कामवाली बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,इंग्लिश सेक्सी वीडियो हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

साउथ बीएफ हिंदी: कामवाली बीएफ वीडियो, कुछ देर बाद मैं सो गया और सुबह उठा तो पूनम मेरे लिए चाय लेकर आई और कहने लगी- उठ जाओ जानू.

सेक्स वीडियो फुल ओपन

मुझे लगा उनका होने वाला है, तो मैं भी नीचे से अपने पैर मोड़ कर जोर लगाने लगा. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो फुल मारवाड़ीअभी मैं ये सोच ही रहा था कि पता नहीं उसके घरवाले अभी तक गए हैं या नहीं.

कुछ ही देर में भाभी की चुत के बाल बिल्कुल साफ हो गये, चुत एकदम गुलाबी चमक रही थी जिसमें से पानी रिस रहा था. हट रावण रावणमैंने जाते ही भाभी के बिल्कुल पीछे खड़े हो कर अपना लंड उनकी गांड पर टच कर दिया.

तभी एक ने उसे पकड़ कर दरी पर गिरा दिया और ज़बरदस्ती उसकी पैन्ट खोलने लगा.कामवाली बीएफ वीडियो: उसका हमारे ही कॉलोनी के राकेश के साथ अफेयर था और उसके बारे में किसी को कुछ खबर नहीं थी.

मैं- कुछ किया भी या नहीं?वो- क्या करना था … घूमे फिरे औऱ वापस आ गए.फिर इसके बाद मैं कम्बल में मुँह डाल कर घुस गई और वो बाहर सर निकाल कर बैठ गया.

हिंदी हॉट सेक्सी मूवी - कामवाली बीएफ वीडियो

बहुत सी फोटो पूरी चुदाई की थी जिसमें एक लड़का अपना पूर खड़ा हुआ लंड लड़की की चूत में डाले हुए था.आशीष मेरे पीछे तरफ आया और जैसे ही पीछे आया, वह एकदम से वो चीज बोला, जो मैं सोच नहीं सकती थी.

क्या पता, उसे कैसे पता चल गया कि मैं झड़ने वाली हूँ? पर उसने अपनी उंगलियां मेरी शरीर से दूर कर दी थीं. कामवाली बीएफ वीडियो तो हमारी बात काफी सेक्सुअल भी होने लगी थी लेकिन मर्यादा के अंदर ही.

भाभी जोर जोर से कमर हिलाने लगी और बोलने लगी- जोर से जीजा जी … जोर से आहहह … मेरा काम होने वाला है!और इंदु ने अपने पैरों से मेरे कमर को जकड़ लिया.

कामवाली बीएफ वीडियो?

मैं इन्हीं ख्यालों में ही बिजी था कि तभी कल्पना मेरी तरफ देखते हुए मुझे टहोका- ओ हैलो, कहां खो गए?मैं- हां, कहीं नहीं. मुझे उस दिन पता नहीं क्यों सुखबीर ने ढेर सारे संदेश भेजे और मैंने भी खुशी से उत्तर दिए. पैंटी के नीचे भाभी ने गुलाबी रंग की ब्रा और पैंटी पहनी थी और उसका दूध सा गोरा बदन ऐसे लग रहा था जैसे पानी में कमल खिला हुआ है.

एक दिन वह मुझसे अपने बॉयफ्रेंड की बात करने लगी और उसने मुझे किस करने के लिए अपना चेहरा आगे कर दिया. पर मन ऐसे ख्यालों से ये सोच कर कांप जाता, क्योंकि प्रीति मेरी अच्छी सहेली बन चुकी थी और उसके पीठ पीछे ऐसा करना सही नहीं था. मिसेज पाटिल साँस रोक कर अपना मुँह ऊपर कर के पूरा लंड अन्दर लेने का प्रयास करने लगीं और बड़बड़ाने लगीं- आह साला … ये लंड भी बहुत बड़ा है.

ये बात सुन मैंने उससे पूछा- क्या प्रीति भी ऐसे कपड़े पहनती है?सुखबीर- हां, अभी हाल में उसने कुछ इसी तरह के नाइटी आदि खरीदी हैं, मगर वो आप जितनी कामुक नहीं लगती है. अब मुझे साफ समझ आ चुका था कि रवि मामा यहां वहां मुँह मारते फिरते हैं और मौका मिलते ही मस्त चुदाई कर देते हैं. यह देखकर मेरे पति ने मुझे अपनी तरफ खींच लिया और अपने साथ बेड पर लेटा लिया.

मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठा दीं और लंड को चुत पर लगा कर धक्का मार दिया. मेरा चेहरा ये सोच कर ही लाल हो गया था कि अब वह तलाशी के बहाने जाने कहाँ-कहाँ हाथ लगायेंगे.

उसकी स्किन कितनी सॉफ्ट थी, मैंने पहले भी कॉलेज में लड़कियों की चुदाई की है, पर ऐसी मलमल सी गदराई लड़की कभी नहीं मिली.

ये सारी चीजें प्रीति में थीं, केवल उन्हें निखारे जाने की आवश्यकता थी.

कुछ देर मेरे बोबे दबा कर वो लेट गया और मुझे ऊपर करके मेरा सर पकड़ कर मेरा मुंह उसके लंड के ऊपर रख दिया. मैंने अपनी आंखों को बन्द किया और गहरी सांस लेते हुए धीरे से उनके लंड के उभार को छू लिया और हल्के हल्के हाथ ऊपर नीचे करते हुए लंड को सहलाने लगा. उसका लंड कैसा होगा यह सोच सोच कर ही मेरे मुंह में पानी आता था और भूख प्यास का तो पता ही नहीं चलता था.

चूत से खून की धार निकल पड़ी, चूत बुरी तरह फटकर फैल गई थी और मैं चिल्लाकर बेहोश हो गई।दीदी ने अजय को वहीं पर रोक दिया. इतना सब होने के बाद मैंने क्या किया?साजिदा ने लज्जा से सर नीचे कर लिया. मैंने पूछा- मैं ही क्यों? आप तो किसी से कुछ भी करवा सकती थीं?वो हँसने और बोली- जिस दिन से तुम कम्पनी में आए थे, मैं उसी दिन से तुम्हें नोटिस कर रही थी.

वो मस्ती में अपना सर झटक रही थी और दोनों हाथों से मेरा सर अपनी चूत के अन्दर दबा रही थी.

जब तुम उल्टी लेटी हो, मैं तुम्हारे ऊपर सवार होकर जब लंड तुम्हारे बम्प्स से होकर तुम्हारी गांड के होल को टच कर के तुम्हारी चुत में पेलता हूँ. सारा आपा ने अपनी टांगें मेरे चूतड़ों से और बाहें मेरे कंधे पर लपेट दी थीं और अपने नितम्बों को ऊपर की ओर उठा दिया था. जब मेरी नजर उन पर पड़ी तो मैंने देखा कि उन्होंने केवल एक अंडरवियर पहना हुआ था.

मैंने पूछा- क्या हुआ?उसने मुझसे पूछा- आपका दूध निकलता है?मैंने उससे दोबारा सवाल किया- क्या आपको कोई परेशानी है?उसने उत्तर दिया कि आज का दिन मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन होगा. पर चपड़ चपड़ की आवाज साफ सुन रही थी मैं।दीदी बुरी तरह तड़पकर लगभग चिल्लाने लगी- जल्दी चोदो मुझे … बर्दाश्त नहीं हो रहा. मैंने उसका हाथ पकड़ा हुआ था और उससे बोला- अब तुम्हें रोने को जरूरत नहीं है.

मैंने उसकी चूत पर लंड अच्छे से फिट किया और उसके मुँह पर एक हाथ रखा और एक जोरदार झटके के साथ एक ही बार में लंड उसकी चूत में उतार दिया.

अब मेरा लंड भी अकड़ रहा था और मैंने भी अपने लंड का रस उसके मुँह में गिरा दिया. जब आधा लंड चूत में घुस गया तो मैंने हल्का सा धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

कामवाली बीएफ वीडियो मैं मन ही मन कह रहा था कि बोल तो ऐसे रही है जैसे यह यहाँ पर पूजा-पाठ करने आई है. आंटी के मम्मों पर हाथ रखते वक्त मेरी डर के मारे हालत खराब हो रही थी.

कामवाली बीएफ वीडियो लगभग 10-15 पिचकारियों के बाद मैंने धक्के लगाने बंद किए और भाभी की टांगों को नीचे उतारा और लंड को अंदर डाले-डाले भाभी की छाती के ऊपर लेट गया. इस बात से भाभी एकदम से शर्मा गईं … और बोलीं- चलो दूर हटो … अभी मुझे काम कर लेने दो, दिन में होली खेलेंगे.

वो भी एक मेहनती किसान का जवान लंड, जो कि देखने में ही इतना खूबसूरत था कि किसी के भी मुँह में पानी आ जाए.

सेक्सी हिंदी मै ब्लू फिल्म

उसके करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद मैंने फिर से उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. मैंने पहले सीढ़ियों वाला दरवाजा बंद किया और लपक के उनके बाथरूम वाला दरवाजा भी धक्का दे कर खोल कर अन्दर घुस गया. जब दूसरी बार मुझे महसूस हुआ कि अब मेरा पानी निकलने ही वाला है तो मैंने जीजा की तरफ अपने होंठों को बढ़ा दिया.

रात को भी आंखों से नींद गायब थी … कभी मम्मी जी की बातें याद आतीं, तो कभी वसीयत, तो कभी हितेश के वीडियोज. मिसेज पाटिल एक हाथ से मेरा लंड भी आगे पीछे कर रही थीं और मैं भी उनकी चुत में उंगली करने लगा था. सतना में बस स्टैंड सबेरा होटेल के नीचे आशीष मुझे मिलने को बोला था, वह वहीं पर खड़ा मिला.

मैं निकाल कर आ जाती हूँ अभी” मैंने कसमसा कर कहा।निकालो, जो कुछ है एक मिनट में निकाल दो यहीं!” सर ने कहा।मैं एक पल के लिए हिचकिचाई और फिर कुछ सोच कर तिरछी हुई और ऊपर से अपनी स्कर्ट में हाथ डाल लिया.

मुझे बड़ी ख्वाहिश थी कि मैं किसी मूवी का लेट नाईट शो देखूं, तुमने मुझे उसी वक्त मूवी दिखाई, मेरा साथ दिया. फिर भी मैंने खुद को संभालते हुए कल्पना से पूछा- आप क्या चाहती हैं?कल्पना- ये कैसा सवाल है आपका कि मैं क्या चाहती हूँ? मैं क्या चाहती हूँ आपसे … ये आपको मालूम है और आपको और मेरे लिए कुछ करने की जरूरत भी नहीं है. दोस्तो! पहली बार मुझे पता लगा कि औरतों के अंदर बहुत ज्यादा ईर्ष्या होती है.

कुछ देर बाद वह बोलीं- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा राहुल… जल्दी करो … मैं चुदने को बेकरार हूँ. अन्तर्वासना के समस्त पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार,मेरी कहानीपति से परेशान सलहज की चुत मारीको आपने बहुत पसंद किया, आप सभी का दिल से आभार और प्यार!अब आगे:उस दिन इंदु ने बोला कि वो 3 दिन बाद रात को फोन करेगी. मैंने सोचा कि शायद अब अनन्त दीदी की टट्टी करने वाली जगह में अपने लंड को डालने की तैयारी में है लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया.

उसकी चूत में इतना अधिक रस भर गया था कि मुझे अपनी जीभ में नमकीन मलाई सी आती महसूस हो रही थी. तब धीरज ने कहा- तुम कोई चिंता ना करो, अभी तुम्हें पूरा मज़ा मिलना शुरू हो जाएगा, फिर तुम खुद ही लंड को माँगोगी.

ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली भाभी की है। भाभी के बारे में बताऊं तो वो एक काम की देवी है। उसके बूब्स और उठी हुई गांड जो भी देखे, देखता ही रह जाए और भगवान से प्रार्थना करे कि ये सुंदरी अभी मिल जाए और इसके चूचे चूस लूं … गांड में लण्ड डाल दूं।देखने में भाभी का रंग गोरा चिट्टा, बिलकुल चिकनी चमेली है वह. मेरी उंगली उसकी जींस में से ही उसकी चूत में जाने का रास्ता खोजती हुई धंसने लगी. दुकान से बाहर निकलते समय मैंने ध्यान दिया कि सुखबीर मुझे कुछ अलग नजरों से छुप छुप कर देख रहा था.

मैं रवि, कद 5 फुट 10 इंच का कद, सीना चौड़ा, रंग ऐसा सुहावना, जो लड़कियों को देखते ही पसन्द आ जाता है.

वो बोली- क्या मतलब?मैंने कहा- तुम कॉलेज मत आना, मैं तुम्हारे घर पर आता हूं. बंद दरवाजे के अंदर कमरे में शीशे के सामने खुद को ही निहारती रहती थी. शाम को पापा ने मुझे कहा कि तेरी भाभी को उनके किसी रिश्तेदार के यहां जाना है … तो गाड़ी में ले जा और वापस भी ले आना.

फिर उन्होंने टांगें किसी रंडी के जैसे फैलाते हुए अपना फोन उठाया और मेरे सामने बैठकर ही अपनी सहेली, जिसका नाम सिमरन था … उससे फोन पर बात करने लगीं. तो आशीष ने बोला- अब तुम मुझे खुल के गाली देना … गंदी से गंदी बातें बोलना.

अगर कहा जाए तो सांवली लड़कियों की बात ही कुछ और होती है, ये बड़ी हॉट होती हैं. मेरे किराए के मकान में नीचे का फ्लोर मेरा और ऊपर के फ्लोर में मकान मालिक की फैमिली रहती है. कभी वो मेरे नीचे तो कभी मैं उसके नीचे, पूरी रात चोदाई का यह खेल चलता रहा।घोष बाबू- ओ प्रधान जी, कहाँ खो गए सर? रात की बात खत्म हो गई.

ट्रिपल एक्स बंगाली सेक्सी व्हिडीओ

तो मम्मी ने मना कर दिया, वे बोलीं कि तुम उस घर को … उस बंध्या की मम्मी को नहीं जानते हो.

मेरे बेटे के साथ मेरी सेक्स कहानी आपको अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल कीजिएगा या अपने बेटे या माँ के साथ सेक्स करने मुझसे कुछ मदद चाहिये हो, तो भी आपका स्वागत है. मेरे मुँह पर मिसेज पाटिल की चुत के पानी की बूंदें गिरने लगीं, मैंने उनको नीचे बैठने का इशारा किया और उन्होंने अपने पैर मोड़ के चुत मेरे मुँह पर रख दी. जितना मेरे से हो सकेगा, मैं सिखा भी दूंगी लेकिन अभी मुझे कहीं जाना है.

एक ही बार में आधे से ज्यादा गटक कर मैंने बोतल को अंकल के हाथ में दी. मैं कुछ समझी नहीं, तो मैंने अंकल से पूछा- क्यों अंकल, क्या करना है?आज का भाग अभी तक पूरा नहीं हुआ, उसे तो पूरा करते हैं. সেক্সি দিখাইয়েजब दबाव कम होता, तो उस दौरान मैं सांस ले लेता और जब स्तन मेरे मुख में आते, तो मैं मजे लेता.

धीरे धीरे जब हमारी व्हाट्सप्प से बात शुरू हुई तो वो खुद मुझसे अपनी तारीफ़ कराने लगी. उसके ऊपर लेटे लेटे मिशनरी पोजीशन में ही थोड़ा अपने चूतड़ों का दबाव डाला, तो लण्ड अंदर जाने लगा.

मैंने उसकी पैंट की चेन खोल दी और उसके कच्छे के ऊपर से ही उसके लंड को सहलाने लगा. शादी से पहले मैंने किसी लड़के से रिश्ते नहीं बनाये क्योंकि मैं अपनी जवानी बस अपने पति को देना चाहती थी, पर मेरी किस्मत खराब निकली. उनके पति एक बड़ी कंपनी में मार्केटिंग मैनेजर थे और अक्सर टूर पर रहते थे, जो महीने-महीने बाद आते थे.

लेकिन फिर दूर जाकर टेबल के पास बैठ गयी और बोलने लगी- मुझसे गलती हो गयी बहुत बड़ी! और मैं आगे से कभी नहीं करुँगी तुम्हारे साथ. मैंने मन ही मन सोचा कि कहीं उसका भाई फ़ोन न करा रहा हो, ये सोच कर मैंने उसको ऐसा फील कराया जैसे उसने नंबर गलत मिलाया हो. जाते वक्त एक बोला- यदि किसी को बताया साले … तो ये वीडियो यू टयूब पर डाल देंगे.

वो बहुत कोशिश कर रही थी कि उसकी आहें ना निकलें क्यूंकि आस पास के फ्लैट में हमारे ऑफिस के लोग रहते थे.

उनकी नज़रें मेरे चेहरे पर टिकी हुई थी, और मैं शर्म से उनसे आँखें नहीं मिला पा रहा था. तेज झटको के साथ मैंने इंदु भाभी में मुख में अपना गर्म गर्म वीर्य उम्म्ह… अहह… हय… याह… करते हुए छोड़ दिया.

मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी पर मैं कुछ नहीं करना चाहता था अपनी भाभी के साथ. रात तो वो फिर मेरे कमरे में आया और मुझे उसने बॉलीवुड की लगभग सभी हिरोईनों ही नंगी पिक्चर्स दिखाई. ये कहानी मेरी और मेरे पड़ोस में रहने वाली एक जवानी की दहलीज पर कदम रखती हुई 18 साल की कमसिन लड़की के बीच की चुदाई की है.

मेरे मन की हालत को देख कर जीजा जी को पता चल गया कि मैं सेक्स के लिए तैयार नहीं हो पा रही हूँ. उसने बहुत सारा थूक मेरी गांड में थूक दिया और अपने लंड में भी लगाया. अब मामी जी की मस्त मोटी गांड मेरे सामने थी, जिसका मैंने कल रात को उद्धाटन किया था.

कामवाली बीएफ वीडियो तभी जीजा जी अंदर आ गए और मुझे बांहों में भर कर अंदर वाले कमरे में ले गए. पहली बार मैंने उन्हें बांहों में जकड़ा और पकड़ा या यूं कहिये कि किसी भी मर्द को पहली बार मैंने बांहों में लिया.

नंगा नंगी वीडियो सेक्सी

वो मेरी चुचियां चूस रहा था, मैं उसका लौड़ा सहला रही थी, तब मैंने उसे बताया कि मेरी बहन कल आएगी. आपको मेरी गर्लफ्रेंड की खुली सड़क पर चुदाई पर क्या कहना है, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं. क्योंकि न तो मुझे पता था कि वो ऐसा किस वजह से कर रही थी, न ही हमारे घर में कोई बड़ों से बहस करता था.

फिर एक दिन मैंने उससे बोला कि क्या हम आगे नहीं बढ़ सकते?उसने कहा- उससे बच्चा होने का डर है और मेरी अभी सील भी नहीं टूटी है. फिर मैंने सोनू से कहा- सोनू, यदि मजा लेना है तो थोड़ा सा दर्द बर्दाश्त करना होगा और अगर चीखना है तो तुम अभी उठो, अपने कपड़े पहनो और अपने घर जाओ. देहाती गाओं की सेक्सी वीडियोमुझे भी ऑफिस में प्रमोशन पाने के लिए अपने सीनियर सर लोगों को पटाना पड़ता है.

क्योंकि सारा के हाथ और पाँव एकदम हवा में उठ गए और मुँह से सिसकारी निकल गई.

वो बहुत फूल चुकी थी।मैं बोला- गुलाबो, तू बहुत मीठी है, मैं तुझे खा जाऊँगा. अब मुझे उसकी चूत मारने में मज़ा नहीं आ रहा था इसलिए मैंने उसकी गांड में उंगली करना शुरू कर दिया.

मैंने जब भाभी जी से पूछा- आप दिनभर क्या करती हैं?तो उन्होंने बताया- प्रोफेसर साहब को तो फुर्सत नहीं है, वे तो बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते रहते हैं. सर!” मैंने उन्हें टोक दिया।हम्म?” वो अब भी मेरे पास खड़े हुए लगातार पिंकी की ओर ही देख रहे थे. मैंने डोर बेल बजाई तो भाभी ने दरवाजा खोला और आज भी मैं उन्हें देखता ही रह गया.

मैं कितनी कमीनी हो गयी हूँ कि अपने ही पापा को पटाने पे लगी हूँ!इसके बाद मैं रोते रोते सो गई और अपने रूम का दरवाजा लॉक करना भूल गयी।रात को 3 बजे मेरे पापा मेरे कमरे में आये और मुझे उन्होंने उठाया.

उसने अचानक मुझे नीचे कर दिया और मेरे ऊपर आकर मेरे कपड़े उतारने चालू कर दिए. उसके इस तरह से मेरा ख्याल रखने से मुझे वह अब अपने आप अच्छा लगने लगा. उसने उसका फोन की स्क्रीन पर उसका नाम देखते ही उसे गाली देनी शुरू कर दी.

सेक्सी फिल्म जंगलीअब आप ही बताएं काका क्या मेरा ये फर्ज नहीं बनता कि अपनी मामी जी की प्यास बुझाऊं. मैंने तुम्हारे लिए फुल बॉडी वैक्स, मैनीक्योर, पैडीक्योर सब करवाया है और अपनी चूत के बालों को दो बार साफ करवाया है.

सेक्सी सुहागरात सेजवानी

फिर उसने एकदम से लंड को बाहर से रगड़ते हुए चूत में एक झटका देते हुए अंदर कर दिया. मैं आपकी इस चूत का मूत पीना चाहता हूं। भाभी मुझे अपना गुलाम बना लो, मैं आपकी रोज सेवा करूंगा. उसने फिर पूछा- क्या तुम उनको पूरा देखना चाहते हो?मैं तो हैरान रह गया.

उधर उसका यार मेरी चूत का बुरा हाल कर रहा था, अपनी ज़ुबान को मेरी चूत खोल कर जितनी अंदर कर सकता था, करके अपनी ज़ुबान को घुमा रहा था. चूंकि मैं भी रात में कपड़े उतार कर ही लेटता हूँ, तो मेरी नंगी छाती भी उसे दिख रही थी. तुम तो अच्छी तरह जानते हो मैं यहाँ पर किस लिए आया हूँ।जीजू ने कहा- ठीक है यार, मैंने कब मना किया है, अगर तुम चाहो तो हमारे साथ ही लेट जाओ.

अब मेरे वंश ने अपने लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे चोदना चालू कर दिया. मैंने उत्तर दिया- चलो बिस्तर पर पेट के बल लेट जाओ।नहीं मैं तुम्हें अपना इतना मोटा लंड मेरी गाँड में नहीं डालने दूँगी. मैडम कराह उठी और मेरा लंड सटाक से घुसता हुआ उसकी बच्चेदानी पर प्रहार करने लगा.

आपने रोमांटिक अंदाज़ से चुदाई शुरू की और मेरी फुद्दी पूरी बजा के रख दी. मैं सुर ताल मिलाते हुए नीचे से झटके देने लगा, एक रिदम सा बन गया था.

मिर्गी नाम की बीमारी की शिकायत रही, इसलिए पापा मम्मी ने स्कूल में मेरा एडमिशन नहीं करवाया.

बस वो मुझे चूमता रहा और मेरे मम्मों को कस के रस निकलता रहा उन्हें ज़ोर ज़ोर से दबा दबा कर!कुछ देर इस तरह से करके उसने मेरा सारा ध्यान दर्द से हटवा दिया और मैं खुद ही अपने चूतड़ हिलाने लग गई. देहाती हॉट सेक्सहम लोगों ने जल्दी से नाश्ता किया और फिर मामी और मैं बाइक से बाजार के लिए निकल गए. न्यू सेक्सी गानासाथ ही वो दोनों स्तनों को दबाने लगे। विनय जीजू थोड़ा अलग होकर लेटे रहे. अब मुझे भी थोड़ा-थोड़ा नशा हो रहा था जो पैग मारे थे, उसका असर जब दिखाई दे रहा था, तो मैंने भी मैडम से हंसी मजाक में बोल दिया- नहीं मैडम आपकी नाक नहीं कटेगी … आपकी नाक की जिम्मेदारी अब से मेरी है.

सोनू कहने लगी- वह तो है ही, तभी तो मेरे पापा मम्मी के ऊपर चढ़े रहते हैं.

चाचा जी का हाथ धीरे धीरे मेरे शर्ट के अंदर जाते हुए मेरी ब्रा से टच हुआ, उन्होंने मेरी ब्रा को ऊपर उठाते हुए मेरे मम्मों पर अपना हाथ पहुंचा दिया और चाचा अपनी भतीजी के नंगे चूचों को सहलाने लगे. दस मिनट की मम्मों और होंठों की चुसाई के बाद उन्होंने मुझे बेड पर धक्का दे दिया. उम्मीद है दोस्तो, आपको मेरी और मेरी चाची के बीच हुए ये चुदाई की कहानी अच्छी लगी होगी.

जीवन में उस दिन पहली बार एक हसीना की चूत का रस चाटने के मौका मिला … आआआआ आहहहह हहह!उस समय की मेरी जो मनोदशा थी वह बयान करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं है. छह-सात दिन हो गए थे, अब मामी को दर्द खत्म होने लगा था तथा मजा आने लगा था. अब उसने मेरे चेहरे पर से अपना हाथ हटाया और उन्हें मेरे चुचों पर ले गयी.

वीडियो सेक्सी ओपन फोटो

अब वो मेरे सामने बेड पर चुदने के लिए ऐसे चित पड़ी थी, जैसे वो मेरी रखैल हो. भाभी कहने लगी- राज! बहुत दिनों बाद, बल्कि जब से शादी हुई है, तब से ऐसे लंड की कभी कल्पना भी नहीं की थी और जैसे ही यह मेरे अंदर गया, मुझे बहुत अच्छा लगा, मुझे बहुत आनंद आया, और मैं एकदम खल्लास हो गई. उसके बाद संजीव ने मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड़कर अपने लंड पर रखवा दिया.

मैंने बहुत देर तक भाभी के चूतड़ों को पकड़कर अपने लंड की तरफ खींचे रखा और भाभी का पूरा पानी मेरे लंड के ऊपर से होता हुआ मेरी जांघों को भिगो रहा था.

मेरी हाइट पांच फीट ग्यारह इंच है और मेरे लंड का साइज़ 6″ और 4″ मोटा है.

मैंने कहा।प्रॉमिस???प्रॉमिस! कसम ले लो!मैंने ज़रीना को कहा- आप चीखती बहुत हैं. तो मैं भी समझ गया गया कि लोहा गर्म है, तो मैंने पूरी ताकत से लौड़े को बुर में पेल दिया. नींद लाने वाली आवाजें सुनाओदो दिन बाद में मालिश कर रहा था, मामी मालिश के टाइम पे सिर्फ ब्रा और केप्री ही पहनती थीं.

उन्होंने उसी वक़्त मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मुझे किस करने लगीं. वो लोग हमारे शहर में नए थे। उसके परिवार में उसका एक छोटा भाई और उसके मम्मी पापा। वो हमारे घर के पास रहते थे और उसका भाई काफी छोटा था तो उसकी मम्मी को कोई काम होता था तो वो मुझे बोल देती थी. वहां पलंग के साथ ही एक पालना रखा था, जिसमें उसका बच्चा सोया हुआ था.

भाभी की एक बात नहीं मानोगे क्या?मैं बोला- क्या भाभी इमोशनल कर रही हो … वो भी डरा करके. अब पायल ने अपने मुँह को मेरी नाभि पर लगा दिया और मेरी नाभि के उभरे हुए भाग को अपने दांतीं से पकड़ कर कसके काट लिया.

उंगली आज़ाद होते ही मैडम ने मेरी पैंट खोल के नीचे घसीट कर टखनों तक कर दी.

मैंने फिर से एक धक्का दिया और दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चूत में उतर गया. मैंने कुछ देर तक अपने लंड को हिलाया और फिर जोर से मुट्ठ मारते हुए वीर्य निकाल दिया. मैं खुद भी लंड चुसाने के बाद उसके मुँह में मुँह लगाकर उसके मुँह में पड़ा, मेरा रस चाट कर उसको मजा देने लगा.

सेक्सी गर्ल्स एचडी वीडियो मीरा- देखो ऋषभ अगर तुम यहां पर मुझसे सैलरी बढ़ाने की बात करना चाहते हो, तो मैं तुम्हारी सैलरी तो नहीं बढ़ा पाऊंगी. भाभी ने अपनी दोनों टांगे चौड़ी की और मेरी तरफ मुंह करके मेरे खड़े लंड को अपनी चूत पर सेट करके मेरी गोदी में बैठ गई, जिससे सारा लंड उनकी चूत में गच्च से बैठ गया.

उसको दर्द हुआ तो मैंने थोड़ा सा लंड फिर से पीछे किया और कमर उठा कर फिर से धक्का मार दिया. इस नए शहर में किसी मित्र को बुला कर जोखिम भी नहीं उठा सकती थी, क्योंकि भले मैं नई थी, पर पति काफी दिनों से थे, तो कौन कहां पहचान ले, इस बात का क्या भरोसा था. फिर दीदी मेरे पास आई और मेरे कपड़े उतारने लगी, मेरा दिल धड़क रहा था। मेरी चूत को हाथ लगाकर सहलाया तो मेरी आंखें बन्द होने लगीं।दीदी- रचना तेरी चूत तो बिल्कुल बह रही है!मैं शान्त रही। दीदी ने मेरी चूत में धीरे से उंगली घुसाने का प्रयास किया तो मैं सिसियाकर सिकुड़ गई। तभी अजय ने मुझे खींच लिया।अजय- कुसुम जान … तू बोले तो आज तेरी बहन की चूत का उद्घाटन कर दूं? कसम से बड़ी मस्त लग रही है तेरी बहन.

अंग्रेजी फिल्म सेक्सी व्हिडिओ

कुछ समय बीता और फिर एक दिन उसने मुझे बताया कि उसकी वो शादी टूट गयी है. मैंने कहा- अगर दो दिन बाद करोगी तो बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा और बहुत मजा आएगा. कुछ देर तक हम दोनों वहीं सोफे पर लेट कर एक दूसरे के बदन को छूते रहे और चूमते रहे.

मैं उसकी चूत की चुदाई का मजा ले रहा था और सीमा मेरे लंड से चुदाई का मजा ले रही थी. मैं तुम्हारी ऐश कर दूँगा यहाँ”पर … आज का पेपर सर?” मैंने कसमसाते हुए कहा।ओह्हो … मैं कह तो रहा हूँ … तुम्हें चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं अब.

ग्राउंड फ्लोर पर जो उड़ीसा का परिवार रहता था उसमें लता भाभी और उनके पति को हेमा भाभी से और उनके फैशन करने से बड़ी चिढ़ थी और वे उसको पसंद नहीं करते थे.

चार कद्दावर सांड के लंड को पा कर मेरे तन मन को दर्द के साथ सुकून भी मिल रहा था. उसने आंख खोली तो मैंने उसके होंठों में अपने होंठ लगा कर उसे किस किया. मैं जैसे ही झटके देता, वो नाखून मेरे सीने में कंधों पर पीठ में घुसा देती थी.

तभी मैं आशीष से बोली- मुझे उठने दे, मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा … मैं नहीं मर जाऊंगी, मेरी हालत को तूने बहुत खराब कर दिया है. अब मुझे उसकी चूत मारने में मज़ा नहीं आ रहा था इसलिए मैंने उसकी गांड में उंगली करना शुरू कर दिया. कुछ समय बाद उसे दर्द कम हुआ तो वो मजा लेने लगी- आआआह हहह उउउहहह हहह … और मारो मेरी गांड करीम … मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है … मेरा रस निकल रहा है.

मेरे हाथ उनकी ब्रा पर पहुंच चुके थे और भाभी अजीब सी आह्ह … ऊह्ह की गर्म आवाजें निकालने लगी थी.

कामवाली बीएफ वीडियो: मैंने भाभी से पूछा- लिक्विड चॉकलेट है क्या घर में?उसने कहा- हां है, पर क्या करोगे?मैंने कहा- देखते जाओ जानेमन, बस तुम ले आओ. मैंने कहा- मैं आपके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूँ मैडम मगर आप मुझे नौकरी से मत निकालना.

उसने अपना एक हाथ गाउन के गले से अन्दर डाला और मेरी नंगी चूची पर रख दिया. मैं जो भी काम करती हूँ, तो वो सर देखने के लिए आते हैं और वो मुझे अपना काम भी समझाते हैं. आरज़ू ने ब्लेक कलर की पारदर्शी पेंटी पहन रखी थी जिसे उसने अब उतार दिया था.

एक बोला- भाई क्या मस्त माल लग रही है … ब्लैक ब्रा, ब्लैक पैन्टी और स्टॉकिंग्स में साली बिल्कुल पोर्न स्टार लग रही है.

मैंने समझा कि सर का ये सवाल एग्जाम टाइम के बाद मुझे पेपर करने देने के बारे में है. इसलिए मैंने मौके की नजाकत को देखते हुए अपना लंड उनके मुंह से बाहर निकलवा दिया. कल्पना- हां, पर मुझे समझ नहीं आ रहा कि कैसे कहूँ, कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है.