हिंदी की बीएफ वीडियो में

छवि स्रोत,ओपन सेक्सी सेक्सी ओपन

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की लड़कियों के बीएफ: हिंदी की बीएफ वीडियो में, बुआ ने थोड़ी दूर जाकर मुझसे कहा कि तू यहीं कर ले, मैं थोड़ा आगे जाती हूं.

भाभी सेक्सी वीडियो पिक्चर

ज़ाफिरा ने उसकी चूत को पांच मिनट लगातार चूसा तो आइला की चुत ने पानी छोड़ दिया. सबसे जोरदार सेक्सीपर उसने मेरी बात पर ध्यान नहीं दिया और थोड़ी देर में मेरे लंड ने अपना सारा माल उसके मुँह में छोड़ दिया और वह मेरा सारा माल गटक गई.

उसने जाते समय दरवाजा उड़का दिया और मैं बिना लॉक किए नंगी ही बिस्तर सो गयी. छोटी लड़की के साथफिर मैंने अपना शरीर ऊपर उठाया और निक्कर को घुटनों पर सरका दिया और लंड चूत में लगाने लगा.

उनके हाथ मेरे बदन को छू रहे थे और मेरा लंड हर छुअन के साथ और ज्यादा टाइट हो रहा था.हिंदी की बीएफ वीडियो में: उसके बाद क्या हुआ?दोस्तो, मेरा नाम दीपक है और मैं एक बार फिर से आपके लिए एक कहानी लेकर आया हूँ।जब मैं किसी काम से बिहार गया था तो मैं पटना स्टेशन पर दोपहर 1 बजे उतरा। मेरा काम दो तीन दिन का था और उस वक्त बहुत तेज गर्मी पड़ रही थी।मैं प्लेटफॉर्म से बाहर निकलकर एक कोने में खड़ा होकर जूस पी रहा था.

वो सिसकारने लगी- आह्ह … विहान … आह्ह … उईई … ओह्ह … चूस जा इसे … आह्ह … अंदर तक चोद दे।मैं मौसी की चूत को खाने लगा और फिर मेरा कंट्रोल भी छूटने लगा.उसने कहा- हो गया? निकल गई होशियारी? चल अब बाहर आ और घुटनों के बल बैठ कर मेरा लण्ड चूस, फिर मैं तेरी गांड मारूंगा और फिर इत्मिनान से चोदूंगा तेरी मस्त सी चूत को बहुत ही मस्ती से.

बारिश सेक्सी वीडियो - हिंदी की बीएफ वीडियो में

उसने ओ के कहा और तुरन्त ही उसका गूगल डिओ पर वीडियो कॉल आ गया जिसमें उसने अपने एक एक कपड़े को वीडियो कॉल पर उतारा.आह्ह … चोदे मेरे बच्चे … आह्ह … और चोद।मैं चाची की सिसकारियों से और ज्यादा उत्तेजित हो गया और तेजी से उसकी चूत में लंड पेलने लगा.

उसने आते ही पूछा- क्या बात करनी है?मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी ओर खींचा और अपनी बांहों में ले लिया और उसके होंटों को चूसने लगा. हिंदी की बीएफ वीडियो में आज मैं आपके लिए मेरे साथ घटी घटना को सेक्स कहानी के रूप में सुना रहा हूं.

फिर मैं खड़़े खड़े उसके मम्मों को दबाने लगा; उसके होंठों को चूसने लगा.

हिंदी की बीएफ वीडियो में?

अंकल- अरे मैं हूँ ना … तो अकेलापन क्यों!मॉम- आप क्या कीजिएगा?अंकल- आपकी सेवा. मेरी अगली कहानी गुजराती भाभी की है! अहमदाबाद में जो मजा मुझे मिला है, उसका तो मुकाबला ही नहीं हो सकता. चाची थोड़ी ही देर में लेफ्ट हो गईं, तो प्रियंका भाभी ने मुझसे इस बारे में पूछा.

उसने अपने दोनों हाथों में मेरी चूचियों को भर लिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उन्हें गूंथने सा लगा. मेरे लंड के हर धक्के के साथ दी की नई नई सिसकारियां मेरे मज़े को डबल कर दे रही थीं. मैंने घर से सर के घर जाकर पढ़ने की परमीशन ले ली और अगले दिन सर से बोला- ठीक है सर मैं आपसे पढ़ने को राजी हूँ.

नहाने के बाद मैं कमरे में गया और टी-शर्ट पहन ही रहा था कि वो कमरे में आई और मेरी चूची पर जोरदार दाँत काट कर भाग गई. फिर मैंने उसे थोड़ा ध्यान से देखा तो उसने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी लेकिन साड़ी मोटी होने के कारण पता नहीं चल रहा था. उनके हाथ मेरे दिल पर थे और वो भी ये जान गई थीं कि मेरे तन में क्या चल रहा है.

तो वो बोली भइया- आपका इतना मोटा लन्ड मेरी गांड में कैसे जाएगा? बहुत दर्द होगा. कुछ देर गांड मारने के बाद उन्होंने मुझे सीधा किया और मुझे नीचे बैठा दिया.

कुछ देर चूत चाटने के बाद अम्मी ने शकील का लंड मुंह से निकाला और सुनीता को नीचे लेटा दिया.

भाभी मुझे बाहर लेकर आना चाह रही थी मगर पता नहीं नशे में मैं कुछ और बड़बड़ा रहा था.

भाभी के साथ बेडरूम में नंगी मूवी चला कर टीवी पर भाभी के साथ मस्ती करते हुए चुदाई देखना …सेक्स कहानी पढ़ते हुए भाभी के बदन से खेलना …सारे घर में भाभी को उठा उठा कर चोद देना …भाभी की मोटी चूचियां पी पी कर गांड चोद देना …इस सबमें मुझे जरूरत से ज्यादा मजा आता था. मैं उसके सिर को पकड़कर अच्छे से किस कर रही थी और वो अपने हाथों से मेरे जिस्म को सहलाए जा रहा था. उनकी जवानी का नमकीन रस उनकी चूत से निकल पड़ा और मैंने उस रस का पूरा आनंद लिया.

सेक्स चेट करते हुए वो बहुत चुदासी हो जाती थी।एक बार हमारे लेब में कोई नहीं था तब मैंने उसे किस करने को कहा. मैं धोने का नाटक करती रही और मैंने धीरे धीरे बाबा के लंड की ओर अपनी गांड पास में कर दी. एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से आया, तो मुझे अपनी सीढ़ियों से प्रिया को उतरते देखा.

मैंने पूछा- कैसे?वो बोला- जब तू उसको छेड़े तो उसकी चूत में उंगली करके देखना.

अब मैं खड़ा हुआ और आकांक्षा के पास जाकर उसका हाथ पकड़ कर उससे बोला- यार प्लीज मुझे माफ़ कर देना, मैं पता नहीं मैं क्यों तेरी तरफ खुद ब खुद खिंचा जा रहा हूँ. जैसे ही उसने अपना लण्ड निकाल कर मेरी चूत पर रखा मेरे शौहर सामने आ कर बोले- ये किस टाईप की तलाशी ले रहे हो?उसने गुर्राते हुए कहा- मादरचोर मुझे मत सिखा, मैं ऐसे ही तलाशी लेता हूं, ज्यादा टांय टांय करेगा तो अभी चेन खींच कर सब को बोलूंगा कि टूने मुझ पर हमला किया. फिर ज़ोहरा आपा तैयार होकर ख़ुशी से बन संवर कर हॉल में मेरी बगल में ही बैठ गई.

उसने बोला- उस दिन तुमने पापा को मना क्यों किया था कि तुम नहीं जानते हो कि मैं तुम्हारे कॉलेज में पढ़ती हूँ. और जैसे ही उसने अपनी पैंट उतारी, वैसे ही उसका करीब 7 इंच का सिकुड़ा हुआ लंड उछल कर बाहर आ गया. फिर संजय अंकल सीट पर लेट गए और मैं उनके लोवर को उतार कर उलटी हो गई.

तभी बड़ी बुआ बोलीं- मयूर अभी बच्चों के आने में 3 घंटे बाकी हैं, तू अभी ही हमारे नीचे के बाल साफ क्यों नहीं कर देता?छोटी बुआ बोलीं- हां ये समय सही है.

और नीछ आते आते आखिर में भाभी ने मेरे लंड को पूरा मुंह में ले लिया और उस पर जीभ घुमाने लगी. मैं बोला- ठीक है, आज से हम दोस्त हैं पर इस बात का घर पर नहीं पता चलना चाहिए.

हिंदी की बीएफ वीडियो में फिर उसने मुझे दोबारा से घोड़ी बना दिया और पीछे से मेरी गांड को चाटने लगा. यह बात 3 साल पहले की है, जब मेरी अपनी कजिन सिस्टर के साथ चुदाई की रासलीला चल रही थी.

हिंदी की बीएफ वीडियो में अब मेरा लौड़ा पूरा अन्दर उसकी बच्चेदानी तक जाने लगा।उसने अपनी चूत को टाईट करना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ लंड के झटकों से उसकी सिसकारी निकल पड़ी और इसी दौरान उसके मुंह से सीत्कार फूटे- आह्ह … आह्ह … ओह्ह …ऐसे करके वो झड़ गई और उसकी चूत के पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया. इस बात को अम्मी भी समझती थी पर उसके कम आने से अम्मी प्यासी रहने लगी थी.

मैं एक घंटे ही सो पाई होऊंगी कि तभी मुझे लगा कि कोई मेरी चूत चाट रहा है.

ब्लू फिल्म दीजिए ना

मगर मम्मी की एक सहेली आ गयी थी तो उनकी ही वजह से पूरा खेल खराब हो गया. और अगर इस बात को अपने तक रखोगी तो इस आनंद में तुम भी शामिल हो सकती हो। अब तक सागर भी वहीं नंगा लन्ड खड़ा किये खड़ा था. तो मेरी तड़प को देखते हुए वो मेरी चूत से हट गया और शनाया के मुँह से अपना लंड निकाला और उसने शनाया को मेरे होंठ चूसने को कहा.

हमारी पहले ही बात हो गई थी यानि कि मैंने उसको बता दिया था कि मैं आ रहा हूं. वैसे तो मुझे डर लग रहा था लेकिन अंदर ही अंदर मैं भी चाचा के साथ मजे करना चाह रहा था. उन अंकल के भाई की बेटी नीता मेरी भी दोस्त थी जो उनके घर में रहकर पढ़ाई कर रही थी और मेरे ही कॉलेज में पढ़ती थी।जब मैं अंकल के घर रहने गया तो अंकल की बेटी शिल्पी भी आई हुई थी जो बाहर रहकर पढ़ाई कर रही थी.

मैंने भाभी को जोर से मम्मे के ऊपर चांटा मारा और जोर से दूध दबाने लगा.

सागर अपना हाथ मम्मी की गांड पर रख कर नाइटी की ऊपर से सहलाने, दबाने और मारने लगा।सुधा कुछ देर सागर के होंठ चूसने के बाद दूसरी तरफ मुंह करके 69 की पोजीशन में लेट गयी और सागर का लन्ड उसकी शर्ट्स के ऊपर से ही मसलने और चूसने लगी।सागर भी उनकी गांड से नाइटी उठा कर उसने अपनी उंगलियों पर थूक लगा कर उसमें उंगली करने लगा. मैं थोड़ा संभला और बोला- आई लव यू … माय क्वीन!माधवी बोली- महाराज, आपकी खिदमत में ये नजराना पेश है. अज़ीम मेरा लंड चूस रहा था और मेरे मुँह से आह… आह… की आवाजें निकल कर सिनेमाघर की दीवारों से टकरा रही थीं।अब उन दोनों ने मुझे उठाया और जमीन पर जैसे टट्टी करते हैं वैसे बिठा दिया। मैंने समीर का लंड चूस कर साफ़ कर दिया और उसके वीर्य को अमृत समझकर चाट लिया। अब अज़ीम ज़मीन पर लेट गया और समीर मेरा लंड चूसने लगा।अजीम ने कहा- अपनी गांड को मेरे फेस पर रख दो.

तभी अमित ने मुझे अचानक से खड़ी किया और ज़ोर से किस करते अपने टेबल पे मेरे पूरे कपड़े खोल कर लेटा दिया. मैंने बोला- क्या?उसने कहा- मैं स्पोर्ट्स में था और जो एक बार झगड़ा कर लेता है, उसको स्पोर्ट्स से निकाल देते हैं, मुझे दोबारा स्पोर्ट्स में करवा दो … प्लीज़ मम्मी … आप अंकल से कॉल करवा दो न. उसकी गांड के दोनों पुट्ठे मेरे दोनों हाथों में थे। ये सिर्फ 3 या 4 सेकेंड के लिए ही हुआ था.

… ओकह … मर गई रे … उम्म्ह… अहह… हय… याह… बाबा रे बाबा … कितना बड़ा लंड है आपका. उनके बदन का जितना भी हिस्सा बाहर दिखता था वो ऐसे लगता था जैसे कि मलाई हो.

शकील के टैक्सी चलाने की वजह से उनको अपने परिवार की ज्यादा फिक्र नहीं रहती थी. अब तो आलम ये ही गया था कि रोज रात को दोनों बुआएं बच्चों को सुला कर उनका कमरा बाहर से बंद करके मेरे कमरे में आ जाती थीं और हम चुदाई करते हुए मजा लेने लगते थे. वो करीब 35 साल की होंगी, मगर देखने में 30 साल से ज्यादा की नहीं लगती हैं.

मेरी एक उंगली उसकी योनि के अंदर की गहराई नापने में व्यस्त थी और अंदर ही अंदर सरगम बजा रही थी.

भाभी तो खुशी के मारे चिल्ला रही थीं- अआहाह … ओहहहो … उईईईई और चूसो … आह खा जाओ इस निगोड़ी चुत को. अपने फर्स्ट टाइम सेक्स की भाभी की चुदाई की यह मजेदार कहानी यही ख़त्म करता हूँ. कभी कभी मैं उसके मम्मों और निप्पलों को हल्का सा काट भी देता था, जिससे वो और भी मचली जा रही थी.

गाड़ी हल्की हल्की हिल भी रही थी और उसकी जांघों मेरे चूतड़ों पर आकर लग रही थीं. दोस्तो, काली ब्रा और पैंटी में उसका दूध जैसा गोरा शरीर अलग ही चमक रहा था.

इस एक हफ्ते में चुदवा चुदवा कर अवनीत मस्त हो गई, हफ्ते भर में उसकी चूचियों और चूतड़ों का साइज दो इंच बढ़ गया था. अब से मुझे जब भी भाभी को चोदने का मौका मिलता है, तो मैं भाभी को चोद लेता हूँ. इशा- आह मम्मी मर गई … बस आह बहुत मोटा है … निकालो बाहर राजीव … बस हो गया.

சன்னிலியோன் செக்ஸ்

भाभी ने मेरे होंठों पर चुम्बन किया और बोलीं- पहले मूड बना लेते हैं.

अब वो मेरी जींस फाड़कर बाहर आने को हो रहा था। मैंने नीता को और अधिक कसकर पकड़ लिया और उसे और जोर से किस करने लगा।मेरा लन्ड अब नीता की चूत में लगने लगा था। नीता ने मुझे थोड़ा दूर किया और नीचे बैठ कर मेरी जीन्स को खोलकर मेरे अंडरवियर में से लंड को बाहर निकाल कर हाथ से मुठ मारने लगी. फिर मैंने मम्मी को डॉगी स्टाइल में किया और उनकी गांड में अपना लंड दे दिया. ये समझ कर वो यीशा को दूसरे रूम में खींच कर ले जाने लगा और यीशा भी चुपचाप उसके साथ चली गई.

मैं खेत के अंदर ही बैठा हुआ अपनी गांड से गिर रहे उसके माल को हाथ में लेकर सूंघ रहा था. उमेश सर ने कहा- आज से तुम्हारा नाम मेरे लिए गुड़िया रानी है … और अभी तुम लड़कियों जैसे ही बर्ताव करना. सेक्सी फिल्म खेसारीमैं उसकी चूत चुदाई करना चाहता था पर रिश्तों में चुदाई में डर लगता है.

दोस्तो, मैं राज आपको देसी नंगी भाभी सेक्स स्टोरी के पिछले भागहवस की मारी भाभी की जोरदार चुदाई कीमें बता रहा था कि बिस्तर पर नंगी पड़ी माधवी भाभी के जिस्म पर मैं मेहंदी और रंग से डिजायन बना रहा था. उसने मेरे लंड का रस पीने की मंशा जाहिर की तो मैंने लंड चूत से निकाल कर उसके मुँह में लगा दिया.

उसके बाद मेरे साथ और भी इस तरह के कई सारे अनुभव हुए, लेकिन वो सब मैं आपको फिर कभी बताऊंगी. उसके नग्न होने के बाद मैंने टाईलेट के कमोड को ढक कर उसे उस पर बैठा दिया और अपनी चूत उसके लण्ड में घुसा कर उसके गोद में बैठ गई. मैं समझ गया और आराम से धक्का मारा क्योंकि उसकी चूत बाजी से ज्यादा छोटी थी.

बाथरूम में वैन्टीलेटर से झाँक कर मैंने अन्दर देखा, तो मॉम ब्लाउज और पेटीकोट में अपने कपड़े धो रही थीं. मैंने उसे हैलो बोलते हुए अपना हाथ आगे किया, तो उसने घबराते हुए केवल मुँह से हैलो बोल दिया. इतना कह कर उन्होंने मेरी गांड पर एक ज़ोरदार चांटा मारा और स्माइल करने लगे.

उसकी आंखों से आंसू निकल रहे थे और मैंने देखा तो उसकी चूत से भी खून निकल रहा था.

चूंकि उधर उस समय हल्का सा अंधेरा हो गया था, तो बहुत से कपल भी अपने अपने इसी काम में लगे हुए थे. मेरे शौहर चुप हो गये और उसने मेरी कमर पकड़ कर एक झटके से अपना लण्ड मेरी चूत में घुसा दिया.

कुछ देर तक पैंटी के अंदर ही चूत को सहलाने के बाद वो सिसकारने लगी थी. तब तक सागर छत पर चला गया था।जूही के सो जाने के बाद मामी पूरी नंगी होकर छत से सागर को बुला लायी और सागर के कपड़े उतार कर उसी कमरे पर और उसी बेड पर दोनों शुरू हो गये जिसपे जूही सोई थी।कुछ देर बाद मामी सागर के लन्ड पर चढ़ कर चुदाई का मज़ा कामुक सिसकारियों से ले रही थी. मेरे पास चाभी थी तो मैं दरवाजा खोल कर सीधा अन्दर चला गया और अपना असाइनमेंट ले लिया.

वो भी पूरे जोश से जीभ को ऊपर से नीचे तक चलाते हुए मेरी चूत और गांड के छेद को चाट रहे थे. फिर मैंने उसका पट्टा जोर से खींचा और उसकी चूतड़ों पर कस कर एक बेल्ट मारी. इस बारे में ज्यादा कुछ न बोल कर वो फिर से लंड अन्दर लेकर जोर जोर से चूसने लगी.

हिंदी की बीएफ वीडियो में मैं पूरी रात करवट बदलता रहा और सोचता रहा कि मैंने ऐसा कैसे कर दिया. अब हम दोनों दोस्त, जो रिश्ते में बाप बेटे बन गए थे, हैवानों की तरह मम्मी पर चढ़ गए.

हिंदी में सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियो

उस दिन मॉम ने कहा कि आज शाम को मेहमान आने वाले हैं इसलिए मैं आज कुछ स्पेशल बनाऊंगी. उसने मेरा पेंट खोल के अंडरवियर जैसे ही नीचे किया, मेरा तना हुए लंड सीधे उसके मुँह पर लगा. भाभी 34-28-38 के मादक फिगर वाली मस्त माल थीं और आज के मेकअप में तो वो एकदम कुंवारी लौंडिया सी लह रही थीं.

प्रिया- आहह हहह हहह सर ऐसे ही कीजिये … मज़ा आ रहा है … आआहह … उह्ह्ह ह्ह हां … और ज़ोर से चोदो न … और ज़ोर से आईईई … सर प्लीज आह … मैं बस तुम्हारी हूं … हां और उह्ह्ह्ह ह्ह ज़ोर से चोद मुझे … उह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह. मेरा लंड खड़ा होने लगा क्योंकि घर में हम दोनों के अलावा कोई नहीं था. इंग्लिश सेक्सी पिक्चरेंमैं- हां जी कौन!निशा भाभी- अच्छा जी इतनी जल्दी भूल भी गए हमें!मैं- कौन!निशा भाभी- वो ही, जिसे नंबर दिया था.

दो-तीन मिनट तक पूरा दम लगाकर उसकी चूत में धक्के लगाते हुए मेरी सांस फूलने लगी.

फिर मैं रिंकी के पास गया और बोला- अब क्या प्लान है रानी साहिबा का?इस पर वो बोली- जैसा आप चाहो … वो ही होगा हुक्म साहब. मां ने लगभग नंगी होकर मुझसे बोलीं- चल अब जल्दी से मेरी अन्दर तक वो मालिश कर दे जैसी तूने कल की थी.

बहन की चूत, साफ साफ क्यों नहीं बता रही कि गोली तुझे ही चाहिए है खाने के लिए! चौधरी साहब ने भी न जाने क्या खाकर बेटी पैदा की है कि जन्नत की हूर हो गई है. प्रशांत और मैंने मम्मी का बहुत ध्यान रखा और प्रेगनेंसी में भी उन्हें चोद कर खुश किया. अगर मेरी इस कहानी को पढ़कर किसी हसीना की, किसी कमसिन लड़की की और मेरी प्यारी भाभियों की चूत गीली हो जाये तो अपने इस आशिक़ को सलाम अवश्य करना।मेरी शादी के लगभग 1 साल बाद ही संदीप की शादी भी होने वाली थी.

मैंने उसे हिलते हुए चूचे देख कर सोचा अगर ये पेलने को मिल जाए, तो मज़ा आ जाए.

उसकी गांड और अपने लन्ड पर क्रीम लगा कर अपने लन्ड को उसकी गांड की छेद पर रख कर हल्का सा धक्का दिया. सत्यम के सीने से लग कर आज मुझे पहली बार इतना सुकून मिल रहा था, जितना कभी अपने पति की बांहों में नहीं मिला था. मैं भी खुश था लाइव पोर्न देख कर को भी अपनी बहन का जो कि खुद किसी पोर्नस्टार से कम नही।आगे मैं बताऊंगा कि कैसे सौरभ मेरी बहन को अपने दोस्तों के साथ चोदने के लिए बुलाता है और मेरी बहन एक परेशानी में फंस जाती है।मेरी चालू बहन की चूत और गांड चुदाई की कहानी कैसी लगी?[emailprotected].

देहाती बफ वीडियो सेक्सीमुझे पता लगा कि मौसी ने नीचे से पैंटी भी नहीं पहनी थी।मैं धीरे धीरे अब मौसी के पूरे चूतड़ पर हाथ फिराने लगा।मेरा लंड खड़ा हो गया था और अब मन कर रहा था कि मैं मौसी की गांड की दरार में भी हाथ से सहलाऊं. मॉम उनको गांड चोदने के लिए मना कर रही थी लेकिन वो लगातार गांड में लंड के धक्के लगाने की कोशिश कर रहे थे और मॉम की गांड को खोलना चाह रहे थे.

की चुदाई की वीडियो

मगर शर्म के कारण मैंने उनका हाथ झटक दिया और अपने दोनों हाथों से अपनी चड्डी छुपाने लगी।उस समय मैं 55 किलो की थी मगर जीजा ने एक झटके में मुझे अपनी गोद में उठा लिया। उनकी मजबूत बांहों में मैं किसी गुड़िया की तरह थी।उन्होंने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और तुरंत मेरे ऊपर आ गए और मेरे गालों, होंठों को चूमने लगे. एक बार मैं जबलपुर से इंदौर आ रहा था। इंदौर पहुंचने बाला ही था कि मुझे नींद आ गई। आरक्षण नहीं होने की वजह से मैं जनरल बोगी से आ रहा था। ट्रेन इंदौर पहुंच गई, मैं सामान वाली सीट पर सो रहा था। सारे यात्री उतर गये, मैं लेकिन फिर भी मैं सोता रहा. हम दोनों ने एक लम्बी किस की और मैंने उनका अधखुला ब्लाउज और ब्रा निकाल कर फेंक दी.

आज इसके हुस्न के गहरे समुन्दर में गोता लगा ही लूंगा और यदि चारू ने कोई आनाकानी की तो सॉरी बोलकर माफी मांग लूंगा. वो मेरे हाथ को अपनी चूत पर जोर से दबा रही थी ताकि मेरी उंगली उसकी चूत में और ज्यादा मजा दे. तभी मैंने देखा कि राजीव खिड़की के पास खड़ा था और हम लोगों की चुदाई देख रहा था.

चूत लंड में तेल लगा के होने के कारण मेरा लंड एकदम से मां की चुत में घुसता चला गया. फिर भाभी ने मेरे लंड पर सिर्फ हाथ ही लगाया था कि मेरा लंड तो फिर से खड़ा हो गया और पत्थर की तरह एकदम कड़क हो गया. लेकिन अब तो मेरी शादी हो चुकी है और उसकी भी!अब वह मुझ से बात नहीं करता क्योंकि उसकी वाइफ उस पर शक करती है.

वो मुझसे कहने लगी कि मुझे इस गुलाब के फूल का कितने समय से इन्तजार था. वो मेरे लंड को चूसने में लगी रही और मैंने उसके मुंह में ही अपना माल गिरा दिया.

अब मैंने सोचा कि अच्छा हुआ मैंने नीता का नाम नहीं लिया वर्ना पता नहीं क्या हो जाता.

उसने हम दोनों को एक साथ बाथरूम में जाते देख लिया और बाथरूम में चुदाई की सारी आवाजें सुन लीं. बाप बेटी का सेक्सी हिंदी मेंहमें पता था कि घर में यह सब नहीं कर पाएंगे, इसलिए थोड़ा अच्छा नहीं लग रहा था. ஸ்க்விடிவ்ஸ்मैंने उससे कहा- भाई का कहना नहीं मानेगी क्या?ऐसा बोला तो वो मुझसे दूर होकर अपने रूम में जाने लगी. उसने मेरी तरफ सवालिया निगाहों से देखा, तो मैंने आंख दबाते हुए उससे उसकी जीएफ के लिए कहा.

अब जब भी अम्मी और शकील पास बैठते थे, तो मैं अम्मी के फोन में वॉइस रिकॉर्डिंग लगा कर ऑन कर देता था.

मैंने पार्क में थोड़ी एक्सरसाईज की और पार्क के दो तीन चक्कर धीरे-धीरे दौड़कर लगाये. जब मैंने गौर किया तो देखा कि दीदी के मम्मे कुछ ज्यादा ही बाहर थे और उनकी लाल ब्रा तक साफ दिख रही थी. धीरे धीरे वह भी मजे की समंदर में गोते लगाने लगी, उसकी सिसकारियां तेज़ होने लगी.

मैंने बिना टाइम वेस्ट किए भाभी को पीछे से उठा कर अपनी गोद में उठा लिया और उन्हें ऊपर कर दिया. शादी भी हो गयी और सब लोग लौट भी गये मगर उस भाभी का पता नहीं लग पाया. फिर धीरे से उसने लंड के टोपे वाली चमड़ी को पीछे हटाकर टोपे पर चूम लिया.

चोदा चोदी की सेक्सी पिक्चर

उसका एकदम गोरा बदन, इस समय ब्रा पैंटी में वो किसी ब्लू फिल्म की रंडी से कम नहीं लग रही थी. वो बोली- राज नहीं।मैंने कहा- आज तुम मेरी बीवी हो और अपने पति को खुश करना तुम्हारा काम है।फिर मैंने उसकी गान्ड में तेल लगाया और उंगली घुसा दी. तो मेरे प्यारे दोस्तो और भाभियो, रिश्तों में चुदाई की मेरी यह सच्ची सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल जरूर करना।[emailprotected].

भाभी के पति कहीं बाहर काम करते थे और वो अकसर कई कई हफ्तों या महीने भर से ज्यादा दिन के लिए शहर से बाहर रहते थे.

तो मैंने अपना लन्ड उसके चूत से निकल लिया।दवा अपना असर दिखा रही थी। फिर मैं पीहू को घोड़ी बनाकर पीछे से अपना लन्ड उसकी चूत में डाल कर उसकी कमर पकड़ कर उसे चोदने लगा.

वो कह रहे थे कि अगर तुम रूम में अकेले परेशान हो रहे हो तो तुम उनके घर पर रह सकते हो जब तक लॉकडाउन ख़त्म नहीं हो जाता।अंकल मेरे पापा के दोस्त थे और मेरी स्कूल की दोस्त के चाचा भी थे। मेरी दोस्त का नाम नीता है और वो मेरे ही स्कूल में पढ़ती थी मगर वो मुझसे एक क्लास पीछे थी।नीता के अंकल और मेरे पापा दोनों पहले से ही दोस्त थे. यह घटना तब की है, जब मैं 19 साल का था और रायपुर में रह कर बीएससी कर रहा था. लडका लडकी कासोते सोते ज़ोहरा आपा को पेशाब की हाजत हुयी तो वो उठ कर टॉयलेट जाकर नींद में वहीं सोफे के ऊपर सो गई.

लेकिन बाद में मेरे दिमाग एक बात आई कि अगर जल्दी मेरी कोई औलाद ना हुई तो मेरे सास ससुर मुझे ताने मारने लगेंगे. हालांकि ये पल मेरे लिए सोचने वाले थे, लेकिन दोस्तो, मैं ये समझता था कि बिना पति के मौसी की जिन्दगी जीना दुश्वार था. चाची सिसकारते हुए अपने चूचे दबाने लगी और बोली- आह्ह … अनुराग … घुसा दे अब … आह्ह … चोद दे ना अब जल्दी!मैंने कहा- ठीक है चाची।फिर मैंने उसकी चूत में लंड पेल दिया.

मेरी मामी की वासना स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी मामी ने मेरे ही बॉयफ्रेंड को पटा कर उससे चुदकर अपने जिस्म की प्यास बुझायी. मैं उन दोनों पर शक करने लगा। मैं वापिस उनके कमरे की तरफ गया तो वह अंकल मेरी माँ को चूमने के लिए कोशिश कर रहा था.

अभी अर्चना भाभी अपनी एक्टिवा पर जा कर बैठी ही थीं कि उन्हें याद आया कि वो एक्टिवा की चाबी तो भूल ही आई हैं.

जिस आदमी की बाइक को मैंने टक्कर मारी थी, इंस्पेक्टर उसके सामने ही मेरी चूत को चोदने लगा. आप ये सब पढ़ कर बोर हो रहे हैं, पर मेरी कहानी यहां से ही शुरू होने वाली है. मैम मुझसे दूर हुए जा रही थीं पर मैं उनको अपने बांहों में थामे उनके बेडरूम में लेकर चला गया.

देसी भाभी सेक्सी वीडियोस भाभी वासना से भरी आवाज में बोलीं- बहुत गर्म है … जरा ध्यान से लेना. लंड को अंदर डालकर मैं मौसी के ऊपर लेट गया और उसकी चूत में धक्के लगाने लगा.

मां ने कहा- ठीक है, तू मालिश करने के तेल निकाल … तब तक मैं पेटीकोट निकाल देती हूँ. हम उस किराए के कमरे में दो महीने रहे और रोज चुदाई की।लगभग दो महीने घर से बाहर कमरे में रहने से मैं परिवार से दूर रहा।एक दिन नजमा बाजी मुझे दुकान पर मिलने आयीं और घर वापस आने को बोलीं तो मैंने मना कर दिया. फिर बाजी बोली- इमरान यकीन नहीं होता कि तूने और रुबीना ने एक बच्चा पैदा कर लिया और परिवार की तरह रहते हो।मैंने कहा- बाजी, मगर अम्मी और नजमा बाजी को ये हराम लगता है.

सेक्सी इंग्लिश नंगी पिक्चर

फिर मैंने भाभी का पेटीकोट भी उतार दिया अब वह मेरे सामने केवल ब्रा और पेंटी में थी. वो बोली- यहां पर इतना बाल होता है क्या?मैंने सोनी से कहा- जब तुम और जवान हो जाओगी तो तुम्हारी बुर भी ऐसे ही बालों से भर जाएगी. अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और मैं उसके होंठों को चूमते हुए चूसने लगा.

फिर मैंने दो उंगलियों को अन्दर डाला, तो उसकी आंखों में दर्द का अहसास झलका, लेकिन वो उंगलियों का मजा लेती रही. उसके इस रिएक्शन पर मैंने उसके मन के विचारों को थोड़ा भांप लिया था, मैं जान गया था कि वो भी मेरे तने हुए लौड़े को ही ताड़ रही थी.

मैंने कहा- जीजू, मैं दर्द को सह लूँगी, आप बस मेरी चुदाई करो!इस बात पर उन्होंने दूसरा धक्का मारा तो पूरा लन्ड मेरी बुर में समा गया, जीजू के मोटे लंड के मेरी बेचारी बुर में जाते ही मेरी दर्द भरी सिसकारी निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ लेकिन मेरी औलाद पाने की चाहत ने जल्द ही उनके लंड को सहन कर लिया.

फिर मामी ने मेरे कान में धीरे से कहा- पहले अपने कपड़े उतार लो।मैं बाथरूम में गया और जल्दी से अपने कपड़े वहां पर टांग कर आ गया. मैंने कहा- अब तू कुछ भी बोल लेकिन मैं तेरी गांड तो चोदकर ही रहूंगा. शकील ने अपना लंड बाहर निकाल कर अम्मी की गले में उतार दिया जिसकी वजह से इनकी सांस तक रुक गई.

उसके बाद उन्होंने मेरी पैंट को खोल दिया और अंडरवियर भी नीचे कर दिया. इतने में ही तेज तेज हवा चलने लगी जो तूफान की तरह अंदर झोंके लेकर आने लगी. उन्हें देख कर मुझे प्रशान्त से जलन हो रही थी कि काश मैंने मां से शादी की होती, तो मम्मी के साथ बिस्तर पर मैं होता.

मैंने पूरी ताकत से धक्का मारा और एक ही झटके में मेरा पूरा लंड भाभी की चूत के अन्दर चला गया.

हिंदी की बीएफ वीडियो में: मैंने भाभी को थैंक्स कहा और उनसे पूछा- क्या आप चाय लेंगी?उन्होंने कहा- नहीं, मैं केवल ग्रीन टी पीती हूँ. और झड़ने के बाद मैंने माँ को गले लगाया और शुक्रिया कहा।उन्होंने कहा- बेटा, अभी तो जरूरी काम बाक़ी है।वो मेरे लण्ड को सहलाती रही थोड़ी देर में ही लण्ड फिर से टनटनाने लगा।मैंने माँ को सीधा लिटाया और और उनकी टांगों को फैलाया और माँ ने मेरा लण्ड अपनी चूत पर सेट किया.

मेरी बीवी यीशा का फिगर 32-28-34 का था और हमारी शादी बहुत अच्छी चल रही थी. वो दर्द के मारे चिल्लाने वाली ही थी लेकिन मैंने उसके मुँह को हाथ से दबा दिया. दुल्हन के घर के पास तो और जोश के साथ नाचा जाता है क्योंकि भाई की सारी कमसिन सालियां तो वहीं मिलेंगी न.

चुदाई के पहले ही मेरी बुर काफी गर्म हो गयी थी और उनका लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था, जिससे मेरी चूत में अजीब सा अच्छा मजा आ रहा था.

बस तू तैयार रहना।”मैं उनसे अलग हुई और अपने कपड़े ठीक करके बोली- अच्छा. मम्मी प्रशांत के लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे वो जन्म जन्म की प्यासी हों. कुछ देर बाद वो खुद बोलने लगी- और डालो … आह्ह … और जोर से झटका मारो … पूरा घुसा दो अंदर तक … आह्ह … चोदो … आह्ह।मैं भी उसकी चूचियों के निप्पल को दांत में पकड़ कर उसको चोदने लगा.