एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी mp4 वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

हावड़ा के बीएफ: एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो, मेरे बारे में अधिक जानने के लिए पिछली सेक्स कहानी अवश्य पढ़ें जिसका लिंक ऊपर है.

प्रेग्नेंट वीडियो सेक्सी

समय कम था तो कुछ बातों के बाद चुम्मा चाटी और कपड़े निकालना भी शुरू हो ही गया. सेक्सी वीडियो एचडी सुपरमैंने भाभी का हाथ पकड़ कर कहा- भाभी, आप सच में बहुत सुंदर और सेक्सी हो.

वो हंसती हुई अन्दर चली गई और हम दोनों राहुल के कमरे में पढ़ाई करने आ गए. हिंदी सेक्सी चुदाई की फोटोवो थक रही थी तो मैंने लंड निकाल कर उसकी चूत पर मुँह लगा दिया और चूमना और चाटना शुरू कर दिया.

फिर मैंने अपनी मम्मा को अपनी प्रेमिका बना कर उनकी जवानी में भी चोदा.एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो: मेरी Xxx वाइफ हॉट स्टोरी में पढ़ें कि मेरी बीवी चुदाई की शौकीन है, वो मुझे अलग अलग तरीकों से रिझा कर मेरा लंड खड़ा करके सेक्स का मजा लेती है.

लंड अन्दर घुसा तो उसके मुँह से दर्द और आनन्द दोनों की मिश्रित आवाज़ निकली.खाना खाते वक्त मेरे पति भी मेरी बहुत तारीफ कर रहे थे कि मैं आज बहुत खूबसूरत लग रही हूँ.

सेक्सी 18 साल लड़की - एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो

अमित मेरे पास आया और मेरा हाथ पकड़ कर बोला- मुझसे क्या गलती हुई है … बताइए.अब मैंने अपनी जेब से एक सिगरेट निकाली और उसकी तरफ देखते हुए कहा- मैं जरा बाहर की तरफ जा रहा हूँ.

मैंने तुरंत अपनी जान को कॉल किया और उसे बताया कि तैयार रहना … आज तेरी सुहागरात है. एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो मैं उसके साथ बातचीत करते हुए जब रोने लगी तो उसने मुझे अपनी बांहों में कस लिया.

दोपहर को हॉस्पिटल चैकअप में उनका प्लास्टर निकाल दिया गया और फिजियोथैरेपिस्ट ने उनके पैर का ध्यान रखने का बोला.

एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो?

लोग अपनी परेशानी लेकर आते हैं, मैं उनको समझता हूं और उन्हें सही दिशा ज्ञान देता हूं. मिनी प्यार में पागल प्रेमिका की तरह आंखें बन्द करके किस करने में लगी हुई थी. मेरा पूरा रस निकलने के बाद उसने बड़े प्यार से मेरे लंड को अपनी जीभ से चाट चाट कर साफ कर दिया.

एक तो आधी रात … ऊपर से ये सुनसान छत … हमारा डर इन सब बातों से चुदाई को और ज्यादा कामुक बना रहा था. थोड़ी देर बाद जब उसे होश आया कि वो कहां पर है, तो वो बिना कुछ बोले वहां से चली गई. सौम्या डार्लिंग मुझसे चुदने की भीख मांगने लगी तो मैंने उसकी चूत के द्वार पर अपने लंड का सुपाड़ा रखा और झटके से आधा लंड सौम्या की चूत के अन्दर डाल दिया.

सरिता की चूत अन्दर से पूरी तरह से गर्म हो गयी थी, पूरी चूत गीली होकर मेरे लंड को भी गीला कर रही थी. हाय … आगे का सीन सोच कर ही सिहरन होने लगी मेरे पूरे शरीर में!जेठ जी ने मेरी चूत के होंठों को हाथ से अलग किया और मुंह रख दिया चूत पर!मैंने तो हिचक के चूत को अंदर दबा लिया और मेरी टांगें आगे की ओर आ गई और जेठ जी मेरी टांगों के बीच दब गए।जेठ जी ने फिर टांगों को जोर से अलग करके पकड़ लिया और चूत में अपनी जीभ घुसा दी।मैंने जोर से बेड पर अपना हाथ और सिर पटका. उनकी नंगी चूचियां देखकर मेरा तो मुँह खुला का खुला रह गया, गला सूखने लगा.

रास्ते में हमारे बीच थोड़ी बहुत बातें हुईं और हम दोनों शादी में पहुंच गए. ये सुनते ही मैंने एक जोर का धक्का लगाया और लंड एक ही बार में अन्दर चला गया.

Xxx ऑफिस सेक्स कहानी मेरे दफ्तर में नयी आई मेरी जूनियर सहकर्मी भाभी की है.

इसके बाद से मेरे दिमाग में कुछ कीड़ा घुस गया था तो मैं अपनी दीदी पर नजर रखने लगा.

मेरा लंड पूरा गर्म हो रखा था, तभी मैं उसे चूमने लगा … तो वो थोड़ा शांत होने लगी. उसके मुँह से ज़ोर ज़ोर से आह्ह आह्ह की सिसकारियां निकलने लगीं, साथ की साथ मेरे हाथ उसकी चूचियों को भी मसल रहे थे, तो वो अपनी कामोत्तेजना के चरम पर आती जा रही थी. शिल्पा ने एक हल्की सी आह निकाली और अगले ही पल वो फिर से मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

थोड़ी ही देर में शिल्पा चाय लेकर आई और बोली- लो यश चाय पी लो, दीदी ने बनाई थी. मैं एक मस्त जवान आदमी एक बड़े कोचिंग कॉलेज में टीचर हूँ जहाँ लड़कियां और लड़के साथ साथ पढ़ते हैं और फिर बड़े बड़े कम्पटीशन वाले एक्ज़ाम्स में बैठते हैं। मैं उन सबकी तैयारी करवाता हूँ. पहली बार में उसकी चूत का रस कुछ ही मिनट में निकल गया लेकिन मैं रुका ही नहीं, मैंने ताबड़तोड़ चुदाई चालू रखी.

मैं वैसे तो शर्मीले मिजाज़ का व्यक्ति हूं यानि कि लड़कियों से बात करने में घबरा जाता हूं, धड़कन बढ़ जाती है.

मुझे सुबह देखी हुई रानी की चूचियां और बालों से भरी चूत दिखाई देने लगी, जिससे मेरा लंड खड़ा होने लगा. इतना सुन कर धीरू ने लुंगी निकाल कर अपने लौड़े को मेरे सामने कर दिया. पहले मुझे वो बहुत सीधी सादी लगती थी पर बाद में मैंने पाया कि नहीं, मैं गलत हूँ.

इतना होने साथ मेरे अन्दर की औरत धीरू के सामने धराशायी हो गई और उनसे लिपट गई. वो अपनी खुरदरी जीभ लंड पर चला रहा था और एक हाथ से मेरी गांड पर अपना हाथ फिरा रहा था. चूत चाटकर मैं एक बार फिर उसकी चुदाई के लिए लंड चूत पर लगाकर तैयार था.

उन्होंने मुझे कॉल बैक किया और कहने लगीं- अरे गुस्सा क्यों होते हो?मैंने कहा- गुस्सा ना होऊं … तो क्या करूं?फिर वो कहने लगीं- जो आज हमारे बीच हुआ, उसे हमें एक प्यारी सी नादानी समझ कर भूल जाना चाहिए.

तो मम्मी घर फोन कर बता दिया कि आज उन्हें डॉक्टर के यहां रूकना पड़ जायेगा।फिर डॉक्टर ने उन्हें इंजेक्शन लेने के लिए साड़ी उठाने को कहा. ये थी मेरी पहली देसी भाभी चुदाई की कहानी, आपको कैसी लगी सेक्सी भाभी की चुदाई स्टोरी.

एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो इसके बाद नीरू ने खुद ही अपने मुँह को मेरे लंड पर लगा कर उसे चूमा और कहने लगी कि मेरा कमीना बड़ा प्यारा है. मैंने आंखें खोलीं और उसे देख कर कहा- वाह, सुबह सुबह से सुन्दरी के दर्शन हो जाना कितना अच्छा लगता है.

एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो इससे पहले मैंनेसौतेली मॉम की चूत में कुंवारे बेटे का मूसल लंडमें आपको बताया था कि मैं जब अपनी स्टेप मॉम को होटल में चोद रहा था, मेरी पहचान जानने के बाद एकदम शांत हो गई थीं. जिनल धीरे धीरे बोल रही थी- आंह इस्स आह आ मेरी जान … साले भड़वे मेरे चूचे निकाल कर चूस … बहुत तंग कर रहे हैं इतने बड़े बड़े हो गए हैं और कोई मादरचोद इन्हें चूसने वाला ही नहीं है.

उसने फिर से कहा- आह हरामजादे इसे चाट न … मेरी चूत खा जा!मैंने अब भी चुत नहीं चाटी.

3 सेक्सी फोटो

जैसे ही मैंने उसके पायजामा का नाड़ा अपनी उंगलियों में फंसाया तो उसने अपना पेट ढीला कर दिया. लेकिन 10 मिनट तक विलियम नहीं आया मेरी बेचैनी बढ़ने लगी क्योंकि मुझे अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था. अब मैंने रिया के ऊपर लेटकर उसके एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया और नीचे से एक कसकर धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से आधा लंड चुत में घुस चुका था.

रेखा अपने दोनों हाथों से मेरा सर सहलाने लगी और मेरा सर अपने स्तनों पर दबाने लगी. फिर हम दोनों ने एक होटल में खाना खाया और मैं उसको घर छोड़ने जाने लगा. उसने मेरी टी-शर्ट को पूरी तरह से हटा दिया और मेरे कानों को चूमने काटने लगी.

मैंने कहा- इससे अच्छा क्या हो सकता है!इस तरह नॉर्मल बात हुई हमारी, और नंबर भी एक्सचेंज हुए.

हालांकि मैं अपने पति से गांड मरवा चुकी थी, तो मेरे लिए गांड मराना कोई नई बात नहीं थी. दोस्तो, उसकी इस बात से मेरे लंड ने इतनी जोर का झटका मारा कि मुझे लगा कि मेरा पानी अभी निकल जाएगा. इतने पैसे तो मेरे पास हैं कि मैं यह ड्रेस तो आपको दिला ही सकता हूं.

दीदी के आने की सुनकर मेरे मन में उस रात का दृश्य याद आने लगा था कि कैसे दीदी का ब्लाउज खुला हुआ था. दीदी की चूत का रस नमकीन था और मुझे वासना के नशे में वो अमृत सा लग रहा था. शनाया पहले हाथ में लंड पकड़ कर हिलाने लगी और अपनी जीभ से टोपे को चाटने लगी.

तभी मैंने उनसे पूछा- शीला भाभी … जल्दी बोलो कहां निकालूं?वो कहने लगीं- अन्दर ही निकाल दो. मेरा मन अभी के अभी उनके मम्मों को जोर से दबा कर सारा दूध निकालने की इच्छा होने लगी थी.

योनि के ठीक ऊपर जहां से पैंटी गीली हो चुकी थी, पर उंगली से मसलने लगा. वो थक रही थी तो मैंने लंड निकाल कर उसकी चूत पर मुँह लगा दिया और चूमना और चाटना शुरू कर दिया. वह बाहर आई तो मैंने हल्की सी आंख मार दी तो बदले में उसने भी स्माइल दे दी.

जैसे जैसे बाइक किसी गड्डे में उछलती, वैसे वैसे दीदी भी चाचा जी के लंड पर उछल रही थी.

इस बार रिया को थोड़ा दर्द का अहसास हुआ और वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी- आईईई … आआउ … ईस्स मार दिया … हरामज़ादे … धीरे से नहीं कर सकता क्या … आह मम्मी मेरी फट गई. मैं समझ गया कि चाची की मजबूरी है, जिस कारण से चाची बात नहीं कर रही हैं. जब मेट्रो बदली तो आजमाने के लिए उसका हाथ छोड़ कर देखा, तो उसने वापस पकड़ लिया.

टीना और जोर से चिल्लाने लगी- मुझे दर्द हो रहा है … बस करो अहह … हय … निकालो अपना लंड. चाची ने मेरी आंखों में देखते हुए अपने पेटीकोट का नाड़ा खोला और पेटीकोट को भी नीचे सरका कर निकल जाने दिया.

एक लंबी किस करते करते उसने अपना लंड बाहर निकाल लिया और मेरे सिर को अपने पैरों की तरफ झुका दिया. मगर उसने पहली बार मना कर दिया, उसने कहा- फिर कभी जीजू, जब हम आराम से सेक्स करेंगे. एक बार मुझे अपने गांव जाना पड़ा। जब दिल्ली से गांव जा रहा था तो मेरे साथ मेरे साढू ( मेरी बड़ी साली का पति) की लड़की नेहा भी गांव जाने के लिए तैयार हो गई।दिनभर ऑफिस में काम करने के बाद शाम के 6 बज रहे थे, हम घर से कश्मीरी गेट बस अड्डा के लिए ऑटो में बैठ कर घर से निकल गए।हम बस में बैठ गए.

ಸೆಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ ಕನ್ನಡ

फिर लेट कर उसकी चूत पर अपना लंड टिकाया और जोरदार धक्के से पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक घुसा दिया.

फ़िर मैंने मुस्कुराते उनसे कहा- इस पानी से कुछ नहीं होने वाला भाभी … मुझे तो आपका रस पीना है. आप सभी ने बहुत सारे ईमेल भेजे, लेकिन मैं सभी को जबाब नहीं दे सका, इसके लिए माफ कर देना दोस्तो. फिर मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लेटा दिया और उसकी पैंटी उतार कर उसकी खूबसूरत गुलाबी चुत पर अपनी जुबान रख दी.

Xxx डॉक्टर फक स्टोरी मेरी सीधी सादी घरेलू मम्मी की चूत गांड चुदाई की है. मैंने बातों ही बातों में ध्यान दिया कि अमित मेरे जिस्म को निहार रहा था. सेक्सी चूत चुदाई ब्लू फिल्मजैसे जैसे मेरी उंगलियां चूत में अन्दर बाहर हो रही थीं, वैसे वैसे शिल्पा की सिसकारियां भी बढ़ती जा रही थीं.

वो हंस दी और उसी वक्त मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उसकी बुर पर रख दिया और वो अपनी बुर पर एक मर्द का हाथ पाकर कांपने लगी. तभी विलास उठकर बोला- यार हर्षद, चलो मैं तुम्हें हमारी खेती दिखाता हूँ.

वो कहने लगी- आह आह मिंटू दुखता है यार … काटो नहीं प्लीज़!मैं एक हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा और दूसरे हाथ से उसके दूसरे मम्मे का हलुआ बनाने लगा. वो मेरे नीचे थी।मैं सोरी बोलने लगा और उसकी चूत ढूंढने लगा अपने लण्ड से!उसने कहा- कोई बात नहीं … आपको तो चोट नहीं आयी?मैं- नहीं, मैं आपके ऊपर हूँ. उसने दो तीन बार मेरे लंड के टोपे को ऊपर से नीचे तक अपनी गर्म गर्म जीभ से चाटा.

उन्हें बहुत लाइक भी मिलते हैं और कमेंट तो इतने ज्यादा कि पूछो ही मत!एक बार जब मैं उनके मोबाइल को लेकर उनकी वीडियो देख रहा था, तभी एक कमेंट आया. फिर आंटी कहने लगीं- अब और खड़ा नहीं हुआ जाता … अब मुझे लेटा कर चोद लो. मैं दीदी की चूत में लंड आगे पीछे करता हुआ अपने होंठों से कभी उनके होंठों को चूमता, तो कभी निप्पल पकड़ कर खींच लेता.

लेकिन उसने मेरी ऐसी आव भगत की कि …हैलो मैं यश वर्मा, एक बार पुन: आपकी सेवा में हाजिर हूँ.

फिर मैंने उसकी पैंटी उठाकर उसके होंठ साफ किए और अपना लंड उसकी चूचों पर मसल कर साफ कर दिया. मैं फुल स्पीड में उसकी चुत की धज्जियां उड़ाने लगा- ले मादरचोद छिनाल साली रंडी ले तेरी बहन को चोदूँ साली हरामिन.

तो रेखा हंस कर बोली- बहनचोद … जिस समय तू मुझे चोद रहा था तब तूने नहीं सोचा कि हम ये रिस्क कैसे ले रही हैं. फिर शिखा के पांव के अंगूठे को चूसते हुए मैं उसकी जांघों तक आ चुका था. बाइक वाले आदमी ने उस लड़के से पूछा- तुम इतनी लू लपट में यहां पर क्या कर रहे हो बे?वो लड़का बोला- कुछ नहीं भैया, दोस्तों के साथ घूमने आया था.

उसने अपनी दोनों टांगें मेरी कमर पर डालकर मुझे जकड़ लिया, अपने पैरों से मेरी गांड पर दबाव देने लगी ताकि मेरा लंड चूत की गहराई में फँसा रहे. पन्द्रह मिनट बाद हम दोनों बाहर आए और अपने अपने कपड़े पहनकर तैयार हो गए. सरिता ने अपने पैरों की पकड़ मेरी कमर पर से ढीली कर दी तो मैं अपना लंड सरिता की चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में ही डाल दिया और हांफते हुए उसके ऊपर लेट गया. उसकी मांसल बाहर निकली हुई गांड, उसकी काले रंग की पैंटी भी दिखने लगी थी.

सेक्सी वीडियो देहाती जंगल की

निशा- आंह अमित अह … अअअहहह … देर न करो … पहले एक बारमुझे चोद दो प्लीज़!लेकिन अभी तो शुरुआत हुई थी. मुझे काम करने दो ना!वो खड़ी होकर कपड़े लगाती हुई बोली- हटो ना हर्षद!वो मुझसे हटने की कह रही थी मगर खुद अपनी गांड की दरार के बीच मेरे लंड को रगड़ने लगी थी. पर मेरे लंड का जोश अभी कायम था; मैंने कहा- चाची अब मुझे आपकी गांड मारनी है.

मैं उससे बोले जा रही थी- देखो तुम गलत कर रहे हो और यह बात मैं सबसे बता दूंगी. मैं उसके घर में घुसा और अन्दर जाकर जीने से उसके ऊपर बने कमरे की तरफ आ गया. सेक्सी वीडियो 15 साल की लड़की काएक बार की बात है जब मेरी कमर में दर्द हो रहा था तो मेरे जेठ का बड़ा बेटा अंकेश बोला- चाची जी, आपकी मालिश करने की जरूरत है.

मैंने पोर्न फिल्मों में तो लंड देखा था लेकिन असली लंड पहली बार तभी देखा था.

मुझे इसका कोई शौक नहीं था पर एक रात सोते हुए उसने मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया और गांड मारने को कहने लगा. जैसे जैसे मेरा हाथ उसकी चूत के पास जा रहा था, वो धीरे धीरे गर्म होती जा रही थी.

वह रवि की गांड मारकर नहीं सिखा सकता क्योंकि विशाल को कुंवारी गांड चाहिए. तभी पापा वहां आए और बोले- बेटा, इन लोगों को खाना खिला दिया?मैंने हां में सर हिलाया. मिनी बोली- मेरी चुत में थोड़ी जलन और दर्द हो रहा है, तुम थोड़ा सहला दो.

मैं कसरती बदन का लड़का हूं।बात उस वक्त की है जब मैं भोपाल में इंजीनियरिंग के आखिरी सेमेस्टर में था.

वो मेरे 7 इंच के लंड को देख कर बोलीं- इतना बड़ा और मोटा!मैं बोला- आपके पति का क्या इतना नहीं है?भाभी कहने लगीं- उसका तो छोटा सा है. वो भी अपनी टांगें खोलती हुई मस्त सिस्कारियां भर रही थी- आह आह राज … आज मुझे चोद दो … मेरी चुत को फ़ाड़ दो … मुझे चोद कर मेरा पानी पानी निकाल दो. जिससे उसको अब ज्यादा मजा नहीं आ रहा था लेकिन फिर भी मैं उसकी चुदाई करे जा रहा था.

3 एक्स सेक्सीघर से कुछ दूर निकलने के बाद मैंने देखा कि लू की वजह से दूर दूर तक कोई भी व्यक्ति नहीं दिख रहा है. मेरा हाथ उनकी चूत पर पड़ते ही वो सिसक पड़ीं … उनकी चूत एकदम गुलाबी और शेव की हुई थी.

ब्लू पिक्चर वीडियो सेक्सी फोटो

वो पल … जब उसके नाज़ुक से हाथ मेरे होंठों से टकराए, ऐसे गोरे हाथ और मासूम से हाथ मेरे होंठों को … आह तो बस यही अहसास आया कि ये पल यहीं रुक जाए. पंजाबी भाभी सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ?पहले तो वो कुछ नहीं बोली किन्तु मेरे जोर देने पर बोली कि मेरी सलवार का नाड़ा नहीं खुल रहा.

मैं भी इसके मुँह को चोदे जा रहा था- आहह आह यस यस साली रंडी आह ले भैन की लौड़ी … और अन्दर लेकर चूस साली!मैं उसके बाल पकड़ कर अन्दर तक चोद रहा था … उसकी आंखें लाल हो गयी थीं. मैंने शिखा की टांगें खोलकर उसकीकुंवारी अनछुई बुरपर अपनी गर्म जीभ से स्पर्श किया. लेकिन एक हॉल में जगह मिल गई जहां तख्त डाले हुए थे और लोगों ने जगह कब्ज़ा रखी थी.

मेरे मुँह से ‘आह मरी …’ की आवाज़ निकली और वो बिना कुछ सुने धक्के देने लगा. सरिता ने अपना एक हाथ मेरी गर्दन के नीचे से डालकर बाहर निकाला और दूसरे हाथ से मेरा सीना और पेट को सहलाने लगी. वो मेरी तरफ हैरानी से देखने लगी तो मैं उसकी 34 की गांड पर थप्पड़ मारने लगा और उसकी गांड लाल कर दी.

वो बोली- अन्दर नहीं आने दोगे या यहीं खड़े खड़े चोद लोगे मुझे?मैंने कहा- हां मन तो कर रहा है कि यहीं दरवाजे पर चोद दूँ. लगातार 5-7 मिनट मेरी चूत चूसने के बाद विलियम खड़ा हो गया और मुझे भी हाथ पकड़ कर खड़ा कर दिया.

’ताबड़तोड़ चुत चुदाई का खेल चल रहा था और वो मस्ती से चुत चुदवा रही थी.

मैं खड़ा हो गया और उसे घोड़ी बना दिया, पीछे से उसकी चूत को चाटने लगा. अंग्रेजी सेक्सी फिल्म खुलासरिता बोली- मेरी चूत के आजू बाजू और जांघों में बहुत दर्द हो रहा है. सेक्सी मुलीचे फोटोमेरा लंड जाकर अन्दर किसी चीज़ से टच हुआ, जिससे मॉम को बहुत दर्द हुआ. मैंने उनके मुँह को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी तरफ किया और उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर जोरदार किस करने लगा.

क्या बताऊं दोस्तो … मेरी बहन गुलाबी रंग की साड़ी में लिपटी हुई एकदम माल लग रही थी.

फिर मैं अपना लंड भी साफ करने लगा और उसी कपड़े से बेडशीट भी साफ कर दी. समीर बिना चड्डी पहने बाहर निकला और राहुल से बोला- साले, क्यों गांड में उंगली कर रहा है … तेरे बहन मेरा लंड चूस रही है … वो कॉफ़ी नहीं पिएगी. जब ट्रेन चलने वाली थी, तभी एक औरत और उसका पति ट्रेन में चढ़ गए और मेरे कंपार्टमेंट में आ कर बैठ गए.

अब शिल्पा भी अपने हाथ को मेरे अंडरवियर में डाल कर लंड को सहलाने लगी. मुझे फ़लक का ब्लैक कलर का फ़ोन काफी अच्छा लगा था जिसकी मैंने एक बार तारीफ़ भी की थी. उस वक्त मुझे इतना अधिक सेक्स चढ़ा कि मैंने आशिमा दीदी की याद करके मुठ मार ली.

ब्लू पिक्चर दिखाएं वीडियो सेक्सी

पर मैंने मना कर दिया क्योंकि उसके लंड पर खून और तेल लगा था जो मैं नहीं चूस सकती थी. कहानी के पहले भागगबरू जवान पर दिल आ गयामें आपने पढ़ा कि एक गोरा चिट्टा, लंबा कद, कसा हुआ कसरती बदन वाला लड़का एक भाभी को भा गया. जब हमारी नजर से नजर मिली तो मैं मुस्कुरा दी और मैंने उसको अन्दर आने के लिए कहा.

अब विशाल खुश रहने लगे थे, वे मोहन को खूब प्यार करते, फिर उसकी गांड मारते.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राज है, मेरी उम्र 25 साल है और मैं आपके साथ अपनी लाइफ का सबसे पहला अनुभव साझा करने जा रहा हूं.

रात को जब मैं पोर्न देखते हुए अपना लंड हिला रहा था तो तभी एक अनजान नंबर से मेरे फ़ोन पर फ़ोन आया. उन्होंने मुझे गुड नाईट कहा।सुबह जेठ जी उठे भी नहीं थे और मैं सारा काम खत्म करके नाश्ता बनाने लगी. लमानी सेक्सी वीडियोअब तक हम दोनों ने आपस में अपनी सारी चीजें बांटी थीं लेकिन मेरी एक चीज़ मैंने अभी तक उसे नहीं दी थी; वो मैंने उसके जन्मदिन पर उसे देने की ठान ली.

वहां उसने मुझे गोदी से उतार दिया और उसने सारे कपड़े निकाल दिए, नंगा हो गया. मैंने ऊपर ऊपर से उसके साथ खेला और साड़ी उठा आकार उसकी चुत में लंड पेल दिया. मैंने विलास से कहा- अब मैं झड़ने वाला हूँ, माल कहां डालूं?विलास बोला- यार हर्षद, मैं तेरे लंड का अमृत अपनी गांड में महसूस करना चाहता हूँ.

यह मेरा पहला सेक्स अनुभव था तो मेरे मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं. पर अगर दीदी को पता चला तो?” मैंने मुस्कुरा कर कहा।जेठ जी बोले- तुम क्यों टेंशन लेती हो? क्या मेरा इतना भी हक नहीं है तुम पे?इसके बाद जेठ जी मुझे बाहर घुमाने ले गए और पिक्चर भी दिखायी और फिर होटल में खाना भी खिलाया।फिर शॉपिंग भी कराई.

पर कुछ ही देर में वो पीछे हुई और अपनी चूत की तरफ इशारा करके बोली- इसे भी चाटो न प्लीज़.

घर की परिस्थितियों की वजह से मुझे काम की जरूरत पड़ी तो मैं अपने ही शहर में काम की तलाश करने लगा. फिर रवि मेरे पास से गुजर रहा था, तो मैंने गिलास हाथ से छोड़ा और उठाने के बहाने अपना सर उसके लंड पर टच कर दिया. उन्होंने मुझे कहा- मैं तेरे जेठ को फोन पर बता दूंगी सब कुछ! तू बस घर का ख्याल रखना और उनको खाना खिला देना रात में!कहकर वो बस निकल गई।रात को मेरे जेठ जब घर पर आए तो मैं कुछ काम कर रही थी.

सेक्सी पिक्चर बोस इंग्लैंड वाली मैंने कहा- आप रहने दीजिए ना!वो मेरी बात को सुन ही नहीं रहे थे, बोले- इसी बहाने तुमसे थोड़ी बात भी हो जायेगी।फिर सारा काम खत्म करके हम लोगों ने कुछ देर बातें की और फिर मैं बोली- अब चलें सोने … रात ज्यादा हो रही है।मेरा मन तो नहीं कर रहा था जाने का … मेरा भी दिल कर रहा था कि आज जेठ जी के साथ ही सो जाऊं!पर यह बात मैं कैसे बोलती?तो मैं अनमनी सी अपने कमरे की ओर जाने लगी. उस एक पल में मेरे लंड ने ऐसे तुनकी मारी, जैसे भोसड़ी का अभी पैंट फाड़ कर बाहर आ जाएगा और स्वीटी को कहेगा कि एक बार चोदने दो ना.

ये कहते हुए उसने अपना बाथरोब उतार दिया और उसे नंगी देखते ही मेरा लंड और ज्यादा कड़क होने लगा. वीना को दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगी- उम्म मम्ह आह आह आह साले चाचा आराम से कर … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ. भाभी- क्या मैं अभी भी भाभी हूं!मैं- सॉरी जानेमन अब से जानू … ठीक है.

पड़ोसन के साथ सेक्सी

कई लोगों से खुल कर चुदवाने लगी।तब एक दिन अम्मी जान ने पूछा- कितने लण्ड खाती है तेरी बुरचोदी बुर बेटी मदीहा?मैंने कहा- ये सवाल मुझसे नहीं मेरी बुरचोदी बुर से पूछो अम्मी जान। मेरी बुर तो बस लण्ड खाती चली जाती है गिनती कभी नहीं!फ्री फॅमिली चुदाई कहानी पढ़ कर आपको बहुत अजीब लगा होगा ना? लेकिन होता यही है हमारे घर में![emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी:मैं बुरचोदी सन्नी लियोनी की तरह ट्रेन में चुदी. मेरी जोरू मस्ती में आहें भरने लगी और कहने लगी- आंह चोदो … ऐसे ही आराम से चोदो … मुझे चुत में बहुत अच्छा लग रहा है. उस मोहल्ले में पहुंचने के बाद रास्ते में सामने से पुलिस को आते हुए देखा तो टैक्सी वाला गाड़ी छोड़ कर भाग गया.

वो बिस्तर से उठीं, पर वो इतना थक चुकी थीं कि ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थीं. तभी भाभी को एकाएक होश आया, वो मुझे हटा कर बोलीं- पहले खाना तो खा लो प्यारे देवर जी!मैंने कहा- मेरा पेट तो अब बाद में भरेगा … चलिए पहले आपका पेट भर दूँ.

मैं उसके ऊपर कुत्ते की तरह झुका था और चूत में लंड को अन्दर बाहर कर रहा था.

मैंने कहा- क्या हुआ … इतना क्यों शर्मा रही हो नीरू … तुम बहुत सुंदर हो. यह सुनकर मेरी आँखों में चमक आ गई क्योंकि बहुत बड़ी रकम बोली थी उन्होंने! और एडवांस में भी देने के लिए बोल दिया और बाकी काम होने के बाद देंगे।आगे पूछने पर कि ये मुझसे ही क्यों करवाना चाहते हैं तो उन्होंने भी बताया कि वो हमारे खास और पुराना दोस्त है।मैं कुछ देर ऐसे ही उनसे बात करती रही. मैंने पूछा- क्या हुआ?तो बोली- कुछ नहीं।मैंने उसे कहा- खाना बनाकर कमरे में आ जाओ।आगे की कहानी कभी बाद में!पाठको, कुछ बातें जाने अनजाने मैंने इस कहानी में नहीं लिखी हैं.

पूरे दिन मुँह फुलाए घूमने के बाद जब शाम को मैंने भाई से कहा- आप मुझे कुछ सिखाने वाले थे. वो बिस्तर से उठीं, पर वो इतना थक चुकी थीं कि ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थीं. इतने में मेरे पति आते दिखे, तो मैंने झट से अपने बैग में बिल और फूल दोनों छुपा लिए.

मेरे मुंह की आवाजें उईई … उईई … उईई … माँ … उफ्फ उफ्फ की जगह यस … ओ या … फक … फक … फक … फक … या या बेबी … ओ गॉड या या या … मैं बदलती जा रही थी.

एक्सएक्सएक्स बीएफ सेक्सी वीडियो: मैं भी उसके दूध रगड़ते हुए अपना लंड आहिस्ता आहिस्ता आगे पीछे करने लगा. फिल्म शुरू हो गई और उस ब्लू-फिल्म को देखते देखते भाई ने अपने हाथ से चड्डी उतार कर अपना लंड पकड़ लिया.

उधर से सीधे मैं अपने घर पहुंच गया जहां मेरी साली मेरा इंतजार कर रही थी. अब आगे ट्रिपल X हिंदी कहानी:मैंने उसकी कमर पकड़ी और उसकी गांड के छेद पर अपना लंड रख कर एक धक्का दे मारा, जिससे मेरे लंड का सुपारा उसकी गांड में घुस गया और वो फिर से चिल्लाई ‘अह्ह्ह्ह आआह …’अबकी बार उसे दर्द कम हुआ था तो मैं बस कुछ पल रुका और उसे किस करता रहा. हमने होटल में एंट्री की और रूम में चले गए। अब हमारे पास पूरी रात थी।वहां जाकर हम ने चेंज किया और अपने नाइट सूट पहन लिए।वह अपने घर से ही पीने के लिए फ्लेवर्ड हुक्का लेकर आई थी। उसने सुलगाया और उसमें फ्लेवर डालकर करके कश लगाने लगी।फिर उसने एक बीयर मंगवाई और पूरी बीयर खत्म कर गई।उसके बाद हमने खाना खाया और थोड़ी बहुत बातें की.

उतने में ही मेरी लपलप करती हुई गांड सीधे धीरू के लंड को अपने अन्दर समा चुकी थी.

अब मुझे बस उस टाइम मशीन को चला कर सौम्या के पास पास्ट में उसको चोदने जाना था. आशिमा- वो सब अभी नहीं हो सकता है राहुल … अभी तेरे जीजा जी आ जाएंगे, हम इतनी जल्दी में ऐसा नहीं कर सकते हैं. आज तक की मेरे साथ जितनी भी सेक्स पार्टनर रही हैं, उन सभी को मैंने ना केवल संतुष्ट किया बल्कि उनके मुँह से मुझे ये सुन कर कि ‘अब बस करो … मैं थक गयी हूँ …’ काफी अच्छा लगता है.