नाबालिक लड़की की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी में देवर भाभी की

तस्वीर का शीर्षक ,

दिसावर बाबा चैनल: नाबालिक लड़की की बीएफ, मुझे अच्छा लगेगा और दूसरी बात हम अच्छे दोस्त बन सकते हैं तो शॉर्ट में नहीं खुल कर सब बात डिटेल में बताओ।सुधीर- ओके भाभी.

ajit सेक्सी वीडियो

स्नेहा के मकान मालिक के परिवार के लोग वहीं बरामदे में बैठे थे, हमारा आपस में परिचय हुआ, मेरे बारे में तो स्नेहा ने सबको बता ही दिया था कि मैं उसका अंकल, उसकी सहेली डॉली का पापा हूँ. काजोल हीरोइन की सेक्सी फिल्ममेरे सोना को लुल्ली की मालिश करवाने में मज़ा आ रहा था?मॉंटी- हाँ दीदी.

मीना- अब वो तेरी मर्ज़ी है तू इसे क्या दिलाती है, चल मुझे बाहर तक छोड़ दे. हैदराबाद में सेक्सीअब वो मुझसे पूछने लगी- क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?मैंने वो बात सुन कर हसं कर भाभी को मना कर दिया और फिर भाभी मुझसे बोली- तुम कैंची से बाल मत काटा करो वरना वो कड़क हो जाएंगे.

रात तो जैसे-तैसे गुजर गई, सुबह सबसे पहले मॉंटी उठा और टीना के साथ सुमन को सोता देख कर वो सोचने लगा कि ये कौन है, फिर उसने टीना को उठाया.नाबालिक लड़की की बीएफ: उसके बाद मैंने अपना गाऊन पहनना चाहा क्योंकि मुझे लगा कि इस राउंड से उसका पेट भर गया अब और नहीं माँगेगा.

दीवाली वाले दिन मैं और आयेशा बहुत अच्छे से तैयार हुई, मैंने और आयेशा ने डीप ब्लाउज और लहँगा पहना था.बड़े चाचा ने कहा- ठीक है, माता जी पिता जी को जब तक चाहें यहीं रख लीजिये.

वाली सेक्सी पिक्चर दिखाओ - नाबालिक लड़की की बीएफ

बस ऐसे ही लेटी रहने दो मुझे!’ वो बोली और अपनी चूत एक दो बार रगड़ी मेरे लंड पे और फिर शान्त होकर लेटी रही.कुछ मिनट उसको मज़ा भी दे दे, तेरा क्या बिगड़ जाएगा। फिर तुझे असली मज़ा तो मैं दे ही दूँगा।राजू- मान जाओ ना भाभी जी.

लंड घुसा के कुचल दो इस चूत को आज!’‘ठीक है गुड़िया… फिर से सोच लो, बाद में मुझे दोष मत देना!’‘ओफ्फो, सोच लिया है सब. नाबालिक लड़की की बीएफ सुलेखा ने मेरे गले में बाहें डाल दी थीं एवं बड़े प्यार भरी नज़रों से वो मेरे चेहरे को देख रही थी.

जो उसे इसके बारे में सही से बता पाएगा। वो तैयार हो गई।उसने अपने घर पर बताया कि उसके अन्दर ही कमी है जोकि थोड़े से इलाज़ के बाद ठीक हो जाएगी। इससे घर में सब लोग खुश हो गए। अगले दिन डॉक्टर ने हमें सब कुछ सही तरीके से समझा दिया कि हमें क्या-क्या करना होगा, जैसे कि वीर्य का चयन.

नाबालिक लड़की की बीएफ?

इतने में रफीक का ऑफिस आ गया तो रफीक बाय कह कर और थम्स अप करके चला गया. लड़की सीधी होकर बैठ गई और लड़के ने अपना आधा सोया हुआ लंड जिप के अंदर वापस डाल लिया और दोनों पहले वाली पॉजिशन में आराम से बैठ गये. चाची का शरीर एकदम से अकड़ने लगा और फिर हम दोनों एक साथ एक-दूसरे के मुँह में झड़ गए.

मानसी- ऐसा भी कुछ नहीं है जस्सी, तू तो ऐसे बात कर रहा है जैसे मैंने तुझे कितने ताने मारे हों. अब सभी लेडीज़ सिर्फ ब्रा और पैंटी में आ चुकी थीं, क्या मस्त नज़ारा था, हम भी सभी मर्दों के जिस्म पर सिर्फ बनियान और अंडरवियर थे. दूधवाले के बमपिलाट झटके से तो मानो मेरी जान ही निकल गई, फिर उसने मुझे बड़ी तेजी से चोदना शुरू किया.

जान!वो भी ‘ऊऊ ऊउऊ ऊऊ’ की आवाज के साथ चूसती जा रही थी, मेरे लंड में खिंचाव आने लगा था, वो अंतिम छोर तक खड़ा हो चुका था. वेज भी और नॉनवेज भी है, मगर खाने से पहले थोड़ी ड्रिंकिंग हो जाए तो पार्टी का मज़ा आएगा. ये मुझे उसके पैंट में बने तम्बू से साफ़ समझ आ रहा था।फिर वो मेरे पैरों पर हल्के से मालिश करने लगा।मैंने कहा- देवर जी हां.

जिसे देखकर सुमन डर गई।टीना- अरे डर मत उसको होश कहाँ है, नशे में धुत पड़ा है।टीना उसके पास गई उसको हिलाया मगर वो तो बेसुध पड़ा था। वो कोई 40 साल का आदमी था. गोपाल- बहुत अच्छे आह… ऐसे ही उफ्फ… अब इसे पकड़ कर ऊपर-नीचे भी कर… अह…गोपाल ने नीतू का हाथ पकड़ा और उसे समझाया कि लंड की मुठ कैसे मारनी है.

लड़की हवस में पागल हो गई और कमर अपनी सीट से लगाकर आँख बंद करके आराम की मुद्रा में बैठ गई.

बिना सोचे समझे मैंने वाइब्रेटर रिया की चुत में पूरा का पूरा पेल दिया.

शायद फूफा जी को पता नहीं था कि उनकी बगल में मैं हूँ, नहीं तो वो मेरे कंधे को नहीं सीधा मेरे चूचे पकड़ते. उसने मेरे कंधे तक हाथ डालकर मुझे नीचे की ओर दबाते हुए पकड़ा और एक लय में लंड पेलना शुरु कर दिया. डिल्डो अभी भी पूजा की बुर में धंसा हुआ था और पूजा का रस बुर में से रिस रहा था.

मैं कोल्ड ड्रिंक पीने लगी और राहुल सी डी लेकर प्लेयर में लगाने लगा. नीचे लेटे हुआ चंगेज़ मेरी धर्मपत्नि की कमर को पकड़ कर अपने लंड पर पटक रहा था, जबकि पीछे से रुस्लान उसकी गांड पर हाथ टिकाए, अपने लंड को उसकी फटी जा रही गांड में ठूँसे जा रहा था. नीचे से नताशा की गांड लेते हुए चंगेज़ ने उसकी जांघें पकड़, ऊपर को उठाते हुए नताशा की चुदाई फैक्ट्री को किसी हुक्के की तरह ऊपर को उठा दिया, जिससे गांड में अन्दर-बाहर होते हुए दो भयानक, मोटे लंड और सरलता के साथ घपा-घप गोरी-गुलाबी गांड को चोदने लग गए.

बोलीं- मैंने तुम्हारे भैया का कभी मुँह में नहीं लिया है।फिर मेरे मनाने पर भाभी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने चाटने लगीं। फिर हम 69 की पोजीशन होकर एक-दूसरे का गुप्तांग चूसने-चाटने लगे।बस 5 मिनट के बाद भाभी बोलीं- अब मत तड़पाओ।मैंने अपने लंड को भाभी की चूत पर रखा और जोर से धक्का मारा,भाभी की चूत में लंडघुसने से उनके मुँह से चीख निकल गई, भाभी बोलीं- आह.

मैं टयूशन पढ़ने एक टीचर के पास जाता था, उनका घर मेरे घर से थोड़ी दूरी पर था. तभी उन्होंने कहा- कहाँ खोए हुए हो?तो मैंने कहा- कहीं नहीं… सॉरी!और चाबी लेकर चला गया. तब से मैंने मोबाइल में अन्तर्वासना पर भाई-बहन सेक्स स्टोरी पढ़ना स्टार्ट किया.

‘तो फिर हम यहाँ क्यों आये हैं?’ मैंने पूछा तो सुमित ने बताया- अभी थोड़ी देर में जिन लड़के लड़कियों की शराब ज़्यादा हो जाएगी, या जो नशे में अंदर गलत हरकतें करेंगे, बाउंसर उन्हें उठा कर बाहर फेंक देंगे. और तेज-तेज धक्के मारो!अब मैं झड़ने वाला था तो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ आंटी?आंटी ने सिग्नल दे दिया- मेरी गांड में ही निकाल दो प्लीज़. दस मिनट बीतते ही चाची मुझसे अलग हुई और तुरंत झुक कर मेरे लिंग को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और उसमें से निकल रहे पूर्व रस को पीने लगी.

वहाँ से आने के बाद मैंने अपने कमरे में जा कर किताब को खोला ही था कि माँ ने आवाज लगा दी.

मैं दीदी के मम्मों को दबाने लगा और बीच-बीच में उनके निप्पलों भी खींच देता तो वो ‘आह्ह्ह्ह. बस तक तक सब्र कर!फिर उसने मुझे छोड़ दिया तो मैंने अपने कपड़े ठीक किए और फिर से पढ़ने बैठ गया क्योंकि माँ पिताजी का मंदिर से वापिस आने का समय हो गया था.

नाबालिक लड़की की बीएफ अब मामा जी का लंड पूरी तरह से गीला हो चुका था, अब मामा लंड मेरे मुँह से निकाल कर नीचे उतर गये. जॉन जल्दी से उठा और फ्लॉरा की एक लॉलीपॉप ले आया, फिर उसके मुँह में लॉलीपॉप दिया और जैसा उसने सोचा था, वही हुआ.

नाबालिक लड़की की बीएफ झड़ रही रुचिका की चूत की गर्माहट ने लंड रस को भी बहने पे मजबूर कर दिया और जैसे ही रुचिका की बरसात बंद हुई मैंने एकदम लंड को बाहर निकाला और सीधा रुचिका के हाथों में दे दिया, उसने बिना देर किये फुर्ती से नीचे लेट कर अपने होंठों के अंदर मर लंड कस लिया. चारू ने अपना लंड एक लय से पेलना शुरू किया और समान धीमी गति से लंड जड़ तक पेला.

अब तो हर झटके के साथ मेरे मुँह से आहह आहह की आवाज़ निकल रही थी और मुझे ऐसा लग रहा था कि अब फूफा जी मेरी चूत फाड़ कर ही दम लेंगे.

बीएफ वीडियो वीडियो वीडियो वीडियो

धीरे धीरे उसकी गर्दन और उसकी चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही चाटने लगा था. इधर लड़के का लंड सांप की भांति उसकी जिप से बाहर निकला हुआ था जिसकी टोपी को वो लड़की ऊपर नीचे करते हुए लड़के को बेकाबू किए जा रही थी. मैंने हालात के आगे आत्मसमर्पण करते हुए सामूहिक चुदाई को स्वीकार कर लिया था। शायद मैं खुद भी ये सब चाहती थी, तभी तो मैंने ऐसी मजेदार चुदाई पाकर मुंह से विकास का लंड निकाला और कहा- वाह.

उनके साथ नए-नए लंड भी आते हैं, जिस दिन मॉम-डैड की नाइट शिफ्ट होती है, उस दिन हमारी खूब चुदाई होती है।दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको इधर तक की सेक्स स्टोरी अच्छी लगी होगी। आगे की सेक्स स्टोरी भी जल्दी ही लिखूँगी कि मैं प्रेग्नेंट हो गई थी, उसके बाद क्या किया और बाहर कितने लंडों से मैं चुदी।तब तक मेल करके बताओ कि मेरी बुर की चुदाई की सेक्स स्टोरी कैसी लगी।[emailprotected]. मैं तो बस आपसे दोस्ती करना चाहता हूँ और कुछ नहीं!मैंने आकाश को साफ साफ बोल दिया- देखो, मुझे सब पता है दोस्ती वोस्ती कुछ नहीं, सब कहने की बात है, सारी दोस्ती और प्यार बैडरूम में ही जा कर पूरी होती है. मुझे क्या चाहिए था, मैंने उससे उन दिनों के दौरान उसका हाल-चाल पूछना शुरू किया और हम दोनों और करीब आते चले गए.

भाभी बोली- मैं जब तुम्हारे सामने नंगी हो सकती हूँ तो तुम्हें क्यों मेरे सामनेनंगी होने में शर्म आ रही है?मैंने कहा- हां ठीक है, लेकिन आप दूर से ही देखना!इतना कह कर मैंने धीरे से अपनी पेंटी को नीचे सरका दिया.

माला ने मेरे होंठों का स्वागत उन पर अपने होंठों का दबाव डालते हुए किया और उन्हें चूसते हुए अपनी जीभ को मेरे मुंह डाल दी. जीन्स, टी शिर्ट्स, शॉर्ट्स, निकर, टॉप, गाउन, मिनी स्कर्ट, शॉर्ट स्कर्ट. सुमित ने उसकी टाँगें पकड़ कर खींची और उसको अपने नीचे सेट करके उसकी चूत पर अपना लंड सेट किया और फिर सुमित ने अपनी कमर हिलाई और ‘आह, मज़ा आ गया यार’ कहा.

उसके बाद जितना मर्ज़ी मज़े ले लेना।गोपाल कुछ बोलता या करता, तभी उसके फ़ोन की रिंग कमरे में गूंजने लग गई. मैं फूफा जी के पास गई और धीरे से फूफा जी को आवाज़ लगाई ताकि मुझे पता चल जाए कि वो पक्का सो रहे हैं. घर में विवाह से सम्बंधित बहुत सारे कार्य थे तो माँ पापा से कह कर स्मृति को विवाह के कुछ दिन पूर्व ही बुला लिया था.

मैं उसके नीचे पड़ी थी, उसकी इन सभी हरकतों से मेरी कामुकता जाग गई थी. फिर हम लोग कुछ देर तक लेटे रहे, दीदी मुझे चूमते हुए प्यार करती रहीं.

ना तो मोटा और ना ही पतला है, हर कोई मेरी तारीफ करता है।दोस्तो यह सेक्स स्टोरी तब की है जब मैं स्कूल में थी और उस वक्त मेरी कमसिन उम्र थी।उस समय मुझे सेक्स के बारे में कुछ भी ठीक से नहीं मालूम था, बस टीवी में कभी-कभी कुछ व्यस्क सीन दिख जाते थे तो अजीब सी फीलिंग्स आती थी। लेकिन उस वक्त मैं इस सबको इग्नोर कर देती थी।मेरे अन्दर सेक्स की प्यास मेरे कज़िन भाई न जगा दी. मैं बैठ अपने लंड को सहला रहा था, और एक हाथ से कीकू के कभी बोबे तो कभी उसकी जांघ को सहला रहा था. रोज की तरह गुलशन जी चाय पी रहे थे, आज सुमन भी जल्दी उठ गई थी, वो अपने पापा के पास आई और उन्हें ‘गुड मॉर्निंग’ कहा.

लेकिन मैंने उन से साफ मना करके कहा- नहीं, मैं पहले से ही नहा चुकी हूँ और अब मेरी ब्रा पैन्टी घर से लाना भी ठीक नहीं होगा.

पर मैं कहाँ मानने वाला था। मैंने उसकी चुत को खाना चालू कर दिया। मैं तेज-तेज से उसकी चुत को दांतों से काटने लगा। वो पागल हुई जा रही थीं और सिसकारियाँ लेती जा रही थीं- आ. कोमल ने कहा- यार, तू तो सच में खिलाड़ी बन गई है, पर अब मेरा भी कमाल देख!कहते हुए उसने मेरे बगल से सामने झुकते हुए अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी और मेरी जीभ को चूसने लगी, मुंह में मुंह डालकर इस तरह जीभ चूसना मुझे और भी रोमांचित कर रहा था, साथ ही उसने मेरे निप्पल और मम्मों को बड़े ही अंदाज से सहलाया, फिर दबाया, फिर मसलने लगी. तो मैं बोला- सबीना को पता है रफीक के बारे में?सबीना बोली- हाँ मुझे पता है कि भाई लण्ड के चुस्सु भी है और गांड भी चुदवाते हैं.

कहीं वो डर के भाग ना जाए। उसके सामने तोआप चुत ही चोद लोताकि उसको लगे चुदाई में कितना मज़ा आता है. एक बार की बात है जब मैं और रोहित उसके घर पर स्टडी कर रहे थे तब वो पौंछा लगाने आई, वो झुक कर पौंछा लगाने लगी, उनके पूरे बूब्स नंगे दिख रहे थे, मेरा तो लंड पूरा खड़ा हो गया.

बस ऐसे ही चोदते रहना और मुझ जैसी दुखियारियों की चुत के दु:ख को सुख में बदलते रहना, ये बड़ा पुण्य का काम है।काका ने रसोई से एक कटोरी में देसी घी ले लिया था और वो दोनों वापस ऊपर चले गए। तब तक मोना और राजू ने सब ठीक कर दिया था. गाँव में चारों तरफ घरों की सफाई आदि चल रही थी। गाँव में ही मेरी एक गर्लफ्रेंड थी बबली… वो बिल्कुल देसी लड़की है जैसी भारत के गाँवों की लड़कियाँ होती हैं. साला हरामी की औलाद कहीं का… बोला- लीजिये राज कुमार जी, मैंने मेरी बीवी आपको पेश की…अब इस कम्बख्त का चोद चोद के भुर्ता बना दीजिए.

मोटी लड़की की बीएफ वीडियो

जब से जाने का फिक्स्ड हुआ मुझे तो और दूसरे काम में मन ही नहीं लगता था.

वैसे तो अनिता का हुस्न देख कर उनका लंड तना हुआ था मगर उन्होंने कच्छा पहना हुआ था और दूसरी बात अनिता ने उनके लंड पर गौर नहीं किया कि लंड कैसा है. मेरी एक उंगली दीदी की गांड की गहराइयों में घुस चुकी थी और मैं उनको स्मूच करे जा रहा था. वो बोला- हाय रै संदीप… जी सा आ ग्या यार… घी सा घल ग्या…(मजा़ आ गया यार…इसकी गांड में लंड डालकर)कह कर उसने दोनों हाथ मेरी बगल में दोनों ओर टिका दिए और मेरे ऊपर दबाव बनाता हुआ मेरी गांड को चोदने लगा.

इसी कारण से उसने मुझे बीच में ही रोक दिया, इसलिए मैं उस दिन झड़ ही नहीं पाया. पर फिर भी मैं पहल नहीं करना चाह रहा था, मैंने कहा- दोस्ती से बड़ा कोई रिश्ता नहीं होता पगली!मेरा यह बोलना हुआ कि उसने मुझे हग कर लिया और मेरे कान में कहा- तो फिर आज मुझे अपनी दोस्ती का गिफ्ट नहीं दोगे?‘दोस्ती में कौन सा गिफ्ट देते हैं?’ मैंने भी धीरे से उसके कान में कहा ही था कि उसने मेरे आगे आकर आँखों में आँखें डाल कर कहा- बेबी मुझे तुमसे प्यार चाहिए. शिल्पा शेट्टी सेक्सी ओपनमैं रात को बुझे मन से चाची के घर पहुंचा जाके देखा तो रवि चारपाई पे सो रहा था और पास में चाची का लड़का भी सो रहा था.

तभी मैंने उसकी योनि पर हल्के से चिकोटी भर दी जिससे वो उचक गई और उसकी जांघें जो कस के सिकुड़ी हुई थीं अब हल्के से खुलीं. इसलिए सबीना और जमीला में लेस्बियन सम्बन्ध बन गए और वो जब भी मौका मिलता इसका मजा लेती और कभी रफीक जब किसी को अपनी गांड और जमीला को चुदवाने बुलाता तो आज की तरह दोनों ननद भाभी उस से दिन में मजा लेती और रात को रफीक और जमीला मजे लेते.

हम दोनों ने 15 मिनट तक चुदाई का मजा लिया और शालू झड़ कर मेरे ऊपर ही ढेर हो गई. ऋतु अपने एक हाथ से पूजा की चूत का दाना मसल रही थी और मैं पूजा की रसीली चूत को साफ़ करने में लग गया. फिर वो थोड़ी ढीली पड़ने लगीं तो मैं उन्हें किस करते हुए उनके दोनों मम्मों को दबाने लगा.

दीवाली वाले दिन मैं और आयेशा बहुत अच्छे से तैयार हुई, मैंने और आयेशा ने डीप ब्लाउज और लहँगा पहना था. हमें आज रात ही गाँव जाना होगा।यह बात सुनकर मोना की तो हालत पतली हो गई, कहाँ तो उस पर सेक्स का खुमार चढ़ा हुआ था और कहाँ ये बुरी खबर सुनने को मिली।मोना खड़ी हुई और गोपाल के पास आकर उसके चेहरे को देखने लगी।गोपाल- मोना प्लीज़ अब ये मत कहना की मेरी चुत को शांत करो. मैडम ने चाची को बेड पर लेटने के लिए कहा, फिर चाची के पेट को दवा के चेक किया, फिर मैडम ने चाची को उठ जाने के लिए कहा और मैडम ने दवा लिखी, बोली- ज्यादा दिक्कत नहीं है जल्दी ठीक हो जायेगी.

मैं दबे पांव उसके रूम में गया और उसके बेड के किनारे जाकर खड़ा हो गया.

अब मेरा शक यकीन में बदल गया कि ये दोनों मेरा ही पीछा कर रहे हैं… मैं और तेज-तेज चलने लगा, कच्चे रास्ते में ऊंचे नीचे गड़ढों में बैलेंस करना मुश्किल हो रहा था क्योंकि रास्ते में अंधेरा छाने लगा था और नहर की पटरी पर उगे घास-फूस में झींगुरों की झीं झीं की आवाजें तेज़ हो रही थीं जिससे माहौल में और भय फैलता जा रहा था. हाँ लगा…जोर से… आह… आह… हाय रे…ऊओईईए… सीईई… सीई… मर गई…’दोनों तरफ़ से जोर जोर से सिसकरिया निकल रही थी… की… मुझे लगा कि मैं झड़ने वाली हूँ.

साथ ही आप सभी मुझे instagram पर fehmi_loves_u का प्रयोग करके जुड़ सकते हैं. आपको मेरी चुत की कहानी पसंद हो तो अपने कमेंट और सुझाव मुझे मेल कर सकते हैं[emailprotected]पर!. अब क्या हुआ ऐसे मुझे क्यों घूर रहे हो आप? हाँ?जॉय- तुम पागल हो क्या.

माला ने मेरे होंठों का स्वागत उन पर अपने होंठों का दबाव डालते हुए किया और उन्हें चूसते हुए अपनी जीभ को मेरे मुंह डाल दी. उसका ध्यान फ़ोन की तरफ़ गया तो मोना ने उसको मना किया।गोपाल- अरे एक मिनट रूको तो शायद बॉस का फ़ोन हो।मोना- आह. हम लोग स्काइप के अलावा फ़ोन पे भी थे, रफीक फ़ोन पे कोमल को चोद रहा था और मैं और मोहन ओपन स्पीकर पर जमीला को चोद रहे थे.

नाबालिक लड़की की बीएफ अब तक मेरे दिमाग में दारू का नशा चढ़ चुका था और मैं बस उनका साथ देने में मग्न सा होने लगा था. मगर मुझे थोड़ी शर्म सी आ रही है खुल के बोलने में, न जाने आप मेरे विषय में क्या सोचेंगे.

बीएफ नेपाली सेक्सी फिल्म

उन्होंने मुझे बताया कि उनके हस्बैंड भी आर्मी में मेजर हैं और अभी उनकी असम में पोस्टिंग है। आर्मी वालों की पोस्टिंग अलग- अलग जगहों पर होती रहती है इसलिए हम साल में 3 या 4 बार ही मिल पाते हैं। बस 1 शराब ही सहारा है तन्हाई को दूर करने का!दोस्तो मैं जिंदगी में पहली बार शराब पी रहा था, तो मैंने बस 1 पेग ही लेना ठीक समझा, फिर भी शराब ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया. मैंने रश्मि को दीवान पर पीठ के बल लिटा कर उसकी टाँगें चौड़ी की तो गुलाबी रंग की छोटी सी फूली हुई चूत मेरे सामने थी. एक काम कर, वो सामने से तेरा स्कूल बैग उठा कर तो ला ज़रा!पूजा- उससे क्या होगा मामू बताओ?संजय- अरे तू उठकर जा और बैग उठा कर ला.

फिर बार-बार पूछने लगीं- तुमने क्या देखा?मैं मना कर रहा था, पर उन्होंने मुँह खुलवा ही लिया. अब तक की इस नोनवेज स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पूजा अपने मामू संजय के लंड से मस्ती से चुदाई करवा रही थी. मारवाड़ी देसी लड़की का सेक्सी वीडियोमामी मेरी तरफ पीठ कर के सो रही थी मैंने उनकी साड़ी पेटीकोट से बाहर निकालने की कोशिश की पर नहीं निकली.

मैंने देखा सुलेखा और रुचिका भी अपने दोनों हाथों से एक दूसरी के हाथ को पकड़ कर मस्त हो गई हैं.

उठ गईं और दौड़कर कमरे में आ गईं।पर यहाँ का माजरा कुछ और ही था, फिर वो ये सब देख कर तुरंत ही चली गई।मैं अब तक अपना आधा लंड साली की चूत में घुसा चुका था।बड़ी साली आई पर उसको मेरी छोटी साली देख नहीं पाई थी। मैंने सोचा अब चुत में लंड दे ही दिया है. नहीं नहीं चुप हो जाओ बस।सुमन- सॉरी पापा, मैंने आपको दुखी किया प्लीज़ आप मुझे माफ़ कर दो।गुलशन- अरे नहीं, तुमने कुछ नहीं किया मैंने ही तुम्हें गुस्से ज़्यादा कह दिया था।थोड़ी देर दोनों बाप और बेटी का ये प्यार चलता रहा.

’‘काश कि भाबी माँ मैं आपको अपना पकड़वा सकता, लेकिन मैं आपको माँ बोलता हूँ न! इसीलिए आपके नाम की सिर्फ मूठ मार लेता हूँ. मैंने लंड को उसकी चूत के छेद पर रखा और एक झटका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया, उसके मुँह से आवाज निकली ‘ऊऊईई आआह्ह आआह्ह्ह आऔऊउ मर गई रे आआह्ह आआह्ह ईईआअ’मैं थोड़ा रुका और मैंने हल्का पीछे होकर और एक जोर से धक्का मारा. अंकल, लिक मी अगेन प्लीज!’‘प्लीज अंकल जी एक बार और वैसे ही कर दो ना प्लीज!’‘क्या वैसे कर दूं.

पूजा तो थोड़ी देर में ही सो गई मगर संजय को बहुत देर बाद नींद आई और वो पूजा से लिपट कर सो गया.

‘ओके स्नेहा, जब तुम ठीक समझो, मुझे फोन कर देना और किसी बात का टेंशन नहीं लेना!’ मैंने उसका गाल थपथपाते हुए कहा. मेरी प्यारी पत्नि पिछले कुछ समय से इस कला में काफी पारंगत हो चुकी थी, और आज तो वो इस स्पेशल शूटिंग के लिए पूरी तरह से तैयार होकर आई थी, उसने अपने चेहरे पर शानदार हॉलीवुड वाली ट्रेडमार्क स्माइल ओढ़ रखी थी. पहली बार किसी मर्द से मैं अपनी बुर को चटवा रही थी। मजा मिलने लगा तो मैंने अपने दोनों पैर फैला दिए और अंकल ने मस्त होकर बुर को पीना शुरू कर दिया।उनकी उंगली मेरे मम्मों की ढिबरी को मसलने लगी और तभी लाईट आ गई।मैंने देखा मेरे बदन के कपड़े खुल चुके थे वो और मैं बिना कपड़ों के थे। अंकल के हाथ मेरी समीज के अन्दर से होता हुआ बटले को दबा-दबा कर मस्त करने लगे। मेरी आँखें बंद हो चुकी थीं.

नंगी सेक्सी कव्वालीमैंने पूछा- संदीप भैया हम पहुंचने वाले हैं न?संदीप ने कोई जवाब नहीं दिया, मैंने सोचा शायद हवा के शोर में उनको सुनाई नहीं दिया. संजय- यही तुझे समझाना था, अब कुछ समझ में आया। अगर घर पे करता तो तेरी ये हालत देख कर सब समझ जाते कि मैंने तेरी चुदाई की है। अब तू तो स्कूल से घर जाएगी तो किसी को शक नहीं होगा।पूजा- मगर मामू मैं जाऊंगी कैसे? अभी चला ही नहीं गया, घर पे सब पूछेंगे ऐसे क्यों चल रही हो तब उनको शक नहीं होगा कि मैंने चुदाई की है?संजय- बहुत भोली है तू.

डब्लू डब्लू सेक्सी हिंदी बीएफ

हमारी पहली मुलाकात एक झप्पी के साथ शुरू हुई जिसके दौरान मुझे उसके भरे चुचों का अनुमान हुआ. उसको बेड पर औंधा लेटा दिया और उस पर चढ़ बैठा। मैंने अपने लंड को उसके पिछवाड़े रगड़ दिया।‘अब बोल?’वह बोला- थोड़ा थोड़ा।मैंने कहा- अबे रात को देखूंगा. मेरे भी आनन्द की सीमा न थी मैं भी सिसकार रहा था- हाय मेरी रंडी, तुम्हारी बुर कितनी टाइट और गर्म है, ओह मेरी प्यारी बहन, लो अपनी बुर में मेरे लंड को… ओह ओह.

वो ग्रॅजुयेशन कंप्लीट कर चुकी थीं और शादी के लिए उनके घर वाले लड़का ढूँढ रहे थे. रास्ते में अक्षिमा ने बताया कि उसके होस्टल में रात 10 बजे बात प्रवेश नहीं दिया जाता तो उसको जाना होगा. मगर इस चूसा चुसाई में मेरा लुल्ला फिर से तन गया, जिससे मुझे दर्द होने लगा.

वो मुझे छका रहा थी। अंत में वो भागकर बेडरूम में चली गई और दरवाजा अन्दर से बंद करने लगी। मैं बाहर से खोलने के लिए जोर लगा रहा था और वो अन्दर से बंद करने के लिए जोर लगा रही थी। इसी जद्दोजहद में मैंने तगड़ा धक्का लगाया और कमरे के अन्दर चला गया।फिर मैंने उसको बेड पर पटककर उसको अपने बस में कर लिया।वो मुस्करा कर बोली- बस इससे क्या होता है?मैंने कहा- अच्छा जी. मेरी दीदी का विवाह दिसम्बर के माह में था, उन दिनों जोरों की ठंड थी. मैं साड़ी को नीचे करने लगा पर टाईट होने के वजह से नीचे नहीं हुई तो मैं चाची से बोला- चाची वो… वो थोड़ा ढीला करना पड़ेगा.

और भैया तुम अपने रूम में जाओ अब!मैंने अनमने मन से अपने कपड़े पहने और अपने रूम में आ गया और छेद से देखने लगा. गुलशन- दिमाग़ तो ठीक है तुम्हारा? लड़कों के कपड़े पहनने से न्यू फॅशन हो जाएगा क्या? नहीं ऐसे भद्दे कपड़े बिगड़े हुए बच्चे पहनते हैं.

उत्तर में बड़े चाचा ने कहा- नहीं भईया, कल सुबह बच्चों को स्कूल भी जाना है.

जैसे ही हल्का सा धक्का लगाया तो लंड फ़िसल गया क्योंकि वो कुंवारी थी और उसकी चूत टाइट थी इसलिए मेरा लंड घुस नहीं पा रहा था. सनी लियोनी सेक्सी विडीओतो वो बोला- कितने चाहियें?मैं बोली- कितने दे सकते हो?तो वो बोला- दस हज़ार… बस तुम एक बार मिल लो!फिर मैंने कहा- बस, तुम्हारी नज़र में मेरी इतनी कीमत है?वो बोला- नहीं, तुम तो यार लाखों में हो. सेक्सी मूवी मूवी सेक्सी मूवीअब दो लड़कियाँ और 3 लड़के कमरे में नंगे खड़े थे; उन तीनों के लंड काले, बड़े और मोटे थे. इनको मैंने दो-तीन बार खाने के समय देखा भी था… हाँ ये वहीं लड़के हैं… मुझे याद आ गया.

कॉलेज के सर जी से ही गांड मराई, वर्मा सर को गांड का मजा दिया, कुछ दोस्तों को खुश किया.

तब चाची अपने एक हाथ से मेरे बालों को सहलाने लगी और मेरे लिंग को अपनी योनि में ही समेटेने की चाह में दूसरे हाथ से मेरे नितम्बों को नीचे की ओर दबाने लगी. अब मैं सोचने लगा… ये खुद ही मुझे अपने लंड को हाथ में लेने के लिए कह रहा है… एक बार देखूं तो सही कैसा लगता है इतना बड़ा लंड हाथ में लेकर…उसने कहा- चल थोड़ा और अंधेरे में चलते हैं, यहाँ कोई न कोई देख लेगा. फ्रंट के रूम में रिसेप्शनिस्ट, बीच के कमरे में डॉक्टर तथा डॉक्टर के पीछे वाले पोर्शन में एक आराम करने के लिए दीवान, दो चेयर तथा फ्रिज आदि रखे थे.

ऋषिका ने उसे प्यार से हाथ मिला कर थैंक्स कहा और काफी पिला कर ही भेजा. उसके बाद दोनों ने अच्छी तरह से लंच किया और टीवी के सामने बैठे एक-दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे।गोपाल- क्यों जानेमन, अब क्या इरादा है. उधर राजे भी अब चिल्लाने कगा था, भारी से भारी गालियाँ देकर चुदाई कर रहा था.

सेक्सी वीडियो नई नई बीएफ

मैं तो जन्नत की सैर कर रहा था। मैं भी गांड को तेजी से आगे-पीछे कर रहा था।करीब 8-10 मिनट की चुदाई के बाद भाभी और मैं साथ में झड़ गए।अगले दिन मैं भाभी से नजर नहीं मिला पा रहा था। जब घर में कोई नहीं था तब भाभी मुझसे बोलीं- हमने जो किया. मैंने दोनों तरफ गर्दन घुमाई तो कोठरी में कोई नहीं था, मैं अकेला वहाँ नंगा पड़ा हुआ था. तभी चाची भी वहाँ आ कर बिस्तर पर बैठ कर मुझसे मुंबई वाली मामी के बारे में बहुत सी बातें पूछने लगी.

ऋतु- पागलपन करने में भी कभी-कभी बड़ा मजा आता है… चलो अब अपना होमवर्क कर लेती हैं, फिर रात को तो कुछ और नहीं कर पायेंगी.

पूरे सुडौल चूचे जैसे साँचे में ढाल कर बनाए गए हों। उसके मम्मों पर मुकुट से तने एकदम छोटे से निप्पल.

सुबह मामा ने कहा- दिन में मैं अपनी ससुराल जाऊंगा, तुम चलोगे?तो मैंने मना कर दिया. अब तू ये बता तुझे क्या-क्या काम करना आता है?नीतू- दीदी, मुझे चाय बनानी आती है मगर खाना बनाना नहीं आता. बाप बेटी को चोदा सेक्सी वीडियोपूजा कुछ नहीं बोली और सीधे अपने पर्स में से एक हजार रूपए निकाल कर ऋतु को दे दिए और बोली- बिल्कुल था… ये लो!और आगे बोली- काश! ये सब मुझे बिल्कुल मेरे सामने देखने को मिल जाए तो मजा ही आ जाए.

यसस्स्स फक मी हार्डर और तेज चोदो!मैंने लंड बाहर निकाल कर दुबारा से जीभ डाल कर गांड को चूसने लगा. और थोड़ी मदहोश सी भी हो गई थी।फिर भाई ने मेरी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला और मेरे मुलायम पेट को सहलाने लगे और फिर धीरे से मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डालकर मेरे चूचे और निपल्स को दबाने लगे।मैं शांति से मजा लेटी रही. मैं तो बस तड़फ़ गई थी… ऐसा मोटा लंड देख कर…‘मुझे पता है… मैंने जान बूझ ऐसा किया था.

बाद में करना। अब तो मैं मोना रानी की गांड मारूँगा। देख ये देसी घी लाया हूँ इसे गांड में लगाकर इसकी ठुकाई करूँगा। तब तक तू मेरी राधा रानी की चुत चाट. अगले दिन ऋतु को स्कूल छोड़कर जब मैं कॉलेज गया तो मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगा.

मैं अपने पूरे जोश से उसको चोदने लगा, उसको चोदते समय अचानक मेरे ध्यान आज की फ्लाइट की एयर होस्टेस पर आ गया जिसे देख कर मेरे मन प्लान में बन गया था.

पसीने से भीग रही माला हाँफते हुए बोली- बस, मैं थक गई हूँ और नहीं कर सकती. पी ले मेरा पानी मेरी रांड, आज से तू मेरी कुतिया बन के रहेगी, पूरा पानी पी जा कुतिया, ले मेरा छूटा!और इसके साथ ही उसने मेरा मुँह उसके वीर्य से भर दिया, इतना कि मैं उसे पूरा भी निगल नहीं पाई. पर मैं अपनी कमर रोक ही नहीं पाया। मैं धकाधक 8-10 धक्के मार के झड़ गया और उन पर पसर गया।भाभी- हो गया ठंडा.

सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्ला हिंदी में तू सुना क्या हाल है तेरे और कॉलेज में सब ठीक है ना?फ्लॉरा- हाँ पापा सब ठीक है. मेरी जवान बीवी की गांड भोसड़े की तरह खुल गई थी और दोनों दैत्याकार लौड़े आराम से उसके अन्दर दौड़ लगाने लगे थे.

पूजा तो ऐसे खुश हो रही थी कि ना जाने आज उसे कौन सा खजाना मिलने वाला है. फिर रोहन ने आयेशा की गांड से लंड निकाल कर मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चुदाई शुरू कर दी. फिर ऋतु ने पूजा की तरफ देखते हुए कहा- पूजा, जरा दिखाओ तो इनको कि ये कितना मजा देता है.

बीएफ बीएफ फिल्म पिक्चर

मेरा पानी बहने लगा था मगर फूफा जी अब भी वैसे ही मेरी टाँगों को ऊपर उठाए हुए ज़ोर ज़ोर के झटके लगा रहे थे. जिसमें किसी और के वीर्य से तुमको बच्चा हो सकता है।दीदी ने मुझे कसम खिलाई कि ये बात किसी को नहीं बताना।मैंने उससे अगले दिन फिर से डॉक्टर के पास चलने को बोला. तो एक जोरदार धक्का दे मारा और मेरा लंड भाभी की चुत में जड़ तक धंसा दिया।भाभी के मुँह से चीख निकल गई, वो दर्द से ऊपर सरक कर बोलीं- ऊउउइईईई माँआ मारेगा क्याआअ.

वरना तेल से खराब हो जायेगी।मैंने भी बिना कोई हिचकिचाये नाइटी घुटनों के ऊपर उठा ली और उससे थोड़ा गर्मी का बहाना बना कर नाइटी के 2 बटन भी खोल दिए।अब वो मेरे पैरों पर तेल लगाने लगा। तेल लगाते हुए वो मेरी जाँघों को भी सहलाने लगा और बीच-बीच में वो मेरी नंगी जांघों के बीच मेरी काली पैंटी को भी देख रहा था।अब वो भी गरम हो गया था. मैंने फोन का स्पीकर चालू करके कहा- ले लिया फोन स्पीकर पे, सुमित जी हैं मेरे साथ ही, राज जी आप अपनी शर्तें कहिये.

साथ में मुझे भी मार दिया। आप ही बताओ देवर जी, ये जवानी अब मैं कैसे संभालूँ?ये कह कर राधा मेरे गले से लग कर रोने लगी, उसके जिस्म का स्पर्श पाकर मेरा लंड खड़ा हो गया। मुझसे रहा ना गया तो मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया। वो भी यही चाहती थी।बस फिर क्या.

पीटर और रिया सबकुछ भूलकर एक दूसरे में खो गए थे, किसी आदि मानव की तरह उनकी किसिंग चल रही थी. चाची भी अपने एक हाथ से मेरे लिंग को पकड़ कर उसे हिलाने लगी और कभी कभी मेरे लिंग के ऊपर की त्वचा को पीछे खींच कर लिंग-मुंड को बाहर निकाल कर सहला देती. लड़की की पहली चुदाई के बाद उसे चलने फिरने में कैसे फील होता है ये जानना था!’हम लोग ऐसे ही कोई एक घंटे तक बातें करते रहे.

अब इसका मतलब ये थोड़े ही है कि पार्टी एंजाय ना करें।संजय- यही तो इसको मैं कब से समझा रहा हूँ मगर ये समझती ही नहीं।टीना- तुम तो चुप ही रहो. आगे की पढ़ाई के लिए उसके घर वालों ने उसे पास के शहर भोपाल भेज दिया क्योंकि यहाँ ललितपुर में उसकी पसन्द का कोई भी कॉलेज नहीं था. फिर ऋतु ने एक झटके से अपना गाउन उतार फेंका… उसने कल की तरह अन्दर कुछ भी नहीं पहन रखा था, एकदम नंगी… मैंने अपने बेड के साइड का बल्ब जला दिया.

नीतू को अब मज़ा आने लगा था, वो भी लंड की मुठ मारने में लगी हुई थी और थोड़ी देर बाद गोपाल के लंड की नसें फूल गईं, वो रोकना चाहता था मगर उससे कंट्रोल नहीं हुआ और उसके लंड से एक के बाद एक पिचकारी निकलने लगीं, जिससे चादर भी खराब हो गई और नीतू का हाथ भी वीर्य से सन गया.

नाबालिक लड़की की बीएफ: हम दोनों एकदम अचंभित हो कर कुछ देर वहीं पर खड़े रहे, फिर हमने अपने कपड़े पहन लिए. वो मुझे अब अलग करने लिये झटके मार रही थी, मैं पूरा झड़ने के बाद उठ गया.

अब दो सप्ताह तक यह रोज़ मेरे साथ आएगी और यहाँ का सभी काम सीख लेगी ताकि दो सप्ताह के बाद जब मैं चली जाऊँगी तब यह आपकी अपेक्षा के अनुसार ही सभी कार्य करेगी. मैं उसके मम्मों को मसलने लगा और वो मेरा लंड अपनी चुत के अन्दर करने लगी. काफ़ी देर दोनों वैसे ही पड़े रहे, फिर गुलशन ने अनिता को सहारा देकर उठाया, उसको वॉशरूम लेके गए.

जब मैं बाथरूम में गयी और पेंटी निकाल कर चूत धोने बैठी तो मेरी चूत से मादकता भरी खुशबू आ रही थी जैसे कि मामा जी का लंड मेरे आस पास ही हो.

तुम्हारी मेडम ने तुम्हारे बारे में बहुत कुछ बताया तो हमने भी सोचा कि क्यों ना आजमा के देखें. फिर उसने मेरे मुँह से चादर हटा कर मेरे मुँह पर अपना हाथ फेरा और फिर मुझे बुलाने लगी, बोलने लगी- सैम, क्या बात इतनी जल्दी तो कभी नहीं सोता था? आज कैसे सो गया!इतना बोल कर जाने के लिए मुड़ी ही थी कि मैंने मौके को देखते ही उसका हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींच लिया. पीटर भी क्या याद रखेगा कि उसने दो जंगली बिल्लियों को एक साथ सेक्स करते देखा? चल बदन पौंछ और बैडरूम में आ जा.