सेक्सी बीएफ फाइल

छवि स्रोत,हिंदी इंग्लिश ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

मूवी सेक्सी बफ: सेक्सी बीएफ फाइल, हमने भी गर्मजोशी के साथ उसको हाय कहा और फिर हम सब उससे इंग्लिश में बातें करने लगे.

एक्स एक्स एक्स हीरोइन फोटो

उनकी चुदासी आवाजें सुनकर हिना आंटी और चाची अपनी ब्रा निकाल कर ऊपर आ गईं. दबंग सेक्सीदो मिनट रुकने के बाद जब वो शांत हुई तो मैंने धीरे-धीरे चाची की गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया.

आप को बता दूं कि अपनी सच्चाई को सभी के समक्ष प्रस्तुत करने और अपनी अंतरंग बातों और दृश्यों को लिखकर सबके सामने रखने का सबसे प्रभावी माध्यम अगर कोई है तो वह है अन्तर्वासना. सेक्सी चोपड़ावो बोलीं- मैं कब से चुदाई के लिए तैयार थी, लेकिन रिश्तों के लिहाज से चुप बैठी थी.

कहानी अगले भाग में जारी रहेगी जिसमें मैं आपको बताऊंगी कि मेरे पति ने कैसे मेरी गांड को पूरे मजे लेकर चोदा.सेक्सी बीएफ फाइल: दोपहर के तीन बजे थे और मैं जानता था कि उसके बच्चे आज शाम तक ही वापस आयेंगे.

आज जब मौका आया तो उसे जाने मत दो, मैं आज तक किसी से नहीं चुदी … अब तुम मेरी आग बुझा दो, मेरी चूत जल रही है.जैसे ही उंगली उसकी योनि में गई तो उसके मुंह से जोर से आह्ह निकल गई.

सेक्सी गाणी - सेक्सी बीएफ फाइल

लेकिन उसकी बातों को अनसुना करते हुए मैं एक ज़ोर का धक्का और मारा और अपना लंड उसके चूत में अंदर तक घुसा दिया और शांत हो गया.लेकिन मेरा वीर्य अब शायद उबल चुका था और किसी भी समय बाहर निकल कर उसकी चूत में भरने वाला था.

अब मुझे अपनी चूत के लिए किसी लंबे मोटे लंड की सख्त ज़रूरत थी, मगर कहां से आता. सेक्सी बीएफ फाइल करीब एक घंटे बाद सबके सो जाने के बाद मैं अपनी बीवी के पास सोने चला गया.

मैंने उसकी गांड को कसकर धक्के मारने शुरू किए, तो चारू की जोरदार वाली सिसकियां ‘आह.

सेक्सी बीएफ फाइल?

मैं और विवान भैया हम दोनों लोग खूब बात करने लगे थे और साथ में कभी कभी एक दूसरे को छेड़ भी देते थे. फिर मैंने उसे कुतिया बना दिया और उसके पीछे जाकर अपना लंड एक ही शॉट में पूरा अंदर डाल दिया. जब सोनम ने उसे बताया कि घर पे कोई नहीं है आज तो टाइम से घर चले जाना.

कुछ पल ऐसे ही चूमने पर वो और भी मदहोश हो गयीं और अपना दिखावटी प्रतिरोध छोड़ कर उन्होंने भी मेरी पीठ को सहलाना शुरू कर दिया. फिर कुछ देर चुत चाटने के बाद मैंने जोर लगाते हुए अपनी एक उंगली अन्दर डाली, तो वो उछल के ‘आआहह उफ्फ्फ. कुछ देर लंड चूसने के बाद भाभी ने धीरे से लेटते हुए अपने पैर मेरी तरफ घुमा दिए.

आंटी के चूचे इतने बड़े थे कि मेरे दो हाथों की पकड़ में ही नहीं आ रहे थे. उसको शिवानी ने ऐसी हालात में उलझा दिया था कि उसके पास कोई और चारा नहीं बचा था. सभी जोरों से हंस पड़ी और नीता के पीछे पड़ गयी कि वो अपना एक कपड़ा उतारे.

दोस्तो, जिसके सामने नंगी लड़की पड़ी हो और चुदाई करने की बात खुल्लम खुला कर रही हो, तो एक जवान मर्द क्या करेगा? वो तो उसे चोदेगा ही, फिर चाहे बहन या बेटी ही क्यों न हो. फिर एक दिन मैं और अनिल साथ में बैठ कर ड्रिंक कर रहे थे और मेरे मुंह से वो इनकम टैक्स ऑफिसर वाली घटना निकल गई.

फिर उसने पूछा- और ऋतु का क्या रिएक्शन था इस बारे में?मैंने कहा- मेरी बीवी ने भी मेरा साथ दिया और कहने लगी कि जब समस्या ज्यादा बड़ी हो तो दोनों को मिल कर ही उसका सामना करना चाहिए.

मैं उसके स्तनों को मुंह में लेकर चूसते हुए उसकी योनि को चोद रहा था.

फिर मैंने भी उसको छेड़ने के अंदाज में कहा- खूबसूरत तो आप हो ही लेकिन आज आपका चेहरा कुछ ज्यादा ही चमक रहा है. जब मैं आफिस से लौटा तो उनकी बेटी को खाना खिलाने के बहाने वहीं रुक गया. मैंने इस बात का फायदा उठाते हुए हल्के से ब्लाउज के ऊपर से ही उनके बॉल को दबाना चालू कर दिया.

फिर रात को उसने मैसेज पर बताया कि मुझको लंड तो देखना था, पर मैं न जाने क्यों घबरा गयी थी. और फिर मैंने भी अपने आपको नंगा किया और वासनामयी प्रेमालाप के साथ शुरुआत कर दी. ऐसा भी नहीं था कि इससे पहले पति ने मेरी गांड नहीं मारी थी लेकिन मुझे गांड मरवाने में जितना मजा आता था उससे पहले डर भी बहुत लगता था.

मेरी चूची को चूसने के बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को आराम से चोद रहे थे.

ड्रिंक खत्म होने के बाद मैंने ऋतु की जांघ पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. तीनों ही फिर से मजा लेने लगे और पूरा कमरा कामुक सिसकारियों से गूंजने लगा. जब उसका निकलने वाला था, तो वो कंडोम निकालते हुए बोला कि कहां निकालूँ मैडम?मैंने कहा- जहां आप चाहते हो.

ममता कंडोम लेकर आयी और मैंने अंकल का लंड चूस कर उस पर कंडोम चढ़ा दिया. मैंने पत्नी की मंशा अपनी सास को बताई तो वह भी अनीता को मेरे साथ भेजने के लिए राजी हो गई. अब मैंने आंटी को पकड़ कर उनके भूरे भूरे निप्पलों वाले चुचों पर निगाह डाली मैं आंटी के मस्त निप्पलों को देखकर मैं अपने आप पर संयम ही नहीं कर पाया और उनके मदभरे निप्पलों पर टूट पड़ा.

अब पूल में राहुल ने महसूस किया कि पंकज और सारिका उससे नजदीकी बढ़ा रहे हैं.

मैंने उसे उसके घर, मेरे ऑफिस में, होटल में, खेत में … हर जगह चोदा था. मैंने धीरे से से उसको सीधा सुलाने की कोशिश की, तो वो किसी मासूम बच्चे के जैसे मुझसे और जोर से चिपक कर सोने लगी.

सेक्सी बीएफ फाइल करते रहो मेरी जान …”मैं तेजी से उसकी चूत को पेलने लगा और पांच सात मिनट की गर्मा-गर्म चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में अपना वीर्य फेंकना शुरू कर दिया. आंटी के पैर ऊपर उठे होने के कारण ऊपर चल रहे पंखे की हवा भी आंटी की चूत पर लग रही थी.

सेक्सी बीएफ फाइल हंसते हंसते बोतल फिर घूमी और रुकी नीता के सामने … नीता जोर से बोली- कमीनियो, अब मैं नहीं उतारने वाली … मैंने पहले ही बोल दिया था. आंटी ने मुझे अपने पास बुलाने के लिए एक दिन एक छोटे बच्चे को भेजा। मेरे मन में शक हो तो गया था कि जरूर दाल में कुछ काला है, नहीं तो आंटी कभी इस तरह से मुझे बुलाने के लिए नहीं कहती.

मेरी माँ के साथ सेक्स की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइए.

4 साल बीएफ

पहले तो उसे शायद मजा नहीं आ रहा था लेकिन फिर बाद में वो मस्ती से मेरे लंड को चूसने लगी. उन्होंने अपने हाथ से ही खुद ही मेरे चूतड़ों को फैला दिया और दबाव बढ़ाने लगे. फिर मैं वापस गल्फ़ आ गया … और मैंने प्रीति को बहरीन आने के लिए बोला.

इस तरह मेरी चुदासी पत्नी ने दो लंडों के साथ एक ही बार में मजा लिया. सारिका पंकज के बेडरूम में एक बड़ा सा टीवी लगा था जिस पर सारिका ने बेबाकी से बताया कि पंकज को बेड पर लेट कर उलटी सीधी क्लिपिंग्स देखने का बहुत शौक है. अगले दिन जब मैं सो कर उठा, तो बिस्तर पर लेटे लेटे ही देखा कि एक 30 साल औरत ब्लैक साड़ी में मेरे सामने बैठी थी.

थोड़ी देर में आंटी जींस टॉप पहन कर तैयार हो कर आईं, तो मैं आंखें फाड़ कर उन्हें देखता ही रह गया.

मैंने पहले ही बताया था कि वो अन्दर ब्रा नहीं पहनती थीं, तो मेरा हाथ सीधा उनके बाएं चुचे को छू गया. मेरी पीठ को प्यार से अपनी बांहों से सहलाते हुए वो मुझसे और जोर से लिपट गयीं. जिसने मेरे बेटे को पैदा किया उसको तो कुछ खबर भी नहीं और जो अभी मिला है वो इतना कर रहा है मेरे बच्चे के लिए कि जैसे वह उसका अपना बेटा हो.

मैं साथ में थी तो लॉज वाले बार-बार पूछ रहे थे कि मैं जीजा की क्या लगती हूं. कुछ लड़के अपने काम करते करते बोलते थे, तो कुछ लंड खुजाते खुजाते मुझे मेरी बात का उत्तर दे रहे थे. कंघी उठाकर लम्बे बालों को मांग निकालते हुए व्यवस्थित किया और चप्पलें पहन कर दरवाजे की तरफ बढ़ा.

फिर उसने तेजी के साथ अपनी चूत को सुमिना की चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने उससे कहा- ये सब कैसे हो सकेगा?उसने बोला- आप वो सब मुझ पर छोड़ दो … बस आप शादी से एक दिन पहले आ जाना.

मैंने बीच में लंड निकाल कर उसकी चूत में जीभ डाल दी क्योंकि मैं भी देर तक उसकी चूत को भोगना चाहता था. अब लंड महाशय अनिता भाभी की चुत की खिड़की खोलने के लिए उतावले होने लगे. जब मैं उसके घर में पढ़ाई कर रहा था, तो उसने पढ़ाई करते समय मुझसे बोला.

उसने अपने मुँह को मेरी चूत पर लगा दिया और मेरी चूत का सारा पानी चाट चाट कर साफ़ कर दिया.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे चूत में बहुत दर्द हुआ पर इतने बड़े लंड से चुदने की तमन्ना भी मेरी ही थी तो मैं इतना दर्द तो सहन कर सकती थी क्योंकि इतना बड़ा लंड मैं पहली बार लिया था. नित्या- मेरे और मेरे रूम पार्टनर के साथ लड़ाई होती रहती है, इससे तंग आकर ऐसा कर रही हूं. मेरी दीदी बोली- मेरे भाई, जिस हाथ से तुझे राखी बांधी उसी से मैंने तुझे तमाचा मार दिया.

हम लोगों के बीच में जो कुछ भी हो रहा था उसके बारे में सिर्फ हम दोनों लोग को ही पता था. अक्सर आफिस से लौट कर कुछ पल उसकी बेटी के साथ थोड़ी देर खेल कर और चाय पीकर मैं अपने रूम में जाता था, इस बहाने हम लोगों में थोड़ी थोड़ी नजदीकियां बढ़ने लगीं।उनके पति हमेशा रात में 10 बजे के बाद ही आते थे और कई बार तो उनकी नाईट ड्यूटी भी होती थी.

चूंकि वो ब्लू फिल्म में लंड चूसना देख चुकी थी इसलिए उसे इसमें कोई गुरेज नहीं रह गया था. वो एकदम से जाग गए और बोले- गुड मॉर्निंग डार्लिंग … वाह तुमने तो मेरा मूड बना दिया. ” समीर ने अपनी बहन को निहारते हुए कहा।बस अब आगे कुछ भी बोले तो मेरे मरा मुंह देखोगे.

सेक्सी बीएफ बुर में लंड घुसा

फिर बोली- आप कब कर रहे हो शादी?मैंने कहा- अभी तो पढ़ाई पूरी कर लूं.

इतने नजदीक से पहली बार देख रही हूँ।तो मैंने कहा- फिर चूसो इसे अपने मुँह में लेकर … बड़ा मज़ा आएगा. वो बार-बार मुझे ना करती रही लेकिन उसकी हर ना मुझे हां छुपी हुई दिखाई दे रही थी. एक संडे को हम सास दामाद चुदाई कर रहे थे कि मेरी साली सीमा ने हमें चुदाई करते देख लिया.

अभी तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ा कि शिवानी के जाने पर उसने मुझे गर्म करना शुरू कर दिया और इस वक्त वो मेरी चूत में उंगली कर रही थी. खाना खाते हुए उसने मुझसे कहा- आज रात सोना मत … मैं आपको मिस कॉल दूंगी, आप बाहर जो नहर के पास खेत है, वहां आ जाना. अंग्रेजी सेक्सी ब्लू फिल्मउसकी चूत मेरे वीर्य से लबालब भर गई और मैं काफी हल्का महसूस करने लगा.

कुछ ही देर में मम्मों की चुदाई के बाद मैंने अपना सारा रस अनिता भाभी के मुँह में गिरा दिया. अगर मुझसे कुछ बातें करके अपना अनुभव बांटना चाहती हैं तो मुझे लिखना न भूलें। मुझे आपके पत्रों का इंतजार रहेगा।इसी के साथ आप सभी पाठकों का सहृदय धन्यवाद। आपके पत्रों की प्रतीक्षा में आपका अपना विंश शंडिल्य।[emailprotected].

मैंने पूछा- ये कहां से लाईं?वो बोली- हॉस्पिटल से आते टाइम हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर से ले लिया था. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो. मैंने कहा- नहीं मम्मी जी, ऐसे आपको छोड़ कर तो हम दोनों एंजाय भी नहीं कर सकते.

सोफे पर बैठने के लिए मुझसे कहती हुई खुद सामने बिछे हुए सिंगल दीवान पर बैठ गई. अब मैंने आंटी को पकड़ कर उनके भूरे भूरे निप्पलों वाले चुचों पर निगाह डाली मैं आंटी के मस्त निप्पलों को देखकर मैं अपने आप पर संयम ही नहीं कर पाया और उनके मदभरे निप्पलों पर टूट पड़ा. ”यह तो मुझे पता है? पर इसमें बुरा मानने वाली क्या बात है?”उन्होंने बताया था कि वो … आपको तई बाल प्याल से ‘लव लड्डू’ बुलाती हैं.

उनका चूसना कमाल का था और उनके चूसने से ‘सलर्रप- सलर्रप’ की आवाज़ें आने लगी थीं.

इतना कहते हुए मैं उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा और पैंटी के ऊपर से चुत को सहलाने लगा. अन्दर आकर मैंने दरवाजा बंद किया, अपनी बांहें फैलाईं तो डॉली करीब आकर लिपट गई.

जब मुकुल राय पूरी तरह झड़कर शांत हो गया तो परीशा ने जीभ की नोक से सुपारे के छेद से निकल रही वीर्य को भी चाट लिया।मुकुल राय- उन्ह्ह्ह … ह्म्प्फ़्फ़ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह यस … ओह्ह बेटी उम्ह्ह. मुझे समझ नहीं आया कि जो शुरूआत उसने खुद की थी अब वो उसमें मेरा साथ नहीं दे रही थी. ”अब इससे क्या फायदा … पता नहीं ऐसा मौका फिर मिले न मिले!”सॉरी यार … तुम बोलो मैं तुम्हारी और क्या मदद कर सकती हूं … इस गलती को सुधारने के लिए मैं कुछ भी कर सकती हूं.

मेरी सेक्सी भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथों से सहलाया और इठलाते हुए अपने घुटनों के बल बैठ गईं. तब तक शिवानी भी कपड़े उतार कर नंगी हो गई और अपने दोस्त को अपनी चूत खोल कर दिखाने लगी. उन्होंने मेरे मुँह को ऊपर किया और मेरे होंठों पर किस कर दिया … मैं शर्मा गया.

सेक्सी बीएफ फाइल क्या हुआ बेटी?” मुकुल राय ने लंड थोड़ा सा और अंदर बाहर करते हुए पूछा. मैंने चुत पर खुशबूदार तेल लगाया और वेस्टर्न ब्रा पेंटी पहनी, जिससे कुछ भी नहीं ढक पा रहा था.

बीएफ मराठी मराठी बीएफ

तू बहन मानता है मुझे और मेरे ही बारे में ऐसे बोल रहा है?वो गुस्सा हो गई और मैंने अपने हाथ खींच लिए और उसको सॉरी बोला।मैं उठा और उठ कर बाथरूम की तरफ चला गया लेकिन अपना मोबाइल छोड़ दिया वहीं। मैंने उसमें उसकी कुछ फोटो निकाली थी चुपके से।उसको इस बारे में पता नहीं था. भाई ने मुझे बिस्तर में ही डॉगी बनने के लिए कहा और मैं अपनी गांड को उठा कर जैसे ही कुतिया की पोजीशन में आई तो भाई ने मेरी गांड में लंड को पेल दिया. बोतल फिर घुमाई और अबके रुकी अनीता के सामने … वो फंस गयी … असल में उसने ब्रा और पैंटी पहनी ही नहीं थी.

मैंने बिना कुछ बोले अपना पानी दीदी की चूत में छोड़ दिया और साथ में दीदी भी झड़ गयी। अपनी दीदी की चूत के गर्म पानी का लंड पर जो अहसास मुझे उस समय मिल रहा था वो तो मेरे जैसा बहनचोद ही समझ सकता था. मैं वीना आंटी के ऊपर आ गया और पहले उनके मम्मों के बीच में लंड डाला और हिलाया. अंग्रेजी नंगी सेक्सीतभी कहानी बताते हुए सासुजी ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और ख़ूब अच्छे से चूसने लगीं.

बहू की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे ससुर ने अपने प्यार का वास्ता देकर अपनी बहू को अपने सामने नंगी कर लिया था.

मुझे पता नहीं क्या हो गया था कि मुझे दीदी के बूब्स कुछ ज्यादा ही आकर्षक लग रहे थे. स्टोरी पढ़ने के बाद संजना ने उसी वक्त मुझे अपने घर पर बुलाया और अपनी चूत की धुआंधार चुदाई करवाई.

हे … आपने कैब बुक कराई है?” मैंने उसे पूछा।हाँ … हाँ …” वह थोड़ा शॉक होकर बोला।तो बैठिये ना!” मैंने उसे कार में बैठने को बोला।वह कुछ हिचकिचाते हुए कार की पिछली सीट पर बैठ गया।सॉरी आज हमारे ड्राइवर की तबियत खराब है इसलिए मैं ड्राइव कर रही हूं … आप शायद इसी वजह से कंफ्यूज़ हुए होंगे. कुछ लोगों को ये बात अटपटी लगे लेकिन हम दोनों भाई-बहन ने तो ऐसा ही किया. जब उसका दर्द कम हुआ, तो वो हिलते हुए सिसकारियां लेने लगी- आआह्ह … जान जोर से करो … फाड़ दो मेरी चुत को … आआआहह … जान आज तुमने जन्नत की सैर करा दी … आह जान काफी टाइम से मैं ऐसी चुदाई के लिए तड़प रही थी … आह आज पूरी आग मिटा दो जान … आअह्ह … और जोर से चोदो …पूरा रूम उसकी सिसकारियों से गूंज रहा था.

थोड़ी देर में मैंने उसके मम्मों को सहलाया और चूसा तो उसको राहत मिली.

उसकी आखिरी की थोड़ी सी पेशाब को मैंने वैसे ही अपने मुँह में रखे रखा और उसे पास बुलाकर उसके मुँह में डाल दिया. मैंने अपने मुंह से नौकर का लंड निकाल लिया और फिर बोली- मैं दर्द सह लूंगी पापा. अब स्विमिंग पूल में भी वो एक दूसरे के प्राईवेट पार्ट्स को छेड़ने लगी थीं.

गाय का सेक्समुझसे तो वो ड्रामा झेला नहीं गया इसलिए उठ कर अपने कमरे में आ गया और बेड पर लेट कर फोन हाथ में उठा लिया. आंटी ने नीचे हाथ ले जाकर मेरे लंड को पकड़ लिया और मेरे लंड को खुद ही अपने हाथ के सहारे से अपनी चूत के मुंह पर लगा कर मुझे अपने ऊपर जोर से खींच लिया.

कुंवारी लड़कियों के सेक्सी बीएफ

मेरा लंड तो कह रहा था कि आज तो दीदी की चूत मार ही ले लेकिन मैं दीदी को परखना चाह रहा था कि वो भी मेरे लंड को लेना चाहती है या नहीं. मैंने उसकी चूची को दबाना चालू किया और आगे को मुँह करके उसके होंठों को अपने होंठों में भर लिया. मैंने उसे टोकते हुए कहा- क्या बात है आज बड़ा प्यार आ रहा है मुझ पर?वो मुस्कुराई लेकिन कहा कुछ नहीं और उठ कर बैठ गयी।अब समय था रोमांच का … पहले मैंने वाइन से अपना पूरा मुंह भरा और और उसके होंठों की चूमते हुए उसे सारी वाइन पिला दी.

कुछ देर उसके मम्मों को दबाने और चूसने के बाद मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया. दीदी ने फिर से कहा- कम से कम एक बार रोज मुझे तुम्हारा साथ चाहिए होगा. अब दो नग्न जोड़े अदला बदली के साथ एक ही बिस्तर पर संभोग क्रिया का आनंद ले रहे थे.

” आखिरकार नीलम ने हार मानते हुए कहा क्योंकि वह अपने ससुर को किसी कीमत पर भी दुखी नहीं करना चाहती थी। नीलम ने सोचा कि एक बार अपना जिस्म दिखाने में भला उसका क्या बिगड़ जाएगा उसके बाद तो सारी ज़िंदगी उसकी जान छूट जायेगी।ओह्हह बेटी, मुझे अपने कानों पर यकीन नहीं हो रहा है। तुमने मेरी बात मान ली थैंक्स बेटी, मैं तुम्हारा अहसान सारी ज़िंदगी भर याद रखूँगा. मैंने इसका कारण पूछा तो वह बोली- मेरी बरसों की आरजू आज पूरी होने जा रही है. मैंने बोला- अंकल मैं अदरक वाली चाय बना लाऊं, ठंड में आपको अच्छी लगेगी.

और अपनी चूत में पराए मर्द के स्पर्श और अंदर हाथ डालने से मेरी पत्नी और उसे देख रही मेरे दोस्त की पत्नी और हम दोनों मर्द यानि हम चारों बहुत ज्यादा उत्तेजित होने लगे. धीरे धीरे चयन मेरे लंड के साथ खेल रहा था और मेरा लंड अपने पूरे जोश में चयन को मज़े दे रहा था.

वो मेरे तने हुए लंड की अगल-बगल में हाथ चला रही थी लेकिन लंड पर हाथ नहीं रख रही थी.

इतने में मेरी वाइफ दो गिलास ले आई और बोली- जानू, आज तो मेरा भी एक पैग बना दो … आज मैं अपनी माँ के साथ और पति के साथ मिल कर एंजाय करूँगी. सेक्सी वीडियो दिल्ली सेक्सीमैं रूम खोल कर धीरे से आवाज देकर बोली- अंकल लाइट चली गई है, मुझे अकेले सोने में डर लगता है. राजस्थानी नंगी फोटोपंकज सारिका के होंठों से जुड़ गया और एक हाथ से उसके निप्पल दबाने लगा. खाने के बाद सारिका उठ कर मेरे करीब आई और किस करते हुए बोली- जान जा रहे हो.

उन्हें नंगी अवस्था में देख कर मुझे ऐसा लग रहा था मानो कोई जन्नत की परी मेरे सामने लेटी हो.

मैं पीठ को चूमता हुआ ब्रा की पट्टी पर आया और अपने दांतों से उसकी ब्रा का हुक खोल दिया. इस पर शिवानी ने गाली देते हुए बोलना शुरू कर दिया- साले लुच्चे … अपनी मां को चुदते देखा है ना … अपने बाप से बता कर पूछ, उस वक्त वो क्या कहती थी तुम्हारे बाप से. मसलन कि हम दोनों कैसे मिले, शादी को कितने साल हो गये हैं और ऋतु मॉडलिंग में कब से है … वगैरह-वगैरह।फिर उसने ऋतु की मॉडलिंग वाली फोटो देखने की इच्छा जाहिर की.

मेरी कहानी पर आप लोग अपनी राय जरूर देना और मुझे बताना कि आपको मेरी कहानी में कौन सी पोज सबसे ज्यादा अच्छी लगी. क्या घर था उसका जहाँ रहती थी वो … एकदम आलीशान।उसने वो पूरा घर ही किराए पर ले रखा था. मैंने उसकी चूत को बुरी तरह से चाट डाला और उसके मुंह से सीत्कार फूट पड़े- आह्ह् … आआ …आह सुधीर … बस करो ना यार …मगर अब मैं कहां रुकने वाला था.

चूत की बीएफ फिल्म

मैंने भी अपना ध्यान कहीं और लगा कर उसे तेजी से चोदना चालू कर दिया था ताकि मेरा रस जल्दी ना निकले. मैंने बीच में लंड निकाल कर उसकी चूत में जीभ डाल दी क्योंकि मैं भी देर तक उसकी चूत को भोगना चाहता था. क्योंकि ससुर जी तो हमेशा पूजा पाठ में लगे रहते हैं और आप उनसे हर रात मिन्नतें करती रहती हो कि आज की रात तो कम से कम वो आपको सॅटिस्फाइ कर दें.

दिल्ली से आने के बाद जैसे ही मैं ऑफिस पहुंचा, तो उस वक़्त मेरे और उसके सिवा कोई नहीं था.

मैंने उसे आंख मार कर धीरे से कहा- तू टेन्शन ना ले … मैं तेरी जुगाड़ फिट कर दूँगा.

क्या मस्त चूचे थे आंटी के और उनके ब्राउन कड़क निप्पल क्या लग रहे थे. वो ‘उई … मांम्म्म … जोर से करो … आह … बहुत मजा आ रहा है … आआहह … उईई. काला जादू वीडियोमैंने अपनी पूर्व की कहानी का लिंक दिया है, जो दोस्त मेरी जवानी से परिचित न हों, वे प्लीज़ मेरी इस लिंक को खोल कर मुझसे परिचित हो लें.

” महेश ने हँसते हुए कहा।ज्योति का चेहरा शर्म से लाल हो चुका था। उसे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्या करे, उसके पिता की नॉनवेज हरकतें उसकी साँसें ज़ोर से चल रही थीं। ज्योति अचानक वहां से उठकर अपने कमरे में चली गयी. मैं अभी कुछ सम्भलती कि तभी उसने अपना एक हाथ मेरी टी-शर्ट में घुसा कर मेरे चुचों को दबा दिया. इन सब लड़कियों में कविता जॉब के लिए बहुत ज्यादा परफेक्ट तो नहीं लग रही थी, फिर भी उसमें क़ाबलियत थी.

तभी उसने मुझे उल्टा कर दिया और लंड को बाहर खींच कर मेरी गांड में घुसा दिया. मैं नियमित कसरत करता रहता हूं जिससे मेरे शरीर पर कहीं पर भी अतिरिक्त चर्बी जमा नहीं है.

इसलिए मैंने जवाहर नगर में ही दो गली छोड़ कर दूसरा कमरा पीजी पे ले लिया।यह था मेरी जिंदगी का पहला काण्ड जिसे मैं अन्तर्वासना पर लिख रहा हूँ.

मेरा मन एक राउंड और करने का था लेकिन वो मुझे बोला- चलो टाइम हो रहा है, मेरे घर वाले आ जायेंगे. लेकिन भाभी ने ऐसा नहीं किया।भाभी को यह भी पता है कि मेरा देवर मुझे गंदी नज़रों से देखता है और मुझे चोदना चाहता है।वो मुझसे बात भी करती थी और बातों बातों में भाभी ने कई बार चुदवाने के लिए हाँ भी कर दी थी कि मैं चोदवा लूंगी बस मौक़ा मिलने दे. वो जुबान से चूसते हुए मेरे लंड के अगले भाग को अपने मुँह के अन्दर लेकर तालू से रगड़ रही थीं.

घोड़ा घोड़ी की सेक्सी सुमिना यूं तो काजल के साथ व्यस्त रहती थी लेकिन मैं कोई चान्स नहीं लेना चाहता था अपनी बड़ी बहन के सामने. उनके बच्चे वगैरह सब लोग अमेरीका में रहते थे, भारत में सिर्फ़ अंकल आंटी रहते थे.

उसके बाद जब भी हमें मौका मिलता तो मैं और दीदी दोनों ही एक दूसरे के साथ मजे लेने लगती. घर के साथ में जो घर था वहाँ पर शालू आंटी कपड़े सुखा रही थी जो मेरी माँ की काफी अच्छी सहेली भी थी. लंड चूसते हुए ही उसने मेरे आंडों को भी सहलाना शुरू कर दिया और एक मेरी गोटी को उसने अपने मुँह में ले लिया.

14 साल की सेक्सी बीएफ

खेत के अन्दर जाकर उसने चादर बिछा दी और खुद उस पर बैठ कर बोली- आप भी बैठ जाओ. ” ज्योति ने सीरियस होकर रोते हुए कहा।सॉरी बहन, मैंने आप को रुला दिया. थोड़ा जोर देने पर वो बोली कि रात को सब सो जाएं, तब तुम मेरे पास आ जाना, मैं आपका लंड चूस कर आपको शान्त कर दूंगी.

फिर मैंने आंटी की मैक्सी के अंदर हाथ डाल कर उनके पेट से होते हुए उनके चूचों तक हाथ ले गया. फिर रात को मैंने तीन बजे के करीब एक फिर से उसकी चूत पर अपने लंड से हमला कर दिया.

अब आगे की सेक्स कहानी आप दीदी प्रीति की जुबानी ही जानिये:सुबह ब्रेकफास्ट के समय मैंने मामी से बात करनी चाही लेकिन मौका नहीं मिल पाया क्योंकि इशिता आ गयी थी.

चूमते चूमते ही उसने हाथ बढ़ा कर आइसक्रीम का कटोरा उठाया और मेरी जांघों के पास चली गयी और मेरे लंड को जो अर्धनिद्रा में था, अपनी मुट्ठी में लेकर हिलाने लगी. सारिका ने मना भी किया तो राहुल ने भी कह दिया- हाँ इसमें क्या है … और अब आपको सोना ही तो है. उसके बाद मैंने उसकी टांगों को चौड़ा कर दिया और उसकी चूत पर हाथ फेरते हुए जीभ से चाटने लगा और वो कसमसाने लगी.

अभी पूरा अंधेरा नहीं हुआ था तो वह मुझसे बात करने लग गया।हर्ष- आज काफी दिनों बाद बहुत अच्छा लगा।मैंने गुस्से में कहा- तुम्हारा तो हो गया था पर मेरा क्या?हर्ष बात को काटते हुए बोला- दीदी, आज आपकी सारी ख्वाहिश पूरी कर दूँगा।मैंने उसकी तरफ देखते हुए कहा- देखते हैं … तुम क्या कर सकते हो।बातों बातों में अंधेरा भी हो गया था. जब भी उसने मुझे बुलाया, हर बार उसने मुझे कुछ ना कुछ रूपए देने की कोशिश की. फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया.

राहुल को ऐसा लगा कि सारिका ने आज ही अपनी चूत क्रीम लगा कर साफ़ की है.

सेक्सी बीएफ फाइल: वीना आंटी जोर से चिल्ला दीं- आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… वरुण आराम से … दर्द हो रहा है … धीरे धीरे कर. जब वो उससे मिल कर वापिस जाने लगी, तो जानबूझ कर उसके आगे फिसल कर गिर गई.

तुम एक बार फिर से मेरी चूत को चोद दो, क्या पता मैं तुम्हारे लंड से चुद कर प्रेग्नेंट हो जाऊं. ” महेश ने अपना मुँह नीलम की चूत से बिल्कुल सटाते हुए कहा।आहहह नहीं पिता जी. उसके मुंह से यह सुनते ही बाथरूम में सन्नाटा सा छा गया और उत्तेजना के मारे मेरा और उसकी वाइफ का भी बुरा हाल था.

उसने मेरी ब्रा खोल दी और मेरे दोनों मम्मों को अपनी हाथों में लेकर जोर जोर से दबाने लगा.

पर आप मेरे सर हो, तो मुझे आपके साथ …वो मेरी बात समझ गए और धीरे से मेरे पास आकर मेरा हाथ पकड़ कर मुझे बेड पर बिठाते हुए बोले- मैं समझता हूँ कि तुम मुझसे शर्मा रही हो … क्या मैं सही हूँ?मैंने कहा- जी हां सर. अगले लॉज में हमने जाकर पूछा तो वहां पर एक रूम था और उसमें केवल एक ही बेड था. अभी आंटी को मेरी जरूरत थी इसलिए मैं भी आंटी के पास ही रुकना चाह रहा था.