बीएफ नंगे सीन

छवि स्रोत,बाल वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चोदी चोदा वाला: बीएफ नंगे सीन, उसकी सिसकारियाँ निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’उसने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के छेद के बीच में रखा और बोली- अब देर क्यों लगा रहे हो? जल्दी से घुसा दो ना एक बार!उसकी वासना की आग को देखते हुए मैंने भी अब देर करना उचित नहीं समझा और मैंने एक झटके में आधा लंड उसकी चूत में पेल दिया.

देसी भाभी सेक्सी बीएफ

”तुम बिल्कुल मत डरो, तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा, बस तुम अपनी टांगें फैलाये रखना, कुछ लगे तो मुझे बेझिझक बता देना, पर टांगें मत हिलाना. सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ सेक्सीबाद में जब मैंने उससे जोर दे कर पूछा तो उसने हंस कर कहा- तुम बुद्धू हो.

मैंने सोच लिया था कि मां की चूत की चुदाई का किसी न किसी तरह इंतजाम करना ही होगा. ब्लू बीएफ हिंदी में वीडियोउसके बाद रात के 12 बजे तक हम सब लोग ऐसे ही मस्ती करते रहे फिर हम लोग भाई के रूम में ही सो गए.

मैंने पहले तो लंड को बाहर से भाभी की चूत पे सहलाया और उन्हें गरम करने लगा.बीएफ नंगे सीन: पर मुझे अभी नींद नहीं आ रही थी और परीक्षित भी मेरी टी-शर्ट को ऊपर करके मेरी नंगी पीठ को सहला रहे थे.

माँ- क्या उम्र थी उनकी?मैं- एक 23 की थी एक 24 की और एक 42 साल की थी.मैं देर से इसलिए झड़ा क्योंकि एक बार में उसकी चुत में लंड डालने से पहले ही झड़ चुका था.

बीएफ ब्लू फिल्म एचडी में - बीएफ नंगे सीन

फिर उन्होंने भी देर नहीं की और चिंटू ने मुझे उनकी गोदी में उठा कर अपने लंड को मेरी चूत में फंसाने लगा.फिर मैं और दिव्या साथ निकले, अवी ने दिव्या को बस स्टाप पर उतार दिया.

अब साहब ने मेरी चूत में पीछे से लंड डाल दिया और जल्दी जल्दी चोदने लगे. बीएफ नंगे सीन बुआ के साथ हिन्दी इन्सेस्ट कहानी पर अपने विचार मुझे बताएं![emailprotected].

इसके अलावा वह शादीशुदा लग रहा था, मतलब उसे रोज़ चुदाई करते हुए अच्छा अनुभव हो चुका था और अपने चोदू लंड से बड़ी आसानी से वह मेरी लंड की प्यास बुझा सकता था.

बीएफ नंगे सीन?

मैंने जीभ निकाल कर विनय के लंड को चाट लिया और साफ करके बोली- इससे अच्छा टेस्ट किसी चीज का नहीं है. अगले दिन सुबह जब हम दोनों उठे, तो दीदी ने मुझे हमेशा की तरह एक हल्की सी मुस्कान दी और चली गईं. बहुत सा प्यार भी चाहिए इसलिए मैं उन्हें पूरा खुश करने की कोशिश कर रहा था.

उनके मुँह से लगातार ‘आहह्ह्ह आहह ऊह्ह्ह आऔऊ आहह्ह…’ की आवाजें आ रही थीं. पर मुझे अभी नींद नहीं आ रही थी और परीक्षित भी मेरी टी-शर्ट को ऊपर करके मेरी नंगी पीठ को सहला रहे थे. वो हमेशा की तरह मेरे मम्मों को टच कर रहा था, पर लाइट्स ऑफ होने की वजह से किसी और को ये दिख नहीं रहा था.

मैं अपने लिंग-मुंड को वहीं अटका छोड़ कर प्रिया के ऊपर लम्बा लेट गया. ”यह सुनकर मेरा चेहरा उतर गया तो उसने मुझे आश्वासन दिया- फ़िक्र मत करो. इसके बाद 10-15 मिनट तक धक्के लगाने के बाद मैं झड़ा, इतनी देर में वो दो बार झड़ चुकी थी.

मैंने उसे अन्दर खींच लिया और दरवाज़ा लगा कर मैं उसको वहीं पागलों की तरह चूमने लगा. आज तक किसी भी लड़की या भाभी ने ऐसे मेरा लंड नहीं चूसा था, जैसा मीषा ने आज लिया था.

उसके बाद मैं धीरे धीरे होंठों से होकर कानों तक गया और उसके कानों को धीरे धीरे काटने लगा, जिससे उसकी मादक सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ने लगीं.

अब उन लोगों ने मुझे सीधा लिटा दिया, मेरी टांगों को उठा कर दो लड़कों ने अपने कंधे पे रख लिया और फिर मेरी चुदाई शुरू हो गई.

जैसे ही बनता है, मैं बता दूँगी।ऐसे ही हमारी रोज बात होती रही और मधु भी अब बिना शर्म के खुलकर बात करती और हम सेक्स चैट करते। परन्तु मिलने का कोई प्लान नहीं बन पाया। ऐसे ही एक दिन मधु का फोन आया वो बोली- यार सुनो. उसकी बात फ़ोन पर खत्म हुई और वह खड़ा हुआ तो उसकी हाईट और चोदू अंदाज़ का मैं कायल हो गया. मैं बिल्कुल तड़पने लगी; मुझसे रहा नहीं जा रहा था; मेरे मुंह से अपने आप आवाज निकालने लगी- ऊंहहह आहहहह… मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा! कुत्ते क्या कर दिया!टीवी की आवाज़ तेज थी इसलिए आवाज वहीं रुक गई.

आज का दिन मैं दिल खोल कर जी लेना चाहती थी क्यूंकि मैं जानती थी, मुझे दूसरा मौका कभी नहीं मिलेगा. वो मुझे देखते ही बोला कि सॉरी उस वक़्त मैं कुछ नहीं कर पाया मगर बाद में मैंने पुलिस स्टेशन पर फोन कर तुम्हें छोड़ने की रिक्वेस्ट की थी. मैंने उसके बाल पकड़े और अपने लंड पे उसका मुँह दबाने लगा और उसका मुँह चोदने लगा.

मैंने भाभी को पूरा भरोसा दिलाया कि भाभी मैं आपको माँ बना कर ही छोडूंगा.

मैं ये सब मिंकी को समझा ही रहा था तब तक रेहाना ने मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और उसका सुपारा खोल कर अपने मुँह में भर लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी और उसने मिंकी को एक हाथ से पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया और घुटने के बल बैठा कर उसका मुँह मेरे पोतों पर लगा दिया और कहा- मिंकी, तू इनके पोते चूस!मिंकी मेरे पोते चूसने लगी. दोस्तो, मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है? मेल के माध्यम से मुझे अपने विचार बतायें।धन्यवादआपका अपना शरद सक्सेना[emailprotected][emailprotected]. पायल बोली- वीशु, आप अपने लंड का बीज मेरी चूत में नहीं बल्कि मेरे मुँह में निकालना क्योंकि मैं तुम्हारा बीज पीना चाहती हूँ.

अब भाभी अपनी कमर उठाकर मेरी उंगली अपनी चूत में अन्दर तक ले रही थीं. मैं उसे नोट्स लाकर देने लगा तो देखा कि वो मेरी बुक्स के बीच में पड़ी एडल्ट पिक्स वाली बुक को ध्यान से देख रही थी. वो हंस कर बोलीं- तुझे अच्छे लगते है मेरे ये सब आइटम?मैंने कहा- बहुत ज़्यादा.

जिसकी वजह से उसकी 32 इंच की कठोर चुचियां ऐसे ऊपर नीचे हो रही थीं, जैसे दो पहाड़ हिल रहे हों.

इन सब में काफी टाइम हो गया था और उसके घर वाले भी आने वाले थे, वो कपड़े पहन कर चली गई. मैं सुपर फास्ट स्पीड से सेजल भाभी के मुलायम चूतड़ों में अपनी उंगलियां घुसेड़ कर जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

बीएफ नंगे सीन आपको मेरी लिखी हुई सेक्सकहानियाकैसी लग रही हैं, मुझे मेल करें![emailprotected]कहानी जारी है. तब मुझे ये सब नहीं देख रहा था, मेरे ऊपर तो बस चोदने का भूत सवार था.

बीएफ नंगे सीन ऐसा लगता था कि दीदी को बस अब लंड चाहिए था, जो उसकी चुत में घुस कर उसको कुतिया की चोद दे. उसने खुद को समर्पित कर दिया था और मैंने भी उसे अपनी नंगी छाती से चिपका लिया हम दोनों के तन की गर्मी ने एक दूसरे को प्यार का अहसास करना शुरू कर दिया था.

जब रात को मैं रूम पर पहुँचा, तो वो भूखी शेरनी के जैसे मुझ पर टूट पड़ी और मेरा लंड निकाल कर चुसकने लगी.

ऐश्वर्या राय बीएफ सेक्सी वीडियो

मैं उसकी चूचियों को अपनी मुट्ठी में लेकर उसके ऊपर किसी कुत्ते सा चढ़ा हुआ था. करेले की पूंछ पीछे लटक रही थी… ऐसा लग रहा था जैसे कोई मोटा चूहा दीदी की चुत में घुस रहा हो, जिसकी पूंछ बाहर लटक रही हो और दीदी अपने बालों को नोंच कर चिल्ला चिल्ला कर चूहे को अन्दर घुसने दे रही हैं. यह सुन कर मैं थोड़ा घबरा गई, मैंने सर से पूछा- आपने मुझे क्यों बुलाया है?उन्होंने कहा- मैं तुम्हें पास तो कर दूँगा लेकिन मुझे भी कुछ चाहिए.

यह घटना अभी कुछ दिन पहले ही घटित हुई है, मैं अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई 2015 में समाप्त करके जॉब की तलाश मैं दिल्ली आया, यहां मैं नॉएडा में रहता हूँ. इस बार मेरे लंड को बहुत ज़्यादा गर्मी महसूस हुई, मानो जैसे मैंने तपती हुई भट्टी में लंड घुसा दिया हो. अपने नवीन के लिए थोड़ा सा दर्द सहोगी?उसने बोला कुछ नहीं बस आँखों ही आँखों में देखती रही और मुझे इशारों में ही इजाजत मिल गई.

किस्मत से उसने मुझे भी साथ चलने को कहा, मैंने पहले थोड़ी न नुकुर की फिर हां बोल दिया.

अब चाहे खून की नदियाँ क्यों न बह जाएं, मेरी गांड के मालिक अब तुम बन कर रहोगे. कल जब मैंने इसको आपके लंड के बारे में बताया था तब से ही ये भी आपका लंड देखना चाहती है और उसे अपनी चूत में डलवाना चाहती है. तभी आर्मी वाले अंकल, जिनका नाम सुरेश है, जेब से 2000 के दो नोट निकालें और मेरे हाथ में दे दिए- आरती, यह तुम्हारे बॉडी मसाज के लिए है.

ये बात उसने अपने पति से भी छुपाई हुई है और उसने वादा किया है कि वो जब जक जिएगी उसके पास हमारी ये निशानी बनी रहेगी. भाभी अपने पैर के अंगूठे से मेरे पैर को सहला रही थी और मुझ से नीलू की कहानी पूछने लगी. मैंने उसके गालों पर चूमा तो वो मुझसे लिपट गई और बोली कि मेरे साथ तुम सेलिब्रेट नहीं करोगे?मैं हामी भर दी और मैंने पहले उसके बालों में गजरा लगाया.

मगर एक दिन सबके जाने के बाद चाची ने मुझसे कहा कि आकाश मैं नहाने जा रही हूँ, तुम यहीं बैठो… फिर हम साथ में चाय पिएंगे. ऐसा जब दो तीन बार हुआ तो भाई साहब ने भी हिम्मत कर मेरे हाथों को सहलाना शुरू कर दिया.

चाची मुझसे छूटने की कोशिश करने लगीं, मुझे धक्के देने लगीं और बोलीं- ये सब गलत है. जब उसका लंड पानी छोड़ने को हुआ तो वो बोला- अपना मुँह खोलो, उसमें पानी डालूँगा क्योंकि चुदाई करने से पहले मैंने कोई सावधानी नहीं ली. दूसरे दिन मैंने एक महंगे शोरूम से एक ब्राइडल ट्रांसपेरेंट ब्रा और जी-स्ट्रिंग पेंटी के साथ एक बेबी डॉल नाइटी खरीद कर पैक करवा ली.

किस्मत ने कैसे मेरे लिए उसकी चूत का रास्ता खोल दिया, ये जानने के लिए मेरी इस सेक्स स्टोरी को जरूर पढ़ें.

कुछ देर में इसी तरह एक दूसरे को रगड़ सुख देते हुए हम लोग नदी किनारे पहुंच गए. नहीं तो ज्यादातर अमीर लोग तो अपने काम से काम रखते हैं।मैंने कहा- ये सब छोड़ो, ये तो मेरा फ़र्ज़ था. इस तरह से उसने चार लम्बे पैग खींचे और इसके बाद हम लोगों ने खाना खाया.

मैंने कहा- मैं कुछ समझा नहीं?वो बोली- तुमको मुझे यानि मेरी कामवासना को संतुष्ट करना है, मेरे साथ सेक्स करना है. उसने कुछ नहीं बोला, बस मुझे अपनी ओर खींचा और मेरे होंठों पे अपने होंठ रख दिए.

एक दिन मेरे कमरे में पीने का पानी नहीं आया था और मेरे पास भी पीने का पानी खत्म हो गया था. कुसुम आगे बोली- देखो, मैंने तुम्हें कल अपना लाइव शो भी दिखवा दिया था उससे तुम्हें पता लग गया होगा कि लड़की को कैसे और क्या क्या करना होता है. क्या मेरी चूत में कुछ गड़बड़ है?”अरे इतनी सी बात और तुम आंसू बहाने लगी, मुझे दिखाओ, मैं ढूंढ कर बताता हूँ.

रंडियों की बीएफ वीडियो

पर तुम्हें भी बना दूँगा।यह कहते हुए मैंने लण्ड को उसकी गाण्ड पर चिपका दिया और हाथ आगे ले जाकर पेट को सहलाने लगा।वो बोली- जनाब थोड़ा वेट करो.

तुम्हें पापा से पूरी सैलरी भी मिलेगी और अगर हम लोगों का कहा माना तो कुछ अलग से भी मिलेगा. एक खिड़की किसी ने खींच कर खोल भी दी और हम दोनों को उसी चुदाई की हालत में देख कर बहुत जोर से जीजा को गाली देकर वो चिल्लाया, बोला- दरवाजा खोल गांडू शुक्ला!जीजा फटाक से डर के उठे, बोले- मकान मालिक है, साली चिल्लाकर गड़बड़ कर दी!और उठ खड़े हुए, जल्दी से सिर्फ अंडरवियर पहना. वन्द्या तो सील पैक माल थी, इतनी बदनाम होकर भी आज तक इसकी सील बची रही, गजब की बात है, इसे आज अपनी रंडी बना दिया, अब आज से यह फुल रंडी बनने लायक हो गई, इसकी चूत का उदघाटन मैंने कर दिया है। अब यह किसी से भी चुदाई करवा सकती है, आज मैंने वन्द्या की सील तोड़ दी।और जोश में आकर जम कर अपना लन्ड अंदर बाहर करने लगे। कुछ मिनट तक मुझे लगा कि मैं मर गई… मैं बेहोश तक होने लगी.

तत्काल प्रिया ने मेरे सर के पीछे से बाल पकड़ मुझे थोड़ा परे धकेलने की कोशिश की लेकिन मैं ऐसे कैसे पीछे हटता!मैंने अपनी वही पुरानी तक्नीक अपनायी, लिंग थोड़ा सा योनि से बाहर खींच कर जहाँ था, फिर से वही पहुंचा दिया, फिर थोड़ा बाहर निकाला और फिर जहाँ था, वही पहुंचा दिया, ऐसा मैं करता ही चला गया. माँ की सुबकियों ने मुझे ये समझने पर मजबूर कर दिया कि पापा माँ की आग को नहीं बुझा पाते हैं, वे अपनी वासना शांत करके हट जाते हैं. बीएफ चुदाई वाली कीमकान मालिक बोले- सुन, मुझे राजेश वर्मा कहते हैं, बहुत फेमस हूं, उड़ती चिड़िया के पंख पहचान लेता हूं.

पर मैंमॉम की गांडपर हाथ रख के बोलता- तेरा पति तो नहीं मारेगा, तू मान जा ना. अब मैंने उसको कान के पीछे किस करने लगा तो वो थोड़ी देर में ही मचलने लगी और उसने कहा- मुझे कुछ हो रहा है प्लीज़ ऐसे मत करो.

तब उसने कहा- मुझ पर कोई केस चल रहा है और जो अधिकारी उस केस की छानबीन कर रहा है, उसके पास जाकर बोलना कि मेरे भाई को छोड़ दीजिए. वो मेरी आँखों में वासना से देखते हुए बोलीं- कैसे? कोई जादू है क्या?मैं गरम होकर बोला- वैसा ही कुछ है. मैंने अपना लिंग अपने दायें हाथ में ले कर शिश्न-मुंड प्रिया की ऱज़ से सराबोर प्रिया की योनि पर नीचे से ऊपर भगनासा तक और फिर भगनासा से नीचे की ओर, और फिर नीचे से ऊपर भगनासा तक घिसाना-रगड़ना शुरू किया।अचानक मेरा लिंग प्रिया की योनि की दरार पर घिसाते-घिसाते, योनि की दरार के बीच में जरा सा नीचे की और किसी नीची जगह पर अटक सा गया.

मेरी सेक्सी स्टोरी के पिछले भागबहाने से दोस्त की बीवी को चोदा-1में आपने पढ़ा कि मेरे दोस्त की नई नई शादी हुई, मैंने उसके दिमाग में बीवी की अदला बदली की बात डालने के लिए उसे अन्तर्वासना की अदला बदली वाली कहनी पढ़वा दी. कमरे में आते ही मैंने दरवाजे की कुंडी लगा दी और उस देसी लड़की कंचन के सारे कपड़े एक एक करके उतार दिए और वो पूरी नंगी हो गई. प्रिया का मंगेतर 10 नवंबर को आने वाला था और शादी 19 नवंबर की फ़िक्स थी.

मेरी साली उस लड़के की बांहों में सिमटी हुई थी और दोनों जोरदार किस करने में लगे हुए थे.

गर वो स्मिता भाभी को नहीं चोद रघा तो वो जरूरे किसी और को चोद रहा होगा. मैंने उसकी बुर के अन्दर एक जोरदार गरम पिचकारी छोड़ी कि वो बिल्कुल अकड़ कर लेट गई.

दीदी ने मुझे फिर से किस किया और वो ऐसा करते करते मेरे ऊपर की तरफ आ गईं. अगले दिन सुबह नाश्ता के वक़्त मैंने उसकी तरफ देख कर एक स्माइल दी, तो वो थोड़ा शरमा गई. उसने पूरा गिलास सोडा मिला कर मेरे आगे रख दिया और बोला- आप किस फटीचर कम्पनी में नौकरी कर रही हैं.

मैंने उसकी चूत के छेद पर लंड रख कर धक्का दिया तो लंड का टोपा अन्दर चला गया. कुछ देर बाद फैमिली वहां से निकल गई तो उसने मुझे जल्दी से जाकर ड्रेस चेंज करने को बोला. लौटते समय मैंने कहा कि मैं हवा खाते हुए जाना चाहूँगी, सो मैं भाईसाहब की स्कूटी के पीछे बैठ गई.

बीएफ नंगे सीन मैं भी उसको ऐसे देख रहा था, जैसे मैंने भी आज उसकी जवानी के जाम को पी कर उसको खा जाने का मन बना लिया हो. अब वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में थीं और मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था.

कार्टून वाली बीएफ सेक्स

जब पति घर पर नहीं होते हैं, तो अपनी चूत में बैंगन, गाजर और मूली डाल कर खुद को शांत कर लेती हूँ और चूत का पानी निकाल देती हूँ. खैर अगले दस मिनट तक वो अपना लंड मेरी चुत में हिलाता रहा और फिर से खलास हो गया. मुझे लगा कि दीदी सो गई हैं और यही सही मौका है, अपनी भांजी दिव्या को चोदने का.

रमेश अंकल के दोस्त ने मां का पेटीकोट पूरा ऊपर कर दिया तो मैंने देखा कि मां की रेड रंग की नेट वाली पैंटी दिखने लगी थी. मैं तो यह समझ कर आपके कमरे में आई थी कि आप भी मुझसे वही काम करेंगे, जो सब करते हैं, मगर आपने तो मुझे हाथ भी नहीं लगाया. बीएफ शॉट सेक्सीउसके कमरे में आते ही मैंने अपनी बहन को चूमना चालू कर दिया और पागलों की तरह उसका चेहरा तो कभी उसका गला चूमने लगा.

मैं आने वाले समय से अनजान था कि मेरा क्या होने वाला था!मेरी बीवी की चुदाई की रियल सेक्सी कहानी पर अपने विचार मुझे भेजें![emailprotected]आगे की कहानी :बीवी को उसके बॉस के कमरे में छोड़ा चुदाई के लिए.

मैंने मम्मी ने पापा ने सभी ने बातें की, मैंने ज्यादा देर बातें की अपने कमरे में मोबाइल एक जगह रख कर अपना काम भी करती रही और बात भी होती रही. अब तो मुझे हरी झंडी मिल गयी, मैंने तुरंत उसके आठ खोले, उसकी शर्ट उतारी और उसे गले से लगाया.

प्रिया की सिसकारियाँ पूरे बैडरूम को गुँजाये दे रही थी जिन्हें सुन कर मैं और उत्तेजित हो कर हर वार पर बेरहमी से प्रिया की योनि में अपने लिंग को जड़ तक उतारे जा रहा था. जब उनके पति आए तो भाभी मुझसे कुछ दिन नहीं मिलीं, पर एक दिन उनका फोन आया कि उनके पति को किसी रिश्तेदार के यहां जाना है और उनके साथ घर वाले भी जाएंगे, तुमको मैं फोन करूँगी, तो तुम आ जाना. इस समय में घर में अकेला था, मेरी बीवी और बच्ची स्कूल निकल चुके थे, मैं घर में अकेला था और अगर मैं घर में अकेला रहता हूं तो लुंगी के अलावा कुछ नहीं पहनता हूँ। उस समय भी मैं केवल लुंगी में था और लैपटॉप पर अन्तर्वासना पर अपनी और दूसरे लेखकों की कहानी पढ़कर अपना टाईम पास कर रहा था.

मैं- सच मैं मुझे आपसे बात करना बहुत अच्छा लगता है, टाइम का पता ही नहीं लगता.

आज के बाद हम दोनों की जिंदगी में क्या क्या मोड़ आएं… मैं नहीं जानती लेकिन जो अभिसार अभी आप के और मेरे बीच में होने वाला है, मैं चाहती हूँ कि उसका स्वरूप एक पति-पत्नी के अभिसार का हो… ना कि प्रेमी-प्रेमिका के अभिसार का. दीदी के चुचे काउंटर से टच होने लगे… और झुकने के कारण दीदी की गांड पीछे की ओर और भी ज्यादा बाहर निकल आई. उसने पूछा- वो कैसे?मैंने कहा- घर पर कोई नहीं है, पंकज जरूर रेखा को चोदने जाएगा.

फुल सेक्स बीएफ एचडीफिर मैंने भाभी को सीधा कर दिया और उनके होठों को किस करने लगा। कसम से भाभी इतनी गर्म थी, मुझे पता नहीं था. फिर वह भी नीचे से अपनी गांड को उठा उठाकर उसचुदाई का पूरा मजा ले रही थी.

सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ बीएफ

चाची ने पूछा- आकाश बेटा, तुम मुझे ऐसे क्यों देख रहे हो?मैं- कुछ नहीं चाची, आज पहली बार मुझे पता चला है कि परियां स्वर्ग में ही नहीं, यहाँ धरती पर भी रहती हैं, जिनमें से एक आप हैं… आज आप बहुत सुन्दर लग रही हैं. मैंने कहा और अपने दोनों हाथ पीछे करके ब्रा खोल कर निकाल दी… फिर लेट गई. मैं- आपसे रिलेटेड एक बात बोलूं, आप बुरा तो नहीं मानोगी?माँ- पर्मिशन लेने की ज़रूरत नहीं है… जो कहना है साफ़ बोलो.

फिर उन्होंने मुझे मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर एक अच्छा किस करना सिखाया. फिर भी भाभी ने मुझे छोड़ा नहीं और मैं भी भाभी के मम्मों से खेलने लगा और भाभी मेरे बालों को सहलाने लगी. मेरे बोलते ही वो कुछ नहीं बोली, बस मुझे 2 सेकंड तक घूरा और बिना कुछ कहे जल्दी जल्दी चली गई.

माँ ने बताया कि मौसा जी की तबियत खराब होने के कारण वे चार-पांच दिन के बाद आ पाएंगी. तभी सुहानी की माँ आईं और उन्होंने सुहानी को बोला कि वो पहले नहा ले. मैं बियर की 3 बोतल के साथ एक व्हिस्की का हाफ और सिगरेट का पैकेट ले आया था.

और साथ में मैंने अपनी पैंट और चड्डी को नीचे सरका दिया।इतने में सोनी ने मुझे गिलास में पेप्सी भर कर फिर पकड़ा दिया और साथ में दोनों लोगो ने भी पेप्सी पी ली; इस तरह एक बोतल खाली हो गयी।अब तक हम लोग 30-40 किमी दूर आ चुके थे।पेप्सी खत्म होने के बाद मैंने उन दोनों में से किसी एक को आगे की सीट पर आने को कहा।सोनी ने रेशमा को इशारा किया, रेशमा बिना कोई वक्त गंवाये आगे आ गयी. इसके बाद मैं उसकी कमर से किस करते हुए उसकी चुत पर आया… उसकी चुत पूरी गीली हो गई थी.

जब मैं जवान होने लगी थी, तभी से उनकी निगाहें मेरी तरफ गंदी हवस भरी होने लगी थी.

उसी रूम को पापा ने एक खिड़की भी बनवाई थी, जिससे बाहर वालों को घर के अन्दर का सब साफ़ दिखाई देता था. सेक्सी बीएफ एचडी में हिंदी बीएफमेरे प्यारे दोस्तो, मैं बैड मैन आप लोग के सामने अपने जीवन की वो हॉट सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ जिसके बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि ऐसा हो सकता है. बीएफ वीडियो में अंग्रेजीमैंने उसको चोदे जा रहा था तो सुहानी ने बाथरूम में से पूजा को आवाज़ दी और उसको अन्दर आने को बोला. नर्म गुदाज़ पेट और मेरे हाथ के बीच में सिर्फ एक टीशर्ट का पतला सा आवरण था.

मैं तो भाई साहब के साथ छेड़खानी करने के कारण गरमाई हुई थी ही, सो लंड के कुछ ही प्रहार से स्खलित हो गई.

अब मां ने जो लंड उनके मुँह में बिना कंडोम का था, उन्होंने उस लंड को आइसक्रीम की तरह चूसना शुरू कर दिया और वे अपनी जीभ से लंड चाटने लगीं. दीदी इसी तरह झुके हुए एक हाथ में फोन पकड़ कर कान पे लगाए हुए बात कर रही थीं और दूसरे हाथ से किचन काउंटर पर उंगलियों से यूँ ही कुछ लिखे जा रही थीं. थोड़ी देर जवान लड़की के बदन की गर्मी और वासना ने मेरी कामवासना पुनः भडका दी, मेरा लंड फिर से जोश में आने लगा.

लेकिन मैंने एक भी पैसा नहीं लिया, यदि मैं पैसे लेता तो वो मेरे बारे में पता नहीं क्या सोचती. तो मैंने भाभी को उनके कमरे में पीछे से पकड़ लिया और उनकी गर्दन को चूमने लगा. फिर वो धीरे से अपने हाथ को चूत में डाल कर मेरे दूध को जोर जोर से चूसने और काटने लगा, जिससे मुझे दर्द भी हो रहा था और मज़ा भी आ रहा था.

हप्सी बीएफ हप्सी बीएफ

मेरी हाइट साढ़े पांच फुट की है और साढ़े सात इंच लम्बे और मोटे लंड का मालिक हूँ. वॉव… मैं तो उसको ब्रा में देखते ही पागल हो गया और उसके कंधे पे अपने होंठ रख कर उसे बेतहाशा किस करने लगा ‘मुहह मुहह मुउऊह मुऊउऊहह…’वो भी गरम सिसकारियां ले रही थी. कुसुम मुझे छोड़ कर उसके साथ कोई 3-4 मिनट दूसरे कमरे में जाकर वापिस आ गई.

हालांकि मुझे पक्का नहीं मालूम कि मैं सही हूँ या गलत हूँमाँ- क्या?मैं- मुझे लगता है कि आप अपने पति से खुश नहीं हैं.

तभी मेरी फ्रेंड अवि ने ये देखा और मुझे बचाने के लिए उनका ध्यान नीचे पड़े काग़ज़ की तरफ कर दिया- सर देखिए ये क्या पड़ा है?तो उन्होंने मुझे बैठने को कहा और मैं अपनी सीट पर जा कर बैठ गई.

जब नवीन धक्का लगाता तो धक्के के साथ मॉम डाइनिंग टेबल पे आगे सरक जातीं. मैं थोड़ा अंतर्मुखी किस्म का बन्दा हूँ तो मुझे लोगों के साथ घुलने मिलने में थोड़ा वक्त लगता है. सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी मूवीइतने में जीजा मेरी पेंटी को धीरे से पकड़कर उतारने लगे, मैं बोली- जीजा मत करिए… हाथ जोड़ती हूं मुझे छोड़ दो, बहुत डर लग रहा है कभी नहीं करवाया।पर जीजा कहां मानने वाले… उन्होंने पैंटी को उतार फेंका अब मेरे बदन पर सिर्फ ब्रा बची थी, जीजा ब्रा के ऊपर से ही दोनों बूब्स अपने दोनों हाथों से पकड़ कर जोर से दबाने लगे.

वो जब छुट्टियों में रहने इधर आती है, तो रात को हमारे रूम में ही डबल बेड पर हमारे बीच में ही सोती है. जब तक मैं दूसरी बार नहीं झड़ी, तब तक परीक्षित मुझे ऐसे ही चोदते रहे. पारुल बोली- मेरा एक पैग और बनाओ!लेकिन इस बार मैंने अपना नहीं बनाया क्योंकि मुझे गाड़ी भी ड्राइव करनी थी.

मेरा भी यही हुआ था जब मेरी चूत फाड़ दी थी मेरे पति देव ने… वो तब हुआ था जब मेरी शादी हुई थी, मेरी पहली रात थी, उस रात को मेरे सारे कपड़े उतार कर मेरी पहली चुदाई की थी मेरे पति देव ने!क्योंकि तब से पहले कभी मैंने अपनी चूत में लंड नहीं लिया था तो मेरी चूत फट के लाल हो चुकी थी. एक दिन शाम के वक़्त मैं गार्डन में ही बैठकर जीएफ से बात कर रहा था, तभी उनका बेटा साइकल से गिर गया.

और फिर जब उसने अपना आग उगलने को तैयार लंड बाहर निकाला तो सहमी हुई लड़की ने झट उसे अपने मुंह में लिया और जी जान से चूसना शुरू कर दिया.

शायद उन्होंने समझ लिया था कि मैं झड़ चुकी हूँ तो उन्होंने भी जोर जोर से ठापें लगाना शुरू कर दीं और मेरी चुत में ही अपने लंड का लावा उगल दिया. तो सोचिये कि दिन की हालत कैसी होगी।अब मुझे मेरे ऑफिस जाने के लिये सुबह जल्दी निकलना पड़ता है।ऐसे ही एक सुबह मैं अपने ऑफिस के लिए घर से निकला कि कुछ दूर जाने पर एक लड़की ने मुझे हाथ का इशारा देकर रूकने के लिये कहा। उस समय वो अपने मुंह को ढके हुयी थी।मैं उसके पास जाकर रूक गया. खैर उस वक्त तो वो सब हमारे पड़ोसियों ने दे दिए कि बाद में लौटा देना.

बीएफ बीएफ दिखाओ बीएफ मैंने झट से अपना हाथ उसके मुँह पे रख दिया और मैं कुछ देर के लिए रुक गया. ”मैंने पंखा ऑफ किया, फिर उसकी दोनों गोरी गोरी टांगों के बीच में बैठ कर बालों को साफ करने लगा.

इस बार उसने मुझे डॉगी बनाया और पीछे से अपना लंड मेरी चुत में सरकाने लगा. तब मैं उससे बोला- यार तुम मेरी वाइफ को भी अच्छे लगे, वो मुझे बोल रही थी कि तुम बहुत अच्छे लगते हो. इतनी जोर से की मेरी ही सांसें दबने लगीं और मैंने अपना नियंत्रण खुद से ही खो दिया.

बीएफ पिक्चर नई वीडियो

मेरी बीवी की चुत से अब बहुत खून निकलने लगा और पूरे घर में फछ फछ की आवाजें आने लगीं. उसके मुँह से कामुक आवाजें आ रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…पंकज रेखा से बोला- आह और जोर से चूस मेरा लंड. और फिर दोनों अंदर बाहर एक साथ गांड में और चूत में अपना लन्ड करने लगे, मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी।इतने में अंकल ने मेरे नीचे चूत की तरफ देखा और बोले- अरे यार सुरेंद्र, मैं कितना लकी हूं, यह वन्द्या तो सच बोल रही थी, उसको आज तक किसी ने नहीं चोदा, मैं बहुत भाग्यशाली हूं जो आज मैंने वन्द्या की सील तोड़ दी.

मैं बाहर आई तो सैम ने कहा- वाह शालू, क्या मस्त लग रही हो, इतनी अच्छी तो तुम पहली बार भी नहीं लगी थी. मेरी साली की जवान बेटी की कामुकता से भरपूर इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागकहानी का प्रथम भाग:स्त्री-मन… एक पहेली-1स्त्री-मन… एक पहेली-5में आपने पढ़ा कि यौन पूर्व काम क्रीड़ा के चलते उसकी कामवासना पूरे चरम पर थी.

फिर मैंने लाइन में देखा वह किसी अनजान आदमी से बात बड़ी मस्ती से बात कर रही थी.

फिर टी-शर्ट के ऊपर से ही मैंने उसके मम्मों को अपने हाथों में ले लिया और एकदम धीरे धीरे सहलाने लगा… साथ ही उसके होंठों पर, गाल पर, गले पर किस भी किये जा रहा था. मैंने रोशनी को रोज 10 बजे से 12 बजे तक उसके घर अंग्रेज़ी पढ़ाना शुरू कर दिया. मेरे यूं उसके फोटो शूट करने से बहूरानी मुझे कभी गुस्से से देखती हुई मना करती.

बहुत कामुक चूत की गंध आ रही थी उसमें से! मैंने देर ना करते हुए उसकी पेंटी को भी उतार दिया. क्या गोरे थे उनके चूचे और काले रंग की ब्रा में आंटी बहुत सेक्सी लग रही थीं. विनय- क्या तुम मेरे साथ कहीं और चलोगी?मैं- कहाँ चलें? कोई ऐसी जगह भी नहीं है.

फिर मैं उसके चूचों को चूसने लगा तो अब वह भी बिल्कुल मस्त हो गयी थी।फिर मैं उस जवान नंगी लड़की को अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले गया, मैंने उसको बेड पर लेटाया और मैं फिर से उसके चूचों को चूसने लगा और धीरे धीरे मैं उसको किस करते हुए उसकी चूत को चाटने लगा तो वह फिर से सिसकियाँ भरने लगी थी.

बीएफ नंगे सीन: चूंकि आंटी ने तो मुझे वश में कर ही रखा था ताकि मैं उसे छोड़कर न जाऊं… सो वो बेफिक्र थी. पानी से उसकी जालीदार झीनी सी ब्रा गीली हो गई थी, जिसकी वजह से उसके निप्पल के दोनों काले धब्बे साफ दिखने लगे थे.

मैं खड़े होकर उसके दोनों पैरों के बीच आ गया और अपना लंड उसकी चूत पे रगड़ने लगा. उन्होंने मुझे 3-4 थैले पकड़ा दिए और कहा कि आप देख लीजिये, मैं अपनी समझ में सही लाई हूँ. यह देख जूही ने उसे लिप किस कर के जितना हो सका वीर्य उसके मुंह से चाट लिया।अब हम तीनों थक गए थे, थोड़ी देर हम ऐसे ही पड़े रहे कि तभी नाज के दिमाग में पता नहीं क्या सूझा, वो उठ कर मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

मैंने अपने होंठों को पूरी तरह से उसकी काली, गीली और बाल से भरी हुई बुर में चिपका दिया.

शाम को वो बोली कि जरा आज मेरे साथ चलना, तुम्हें कुछ नहीं होगा, यह मेरी गारंटी है. आपको मेरी लिखी हुई सेक्सकहानियाकैसी लग रही हैं, मुझे मेल करें![emailprotected]कहानी जारी है. अब मेरी बहन की कामुकता भड़क उठी, वो बड़बड़ाने लगी- भाई, प्लीज चूसो मेरे मम्मों को.