हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में

छवि स्रोत,सेक्सी लड़कियों के नंबर

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म इंग्लिश बीएफ: हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में, फिर फोन लगाकर उसने किसी से कहा- हां सुधा, मैं सर को लंच करा रही हूँ, मुझे थोड़ा टाइम लगेगा.

अनतरवासना

उधर सुमन, प्रतिभा, आंचल, पायल सभी ब्यूटीशयन के साथ मिलकर खुशी को तैयार करने और खुद तैयार होने में लगे थे. लड़की और जानवरों का सेक्सफिर उन्होंने मुझे बैठा कर खुद ही मेरी स्कर्ट और टॉप को निकाल दिया और मेरे बड़े बड़े मम्मों को हाथों से मसलने लगी.

पर दरवाजे से पहले ही रूक गई और वापस आकर कहा- सर एक और बात है!मैंने कहा- हाँ हाँ कहो?नेहा ने कहा- सर कुछ लोगों को समय-समय पर बिन मांगे सुविधा लेना अच्छा लगता है. छोटे लड के फोटोअन्तर्वासना का हर पाठक जिसको पाना चाहता है वो खुद मेरे पास चल कर आई थी.

उसने सुना था कि बड़े आदमियों कि औरतें नीचे के बाल क्रीम से साफ़ करती हैं.हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में: पता नहीं मुझे तो बस ऐसा लग रहा था कि आज मैं अपने जीवन की इस बहुप्रतीक्षित कल्पना के न जाने कितने करीब आ गई हूँ … मैं तो बस इस सबका लुफ्त उठाए जा रही थी.

इसके बाद मैंने स्वरा की झांटों में पानी लगाया, फिर फोम लगाया और उसकी झांटें रेज़र से साफ करने लगा.ये सुन कर तो मेरी खुशी का ठिकाना न था।मेरा भी दो दिन बाद वीक ऑफ था तो मैंने कहा- मैं दो दिन की छुट्टी ले लेता हूँ और हम कहीं बाहर घूमने चलते हैं।वो भी ये सुनकर उत्साहित हो गयी.

साड़ी वाली की सेक्सी पिक्चर - हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में

आह्ह … चूस … और जोर से चूस!मैंने भाभी की चूत में जीभ अंदर दे दी और जोर जोर से उसकी चूत को चोदने लगा.सेक्सी फैमिली स्टोरी में पढ़ें कि एक घर में मुझे तीन शानदार चूतें मिल रही थीं.

रवि एक छोटी बोतल व्हिस्की की लाया था तो थोड़ी थोड़ी सभी के गिलास में लुढका दी. हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में उसे अपने काम से फुर्सत ही नहीं मिलती।रति- फिर भी कभी कोशिश करके उन्हें घर भी लाइए.

भाभी ने अपनी आंखें बंद कर ली और अपने नीचे वाले होंठ को दांत से दबा लिया.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में?

इसके बाद उसने मुझे धक्का देकर बेड पर गिरा दिया और मेरे लंड को अपनी चूत में डाल लिया. जब शाम को मैंने तुझे उठाया था तो तेरा लंड तेरी चड्डी में तना हुआ था. जब पांच मिनट बाद वो कमरे में आई, तो उसके हाथ में एक प्लास्टिक की डोलची थी.

मैं बोली- ठीक है भोसड़ी के चोद … भैन के लंड … तू मानेगा तो है नहीं … एक काम करो तुम चुत से लंड निकाल कर कुछ देर मेरी गांड में लंड डाल लो. पम्मी मुझसे पूछने लगी- आपको मुझमें क्या अच्छा लगता है?मैंने कहा- जिंदगी में मैंने पहली बार किसी लड़की को बिना कपड़ों के देखा है … और जब से मैंने आपको देखा है, आपका हर एक अंग मेरी आंखों के सामने घूम रहा है. भाभी एकदम से पागल हो गयी और बेड की चादर को मुट्ठी में भरकर खींचने लगी.

तुम अब निशा से भी मिल चुकी हो … और देख चुकी हो कि हम दोनों आपस में कितना प्यार करते हैं. मैं उनको हल्का करने के लिए वहां से ये बोलते हुए निकल आया कि भाभी आप डरिए नहीं … आप बिंदास सेक्स कहानी पढ़ो … मैं तो खुद भी इसमें अपनी कहानियां लिखता हूँ. एकदम से बोली- आह … आज तो तुमने मुझे कुतिया बना दिया … आह … हाय दैया … कुतिया हूँ मैं तुम्हारी … मुझे अपनी कुतिया बना कर चोदो … चोद डालो मुझे। चोद चोद कर मेरा रस निचोड़ दो.

गीत इससे मचल गयी और मज़े से छटपटाने लगी और कहने लगी- ओह … उफ्फ्फ … यहीं पर पिघला दोगे क्या? ऊंह्ह … सी … सी … आह्ह … उफ्फ!मैंने कुछ देर उसकी चूत को चूसने के बाद उसकी चूत को छोड़ा और एक बार अपने हाथों से उसके जिस्म को मसलने लगा. नीरजा छोटे दादा के बेटे, मतलब मेरे पापा के कजिन(मेरे चाचा लगे) की साली की बेटी थी.

अब तक की मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागनर्स से रोमांस और सेक्स की कहानी-1में आपने जाना कि मेरी दोस्ती एक नर्स से हो गयी.

इसका मुख्य कारण यह था कि होटलों में सीढ़ियों पर केवल होटल के सफाई कर्मचारी ही जाते हैं.

फिर मैंने आंटी को लिटा दिया और उनकी टांगों को फैला कर उनकी चूत की चाशनी को चाट कर चखा. हम वॉशरूम जाकर एक दूसरे को धोकर वापस बाहर आ गये और नंगे बदन ही एक दूसरे से लिपट कर सो गये।इस जीजा साली सेक्स की कहानी पर अपने कमेंट्स के जरिये फीडबैक दें।लेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दिया जा रहा है. अब मैं मन बना चुका था कि आज इसकी चूत को ऐसा चोदूंगा कि ये सब कुछ भूलकर मेरे लंड का ही गुणगान करेगी.

आपको मेरी गांड मराने की सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे अपना प्यार अवश्य दें. थोड़ी देर में भाभी की सिसकारियां और आवाजें बेतहाशा बढ़ गई- आई … आई … आ … आ … ईई … ओ … ईई. वह धीरे धीरे नीचे होते हुए लंड पर बैठने लगी और मेरे मोटे लंड को अपनी तंग चूत में समाने की कोशिश करने लगी.

मुझे याद आ गया कि ये वही लड़का था, जिनकी गांड में नसीम ने दो उंगलियां ठूंस दी थीं.

मैं- आंटी, मैं आपको परेशान तो नहीं कर रहा हूं?वो बोली- नहीं, बिल्कुल नहीं. मैं बाथरूम गया, पेशाब किया और पसीने से तरबतर अपने शरीर को राहत देने के लिए मैंने शावर खोल दिया, तभी मनजीत बाथरूम में आई और मेरी पीठ से चिपक गई. इधर नेहा भी संजय का लंड अपने हाथ में लेकर चूस रही थी और संजय भी लंड चुसाई से मदहोश होकर सिसकारने लगा था.

मैं जानती हूँ बहुत दिनों बाद मैं अपनी कहानी लिख रही हूँ और मेरे सभी प्रशंसक बेसब्री से मेरी कहानी का इंतजार करते हैं. हुआ भी यही, भले प्रिंसीपल बात कर रहे थे … लेकिन उन्होंने मेरी नंगी गांड को देख लिया. वो एकदम मदहोशी में बदहवास हो चुकी थी।मैंने उसे अपने नीचे दबा लिया और अपने शरीर को उसके नंगे बदन से रगड़ने लगा.

मैं अब उसके सामने ब्रा और पैंटी में टांग खोल कर बैठी थी और वो मेरे जिस्म को निहार रहा था.

चूंकि मैं दिन भर घर पर अकेला रहता था इसलिये मौके की कमी नहीं थी, बस दिक्कत यह थी कि बात शुरू कैसे हो. वो मुझसे बोली- रमित, मेरी बेस्ट फ्रेंड नैना को मेरी तरफ से एक अच्छी सी ड्रेस ला कर गिफ्ट कर देना.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में उन्हीं के बदन को देखकर मैंने सीखा था कि खुद को खुद से मजा कैसे देते हैं. और सचिन जिस व्यक्ति के बारे में बता रहा था, मैं उसे ही आजमाना चाहती थी।मैंने तुरंत ही सचिन को फोन लगाया.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में इधर संजय ने भी नेहा की चूत और मम्मों को चूस चूस कर उसकी सिसकारियां निकलवा दी थीं. कई बार जब अनिल मनोचा पीकर सोफे से उठ नहीं पाते तो नैन्सी आकाश को ही फोन करके बुलाती थी, और इसके लिए उसने चुपके से जीने की एक डुप्लिकेट चाभी उसे दे रखी थी.

मुझे मेल करके बताएं कि मेरी गांडू सेक्स कहानी कैसी लग रही है?आपका आजाद गांडूकहानी जारी है.

हिंदी सेक्सी मूवी फुल हद

और फिर मैंने उसका लंड पकड़कर मेरी चूत में लगाया तो उसने एक झटके में पूरा लंड अंदर डाल दिया. तो स्वरा को बाथरूम में खड़ा करके मैंने अपना रेजर उठाया और उससे कहा- खोलो अपनी सलवार, पांच मिनट का काम है और तुम टाल रही हो. जब उसकी चुत की दीवारों पर लंड का पानी पड़ा, तो वो भी कामुकता की चरम पर पहुंच गयी और साथ ही झड़ने लगी.

उधर मेरे हर धक्के से मम्मी के मुँह से जोर से सिसकारियां निकल रही थीं. वो अपने हाथ से मेरी मिडी उठा कर मेरी चूत में उंगली कर रहा था, जिससे मैं गर्म होने लगी थी और दोनों का साथ दे रही थी. भैंसा इतना मस्त और जवान था कि उसने तुरंत भैंस के ऊपर फिर छलांग लगाई और तेजी से अपना लंड भैंस की चूत में घुसा दिया.

5 मिनट किचन का काम करके सरोज ने मुझसे कहा- मैं अभी एक बार लड़कियों को देख कर आती हूँ.

तभी अचानक भाभी जी तेज़ी से मेरे कमरे के अंदर आ गयी और कहने लगी- ये क्या कर रहे हो देवर जी?मैंने तुरंत फ्रेंची (अंडरवियर) को ऊपर किया।अब मैं क्या कहता … मैंने कहा- कु … कुच्छ … कुछ नहीं भाभी … बस वो ऐसे ही मैं तो …भाभी बोली- मैं सब देख रही थी. रति बोली- नहीं …नहीं … गांड नहीं रमेश।रमेश- करने दो ना डार्लिंग? कब से तुम्हारी यह गाँड मारने की इच्छा है मेरी लेकिन तुम हो कि अब तक इस छेद को तुमने कुंवारा ही रखा हुआ है. उन्होंने मुस्कुरा कर वादा किया कि वो न तो नाराज होंगी, न ही किसी को कुछ बताएंगी.

थोड़ी देर के बाद उसने मुझे ऊपर आने के लिए कहा। मैं नीचे लेटा गया और वो मेरे लंड के ऊपर बैठ कर झटके लगाने लगी और मुस्करा कर बोली- मुझे इस पोज में बहुत मजा आता है क्योंकि ऐसा लगता है जैसे मैं तुम्हें चोद रही हूं. भाभियों व समस्त लड़कियों से निवेदन है।मेरा ईमेल है[emailprotected]आप मुझसे हैंगआउट पर भी जुड़ सकते हैं।. उसकी चुत की पैंटी पर लगा हुआ चॉकलेट रस अपनी जीभ पर लिया और उसके पैरों से लेकर चुत तक लगा दिया.

मैंने उन दोनों के लवड़ों को अपने हाथों से पकड़ा और आगे पीछे करने लगी. नीरजा इठला कर बोली- अच्छा … मौका मिलता तो क्या करते?मैं- कल रात में जो किया था, क्या भूल गई उसे?नीरजा- रात को तुमने ठीक नहीं किया.

यह सुनकर मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ कि चलो निष्ठा के साथ तीन चार दिन और अकेले रहने को मिलेगा. मैं- तुमने क्या सोच कर हमारी बैंक के उन आदमियों के साथ सेक्स किया? साली रंडी! उस कार में बैठने से पहले तुम बहुत उत्साहित दिख रही थी. मगर अब तो तेरा मामा चुत चोदता ही नहीं है, तो मैंने तुम्हारा लंड चुत में ले लिया है.

अब मुझे शर्म लग रही थी।मैंने कहा- भाभी, आपने मेरा अंडरवियर क्यों धोया?तो भाभी बोली- मैंने इतने सारे कपड़े धोये थे, वो भी धो दिया.

हम भी तो मिलें आपके दोस्त से।बीवी की ख्वाहिश पर रमेश बोला- ठीक है, कोशिश करुँगा. कुछ देर बाद मां नहाकर बाहर आ गईं और मुझे आवाज देकर बोलीं- हर्षद अब तू जा और जल्दी से नहा के आ जा. मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए उसे चूमा और करवट लेकर उसे फिर से नीचे कर लिया.

जब भी दोपहर को वो कॉलेज से आता तो अपना खाना अपने कमरे में मंगवा लेता और मुझे कभी अपना लंड चुसवता तो कभी घर खाली होने पर मेरी चूत भी बजा देता।अब मेरे जीवन में रोज़ चुदना लिखा है।मेरी चूत की चुदाई स्टोरी पढ़ने के लिए धन्यवाद. आंटी जब ड्रेस चेंज करने गई थीं … तो अपने बदन पर सेक्सी परफ्यूम लगाकर आई थीं.

फिर भी मैंने उसे खरीद ही लिया और उम्मीद करने लगा कि खुशी को यह मूर्ति बहुत पसंद आयेगी।अब वो वक्त भी आ गया जब मुझे खुशी तक ले जाने वाली ट्रेन में सवार होना था. नैना के सामने तो पोर्न स्टार भी कम लगे, पूरे नशे में होकर बड़े मज़े से लंड चूस रही थी. जोर जोर से निकलती उसकी आहें पूरे कमरे में गूँज रहीं थीं। मैं उसके फूले फूले गुलाबी गालों को अच्छे से चूमते हुए धीरे धीरे उसकी चूत में झटके लगा रहा था.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो साड़ी वाली

सरोज ने दोनों कपड़े निकाले और चौड़ी टांगें फैला कर बेड पर लेट गई और मुझसे कहने लगी- आओ मेरे राजा, चोदो अपनी रानी को.

अस्मि चली गयी और थोड़ी देर के बाद अपने हेयर स्टाइल को एक चोटी में बदल कर आ गयी जिससे वो एक हॉट सेक्सी कॉलेज गर्ल लग रही थी. इन सब बातों में दस मिनट हो चुके थे और इसी के बीच मीता मेरे लंड से बराबर खेल रही थी. उसने थोड़ी देर बाद कार एक वाइन शॉप के आगे रोकी और जाकर दो बियर और एक व्हिसकी ले आया.

फिर थोड़ी देर बाद उसने मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी चूत मारने लगा. मिलने दो इस बार उसको, तब उसे अच्छी तरह समझाऊंगी कि ऐसे किसी मर्द के साथ कैसे पेश आते हैं. सेक्सी दिखने वालीथोड़ी देर में दोनों खाने के लिए नीचे आ जाना।मेरा कमरा पहली मंजिल पर था। मैंने उसे चलने का इशारा किया तो वो मेरे पीछे-पीछे आने लगी। रूम में पहुंचने पर मैंने उसे बैठने को बोला.

अब वो फटाफट वाशरूम जाकर अपने को फ्रेश करके कपड़े पहन के एक बार ऊपर गया. किसी महिला के साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाना मेरा उद्देश्य नहीं लेकिन जब सम्बन्ध हों तो शारीरिक सम्बन्ध बनाना महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि शारीरिक सम्बन्ध प्रेम की पराकाष्ठा होते हैं.

वो बोलीं- तो ठीक है, तो फिर आज रात को यहीं क्यों नहीं रुक जाते मेरे पास? मैं घर में अकेली होती हूं तो बहुत डर लगता है. मां मेरे कान पर मुँह रखकर बोलीं- आंह हर्षद … मैं बस झड़ने वाली हूँ … मुझसे अब नहीं रहा जाता. कुछ धक्कों के बाद उसके सब्र का बांध टूट गया और वो गिड़गिड़ाने लगी- आह … मर गई … अम्मी … अब बस करो … छोड़ दो और नहीं … आह नहीं … बस … आह बस करो … उंह बस बस.

अब आगे:मैंने कहा- ऐसा क्या देख लिया मेरी आंखों में, जो इतना शरमा गई?उसने कहा- अब और मत छेड़ो, आपकी आंखें नशीली हैं, मुझे मदहोश कर रही हैं. एयरपोर्ट पर जब निशा अन्दर जाने के मुझे बाई और अपना ख्याल रखने के लिए बोल रही थी, तो उसने बोला था- रमित नैना का ख्याल रखना. अगर आप मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओगी, तो दिल की बातें आपके साथ करने में मुझे हिचक नहीं होगी.

बेड पर भाभी पीठ के बल लेट गई और मुझसे बोली- रानी, एक बार मेरे ऊपर आ जाओ.

वो मुझसे पूछने लगी- फिर भैंस और भैंसा की कितनी चुदाई देखी?मैंने कहा- भाभी, इस भैंसा ने तो भैंस की लगभग तीन चार घंटे में बीसियों बार चुदाई की और फिर भी उन दोनों का दिल नहीं भरा था. अस्मि ने अपनी प्रोफाइल में लिखा हुआ था कि वह 21 साल की एक बहुत ही चुदक्कड़ लड़की है.

मेरे कहने का मतलब मेरे लंड को अपने मुँह लेकर आइसक्रीम की तरह चूसने लगी. ए (प्रथम वर्ष) में ब्रा पहनना शुरू किया था।मेरे पड़ोस में एक लड़की रहती है, वो कक्षा नौ में पढ़ती है और उसकी ब्रा का साइज 32 सी है जबकि उसकी ये उम्र समीज पहनने की है बहुत मोटे स्तन हैं उसके।दोस्तो, हमारे यहां बन्दर आ जाते हैं और खाने पीने की चीजें या कपड़े इत्यादि ले जाते हैं. करीब एक घंटे बाद मोबाइल पर फोन की घंटी बजने से हम दोनों की आंखें खुलीं.

मैं अपनी जीभ को उसकी चूत में उतार कर उसकी चूत को जीभ से कुरेदने लगा. हमने अपने कपड़े पूरी तरह से ठीक ठाक किये और फिर वहां से बाहर निकल आये. तो चलिए शुरू करते हैं।दोस्तो, मैंने भाभी की सुहागरात की चुदाई लाइव देखी थी.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में उसके सर के ऊपर उसके रिश्तेदार भाइयों ने रस्मी चूनर और आकर्षक पुष्प का छत्र बना रखा था. ऊपर से वो शायद सिंगल हैंडेड ड्रिवन थीं, समझदार थीं, अगर मुझसे पट गईं … तो मेरी तो किस्मत ही खुल जाएगी.

बच्चे के सेक्सी वीडियो

और फिर एकदम से निकाल के चूत में लंड घुसा दिया और चोदने लगा।मैं अब पूरे मजे ले रही थी- आहह … सुनील. उसके बाद जल्दी से उसने मेरे लिए खाना रेडी किया और मैं उसके पति के आने से पहले खाना खाकर अपने रूम में चला गया। अब हम रोज ऐसे ही रहते. हम काफी देर तक वहां पर नहाते रहे और एक दूसरे के जिस्मों से खेलते रहे.

मैंने कहा- भाभी जी, आप कब तैयार होंगी?तो भाभी ने कहा- मुझे नहाना है. मेरे दास बन चुके मेरे कॉलेज के जूनियर ने बहुत ही मस्त तरीके से मेरी गांड को चाटा और मेरे चूतड़ों को भी चाटा. बर्तन कैसे धोते हैंएक दिन मैं उनके किचन में उनके पीछे खड़ा हो गया था और उनके साथ मस्ती करने लगा था.

रोमांच और कामुकता के शिखर तक पहुंचाने का वादा है मेरा।अब कहानी बड़े रोमांचक दौर में पहुंच रही है.

बस तू एक गर्मागर्म कॉफ़ी पिला दे बस; और वो मेज पर दवाई की एक खुराक और है वो भी दे दे साथ में!” मैंने कहा. मैं बहुत खुश हो जाता हूं क्योंकि सेक्सी वेबकैम मॉडल के साथ मनचाहे इन्सान के बारे में सोचकर सेक्स का मजा लिया जा सकता है जो असल जिन्दगी में बिल्कुल भी संभव नहीं है.

फिर सर ने टेबल पर रखे सामान से तेल उठाया और मेरी चूत में तेल लगा कर उसे चिकनी कर दिया. मैं- रंडी की औलाद, तुम्हें जान कर खुशी होगी कि तुम मेरी सेवा करने के लायक हो।उसके बाद मैंने उसको डॉगी पोजीशन में कर लिया और कौड़े को उसकी गांड की दरार में लगा दिया. सेक्सी भाभी की कड़क चूची मेरे हाथ में आईं तो मैंने उनको जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया.

” सानिया ने शरमाकर अपनी मुंडी झुका ली।ओह … कोई बात नहीं तुम एक काम करो मैं तुम्हें मधुर की पेंटी और ब्रा दे देता हूँ उसे पहन लो.

मेरा भाई बोला- तो ठीक है … फिर फ़ोर-सम का मजा भी आ जाएगा, चलो मुझे कोई दिक्कत नहीं है. वो उसे परासिया के बाबाजी का आशीर्वाद देने के नाम पर मेरे यहां छिंदवाड़ा ले आया. वो बड़ी मस्ती से लंड चूस रही थी और मैं आंखें मूंदे लंड चुसाई का मजा ले रहा था.

52 भैरव के नाममगर एक दिन एक ऐसी घटना हुई कि हम दोनों की ये दोस्ती सेक्स तक पहुंच गयी. चूंकि मनजीत घोड़ी बनी हुई थी इसलिये मेरे लण्ड का दीदार नहीं कर पा रही थी.

सेक्सी फिल्म भेजो सेक्सी सेक्सी

उसकी चीखें बढ़ती देख रवि ने उसके होंठों को अपने होंठों में भींच लिया और दोनों उसकी गांड को फाड़ने लगे. वो रवीना के पीछे से चिपट गयी और अपने हाथों से उसके मम्मे दबाने लगी. बीच में कोई उतरने वाला भी नहीं था, तो ड्राईवर ने बस के अन्दर की लाइट नहीं जलाई थी.

वो अपनी कॉलेज लाइफ से लेकर विदेश में मसाज के दौरान सेक्स कर चुकी थी. पर शायद उसकी चूत से बहते खून की गर्मी अभी मुझसे बहुत कुछ कराने वाली थी।किट्टू थी कि मुझे नोचने के साथ साथ काटने भी लगी थी. उन्होंने झीना सा गाउन पहना हुया था, जिसमें उनकी ब्रा और पेंटी साफ़ दिख रहे थे.

उसके बाद रमेश ने रति की दोनों टांगों को हवा में उठा दिया और चूत को चोदने लगा. मुझे जल्दी से नंगा करके घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आकर अपना लण्ड मेरी गांड के छेद पर टिका दिया. बस भाभी थोड़ी भारी थी और उनकी चूत थोड़ी फूली हुई थी जिसमें से एक बच्चा निकल चुका था जिससे भाभी का छेद भी थोड़ा खुला हुआ था.

भाभी बोली- राज- मेरा होने वाला है तुम भी अपना कर लो, साथ में झड़ेंगे. मैंने तुरंत झुक कर चूत को चूमना और चाटना शुरू किया; चूत चाटने से साली जी फुल मस्ती में आ गयी और अपनी ऐड़ियां बेड पर रगड़ने लगी.

अब धीरे धीरे हम अपनी पर्सनल लाइफ भी एक दूसरे के साथ शेयर करने लगे थे.

हम तीनों एक दूसरे में मग्न हो गए थे … लेकिन हम लोगों की ऐसी हरकतें कुछ लोगों को पसंद नहीं आईं. कुत्ता काटने पर क्या नहीं खाना चाहिएचलिये देखते हैं कि आपको उत्तेजना आती है कि नहीं?अस्मि ने अपनी स्कर्ट को पेट तक चढ़ा लिया और उसकी मोटी गांड जिस पर नेवी ब्लू रंग की पैंटी कसी हुई थी, वो अपनी गांड को नागिन की तरह लहराने लगी. सेक्सी 17 सालअपनी बीवी के बूब्स को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए वो बोला- क्या कर रही हो जानू?रति- आप भी ना! कभी-कभी आप बिल्कुल बुद्धू जैसी बातें करते हैं, देख नहीं रहें हैं कि मैं अपना काम कर रही हूँ?रमेश- चलो ना डार्लिंग, एक बार हो जाए।रति- छी: जब देखो तब शुरू हो जाते हो. बारी बारी से मेरे दोनों निप्पलों को चूसने के बाद उसने बिना कहे मेरा लंड सहलाते हुए अपने मुंह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगी.

जिया- हम्म … सच में राज बहुत लक्की है … वर्ना उसे आप जैसी शादीशुदा औरत के साथ मजा करने को थोड़ा मिलता.

फिर से मम्मी तिलमिलाकर चिल्लाने लगीं- हाय रे हर्षद फट गयी मेरी चुत … ऊई मम्मी ओह हाय अंह अंह हुँम हुँम. पर जब उसके स्तनों पर उसकी बांहों का दबाव पड़ता तो स्तनों का उभार उसके कन्धों के नीचे साफ साफ नज़र आता. और जब उसके जिस्म के कम्पन शांत हुए तो उसका भुज बंधन भी ढीला पड़ गया.

उसे पूरे बदन में, रोम रोम में, उर्जा का विस्पोट हो रहा था और बदन हिल रहा था. हम दोनों ही एक दूसरे का पूरा साथ दे रहे थे।मेरे दोनों दूध उनके सीने पर दबे जा रहे थे।उनका हर एक धक्का मेरी आह निकाल रहा था।मुझे तो लग रहा था कि आज मेरी चूत का भर्ता ही बन जायेगा।लगभग 20 मिनट तक लगातार मेरी चुदाई होती रही मैं 2 बार झड़ चुकी थी मगर पता नहीं वो कब झड़ते!और फिर उनकी रफ्तार एकाएक बहुत तेज़ हो गई. वो भी ‘मेरी जान … आज तेरी चूत फाड़ दूंगा साली … आआह्ह मेरी जान … मुझे अपना बना ले मेरी जान!’ और पता नहीं क्या क्या बके जा रहा था.

जानवर वाली सेक्सी जानवर वाली

लेकिन लाइट कम होने की वजह से मैं अच्छी तरह से मजा नहीं ले पा रहा था. तभी उसने एक और झटका मारा और पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में समा गया. मुझे पता था कि आज ब्यूटी और स्मार्टनैस की अघोषित प्रतिस्पर्धा होने वाली है.

दो तीन बार उंगली में क्रीम लगाकर मनजीत की गांड की मसाज करके मैंने पूछा- कैसा लग रहा है, मनजीत?कुछ न पूछो, विजय.

मेरा लण्ड बहुत तगड़ा है, मतलब? और कितने लण्ड खा चुकी हो?”हम पर विश्वास करिये, साहब.

उसने उस वक्त एक नाइटी पहनी हुई थी जिसमें उसकी गोल गोल गांड साफ साफ उभरी हुई थी. उसके घूमते ही उसकी नज़र सीधे मेरे मम्मों पर पड़ी … चूंकि चोली मोटे कपड़े की होने की वजह से मुझे ब्रा पहनने का मन नहीं था. अक्षरा सिंह सेक्स फोटोसमीप आकर दोनों अप्सराओं ने हाथ बढ़ाकर परिचय देने से पहले ही कहा- वाहह, तुम तो उम्मीद से ज्यादा हैंडसम हो.

तो चिकनाहट की वजह से उसके लंड का मुंह मेरी गांड में घुस के अटक गया. फिर दूसरे पैग पीते हुए एक ने आइडिया दिया- यार यूं ढके ढके से रह कर शराब पीने में कोई मज़ा नहीं है, क्यों न खुल्लम खुल्ला होकर शराब पी जाए. तुम दोनों अपनी पोजीशन बदलटि रहो … मुझे नहीं पता होगा तुम अभी वाली स्थिति में हो या अदल बदल कर ली … फिर मैं घूमूँगा और जिसकी चूची मेरे हाथ में आ गयी वो बाद में चुदेगी … ध्यान से सुन जिसकी चूची हाथ में आ गयी वो बाद में चुदेगी … ठीक है?दोनों रानियों ने सिर हिला कर हामी भरी.

भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया था उन्होंने मुझे नीचे उतार दिया और करवट लेकर अपनी एक उंगली को मेरी चूत में डाल दिया. आंटी कहने लगी- तुम्हें पता है वह भैंसा किस लिए रखा जाता है?वैसे तो मैं जानता था लेकिन अनजान बनते हुए मैंने आंटी से कहा- नहीं आंटी, मैं नहीं जानता किस लिए रखा जाता है?आँटी मुस्कुराई और बोली- मैं बताती हूँ तुम्हें … किस लिए रखा जाता है.

अब मेरे मुंह से निकल गया- वो सब तो ठीक है! पर खुशी है कहां?भाभी जी थोड़ा और हंसी और आँखें मटकाते हुए कहा- संदीप जी, उसकी शादी है.

इधर दूसरी ओर ऊपर से संजय भी उसके एक मम्मे को हाथ से दबा कर दूसरी चूची पर जीभ घुमा रहा था. तो मैंने धीरे-धीरे से पैंटी के कपड़े को तान तान कर एक जोर के झटके के साथ उसे भी फाड़ दिया. फिलहाल आप फ्रेश हो जाईये, मैं अवसर देखकर आपको उससे मिलवाती हूँ।फिर भाभी ने होटल की एक और सुंदरी को इशारा करके बुलाया और कहा- साहब को 36 नं.

सेक्सी बॉलीवुड फिर मैं रूम में पहुंच गयी और मैंने वो कौड़ा निकाल लिया जो हमने रास्ते में खरीदा था. फिर हम लोग शाम को अस्पताल चलेंगे, मुझे दीदी और अपने भानजे को देखना है आज!” वो बोली.

मेरी सारी बात सुनने के बाद मनजीत बोली- देखो विजय, प्रकृति ने स्त्री और पुरुष दोनों को बनाया है, दोनों की भावनात्मक और शारीरिक जरूरतें होती हैं. सुबह रवि ने उससे कहा कि रात की बात को दोनों को भूलने में ही समझदारी है. मैंने अपनी जीभ को नेहा की चूत के अंदर डाल दिया था और पूरी तरह नेहा की चूत को चूस रहा था जिससे नेहा मचलने लगी थी और उसके मुंह से मजेदार सिसकारियां भी निकलने लगीं थीं.

లోకల్ సెక్స్

”अब तो तुम खुश हो ना?”हओ!” सानिया पता नहीं किन सुनहरे सपनों में खो सी गई थी।सानूजान … मैंने तुम्हें इतनी अच्छी खुशखबरी सुनाई और तुमने तो कुछ बोला ही नहीं?”ओह … हाँ थैंक यू सल!” सानूजान तो कहते हुए अब शर्मा भी गई थी।सानू अब दर्द तो नहीं हो रहा ना?”किच्च …”सानू … बस एक बार थोड़ा सा दर्द और होगा फिर देखना तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा. थोड़ी ना नुकुर के बाद वो मान गई और बोली- पार्टी यहां नहीं … मैं चेंज करके आती हूँ … फिर कहीं दूसरी जगह चलते हैं. आज की मजेदार सेक्स सिनेमा हाल में कहानी उसी रजनी के साथ मेरी दूसरी मुलाक़ात की है।पहाड़ों में रजनी का कौमार्य भंग करने के बाद हम फ़ोन पर सेक्स चैट करने लगे। उससे बार बार मुलाक़ात होना पारिवारिक पाबंदियों के चलते मुनासिब नहीं था। मैं फिर से उसके यौवन का रस चखना चाह रहा था.

”रात को 8 बजे मैं मनजीत के घर पहुंचा, उसने दरवाजा खोला और गले लगकर मेरा स्वागत किया. जब हमारी शादी तय हो गई तो हमने चाची से कहा कि हमारी शादी तय हो गई है, अब हम सिलाई सीखने नहीं आयेंगे.

थूक चूत से बाहर निकल कर नीचे बहने लगा, तो राजेश ने अपनी उंगली भी चूत में घुसा दी.

फिर तुम्हें वहां भी तो जाना है, जहां तुम्हें मेरी प्रतिभा की प्रतिभा को जांचने का अवसर मिलेगा. धीरे धीरे मैं नीचे को सरकता हुआ गुड्डी रानी की जांघों तक जा पहुंचा था और तेज़ तेज़ अपनी गीली गर्म ज़ुबान ऊपर से नीचे और दाएं से बाएं फिर रहा था. मैंने पूछा- कहिये मैडम? सफर में कोई परेशानी तो नहीं हुई?प्रीति- नहीं, अब तक तो कोई खास परेशानी नहीं हुई.

मेरा लंड तो पैंट के अन्दर बहुत टाइट हो गया था और इस बात को प्रीति ने भी नोटिस कर लिया था. मेरी पहले वाली कहानियां पढ़ पढ़ के इन दोनों को चुदाई के बाद लंड को जीभ से साफ करने में आनंद आने लगा था. मेला ग्राउंड में दीवाली के करीब पन्द्रह बीस दिनों तक मेला भरता था, बाकी दिनों खाली पड़ा रहता.

मैंने जल्दी में बिन्दू के मम्मों को जोर से दबाया तो बिन्दू सिसकारी लेने लगी.

हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी आवाज में: जैसे ही उसने हाथ उठाये तो रवि ने उसे रोक लिया और बोला- रुको! तुम यह ब्रा और पैंटी अब नहीं पहन सकती।रिया ने आश्चर्य से पूछा- क्यूं नहीं पहन सकती?रवि- क्योंकि ये ब्रा और पैंटी अब मेरे दोस्त रमेश की हो गयी हैं. भाभी कुछ सोचने लगी, फिर बोली- राज, मुझे डर है कि कहीं रोहित कुछ पंगा न कर दे? मैं सोच रही थी कि क्यों न तुम आज से ही सोना शुरू कर दो, सामान कल शिफ्ट कर लेना.

मैंने मामी से कहा, तो वो हंसने लगीं- तू तो कह रहा था कि तेरा लंड गेट तोड़ देता है. चुदास की गर्मी थी और पहला मिलन था, तो कुछ ही पलों में उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया. साली जी, पहले इसमें तेल लगा दो अच्छी तरह से! फिर इसे प्यार से आगे पीछे करना तो ये जल्दी पानी छोड़ देगा और वापिस छोटा हो जाएगा.

देखने में वो गोरे हैं … उनके तीखे नाक नक्श हैं तोते सी नुकीली नाक, पतले गुलाबी होंठ और कद में मुझसे ऊंचे हैं … मैं उनके कान तक पहुंच पाता हूं.

मैं तो शांत पड़ गया था … मगर जब उसने ऐसा किया तो मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और उठ कर उसकी टांगों के बीच में आ गया. मैंने देखा सरोज भाभी ने घुटनों तक की एक घाघरी स्कर्ट और ऊपर एक स्कीवलेस टॉप पहन रखा था. दूसरा दोस्त बोला- कौन सी खिचड़ी पकाई है आप दोनों ने … हमें भी तो पता चले.