बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी

छवि स्रोत,पंजाबी कुंवारी लड़की का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती फिल्म सेक्सी: बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी, मैंने जंगली बनते हुए एकदम से उसकी पिंक सेक्सी सी नाइटी फाड़ दी।उसने मुझे रोका और सोफे पर बैठने को बोला और पानी पिलाया और कहा- जब बुलाऊं, तब बेडरूम में आ जाना।मैं वहीं बैठकर उसका इन्तजार करने लगा।15 मिनट बाद उसने आवाज दी।मैंने देखा कि वो लाल साड़ी में खड़ी है और एकदम दुल्हन की तरह सजी हुई है। उसके हाथ में दूध का ग्लास था.

इंग्लिश पिक्चर सेक्सी वीडियो ब्लू

मैंने रूम से बाहर आकर देखा तो आंटी रसोई में ब्रेकफास्ट तैयार कर रही थी।मैंने जाकर आंटी को एक प्यारा सा हग किया और बोला- मेरी गर्लफ्रेंड, कैसी रही रात?आंटी बोली- बहुत ही अच्छी! तुम एक दिन और रुक जाओ ना!मैंने कहा- नहीं! फिर आप याद करना, मैं आपका गुलाम हाज़िर हो जाऊंगा. गडर सेक्सीआपको मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी पसंद आई? मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट के जरिये अपनी राय देना न भूलें.

दीदी ने ब्लैक रंग की ब्रा पहनी थी, जिसमें दीदी बहुत ज्यादा सेक्सी लग रही थीं. कॉलेज देसी सेक्सीमैंने उसके मम्मों को इतने ज़ोर से भींच रखा था कि वो कभी कराहती थी तो कभी मस्ता के सी सी सी सी करके चूतड़ उछाल उछाल के लौड़ा तेजी से अंदर बाहर करती थी.

उन्होंने कहा- तुम्हारा फ़ोन क्यों बंद है?अरे हां … वो मेरे फोन की बैटरी निल हो गयी थी.बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी: अब जैसे ही मेरा लंड खाली हुआ तभी उसने मेरा लौड़ा बाहर निकाला और सीधा बाथरूम की ओर भाग गयी।मैंने देखा कि इधर मोनू ने अपने लौड़े का सारा रस मुस्कान के मुंह पर निकाल दिया था.

जाते ही उसने निक्कर में से लण्ड निकाल लिया और कहा- ये तो पहले से ही खड़ा है।मैंने भी कह दिया- तुम्हारी गर्मी से ही खड़ा हो गया है।यह सुन कर वो खुश हो गयी और घुटनों के बल बैठ के लण्ड चाटने लगी। आंड से लेकर लण्ड चाटने के बाद मुंह में लेकर चूसने लगी तो कभी आंड चूसती.दोस्तो, कैसे हो सब? मैं एक बार फिर से सभी लड़कों के लंड और लड़कियों की चूतों को गर्म करने के लिए आ गया हूं.

करीना चोपड़ा सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी

उसकी गांड 36 की साईज की अलग ही छटा बिखेर रही थी … तथा उसका पूरा गोरा बदन जगमगा रहा था.अब मुझसे रहा नहीं गया, तो मैंने कहा- जल्दी बता ना कुतिया … और कितना तड़पाएगी.

उसने टी-शर्ट नहीं उतारी, उसकी काली कच्छी उसकी गोरी मांसल टांगों के बीच कहर ढा रही थी. बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी आप सभी की सलाह मानकर मैंने अपनी कुछ सहेलियों से संपर्क किया और वो अपनी सेक्स जिंदगी की कहानी बताने के लिए तैयार भी हो गई हैं.

मैंने फोन उठाया तो उसने पूछा- क्या आप अजय बात कर रहे हो?मैंने जवाब दिया- हां, मैं अजय बात कर रहा हूं.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी?

उसने मुझे पूरी तरह चूस डाला, एक झटके में मेरी शर्ट फाड़ दी और मेरी छाती पर किस करने लगी. वो सभी हंस रहे थे, तभी मैं सबके लिए बियर की ठंडी बोतलें लेकर आ गया. परमीत ने उन दोनों को दूर सोफे में बैठने को कहा और पास ही टेबल में रखी दारू की एक बोतल उनको देते हुए कहा- पीकर तैयार रहो … जब तक मैं ना कहूं हमें डिस्टर्ब नहीं करना.

मैंने उनकी इच्छा को समझते हुए एक ही झटके में आधा लंड उनकी चूत में पेल दिया. दो बच्चों का पिता होने के बावजूद मेरा अपने मुहल्ले में रहने वाली मनीषा से अफेयर हो गया. मैंने दूसरी सिगरेट पैकेट से निकाल कर सुलगाई और लंबा कश लेकर हसन से कहा- सुनो तुम सिर्फ चड्डी पहन कर नाचो.

और वो शरारती अंदाज़ में हंस दी।मैंने हल्का सा ज़ोर लगाया और मेरे लंड का टॉप उसकी भीगी फुद्दी में घुस गया।उसे दर्द तो हुआ … पर हल्का … एक हल्की सी ‘ऊई … माँ …’ और दर्द का भाव ही उसके चेहरे पर दिखा. इसी दौरान मेरी धीरे धीरे उससे चैट होने लगी और हमारी बातें होना शुरू हो गईं. बाबू तपाक से बोले- रुक भोसड़ी वाली … हंस रही है, तेरी चूत के साथ आज तेरी गांड का बाजा न बजाया तो कहना.

नीरज बोला- अरे पगली तेरी भाभी इतनी दुबली पतली होते हुए गांड मरवा चुकी है … और तुम तो यौवन की देवी के समान हो. किसी कमरे में किसी की बीवी चुद रही थी, तो किसी की बहन चुद रही थी, तो किसी की भाभी चुद रही थी.

थोड़ी देर तक मैं प्रीति के जिस्म के साथ खेला और हम नंगे ही एक दूसरे के बांहों में बांहें डालकर सो गए.

मैंने राज को कहा- तुम छुपे हुए रूस्तम हो! मौसम भी बढ़िया है, उसे बुला लो घर पर और मना लो फिर से सुहागरात! डर किस बात का!राज बोला- कोशिश करता हूँ कि मान जाए.

फिर मैं वॉशरूम में एक बार मुठ मारके बाहर आया और मैंने फिर से पूछा- यस मैम, क्या अब आप रेडी हैं?उसने कहा- हां जी, मैं रेडी हूं. उस दिन शबनम ने जो दुपट्टा गिराया था, वो कोई संयोग से गिरा था या उसकी ही मर्जी से दुपट्टा उसके मम्मों से हटा था, ये मैं समझ नहीं पा रहा था. साथ ही मैंने अपने जिस्म का आधा वजन अपनी बायीं कोहनी पर किया और अपने बाएं हाथ से … जोकि वसुंधरा के नीचे, वसुंधरा की पीठ पर था, थोड़ा सा वसुंधरा को ऊपर उठाते हुए अपने साथ ज़ोर से कस लिया.

जीजा जी- आलिया को न चोदने का तो समझ आता है, लेकिन मैं अपनी बीवी को भी नहीं चोद सकता?मैं- चलो आपके लिए थोड़ा आसान कर देता हूँ, आप महीने में सिर्फ एक बार दीदी के साथ सेक्स कर पाएंगे. बस इसकी गारंटी आप दे दीजिए। मैं उस लड़की को आप दोनों के बिस्तर में ला दूंगा. वसुंधरा ने कुछ देर तो मुझ से नज़र मिलाई लेकिन फिर मुस्कुरा दी और शरमा कर अपनी बायीं बाज़ू अपनी आँखों पर रख ली.

वो खुलकर बोली- जाओ चूतिया किसे बना रहे हो … इधर बात करने आए हो या अन्दर बाहर करने आए हो … जाओ तुम दोनों जी भर के चुदाई कर लो.

मैं लंबे लंबे झटके मारते हुए नताशा को पेल रहा था और वो कामुक आवाजें कर रही थी. बोट चलाने वाले लड़के ने अपना लंड मेरी गांड में लगा कर मुझे गर्म कर दिया. आह … बहुत ही कयामती जिस्म था उसका! जांघों को देख कर ऐसा लग रहा था कि उनको फुरसत में तराशा गया है.

उसने हाथ के इशारे के लन्ड चूत पर लगाया और इशारा किया। मैंने जोर का धक्का लगाया और सुपारा अंदर डाल दिया उसकी घुटी सी चीख निकली. उसकी सिसकारियों की आवाज़ से मैं और भी उत्तेजित होकर ज़ोरों से चूचे चूसने लगता. इधर नीरज उठा और उसने हमें और प्रियंका को देखा तो पाया कि हम दोनों सो रहे हैं.

मैं किसी भी महिला या लड़की को देख कर बता सकता हूं कि वो चुदक्कड़ है या नहीं.

जैसे ही मैं गया उसके चेहरे पर एक हसीन मुस्कान आ गयी, वो मुझसे हँसकर बात करने लगी. जीजा जी- क्या हुआ साले साहब अपनी दीदी की याद आ गई?मैंने मजाक करते हुए कहा- मेरे पास आपकी बहन चुदने को बेकरार है.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी अनिषा बोली- मैं आजकल सहेली के ससुर जी … औरदूध वाले से सेक्स के मजेकर रही हूँ. लंड को तेल से चिकना करने के बाद मैंने उसकी चुत पर भी तेल टपकाने को हुआ, फिर रुक गया.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी मैं लंड को दबाता हुआ बोला- नेहा बेटू … बस कुछ ही धक्कों का दर्द है … इसी में तुझे हल्का सा दर्द होगा, फिर नहीं होगा. मैंने जैसे तैसे छोटे मोटे कामों को खत्म किया और घड़ी की तरफ देखा, तो 10 बजने वाले थे.

साथ ही ये भी विचार मन में चल रहे थे कि पता नहीं मैं उसे खुश कर पाऊंगा या नहीं.

त्रिशा मधु सेक्स वीडियो

शाम को जब हम फिर से खाना खाने के लिए एक साथ बैठे, तो मेरी मम्मी ने पूछा- मनोज भी साथ क्यों नहीं आए?आंटी ने बताया कि उनका जरूरी काम था, इसलिए वह नहीं आ सके. न चाहते हुए भी मैंने हम दोनों का खाना पैक किया … और उनके घर चली गई. उसने मेरी ललचाई नजरों को झेंपते हुये मुझे अपना लौड़ा ऑफर किया चाटने के लिये। मैंने साफ मना कर दिया। इस पर उसने अपनी चड्डी भी निकाल फेंकी। 8 इंच का मूसल लंड फुफकारता हुआ बाहर निकल आया.

मैंने सोनम का एक पैर कंधों पर रखा और उसकी बुर पर मुँह रख कर चूसने लगा. गीत की इस पिक में उसकी ब्रा की पट्टी हल्की सी नजर आ रही थी, इसलिए लंडदेव ने सलामी और जोरों से दी और रात को मैंने अपनी गीत को याद करके अपनी पत्नी को कसके चोदा. उसे रसोई का काम बहुत अच्छे से आता है क्योंकि पहले वो किसी बड़े अधिकारी की कोठी पर काम करती थी और वहीं रहती थी.

दोस्तो, फिलहाल मैं अपने पाठकों के द्वारा साझा किए अनुभवों को कहानी के रूप में अन्तर्वासना के माध्यम से आप सब तक पहुंचा रहा हूं.

मैंने उससे पूछा- आप कैसा फील कर रही हैं?उसने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है … बस ऐसे ही करते रहो. मैं आंटी को देख कर हैरानी में पड़ गया था कि रोज तो आंटी साड़ी में रहती हैं … और आज ऐसे कपड़ों में?मैंने कहा- आंटी बड़ी तेज भूख लग रही है, खाना बना लिया क्या?आंटी बोलीं- आ जा पहले खाना खा ले. वो मेरे पेट पर से टांगों को दोनों तरफ फैलाता हुआ मेरी छाती पर चढ़ गया.

मैं अब पीछे हटने के मूड में नहीं था इसलिए मैंने उसे वही पलंग पर लेटा लिया और उसकी साड़ी का पल्लू हटा दिया. वसुंधरा ने अपने दोनों हाथ अपनी योनि के आजू-बाजू रखे हुए थे और उस की योनि में मेरा आता-जाता लिंग वसुंधरा की उँगलियों के पोरों को छू कर आ-जा रहा था. आज जैसे ही निकला, जालान आंटी अपने गेट पर ऐसे खड़ी थीं मानो मेरा ही इन्तजार कर रही हों.

मैंने भी उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को जोर जोर से चोदना चालू कर दिया. उसका इतना कहना था कि मैंने गाड़ी कार्नर लेन में लेकर उसकी रफ्तार बहुत धीरे कर दी और अपने होंठों अलका के होंठों पर रख दिए.

आपको मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी पसंद आई? मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट के जरिये अपनी राय देना न भूलें. अब आगे:मैं भी उठ कर अपने कमरे में चला गया और फ्रेश होकर बाहर हॉल में आ गया. मैं भी मस्ती में जोर जोर से अंकल की चुदाई करें जा रहा था और जन्नत के मजे ले रहा था.

नीरज बोला- अरे पगली तेरी भाभी इतनी दुबली पतली होते हुए गांड मरवा चुकी है … और तुम तो यौवन की देवी के समान हो.

मुझे देखते ही आंटी ने अपने पास बुलाया और बोलीं- अन्दर चले जाओ बेटा. मैं उसके पास पहुंची तो उसने बोला- मैडम जी, मेरा लड़का बहुत बिगड़ गया है. अब तक मैंने उसकी दस बारह तस्वीरें देख ली थीं, उस आधार पर मैं यह कह सकता हूं कि मेरी गीत बहुत गोरी और एकदम दमकती साफ त्वचा वाली लड़की है.

उसकी उम्र 35 वर्ष थी, लेकिन अभी भी वो 25 वर्ष की लड़की को फेल कर रही थी. विशाल तो सुनील से बोला- इस लंगूर रामसिंह को ये हीरा कहाँ से मिल गया?रास्ते में और होटल पहुंचकर बातूनी शीला इन दोनों से बहुत ही मिलनसार हो गयी थी.

भाभी चुत चुसवाने के साथ में ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज़ निकालने में लगी थीं. एकाएक संजू को बर्दाश्त नहीं हुआ और वो जंगली शेरनी की दहाड़ते हुए और चिल्लाते हुए झड़ने लगी. अब मैं रोजी की चूत चाट रहा था और वो मेरा लंड चूस रही थी।बीच बीच में मैं उसकी गांड भी चाट लेता था तो वो मेरा लंड छोड़कर सिसकारी भरने लगती थी और मेरे आंड चूसने लगती थी.

आगरा चुदाई वीडियो

उस वक्त शालू और सोनिया जवानी की दहलीज पर ही थीं … लेकिन दोनों ही अपनी उम्र से कहीं ज्यादा मस्त दिखाई देती थीं.

उसके बाद मैं ऊपर होकर उनके मम्मों को चाटने लगा और उनके मम्मों को चूसने लगा. आवाज से ही मैं पहचान गयी कि ये तो जेठजी हैं और शायद भाभी की मैक्सी की वजह से इन्होंने मुझे श्वेता भाभी समझ लिया. इस बात पर हम जीजा-साले मुस्कराने लगे, जिससे दीदी को भी रात हुई चुदाई की वजह से हमारी बात समझ आ गई.

मुझे उनके मस्त बड़े बड़े चूचे आज कुछ जरूरत से ज्यादा ही गहराई दिखा रहे थे. आज आपको अपनी पिछली कहानीकच्ची कली की कुंवारी बुर का चोदनसे आगे की कहानी सुनाने आया हूँ जो बहुत ही मजेदार है. सेक्सी पिक्चर वीरानाएक बार मिलो तो?लड़की- पर कहां?लड़का- कल से पूजा पाठ शुरू होगा न?लड़की- हां.

तभी उसने एक हाथ मेरी पीठ पर रखा और मुझे टेबल पर झुका दिया और मेरी साड़ी को पेटीकोट के साथ पकड़ कर कमर तक उठा दिया. मैं जानती थी कि वो मुझे चोदने के लिए मेरे बेटे से करीबी बढ़ा रहा है.

वैसे मुझे जीजा जी के उठने की चिंता नहीं थी क्योंकि अगर उन्हें पता चला भी, तो वो कुछ नहीं कहने वाले थे. वसुंधरा का गोरा चेहरा पसीने से लथपथ था, चेहरे पर कुछ-कुछ सर के बाल चिपक रहे थे, कपोल गहरे गुलाबी हो रहे थे, गुलाब की पंखुड़ियों के से होंठ थरथरा रहे थे, मदभरी आखों में गुलाबी डोरे और तेज़ और भारी साँसों के कारण एक काली डिज़ाईनर ब्रा के अंदर गोरा उन्नत वक्ष तेज़ी से ऊपर-नीचे हो रहा था. गुड्डी ने पूछा- क्यों तुम नहीं लोगे?मैंने कहा- ज़रूर लूंगा गुड्डी मेरी जान … मैं तुम दोनों के मुंह से पियूँगा.

लेकिन दूधवाले ने नीचे से मेरी चुत देख ली थी, वो बोला- मेमसाहब आपकी नाइटी से संगम घाट दिख रहा है. पर रवीना ने कहा कि उसे कोई दिक्कत नहीं है क्योंकि वो भी पिछले छह माह से पीजी में रह रही है, तो देर रात आने जाने में उसे कोई टेंशन नहीं है. मेरा लंड अपने रौद्र रूप में आने लगा था और जींस की वजह से मुझे परेशानी हो रही थी.

वो झुक कर अपना चेहरा मेरी चूत के पास ले गए और अपने हाथों से मेरे हाथों को हटाकर चूत को देखने लगे.

उसको तो मैं बाद में देख लूंगी, मगर अभी मेरी चूत में जो आग लगी हुई है उसको मुझे किसी भी हाल में शांत करना है. मैंने एक हाथ से और उसके बालों को खींच के लण्ड को सेट करके उसकी चूत में उतार दिया.

सर ने अपना अंगूठा मेरी चूत में डाल दिया और तेजी से अन्दर बाहर करने लगे, थोड़़ी देर बाद मुझे लगा कि मेरी चूत पानी छोड़ रही है. मुझे तो अब खुद ही कपड़ों से परेशानी होने लगी थी, सो मैंने कपड़े निकाल कर सोफे पर रख दिए. ‌मैं- तो देर किस बात की है … शुरू करें?मेरे इतना कहते ही शबनम मेरे गले से लग गई और मुझे चूमने लगी.

मैंने चुदाई के बाद उससे बोला- जान मेरी एक ख्वाहिश है … क्या तुम मेरे लिए उसे पूरा कर सकती हो?अंशी बोली- हां बोलो क्या करना है?मैंने उससे बोला- कंडोम से पानी निकाल कर अपने हाथों में लेकर उसको जीभ से चाट सकती हो. मैंने हाथ ऊपर नीचे करना शुरू किया। उसका लन्ड खम्भे की तरह खड़ा था और गर्म भी था। भाई को भी मस्ती छाने लगी जो उसके चेहरे पर साफ दिख सकती थी। उसका मस्त लौड़ा देख मेरे मुंह में पानी आ रहा था। मैंने न चाहते हुए भी उसके टोपे पर जीभ से फेर दिया। हल्का नमकीन स्वाद था उसके लंड का. मैं अपने रूम में फोन इस्तेमाल कर रहा था, और कुछ देर आंखें मूंद कर सो सा गया.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी हम लोग 11 बजे लखनऊ पहुँच गए पेपर का टाइम 2 बजे था इसलिए मैं अपने दोस्तों को बाय बोलकर बाराबंकी की बस पकड़ने निकल लिया।जब बाराबंकी की बस की तरफ गया तो देखा उसमें बहुत ही ज्यादा भीड़ थी सारी सीट पहले ही बुक हो चुकी थीं और बहुत से लोग खड़े भी थे।मुझे पेपर के लिए लेट हो रहा था इसलिए मैं ना चाहते हुए भी उस बस में चढ़ गया। जब बस में चढ़ा तो खड़े लोगो से बस भरी हुई थी. मगर उसके कद्दू जैसे चुचे मेरे हाथों की पकड़ में आ ही नहीं रहे थे … साले बहुत ही बड़े थे.

ललिता भाभी की सेक्सी वीडियो

मैंने उसे चूमते हुए पूछा- कैसा लगा बेबी?वो बोला- आज बहुत मज़ा आया यार … आज बड़ा मस्त लंड चूसा तुमने … ऐसा लगा कि आज तुम्हारी जीभ कुछ ज्यादा ही मस्ती से लंड चूस रही थी. उसकी पीठ पे एक तिल भी था जो उसकी पीठ को और भी खूबरसूरत बना रहा था।उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को उतार दिया जिससे उसके 32″ के चुचे फुदक के बाहर आ गए। उसके निप्पल भूरे रंग के थे. तो प्रियंका ने उसे हटने नहीं दिया बल्कि उसकी चूत को अपने मुँह से सटाकर अपनी जीभ संजू के चूत में घुसाकर सारा का सारा अन्दर का वीर्य चाट गई.

जब गाड़ी आई, तो सामने गाड़ी के गेट से उतरती स्वीटी आंटी अपने बेटी के साथ दिखाई पड़ीं. हमने खूब मजा लिया और पूरा पानी दोनों ने एक दूजे के मुंह में छोड़ दिया. चाची वाली सेक्सीमैं उसके लंड पर कूद रही थी और नदी के बीचों बीच हम सेक्स का मजा ले रहे थे.

खाने के बर्तन धो दिए हैं और फिर जब प्यार किया तो डरना क्या!राजन ने ममता का तौलिया खींच दिया.

इसके बाद हम दोनों ने एक पैग फिर से खींचा और सिगरेट का मजा लेते हुए अगले राउंड की तैयारी करने लगे. वो जब तक बोलता कि कहां जा रही हो … तब तक मैं कमरे से बाहर चली गई थी.

दो-एक मिनट बाद अचानक मेरा लिंग वसुंधरा की योनि के अंदर फूलने लगा और मैंने अंतिम बार अपना लिंग अपने लिंग-मुंड तक वसुंधरा की योनि से बाहर खींच कर पूरी शक्ति से वापिस वसुंधरा की योनि में धकेलना शुरू कर दिया. तेरे जीजा बोले कि उसकी नजर में एक ऐसी कड़क माल है जो हमने कभी सपने में भी नहीं चोदी होगी. मैं- तो करना है? यदि करना हो तो बताओ … तुम्हारी वो इच्छा भी पूरी कर सकता हूँ.

मलाई जैसे मुलायम चिकने और बेहद हसीन पैरों के स्पर्श से मेरी चुदास कई गुना बढ़ गई और मैंने दीवानावार रानी के पैरों को चाटना शुरू कर दिया.

मैंने बड़ा डिल्डो खुद पकड़ कर चूत में डालना जारी रखा और मनु को पतला डिल्डो गांड में डालने के लिए कहा. मैं उसको बड़ी वासना भरी नजर से देखा करता था और उससे बात करने के बहाने ढूंढता था. हालांकि जब माता जी आयी तो मैंने रेनू के ऊपर ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

एक्स एक्स हॉट सेक्सी वीडियो हिंदीमैं भी आहें भर रही थी ‘आह आह्ह सुहास!’कुछ देर चूसने के बाद मेरे चूचे एकदम लाल हो चुके थे और मेरी चूचियों के निप्पल भी बिल्कुल टाइट हो गए थे. तभी रास्ते में मेरे वॉट्सएप पर किसी इरफान नाम से किसी का मैसेज आया.

चूत में लंड कैसे घुस आते हैं

मेरी तीन सहेलियों में मीता मेरे जैसी ही पतली दुबली और लंबी लड़की थी, उसमें और मुझमें अंतर ये था कि मैं ज्यादा गोरी थी और वो मुझसे थोड़ा कम, लेकिन चेहरे की बनावट और खूबसूरती में हम दोनों ही एक दूसरे से कम ना थे. तभी जीजा जी ने ड्रावर से डिल्डो निकाला और हम चारों ने उनके बदन पर डिल्डो रख दिए. चाची को इस तरह से नंगी देख कर मेरा लंड टाइट होकर बाहर आने को मचलने लगा था.

धीरे धीरे वक़्त बीतता गया, शालिनी और मैं अब और करीब आ गयी थी और हम दोनों बहुत अच्छी सहेलियां बन चुकी थी. मैंने अपनी सलहज प्रियंका को बड़े प्यार से अपनी गोद में उठाया और सोफा पर ले आया. मैंने सुमन को बेड पर झुकाया और उसका गाउन ऊपर कर के उसकी जालीदार पैंटी को उसकी चिकनी चूत से दूर कर दिया। और प्यार से मैंने अपना आधा लौड़ा एक झटके में अंदर डाल दिया।आ… आह.

मैंने एक राउंड फिर से आंटी की चूत मारी और इस बार दोनों साथ में झड़े. मैंने पूछा तो उसने बताया कि बस अड्डे नहीं जाएगी बस! आगे जाम बहुत है, सबको यहीं उतरना पड़ेगा।यह सुनकर तो जैसे मेरे अंदर से पूरा जोश ही निकल गया. दोस्तो, आप में से जो भी मेरे बारे में जानना चाहता है, कृपया वे मेरी पिछली प्रकाशित हुई सेक्स कहानियां जरूर पढ़ें.

दिव्या ने भी बताया कि उसकी बोट पर जो लड़का था वो भी उसके साथ मस्ती करना चाह रहा था मगर दिव्या ने कुछ नहीं किया. मैं सुहास की टांगों के बीच में आ गयी और सुहास की पैंट का हुक भी खोल कर उसकी पैंट उतार दी.

वसुंधरा के जिस्म में देवी रति अपने पूरे जलाल के साथ आसन्न थी और मेरे शरीर में विराजमान कामदेव के स्वागत में कामोत्सव मनाने को कमर कसे बैठी थी.

मैंने कहा- आप इतनी खूबसूरत हैं और इतनी सेक्सी भी! आपका दिल नहीं करता कि कोई आपको रोज प्यार करे?आंटी बोली- करता तो बहुत है. सेक्सी वीडियो ना भेजेंमजे से मेरी आंखें बंद हो चुकी थी और जब मैंने आंखें खोलकर मामी को देखा तो वे मुझे ही देख रही थी. सेक्सी वीडियो राजस्थानी फिल्मवो मेरे पिंक टोपे पर जीभ फेर फेर कर, उसे जीभ से चाट चाट कर, लंड के छेद के ऊपर अपनी जीभ लगा कर, जीभ से अपने थूक की एक लार बना कर फिर छेद को जीभ से रगड़ने लगी. तो प्रस्तुत है बुआ की चुदाई का अगला किस्सा उन्ही की जबानी:स्कूल में टीचर की चूत चुदाई की कहानी के पिछले भागमेरी बुआ की चुदाई के किस्सेमें आपने पढ़ा कि एक दिन मैं स्कूल में थी और बारिश हो रही थी.

इतने में ही जलेबी वाले भैया ने अखबार पर जलेबी रख कर मेरी तरफ बढ़ा दी.

फिर मैं दीदी और परमीत के बीच लेट गई और मनु दीदी के बगल में चिपक कर लेट गई. तो चलिए पहले आप सभी से भाभी का परिचय करवा देती हूँ … बल्कि आप खुद ही भाभी से उनका परिचय ले लीजिएगा. मज़े की वजह से मुस्कान सिसकारियाँ निकालने लगी- उई आह्ह उह्ह … स्सिसि … सिस्सीसी चोदो तेज ऐसे ही आह्ह्ह … ह्ह्ह्ह उईईइ सीसी.

सुहास ने मुझे वासना से देखा और हल्के से धक्का देते हुए मुझे बेड पर लिटा दिया. सिल्क- उई ईईई मा … आ आ आए आ आह … मर गयी यार इतने जालिम मत बनो! मैं कहीं जा नहीं रही हूँ प्यार से करो ना!पर उस चीख में में भी उसके चेहरे में मज़े की जो ख़ुशी देखने को मिली वो शायद उस दर्द से कहीं ज्यादा थी जंगली प्यार का भी एक अलग मज़ा होता है. लण्ड मेरा अभी भी उसकी चूत में था क्योंकि मेरा तो अभी हुआ नहीं था मैं उसके बाल में प्यार से उंगली फेर रहा था.

बायकोची झवाझवी

रंग के मामले में ये कहा जा सकता है कि ये पिक या कैमरे का कमाल हो सकता है, पर मैंने भले उसके चेहरे को नहीं देखा था. उसके बाद मैंने सुहास से कहा- मैं रूम में रेडी होने जा रही हूँ, ज़ब मैं तुम्हे फ़ोन करूं, तब तुम रूम में आ जाना. तो वो बोली- ठीक है, तो तुम्ही उसे हटा दो।चाची मेरी बात समझ गई थी क्योंकि मैंने उन्हें कल ही रात चुदाई करते हुये उनके चूत के ऊपर के बालों के बारे में कहा था.

मुझे बहुत दर्द हो रहा था, उन्होंने आगे हाथ बढ़ा कर मेरा मुँह पहले ही बंद कर दिया था.

मेरी चीख को सुन कर भाई भी उठ गये और उन्होंने पीछे से मेरी गांड में थूक दिया.

अन्तर्वासना पर बहुत सी कहानियां मस्त और गर्म होती हैं, बहुत सारी कहानी झूठी भी रहती हैं … मगर उनमें भी इतना सेक्स भरा रहता है कि लंड खड़ा हुए बिना रहता ही नहीं है. विमला मेरे पास आकर नीचे बैठ गयी और मेरे जांघें सहलाने लगी उसके हाथ लगाते ही मेरे शरीर में झुरझुरी हुई. इंडियन ट्रिपल सेक्सी पिक्चरमैंने सोचा यह बहुत सही मौका था सरीना को चोदने का! मैंने नीलू की नाइटी ऊपर उठा दी और खड़े खड़े उसे चोदना शुरू कर दिया.

मैंने उसके कपड़े उतारे और अपने से चिपका कर मैं उसके होंठों को चूसने लगा. मैं कुमार को कॉल किया और बोली- हैलो … मैं अपने भाई के साथ आ रही हूँ. चेहरे से होते हुए पसीना आंटी के ब्लाउज से होता हुआ उनकी की ब्रा में जा रहा था।पसीने वजह से हम दोनों ही पूरी तरह से भीग चुके थे।लेकिन तभी कंडक्टर की आवाज आई- उतरो उतरो सब लोग … बस यहीं खाली होगी.

मैं मनु के साथ लेस्बियन कर चुकी थी उसके बावजूद मैं उससे नजर नहीं मिला पा रही थी. राहुल- क्या हुआ … तुम भी तो अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदाना चाह रही थी न … अब क्या फर्क पड़ता है, ब्वॉयफ्रेंड हो या मैं.

उन्होंने मेरा मुँह लेकर लंड पर टिका दिया और बोले- चल कुतिया … लॉलीपॉप चूस ले.

मैंने उसकी चुत पर एक किस किया, तो उसने अपने दोनों पैर फैला लिए, जिससे चुत पूरी खुल कर सामने आ गयी. कुणाल ने रवि को बेड पर लेटने का इशारा किया और फिर चुदाई रोक कर मीना से कहा कि वो रवि का लंड अपने चूत में बैठ कर ले. मैं बोल पड़ी- साले माई का भतार … थोड़ा धीरे नहीं कर सकता था … साले चूत की नस को भी तहस नहस करके छोड़ दिया … माई का बदला बेटी से काहे ले रहा है.

तामिल सेक्सी दिव्या ने मेरी तरफ देख कर उन लड़कों से कहा- मुझे भी ऐसे ही चुदना है. फिर वो वहशी से स्वर में बोला- साली रंडी, तुझे तेरी ब्रा और पैंटी चाहिए थी न? रुक अभी देता हूं तेरी ब्रा और पैंटी.

मैं चुपके से उठ कर गेट के पास गया और मैंने झपट कर उस परछाई वाली का हाथ पकड़ कर कमरे के अन्दर ले लिया. मुझे आज लंड चुसवाने में इतना अधिक मज़ा आ रहा था कि बता ही नहीं सकता. मीना ने अपना तौलिया लपेट लिया था और कुणाल और रवि के बीच में खड़ी हो गयी.

साड़ी वाली की सेक्सी

रानी व्याकुल हो चली थी, वो चाहती थी कि लंड उसकी गांड में ठोक कर अच्छे से गांड मारूं. नाईटी की दो काली पट्टियों के नीचे गोरे कन्धों और और काली नाईटी के बिल्कुल बीच में नेट में से झांकती दो उन्नत उरोजों के बीच की गहरी लक़ीर, सब कुछ इतना सम्मोहक और आकर्षक था कि किसी ऋषि की भी तपस्या हो जाए. संजू बोली- भैया, रात को दो बजे तो हम सब सोये हैं, प्लीज अभी सोने दीजिये ना.

तो बहुत मजा आ रहा था। चॉकलेट खाते खाते हम दोनों दूसरे के लब आपस में जुड़ गये और हम एक दूजे को किस करने लगे. मम्मी, समझ रही हो ना? तो मम्मी कुछ देर चुप रहीं और फिर बोलीं कि तू कहे तो विजय से लगवा दूँ? मैंने नादान बनते हुए पूछा कि कैसे? तो मम्मी बोलीं, मैं उसको अन्दर भेज दूंगी, बाकी तू समझ लेना.

मैं उन दिनों टवेरा गाड़ी चलाता था और जिन्होंने वो गाड़ी रखी या चलाई है, उनको पता होगा कि उस गाड़ी में टांगों के लिए जगह कितनी ज्यादा होती है.

मेरे साथ आकाश भी नताशा की गीली चुत चाटने लगा और आखिर में नीरज भी चुत में लग गया. अब मैंने करवट ले कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने अपनी पत्नी से पूछा तो उसने बताया कि सुमन का नवां महीना शुरू हो गया है और इन लोगों में पहली डिलीवरी मायके में कराने का रिवाज है, इसलिये आई हुई है.

मैं सारे ख्यालातों को झटकते हुए अभी के क्षणों का पूरा लुत्फ लेने के लिए पूरे शरीर को ढीला छोड़े हुए थी. लंड मेरी चूत में टच होते ही मैंने अपनी कमर को आगे कर दिया ताकि जल्दी से चूत में अभय का लन्ड घुस जाए किंतु मेरी कोशिश नाकाम रही।मुझे बेताब देख कर अभय बोले- मैं 50 साल का हो रहा हूं. दीदी लंड का सारा माल पी गयी थी क्योंकि उसके मुँह से बाहर कुछ भी नहीं निकला था.

उसके बाद हम सबने नाश्ता किया।उसके बाद हम तीनों अंदर वाले रूम में आ गए। वहाँ पर दो बेड थे एक पे अजहर और दूसरे में आशना भाभी और मैं थे।मैं उसके बालों को सहला रहा था और बातें कर रहे थे।करीब 15 मिनट ऐसे करते हो गए तो अजहर बोला- चोदो इसको … इतना इंतज़ार किस बात का कर रहे हो?मैं कुछ नहीं बोला.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी चोदा चोदी: मेरे पति जब भी घर पर होते, तो ऐसी कोई रात नहीं होती … जिसमें मेरी चुदाई न होती हो. बोले कि आराम का दिन है, पर नंगे तो सो सकते हैं … चिपक कर सो सकते हैं.

करीब पांच मिनट बाद बिना रुके नताशा की गांड मारने के बाद मैं नताशा को वापस लेटाकर उसकी चुत पेलने लगा. उसकी चूत को जैसे मैंने छुआ, वो कामुकता के मारे पागल होने लगी और बहुत जोर जोर से आहें भरने लगी, बोली- प्लीज कुछ करो, अब रहा नहीं जा रहा. हालांकि वो फोन उसे सिर्फ घर के लिए ही मिला था मगर वो कभी कभी उसे स्कूल भी ले आती थी.

और इधर मेरा दायां हाथ वसुंधरा की नाईटी के अंदर-अंदर से, वसुंधरा की संदली देह पर अपनी उँगलियों से सितार के तार छेड़ने जैसी हरकत करते-करते, धीरे-धीरे वसुंधरा की कमर पर वसुंधरा की पैंटी के इलास्टिक पर इकतारा बजाता हुआ वसुंधरा की पसलियों पर से होता हुआ, वसुंधरा की ब्रा के स्ट्रैप को लांघता हुआ, उसकी बायीं कांख के ठीक नीचे तक पहुँच गया था.

मैंने पहले उसकी गांड के छेद पर थोड़ा सा थूका फिर 2 उंगली 1 साथ उसकी गांड में डाल दी जिससे वो आआईईईई ईईईई करके चीखी. हमने तय किया कि यहां से निकलकर हम सब रास्ते में पड़ने वाले छोटे गार्डन में बैठकर बात करेंगे. आपको पसंद आई या नहीं … मेरी ईमेल आईडी पर संपर्क कर सकते हैं[emailprotected].