीर पर केवल लंड चुत को ढंकने वाले अंडरगारमेंट्स ही रह गए थे.

अगले 15 दिन, जब तक मेरे सास ससुर और पति की रिपोर्ट नेगेटिव नहीं आ गई, तब तक मैं मायके में ही रही. ”हाँ कुत्ते … ज़रा सी भी बहस मत कर … अपनी औकात में रहना सीख एक अच्छे गुलाम की तरह … ख़बरदार जो अपनी मालकिन से ज़ुबान लड़ाई … अब से तू मुझे मेमरानी कहा करेगा.

अगर नहीं भी आयी तो बिल पर लिखे स्टोर के टेलीफोन नम्बर से मुझसे बात करने की कोशिश जरूर करेगी.

उनको ही झेल पाना मेरे लिए बहुत था।उनकी ही चुदाई से मैं कई बार प्रग्नेंट हुई.

हर धक्के के जवाब में आँटी अपने चूतड़ों को मेरी जांघों में मारती रही. मैंने झट से गेट और पर्दे बंद कर दिये।उसने मेरी बनियान और अंडरवियर उतार दी और मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगी।क्या मस्त लौड़ा चूस रही थी मुझे रेखा आंटी की याद आ गई।मैंने उसके सर को पकड़ कर झटके मारना शुरू कर दिया और उसके मुंह को चोदने लगा।अब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया उसकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया और उसकी चिकनी भूरी चूत में अपनी जीभ घुसा दी और चूसने लगा. संजय अब तक हमारे पास आ गया था और मैंने संजय को गीत के पीछे जाने का इशारा किया जिसे गीत तो समझ ही चुकी थी, किंतु नेहा अब समझ गयी.

एस्स एंड पुस्सी बेबी… ओह्ह फक मी डार्लिंग।उधर संजय नेहा की चूत के बिल्कुल अंदर जीभ डाल कर उसे चूस रहा था. नैना बोली- रमित मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ … बस जो भी पल या लम्हा तुम्हारे साथ बिताने का मिले, उसे भरपूर जी लेना चाहती हूँ. मैंने कमल को इशारा किया तो उसने एक बार उसके मुँह से साड़ी निकाल कर उसका मुँह खोल दिया.

लेकिन मैं उसी रफ्तार से तेज़ी से अंदर-बाहर करने लगा।फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाज तेज हो गई.

कुछ देर में खाना खत्म हुआ, तो मौसी किचन में चली गईं और बर्तन साफ करने लगीं. जब ये दोनों मेरा मेकअप कर रहे थे … उस टाइम मेरी गांड की खुजली और मेरे अन्दर की औरत की वासना दोनों ही काबू से बाहर हो रही थी. अब पोजीशन ये थी कि नेहा बेड पर लेटी हुई थी और संजय उसका सिर गोद में रख कर नेहा के होंठ और जीभ चूस रहा था और वो एक हाथ से नेहा के मम्मों को भी मसले और सहलाए जा रहा था.

मैंने बैठ कर फ्रूट सलाद, आइस्क्रीम, ड्रिंक्स और कुछ कुछ खा पीकर टाइम गुजारा. आप भी एक बार दिल्ली सेक्स चैट की हॉट मॉडल अन्जना के साथ लाइव सेक्स चैट करके देखें और अपना अनुभव मुझे बतायें. मैंने बोला- अनु ये क्या किया? बिना कंडोम के शुरू हो गए?वो बोले- सॉरी यार मुझे भी याद नहीं रहा.

फिर मैं थक कर लेट गई।करीब 10-15 मिनट तक हम एक दूसरे से बातें करते रहे।कुछ देर बाद उनका लंड फिर से खड़ा हो गया।तो वे मुझसे कहने लगे- बेबी, मेरे ऊपर आ जाओ.

प्रियंका धीरे धीरे करके अपनी तीनों उंगलियों को अन्दर तक घुसेड़ने लगी … अन्दर बाहर … अन्दर बाहर …फच्च फच्च की आवाजें बाथरूम से होते हुए कमरे में भी गूंज रही थीं. मैं उसकी चूत सलवार के ऊपर से लगातार मसले जा रहा था और कुर्ते की ऊपर से ही बूब्स काटता जा रहा था.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ मेरे इन उन्नत चूचों को मसल दे … इनको अपने होंठों में ले कर खूब चूसे. सौरभ ने अपना ऊपर का काम जारी रखा और उसका हाथ चुचियों से होता हुआ मेरे शरीर के दूसरे हिस्सों पर घूमने लगा, लेकिन बहुत ही धीरे धीरे.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ खैर … आपको मेरी इस कॉलेज गर्ल चुदाई कहानी में कितना मजा आ रहा है, प्लीज़ मुझे मेल करके बताएं. तेज बारिश और बादलों की गड़गड़ाहट बदस्तूर जारी थी; बीच बीच में बिजली भी कौंध जाती जिससे निष्ठा की झांटों वाली चूत का दीदार क्षणमात्र के लिए हो जाता था.

कभी उसका ऊपर वाला होंठ अपने होंठों में ले कर चूसता, तो कभी नीचे वाला.

एक्स एन एक्स एक्स बीएफ सेक्सी

उसी दिन स्कूल में मेरी दूसरी सहेली ने मुझे अन्तर्वासना साइट के बारे में बताया था, तो आज मुझे कुछ ज्यादा ही वासना और चुदास परेशान करने लगी थी. मैंने जल्दी से उनके मखमली बदन को साड़ी के साथ उसके ब्लाउज और पेटीकोट से आजाद कर दिया. अनु ने कमल से बोला- अब कुछ करेंगे नहीं … मैं बस थोड़ी देर फूफाजी के संग सोना चाहती हूँ.

वो बूढ़ा मेरे सामने खड़ा होकर मेरे बालों को सहलाने लगा और अपने लंड के हल्के हल्के झटके मेरे मुँह में मारने लगा,बूढ़े का लंड उस लड़के जितना लंबा और मोटा तो नहीं था, मगर फिर भी पूरा तना हुआ और पूरा हार्ड था. बस गिरने को ही थी कि मैंने उसको उठा लिया और स्वाद लेते हुए मुंह में घुमाकर निगल गया. मरीज की सास विमला को वहीं छोड़ रोहिणी अपनी बहु मीनाक्षी को लेकर चली गयी.

भाभी ने नौकरानी को अरुण के आने तक नीचे रहने की सख्त हिदायत दे रखी थी, जो मुझे बाद में पता चली.

उसने गूगल सर्च इंजन पर कुछ टाइप किया और कुछ फोटो निकल कर सामने आये. तो मैंने अपने मुंह से बाहर निकाल कर लिया और रिजवान का लंड चूसना शुरू कर दिया. एक बोला- शाही भाई, कहीं ये बाहर जाकर तो नहीं बता देगी?शाही सर बोले- नहीं बताएगी, पैसा बहुत कुछ कर सकता है.

मुझे समझ नहीं आया कि आखिर जब मैं अब हर तरह से उसके लिए तैयार थी, तो उसने मुझे अपनी योनि क्यों नहीं चाटने दी. वो- ऐसा क्या करोगे?मैं- तुम्हारे होंठों को चूमते हुए तुम्हारी गर्दन पर चूमूंगा, तुम्हें बांहों में ऐसे क़ैद कर लूंगा, चूमते हुए तुम्हारी गर्दन से धीरे धीरे तुम्हारे सीने तक पहुंच जाऊंगा. मैंने पूछा- अब क्या?वो बोला- मालकिन अभी तो केवल चूत की मालिश हुई है.

मैंने पूछा- तुम कब तक यहां हो?उसने कहा- कल रात और हूं … फिर चली जाऊंगी. अंडरवियर उतारते ही उनका लिंग किसी स्प्रिंग की तरह हिल रहा था; बहुत लम्बा और मोटा था.

मैंने कहा- भाभी, मुझे कुछ नहीं चाहिए बस आप मुझसे प्यार करती रहना और कभी नाराज मत होना, यदि कोई गलती हो जाये तो माफ कर देना. मैंने भी बेड के किनारे पर खड़े होकर आंटी की टांगों को ऊपर उठाया और खड़े खड़े आंटी के घुटनों को थोड़ा मोड़ा और लंड का सुपारा चूत के ऊपर रख दिया. खास तौर पर मेरे पास महिलाओं के बहुत ही ज्यादा मेल आते हैं, जो मिलने की इच्छा जताती हैं.

पर मैं इस पोज 3 मिनट ही रह पाया, क्योंकि हर झटके में सलोनी भाभी के हाथों और पैरों की पकड़ ढीली होती जा रही थी.

फिर मौसी ने मुस्कुरा कर कहा- ऐसे क्या देख रहे हो … अन्दर नहीं आना क्या?मैं उनकी बात सुनकर अचकचा गया और झट से अन्दर आ गया. मैंने उसके चूतड़ पर हाथ फेरा, वो थोड़ा कुनमुनाई और फिर अपने चूतड़ को खुजलाकर सो गयी. आंटी बोली- क्यों क्या बात हुई?गीतिका कहने लगी- मेरी कमर में झटका लगने से जोर का दर्द हो गया है, आप थोड़ी सी मालिश कर दो मेरी कमर की.

मैंने बड़ी चाची से पूछा- आपने ये सब कहां से सीखा?वे बोलीं- मेरी एक सहेली है, उसने ही ये सब बताया है. मैं संभाल लूंगा।रिया फिर बहाना बनाते हुए बोली- मगर मेरे पीरियड्स के टाइम?समस्या देख कर रमेश बोला- हम्म … उस समय तू सिर्फ एक छोटी सी पैंटी पहन लेना और उन दिनों की भरपाई तू अगले कुछ दिनों में कर देना। वैसे भी तेरे पास तेरा मुंह और गांड भी तो है, मैं उससे भी काम चला लूंगा.

कुछ देर बाद मैं रुका और उन्हें अपनी ओर घुमा कर उनके होंठों को चूसने लगा. मैं बोला- मैं कैसे भी करके हर महीने आपको चोदने आ जाया करूंगा मेरी कप्पो रानी और आपकी चुदाई किया करूंगा. मैंने बियर का कैप खोला और चियर्स बोल कर हम दोनों बियर की चुसकियाँ लेते हुए खाना खाने लगे.

हॉट गर्ल्स बीएफ

मैं पाठकों का भी धन्यवाद करता हूं जिन्होंने मेरी कहानी को पसंद किया और मुझे अपने संदेश भेजे.

उसने कंडोम निकाल कर कचरेदान में फ़ेंक दिया और होटल के तौलिए से मेरे लंड को साफ करके फिर से लंड चूसने लगी. भाभी ने अपने अंगूठे और उंगली से मेरी चूत की फांकों को खोला और उसमें खीरे को चलाने लगी. ‘आह साले नामर्द … भैन के लौड़े हमारे गांडू खाविन्द इतनी खूबसूरत चुत भी नहीं चोद पा रहे हैं … और ये मादरचोद इतना बड़ा लंड घर में अपनी गांड में घुसाए बैठा था.

बाहर आकर गेट पर जाकर देखा, तो मेरी सांसें धक्क से रह गईं … पैरों के नीचे से धरती सरक गई. मैंने उसकी तरफ देख कर पूछा- लेना है?वो बोला- अब तो जो चाहे सो हो जाए, ये तो मुझे चाहिए ही चाहिए. दिवाली सेक्सी फिल्मइस तरह से वे दोनों घुटनों के बल नीचे बैठ गईं और मेरे छह इंच लम्बे और काफी मोटे लंड को बड़ी हसरत से देखने लगीं.

इतना बोल कर मौसी ने मेरा लंड फिर से अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. बस उस दिन जब घर आया तो मुझसे रुका ही न गया और मैं शशिकला भाभी की चूचियां याद करके दो बार मुठ मार चुका था.

भाभी बोलीं- बस मेरी जान मेरे लिए इतना ही बहुत है, मुझे और इससे ज्यादा कुछ नहीं चाहिए. अपना लंड इसमें फंसा दो, मुझे मजे में चीखने पर मजबूर कर दो … आह्ह … मुझे जोर से चोद दो।वो अब आगे की ओर झुक गयी जिससे उसकी गांड और चूत के होंठ दिखने लगे. वो- अरे कोई नहीं … वैसे भी मेरा खाना हो गया था, मैं तो बस ऐसे ही बैठी हुई थी.

अभी भी हम पूरे नंगे ही बिस्तर पर पड़े थे और जो हुआ था, उसका आनन्द ले रहे थे. रोहन उसकी बात सुनकर टेंशन में आ गए और बोले- ठीक है हम लोग मिल लेते हैं. एक रात को मैं इंटरनेट पर अपनी अतृप्त वासना को शांत करने के तरीके खोज रहा था.

इसके बाद जब वो मर्द मुझे निहारना शुरू करता है, तो उसकी निगाह मेरे नितम्बों पर जा टिकती है, जो तोप की मानिंद उसके लंड को उत्तेजित करने में शत-प्रतिशत कारगर साबित होते हैं.

मामी ने अपने कपड़े नहीं उतारे थे, तो मैंने जल्दी जल्दी से मामी के कपड़े उतारने लगा. मैं इसमें अनुभवी नहीं हूँ पर ट्राइ ज़रूर करूंगा, तुम कोई पुरानी चादर फर्श पर बिछा लो और लेट जाओ.

छोटी चाची अपनी एक उंगली से बड़ी चाची के चुत के दाने को सहला रही थीं. यह निप्पल चिल्ला चिल्ला के कह रही थीं कि हमें चूस डालो … हम चुसने के लिए बेक़रार हैं… हमारा कुचल कुचल के रस निकाल डालो … हम अकड़ अकड़ के बहुत सख्त हो चुकी हैं. मैंने उसे व्हाट्सैप पर मैसेज करके लिखा कि मुझे बोतल चाहिए … उस बोतल में शराब डाल कर पियूंगा, तो किसी को शक नहीं होगा.

मैंने भाभी के कुरते के गहरे गले में से एक चूचे को थोड़ा बाहर निकाला और अपने मुँह से काटने लगा. इसके लिए तुझे दुनिया की सबसे बड़ी रंडी भी बनना पड़ सकता है। तुझे ऐसे ऐसे काम भी करने पड़ेंगे जो रंडी भी नहीं कर सकती है। मैं तुझे बताऊंगा कि रंडी की औकात क्या होती है, तुझे रंडी बनने का बहुत शौक है ना? मैं तुझे ऐसी रंडी बनाऊंगा जैसी आज तक किसी ने नहीं बनाई होगी।रिया- मुझे मंजूर है। मैं आपकी सभी फैंटेसी पूरा करूँगी लेकिन मुझे टाइम चाहिए।रमेश- ठीक है। अब से तेरा काम शुरू हो जाता है. क्या हुआ क्या है? तूने ही किया है ये!”ममता जी ने मेरी तरफ देखते हुए कहा.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ रॉनी- आह उम्म्मह आह जान और जोर से चूस … आआह क्या मस्त चूसता है आह मजा आ गया. उसने कहा- वो कैसे?मैंने उससे कहा- जैसे तुम्हारी चूचियों को…वो- क्या … क्या नाम दोगे मेरी चूचियों को!मैं- उन्हें ना … मैं तुम्हारी दोनों बांहें कहूँगा.

इंडियन सेक्सी बीएफ वीडियो दिखाओ

इतना बोल कर मैंने एक तगड़ा धक्का दे दिया और अनु के ऊपर चढ़ गया … ताकि मेरे वजन से वो हिल भी न सके. पर मैंने गपागप गपागप अंदर बाहर करना चालू रखा।अब मेरा शरीर भी अकड़ने लगा और झटके के साथ ही पानी छोड़ दिया और उसके ऊपर लेट गया।पता नहीं चला कब दोनों को नींद आ गई।जब आंख खुली तो सुबह के 4:30 हो गये थे। मैंने उसे जगाया वो बोली- मेरी ड्यूटी 6 बजे तक है।मैं खुश हो गया और उसे चूमने लगा. तुझे धीरे धीरे एक-एक करके अपने कपड़े उतारने हैं और मैं तेरा वीडियो बनाऊंगा.

मैंने अपना खाली हाथ गीत की चूत पर रख दिया और दो उँगलियाँ गीत की चूत के अंदर डाल दीं और मेरे हाथ के ऊपर गीत ने अपना हाथ रख कर मेरी उँगलियों को अपनी चूत के और अंदर कर दिया. जब भावना ने चुदाई की कमान संभाल ली थी, तब वो चूत में घुसे लंड की जड़ और गोलियों पर अपनी जीभ चलाने लगी थी. गूगल कोई कहानी सुनाओथोड़ी देर बाद वो खुद ही मेरे बदन से अलग हुईं और बाहर चलने का इशारा किया.

मैं अपनी गांड को उनके मुंह पर मारने लगी और अपने हाथों से अपने दूध दबाने लगी.

मैंने भी शायरा को बिस्तर पर लिटा दिया और उसके गोरे चिकने बदन को देखने लगा. मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ दे दिया और उसकी ब्रा के ऊपर से चूची दबाने लगा.

मैंने कहा- जी बिल्कुल!मैंने अनु को लेटा दिया और उनके रॉकेट से खड़े लंड से रूमाल हटा दिया. मैं- अच्छा, मैं चलता हूँ, मुझे होटल से खाना भी खाना है … नहीं तो होटल बन्द हो‌ जाएगा. रजत भैया कम्पनी में सीईओ हो गए हैं और शशि भाभी एक मैनेजमेंट कॉलेज में लेक्चरर हो गई हैं.

मैं भी अनजान बनते हुए उस बूढ़े की तरफ और सरक गयी और खुद ही अपने बूब्स को उसके कंधे से रगड़ दिया.

इसलिए मैंने उससे उसके अतीत की कुछ बातें की और उसके समीप बैठ कर उसका भरोसा जीतते हुए उसकी वासना को जगाने का प्रयत्न करने लगा. मुझे लगा कि ये कैसी हरकत कर रहे हैं?लेकिन मुझे क्या था … मुझे तो इसमें भी मजा आ रहा था. भाभी अपने कपड़े निकाल कर नंगी होकर बेड पर लेट गई और उन्होंने मुझे भी नँगा कर लिया.

अगले हफ़्ते चंडीगढ़ मौसम कैसा रहेगाकुछ देर बाद मैं रुका और उन्हें अपनी ओर घुमा कर उनके होंठों को चूसने लगा. इसके बाद सूरज धीरे धीरे मेरी छाती पर आ गया और मेरे बूब्स यानि मम्मों को हल्के हल्के से कपड़ों के ऊपर से ही भींचने लगा.

पंजाबी बीएफ नंगी

दोस्तो, मैं आपकी प्यारी कोमल भाभी, आपकी सेवा में फिर से अपनी चुदाई की एक और न्यू अन्तर्वासना कहानी लेकर हाजिर हूँ. बात तकरीबन 3 वर्ष पुरानी है, जब मैंने अपनी एक सेक्स स्टोरीचूत चुदाई चांदनी रात में जंगल मेंआपके साथ साझा की थी. फिर प्रमिला बोली- यार क्यों ने तेरी सूरत वाली फ्रेंड के फार्म हाउस पर चलकर चुदाई की जाये? वहां पर खुले में चुदाई करने का सब कुछ इन्तजाम है.

मैंने बोला- अनु ये क्या किया? बिना कंडोम के शुरू हो गए?वो बोले- सॉरी यार मुझे भी याद नहीं रहा. उनका दूध जैसा गोरा शरीर देखकर मैं खुद के नसीब पर खुश हो रहा था कि आज मैं अपनी पहली चुदाई साक्षात काम देवी के साथ करने जा रहा हूँ, वो भी उसके साथ सुहागरात मनाते हुए. उन्होंने चूतड़ों तक की बिल्कुल ही छोटी स्लीवलेस नाइटी पहन रखी थी जिसमें से उनका सेक्सी शरीर लगभग दिखाई दे रहा था.

मामी की कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आहह राहुउल्ल … तुम बहुत मस्त हो. [emailprotected]ठरकी डॉक्टर की कहानी का अगला भाग:मेरी कुंवारी बुर की सील डाक्टर ने तोड़ी- 2. मुझे पता था कि उसका लंबा मोटा लौड़ा मेरी गांड को पूरी तरह से फाड़ कर रख देगा.

वह सभी के बीच में बैठी बैठी अपनी जांघों को भींचती रही और उसकी चूत पानी छोड़ती रही. मैं- कोई नहीं, वैसे भी मैं निकल ही रहा था इसलिए सोचा कि आपको ये भी देता चलूं.

उनके चुम्बनों से मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं- आआअहह बस कीजिए आंटी … मुझसे कंट्रोल नहीं होगा … और कुछ हो जाएगा हम दोनों के बीच में.

वो संजय के लंड के ऊपर के छेद के ऊपर पहले अपने थूक की एक लार छोड़ती और फिर उसे चाट कर उसके छेद के अंदर जीभ डालने की कोशिश करती, ऐसा करते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे संजय के लौड़े का छेद उसकी जीभ के लिए बना हो. পুরুলিয়ার বিএফफिर एक मिनट बाद लंड ने अपनी जगह बना ली तो मामी को दर्द होना कम हो गया. आदिवासी सेक्सी पिक्चरआगे भाभी बोली- अब बिन्दू की सुनो, उसकी फुद्दी में भी खारिश होने लगी है. कुछ देर बाद वो जब मुझसे अकेले में मिलने आईं, तो बोलीं कि एक नम्बर से कॉल आएगा, उससे बात कर लेना.

गीत नीचे से संजय का लंड पकड़ कर नेहा को लंड पर बैठने में मदद कर रही थी.

इसके बाद भी हमने 3-4 बार सेक्स के लिए कोशिश की, पर हर बार सूरज शुरू में झड़ जाता था … और मुझ तक जवानी की धूप पहुंच ही नहीं पा रही थी. जरा मैं भी देख लूँ कैसी है मुहर!ऐसा बोलकर मुझे चिढ़ाते हैं।एक बार जीजू बोले- काश मैं डाक्टर होता. इस गर्म चूत में मैं अब ये डिल्डो एक दो धक्कों में ही अंदर ले सकती हूं.

कभी उसका ऊपर वाला होंठ अपने होंठों में ले कर चूसता, तो कभी नीचे वाला. मैंने फिर से थॉमस को फ़ोन लगाया और उसे सब कुछ समझा दिया कि उसे क्या करना है. मैं मामी को आईने के सामने ले गया और उनको मैंने उनकी लाल लाल खुली हुई गांड दिखाई.

बीएफ सेक्सी मूवी की चुदाई

अब वो मेरे पास आया, उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोला- मैं कब से इस दिन का वेट कर रहा था. मैंने पूछा- फिर आप क्या करती थी?भाभी- मैंने क्या करना था, उंगली वगैरह से रगड़ कर सो जाती थी. मैंने खुलते हुए कहा- हां तो रंडियों, अब ज्यादा मत तड़पाओ … लंड लेने की तैयारी शुरू कर दो.

उसने मुझे रविवार की सुबह कॉल किया और पूछा- कहां मिलना है?मैंने कहा- कोई रूम बुक कर लेते हैं.

उसने लंड को सेट किया और एक धक्के से रिया की गांड में लंड फंसा दिया.

जैसा कि आप लोगों ने मेरी पिछली सेक्स कहानी में पढ़ा था कि मैंने अपने बिजनेस को बचाने के लिए अफ्रीकन लंड से अपनी चुदाई करवाई थी. मैंने भाभी का एक चुचा अपने मुँह में डाला और उसे मस्ती से चूसने लगा. इंग्लिश में सेक्सी पिक्चर फिल्ममैं चाहती थी जैसे मर्जी, लड़का का हो या बड़े आदमी का हो, बस मुझे लण्ड मिल जाये.

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि किसी औरत को गर्म करना हो, तो उसके कानों के आसपास चूमने और चाटने से वो बहुत जल्दी गर्म हो जाती है. क्या सोच रही होगी वो मेरे बारे में? कितनी बार पानी निकला होगा उसकी चुत से? फिर भी लग तो ऐसा ही रहा था कि वो मेरे जाल में फंस जाएगी. इस बात पर मैंने कहा- देखो हम दोस्ती रखेंगे, तुम जैसा चाहो बात करो, चाहो तो मिल भी सकते हैं … मगर ये मत सोचना कि हमें प्यार हो जाएगा.

उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह मेरे राजा आह खा लो … आह इतने दिन से कहां थे … ओहो अब नहीं सहा जाता मुझे प्यार करो!मैंने भी मैरिड गर्लफ्रेंड की चुदाई करने का मन बना लिया था. फिर तुम्हारा आपरेशन मैं करता।तो मैंने कहा- इसमें आप क्या कर लेते?जीजू बोले- अगर मैं डाक्टर होता तो तुम्हें बिल्कुल नंगी करके तुम्हारा आपरेशन करता।मुझे बहुत शर्म आयी लेकिन जीजू बेहिचक बोल देते हैं.

हमने एक राउंड चुदाई का किया और फिर वो दोनों भी नहाकर अपनी पैकिंग करने लगीं और मैं भी तैयार होने लगा.

फिर भी मैंने उनसे कहा- रहने दीजिए … मस्का मत लगाइए।फिर उन्होंने मुझसे पूछा- तुम क्या लोगी? तुम्हारे लिए क्या ऑर्डर करूं?मैंने उनसे कहा- आप जो अपने लिए ऑर्डर करो, वही मेरे लिए भी मंगवा लीजिए. स्कूल कॉलेज भी नहीं करती, कहीं घूमने टहलने भी नहीं जाती … कहीं गई भी, तो बस किसी की शादी में … या फिर बीमार हुए तो डॉक्टर … या कभी मार्केट, वो भी अम्मी या दादी के साथ ज़िंदगी बोरिंग सी है. मैंने उनसे गिलास लेते हुए पूछा कि आपका गिलास कहां है?उन्होंने कहा- वो तुम्हारे पास है.

राजधानी नाईट कल्याण चार्ट मैंने उन्हें देख कर कहा- संजय यार, पहले गीत की जवानी मस्त कर दें, फिर नेहा को भी देखते हैं, इधर आना ज़ल्दी।मेरी आवाज़ सुन कर संजय और नेहा ने एक दम पीछे देखा और हमारी तरफ देख कर एक स्माइल दी. मेरे बार बार कहने के बाद विनीता मेरे लंड को अपने गुलाबी होंठों के बीच में लेकर चूसने लगी.

” मैंने भी ढिठाई से कहा और अपना हाथ उसकी जांघों के बीच घुसेड़ के उसकी चूत कुरेदने लगा. मैंने हल्के हाथ से डरते हुए उसकी गांड पर हाथ फेरा तो मुझे ऐसा लगा कि उसने पैंटी भी नहीं पहनी हुई थी. मगर शाही सर बोले- ओके मोहन, तू चाहे तो अभी शाहीन मैडम के साथ सेक्स कर सकता है, मगर करेगा हम सबके सामने … यहीं पर.

बीएफ वीडियो बढ़िया-बढ़िया

मौसी मेरा सर अपनी चुत पर दबाते हुए मुझे गालियां दे रही थीं और ‘अहहह मादरचोद चूस ले … भैन के लंड चुत चाट ले हरामी. वो बूढ़ा मेरे सामने खड़ा होकर मेरे बालों को सहलाने लगा और अपने लंड के हल्के हल्के झटके मेरे मुँह में मारने लगा,बूढ़े का लंड उस लड़के जितना लंबा और मोटा तो नहीं था, मगर फिर भी पूरा तना हुआ और पूरा हार्ड था. मैं वापस आया और कूपे की नाईट वाली लाइट भी बन्द करके अनीता के ऊपर चढ़ गया.

मेरे लण्ड ने जैसे ही बिन्दू की चूत को टच किया वह आ… आ… करके सीधा खड़ी हो गई और लण्ड को अपने मोटे और गुदाज़ पटों में दबा लिया. अरुण को गणित के कुछ प्रश्न हल करने को देकर मैं सलोनी भाभी के कमरे में जाकर उनसे फिर से लिपट गया और पीछे जाकर उनके चूचों को मसलने लगा.

ऊपर वाले की मेहर से मेरे पास इतने पैसे तो हैं कि मैं अपनी जिन्दगी राजाओं की तरह जी सकूं.

उन्होंने बाद में मुझे बताया था।अब मैं क्या कहती … मेरी सील तो डाक्टर ने पहले ही तोड़ दी थी. सबसे पहले मैंने आँख उचका कर उस लड़की की ओर इशारा करते हुए कहा- वो कौन है, और उसका ड्रेस?नेहा और मैं साथ चल रहे थे. थॉमस ने फ़ोन काट दिया और फिर मैं अपने बेडरूम में आ गयी और रोहन के साथ ही बेड पर बैठ गयी.

मैंने उससे दोस्ती करके उसकी चुदाई कैसे की?नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त प्रतोष सिंह फिर से एक और चूत और लंड को कड़क कर देने वाली कहानी के साथ हाज़िर हूं. आईई… सेठ, सीधे गांड में ही घुसा दिया? बताया भी नहीं।रवि- साली बोलना क्या है? तुझे तो इसकी आदत है।रवि उसकी गांड को पेलने लगा और कुछ देर तक उसकी गांड को चोदने के बाद उसने लंड को बाहर निकाल लिया. ऊपर खड़ी खड़ी गीत भी मेरी उँगलियों की चुदाई वजह से सिसकारने लगी थी- ऊईई … आह्ह … आईई … याहह … स्स्स … आह्ह।अब मैंने गीत को उसके बैग से डिल्डो निकालने को बोला.

काव्या ने मेरा सारा रस पी लिया और मैंने उसका अमृत कलश अपने मुँह में खाली कर लिया.

उड़ीसा सेक्सी बीएफ: अब वो मेरे पास इठलाते हुए आयी और मुझसे चिपकते हुए बोली- जीजा मेरी जान … आज पूरी रात तुम अपने इस साली की चूत और गांड मार-मार कर इसे बेदम कर दो. ऐसा मैंने नोटिस किया है।मैं दीदी के यहाँ गयी तो मुझे देखते ही जीजू बोले- लो आ गयी साली साहिबा! कैसी हो साली जी?वे दीदी के सामने भी मुझे छेड़ते रहते हैं।मेरे स्तन पर आपरेशन का निशान है.

कमरे में खिड़की से बाहर की स्ट्रीट लाइट से थोड़ी रोशनी आने लगी जिससे हम एक दूसरे को साफ़ देख पा रहे थे. थोड़ी देर बाद वो मसाज बॉय भी आ गया और मैंने उसे अपने रूम में बुला कर उससे अपनी मसाज और पूरी बॉडी की वैक्स भी करवाई. मैं- ठीक है भैया … और कोई आ भी गए, तो मैं बोल दूंगा कि भैया बाहर गए हैं … वो कल आएंगे.

वो चुदने से पहले मुझे बाजार ले गई थीं और मेरे लिए पांच जोड़ी कपड़े खरीद लिए थे.

विजय ने मुझे सीधा किया और मेरी टांगों को पकड़कर मुझे अपनी गोद में उठा लिया. [emailprotected]हॉस्पिटल सेक्स कहानी का अगला भाग:कोविड वार्ड में चुत चुदाई का मजा- 3. डेज़ी मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत पर ऐसे दबाने लगी, जैसे वो मुझे अपने चुत के अन्दर घुसा लेना चाहती हो.