बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price

छवि स्रोत,देसी baba com

तस्वीर का शीर्षक ,

तुलसी की सेक्सी वीडियो: बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price, प्रियंका बोली- कमीनी पहले मेरा पानी निकाल … ज्ञान चोदना बाद में … साली कुतिया पहले चूत चोद मेरी … चूस कर खा जा इसे … आह.

देशी सेक्सी कहानी

सायरा ने अपने आपको बिल्कुल ढीला छोड़ दिया और अपनी आंखें बन्द कर लीं. चुदाई कैसे होती हैतो वह धीरे से दबी आवाज़ में बोली कि उसके पापा-मम्मी और दो साल का छोटा भाई सब साथ में ही लेटे हुए हैं.

वो- और वो क्या?मैं- दोस्त दिन में हंसी देगा और प्रेमी दिन रात खुशी देगा. लड़कियां हस्तमैथुन कैसे करती हैंवहां की एक खास बात ये थी कि आप सस्ते में दिन भर के लिए ऑटो रिक्शा या वैन बुक कर सकते हो, जो दिन भर में आपको लगभग 7-8 जगह घुमा देगाहमने भी 400-400 ₹ में दिन भर के लिए 3 ऑटो बुक किए.

अब मैं अपने ब्लाउज का बंधन बांधने लगी लेकिन पीछे हाथ करके मुझसे बंध ही नहीं रहा था.बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price: फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और वह मजे से पूरा वीर्य गटक गई.

अब डेजी आई और मेरे सामने नीचे झुककर अपनी चूत मेरे मुंह के आगे कर दी.तब मैंने उसे बताया कि मुझे सब पता है कि वो कैसे सुमन को हमेशा ही चोदने की फिराक में रहता था और मेरी नज़र बचाकर सुमन से इशारे में ही बात करता रहता था.

पे फोन कस्टमर नंबर - बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price

अगले दिन रवि ने अनिल को अपने ऑफिस बुलाया और उसे प्रेरित किया कि वो अपनी बीवी दीपा को पटा ले, तो चारों मस्ती करेंगे.’न्यासा की सेक्सी आवाजें निकलने लगीं और उसने अपने हाथ से सन्नी का लंड पकड़ लिया.

वो बोला- करने दोगी?मां बोलीं- हां आ जा … तेरे अलावा और भी लंड होते तो उनको भी चोदने देती. बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price इसलिए तो मैंने कहा अगर औरत मुझे अपना टाइम देती है, तो मैं उसे चोदने के रास्ते में अपने आप बना लेता हूं.

और संध्या मस्ती से चिल्ला चिल्ला कर मोहित का जोश बढ़ा रही थी- आह … और जोर से … और जोर से करो.

बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price?

भाभी ने अपनी टांगों का गोल घेरा बना कर मुझे कस लिया और गर्दन उठा कर मेरे होंठों से अपने होंठों लगा दिए. थोड़ी देर बाद मैंने सोचा कि अगर मां को अच्छा नहीं लगा होता … तो वो अब तक पापा के हाथों मेरी पिटाई करवा चुकी होतीं. अपने मम्मों पर हाथ महसूस करके उसने भी मेरी शर्ट में अन्दर हाथ डाल दिया और वो भी मेरे सीने पर हाथ फेरने लगी.

कभी वो मेरे होंठों को, तो कभी मेरे मम्मों पर थूकता और उन्हें चूसकर काट भी लेता. अभी मुझे ज़ोर से लगी है इसलिए निकलो बाहर!वैसे मेरी सुमन भी तो अंदर से पूरी तरह पिछले एक सप्ताह से पनियायी हुई थी. चूचियों को जोर से दबवाने में दर्द के साथ मजा भी डबल हो जाता है।फिर उन्होंने मेरी ब्रा को भी निकाल दिया और मेरे बूब्स को अपने दोनों हाथों में लेकर चूसने लगे।सच बताऊं तो आनंद के मारे मेरी आंखें बंद होने लगीं.

उसने अनामिका के ढीले शॉर्ट्स को नीचे खिसका दिया, जो खुद ही नीचे अनामिका की टांगों में गिर कर मैदान खाली कर गया. भाभी खुद से उठ गईं और फटाफ़ट अपना लोअर और पैंटी को निकाल कर नंगी हो गईं. मुझे पता नहीं था कि चाचा जी सोये हुए है या सोने का नाटक कर रहे थे; पर उनकी आँखें बंद थी.

मैंने रोटी का टुकड़ा तोड़कर पनीर के साथ एक निवाला मुँह में ले लिया और आंखें बंद करके उसे खाने लगा. मैं उसकी फूलती पहाड़ी पर धीरे धीरे अपना हाथ ले जाने लगी और हाथ लंड पर रखने के बाद हल्का सा सहलाने लगी.

मैंने फिर से चाची को बेड पर पटक लिया और उसके 34डी के चूचे दबाते हुए उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा और उसके होंठों को खाने लगा.

उसका लंड काफी बड़ा और लम्बा था जो मुझे मेरी चूत में पूरा अंदर तक लग रहा था.

उसके मन में भी एक भाव आया कि अगर वो पिंकी को अनिल के नजदीक जाने दे और एक गैप बना कर रखे, तो पिंकी और उसकी सेक्स लाइफ और रोमांचक हो जाएगी. जब मैं सोफे पर बैठी तो उसमें मेरे चूतड़ लगभग नंगे ही दिखाई दे रहे थे. तब मैंने नई नई पोर्न फिल्में देखना शुरू किया था दोस्तों के साथ मिलकर!हम लोग किराए का एक वीसीडी प्लयेर और किराए की ही पोर्न मूवी की वीसीडी लेकर आये थे.

मैंने उसको होंठों पर किस किया और उसने मुझे अपने सीने से चिपका लिया. एक पढ़ी लिखी लड़की होने के बाद भी शायरा मेरे जवाब पर कोई रियेक्शन नहीं दे पा रही थी. मुझे चूत में लंड लेने का अब मजा मिलना शुरू हो गया था और दर्द हल्का पड़ गया था.

मैंने पैरों को थोड़ा ज्यादा मोड़ कर रखा था ताकि उनकी चुचियां मेरे पैरों में सटे और उनके हाथ मेरी जांघों तक आराम से पहुंच जाएं.

लो तुम ये वैसलिन लगा लो अपनी गांड में … जितना अन्दर तक हो सके उतनी अन्दर तक लगा लेना. मैंने पास पड़ी अपनी पैंट की जेब से कंडोम निकाला और उसे अपने लंड पर चढ़ा लिया. शायरा भी मेरी आंखों में देख रही थी और उसकी आंखें कह रही थीं कि मुझे दर्द नहीं हो रहा है … तुम अपना काम‌ कर लो.

ये सिलसिला लगातार कई महीनों तक चलता रहा और अभी भी कभी-कभी हमारी बात होती रहती है. लोटे में से जल लेकर सलोनी की बुर पर छिड़का, फर्जी मंत्र पढ़ा और उसकी बुर व नाभि पर एक एक फूल रख दिया. वो रवि के साथ नाईट क्लब या कहीं भी चली तो जाती है, पर उन सबके लिए पागल नहीं है.

कई बार मैंने उसको इशारों ही इशारों में अपने मन की बात जताने की बहुत कोशिश की लेकिन वो इन सब चीजों पर जैसे ध्यान ही नहीं देता था.

अब ये बात सुन कर मैंने उसका लौड़ा अपनी गांड से निकाला और फिर से मुँह से लंड चूसने लगी. चाची की लड़की भी अगले दिन आ गई; उसे आप्रेशन करवाना था बच्चे ना होने का।तो वो 2-3 महीने यही रही और दिवाली से 1 सप्ताह पहले ही अपने ससुराल गयी।दीवाली से 3 दिन पहले ही चाची ने कहा- आज आ जिए रात न … घने दिन होगे करे नै!मैं बोला- ठीक है चाची … तू तैयार रिहिये झाट साफ कर कै!चाची हंसने लगी और बोली- सब साफ कर ल्यूंगी.

बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price मैंने आंटी को फिर से ऊपर खींचा और उसकी मैक्सी उठाकर फिर से उसकी चूत में लंड पेल दिया. मैंने उसे पलंग पर चित लिटा दिया और अपने लंड पर थोड़ा तेल लगाकर उसकी बुर पर रगड़ने लगा.

बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price इस समय वो अपने घुटनों को हल्का सा मोड़ कर मेरे निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था. भाभी मुझे कसते हुए बोलीं- बहुत प्यार करता है उससे?मैंने हां में सिर हिला दिया.

अब फटाफट सेक्स में दोस्त ने बीवी को मेज पर झुकाकर पीछे से उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया.

लखनऊ सेक्सी फिल्म

उसकी आह निकलती तो मैं जीभ से दाने को सहला देता और अगले ही पल फिर से क्लिट को खींच कर उसकी मादक आवाज का मजा लेने लगता. वो साली चुदक्कड़ रंडी मेरे लंड को अपनी चूत की जड़ तक ठुकवाने की कोशिश कर रही थी।मीनू चुदते हुए गाली देने लगी- चोद मादरचोद … आह्ह … जोर से चोद … भोसड़ी के … तेरे दोस्त राहुल का लंड फिसड्डी है. शायरा के होंठों को छोड़ते ही उसके मुँह से अब ‘आह मर गई … दर्द हो रहा है.

मैंने उसे छोड़ा, तो वो दरवाजा बंद करके पुनः मेरे बेड पर आकर मेरे सीने पर लेट गई. उसकी ये बात सुनकर मैं आप सबको बता दूँ कि नीरू के तीन बच्चे हैं, दो लड़कियां और एक लड़का. मैंने ज्यादा टाइम खराब ना करते हुए उसे सीधा लिटाया और अपना खड़ा लंड उसकी चुत में डाल कर जोरों से उसे चोदने लगा.

नीचे जाते वक्त रास्ते में ही प्रियंका सुरभि से बातें करती हुई मिल गई.

पिंकी भी अब ये सोचने लगी थी कि रवि के मुकाबले अनिल उसकी भावनाओं की ज्यादा क़द्र करता है. जैसे ही लेटी, उसके चूचों से टॉवल थोड़ा नीचे खिसक गई और चूचियां खुल कर दिखाई देने लगी थीं. [emailprotected]सेक्सी देसी स्टोरी का अगला भाग:मौसेरी बहन की नाजुक चूत को लंड का मजा दिया- 2.

मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने गांड उठा कर चुदाई शुरू करने का इशारा दे दिया. धान की कटाई के लिए मामा ने 4 औरतें 2 लड़कियां और 3 आदमियों को लगा रखा था. जवान लड़की की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस में रहने वाली एक कमसिन कॉलेज गर्ल के साथ सेक्स करके मजा लिया.

रिसेप्शन पर बड़ा ही खूबसूरत सजा हुआ आंगन था, जिसमें काफी सारे बड़े बड़े कांच के पॉट्स में पानी के ऊपर गुलाब, केवड़ा और चमेली के फूलों को रखा गया था. वही प्रियंका अपनी सहेली अनामिका की इसी कामुकता में चुत में तीन उंगलियां पेल कर चुदाई का खेल करने लगी.

गर्म तो आप हो ही चुकी हो … बस अब और नखरे मत करो और जल्दी से टांगें फैला दो. सलोनी की बुर की सील तोड़ते हुए मेरा लण्ड पूरी तरह से सलोनी की बुर में समा गया. नयी नयी शादी थी और हम पति पत्नी में प्यार, रोमांस, सेक्स, मजाक और मस्ती सब कुछ बहुत अच्छे से होता था.

मैं उसकी टांगों को हवा में ऊपर उठाकर खुद उसकी टांगों के बीच में आ गया और मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चूत पर रख दिया.

उसने मुझे गले लगाकर बोला- अब तो गांड मारने दोगी ना मेरी जान!मैं बोली- बिल्कुल मेरे भाई तुमने तो हेड ऑफिस से ऑर्डर ले लिया है, जो दिल करे … तुम वो कर सकते हो. मेरे घर में मैं अकेला था क्योंकि मेरी पत्नी का देहांत 15 साल पहले हो गया था और मेरा बेटा अपनी पत्नी व बच्चों के साथ लन्दन में रहता है. मैंने कहा- आज कैसे याद किया राजेश?वो बोला- अरे यार, राजस्थान आया हुआ हूँ.

उसके मुंह में मेरी पैंटी फंसी थी और वो गूं … गूं … करके कुछ कहने की कोशिश कर रहा था. स्नेहा- फिर क्या हुआ दीदू!नेहा- हां फिर चाची ने चाचा को बताया की एक पल बाद बाथरूम का गेट खुला और मॉम एक छोटा सा टॉवेल लपेटे हुए बाहर निकल आईं.

मैं- रहने दो, पता है तुम यही कहोगी कि भूख नहीं थी, पर अभी तुम‌ खाना बना रही हो और फिर हम‌ साथ में खाना खाएंगे … और इसके बारे में मुझे अब कुछ नहीं सुनना. तब तक चूत की आग को जलने दो। तभी तुम्हें मज़ा आएगा।हमने अपने आप को व्यवस्थित किया कि इतने में मौसी बाहर आ गई. मामी बोलीं- जल्दी डाल अपना लंड राहुल … अब बर्दाश्त नहीं होता है … मैं बहुत दिनों से नहीं चुदी हूँ.

सेक्सी पिक्चर अच्छी वाली भेजो

आप सबको तो पता ही होगा कि सारा देश इस समय में कोरोना वाइरस से निदान पाने की कोशिश में लगा है.

उस दिन पहली बार मुझे मीनू के बदन को देखकर मेरे अंदर वासना उठती हुई दिखाई दी।देखते ही देखते मेरा लौडा़ खड़ा हो गया।मैंने उसे बाइक पर बैठाया और हम दोनों पार्क में चले गये। वो पार्क बहुत बड़ा था. कुछ ही ठोकरों में भाभी का दर्द जाता रहा और वो हूँ हूँ करके लंड लेने लगी. जैसे ही दोबारा मैं भाभी की चुदाई करूंगा तो वह कहानी भी जरूर लिखूंगा.

उसने अपने घुटने मोड़े और घुटनों के बल बैठ कर मेरे पेट को और नाभि को अच्छे से चाट कर गीला कर दिया. मैंने जैसे ही कमरे में एंट्री ली और दरवाजे से एंटर हुआ, किसी ने मुझे पीछे से दबोच लिया. चुदाई इमेजपर मैं समझ रहा था कि वो बस मेरे लिए, अपने प्यार के लिए दर्द बर्दाश्त कर रही है.

मैंने उसके सर पर हाथ रखा और मेरे मुँह से अनायास ही निकल पड़ा- हार्डर. मासूम सी दिखने वाली सलोनी कली से फूल चुकी थी और चूतड़ उठा उठाकर चुदवा रही थी.

डेजी ने मेरे लंड को मुंह में लिया और एक दो बार पूरा मुंह के अंदर तक ले जाते हुए चूसा. रागिनी को नीचे लिटाकर रश्मि के साथ 69 किया जिससे दोनों की चूत एक दूसरे के सामने हो गयीं. तो दोस्तो, ये थी हमारी लवर हॉट सेक्स स्टोरी, आप मुझे मेल करके ज़रूर बताइएगा कि हमारी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी.

इस समय शाम की चाय आ चुकी थी विमला और उसकी बेटी के आने का समय हो चुका था. आफ़िया भाभी मुझसे पूछने लगीं- आप पहली बार आते समय गेट पर क्यों रुक गए थे?तो मैंने उनसे कहा- मैं आपकी सुंदरता में इतना खो गया था कि मुझे कुछ होश ही नहीं रहा. एक तरफ तो वो दर्द की वजह से अपने नाख़ूनों से मेरी पीठ को खरोंच रही थी और दूसरी तरफ कह रही थी कि मुझे दर्द नहीं हो रहा.

हर किसी की निगाहें बरबस उसके मम्मों को एक बार देखे बिना नहीं रहती थीं.

एकाएक मैंने पंकज के हाथों को अपने शरीर पर महसूस किया और अपनी आंखें खोलकर थोड़ा नर्वस होते हुए अनिल को देखने लगी. उसने अपने तने हुए चूचों को दबाना शुरू किया जिनके निप्पल एकदम से कड़े हो चुके थे.

पर इस बार सूरज रुक नहीं पाया और कुछ पलों में ही मेरी चूत में ‘आह … आहह … आहह … सुहानी मैं गया … आहहआ … आह. उसने मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर अपनी चुत में ले लिया और जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगी. बस एक कदम और आगे जाना है, वो भी दोस्ती की खातिर।ये कहकर मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और सहलाने लगा.

मुझे मजा आ रहा था क्योंकि वो मेरे पैर को बहुत मस्त तरीके से चाट रहा था. मैं समझ गया कि वो भी मुझे नंगा देखना चाहती है।फिर मैंने दो मिनट के अंदर अपने कपड़े उतार फेंके. सोमवार को जब सलोनी आई तो मैंने कहा- आज से अनुष्ठान शुरू होगा जो 14 दिन तक चलेगा और पन्द्रहवें दिन समाप्ति होगी.

बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price मेरी जीभ उसकी चूत की दोनों फांकों को अलग करती हुई अंदर तक जा रही थी और उसके कामरस का स्वाद ले रही थी. उसने पहले अपने लंड पर जैली लगायी और मेरी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा.

सेक्सी व्हिडिओ हॉट बीपी

अब उसकी बारी थी अपना खेल दिखाने की।मैं खड़ा हुआ और उनको कंधों से पकड़ कर बिठा दिया. अजय बोला- देखना अबकी मैं जीतूँगा और प्रिया तुम्हारी टी शर्ट उतरवाउंगा. मैंने अपने बैग से एक मोटी जैकेट निकाल कर पहन ली और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चली गयी.

मैं सोच रहा था कि अगर इसका यहां ये हाल है … तो नीचे क्या हो गया होगा. उसकी चुस्त जांघों और चौड़ी मजबूत छाती को देखकर मैं उसके सपनों में कहीं दूर निकल जाती थी जहां मैं उसके नीचे लेटी होती थी और वो मेरे जिस्म के हर कोने को चूम रहा होता था. काजल राघवानी की सेक्सी पिक्चरवो चाय बनाने लगीं, तो मैं भी किचन में आ गया और फिर से न्यूड भाभी को पीछे से पकड़ लिया.

वैसे मुझे लगता है कि 19 साल में गांड इतने बड़े लंड लेने के लिए तैयार हो जाती है; बस थोड़ा दर्द सहने की ज़रूरत है.

उसके बाद मैं गर्म पानी से नहा कर तैयार हुई और अपना सारा सामान लेकर उस होटल से निकल गई. आखिर 1-2 मिनट आराम करने के बाद चाचा जी एकदम से आए और बोले- चल सुहानी बहुत हुआ, अब तेरी ढंग से चुदाई होगी.

बिल्डिंग के हिसाब से जीने में एक डोर भी था, जिसे उनके ऊपर जाने के बाद पिंकी लॉक कर लेती थी. गैर मर्द से रोमांस स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक पति सेक्सी बीवी को दोस्त के सामने परोसने की चाहत रखता है. संध्या चाची अपनी लेगिंग रखते हुए हुए बोलीं- मुझे एक बात समझ नहीं आती कि जब तुम टूर पर अकेले जाते हो, तो कैसे मैनेज करते होगे? कहीं ऐसा तो नहीं कि टूर में अपनी सेक्रेटरी को ही पेल देते होओ?राजू चाचा- तुम्हें ऐसा क्यों लगता है?संध्या चाची ने मुस्कुराते हुए कहा- देखो एक तो उसके कपड़े मुझे पता है, वो स्कर्ट के नीचे पैंटी नहीं पहनती.

सनी मेरी मां को ढंग से चोद नहीं पा रहा था … मगर फिर भी मेरी मां उसको सही से मजा दे रही थीं.

मैंने उसको बालकनी की रेलिंग पर झुका लिया और पीछे से उसकी चूत चोदने लगा. वैसे तो रात में ऊपर कोई नहीं आता, मगर गर्मी के कारण मैं रात को सोते समय दरवाजा खुला ही रखता था इसलिए मैंने अपने ऊपर एक पतली सी चादर डाल ली और चादर के अन्दर ही अपने लंड को धीरे धीरे हाथ से सहलाना शुरू कर दिया. उसने मेरे हाथ से सिगरेट ले कर दो कश खींचे और मुझे सिगरेट वापस थमा दी.

भाभी जी कीआज मैं आपको अपनी मां पुष्पा की चुदाई की माँ चोद कहानी सुना रहा हूं. सर, यह मेरी बुर में कैसे जा पायेगा, यह तो बहुत मोटा और लम्बा है, मेरी बुर तो बहुत छोटी है.

ट्रिपल सेक्सी वीडियो फुल

प्रियंका भी उसकी कामुकता को देखते हुए नीचे बैठ गई और उसकी चूत में मुँह लगा कर सीधा उसकी क्लिट को चूसने लगी. ऐसे ही‌ खुलकर सीधा सीधा ही चूचियां मसल‌ दीं … चुत चाट ली … लंड घुसा दिया … चुत फाड़ दी … चोद दिया … और भी पता नहीं क्या क्या बकता रहा था. चूंकि पूजा बुआ को पैसे की कोई कमी नहीं थी तो उन्होंने मुझसे चार बर्थ वाले पूरे एक कूपे को बुक करने के लिए कहा था.

मैं उसकी टांगों को हवा में ऊपर उठाकर खुद उसकी टांगों के बीच में आ गया और मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी चूत पर रख दिया. मगर उसके गुलाबी होंठ, उसके आंख में लगा हुआ काजल, उसकी अदाएं मुझे तो पहली ही नज़र में सब घायल कर गए थे. कई बार वो मुझसे कहा करती थी कि उसको भी एक अच्छे हैंडसम लड़के को बॉयफ्रेंड बनाना है.

मेरी बात पर वो चहकते हुए बोली- इतना विश्वास हो गया है मेरे ऊपर?मैंने जवाब दिया- विमला इस दुनिया में मैं बहुत सी औरतों से मिल चुका हूँ. इतने में सनी की मां ने मेरी मां को सनी निशु और सुनील के साथ छत पर चुदते देख लिया. वो- अब इतनी सुबह सुबह कहां डॉक्टर मिलेगा!मैं- वो काम मेरा है, तुम बस चलो … या बात कुछ और है?वो- कुछ नहीं, बस आज मूड नहीं है.

मैंने फिर पूछा- मामी, आपने बताया नहीं?मामी- अरे तुम वहीं अटके हुए हो … मैं अभी 26 की हो रही हूँ. उसने उसके चूचे छोड़ दिए और अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत में सीधी दो उंगलियां पेल दीं.

फिर उसने भी अपना माल मेरी चूत के मुँह पर छोड़ दिया और हम दोनों कुछ देर तक वैसे ही नंगे लेटे रहे.

अब मैं उसके लंड की तेजी से मुठ मार रहा था और वो मेरी गांड में उंगली से चोद रहा था. सेक्सी डांस नंगामैंने भी उनकी बात में जोड़ते हुए कह दिया- थोड़ी कोशिश और जुगाड़ से हर चीज़ आसानी से मिल जाती है … ये बियर क्या चीज़ है. रोमांस सेक्सीअपनी सायरा को थोड़ी देर और नंगी देखते रहने की चाहत से एक बार फिर मैं कमरे में झांकने लगा. आपको गाँव की लड़की की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल कर सकते हैं.

मेरी मां के मोटे मोटे चुचे हिल रहे थे और मेरी मां मस्त आवाज़ निकाल रही थी- अहा आ आ अहह अहह!वरुण मेरी मां को ज़ोर ज़ोर से चोद रहा था.

चुत में लंड लेने से भाभी को भी राहत मिल गई और वो भी मस्ती भरी आवाजें लेने लगीं. अनामिका हैरानी से अपने मुँह पर हाथ रख कर प्रियंका की तरफ देख कर बोली- हाआ … तेरे जीजू ने दोनों को एक साथ चोद दिया था?प्रियंका- और क्या … मगर ये तूने तेरे जीजू … तेरे जीजू क्या लगा रखी है. वो मजे से हॉट लंड चूसते हुए मेरी गांड को अपने मुँह की तरफ दबा रही थी.

मुझे तुम्हारे इस मखमली जिस्म से निकलती हुयी पसीने की गंध को मेरी सांसों में बसा लेने दो. पहले फोटो में वो पूर्णतः नग्न अवस्था में अपने पैरों के बल दीवार से टिककर बैठी थीं … तथा दूसरी में उनकी दोनों टांगों के बीच का फोटो था. होटल के रूम में जाते ही मैं विक्की से लिपट गयी और हम जल्दी से नंगे हो गये.

हिंदी हरियाणा सेक्सी वीडियो

मैं बोला- क्या तुम्हारे एथलिटिक फिगर का राज यही है? या फिर तुम जिम में जाकर भी लौड़े खड़े कर देती हो?रोजी- हां, जब मैं जिम में वर्क आउट करती हूं तो जवान लड़के मेरी तरफ लार टपकाते रहते हैं. व्हिस्की की बोतल कविता भाभी को देते हुए मैंने पूछा- क्या आज रवि जी आने वाले हैं … जो आपने पहले से सब मंगा लिया है?कविता भाभी बोलीं- कल आपको देख कर लगा कि आपके जैसे ही मुझे भी वक़्त निकालना चाहिए … इसलिए अब कोई इंतज़ार नहीं … मैं भी अपने वक़्त का सदुपयोग करूंगी. मैंने ये बात वैसे तो धीरे से कही थी, पर इतना भी धीरे नहीं कि शायरा को सुनाई ना दे.

इधर मेरे चूचक तन चुके थे और अरुण ब्रा को खिसका कर उन्हीं चूचुकों को अपनी हाथ की दो उंगलियों में लेकर मसलने लगा.

साथ ही वो अपने एक हाथ को मेरे अंडरवियर में डालकर मेरा लंड सहला रही थीं.

मुझे चुत चाटने का कोई अनुभव तो था नहीं … पर जैसा मर्दों ने मेरी चाटी थी, उसी प्रकार से मैंने भी प्रयास शुरू कर दिया. Email id –[emailprotected]Instagram – Vivaan _da _hottyगर्ल्स लेस्बियन सेक्स स्टोरी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 4. लंड की लड़ाईपापा को लैपटॉप चलाना आता नहीं था तो लैपटॉप घर में रहता था, जिसे अब मैं मूवी देखने और गेम खेलने के लिए इस्तेमाल करने लगा.

मैंने तो बस अब तक उंगली ही पेली है … और उसमें भी आज असली मजा आ रहा है. एक दिन की बात है कि मैं सुबह नहाने के लिए उससे पहले बाथरूम में चली गयी. उन्होंने भी मेरे पैंट के ऊपर से ही लंड को हाथ से छुआ और मेरे गाल पर एक जोर का थप्पड़ मारते हुए बोलीं- मादरचोद, तूने मेरी ब्रा पैंटी फाड़ दी और खुद अपने मोटे लंड को छुपा कर रखा है.

मैं उसको देखते हुए अपने लंड को तलवार की तरह उसकी तरबूज सी लाल चुत में घुसाने लगा. चाचा जी भी बस मुसकुराते हुए आंखें बंद करके ‘उम्महह … उमम्ह … आहह … सुहानी मेरी रंडी … आहह … चूस … बहुत मजा … आ रहा है.

हरेक को समझने में काफी वक्त लगता है क्योंकि सबका अपना एक अलग मूड होता है.

जैसा कि आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा था कि बारहवीं कक्षा में कम‌ अंक आने के कारण मुझे कहीं भी दाखिला नहीं मिल रहा था. हम सब शाम होने और होटल जाने का ही इंतज़ार कर रहे थे … पर साला समय बीत ही नहीं रहा था. मैंने उसके स्तनों को भींचना शुरू कर दिया और अब उसको और ज्यादा मजा आने लगा.

जबलपुर वेदर उसके कुछ दिन बाद लॉकडाउन लग गया और इस दौरान हम दोनों ने बहुत बार चुदाई का मजा लिया. अदल बदल कर हम चारों ने भांति भांति के आसन में चुदाई की और इस बार हम दोनों गबरुओं ने उनके मुँह में माल झाड़ कर लंड साफ़ करवा लिए.

घर से निकलते समय वो अपनी सास रीमा से बोली- आज मुझे अपनी सहेली के घर जाना है. मैं- तुम तो गांवों की लड़की जैसी बात कर रही हो, तुम मैच्योर हो, जॉब करती हो, शादीशुदा हो, पढ़ी लिखी हो, अकेली बिंदास रहती हो … फिर सीधे सीधे बात करने में क्या बुरा है?वो- फिर भी ऐसे तो कोई बात नहीं करता. अभी मैं अपने कमरे के गेट पर खड़ी थी, तभी सामने कमरे से एक 21 या 22 साल का चिकना लौंडा अपने कमरे से निकला.

16 साल की लड़कियों की सेक्सी चुदाई

मैं आप लोगों को बता दूं कि सनी की एक बहन है विन्नी … मस्त माल है साली और सनी उसे चोदना चाहता था. वह चुदने के बहुत ही व्याकुल हो गई थी और जोर जोर से सीत्कार करने लगी थी- आह प्लीज … मुझे जल्दी से चोद दो … आह और मत तड़पाओ. मैं दूर से उसको अपनी चूचियों क्लीवेज और अपनी मटकती हुई गांड दिखाती थी.

मैं पूरी ताकत के साथ उसे चोद रहा था और वो भी मेरे साथ हूँऊन हुऊं करते हुए गांड उठाने लगी. मैंने थोड़ा और कसकर भींचा तो वो कसमसा गयी और फिर मैंने उसको छोड़ दिया.

उसकी चूत लगातार नदी बनकर बह रही थी और मैं ये सब देखकर मंत्रमुग्ध तरीक़े से अपनी प्यारी बीवी को मदहोश होते देख रहा था.

मगर कविता की गति में कोई बदलाव नहीं आया था बल्कि उसकी गति में और अधिक तेज़ी आती जा रही थी. मैं अपने लंड को शायरा की चूत में गहराई तक अन्दर घुसा रहा था, पर ऐसा मैं धीरे धीरे और बिल्कुल आराम आराम से ही‌ कर रहा था. मैं अपने अंडरवियर के ऊपर से भाभी को लंड का उभार दिखा कर हिलाने लगा.

शायरा की उस नन्ही परी को देखने के बाद मुझसे अब रहा नहीं गया, इसलिए अपने आप ही मेरा सिर‌ उसकी जांघों के बीच झुक गया. मैं कभी कभी उसके निप्पलों को भी मसल देता, फिर अपने अंगूठे और उंगली के बीच में दबा कर दोनों निप्पलों को जोर से खींच देता. कभी कभी अनामिका अपनी एक उंगली प्रियंका की गांड के छेद में भी घुसेड़ देती थी.

फ्रेंड्स, मैं संजीव एक बार फिर से अपनी पड़ोसन शशिकला भाभी की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

बीएफ वीडियो सेटिंग्स ps4 प्रो price: (मैं इस सेक्स कहानी में आपको जगह का नाम नहीं बता पा रहा हूँ, उसके लिए सॉरी)मैंने उसे अपना पूरा पता भेज दिया. करीब 7-8 मिनट बाद सायरा दरवाजे की टेक लेकर खड़ी हो गयी और होंठों को गोल घुमाते हुए बोली- मियां जी, अगर कर लिया हो तो मैं सुच्ची करा दूं.

मैं आंखें बंद करके इस पल का आनन्द लेते हुए सोफ़े में ऊपर नीचे होने लगी. मेरी गर्म चूत की चुदाई ऐसी हो रही थी … जैसे कोई अनुभवी चोदू करता है. कुछ देर बाद मैं खड़ा हो गया और उसको बेड पर लेटा कर उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर उसे चोदने लगा.

उधर भाभी जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आह मार दिया हरामी … साले निकाल ले … मुझे नहीं खुलवानी.

मैं औरतों की पसंदीदा जगह ब्यूटीपार्लर जाने लगी, जिधर से मुझे मसाज का शौक लग गया. वो दोनों सेक्स के दौरान वाइब्रेटर को एक नया लंड मान कर इस्तेमाल करने लगे. उसकी चूत को सहलाया जो कि फूलकर एकदम लाल हो गयी थी और काफी सूज गयी थी.