एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,बीएफ ब्लू दिखाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी सेक्सी साडी वाला: एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए, किसी सुंदर सी पोर्नस्टार के चूचों की तरह एकदम उठे हुए थे।मैं पागल हो गया था.

बीएफ सेक्सी ब्लू हिंदी फिल्म

और मॉम का पेटीकोट ‘सरर’ से जमीन में आ गिरा।मॉम सपन से और चिपक गईं।अब सपन का हाथ मॉम की गाण्ड को सहला रहा था।थोड़ी देर के बाद सपन ने मॉम को बोला- लो. बीएफ वीडियो सेक्सी दे वीडियो सेक्सीउसके हाथ में जाते ही वो छोटी सी चीज़ दोगुने आकार की हो गई और मेरी गर्लफ्रेण्ड मेरी तरफ देख कर बोली- बाबू तुम आज मुझे जाने दो.

तो उसने अपने बॉयफ्रेंड को साफ़-साफ़ मना कर दिया कि इस तरह से दोस्ती करने से कोई फायदा नहीं है. हॉट इंडियन देसी बीएफतो उनके पड़ोस में रहने वाली एक लड़की उनके घर पर बैठी थी।मैं उसे देखने लगा.

वो भी तड़प उठती और उसे मज़ा भी आता। इस तरह करीब 45 मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ गया। वो उतनी देर में 2-3 बार झड़ी होगी.एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए: आज मैं आप लोगों को बताऊँगी कि मेरी चुदाई मेरे ही भाई ने कैसे की।चलो, तो पहले मैं अपने बारे में बताती हूँ। मैं बहुत ही सुंदर और सेक्सी लड़की हूँ.

वरना कोई आ जाएगा।तो मैंने लपक कर दरवाजा बंद किया।फिर मैं उसे चूमने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी और बोली- तेरे भैया तो 7-8 दिन में ही एकाध बार कुछ करते हैं और 2-3 मिनट में ही झड़ जाते हैं और सो जाते हैं.तो वहाँ पहुँच कर किसी होटल में हम रूम ले लेंगे और वहीं से पेपर देने के लिए भी साथ में ही निकलेंगे।इसी तरह हमें बात करते हुए सुबह के 8 बज चुके थे और हम लखनऊ पहुँच गए थे।फिर वहाँ से एक ऑटो किया.

बीएफ पिक्चर दिखाइए ना - एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए

इसीलिए मैं तो 3-4 मिनट में ही खलास होने वाला हो गया।मैंने उसको बताया तो वो बोली- मुँह में ही निकाल दो.तो मस्ती वाला मौसम लग रहा था।इतने में सोनी बोली- यार ठण्ड लग रही है.

जैसे अभी इससे दूध निकल आएगा।यह सारी एक्साइटमेंट में प्रियंका अचानक से अकड़ गई और अपनी गाण्ड को ऊपर उठाते हुए पानी छोड़ बैठी। उसके पानी से मेरी दोनों उंगलियाँ पूरी तरह भीग गईं. एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए चूचियाँ लटक रही थीं।मुझे लगता है कि उनकी चूचियों का साईज 36 के आस-पास का रहा होगा।हाँ.

चूचों को ब्रा से खींचकर टाइट कर रखा था।मेरा लौड़ा तन्नाया हुआ था।मैं घर में ही जाते जीजाजी के कमरे में गया.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए?

मैं अपनी जीभ को नाभि में डाल कर आगे-पीछे करने लगा।मैडम को भी इसमें मजा आ रहा था।मैडम- आह्ह. मैं अपने जीवन का एक रोमांच भरा पल आपको बताने वाला हूँ।यह मेरी पहली कहानी है।मेरी एक ममेरी बहन रिया जो 18 साल की है. आशा करता हूँ कि आपको पसंद आया होगा।आप मुझको मेल कर सकते हैं या मेरे प्रोफाइल से मेरी फेसबुक आईडी लेकर बात कर सकते हैं।मेरी ईमेल आईडी[emailprotected]पर अपने विचार भेज सकते हैं।.

सो जाते हैं।मैं जा कर अपने बिस्तर पर लेट गया और दीदी भी आ कर मेरे बाजू में लेट गई।हम वैसे ही बातें कर रहे थे और बातों ही बातों में हम एकदम नजदीक आ गए। फिर कब नींद आ गई. फिर बोलीं- मेरा तो सुहागरात से लेकर आज तक जल्दी ही सब कुछ हो जाता है और मैं ऐसे ही रह जाती हूँ।मैंने भाभी का हाथ पकड़ कर कहा- भाभी आप चिंता मत करो. कल हम उसको फार्म पर देख लेंगे।उसके बाद वो अन्दर चले गए और पार्टी को एंजाय करने लगे।टोनी अब एकदम शान्त हो गया था.

5 इंच का प्रीकम छोड़ रहा लौड़ा मेरे मुंह में दे दिया और गांड उठाकर मुंह को चोदने लगा।एक हाथ स्टेयरिंग पर और एक मेरे सिर पर. पर मुझे नींद नहीं आ रही थी, फिर भी आँखों में भाभी को चोदने के सपने ले सो गया।रात को मेरी आँख खुल गई. मगर आज दूसरी पढ़ाई करेंगे।उसने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने पास बिठा लिया। मेरी जाँघें उसकी नंगी जाँघों से चिपकी हुई थीं और मेरा लंड पैंट से बाहर आने को बेक़रार था।टीवी पर एक लव मेकिंग दृश्य आ रहा था और कमरे का माहौल पूरी तरह से गरम हो चुका था।मैंने पूजा की तरफ देखा.

ना कुछ कर पा रही थी।मेरी कामवासना चरम पर थी।मैंने भाभी को कस के पकड़ लिया, उसके सर को पकड़ चुम्बन करने लगा पर भाभी सदमे में थी. बड़ा वाला जो 6 साल का था वो अपनी बुआ के पास रहता था।अब लगभग पूरे दिन बात होती थी.

तो आप कभी भी मुझसे बात कर सकती हो।भाभी ने हँसते हुए मुझे अपना नंबर दिया।मैंने कहा- आप ना हँसते हुए बहुत ही क्यूट लगती हो।फिर भाभी बोली- अच्छा अब चलती हूँ।मैंने कहा- ओके!जब वो जा रही थी.

वो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी, उसने जाते हुऐ अपना कार्ड मुझे दिया और इशारे से ‘कॉल मी’ कह कर चली गई।मैं भी बहुत ख़ुश था.

उसके बाद उसने मेरी बुर में 3 उंगलियां डालकर मुझे चोदा।लगभग 20 मिनट बाद मैंने बहुत सा पानी छोड़ा और उसे सारा पीने को कहा और वो सब पी भी गई।फिर अगले दो महीने क्या-क्या हुआ उसके लिए मेरी अगली कहानी का इंतज़ार कीज़िए।प्लीज़ मुझे अपने मेल से कमेंट भेजिए और मेरे साथ लेसबो के लिए मैं सभी लड़कियों औरतों और चाचियों को आमंत्रित करती हूँ. चल अब निकलते हैं।ये दोनों भी फार्म के लिए निकल गए। अब ज़रा हम रॉनी की तरफ़ चलकर देखते हैं कि वो क्या कर रहा है।पुनीत और पायल एक गाड़ी में निकले और अर्जुन उनके पीछे दूसरी गाड़ी में निकला. वो सच में बहुत गोरी थी। अब मैंने उसकी चूत में भी हाथ मारना शुरू कर दिया। ये सभी बात रेकॉर्ड हो रही थीं।मैंने उसके लोवर को सरकाया.

जरा सुनो!वो बोला- क्या हुआ बोलो?मैंने कहा- आपकी जींस बहुत अच्छी है. और मैं अन्तर्वासना की समलैंगिक कहानियों को बहुत रुचि लेकर पढ़ता हूँ। ये कहानियाँ मुझे पूर्ण आनन्द देती हैं. एक से भले दो और बातचीत करते रास्ता कट जाएगा।मैंने उसे अपनी बाईक पर पीछे बिठा लिया और शहर की तरफ चल पड़ा। बातचीत करते हुए मैंने उसके बारे में.

कुतिया देख तेरे मम्मों को चूस रहा हूँ और तेरी चूचियां मेरे मुँह में हैं.

पर आज पता चला कि कहानी लिखने में कितना ज्यादा मज़ा आता है। कहानी लिखते वक्त ऐसे लग रहा था. भैया ने कहा- देख, मेरे पैरों के पास थोड़ा गंदा पानी है इसे भी साफ कर दे. लण्ड चूसने की और कुछ चुदाई की थीं।ये सभी फोटो देख कर मेरा लण्ड खड़ा हो गया। मेरा लण्ड खड़ा हो गया तो जैसे मैंने एक बार मुठ मारी थी.

नीचे से पेट की तरफ से अपना हाथ डाल कर उसके मम्मों को प्रेस करने लगा. मैं 5’8” का हूँ, मेरे लंड का साइज़ 7″ के करीब है और मोटाई 2″ है। मैं अभी आजकल एक जॉब कर रहा हूँ।मैं आज आप लोगों को अपनी पहली स्टोरी सुनाता हूँ. और दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया।उसने मेरी ओर देखा और वो भी हैरान था.

तब तक तुम मेरी स्टडी टेबल और बाकी सामान सैट कर देना।अब हम दोनों लग गए सफाई करने में.

पहले वो काम हो जाए उसके बाद जिससे चाहे चुदवा लेना।कोमल- अच्छा अच्छा. मैं अपने कमरे में कुर्सी पर बैठ कर मुठ मारने लगा।तभी आवाज आई- संजय जो तुमने कपड़े पहन रखे हैं उन्हें भी निकाल दो.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए तो पास ही घर में एक रूम सैट लेना पड़ा और साफ़-सफाई के बाद दादा-दादी और मैं वहाँ सोने लगे। मुझे पता था मम्मी की मदद करके वो भी इधर ही आ जाएगी।ऐसा ही हुआ. अब मैं सोच रहा था कि काश कोई मेरी गांड चुदाई की की वीडियो अपने मोबाइल से बना लेता तो उसे मैं गे वीडियो साईट पर जरूर भेजता!दोस्तो, कहानी पसंद आई क्या? अपनी राय दें…[emailprotected].

एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए मेरी पैंट में तंबू बन गया, मैं अपने पैन्ट को ठीक करने लगा।उसकी नजर मेरे तंबू पर पड़ी और गौर से देखने लगी। मेरी नजर अचानक उस पर पड़ी और उसने शरमा कर नजर झुका ली।मैं बोला- तुम कहो तो शादी के पहले ही सुहागरात. उसने वाइट कलर की ब्रा पहन रखी थी। मैंने ब्रा उतारे बिना ही उसके कबूतरों को बाहर निकाल लिया।हाय.

तो आपने कैसे चोद लिया?दोस्तो, उम्मीद है कि आपको कहानी पसंद आ रही होगी.

सेक्सी फिल्म सॉंग

पर मेरा लण्ड फिर भी खड़ा था जिससे वो और गरम हो रही थी।तभी मैं जोश में आकर उसके मम्मों को पकड़ कर चूसने लगा।मुझे थोड़ा अजीब सा लग रहा था. इतने में ही वो एकदम से अकड़ उठी और उसका पानी निकल गया।फिर भी मैं उसे चोदता रहा। कभी उसे किस करता. रात को 10 बजे डिनर किया और सोने की तैयारी करने लगे, मैंने कहा- मोनू तू मेरे बेडरूम में ही सो.

’मैंने उसकी रसीली चूत में अपनी उंगली घुसा दी और अन्दर-बाहर करने लगा।‘फ़चा-फ़च्छ. मस्त होकर डिल्डो का इस्तेमाल करके शांत होने के बाद मैं बाहर निकली और जल्दी से बाथरूम और अंकल का बेडरूम लॉक किया। चाबी उनकी दराज में डाली और अपने कमरे में आकर बिस्तर पर लेट गई।मेरे मन में वह मंज़र हलचल मचाए हुए था, सेक्स की मेरी ख्वाहिश मुझे बेचैन करने लगी थी।मैं शाज़ी अंकल के बारे में सोचने लगी, इतना हैण्डसॅम मर्द. लेकिन मेरे ज्यादा कहने पर मान गई।मैंने लण्ड उसकी गांड में डाला और चोदने लगा, वो दर्द के मारे सिसकारियाँ भरने लगी, कुछ पलों के बाद वो मजे लेने लगी ‘आह आह.

उन्होंने सही जवाब दे दिया।फिर भाभी ने सवाल पूछा और मैं फिर हार गया। भाभी ने कहा- पहले मैं तुझे पूरा नंगा करूँगी.

’और मॉम मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं।हम दोनों के मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगीं आआहह. और वो मेरी बीवी हों।फिर उस दिन दोपहर में मैं और बुआ बातें कर रहे थे तो बुआ ने पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैं बोला- नहीं बुआ. शायद मैंने ही कहीं रख दी होगी।अवि- क्या कोई ख़ास किताब थी मैडम?मैडम- नहीं.

मैं अंधेरे में भी दीदी का गोरा शरीर थोड़ा-थोड़ा देख सकता था। दीदी ने नाइटी निकाल दी और कहा- साड़ी मुझे दो. ’ करते हुए भी लण्ड चूसने लगी। उनका 8 इंच का लण्ड मेरे मुँह को चोद रहा था. तो समझ जाना चाहिए कि लोहा पूरी तरह से गरम है यही टाइम है चोट करने का.

तो अपने उस टाइम क्यों नहीं बताया?सुरभि- मैंने सोचा तुम मूवी देख रही. जिन्हें देख कर अर्जुन अपना होश खो बैठा और पायल के मम्मों को दबाने लगा।पायल ने अर्जुन को पीछे धकेला और जल्दी से अपना कुर्ता पहन लिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !पायल- सारा मज़ा अभी ले लोगे क्या.

उसे देखकर तो बार-बार देखने को दिल कर रहा था।एक बार तो हमारी नजरें भी टकराईं. वो सोने का नाटक कर रही थी।इस तरह मुझे अब जब भी मौका मिलता तो भाभी को चोद लेता था।मैं तो कभी-कभी सवेरे जब सभी लोग बाहर जाते थे. तो मैंने उन्हें अपने घर के हालात और अपनी समस्या के बारे में बता दिया।मेरी परेशानी को सुन कर उन्होंने कहा- वह मुझे पांच लाख रुपए दे देंगे.

मैं उसके चेहरे को देखते हुए मजा लेने लगा।सुरभि हमारी तरफ देखते हुए बैंगन अन्दर-बाहर कर रही थी.

चलो अब आज गीत का बर्थ-डे है तो गीत हम सभी को पहले नंगा करेगी और फिर हम सभी मिल कर गीत के कपड़े उतारेंगे।गीत ने बिना देर किए सबसे पहले संजय की कमीज़ उतारनी शुरू की और सिमरन ने मेरी कमीज़ के बटन तब तक खोल दिए। उसके बाद गीत ने संजय की कमीज़ को उतारा. मैं धीरे-धीरे उसका लंड सहलाने लगी, फिर उसका मुँह चूम लिया और बिल्कुल धीरे से पूछा- कैसा लग रहा है?वो बोला- बहुत अच्छा. तो अनामिका तैयार होकर कहीं जाने की तैयारी कर रही थी।सुरभि ने पूछा- कहाँ जा रही हो अनामिका?अनामिका- जी मैम.

ठीक है ना भाई।इतना कहकर पायल खड़ी हो गई और शावर चालू कर दिया, दोनों मस्ती में नहाने लगे।आधा घंटा मस्ती करने के बाद दोनों की उत्तेजना बढ़ गई और वहीं शावर के नीचे पुनीत ने पायल को दीवार के सहारे घोड़ी बनाया और उसकी चूत में लौड़ा घुसा दिया और स्पीड से चोदने लगा।पायल- आ आह्ह. तब मैंने जो देखा उस पर मुझे विश्वास नहीं हो रहा था।राकेश बुआ के दूध चूस रहा था, बुआ भी अजीब-अजीब सी आवाज निकाल रही थीं।कुछ देर बाद बुआ की सहेली का भाई राकेश ने बुआ के पेटीकोट में हाथ डाल कर उनका नाड़ा खोल दिया। बुआ अब बिल्कुल नंगी हो चुकी थीं, राकेश ने भी अपने कपड़े निकाल दिए।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !राकेश का लण्ड लगभग 6 इंच का था। बुआ ने राकेश को चूत चाटने के लिए कहा.

मैं भी जान बूझकर वहाँ पेशाब करने खड़ा हो गया ताकि उसका लंड देख सकूं और मेरी इस हरकत को वो भी देख रहा था।काफी अच्छा लंड था उसका. तो उसने खुद ही पूछा- आपके कंप्यूटर में कुछ अच्छे गाने हैं क्या?मैंने उससे पूछा- तुम्हें कैसे गाने पसंद हैं?तो उसने कहा- रोमाँटिक. तो बस हरकतें देखा करता था।तो मुझे उनकी निगरानी करने में ज्यादा तकलीफ नहीं थी। जैसे जब वो नहा कर निकलती थीं.

सेक्स व्हिडीओ सेक्सी सेक्सी सेक्सी

और वो मस्ती से सिसकारियाँ भर रही थी।लगभग 3-4 मिनट चूची चूस कर मैंने छोड़ दी.

पर मेरा ध्यान तो उसके लौड़े पर था।उसके लण्ड का साइज बढ़ रहा था और अब लगभग 9″ का हो गया था. चारों तरफ जीभ घुमा-घुमा कर चिकनी बुर पर लगी चॉकलेट को चाट रहा था।हाय. मैं और जोर-जोर से उसकी चूत को चाटता और गाण्ड में उंगली करता रहा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब जैसे ही मैंने 2 उंगलियां उसकी गाण्ड में डालीं.

मैं उछलता हुआ सीढियाँ चढ़ कर छत पर पहुंचा तो देखा रवि फर्श पर बिछे गद्दे पर टांगें फैला कर पड़ा हुआ है।मेरी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. दोस्तो, आज मैं आपको अपनी आँखों देखा हाल एक कहानी के माध्यम से बताने जा रहा हूँ. कटरीना कैफ बीएफपहले वो टॉयलेट से बाहर निकली और फिर मैं निकला।उसके बाद ट्रेन का सफ़र खत्म हो गया तब से मैंने उसको कभी नहीं देखा।[emailprotected].

बाहर आने को तरस रहे थे।मेरी नजर वहाँ से हट ही नहीं रही थी, मैं उन्हें ही देखता रहा।सविता भाभी की नजर भी मेरे ऊपर कब पड़ी. उसका नाम सपन था। सपन की उम्र उस समय 22 साल की रही होगी और मेरी मॉम संगीता की उम्र उस वक्त लगभग करीब 30 साल की थी।सपन मेरी मॉम संगीता को चाची कहता था और वो अक्सर हमारे घर में मेरी मॉम संगीता के साथ बात करता रहता था।एक दिन मैं खेलने के लिए बाहर गया था.

ये तेरी चाल बदल देगा।कोमल बड़ी अदा के साथ अर्जुन के पास जाकर खड़ी हो गई और उसकी पैन्ट के उभार को देखते हुए बोली- अच्छा. और मॉम का पेटीकोट ‘सरर’ से जमीन में आ गिरा।मॉम सपन से और चिपक गईं।अब सपन का हाथ मॉम की गाण्ड को सहला रहा था।थोड़ी देर के बाद सपन ने मॉम को बोला- लो. उसे देखने के लिए आंखें तरस गईं थीं।12 बज गए और मुझे जोरों की नींद आने लगी क्योंकि पहली रात भी नहीं सो पाया था मैं और सबसे बड़ी मुश्किल यह थी कि मुझे ये पता नहीं लग पा रहा था कि आज रवि कहाँ सोने वाला है क्योंकि घर में दो कमरे खाली थे, एक पीछे वाला और एक छत पर.

भैन का लौड़ा उसी दिन माँ चुदाने आ गया।मैंने जैसे-तैसे अपने लण्ड को मुठ मार कर समझाया और कड़वा घूँट पी कर उस शाम को छत पर आ गया।छत पर वो भी आ गई. तो मुझे भी ऐसे ही करना है।अब मदन ने भी सोनिया की चूत से लण्ड निकाल लिया और फिर सोनिया ने मेरे ऊपर से उठ कर मेरा लण्ड भी अपनी चूत से निकाल दिया।तभी रिंकू ने कहा- मुझे भी तो चोदना है सोनिया को. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं उठा और किसी तरह उसकी एक टांग अपने एक हाथ से उठाकर और दूसरे हाथ से उसकी गाण्ड के पीछे ले जाकर उसकी चूत में अपना लण्ड धकेलने लगा.

तो मैं कॉल लगाना चालू कर देता। इसी तरह फ़ोन करते-करते छह महीने बीत गए।एक दिन एक लड़की इसी तरह फोन पर मिली.

और साथ में ही मेरे से व्हाट्सप्प में भी लगी थी।सुरभि सोच में पड़ी थी कि आखिर ये किसके साथ चैट में लगी हुई है. सुरभि मेरे मुँह से उठ कर अपनी गाण्ड का छेद दिखाते हुए मुँह में रगड़ कर उठ गई।प्रियंका ने लण्ड और हाथ पकड़ कर मुझे उठाया.

ट्यूबलाईट की रोशनी में जैसे चांदी की तरह चमक उठा। उनकी ताजी शेव की हुई चूत की फ़ांकें. मैंने अपने लण्ड को उसके मुँह में डाला और बोला- पहले चूसो तो जल्दी से. फिर भी मैं सो गई। शाम के 4 बजे मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रोहित भयंकर दर्द से बुरी तरह तड़प रहे हैं और वो पोटी भी नहीं कर पा रहे हैं। मैंने हॉट वॉटर से उनकी गाण्ड की 3 दिनों तक खूब सिकाई की और दवा लगाई.

अब वो कभी भी ब्रूटल सेक्स का नाम भी नहीं लेते हैं। क्योंकि मैंने जो 4 बार सेक्स किया था वो रियली इतना ज़्यादा ब्रूटल था कि आप कल्पना भी नहीं कर सकते। अब यह आप पर निर्भर है कि आप कितनी ब्रूटल बन सकती हैं।मेरा आप सभी से सिर्फ़ एक ही सवाल है क्या मैंने जो किया और जो मैं यह सब कर रही हूँ. मैंने सुधा की तरफ देखा और मुस्करा दी और वो भी मुस्करा दी।सुधा मेरी चूचियाँ दबा कर बोली- बेस्ट ऑफ लक बेबी. उसने हैरानी जताई और हँस कर कहा- ऐसी कौन सी बात पता चल गई है?तो मैंने कहा- यह जो वाइरस तुम बता रही हो.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए ताकि वो और धक्के न लगाएँ वरना मैं झड़ जाता।तभी भाभी ने कहा- आपकी बात सही है देवर जी. 9 है, मैं एक साधारण दिखने वाला लड़का हूँ, मैं कंप्यूटर रिपेयरिंग का काम करता हूँ जिसकी वजह से मुझे बहुत सारी जगह कॉल पर कंप्यूटर रिपेयरिंग के लिए जाना होता है।यह बात दो साल पुरानी है.

सेक्सी चोदा माली

बस आवेश में आकर मैंने उसकी गर्दन पर दांतों से काट लिया।उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई. तो अर्जुन का डंडा देख कर पायल की आँखें बड़ी हो गईं।पायल- ओ माय गॉड. तो सोनिया मदन के लण्ड पर बैठ कर चुदने लगी।इधर रिंकू सोनिया को इस तरह चुदवाते देख कर गर्म हो गया, उसका लण्ड पूरी जोश में खड़ा हो चुका था।रिंकू ने मुझसे कहा- यार अमित.

उसका भाई हरीश मेरा अच्छा दोस्त था, मैंने उससे फिल्म देखने का बहाना बना कर उसे मॉल में उसकी बहनों के साथ बुलाया और वो मान गया।शाम 7 बजे वो और वो अपनी बहनें मंजू और किरण दोनों को लेकर आ गया।मैंने चार टिकट ले ली थीं. तो मैंने बोला कि आज आप बहुत सुन्दर लग रही हो भैया देखते ही रह जाएंगे. बीएफ मद्रासी बीएफऔर तेज-तेज साँसें लेने लगी।उसकी धड़कन मुझे साफ़ सुना दे रही थी, उसके निस्तेज हुए जिस्म से साफ़ महसूस हो रहा था कि अब उसकी प्यास फिलहाल शान्त हो चुकी है।कुछ पल हम सब एकदम शान्त मजे से पड़े रहे.

कहीं कोई नीचे से आ ना जाए।मेरे उठते ही सोनाली ने अपने कपड़े पहने और मुझे पीछे से अपने गले लगा लिया और बोली- आज तक तुम्हारे भाई ने मेरी चूत को ऐसे नहीं चाटा और पिछले कुछ सालों से तो वो इतनी शराब पीते हैं कि उनसे कुछ होता ही नहीं है। तुमने मुझे तृप्त कर दिया राहुल।इसके बाद हम वापस उनके ड्राइंग-रूम में आकर बैठ गए.

तो फिर मैं इसे नहीं पा सकूँगा।मैंने देर ना करते हुए संजना की चूत पर हाथ रख दिया और चूत में उंगली करने लगा।संजना छूटने के लिए मचलने लगी। मैंने भी अब झिड़की लगा कर संजना से कहा- साली नखरे चोद रही है. वो मैं आपको हूबहू बताने का पूरा प्रयास कर रहा हूँ। इस घटना का पूरा मजा लेने के लिए आप सभी मेरे साथ बने रहिये और मुझे अपने विचारों से जरूर अवगत कराएं।आपका दोस्त विवानकहानी जारी है।[emailprotected][emailprotected].

कब से लौड़ा चुसवा रहा था इतनी देर में तो मेरा 2 बार निकल जाए।विवेक- भाई इसकी चुसाई देख कर तो लौड़ा खड़ा हो गया. क्योंकि मुझे मालूम है कि लड़कियां चुदाई के मामले में बड़ी सेन्सिटिव होती हैं। उनके मन में क्या चल रहा है क़िसी को कुछ पता नहीं चलता. घुटना सीधा पीयूष के लंड पर जा टिका, पीयूष के सामान को छूकर बहुत ही आनन्द मिला.

फिर चलूँ?वो हँसने लगी और मेरे सीने में छिप गई।मैं उसको सहलाता हुआ बोला- तुमको खुश करना था बस.

और मैं पीछे से उनके चौड़े चूतड़ों को देखते हुए अपनी पैंट के ऊपर से लौड़ा सहला रहा था।मैं धीरे से भाभी के पीछे जाकर खड़ा हो गया और बोला- भाभी. मैं भी चारों तरफ देख कर उसके अन्दर चला गया।मेरा अन्दर घुसना था कि वो पागलों की तरह मुझ पर टूट पड़ी, मेरे होंठों को बुरी तरह चूसने लगी।मैंने भी तुरंत अपना हाथ उसके दूधों पर रखा और धीरे से दबाने लगा. तो ड्राइवर ने मुझे फिर पकड़ लिया और कहा- तू ऐसे ही नंगी बैठेगी।हम सब नंगे ही ट्रक में बैठ गए।मैं दो नंगे आदमियों के बीच में नंगी बैठी थी और ट्रक फिर चलने लगा। फिर आधे घंटे के बाद हेल्पर ने मुझे अपनी तरफ खींचा और अपनी गोद में बैठा लिया और मेरे मम्मों को चूसने लगा।बोला- गुरू जी.

बीएफ सेक्सी फिल्म भेजिएऔर आयशा प्रियंका के मम्मों को चूसने और दबाने लगी।वो बहुत जोर से मम्मों को मसल रही थी और मैं प्रियंका की चूत में उंगली करने लगा।उधर प्रियंका भी अपनी आँखें बंद करते हुए बोली- हाय जीजू. तब जाकर कोमल को चैन आया।आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है? आप बस जल्दी से मुझे अपनी प्यारी-प्यारी ईमेल लिखो!कहानी जारी है।[emailprotected].

ससससससससससस

तो मैंने भाभी को बोला- भाभी क्या आज भी आप मुँह में लोगी?वो बोलीं- नहीं रूको. तुमसे बात करके मेरा दिल हल्का हो गया है।मैंने कहा- देखो भाभी आपको कभी कोई भी बात जो आपको परेशान करे. तो मैं उठा और कहा- जाते हुए एक बार इसकी खुशबू ले लेने दीजिए।और ये कहते हुए मैं दोबारा उनके गाउन में घुस गया और पैन्टी को नीचे करके नाक उनकी चूत में घुसा दिया और एक गहरी साँस ली.

मैंने उसे ‘लव यू’ कहा और एक प्यार भरा चुम्मा दिया।अब हम दोनों एक-दूसरे के बदन को सहला रहे थे. वहीं पड़ोस में एक शादी थी और मामी रात को वहाँ पर गई थीं और बोल कर गई थीं कि वो सुबह तक ही वापस आ पाएंगी।अब घर पर केवल हम तीनों ही थे. मैंने तुरन्त भाभी को अपनी तरफ खींचा और एक लिप किस कर दिया।वो थोड़ी हड़बड़ाईं.

तभी तो कुछ पलों के बाद उनकी गति तेज़ होने लगी और एक मर्दाना ताकत का एहसास मुझे होने लगा। करीब 7-8 मिनट होते-होते झटकों में काफी तेज़ी के साथ-साथ जोर भी आने लगा और मेरी सिसकारियों में भी तेजी आ गई, उनके हर झटके पर मैं कुहक सी जाती और ऐसा लगता ही नहीं कि ये इतनी उम्र के मर्द हैं।काफी देर के बाद उनके झटके रुक-रुक के और धीमी हो कर लगने लगे. हाँ में सिर हिला कर फ़ौरन गाड़ी में बैठ गया और दोनों वहाँ से मॉल की तरफ़ जाने लगे। रास्ते में सन्नी ने आगे का प्लान अर्जुन को बताया तो उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गई।सन्नी- तू अच्छी तरह समझ गया ना. तो किसी को पता भी नहीं चलता।मुझे आशा है कि आपको मेरी कहानी अच्छी लगी होगी। यह मेरी अन्तर्वासना.

लेकिन फिर मैं मान गई और मम्मी की ‘हाँ’ भी हो गई। सो हम दोनों ने 2 दिन के लिए मंसूरी जाने का प्लान बनाया।मैंने भी अपने 2-3 ड्रेस रख लिए। अगले दिन अनु बाइक लेकर आया. चूत को रगड़ने लगी उसकी क्लिट को कुरेदने लगी।60 से 70 झटके मारने के बाद प्रियंका ने अकड़ते हुए अपनी चूत से पानी छोड़ दिया.

तो मौसा-मौसी ने प्रीत को जन्मदिन की बधाई दी और फिर प्रीत चली गई।मैंने सोचा आज तो लग रहा है काम बन जाएगा।फिर जैसे-तैसे करके दिन निकला। मैंने प्रीत के लिए एक शॉर्ट.

इसलिए मुख्य चरित्रों के बारे में ही बता देता हूँ।यह सच्ची कहानी है मेरी और मेरी बहन की. अमरपाली के बीएफ वीडियोपर थी तो वो भी लड़की।कंप्यूटर सेंटर में उसको एक लड़का पसंद आ गया।उसने मेरे ज़रिए उस लड़के से बात करना शुरू किया और बात करते-करते उनकी बातें कब प्यार में बदल गईं. बढ़िया सेक्सी बीएफ हिंदीमोहिनी मेरी जांघ पर हाथ रख कर बोली- अभी पापा-मम्मी को एयरपोर्ट भी छोड़ने जाना है।मैंने मोहिनी की तरफ देखते हुए कहा- इसका मतलब मैडम इतने बड़े बंगले में आप अकेले रहोगी?तभी मैम साहब बोली- नहीं घर में जितने वर्कर हैं. मैं उसकी गर्दन को चूमने लगा और अपने एक हाथ से उसके कान को सहलाने लगा। उसके कान और उसकी गर्दन उसकी कमजोरी थे.

मैंने फिर पूछा- हुआ क्या दीपक?तो उसने मुझे ‘आई लव यू’ बोल दिया और फिर मेरे मुँह से भी ‘आई लव यू टू’ निकल गया।दीपक बोला- पूर्वा कल हम कहीं घूमने चलते हैं.

वो पानी डालकर अपनी छाती के बालों में साबुन लगाकर झागों में हाथ फिराने लगे. टाँगें उठा-उठा कर चुदवाती और चटवाती हैं और मुँह से बोलने में भी शर्म आती है।लेकिन जो भी हो दोस्तो. वैसे ही उनके मुँह से ‘आहें’ निकल गईं।वो मुझे अपनी चूत पर पाकर तड़प गईं और मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबाने लगीं।वो सीत्कार करते हुए चुदासी सी आवाज में बोलीं- आह्ह.

अंकल ने अम्मी की सलवार के नीचे से अम्मी की गाण्ड को दबा दिया। अम्मी ने अपनी टांग कुर्सी पर रख दी. तो पता चला कि वो अपनी चूत में उंगली कर रही थी।थोड़ी देर में उसका पानी निकल गया और वो वहाँ से उठ कर सोने चली गई।अगले दिन सन्डे था। जब मैं उठ कर बाथरूम जाने लगा. पर ये भी था कि सोते में सेक्स करने से मज़ा नहीं आएगा।मैंने एक प्लान सोचा मैं नींद की गोली लेकर आया.

देहाती छोरी सेक्सी वीडियो

जो मैं आप सबसे साझा कर सकूँ।बहुत से लड़कियाँ मुझे आज तक अपना हसीन सा लुक देती आई हैं. आपके लिए दिल ओ जान हाज़िर है।प्रीत हँस कर बोली- कल बताउंगी कि मुझे गिफ्ट में क्या चाहिए।मैंने कहा- कल तो आपके ससुराल वाले भी आएंगे?तो प्रीत बोली- नहीं. उस रात तो मैंने ऐसे ही चोद दिया।दूसरे दिन कहने लगी- आज फिर से मेरी मार ही दो.

लेकिन मैं उसको चूमते हुए उसकी चूचियों को चूसते हुए चोदता रहा। उसकी कुंवारी चूत इतनी तंग थी कि मेरा लंड उसकी गर्मी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था और एकदम से मुझे लगा कि मैं झड़ जाऊँगा।मैंने जल्दी से अपना लंड उसकी चूत से निकाल लिया और उसके पेट पर अपना पानी गिरा दिया।उसकी चूत से बड़ा हल्का सा खून निकला था.

कि कहीं कोई परेशानी न हो जाए।मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और उसके मुँह पर पानी के छींटे दिए.

अंकल पीछे-पीछे मेरे कमरे में आ गए और मुझसे बोले- क्या तुम्हें बुरा लगा?मैंने अपने आपको संभाला. साथ में उसकी गाण्ड में भी लगा दिया। फिर थोड़ा सा तेल अपने लण्ड पर लगा कर सोनी की चूत पर अपना लण्ड रख दिया और पूरी ताकत से धक्का मारा. हिंदी सेक्स बीएफ इंडियनलेकिन सपन कुछ जिद सी कर रहा था।फिर मॉम ने उससे एक पप्पी दी और वो किचन से एक संगीता को गिलास देने को बोला।मॉम ने बोला- क्या करोगे?तो उसने अपनी पॉकेट से दारू की बॉटल निकाल ली। मॉम ने हँसते हुए एक गिलास में कोल्ड ड्रिंक डाल दी। सपन अपने लिए पैग बनाने लगा।फिर उसने बोला- मेरी जान आज तुम्हें भी थोड़ा पीना पड़ेगा।मॉम बोलीं- नहीं.

फिर एक कैमरा जूम करके फोटो लेने लगा।मैं अब बहुत गरम हो गई थी। अब मेरी पैन्टी की बारी थी. तो मैंने देर न करते हुए उसके होंठों से अपने होंठ मिला दिए और इसी के साथ अपने हाथ को पैन्टी के साइड से अन्दर घुसाकर उसकी चूत सहलाने लगा।वो तो बस पागल हुए जा रही थी और मुझे अपने ऊपर लेने की कोशिश करने लगी थी।लेकिन मैं अभी कोई रिस्क नहीं लेना चाह रहा था तो मैंने बैठे-बैठे ही उसकी चूत में उंगली डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा।वो अपनी टाँगें पसारे हुए थी. क्योंकि आमतौर पर ऐसे काम करते वक़्त लोग सारे काम धीरे-धीरे और शांति से करते हैं। लेकिन यह ऐसा था जैसे जानबूझ कर दरवाजे को जोर से बंद किया गया था।खैर.

मैंने उसके दोनों पैरों को फैला दिया और अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत के मुँह पर रखा. सीधी तरफ मैं और लेफ्ट में पूजा थी। पूजा की टाँगें मेरी जाँघ और मेरी टाँगें पूजा से भिड़ी हुई थीं। मुझे आदत है कि लड़की पास हो और उसे ना छेड़ूँ.

पर डरता था कि कहीं उसे बुरा ना लग जाए।रविवार को हमारी बात कम होती थी.

’ का इशारा करने लगी मैं तेज-तेज उंगली चलाने लगा।आयशा गरम होकर मेरा लण्ड कसके दबोच रही थी और जीन्स के ऊपर से ही. 19 साल का हूँ और दिखने में ठीक-ठाक हूँ। अच्छा ख़ासा गठीला जिस्म है। मेरा लण्ड 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है।यह मेरी पहली कहानी है. और मेरे लंड का उभार भी जींस में से साफ दिख रहा था।मैंने कहा- हम कहीं पेड़ के नीचे खड़े हो जाते हैं, बारिश बहुत तेज हो गई है.

सेक्स सेक्स बीएफ देसी उसे गद्दे पर लेटा दिया और मैं भी उसके बाजू में आ गया।हम दोनों एक-दूसरे को जोर से चिपकाए हुए थे. 5 इंच मोटा होने के कारण मैं अपने मुँह में नहीं ले पा रही थी।उन्होंने दो झटकों में ही लंड मेरे मुँह के अन्दर पेल दिया और मैं उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी।वो मुझे गालियाँ दे रहे थे- आह्ह.

मैं गांव की तरफ जा रहा था तो देखा एक जवान लड़का पास की झाड़ियों में पेशाब कर रहा था. कुछ हॉस्टल गर्ल्स को भी निपटा चुका हूँ।आज मैं आपके सामने अपनी अगली कहानी पेश कर रहा हूँ. और कपड़े हाथ में लिए ही नीचे आने लगे। मैंने सोनी को गोद में उठाया हुआ था, मैं उसे कमरे में ले गया.

மதர் சன் செக்ஸ்

मैं बिस्तर पर लेट गया। सोनिया मेरे लौड़े को चूत में लेकर मेरे ऊपर चढ़ गई और मदन सोनिया के ऊपर आ गया।अब हम दोनों सोनिया की चूत में लण्ड डालने लगे. मेरी सेक्सी देसी कहानी के पिछले भागट्रेन में फंसी पंजाबन कुड़ी -1में आपने पढ़ा:अब आगे…जैसे ही उसने बोलना बन्द किया. उसे हटाकर मेरा सर अपनी चूत में दबा लिया।मैं उसका इशारा समझ कर उसकी क्लिट को अपनी जीभ से सहलाने लगा और कभी-कभी होंठों से दाने को दबा कर घसीट लेता था.

फिर आराम से चोदना।सपन ने लौड़ा बाहर खींच लिया और मॉम के दोनों पैरों को फैला दिया. मैंने अपनी उंगली उसकी चूत में डाल दी तो उसके मुँह से एक आवाज़ निकली ‘हाईई.

अब मुझसे भी रहा नहीं जा रहा था इसलिए मैंने भी देर न करते हुए उसकी टाँगों को अपने कंधों पर रख लिया और लंड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा।मैंने लंड को अन्दर घुसाने की बहुत कोशिश की.

आगे कुछ नहीं करोगे?मैं अभी भी डर रहा था- फिर तुम्हारे स्तनों को दबाऊंगा। उन्हें चूस-चूस कर लाल कर दूँगा. जो कि अगले शॉट में मैंने पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में पेल दिया।अब कुछ देर मैं वैसे ही रुका रहा।थोड़ी देर में भाभी ने अपनी कमर हिलाई तो मैं समझ गया कि भाभी फील्डिंग करने के लिए तैयार हैं तो मैंने भी बैटिंग करना स्टार्ट कर दिया। फिर उनके चौके में चौके और छक्के मारना शुरू कर दिया।भाभी के मुँह से हल्की-हल्की सेक्सी आवाजें निकल रही थीं- आहह अहहाअ. अगले भाग में मैं आपको बताउंगी कि किस तरह बॉस मेरी गाण्ड के पीछे पड़े और किस तरह बॉस ने मेरी बजाई और मैंने बॉस का फायदा उठाया।आपको मेरी चूत चुदाई की कहानी कैसी लगी.

फिर मैंने उसे लेटा कर अपने निक्कर से लण्ड बाहर निकाला। उसकी नाइट ड्रेस भी निकाल दी।सेक्सी मूवी देखने की वजह से उसकी चूत भी गीली थी. कभी कभी ऊँगली या मोमबत्ती से काम चला लेती हूँ।दीदी ने नेहा को अपने पास खींच लिया और उसके होंठों पर एक चुम्मा धर दिया। नेहा को भी अच्छा लगा। दोनों ने एक-दूसरे को पकड़ लिया और सहलाना शुरू कर दिया।यहाँ बाहर मेरी हालत ऐसी हो रही थी जैसे मैं तेज़ धूप में खड़ा हूँ. जिससे मेरे लंड में तनाव आने लगा।फिर मैंने भाभी के मुँह से अपना लंड निकाला और मैं भाभी को चूमना शुरू कर दिया। भाभी की नई-नई शादी होने के कारण उनकी चूत ढंग से खुली नहीं थी। आखिर उनकी उम्र ही क्या थी.

इसलिए मैं चुपचाप सुबह जल्दी उठकर नीचे आ गया था रवि को ऊपर सोता हुआ छोड़कर.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ दिखाइए: शायद हॉस्टल में तुम्हारे साथी तुम पर मरते होंगे और उनमें से ही एक राजेश होगा। उन लड़कों के इशारों से तुम्हारे मन में भी अपने इस अलग सी खूबसूरती का एहसास जाग उठता होगा।मैं उसकी बातों से हैरान हो गया और उसे बाँहों में ले कर कहा- तुम तो कितनी गहराई से सोचती हो और कितनी समझदार हो. मुझसे रहा नहीं जा रहा था मैंने उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और धक्के देने लगा।कुछ समय पर मेरे लंड ने वीर्य की पिचकारी मारी और शांत होने लगा।वो अभी भी मुझसे चिपकी थी।कुछ पलों बाद चूमते हुए मैंने कहा- भाभी, फिर कब मिलोगी।तो उसने कहा- किसी दिन तसल्ली से मिलेंगे.

फिर ग्रुप सेक्स करेंगे।हम सबने हामी भर दी।तभी मदन बोला- आज सबसे पहले मैं चोदूँगा सोनिया को।मैं और रिंकू कमरे से बाहर चले गए और सोनिया और मदन की चुदाई शुरू हो गई।मदन ने कमरे का दरवाजा नहीं लगाया था. ऑटो कैमरा से ब्लू-फिल्म बनना बंद कर दी।मैम ने मुझको किस किया और बोलीं- फिर कभी और करेंगे. वो खुद डिलीट कर देगी या हम दोनों की चुदाई का वीडियो देखकर अपनी चूत में उंगली कर लिया करेगी और इस वीडियो से क्या करेगी।तो हम दोनों ने भी अधिक ध्यान नहीं दिया.

जो उसे काफी पसंद आया। जन्मदिन की पार्टी परिवार वालों के और कुछ आसपास के लोगों के साथ उसके घर पर ही मनाई गई।हमारी कालोनी शहर से थोड़ी दूर थी.

क्योंकि आज मेरा बर्थ-डे है और मैं इस दिन को और यादगार दिन बनाना चाहती हूँ। आज मेरी दोस्त की वाइल्डनैस को आपने देखना है और उसको बस संतुष्ट करना है।ये सब कह कर उसने हम दोनों को एक-एक किस कर दी।अब सिमरन भी आ गई और उसने सारा सामान टेबल पर सजा दिया। मैंने और संजय ने केक के ऊपर मोमबत्तियां लगा दीं. इस थन से जो दूध निकलता है उसका स्वाद वही जानता है जिसे उसको पीने का सौभाग्य मिला है. यह जो तुम्हारे सामने हूँ।’अम्मी उनसे लिपट कर बातें कर रही थीं। कभी तो वो मेरी नजरों के सामने आ जातीं.