बीएफ सेक्स करने वाला

छवि स्रोत,प्रीती झिंटा सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

डॉट कॉम बीपी: बीएफ सेक्स करने वाला, शायद आज पापा ने कुछ ज्यादा ही पोर्न देख लिया था तभी अपने लंड की गर्मी निकाल रहे थे.

सेक्सी इंडियन वीडियो एक्स एक्स एक्स

जब मैंने अपने चूत को छूकर देखा, तब मुझे पता चला कि मेरी चूत की हालत क्या हुई है?उसने मेरे बाल पकड़ कर मुझे उठाया. xxx.com सेक्सी वीडियो फुल एचडीवो बोला- चलिए आपको दिखाता हूँ!वो मुझे अपने साथ ऊपर ले जाकर दिखाने लगा.

शायद भाभी का काम खत्म हो गया था और वो दोनों सोने के लिए अपने रूम में आए थे. हिंदी सेक्सी जानवर केरूना बिल्कुल जोश में आ गई थी और खुद से अपने दूध को मेरे मुँह में ही दबाने लगी थी.

मैंने कहा- मैंने अपनी बीवी और अपनी गर्ल फ्रेंड को छोड़ कर किसी और के साथ सेक्स नहीं किया है.बीएफ सेक्स करने वाला: मैं अभी बलदेव को ही देख रही थी कि तभी सामने वाले मर्द ने मेरे बालों से पकड़ा और खींच कर गाल पर थप्पड़ लगा कर बोला- साली रंडी मुँह में ले हमारा बाबूलाल.

मैंने कहा- रोहित तुम छुट्टी के दिन क्या करते हो?उसने कहा- अगर पहले से प्लान होता है तो वो करता हूँ.कुछ लड़कियां जो गोरी थीं, उनकी भी चूत गुलाबी नहीं … बस गेहुंए रंग की ही थी.

बड़ी गांड वाली औरत का सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्स करने वाला

अब चाची की गांड मेरे सामने थी, जिस पर सिर्फ एक लाल कलर की पैंटी थी.उसका लंड तो एकदम कड़क होकर तन चुका था।लंड का ऊपरी हिस्सा थोड़ा गीला हो गया था।उसका लंड बडा और मोटा था.

मैंने उसी वक्त उसके मम्मों पर हाथ रख दिया और कहा- शायद मेरा हाथ इधर भी लगा था, जिस वजह से तुम चिल्ला पड़ी थी?वो कुछ नहीं बोली और न ही उसने मेरा हाथ हटाने के लिए कहा. बीएफ सेक्स करने वाला उसे एक नजर देख उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई और वो दूसरी तरफ देखने लगी.

मैंने दरवाजा खोला और वो मेरे सामने ट्रे में नाश्ता और चाय लेकर खड़ी थी.

बीएफ सेक्स करने वाला?

फिर अपने तीनों के लिए मैंने चाय बनाई और उन्हें उठा कर साथ में चाय पी. मैंने कहा- हां, मैं समझ तो गया था मगर तब भी मुझे लगा कि कहीं सच में आपको चोट न लग गई हो. मैं छोटे छोटे चूचों और नाभि से होते हुए दोनों मांसल जांघों के बीच उतर आया.

मैंने बोला- हां तुमने सही कहा यार … अब मैं तुम्हें जब भी देखता हूँ, तो मेरा खड़ा हो जाता है. पहले तो माँ नहीं गयी, पर कमला आंटी उन्हें बोली- अब शर्मा मत … आ भी जा!और माँ जाकर मुखिया जी की जाँघों पर बैठ गयीफिर कमला आंटी बोली- तो मुखिया जी, मैं चलती हूँ, आप मजे कीजिये।मुखिया जी- ठीक है जा … पर तुझे पता है ना कि तुझे यहाँ से जाकर क्या करना है?कमला आंटी- जी पता है।यह बोल कमला आंटी माँ से बोली- तो मैं चलती हूँ. वो महिला ज्यादा गोरी तो नहीं थी, हल्का सांवला सा रंग था लेकिन बहुत गदरायी हुई और सेक्सी औरत थी.

मेरी पिछली कहानी थी:टिकटॉक वाली मदमस्त चाची की चूत गांड चुदाईआज मैं आपको अपनी Xxx मौसी चुदाई कहानी में बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने अपनी सगी मौसी की चूत का बैंड बजाया. जो लौंडे मुझ पर ज्यादा मरते थे, वे तो सुबह स्कूल की प्रार्थना में अगर मेरे पीछे खड़े होते, तो पूरे चिपक जाते और गांड में उंगली तक कर देते. और आपके दिलकश फिगर को देख कर मैं तो क्या, कोई भी आपका दीवाना हो जाएगा.

मैंने जाते जाते मेरा मोबाइल नंबर उसको दे दिया और कहा- कुछ दिन और मेरी जान … फिर तो मैं तुझे पूरी तरह से अपनी बना लूंगा. उसने मुझे अन्दर ले जाकर कुछ सैट दिखाए, जिनमें से मैंने एक पीले रंग की ब्रा पैंटी ले ली.

सोनिया- आह चोद दो अब चोद दो मुझे … आंह फाड़ डालो मेरी … आह और जोर से करो.

फिर उनके मम्मों को उनकी ब्रा पर से ही चूसने लगा और वो आह उह्ह की आवाज निकालने लगीं.

मॉम- आह चोदो मुझे … मैं तुम्हारी बीवी, तुम्हारी रखैल, तुम्हारी रांड, चोदो मुझे मेरे लाल, मेरे खसम … मेरे सरताज. विलास बेड के पास आया और नीचे झुककर उसने मेरी लुंगी में हाथ डालकर मेरा लंड बाहर निकाल लिया. थोड़ी देर बाद अचानक से ललिता भाभी ने मुझे धक्का देकर अलग कर दिया और बोलीं- राज, ये तुम क्या कर रहे हो? ये सब ग़लत है.

भाभी अपने मम्मे तानती हुई बोलीं- ऐसे कैसे थे … अरे तुमको उनका नाम भी नहीं मालूम … कैसे शहरी बाबू हो?मैंने कहा- भाभी अब आप मेरी ले रही हैं. शौहर की नामौजूदगी में आरजू अपनी चुत की आग को उंगली के सहारे ही ठंडी कर पाती है, इसके सिवाए वो कुछ नहीं कर सकती थी. कुछ डर बाद मैं भी झड़ने वाला हो गया था, मैंने उससे कहा- मेरा होने वाला है, रस कहां लोगी दीदी?उसने कहा- अपनी बहन की चूत के अन्दर ही छोड़ दे.

वो कोरोना और लॉकडान के चलते भारत वापिस आ चुका था और कोचीन में अपना फोटो स्टूडियो स्टार्ट करना चाहता था.

सुबह जब मेरी नींद खुली तो देखा मौसी नाश्ता बना रही थीं और उनके बेटे कोचिंग चले गए थे. उनका लंड से ही बुरा हाल था और ऊपर से चूची चूसे जाने से वो बेहाल हो गई थीं. मैं कभी कान, कभी होंठ कभी जीभ कभी चुचे, नाभि, चूत, गांड सब चूसने और चाटने लगा.

उसकी साफ़गोई से मैं भी जोश में आ गया और उसके एक निप्पल को दांत से हल्के हल्के से काटने लगा. उसके गर्म होंठ मेरे लंड को छू रहे थे, जिसके कारण लंड और ज़्यादा सख्त हो गया था. अब तो मेरी स्थिति और भी दयनीय हो गयी थी क्योंकि मेरे चूतड़ों से ऊपर का हिस्सा बेड के ऊपर था और मेरी टांगें नीचे लटक रही थीं.

मकान मालिक बाहर जॉब करते हैं और किसी कारणवश अपनी पत्नी को साथ नहीं ले जा सकते थे.

फिर उसने अपना मुँह नीचे ले जाकर पूरा लंड मुँह में भर लिया और केक के साथ लंड को चूसने लगी. डांस जब अपनी पूरी रफ़्तार पर था तो किसी को भी अपने तन बदन का होश नहीं था.

बीएफ सेक्स करने वाला हम दोनों वासना के आनन्द में डूबकर एक दूसरे के अन्दर गड्ड-मड्ड से हो गए थे. अब मैं शुरू हो गया और अन्दर बाहर अन्दर बाहर धक्कम पेल धक्कम पेल करने लगा.

बीएफ सेक्स करने वाला मैंने उसे कॉफी का कप उठा कर दिया और कहा- लो कॉफी पियो रीतिका और मिठाई, ड्राई फ्रूट्स भी लो. मैडम की गांड एकदम तोप की तरह बाहर को निकली हुई थी जो इस वक्त उनकी चुस्त पजामी में से एकदम हाहाकारी लग रही थी.

उसने अपने नीचे वाले होंठ को अपने दांतों से ऐसे दबा रखा था जैसे कोई बहुत ताकत लगाने के समय कर लेता है.

हिंदी वीडियो फुल सेक्सी

कैसे अपनी सरिता भाभी की बरसों की प्यास बुझायी और उसकी इच्छा के अनुसार उसे अपने बच्चे की मां बना दिया. ब्रा पैंटी में उनके सामने से मटकती हुई मैं गई और ग्लास उठा कर पैग डालने लगी. उस रात मैंने अपनी बीवी की वो चुदाई की कि उसकी चीखें निकल गईं क्योंकि बस मैं तो उसे देखकर अपनी बीवी की चुदाई किए जा रहा था.

तीन चार महीने में दो दिन के लिए आता है और रात को पांच मिनट तक चोदकर अपना पानी छोड़ देता है और सो जाता है. मैं- भाभी में अपना लंड तुम्हारी चूत में नहीं, कहीं और डालूंगा, बोलो डालवाओगी?भाभी- हां, जहां डालना है डालो, जहा घुसाना है … घुसाओ … पर जल्दी. अब वो भी पूरी गर्म थी, कभी लिप-किस तो कभी गर्दन के पास किस कर रही थी.

एक दिन मैं उसके चूतड़ पकड़ कर उसे कुतिया की तरह चोद रहा था और वो तेज़ तेज़ चिल्ला रही थी.

पति की कमज़ोरी के चलते दुबारा से मेरे जिस्मानी रिश्ते बाहर बनने लगे थे. मैंने उठकर 69 की पोजीशन लेकर सोनाली की गोरी और मांसल जांघें दबोच लीं और अपने दोनों हाथों से सहलाने लगा. इसके बाद वो दोनों मेरे अगल बगल आ गए और एक बाबा मेरे होंठों को चूसने लगा जबकि दूसरा वाला मेरे बदन को चाटता हुआ मुझे नंगी करता जा रहा था.

मैंने घड़ी देखकर सोनाली से कहा- सोनाली, सवा छह बज गए हैं अब मैं चलता हूँ. इसी आवेश में मैं रेशमा के ऊपर अपने बदन का पूरा भार देते हुए पूरी ताकत से आखिरी धक्के लगाने लगा. मैंने कहा- क्या अब हमें एक-एक करके अपने वादे पूरे करना शुरू करना चाहिए?रीतिका ने हां में जवाब दिया.

रेखा की माँ के जाने के बाद मैं, भूषण और रेखा एक परिवार की तरह रहने लगे थे. हम दोनों बाथरूम में कैसे सेक्स का मजा लेने लगे?दोस्तो, मैं आमोद एक बार फिर से अपने कड़क लंड के साथ आपके सामने हाजिर हूँ.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत की फांकों में फंसाया और रगड़ने लगा. वो कंप्यूटर की क्लास ज्वाइन करने जाती थी और मैं एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए एक कोचिंग क्लास में जाता था. शब्बो सिसकारने लगी- आआह वीरू, और रगड़ अपनी चाची की गांड … मसल दे जोर से!बोलते हुई शब्बो ने लाज शर्म किनारे रख वीरू का लौड़ा उसके शॉर्ट्स के ऊपर से मसलना चालू किया।आख़िरकार दोनों के जिस्म को हवस की आग अपने लपेटे में ले चुकी थी.

उसकी जांघों के बिल्कुल करीब अपनी दाईं टांग को उसकी टांगों के बीच डालकर, दो बार उसे टांग ऊपर उठाने का इशारा दिया.

मुझे दुख इस बात का रहा कि हमारे ही घर में, हमारे ही लोगों के बीच मेरे शौहर की मौजूदगी में, उस फकीर ने मेरी मर्यादा को तार-तार किया और हम लोग कुछ भी ना कर पाए. जाते वक़्त उसने मुझे मेरे गाल पर एक प्यारी सी किस पर दी और थैंक्यू बोली. अब मैंने सुमैत्री को अपने ऊपर आने को कहा और बोला कि अब तुम मेरे ऊपर बैठ कर अपनी चूत को चुदवाओ.

मैंने कहा- इसमें शर्माने की क्या बात है नीता? सभी पति पत्नी ऐसा ही करते हैं और तभी मजा आता है. हालांकि ये बात भाभी के दिमाग़ में छप गयी थी कि मैं उन्हें अपनी जीएफ बनाना चाहता हूँ.

मास्टर से एक हाथ से चूत में उंगली करना चालू रखा और दूसरे हाथ से भाभी की एक चूची को दबाने लगा. थोड़ी देर बाद अदिति के धक्कों से मैं भी कामुक हो गया और नीचे से अपनी गांड उठाकर अदिति को साथ देने लगा. धीरे धीरे पता नहीं क्या कैसे हुआ, हम दोनों एक दिन, रात में मेरे कमरे में बैठ कर आपस में बातचीत कर रहे थे कि तभी हमारे बीच सेक्स की बातें शुरू हो गईं.

नंगी नंगी सेक्सी वीडियो दिखाइए

मैं रोज अपनी उंगलियों से अपने आप को शांत करने लगी लेकिन फिर भी मेरा बदन किसी मर्द को पाने के लिए उतावला हो गया था.

मैंने भी आंटी से कहा- आप भी बहुत मस्त माल हो … आपकीचूत चोदने का मजा आ गया. इससे पहले कि वो कुछ कहतीं, मैं झट से बाथरूम के अन्दर घुस गया और पैंट भी खोल ही दी थी कि तभी मेरे नज़र मेरी हॉट भाभी के सुंदर गीले शरीर पर जा पड़ी. यह आदमी वही डॉक्टर था जिसने मुखिया जी को मुझे पैसे देने के लिए कहा था.

उस रात एक बजे करीब मैं किचन में कुछ खाने के लिए ढूंढ रहा था, तभी उसकी पीछे से आवाज़ आयी. मैं लंड चूसते चूसते बोली- रुको एक मिनट रुको!मैं बलदेव के लंड को अपने हाथ में लेकर चूमती हुई फोन लगाने लगी. सेक्सी वीडियो पोर्न इंडियाजैसे ही सोनम रूम में पहुंची तो सिर पर दुपट्टा डाल लिया, जैसा कि वो अक्सर ससुर के सामने डालती थी.

दोस्तो, ये थी Xx सेक्सी गर्ल की चुदाई और मेरी सच्ची कामुक सेक्स कहानी. मैंने अब तक ये बात सबसे छिपाए भी रखी ताकि तुम्हारी इज़्ज़त बची रहे.

अब आगे गाँव की चूत चुदाई की स्टोरी:अब सोनाली ने कहा- हर्षद अब बस करो ना … मुझसे अब नहीं सहा जाता. अभी उसकी शादी को एक साल ही हुआ था और उसने घर से निकलना शुरू ही किया था. उसने मेरी तरफ बड़ी अदा से मुस्कुराते हुए देखा, मैं उसकी अदा की नजर समझ गया और बोला- वापस आकर आपसे ड्रेसिंग करवाता हूँ.

चूत का दाना बड़ा ही संवेदनशील होता है और औरत को झाड़ने के लिए इस दाने को रगड़ना और सहलाना ज़रूरी होता है. ‘क्या बात है सर … एकदम टाइट है ये कभी बैठता नहीं है क्या?’‘तुझे देख कर खड़ा हो जाता है. मेरा लंड लेने के लिए उसकी चूत भी आतुर हो रही थी लेकिन उसके मन में डर था कि कहीं कोई बाहर से शटर न खटका दे.

वो फिर नीचे चली गईं और मैंने अपने बाथरूम में जाकर उनके मम्मों को सोच कर मुठ मार कर लंड ढीला कर लिया.

भाभी अपने पति का लंड पकड़ कर बोलीं- लो देखो, बोल रहे थे खड़ा है, इसे खड़ा कहते हैं … आपका इससे ज्यादा कभी नहीं हो पाता है. सानू- चलिए कमरे में चल कर बात करते हैं … नितिन से आपकी ज्यादा पटती है, वो बहुत चिकना माशूक है.

वास्तव में यह तय करना मेरे लिए बहुत मुश्किल था, लेकिन आखिरकार मैंने जोखिम लेने का फैसला ले लिया है. तब राज बोला- ओ माय गॉड … इतना लंबा और मोटा … मामी आप लोग कैसे लोगी?दूध वाला बोला- बेटा, ये दोनों बहुत बड़ी वाली चुड़क्कड़ हैं, आराम से ले लेंगी. मेरे धक्कों के साथ उसके चूतड़ों में गजब की लहर बन रही थी, जो मुझे और तेज चोदने के लिए जोश दिला रही थी.

दिल्ली एयरपोर्ट पर ही मैंने ऑनलाइन चंडीगढ़ एयरपोर्ट से कार बुक कर ली थी ताकि जब तक हम चंडीगढ़ पहुंचे, तो मुझे हमारे लिए कार तैयार मिले. मैंने उसे बैठाया, थोड़ा पानी पिलाया और पूछा- अब कैसा लग रहा है?वो बोली- अब ठीक है. तो हम दोनों के बीच सेक्स कैसे हो गया?आप सभी को नमस्कार, मेरा नाम राज मौर्य है और मैं छत्तीसगढ़ में भिलाई से हूँ.

बीएफ सेक्स करने वाला उससे बात करने पर मुझे पता चला कि वो इस समय अकेली रहती है और किसी काम की तलाश में है. झांटों के बाल साफ़ होने के बाद इतनी सुन्दर चिकनी चूत दिखने लगी थी कि वह खुद उस पर हाथ फेर कर बार बार शीशे से देख रही थीं और मुस्कुरा रही थीं.

देहाती सेक्सी मां बेटे की

फिर उसने कपड़े पहन लिये और अरुणिमा करने के लिये मंदिर वाले कमरे में चली गयी. मैंने उससे अपने लंड की खुजली का इलाज करवाया तो उसे मेरा बड़ा लंड पसंद आ गया था. मेरे निप्पल पर घूमती उसकी जीभ की चमक सीधे मेरे लौड़े की तरफ बढ़ने लगी थी.

एक दिन मैं घर आया तो वो घेलू नौकर को नंगा करके उसके ऊपर चढ़ा हुआ था. अब मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी गांड सहलाई और उसकी चूत में अपनी जीभ डालकर अन्दर बाहर करने लगा. हिंदी सेक्सी जबरदस्ती वाली वीडियोअब मैं हमेशा सविता की फ़ोटो अपने फोन में रखने लगा जो मैंने मुंबई में ली थी.

तुम्हें तो वैसे भी गर्म खाना और गर्म रोटी पसंद है ना!मैंने कहा- तुम्हें सब पता है कि मुझे क्या पसंद है … क्या नहीं?उसने कहा- हां अब बैठो, मैं खाना लगाती हूँ.

मैंने बोला- ठीक है मैं चला जाऊंगा, लेकिन तुम अभी कहां हो?तो उसने बोला- अभी मैं अपने भईया भाभी घर फ़रीदाबाद आई हूँ. उसने मेरा एक चुम्बन ले लिया और अपने मजे की बात को इशारे से बता दिया.

उसे घोड़ी बनकर चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था, मुझे भी बहुत मजा आ रहा था. मैं तो मन ही मन बहुत खुश हो गया था कि जो मैंने सोचा था, मेरा वो ही काम हो रहा है. मैंने भी बिना देर किए उसकी टांगें फ़ैला दीं और लंड को उसकी चूत पर रख कर अन्दर डालना शुरू कर दिया.

नमस्कार दोस्तो, मैं अरुण कुमार वापस अपनी दूसरी सेक्स कथा लेकर आपके सामने आया हूँ.

जब वो सुबह उठी तो मेरे होंठों पर किस करने लगी और उसने रात की चुदाई के लिए मुझे थैंक्स बोला. कुछ देर धकाधक रफ्तार में चोदने के बाद जैसे ही उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला, मेरी पेशाब की धार भी छर्र करते हुए निकल गयी और मैं निढाल हो गयी. मैंने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और फच्च फच्च फच्च करके चोदने लगा, उससे चूत का पानी बाहर आने लगा.

प्रेम चोपड़ा की सेक्सी फिल्मइधर मैंने भी सोच लिया था कि अगर ससुर जी ने मेरे साथ कुछ करना चाहा, तो मैं उन्हें मना नहीं करूंगी क्योंकि मुझे अपने जिस्म की आग अब बर्दाश्त नहीं हो रही थी. उसने मेरे पास आकर मेरे लंड को थाम लिया और बोली- तुम्हारा लंड ही मेरी चूत की गहराई को नाप सकता है और मेरे अन्दर की आग को शांत कर सकता है.

कुत्ता का सेक्सी फिल्म

मैंने उसे बिस्तर के किनारे घोड़ी जैसा बनाया और उसकी गांड पर थूक लगा कर उसे चिकना किया. ललिता भाभी मेरे लौड़े को सहलाने लगीं और बोलीं- राज आज पूरे 7 साल बाद मेरे हाथ में लंड आया है. वेटर पानी लेकर आ गया और बोला- सर ऑर्डर प्लीज!हम दोनों ने मेनूकार्ड देखकर ऑर्डर दे दिया.

मैंने रेखा को नंगी देख कर फिर से अपने लंड को सहलाना शुरू कर दिया था. गीता नीता से बोली- बाथरूम में जाकर कपड़े बदल लो और मेरी नाईटी पहन लो. मेरी उंगलियां गांड की दरार में अन्दर जाकर उसके गांड के छेद पर घूमने लगी थीं.

इसके बाद एक बाबा मेरे मुँह के सामने अपना लंगोट में आ गया और दूसरा बाबा भी मेरी गांड चाट कर मेरी चूत पर आ गया. मैंने, महंत और सुमंत ने लगातार दीदी को ढांढस बंधाया और उन्हें सहलाते रहे. फिर भाभी आप कोई और काम करोगी क्या?भाभी- भैया मैं पढ़ी लिखी तो ज्यादा हूँ नहीं … तो कौन मुझे काम देगा?मैं- मैं दूंगा आपको काम!भाभी- आप मुझे कौन सा काम दोगे?मैं उसकी उभरी हुई चुचियां देख कर बोला- अरे भाभी, आप तो सभी काम करने लायक हो.

अब मैं नीचे सरककर सोनाली की दोनों चूचियां अपने दोनों हाथों से मसलने लगा. कुछ मिनट तक उसने मस्ती से लंड चूसा और मैं भी उसका सर पकड़ कर मुख चोदन का मजा लेने लगा.

उसके गोरे मक्खन से बदन पर ये सब देखने के बाद तो कोई मुर्दा भी उठ खड़ा हो जाए.

मैंने पूछा- क्यों?उसने कहा कि मेरे माता पिता बहुत रूढ़िवादी हैं और लड़की को ज्यादा शिक्षित नहीं करना चाहते हैं. सेक्सी चड्डी बॉडीकुछ देर बाद चाची की सांसें तेज तेज चलने लगीं और उनकी कमर कुछ ज्यादा ही तेजी से मेरे लंड को रगड़ने लगी. सेक्सी लेने वाला वीडियोअब मुझे चुदाई में भरपूर मजा आ रहा था और ललिता भाभी पूरी तरह से साथ दे रही थी. मैं ठहरा पक्का हरामी … बस बात शुरू होते ही मैं उसे चोदने की सोचने लगा.

फिर मैंने ड्रॉवर से क्रीम निकाली और मेरे लंड और उसकी चूत के छेद में लगा दी.

माँ मुझे देख मुझसे पूछने लगी- सारी रात कहाँ था? और ये मुखिया जी क्या बोल रहे हैं कि तूने उनसे पैसे उधार लिए है वो भी बहुत सारे?तब मैंने माँ को सारी बात बताई कि मैं जुआ क्यों खेलने लगा और कल रात कैसे मैं सारे पैसे हार गया. वो छह महीने में एक बार ही आते थे और मुश्किल से एक हफ्ते रुकने के बाद चले जाते थे. उसने मेरा हाथ पकड़ते हुए कहा- चलो भी अब … घर नहीं जाना है क्या!मैंने उसे अपनी बाइक पर बिठाया और चल पड़ा.

मैंने घर आकर उसको कॉल किया मगर उसने नहीं उठाया, वो शायद मुँह में वीर्य डाल देने से नाराज थी. उफ्फ क्या बदन था उनका … इतना मखमली बदन और मक्खन से मुलायम चूचे … मैं तो मानो अंगार से चिपक गया था. उनका मुँह मेरे लंड को चूसने लगा और उनकी गांड मेरे मुँह की तरफ निकली हुई थी.

सेक्सी वीडियो भाभी का चुदाई

पाठिकाओं की पसंद के लिए सबसे जरूरी जानकारी लंड के साइज़ की होती है. इतना कहते हुए उसने कपड़ा लेकर अपनी चूत पौंछकर साफ कर ली और फर्श भी पौंछकर साफ कर दिया. मौके का फायदा उठा कर मैं अपने लंड को धीरे धीरे गांड में आगे बढ़ाने लगा.

फिर जैसे ही मुखिया जी ने माँ का सिर छोड़ा … माँ ने मुखिया जी का लन्ड अपने मुँह से निकाल ओर उनका सारा माल थूक दिया.

बस रोज हम दोनों एक दोस्त की तरह चैटिंग करते और कभी कभी फ़ोन पर भी देर तक बातें करते रहते.

हम दोनों उन दोनों के लंड मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं और उन दोनों के लंड चूस कर साफ कर दिए. मैंने ध्यान से देखा कि वो घूंघट हंस रही थी, मुझे उसकी मुस्कराहट साफ़ दिख रही थी. कुंवारी दुल्हन सेक्सी विफिर मैंने उसको बोला- थोड़ा रुक कर तू भी डाल देना!अंतत: उसने भी मोटा लंड पेल ही दिया और मेरी धाकड़ चुदाई करने लगा.

मैंने पूछा कि तुम आज अकेली आई हो?उसने बताया कि हां मेरा भाई थोड़ी देर के बाद आएगा. जब मैं इंटर में थी, तब मेरे ब्वॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हो गया था क्योंकि वह मुझे धोखा दे रहा था. रेखा बोली- हर्षद, आज पहली बार पानी में चुदने की मेरी तमन्ना पूरी हो गयी है और वो भी तुम्हारे जैसे हैंडसम के साथ.

वहां पहुंचते उसने मुझपर ताबड़तोड़ चुम्बनों की बरसात कर दी, कभी मेरे होंठ काटता कभी गाल चूमता कभी गर्दन. गाँव की चूत चुदाई की स्टोरी आपको कैसी लगी, मेल से जरूर बताना दोस्तो.

आपका राज हुड्डा[emailprotected]देसी माल सेक्स कहानी का अगला भाग:मामी की रसीली पड़ोसन की चूत चुदाई- 2.

वीरू भी शब्बो चाची के मन की बात समझ रहा था, शब्बो के बदन को किसी भूखे भेड़िये की तरह देखते हुए वो भी उनके सामने ही अपना लौड़ा अपने पैजामे के ऊपर से सहला देता था।एक दिन वीरू जल्दी ही उठ गया और अपनी माँ के कहने पर सुबह सुबह दौड़ लगाने चला गया।1 घंटे की दौड़ से उसका बदन दर्द करने लगा और जैसे तैसे वो अपने घर पहुंचा. तभी भाभी बोली- तुम कहां गयी थी काम छोड़कर!मैंने कहा- भाभी, वो अभी वाशरूम गयी थी. सर ने मुझे चुप कराने के लिए मेरे मुँह में लंड देने का तय कर लिया था.

ओपन सेक्सी नवीन दो मिनट में मेरे लंड से वीर्य उनके मुँह में उगल दिया, जिसको वह पी गईं. अब उसने पूरा पेल दिया और दे दनादन दे दनादन लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा था.

मैंने सोनाली का एक पैर उठाकर पकड़ कर रखा और दूसरा हाथ उसकी कमर में डालकर उसे कसकर पकड़ लिया. फिर मैं सीधी हुई और उसके होंठों से होंठ मिला कर उसका पूरा साथ देने लगी. मुझे हैरानी जब हुई जब होटल के रजिस्टर में अनीशा ने मेरा और उसका रिश्ता पति और पत्नी लिखा.

செஸ் விதேஒஸ் ஹட தமிழ்

प्लीज क्या तुम भाभी के साथ एयरपोर्ट जा सकते हो?मैंने मोबाइल कान से हटा कर टाइम देखा तो 6:30 बज रहे थे. उधर सब कुछ साफ नजर नहीं आ रहा था लेकिन उनके जिस्म की चमक बता रही थी कि उन्होंने कुछ नहीं पहना है. सोनाली ने झड़ते ही मुझे अपने ऊपर चिपका लिया और साथ में अपने दोनों पैरों से मेरी गांड को कस लिया, मेरे लंड का दबाव वो अपनी चूत पर बनाए रही.

उसी बीच मैंने राकेश से कहा- जरा जोर से करो, तो लड़कों की समझ में आए. फिर धीरे धीरे ग्राहकों की संख्या बढ़ने लगी और मुझे अच्छा ख़ासा मुनाफा होने लगा.

स्नेहा के 34 साइज के मम्मे रहे होंगे और गहरे गले से उसकी चूचियों की दरार मेरा लंड खड़ा करने लगी.

‘आअहह हम्म्म्म …’ जैसी आवाजें मेरे मुँह से निकलने लगीं और रेशमा के बाल मुट्ठी में भरकर मैंने उसका मुँह मेरे लौड़े पर दबाना चालू कर दिया. मैंने भी सहलाना नहीं छोड़ा।थोड़ी देर बाद मैंने उनकी टॉप में हाथ घुसा दिया और ब्रा के ऊपर अपना हाथ रख दिया और दबाने लगा. तब मैंने सीमा को अपना लंड चूसने को कहा, जिसके लिए वो ख़ुशी ख़ुशी राज़ी हो गई.

मैं- सर, जावेद भाई से गलती हो गई … आदत से मजबूर है, फिर उम्र भी है. मैं जान रही थी कि मेरे देवर की नज़र गांड से चड्डी ठीक करते हुए मुझ पर पड़ी होगी और उसने मेरी गांड को गौर से देखा होगा. हायल्ला, क्या छोटे साहब मुझे देख के … ?” (मुठ मार रहे हैं)ये मन में सोचते हुए उसने झट से अपनी चुन्नी उठायी और अपने साये को ढक लिया.

मैंने थोड़ा और जोर से धक्का लगाया तो मेरा लंड आधा चूत में जा चुका था.

बीएफ सेक्स करने वाला: मैंने अपने बालों को झटकारते हुए अपना सर पीछे की तरफ किया और पीछे का नजारा देख कर मेरे पैरों के नीचे से जमीन सरक गई. मैं उनकी यह बात सुनकर बोल पड़ा- मौसी, हो सकता है मौसा अपने काम में ज्यादा बिज़ी हों.

मैं जिस तरह की चुदाई के लिए तरसता था और मुझे कॉलगर्ल के पास जाना पड़ता था, अब वो कमी पूरी हो गई है. आंटी से अभी तक मेरी कभी भी बात नहीं हुई थी क्योंकि वो किसी से भी बात नहीं करती थीं. मैंने अञ्जलि का पैर छोड़ा और दोनों हाथों से उसकी कमर पकड़ कर और हल्का सा झुककर एक झटके से अञ्जलि को गोद में उठा लिया.

हम दोनों चंडीगढ़ की लिए फ्लाइट में जाने के लिए बोर्डिंग एरिया में बैठ गए.

उसने कहा- दीपक, आज मेरी बीवी को इतना चोदो कि ये हमेशा के लिए तेरे लंड की दीवानी हो जाए. मैं अब दूसरी तरफ गया तो करीने से सजाए कमरे में एक बड़ा हिस्सा खाली था, अमरचंद वहां दरी बिछाकर बैठे हुए मेरा इंतजार कर रहे थे. कुछ देर बाद आकर लेट गया और दुबारा सोने की कोशिश करने लगा था मगर नींद नहीं आ रही थी.