हिंदी में चोदने वाला बीएफ

छवि स्रोत,मारवाडी सैक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मुसलमान वीडियो सेक्सी: हिंदी में चोदने वाला बीएफ, ये सब कामुक बातें सुन कर प्रिया अपनी चुत में उंगली करने लगी और कमर उछाल कर एक बार और झड़ गई.

योनि के अंदर का वीडियो

मेरी पढ़ाई हो चुकी है और मैं एक प्राइवेट कंपनी में काम करने लगा हूँ. लड़की का दूधउसके वीर्य के निशान देखकर मैं भी उनको चाट लेती थी और अपनी चूत में उंगली करती थी.

घबराइए मत …ये मैं ही हूँ … धारा !!” धारा ने शेखर के हाथ पर अपना हाथ रखते हुए धीरे से शेखर के कान में कहा. इंडियन वालीहाय दोस्तो, मेरा नाम नेहा है।ये कहानी अभी 2 साल पहले की ही है जिसे मैं आप सब के साथ साझा कर रही हूँ।पहले मैं आप सब को अपने बारे में बता देती हूँ।मैं अपने परिवार में इकलौती लड़की हूँ और मेरे दो बड़े भाई हैं और उनकी पत्नियाँ यानि मेरी 2 भाभी और मम्मी पापा हैं।मेरी उम्र उस समय 19 साल थी। मैं दिखने में काफी आकर्षक हूँ, और शरीर भी भरा भरा है.

फिर चूतड़ों के पास उनकी कमर पर अपने हाथ रखे और जोर-जोर से पीछे से चाची की चूत की ठुकाई करने लगा.हिंदी में चोदने वाला बीएफ: इसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि मैं जब भी सिम्मी भाभी को देखता था तो भाभी भी मुझे उसी पल नोटिस कर लेती थीं कि मैं उनको देख रहा हूं … और मुझे बरबस उनकी खूबसूरत जवानी के दीदार से महरूम हो जाना पड़ता था.

इससे वो सिहर रही थी और बस पागलों की तरह ‘आअह उह अह …’ जल्दी जल्दी …’ की आवाजें निकाल रही थी.वो बस आने वाला था तो मीरा ने रीमा से उसके कमरे में ही इंतज़ार करने को कहा और वो खुद छत पर चुदने के लिए चली गयी.

पोर्न 300 - हिंदी में चोदने वाला बीएफ

मयंक ने लंड को छेद पर फिर से लगाया और जोर से अन्दर की तरफ पेल दिया.मां ने अपनी नाइटी को अपनी टांग तक ऊपर चढ़ाई हुई थी और वो घुटने उठा कर सोयी हुई थी.

मैंने बता रखा है कि आप मेरी सहेली के पति हैं, आपके साथ आने जाने में किसे आपत्ति हो सकती है. हिंदी में चोदने वाला बीएफ मैं धीरे-धीरे मसाज करने लगा। उसकी पीठ पर मसाज करते करते मेरा लंड उसके होंठों से टच हो रहा था तो उसने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ कर अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी।कुछ देर पीठ पर मसाज देने के बाद मैं उसके साइड में आया और कुछ तेल लेकर उसके कूल्हों पर तेल लगाया।फिर अपने हाथों को गोल गोल घुमा कर उसके कूल्हों पर मसाज देने लगा.

आंटी बोलीं- लकी से कोई काम था?मैंने कहा- नहीं … बस यूं ही मिलने आया था.

हिंदी में चोदने वाला बीएफ?

आह्ह … धारा !!” शेखर के मुँह से बस इतना ही निकल सका।धारा ने धीरे-धीरे करके शेखर के लंड के उन सभी हिस्सों को जो कि उसके फ़्रेंची के होते हुए छुए या चूमे जा सकते थे, चूमा और अचानक से लंड को अपने दाँतों से पकड़ लिया. मैंने उससे खून के धब्बे के लिए पूछा, तो वो बोला- गांड फटेगी, तो खून तो निकलेगा ही. दूसरे दिन मीरा ने एक तरकीब निकाली और अपने रूम के एसी खराब होने का बहाना किया.

जब तक वो खुद को संभाल पातीं, तब तक दूसरी पिचकारी उनके होंठों को छूती हुई उनके गले और मेरे पेट पर गिर चुकी थी. 7 फीट है। मेरा शरीर बिल्कुल फिट है। उसकी वजह ये है कि मैं प्रतिदिन एक्सरसाइज़ करता हूं। मेरे लण्ड का साइज़ करीब 7 इन्च लम्बा और करीब 2. रेड कलर की ट्रांसपरेंट ब्रा पैंटी का सैट निकाला और जल्दी जल्दी से हल्का सा मेकअप करके तैयार हो गयी.

तो मम्मी से कैसे लूं?तो मैं बोला- तुम चुपके से अपनी माँ के फ़ोन से ट्रांसफर कर लो और देख लो. चाची- और मैं कैसे रात काटती हूँ … तुम्हें क्या, तुम तो विदेश में कोई ना कोई चूत मार लेते होगे. आह जल्दी जल्दी चोदो मुझे … आह आज इसकी सारी गर्मी निकाल दो … बिना लंड के ये बहुत तंग करती है.

वो हंस दिया और बोला- तो आज हम से मिल लो, मैं अपने रूम में अकेला ही हूँ और उद्घाटन समारोह भी अच्छे से करूंगा कि इससे बड़े बड़े लौड़े भी अपनी गांड में लेने के लिए तुम्हारी गांड मचलने लगेगी. अचानक से उर्वशी के दिमाग में पता नहीं क्या आया, उसने मेरे गाल पर किस किया और एकदम से हंसने लगी.

मैंने तुरन्त गौतम से पूछा- डिलीवरी बॉय कैसा है?वो बोला- क्यों?मैं बोली- बोल ना.

वो बोला- आपको मजा नहीं आया?मैं बोली- साले मेरी प्यास तूने और बढ़ा दी है.

अब तक आपने जाना था कि चलती बस में पल्लवी विराज के सीने से लग कर उससे अपना प्यार जता रही थी. थोड़ी देर के बाद उन्होंने मेरी चूची को मुँह में भर लिया और चूसने लगे. मैं बोला- भाभी लंड मुँह में लो न!भाभी झट से लंड मुँह में लेकर उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं.

फिर जब मेरे पति घर आ गए तो दिन में उनके जाने के बाद मैं समीर से नंगी होकर जोरदार चुदाई का मजा लेती. इस हरकत से वो और भी गर्म होने लगी लेकिन उसकी दिली इच्छा और भी गर्म होने की थी. उधर एक जादू वाला जादू दिखा रहा था तो मैंने घर चलने से पहले शहज़ाद से जादू देखने को बोला.

मैं सॉरी बोल कर सामने वाले सोफे पर बैठ गया और अपने लोअर के ऊपर से ही लंड को एडजस्ट करने की कोशिश करने लगा.

लेकिन मेरी छोटी सी फ्रेंची में तना हुआ लण्ड बाहर निकालना आसान नहीं था. स्नेहा- कैसा रहा दीदू मजा आया?नेहा- साली तेरे चक्कर में मुझे भी आज उंगली का सहारा लेना पड़ा. मैं पागलों की तरह उन्हें हर जगह चूम रहा था और जैसे जैसे मैं नीचे की ओर जाता जा रहा था, वैसे वैसे उनके पैर खुद ही खुलते जा रहे थे.

उसने मुझे देखा तो किलकारी मारती हुई उठी और मेरे हाथ से सिगरेट लेकर पीने लगी. जिसने भी ये पोज़ ईजाद किया है यानि 69 का … वही जानते होंगे इसकी खुशी. शेखर ने धीरे से अपने अंगूठे और दूसरी उंगलियों के बीच धारा की चूचियों की घुंडी को पकड़ लिया और आहिस्ते-आहिस्ते मसलने लगा.

मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला दिया और टांगों के जोड़ पर हाथ फेरने लगा.

कुछ देर बाद प्रिया ने चमेली को पास कर दिया और चमेली की चुत पर जोर एक थप्पड़ मार दिया. शायद धारा ललित के हाथों मजबूर होकर वो सब करती हो जिसका ज़िक्र ललित ने किया था.

हिंदी में चोदने वाला बीएफ धारा- ऐसी बात नहीं है … वैसे आप दोनों की बातों में कुछ नया नहीं है जो मैंने पहले ना सुनीं हों या नहीं पढ़ा हो. वो बोला- आपको मजा नहीं आया?मैं बोली- साले मेरी प्यास तूने और बढ़ा दी है.

हिंदी में चोदने वाला बीएफ शेखर की पत्नी रेणु शायद धारा से कहीं ज़्यादा खूबसूरत थी और उसे देखने वाले का भी ऐसा ही कुछ हाल होता था।मगर पता नहीं शेखर धारा के लिए इतना विचलित क्यूँ हो रहा था. अब रुचि अपनी चुत के बाजू में उंगली फेर रही थी और मैं उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था.

मगर जेठ जी पूरे हरामी थे; जानबूझकर मेरी चूत को लंड के लिये प्यासी रख रहे थे.

इंग्लिश सेक्सी चोदने वाला

मैंने अपने चूतड़ों को जोर जोर से ऊपर नीचे करके लण्ड को चूत की जड़ तक चलाना शुरू किया. वो जैसे ही आई, तो मैंने फिल्म बंद कर दी और उसे काम के बारे में समझाने लगा. मैंने भाभी से पूछा- अब क्या इरादा है?तो उन्होंने कहा- साथ में शॉवर लेते हैं.

भाबी मेरे सामान को बड़े गौर से देख रही थीं, जिसमें मेरे सामान की मोटाई साफ साफ दिख रही थी. उसका हाथ मेरे लंड पर चला गया और गर्म डंडा महसूस करके एकदम से हॉट हो गई और लंड को मरोड़ने लगी. फिर ऐसे ही एक दिन मैं उसके घर था तो मैं सार्थक से बोला- यार कोई जॉब हो तो बताना.

मैंने उनके हाथ को अपने तनतनाते हुए लंड पर रखा तो वो होश खो बैठीं और मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगीं.

शन्नो की गांड पूरी तरह से खुल गई थी और लंड गपागप गपागप अन्दर तक जाने लगा था. मगर झड़ने के बाद भी न उसने कोशिश की कि चुत से लंड निकाल दे और न ही मैंने. उस दिन वो शाम तक एकदम मेरे जिस्म से चिपका रहा, मौका तो था कुछ करने का लेकिन घर में मेरे शौहर थे … इसी लिए उस दिन मैंने कोई बात आगे नहीं बढ़ाई.

मैंने खड़े खड़े चाची की एक चूची को निकाल कर मुँह में भर लिया और अपने हाथों से चाची के चूतड़ों को पकड़कर मसलने लगा. मैं भाभियों का दीवाना हूँ इसलिए सबसे पहले सभी भाभियों को मेरा प्यार. मुझे हचक कर चोदने के बाद इसने अपने लंड का गाढ़ा माल मेरी गांड के अन्दर छोड़ दिया.

सोनू मुझसे छुड़ाने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं उसकी चूत को धमाधम पेलने में लगा हुआ था. मुझे जोश चढ़ गया और मैंने अचानक से खड़े होकर आंटी को पीछे से पकड़ लिया.

मैंने उसके ऊपर आकर उसके गालों पर फिर से किस किया और उसकी जांघों के बीच लन्ड रगड़ा ही था कि नेहा ने तुरंत अपनी टांगें खोल कर मुझे लन्ड अंदर डालने की अनुमति दे दी. तभी चंचल ने मुझे दुबारा कॉल किया- क्या आप अभी मेरे पास आ सकते हो?मैंने पूछा- कहां और क्यों?चंचल ने कहा- आपको चोदना था न?मैंने ‘हां. मैंने उसे छोड़ा और उसके कमरे के बाथरूम में घुस कर फटाफट अपनी सलवार नीचे की और वहीं कमोड पर बैठ कर सर्रर्रर्र करके मूतने लगी.

मेरी उम्र अभी 21 साल हो गयी है और मेरी चुचियों का साइज बढ़ कर 36 इंच का हो गया है.

मेरी एक्स और मेरी वर्तमान गर्लफ्रेंड की चुदाई का मजा तो मुझे मिल ही रहा था, लेकिन इस बार उन दोनों हसीनाओं को एक साथ चोदने मजा मिला था. हमारी मेहनत का परिणाम भी बहुत जल्दी आ गया और हम दोनों बड़े अच्छे अंकों से पास हो गए. वो जैसे ही अन्दर आई मैंने अपनी गोद में प्रभा को उठा लिया और उसे अपने कमरे में ले गया.

तब भी साहिल ने बोला- साले अब हमारे हाथ भी खोल दे!राज ने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसको इशारे से मना कर दिया. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर शन्नो रंडी के मुंह में डाल दिया.

मैं पहले से ही उत्तेजित था … अब तो बेकाबू हो रहा था इसलिए मैं भी उनका साथ देने लगा. अब उसका मुँह मेरी दोनों चुचियों के बीच में घुसा हुआ था और मैं उसकी पीठ पर अपने हाथ रखे थी. तभी भाभी ने अपना बदन अकड़ाना शुरू कर दिया और वो मुझे जकड़ती हुई झड़ गईं.

देहाती सेक्सी वीडियो 18 साल की लड़की

लेकिन शेखर की इस हरकत से धारा के गले में लंड का धक्का ज़ोर से लगा और वो गूँ-गूँ करती हुई पीछे हट गयी.

इस बार वो मुझे चोदने के लिए कहने लगी- चलो राजा, अब अपने सांप को मेरे बिल के अन्दर डाल दो. अपनी पैंट उतारी मैंने … तो अंडरवियर में मेरा लंड फुंफकार मार रहा था. मेरे मन में उसके लिए प्यार उमड़ने लगा था … मगर मेरे फट्टू स्वभाव के चलते हम दोनों की गाड़ी अटक सी गई थी.

मैं उसको सर से चूमता हुआ धीरे-धीरे नीचे आया और उसकी जांघों को चूमने के बाद मैं वहीं पर रुक गया. ऋतु ने उसे अन्दर खींच लिया और उसके हाथ को अपने मम्मों में रख कर दबवाने लगी. 4 साल की लड़की का सेक्समैं उसके पास गयी और उसकी जांघ पर हाथ रख कर सहलाते हुए उसके बगल में लेट गयी.

उतनी देर में रुबिका की कोई सहेली आ गयी, तो वो उसके साथ बाहर वाले कमरे में चली गयी. ज्योति- हट बेशर्म … सब लोग हैं यहां बस में … कोई देखेगा तो क्या सोचेगा?चिराग- बस इतना प्यार करती है मुझसे? और रही बात किसी के देखने की … तो कोई हमें नहीं देख रहा.

मुझे भी ऐसा अहसास मदहोश कर रहा था कि चार चार हाथ मेरे मादक जिस्म पर चल रहे हैं. कुछ देर ऐसे ही बैठे रहने के बाद अम्मा बोलीं- सामने वाली दुकान पर बहुत हंगामा होने की आवाज आ रही है, मैं देख कर आती हूं. वह बड़बड़ाने लगी- आह अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है … प्लीज डाल दो मत तड़पाओ प्लीज डाल … दो डाल दो ना जान … मत तड़पाओ … इतने समय से तड़पा रहे हो … प्लीज डाल दो.

मेरी गांड अभी तक सील पैक थी, मेरे मन में आता था कि कोई मर्द उसको भी अपने फौलादी लंड से फाड़ दे और मेरे दोनों छेद चालू कर दे. तीन रात और तीन दिन में मैंने और चाची ने लगभग 10-12 चुदाई के सेशन पूरे किए. कुछ देर ऐसे ही बैठे रहने के बाद अम्मा बोलीं- सामने वाली दुकान पर बहुत हंगामा होने की आवाज आ रही है, मैं देख कर आती हूं.

मैंने झटपट एक सलवार कमीज़ पहन लिया बिना अन्दर कुछ पहने, तुरंत जाकर दरवाज़ा खोला.

सुबह मैं बाथरूम जाने के लिए उठा तो वापस आते समय मुझे नीतू के कमरे की लाइट जलती हुए नजर दिखाई दी तो मैं सीधा उसके कमरे में घुस गया. मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- साले भोसड़ी के … मारेगा क्या … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

तन्वी- मुझे पता है क्या हुआ था तुझे!पल्लवी- क्या, क्या हुआ था मुझे?तन्वी- तूने ये सब उस छिनाल ज्योति के कारण किया. मैंने एक हाथ से उसके दोनों गाल पकड़ लिए और अपनी तरफ खींच कर उसे लिप किस करना शुरू कर दिया. उनकी मैक्सी में से हल्की हल्की हवा आ रही थी जिसमें से उनके जिस्म पर आए हुए पसीने की महक आ रही थी.

मैंने किया सेक्स विद बॉस इन ऑफिस! मैं लोकल बस में चार लड़कों से अपने जिस्म को मसलवा कर दफ्तर पहुंची तो मेरी अन्तर्वासना उफान पर थी. उसने मेरे लंड को चूसा और अंततः उसे पकड़ कर अपने चुत में सैट करके उस पर उछलने लगी. नजारा देख कर मैं बोला- अरे भाबी आप!इतने में ही उन्होंने मेरे मुँह पर अपना हाथ रख दिया और बोलीं- चुप रहो, वरना छोटू जाग जाएगा.

हिंदी में चोदने वाला बीएफ ये कह कर भाभी मेरे पास आईं और मेरे लोअर के ऊपर से लंड पर हाथ रख दिया. मेरा हाथ उसकी पीठ पर चल रहा था और मेरे हाथों के गुदगुदे अहसास से वो कसमसा रही थी.

बड़े घर की सेक्सी वीडियो

लेकिन दूसरों की वजह से तुम अपनी इच्छाओं को क्यों और कब तक मारती रहोगी। मुझे अपना दोस्त समझो और जिंदगी मजा लो. पढ़ाई का बहाना बनाकर हम छत पर चले जाते थे और चुदाई का मजा लेते थे।हम लोगों के बीच में जो भी शर्म थी वो खत्म हो चुकी थी। भाई बहन जैसा कोई रिश्ता नहीं बचा था हमारे बीच।एक दिन विवेक और शिवम दोनों ने प्लान बनाया- क्यों न हम दोनों अपनी अपनी बहन को चोदें?शिवम बोला- बहन मान जाएगी?विवेक बोला- तुम लूसी को तैयार करो, मैं कविता को तैयार करता हूं. उसे देखकर ही वो अपने एक हाथ से चूत में उंगली कर रही थीं व दूसरे हाथ से मम्मों को दबा रही थीं.

भाई ने मेरी गांड में उंगली घुसाई तो वो एकदम एंड घुस गयी बिना किसी रुकावट के … वो बोला- मेरी बहन ने खूब जोरदार गांड मरवाई है. मैंने पूछा- क्या मैं उतार सकता हूँ?उन्होंने अपनी कातिलाना मुस्कान बिखेरते हुए जवाब दिया- रात भर के लिए तुम्हारी हूँ. जापानी तेल किस काम आता हैतो मैंने बाथरूम में जाकर अपनी पेंटी उतार कर अपने बैग में रख ली और मैं ऐसे ही बिना ब्रा और पेंटी के जाने लगी.

मैं कुछ बोलती, इससे पहले राजेश ने मेरी गांड पर अपना लंड टिका दिया … और बिना रुके उसने जोरदार झटका दे मारा.

वो थरथराते स्वर में कहने लगी- पर ये सब शुरू कैसे हुआ … और तूने अपने ही सगे भाई का लंड कैसे अपनी चूत में ले लिया. उधर दो लोगों के लेटने की जगह बिल्कुल नहीं थी, जिस वजह से हम दोनों को लेटने में दिक्कत हो रही थी.

अब इन दोनों भाई बहन अभय और ममता में चुदाई की कहानी ने किस तरह से रंग लिया, वो सब मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी. अंदर कमरे में पहुंच कर धारा ने शेखर को वहीं खड़ा किया और उससे अलग हो गयी, शेखर को कुछ दिख तो नहीं रहा था लेकिन वो इतना महसूस कर सकता था कि धारा कब उसके क़रीब थी और कब उससे दूर हो रही थी. मतलब धारा ने कुछ इस तरह का ब्लाउज़ पहना था जिसमें बटन नहीं थे और वो एक स्पोर्ट्स ब्रा की तरह ऊपर से डाल दिए जाते हैं.

उस दिन मैंने चाची को कहा कि ये सब कब से चल रहा है तो उसने मुझे पूरी बात बताई.

उन्होंने अंडरपैंट मेरी तरफ उछाल दी और कहा- अब तू मेरा नाम लिया कर!मैं- क्यों मां?मां- वो सब हम बाद में बात करेंगे. अरुणिमा[emailprotected]लेडीज़ टेलर सेक्स कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 4. तूने शायद कभी ध्यान दिया हो, मेरी मम्मी को भी घर में ब्रा पैंटी से एलर्जी है.

इंग्लिश नंगी पिक्चर वीडियोस्नेहा- क्या चल रहा था दीदू?नेहा- चल बदमाश, अपनी मॉम अन्दर डैड से चुद रही थीं और क्या. मेरी चुत खुद खौल रही थी कि रोहित का नया लंड भी मेरी चुत में घुस कर मेरी चुत की खुजली मिटा दे.

आदिवासी भाभी देवर सेक्सी वीडियो

नेहा और रोहन एक साथ सोफे पर बैठे थे जबकि मैं उनसे अलग उनके सामने वाले सोफे पर बैठा था. [emailprotected]सेक्स टॉक कहानी का अगला भाग:लंड चुत गांड चुदाई का रसिया परिवार- 8. मैंने कहा- क्यों क्या हुआ?वो बोली- आज इतने बाद मुझे मैसेज कर रहे हो … तो इसे क्या कहूँ?मैंने हंसने वाली इमोजी भेज दी और कहा- मैं फेसबुक कम चलाता हूँ.

ये देख कर रीमा ने रूम का दरवाजा लगा दिया और वो उस किताब को मस्ती से देखने लगी. मेरी मां मुझसे चुदवाती हुई बोल रही थीं- आआह विशाल अन्दर मत निकलना … आआह अन्दर मत विशु … ऊऊऊ अन्दर मत … आआह उईई …मगर मैं उत्तेजना में था तो मां की चूत में ही झड़ गया. चूत महारानी पहले ही इतनी गीली हो चुकी थी कि उसे किसी तरह की चिकनाई की ज़रूरत ही नहीं थी। लंड का सुपारा चूत की दरार को खोलता हुआ चूत के गुलाबी होंठों को रगड़ रहा था.

चूंकि प्रशांत के लंड डालने से थोड़ी सी गांड खुल चुकी थी, तो इस बार दर्द थोड़ा कम हुआ. इसलिए मैं भी भाभी को छोड़ उसके साथ गप्पे मार रही थी।बाद में बारात आयी और शादी की कुछ रस्में हुई।सभी बहुत खुश थे और रात भी हो चली थी।इधर अजय अब भी मेरे साथ ही था और भाभी अपने दोस्तों में!फिलहाल तो मुझे भाभी की कमी भी नहीं खल रही थी क्योंकि अजय मेरे साथ बहुत अच्छे से पेश आ रहा था. तन्वी ने चूत मसलते हुए कहा- मेरे पास दो पैंटी और हैं स्टाक में … टॉयलेट में जाकर बदल ले.

फिर ऊपर मैंने एक पीले रंग की ब्रा और उस पर एक हल्के क्रीम कलर का टॉप पहना. धारा उस वक्त ऑफ़-लाईन थी और शायद शाम के उस वक्त सेक्स चैट रूम में आने का समय भी नहीं था.

मैंने भाभी से पूछा- आप और ड्रिंक लेंगी?वो उठ कर खड़ी हुई और मेरे लिए बियर और खुद के लिए वोडका ले आईं.

दरवाजे पर दस्तक करते हुए मैंने कहा- ये सब क्या चल रहा है?इस पर चंचल मेरे पास आई और मेरे लंड को पैंट के ऊपर से दबाते हुए मेरे होंठ से अपने होंठ को मिला कर किस करने लगी. भूत की मजेदार कहानियांमैंने शीना की चूत पर हाथ फेरा और शीना से कहा- वाह शीना ,तुम भी अपनी माँ की तरह अपनी चूत की पूरी सफाई रखती हो. यौतुंबे विडिओ डाउनलोडइसके बाद शहज़ाद ने उसे बहुत समझाने वाली बात लिखी थी लेकिन मेरी बेटी ने उसके किसी मैसेज का कोई जवाब नहीं दिया था. घर के मालिक पहले माले में रहते थे और उन्हें नीचे का हिस्सा किराये से देना था.

मैं जब झड़ने को हुआ तो मैंने लंड चुत से खींचा और उसके पेट पर लंड झाड़ दिया.

कॉलगर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की दीदी अपनी चुदाई के पैसे बताकर मेरे सामने नंगी हो गयी. चल कमरे में चल ना मेरे साथ?मेरे शौहर घर में नहीं थे और मेरे जिस्म में काम की ज्वाला जल रही थी. नशे में होने के कारण दोनों ही नंगे एक-दूसरे को बांहों में कब सो गए, पता ही नहीं चला.

अभी तक सारा कुछ सही था, उसकी मां को लेकर मेरी कोई भी गलत सोच नहीं थी. कुछ देर में तमन्ना आयी और मेरे कंधे से सिर टिकाकर बोली- मैं कैसे रहूंगी?मैं- अभी बताया तो था!तमन्ना- मेरे लिये तो एक-एक लम्हा काटना मुश्किल हो जायेगा!मैं- वो तो मेरे लिये भी होगा!कहकर मैंने उसे बांहों में ले लिया और उसकी चूचियां दबाने लगा. मामा ने मेरी शर्ट को भी उतार दिया और मुझे अपनी तरफ घुमाते हुए मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

ईमान का सेक्सी वीडियो

मैं जैसे ही उनके निकट पहुंची, उन्होंने बैठे बैठे ही मुझे अपनी गोदी में खींच लिया. फिर उसने जैसा जया के साथ किया था, वैसा ही वो चमेली के साथ करने लगी. उन्होंने बोला- सही कह रहे हो … जब तुम्हारी शादी होगी, तब पता चलेगा कि एक बच्चा संभालने में कितनी दिक्कत होती है.

निखिल चुपचाप पड़ा रहा और मज़े ले रहा था कि आज लगता है कि खुद ही सब कुछ हो जाएगा.

औरत के बोबों में लंड डालकर चोदना आसान नहीं होता क्योंकि लंड फिसलने का नाम ही नहीं लेता.

चूंकि प्रशांत के लंड डालने से थोड़ी सी गांड खुल चुकी थी, तो इस बार दर्द थोड़ा कम हुआ. सभी लोगों को पता नहीं है कि हम मंगेतर है लेकिन जब हमारी शादी हो जाएगी तो सब लोगों के मुंह बंद हो जाएंगे।रेशम- यार शादी पता नहीं कब होगी। तब तक क्या मैं अपनी बहन के लिए लोगों की बकवास सुनता रहूँ?ऋतु- क्या बकवास है यार?रेशम- एक तो काव्य को बोलने की तमीज नहीं है, मुझे सब लोगों के सामने साला … साला … कहता है. चोदने से क्या होता हैपर मुझे उसके मुंह से ये सब सुन कर बहुत मजा आया।मैं- ऐसा कुछ नहीं होगा डियर, जब तुम इसे प्यार करोगी तो ये बिल्कुल तुम्हारा हो जायेगा और तुम्हें बिल्कुल तकलीफ नहीं देगा।शीना- फिर भी अंकल, आप बस आराम से करना, मेरी चूत बिल्कुल कोरी है।तुम बिल्कुल चिंता मत करो.

मैंने उनकी उदासी कैसे दूर की?मेरा नाम मुदित है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. जब मैंने इसके विरोध में उसको बोला- तू जानता नहीं है … मैं अभी चिल्ला कर सबको बुला लूंगी. ब्लू फिल्म हल्की आवाज़ में चला कर देखने लगी और मैंने अपने आपको गर्म कर लिया.

धारा ने अंदर कोई पैंटी नहीं पहनी थी।शेखर की पूरी हथेली धारा की गद्देदार चूत के ऊपर ठहर गई थी. उसकी इस बात से मैं बिंदास हो गया था और लम्बे लम्बे शॉट मारने लगा था.

वो भी इतने प्यार से कपड़े उतार रही थी … जैसे सालों बाद चुदने वाली हो.

उसे मैंने समझाया कि जान ये शर्माने का टाइम नहीं है, एन्जॉय करने का टाइम है. उसी समय सैम ने मुफीद मौका समझते हुए एक पल की देर न की … और तुरंत अपना बॉक्सर निकालकर सीधे आगे बढ़ गया. काफी देर तक उस दूध वाले ने इतनी बेदर्दी से मेरी चूत चाटी कि मैं झड़ गयी और वो मेरा पानी चाट कर साफ कर गया.

साड़ी वाली देसी अब प्रिया को एक कमरे में बंद कर दिया और बाकी लोग फिर से अपनी अपनी चुत पकड़ कर चुदाई में लग गए. इसके आगे क्या हुआ था जो जल्दी ही आपको बताऊंगा कि क्या मेरी और वैशाली दीदी की शादी हुई और मैंने कब, कहां और कैसे उनकी गांड मारी.

कोई 20 मिनट तक अवनि की चुत चोदने के बाद मैंने लंड को बाहर निकाला और उसके मुँह में दे दिया. उसने मेरा लंड चूत के छेद पर सैट किया, मैंने एक जोरदार झटका दे मारा. जिसे देखकर उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं और वो बिल्कुल पत्थर बन चुका था.

भाभी की सेक्सी भोजपुरी

मैं कहा- साली तू तो आज से मेरी रांड ही बन जा … तेरी चुत को भोसड़ा बना दूँगा. उसका रंग इतना अधिक गोरा था कि कोई भी एक नजर देखे, तो बस देखता ही रह जाए. आगे से मेरी चूत में उंगली जा रही थी और पीछे से मेरी गांड में। ऐसा लग रहा था जैसे वो अपने दोनों ही हाथ मेरे अंदर घुसा देगा.

उसने गगन को धक्का देती हुई उसे लेटने को मजबूर कर दिया और लपक कर गगन के खड़े लंड पर बैठ गई. मुझे भी वासना का हल्का हल्का सा सुरूर चढ़ने लगा था और मैं भी बिंदास हो चली थी.

फिर उनका वह दोस्त एक दिन फिर से घर पर आया और मेरे देवर ने मुझे चाय बनाने के लिए कहा.

तो कभी रीमा ढीला सा टॉप पहन कर जाती और झुक झुक कर अपने मम्मों के दीदार निखिल को कराते हुए उसे गर्म करने की कोशिश करती. मैंने राज को नीचे लेटा दिया और उसका लंड पकड़कर अपने चूत में डाल लिया और उसके उपर झुककर उसे किस करने लगी. मेरे पति के दोस्त ने मेरी गांड मारी मेरे ही घर में! वो मेरी चूत दो तीन बार चोद चुके थे.

शेखर ने नींबू पानी पिया और थोड़ी देर के लिए अपने फ़्लैट की बालकनी में कुर्सी पर बैठ गया. अब मुझसे रहा ना गया और मैंने उनको वैसी ही मुद्रा में जकड़ लिया और मुँह चूत पर लगा कर सूंघने लगा. हॉट बिजनेस वुमन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे कंप्यूटर सेंटर में एक अमीर लड़की कम्प्यूटर सीखने आयी.

जब मुझे लगा कि लंड तैयार है, तब मैंने ऋतु को लेटने को कहा और उसकी दोनों टांगों को पकड़ कर अपने कंधों पर रख लिया.

हिंदी में चोदने वाला बीएफ: मैंने बिस्तर की चादर नहीं बदली औऱ ना ही उठकर बदलने की हिम्मत हो रही थी. उसने कमरे की सब लाइट बन्द कर दीं और अब उस पूरे कमरे में सिर्फ टीवी की लाइट थी.

शायद धारा ललित के हाथों मजबूर होकर वो सब करती हो जिसका ज़िक्र ललित ने किया था. मैं पहले ना ना करती रही लेकिन मेरा मन भी अंदर से अनिकेत के खड़े लंड को पाने के लिए बेताब था. शायद शेखर को इसका आभास हुआ, उसने खुद को धारा से थोड़ा अलग करते हुए थोड़ा पीछे होकर साये को धारा की कमर से नीचे उतारने की कोशिश की.

पहले दो दिन तक कोई भी आता था, तो मैं नंगी दरवाज़ा खोलने से लेकर उनको पानी या कोल्डड्रिंक देती थी.

सुनीता मेरे लंड के ज्यादा धक्के नहीं झेल पाई और कुछ ही देर बाद झड़ गई. मैं तो कई बार ऐसी जगहों पर भी केएलपीडी बोल चुकी हूँ, जहां मुझे नहीं बोलना चाहिए था. पंजाबी आंटी सेक्स के लिए झट से घोड़ी बन गईं और मैंने पीछे से उनकी झांटों वाली चूत में अपना लंड सैट कर दिया.