चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीपी सेक्सी वीडियो भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

गाने वाली सेक्सी पिक्चर: चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ, उसने आंखों से कुछ इशारा भी किया और श्यामा उठ कर उस डीवीडी को लिए दूसरे कमरे में चली गई और फिर जल्दी से वापिस भी आ गई.

चूची पीना

मैं खिंचाव के साथ मेरी योनि की भीतरी दीवारों से लिंग के सुपाड़े का रगड़ना महसूस करने लगी. सेक्स डॉक्टर सेक्सइन कपड़ों में वो बला की खूबसूरत लग रही थी, जिसको देखकर एक बार तो मैं खो सा गया था.

तो मेरे सुझाव को ट्राय जरूर करना दोस्तो!मैंने अपना समय निकाल कर यह लेख लिखा है. कॉलेज की लड़कियों की बीपीमैंने अपने मम्मी पापा से बात करके वाराणसी से दिल्ली के लिए ट्रेन पकड़ी और अगली सुबह दिल्ली पहुंच गया.

मैंने भी उनके होंठों को होंठों में डाल जवाबी वार किया और उनसे लिपट कर उनके होंठ चूसने लगी.चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ: यह सब देख कर मुझे और जोश चढ़ रहा था और मैं धक्के पे धक्के लगाए जा रहा था.

आंटी की इस तरह से लपक कर हामी भरने से आज तो मैं एकदम सातवें आसमान पर था.इस समय तक मेरा क्लास की लड़कियों को देखने का नज़रिया भी बदल गया था.

बीपी ब्लू बीपी ब्लू - चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ

लगी शर्त!मैं- हां लग गयी और अगर दिख गए तो?मीतू- तो तू मेरे बूब्स को टच कर सकता है.अब तक हिना भाभी जान चुकी थीं कि क्या खेल चल रहा है, पर उन्होंने मुझे कुछ नहीं कहा.

उस कमरे में एक किंग साइज बेड था, उस पर ही हम तीनों आराम से सो सकते थे. चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ फिर वो बिना झड़े ही हट गया और उसके बाद मुझे दो और नये लंड खाने को मिले.

मैंने आज दूधों के ऊपर पैड लगा रखे थे, जैसे ही उसने चोली की बद्धियां और हुक खोला, तो मेरी ब्रा के अन्दर जो पैड फिट थे.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ?

मेरा पूरा लंड नीरू की चूत में जाता हुआ देख पायल मस्त हो गई थी, उसकी आँखें नीरू की चूत पर टिकी हुई थी. जाते वक्त उसने बोला- मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी … जो मुझे आपने खुशी दी है. जिसमें से माइक का गाढ़ा वीर्य रिस रिस कर उसकी जांघों तक बहने लगा था.

तुम लोग तो साले शुरू हो गए … बहुत जबरदस्त लौंडिया है … साली को देख कर ही कंट्रोल नहीं हो रहा है. इतनी बात करने के बाद मैंने अब तक उससे ये पूछा ही नहीं था कि वो किधर से है. हम दोनों के चर्मोत्कर्ष को प्राप्त कर लेने के बाद भी हम उस आलिंगन के पलों से बाहर नही आना चाहते थे.

वो बोली- मेरे पास ब्रा की दुकान नहीं है … जो मैं बदल बदल कर पहन लूँगी … अब तुम्हें ही बाजार जाकर मेरे लिए ब्रा लानी होगी. कुछ पल बाद जब भाभी सामान्य स्थिति में आईं, तब मैंने उन्हें छोड़ा और बोला- इतनी जोर से चिल्लाओगी भाभी. अगली बार एक और कहानी लेकर आऊंगा आपके समक्ष, तब तक के लिए लंड-चूत का प्रणाम![emailprotected].

मैं महसूस करने लगी थी कि वीर्य की पहली पिचकारी में माइक का जिस्म सहम गया. तभी मूछों वाले ठाकुर साब ने दरवाजे पर धक्का दिया और मुझसे बोले- जाओ अन्दर चली जाओ.

नीरू ने पूछा- क्या तेरा मन है?तो सविता ने कहा- क्यों? क्या तेरी नजर में कोई लड़का है या तेरा कोई बॉयफ्रेंड है जिससे तू करवाती है?तब नीरू ने कहा- बॉयफ्रेंड नहीं, एक अनुभवी फ्रेंड है मेरे पास … उम्र 42 वर्ष है लेकिन बहुत मस्त … ना कोई फिक्र, ना कोई झंझट, न राज खुलने का डर! और अनुभवी आदमी जो मजा दे सकता है, वह नया लड़का नहीं दे सकता.

उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया और सरसराते हुए मुझसे बोली- मुझको तो नंगी कर दिया, तुम अपने कपड़े नहीं उतारोगे?मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए कहा- तुम खुद ही नंगा कर दो ना.

मैं साइकल की तरफ बढ़ी, तभी सर ने पीछे से आकर मेरी कलाई पकड़ ली और अपनी तरफ खींच मुझे अपने करीब लाते हुए कहा- मुझे तुम बहुत पसंद हो. इसी मारे मैंने तुझे सारी बातें नहीं बताई थीं, अगर बता देता तो आज पता नहीं क्या होता. वो दोनों बोले कि ऐसा नहीं होगा, ठाकुर साहब ने हम दोनों को बोला है, हम यहीं सोएंगे.

बहुत मजा आ रहा है रे … चोद न जोर जोर से!मैंने चाची की जांघ के गुंदाज मांस को मुठ्ठी भर कर पकड़ा और चाची को जोर जोर से चोदने लगा. चुदाई करते हुए हर पल के साथ ऐसा महसूस हो रहा था कि छेद और अधिक फैलता जा रहा था. मतलब उसने पिंक सलवार सूट पहना हुआ था जिसमें में वो एक मस्त माल लग रही थी.

उसने अभी तक अपनी गांड और चूत तो बहुत बार चुदवाई थी पर एक साथ दोनों और वो भी दोनों नए लंड से … यह अनुभव उसे बहुत ही नया और निराला लग रहा था.

छोड़ … मुझे … मम्मी आ जाएंगी … छोओओड़ … मैंने बताया ना कि उस रात दीदी तुम्हारे साथ थीं, ये सब दीदी के साथ ही करना!” प्रिया ने अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करते हुए कहा. मैं खुद सम्हाल नहीं पाया और मैं मानसी के ऊपर चढ़ गया और उसकी चूचियों को चूसने लगा।उसकी आँख खुल गयी और वो मेरा साथ देने लगी।कुछ देर बाद उसने अपने आप से ही मेरे लंड को चाटना चूसना शुरु कर दिया. रीना समझ चुकी थी कि मुझे भी नए लंड से अपनी चूत चुदवाने का मन कर रहा है.

मैं- अच्छा आपको उस कलेक्शन में क्या पसंद है?मीतू दी खुल कर कहने लगीं- मुझे सब अच्छा लगता है. कुछ देर बाद नताशा को खासा नशा हो चुका था और वो दीमा के बगल में बैठी-बैठी उसकी गोद में गिर पड़ी. अब मैंने उसकी चूत को साफ किया और नीचे लेटा कर अपना लंड उसकी सूखी चूत में पेल दिया.

वो चुदासी सी हो गई थी और बोलने लगी- प्लीज रेनिश मुझको चोद डालो … मैं कब से तड़प रही हूँ तुम्हारे लंड के लिए … प्लीज रेनिश फ़क मी!मुझे भी चुदाई का भूत सवार था, तो मैंने भी देरी न करते हुए उसके दोनों पैरों को फैला दिया और उसकी कमसिन बुर पर लंड सैट करने लगा.

मर्द कब बंदिश में रहता है और कब परवाह ही करता है। दसियों जुगाड़ बनते रहते हैं. कुछ ही पलों में भाभी ने अपना बदन ढीला छोड़ दिया और अब वो धीरे धीरे मेरे चुम्बन में साथ देने लगीं.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ उसके कांपते होंठ खुले और वो अंग्रेजी में बोली- प्लीज, मेरी चूत का भेदन करो प्लीज. अशोक- फिर कार्यक्रम आगे बढ़ाएं?विक्रम- जरूर पापा… देर किस बात की!अशोक- ठीक है फिर… केक का काम तो हो चुका, अब जन्मदिन का असली तोहफा देने की बारी है.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ अंकल ने होंठों को चूसना शुरू किया और एक चुची भी कस कस के दबाने लगे. चाची एक हाथ से चाचा के तनतनाते हुए लंड को पकड़ कर जोर जोर से मसल रही थीं- आपका लंड तो इस उम्र में भी कमाल का मूसल है.

मेरी जगी हुई चिंगारी शांत हो गयी थी, मैं बहुत असमंजस में थी, मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या कहूं.

गुरु गोरखनाथ वॉलपेपर

भाभी की बुर पर छोटे छोटे बाल थे, जिनको देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने भाभी को लिटा दिया और उनकी बुर को पागलों की तरह चाटने लगा. मैंने कुछ देर में ही उसकी पैंटी को भी उतार दिया और उसकी नंगी बुर पर किस करने लगा. शायद काम क्रीड़ा का खेल‌ खेलते खेलते सुलेखा भाभी की चुत ने कामरस उगल दिया था, जिससे उनकी पेंटी भीग गयी थी.

मैंने अपनी गति थोड़ी धीरे की, पर शायद अब मैं आने वाला था और इसलिए मुझसे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था. करीब आधे घंटे बैठने के बाद होटल के लिए निकल ही रहा था कि एक ब्लैक कलर की ऑडी कार धीमी रफ्तार से मेरे आगे से निकली. तभी उन्होंने मेरे लौड़े को अपने मुँह में ले लिया और उसको ऐसे चूसना शुरू कर दिया, जैसे कोई बच्चा लॉलीपॉप खा रहा हो.

मैं कुछ समझ नहीं पा रही थी, पर फिर भी मैंने नीचे स्कर्ट पहन ली और ऊपर एक वी नेक की टी-शर्ट पहन ली.

मुनीर तो पागलों की तरह तारा के बालों को जोर से पकड़ सिसकारी भरी आवाजें निकालने लगी और थोड़ी देर में माइक को बुलाने लगी. उसका नाम सबा है और उसका फिगर 32-30-32 था जिसको मैंने दबा कर और चूस कर 36″ के बूब्स और 34″ चूतड़ों का कर दिया है. नहीं तो मैं किसी भी लड़की को अपने साथ ले जाऊं, उसे कोई आपत्ति नहीं है.

अब नीरू ने पायल के पीछे आकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, उसके बूब्स बिल्कुल नंगे थे. रेवती ने मेरे लंड को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया और मैं अचानक हुए इस हमले से आनन्द के उस सागर में चला गया, जिसकी गहराई दुनिया में आज तक कोई भी नहीं नाप पाया है. दोस्तो उनकी एकदम गुलाबी और क्लीन चूत देख कर मैं खुद को रोक ही नहीं पाया और उनकी चुत चाटने लगा.

जो भी कोई फीमेल इस कहानी को पढ़ रही हो, तो एक बार अपनी टांगों को हवा में उठा कर चुदवा कर जरूर देखें. और अगर बापू को पता चला तो वो मेरी गांड में डंडा जरूर डाल देगा।मैंने कहा- अबे कुछ नहीं होगा.

करीब 2 बजे मुझे जोर की पेशाब लगी, तो मैं पेशाब करके वापस आ कर लेट गया. उसकी आँखों के सामने उसके दोनों भाई उसके इस कामुक शरीर से खेल रहे थे और वो उन हर एक छुअन का आनन्द ले रही थी. हमारी शादी हुई थी तो पहले के पन्द्रह दिन चूमाचाटी में, पकड़ा पकड़ी में ही चले गए थे.

मेरा मन फिर मोबाइल की ओर गया, तो देखा तारा कैमरे की तरफ खड़ी होकर अपनी योनि मुझे दिखा रही थी.

मैं चिल्लाने लगी- निकाल कमीने … नहीं डलवाना … बहुत दर्द हो रहा है … मर जाऊंगी साले … छोड़ दे. मैं हमेशा ही कंडोम का इस्तेमाल करता हूँ जिस वजह से ‘कहीं कंडोम निकल ना जाए’ इस बात पर ध्यान जाता है और इस वजह से चुदाई भी थोड़ा ज़्यादा देर चलती है. चुदाई के बाद मेरा लंड चुत से बाहर निकालकर देखा, तो लंड पर थोड़ा सा खून लगा हुआ था.

पोर्न देख के लड़की से तो वैसे ही एक्ट की उम्मीद करते हैं लेकिन खुद पीछे हट जाते हैं।”हर कोई तो नहीं हट जाता. हम खाना खाके सो गये।आधी रात को मेरी नीन्द खुली, मानसी पास में सो रही थी, उसके साइड में सुशीला!सुशीला नींद में थी, उसकी चूचियाँ सांस के साथ ऊपर नीचे हो रही थी.

फिर मम्मी ने उनको अपने नीचे डाल लिया और पूरा नंगी करके कहने लगीं- आजा साली भोसड़ी की … अब तेरा पानी निकाल दूँ. छोड़ … मुझे … मम्मी आ जाएंगी … छोओओड़ … मैंने बताया ना कि उस रात दीदी तुम्हारे साथ थीं, ये सब दीदी के साथ ही करना!” प्रिया ने अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करते हुए कहा. उसने पेंटी पहनी हुई थी और अब वो सिर्फ पेंटी में मेरे सामने खड़ी थी।अभी तक मैंने अपना एक भी कपड़ा नहीं उतारा था। अब मैंने उसकी उंगलियों को अपनी उंगलियों में फंसाया और दोनों हाथों को ऊपर करके एक बड़े से पत्थर से टिका दिया और पूरे जोर से उसके निप्पलों को चूसने लगा, चाटने लगा। वो जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी। अब उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी, मैं उसक़ी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा, मसलने लगा.

सेक्सी डॉग सेक्सी डॉग

वहां से लगभग 200 मीटर की दूरी पर ही मकान था, ड्राईवर ने आगे ले जाकर गाड़ी उधर लगा दी.

तो हिमांशु ने हाथ बढ़ाया, दोनों ने साथ मिलाकर आपस में में ताली ठोकी और कहा- यार हम दोनों बहुत लकी लड़के हैं, जो हीरोइन से भी सुंदर एक लड़की हमसे वो चुदवाने आई है. दोस्त ने उसे अपनी बांहों में भरके चूमा और उसके दूध मसल कर हामी भर दी. बहू को वो रूप देखकर मुझे अपने लंड के मुकद्दर पर फ़ख्र हुआ कि इस शानदार जिस्म की मलिका की चूत को मेरा लंड अनगिनत बार भोग चुका था.

बहू को वो रूप देखकर मुझे अपने लंड के मुकद्दर पर फ़ख्र हुआ कि इस शानदार जिस्म की मलिका की चूत को मेरा लंड अनगिनत बार भोग चुका था. जीजू मुझे चूमते चाटते हुए मेरा नाम लेकर मुझे लंड अन्दर बाहर होते देखने के लिए बोलकर चोदे जा रहे थे. सेक्सी वीडियो मालिश वालासाथ ही इंग्लिश में बोल रही थी- यू अरे अमेजिंग इन लव मेकिंग!मैं उसकी गर्दन से उसके कंधों को चूमता हुआ फिर से उसके बूब्स पे अपने होंठ चलाने लगा.

नहीं तो अभी सब लोगों को बुला लूंगा फिर तुम लोग सोच लेना क्या होगा।जब उन्होंने ये बात सुनी तो वो और भी ज्यादा डर गये।तभी प्रशान्त भागने के लिए दरवाजे की कुंडी (चटखनी) खोलने लगा, मैंने तुरंत उसको पकड़ लिया और कहा- अच्छा, ज्यादा होशियार बनता है भोसडी के!और फिर उसको बाथरूम में बन्द कर दिया. ’ ऐसे करते हुए मेरा सिर उसके चूत पर रगड़ने लगी और कहने लगी- चाटो आज ऐसे चाट चाट कर खा जाओ.

नीरू ने हमें बताया कि पायल को यह शक भी है कि मैं जीजू से चुदवा रही हूं. मैं मौसी को लगातार किस किए जा रहा था और उनकी चूचियों को सहला रहा था. फिर मैं वहाँ से निकलने लगा तो उन्होंने मुझे दरवाजे के पास रुकने को बोला और दूसरे कमरे में चली गयी, मैं उनके आने का इंतजार करने लगा.

रात भर मैं जग के बारे में सोचती रही कि कैसा लड़का है, कुछ मिलने की उम्मीद नहीं है, फिर भी मेरी कितनी फ़िक्र करता है, मेरा कितना ख्याल रखता है और उसका साथ मुझे भी तो कितना अच्छा लगता है. अब वो तीनों भी एक एक बार झड़ चुकी थीं और मुझे भी थोड़ा आराम चाहिए था. पर हिना भाभी को रोते देखने के बाद अगली सुबह मैं जानबूझ कर सोया रहा और भैया के जाने का इंतज़ार करने लगा.

लंड और उसकी माँ की गांड में बहुत तेल होने के कारण यहाँ भी बहुत चिकनाई हो गयी थी.

मेरे और कुछ पूछने से पहले उसने मुझसे सीधा पूछा- पूरी रात का कितना लोगे?मैं शॉक्ड हो गया और मैंने कहा- मैं समझा नहीं!उसने मुझसे कुछ नहीं कहा. क्योंकि मुझे बायोलॉजी में बहुत ही कम मार्क्स मिले थे, जिसकी वजह से मेरे ओवरआल परसेंटेज ज्यादा नहीं आए थे.

सिम चालू हो चुकी थी तो मैंने कम्मो के पुराने फोन से उसके कॉन्टेक्ट्स भी सेव कर दिए और फोन को डायल करना, कॉल रिसीव करना वगैरह सब सिखा दिया. मैं सहम कर वही बैठ गई।तुम कुछ बोलते क्यों नहीं विक्रम?” मम्मी ने पापा को बोला।सुधा… हो गयी छोटी सी गलती बेटी से. मैंने फिर से अपने एक हाथ से अंकल के हाथ को पकड़ा और बुर में तेज़ी से खुद ही चोदने के लिए जोर लगाने लगी.

तभी मेरी एक उंगली ने आवारगी करते हुए मीता के उरोजों के सहलाते हुए नीचे का सफर तय करते हुए नाभि की गहराई और मादकता को सहलाते हुए ढलान की तरफ फिसल चला और धीरे से मीता की मादक और रसभरी चूत के छल्लों में मेरी एक उंगली जा घुसी थी और यौवनरस से सराबोर उस गहरे आनन्दवन में मदनमणि की तलाश में उसने मीता की यौवन उत्तेजना को गगन तक पहुंच दिया. फिर मैंने उन्हें अपने ऊपर लिया और हम थोड़ी देर इसी तरह एक दूसरे के ऊपर लेटे रहे. फिर उसने अपने कपड़े ठीक किए और कहा- लास्ट में मैंने आपको इसलिए दांत काटा ताकि आपको भी थोड़ा दर्द हो।और ये वादा किया कि अगली बार मेरे और आपके बीच में कोई नहीं आएगा और अगली बार जब हम दोनों मिलेंगे तो मैं आपको संतुष्ट कर के ही घर जाऊँगी.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ मैंने उसे रोकना चाहा, पर उसने अपनी ताकत से उन्हें फैलाते हुए अपने जाँघों पर चढ़ा लिया और मेरे ऊपर झुकते हुए मेरे दोनों हाथों को पूरी ताकत से पकड़ बिस्तर पर दबा दिया. कुउउउच्चछ… कुछ नहीं दीदी।और इतना कहते ही वह जाने को हुआ तो मैंने पूछा- नहाना है तुमको?तो वह बोला- जी दीदी।मैंने कहा- ठीक है, आ जाओ साथ में नहाते हैं.

इंडियन गर्ल नेम्स

फिर दो महीने रोज यही करते करते मेरी आदत हो गई और सच बता रही हूं कि वो जैसे मेरे पास आते, मैं उनका लंड पैन्ट से निकाल कर मुँह में लेकर चूसने लगती. मैं उसकी बचकानी बात पर हंसने लगी और बोली- ठीक है पी ले जैसी तेरी इच्छा।मेरे हां कहते ही आशू ने मेरे निप्पल चूसना शुरू कर दिया और बारी बारी से वह एक दुधमुंहे की तरह मेरे चूचियों को चूसता रहा, चूची चूसते चूसते कब उसे और मुझे नींद आ गयी, पता ही नहीं चला।अब यही प्रक्रिया लगभग रोज होने लगी, अब आशू को बगैर मेरी चूची चूसे नींद ही नहीं आती थी. आंटी को इस हालत में और उनकी फूली हुई चूत देखकर मेरा लंड तो बिल्कुल उत्तेजित हो चुका था.

शायद सुलेखा भाभी को मालूम नहीं था कि ऐसा करने से मैं उनकी प्यास को और भी भड़का दूँगा. वो बाथरूम से बाहर निकला, विक्रम भी नीचे से बिल्कुल नंगा था क्योंकि थोड़ी देर पहले ही उसकी अपनी माँ ने उसके लंड को चूसने के लिए उसकी शॉर्ट्स को खोल दिया था. इंडियन भाई बहन की सेक्सी वीडियोमैं पूजा की बातों पर ना ध्यान देते हुए उसकी गांड में अपना लंड पेलता रहा.

उसकी छातियां ऊपर नीचे हो रही थीं और उसके चुचे तन कर ब्लाउज को फाड़ बाहर निकलना चाहते थे.

शायद नताशा को आराम की सख्त जरूरत थी… हमने कुछ देर के लिए चुदाई रोक दी और करीब पांच मिनट के बाद दोबारा अपना प्रोग्राम चालू कर दिया. मुझे लगा कि अब शो को समाप्त करना ही उचित होगा, क्योंकि मेरी अर्धांगिनी बुरी तरह थक कर चूर हो चुकी थी.

मेरी पत्नी ने तुरंत मेरा लंड अपनी चूत में घुसा लिया और ऊपर बैठकर ताबड़तोड़ धक्के लगाने शुरू कर दिए. मेम को देख कर मैं तो पागल ही हो गया … क्योंकि मेम को मैंने कभी कैपरी और टी-शर्ट में नहीं देखा था. तभी न जाने मुझे क्या हुआ, मैं पागलों की तरह आंटी की गांड को चूमने लगा.

पहले आंटी थोड़ी थोड़ी कतराती थीं, लेकिन अब वो भी सामने से मुझे अकेले में घर बुलाकर मेरे लंड के मजे लूट लेती हैं.

नाश्ते की टेबल पर जब हम मिले तो जग ने कहा कि अगर बुरा ना मानो तो एक बात कहूँ?मैंने कहा- तुम्हारी बातों का मैं कबसे बुरा मानने लगी? और तुम कब से मुझसे इज़ाज़त लेने लगे?फिर जग बोला- क्या मुझे आपकी ज़िन्दगी का एक दिन मिल सकता है?मैंने कहा- क्या. पांच सात मिनट में ही मेरा लंड फिर से तन कर खड़ा हो गया मैडम की चूत की घाटी का अन्वेषण करने के लिए. मुझे अब उसके नर्म‌ नर्म होंठों की नर्मी व उसके मुँह की गर्मी अपने सुपाड़े पर महसूस होने लगी थी.

বাংলা বৌদিদের বিএফअंकित बोला- ठीक है, आज से, अभी से मैं वन्द्या का फोटोग्राफर बन जाता हूं, बड़ा प्राफिट दिख रहा है इस काम में!और अंकित ने मोबाइल से सबके साथ फोटो लेना शुरू कर दिया. मैं फोटो देख कर ही समझ गया कि यह फोटो नकली है; फिर भी मैंने फोटो के हिसाब से सामने वाली की तारीफ़ में एक मेसेज कर दिया और अगले मेसेज में उनसे मुझे मेसेज करने का कारण पूछा.

छोटू कॉमेडी

जैसे कि मैंने उसकी बात सुनी ही नहीं और मैंने प्रिया से पूछा- तत तुम … तो गांव चली गयी थीं ना?तुम्हें किसने कह दिया कि मैं गांव चली गयी?” प्रिया ने अब हंसते हुए कहा. अब मैं रोज उसके सोने के टाइम पे जाता और रोज उसकी चुचियों को मसलने लगा. कुछ देर से चाटने के बाद फिर मेरी पत्नी ने उसकी चूत में अपनी उंगली से रास्ता बनाना चाहा तो थोड़ी उंगली जाने के बाद ही वह दर्द से कराह उठी.

शीतल- और ये कैसे होगा?मयूरी- आप ना बस उनको अपनी इन प्यारी-प्यारी चूचियों के दर्शन कराओ, अपनी इस गांड के दर्शन कराओ और अपने शरीर को उनके शरीर से सटाओ और उनको अहसास कराओ कि आप भी अपना ये शरीर उनके हवाले करना चाहती हैं… और आप तो माँ हैं… आपके लिए ये कोई बड़ी बात नहीं है… माँ का प्यार दिखने के बहाने महबूबा बन जाओ बस…और दोनों फिर खिलखिलाकर हंस पड़ी. पर मुझे भाभी की गांड कुछ ज्यादा ही अच्छी लगी, तो मैंने उनकी गांड के छेद पर जीभ लगा दी और भाभी की गांड चाटने लगा. नेहा ने भी मेरी विनती को स्वीकार करके अपनी जांघों को तो हल्का खोल दिया मगर मेरे देखने‌ से वो शर्मा रही थी इसलिए दोनों हाथों से उसने अपने चेहरे को छुपा लिया.

लेकिन मेरा फायदा क्या होगा?आंटी मेरी बात समझ गईं, प्यार सर मोड़ कर मेरी आंखों में देख कर कहा कि तुमको एक हजार रूपये दूंगी. सोनू ने फर्स्ट एसी का पूरा केबिन बुक किया था तो हम सब आराम से बैठ गए, दोपहर का टाइम था खाना खाया और थोड़ी देर के लिए लेट गए. फिर अपनी ब्रा भी उतार दी और बोली- अब अच्छे से करो और इसका सारा दूध पी लो.

चाची का लड़का यानि मेरे भैया सर्विस में हैं, वो बीवी बच्चों के साथ बाहर शहर में रहते हैं. अब हम दोनों एकदम नंगे थे, मैंने अपना मुँह उनकी चूत पर लगाया और अपनी जीभ से उनकी चूत को चाटने लगा.

मैं कम्मो से कुछ और कहने ही वाला था कि अदिति बहूरानी मेरी ओर आती दिखाई दी साथ में उसके चाचा जी भी थे.

अब रेवती की चूत से बाहर आने वाले वीर्य में हम दोनों का वीर्य शामिल था. एक्स वीडियो हिंदी मेंमैं- फुल पार्टी करने का इरादा लग रहा है आपका!पूर्वी- ऐसा मौका बार बार मिलता भी तो नहीं ना…मैं- हम्म्म. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो चूतअभी तक इस इन्सेस्ट सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि कैसे एक जवान लड़की ने पहले अपने दो भाइयों को पटा कर अपनी चूत चुदवायी, उसके बाद अपनी माँ को उकसा कर उसके साथ लेस्बियन सेक्स किया. फिर मैंने नूर से अगले हफ्ते अपने खास दोस्त के घर पर मिलने का प्लान बनाया.

कुछ देर इधर उधर की बातें होने के बाद श्यामा ने कहा- अब रात को सोने वाले कपड़े डाल लिए जाएं.

वे बोले- तू वन्द्या, पन्द्रह दिन के लिए जब तक यहाँ है, तब तक हम लोगों की रखैल बन जा साली. आज मैं आपको अपने जीवन की सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ, जो मेरी माँ और मेरी बड़ी बहन की सास और मेरे बीच हुए सेक्स की है. अंत के दृश्य में मैं और भी हैरान रह गयी, जब मैंने दोनों का वीर्यपात देखा.

मैंने दोनों पैर उसके कंधे पे रख दिए ताकि उसका लौड़ा मेरे बच्चेदानी को छू ले. इस बात को देख कर थोड़ी देर मेम कुछ नहीं बोलीं … फिर बोलीं- वैसे क्या अच्छा लगता है … मेरे फिगर में?अब वो मुझसे बात करने के लिए मेरे बगल में बैठ चुकी थीं. थोड़ी देर आराम करने के बाद जब दोनों की सांसें थोड़ी धीमी हुई तो मयूरी ने बातचीत शुरू की- माँ!शीतल- हाँ?मयूरी- थैंक्स माँ… मुझे बहुत मजा आया… आपके साथ ये करके!शीतल- मुझे भी बहुत मजा आया बेटा… किसी लड़की या औरत के साथ मेरा भी ये सेक्स का पहले अनुभव था… पर तुम बहुत कमाल की हो… पता है, तुम जिस भी आदमी को पत्नी के रूप में मिलोगी, तुम्हारा ये शरीर पाकर वो आदमी धन्य हो जायेगा.

सेक्सी पिक्चर वाला

हम सेक्स में अलग अलग खेल खेलते, लेकिन सेक्स में ज्यादा से ज्यादा मैं अपना लंड उसकी चूत पर रख कर रगड़ता था, अन्दर नहीं डालता था. मैंने अपने मम्मी पापा से बात करके वाराणसी से दिल्ली के लिए ट्रेन पकड़ी और अगली सुबह दिल्ली पहुंच गया. लेकिन मैंने उसे जोर देकर अपने पास बैठा लिया और मैंने उसकी चुत पर पैंटी के ऊपर से ही हाथ रखा तो वो चिहुंक उठी.

अंकित पीछे से बोला- हां मैं शम्भूदीन अंकल को जानता हूं, बगल से आगे थोड़ी दूर पर ही मकान है.

दस मिनट मेरे लंड को चोदने के बाद ख़ुशी लंड से नीचे उतर गई और उसने मेरे हाथ खोल दिए.

बस जब ऐसा लगेगा कि मुझे जग चाहिए, तो उस वक़्त तुम्हारे बारे सोचूंगी, बाकी मैं अपने पति की हूँ. तुम लोग तो साले शुरू हो गए … बहुत जबरदस्त लौंडिया है … साली को देख कर ही कंट्रोल नहीं हो रहा है. ત્રીપલ એક્સ સેક્સી વિડીયોएक दिन मैं उसे सिखा रहा था कि टीवी और लैपटॉप कनेक्शन कैसे करते हैं.

इतना सुनने के बाद मैं भी जोश में आ गया और उनके दोनों पैरों को फैला कर अपना लंड उनकी चूत पर रख दिया. मेरा पूरे दिन किसी काम में मन नहीं लगा और बस यही सोचती रही कि यह कैसे संभव है. इस सच्ची कहानी को लेकर आपकी कोई सुझाव या प्रतिक्रिया हो तो प्लीज़ मुझे[emailprotected]पर ज़रूर मेल करें.

हमने बातें शुरू कर दी, हंसी मजाक शुरू हो चुकी थी, मेरी पत्नी मेरे पास बैठी थी बातों बातों में फिर खुलकर बातें होने लगी. नजरों से ही मेरे बदन को खा जाओगे क्या?रेवती के मुँह से बेबाकी से ऐसे शब्द सुनकर मैं झेंप गया और कार की खिड़की से बाहर देखने लगा.

मैंने न केवल उसको अपने हाथ के दबाव से नीचे ही बैठे रहने दिया, बल्कि फुर्ती से उसके दोनों हाथ कुर्सी से बांध दिए.

एक पल के लिए वह कसमसाई, पर इस नीचे जांघ हो रही हलचल ने उसे रोक लिया. मुझे भी उसका इस तरह से नम्बर माँगना नॉर्मल सा लगा, तो मैंने अपना नंबर दे दिया. यही सब सोचते सोचते पता ही नहीं चला, कब मेरी आँख लग गई और मुझे नींद आ गई.

સેક્સ હિન્દી उसने उस दिन ब्रा नहीं पहनी थी, तो उसके बड़े बड़े टाईट चुचे दिख रहे थे. आ जाओ पूजा मेरे ऊपर बैठकर मेरा ये लंड अपनी चूत में भर लो और चुदाई करो.

मैं पूजा की बातों पर ना ध्यान देते हुए उसकी गांड में अपना लंड पेलता रहा. पहली बार मेरी नज़र जग के लंड पर गयी, जो उसके पजामे में तंबू बना हुआ था और वो बेसुध चुपचाप सो रहा था. फिर मैंने पूछा कि जब मैं खुजा रहा था तब तुझे मज़ा आया कि नहीं?तो उसने बोला कि बहुत मज़ा आया.

सेक्स सेक्स सेक्स वीडियो कॉम

फिर मैंने रेखा के कुर्ते में हाथ डाल दिया और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया. मेरे जिन पाठकों और पाठिकाओं ने कहानी का पहला और दूसरा भाग नहीं पढ़ा हो वोमेरे सामने वाली खिड़की में-1तथामेरे सामने वाली खिड़की में-2पर जाकर पढ़ सकते हैं. वैसे मैं बता दूँ कि पूरा उत्तेजित होने पर माइक का लिंग लगभग 9 इंच का हो गया था.

तूने अब्दुल और रमीज जैसे पठानों के बड़े बड़े लंड लेकर जिस अंदाज से मस्त चुदवाया है. तब सुनील सिंह ने ड्राइवर को बोला- तुम थोड़ा बाहर हो आओ, हम लोग जरा आराम से बात कर लें … वे ठाकुर भाई कुछ खाने का ले आएं तो बता देना.

वह किसी भी बुड्ढे या जवान का लंड खड़ा करवा सकती है।एक बार जब मैं कॉलेज से घर आया तो देखा कि पापा मेरी मम्मी को बोल रहे थे कि काम का भार उन पर कुछ ज्यादा आ गया है तो इस बार वो घर 2-3 महीने के बाद ही आ पाएंगे.

सुनील ने मुझसे बोला- तुम अपने पैर ऊपर सीट पर कर लो … हम लोग बस तुम्हें अच्छे से देखना चाहते हैं. वो मुझे अपने बेडरूम में लेकर गयी और वो सीधे मेरे ऊपर आके मुझे पागलों की तरह किस करने लगी. अन्दर हम एक हाल में पहुंचे, वहां पर पहले से ही 5-6 औरतें थीं, जिनकी उम्र लगभग मेरे बराबर की थी.

यह मेरी अन्तर्वासना पर पहली कहानी है, तो लिखने में कोई ग़लती हो तो माफ़ करना. और जोर से करो।दस मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों का पानी निकल गया। थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे. मैंने दूसरे दिन जानबूझ कर दूधवाले से कहा कि यार कोई बंदा हो तो बताओ जो इस बाथरूम के छेद को ठीक कर दे.

कम्मो ने मेरा कन्धा पकड़ कर जोर से अपने नाखून मेरे कंधे में गड़ा दिए, शायद उत्तेजना वश उसने ऐसा किया होगा.

चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफ: मुझे अभी भी मेरे पेट से लेकर बच्चेदानी पर दर्द हो रहा था, पर माइक के लिंग के शिथिल होने से थोड़ा राहत जैसा लगने लगा था. मैंने गुस्से में कह दिया- अगर मैं चाहूँ तो अभी बच्चा पैदा कर सकता हूँ.

मैंने करीब 10 बजे भाभी को फ़ोन किया तो पता चला कि वो घर पर अकेली हैं. जल्दी बोल लंड रस कहां लेगी?मैं बोली- साले अभी मत झड़ना मेरा काम नहीं हुआ … मैं फिर अधूरी रह जाऊंगी … मुझसे कुछ बर्दाश्त नहीं हो रहा है. मेरी चूत चाटने के बाद जीजू ने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके बाद वो मेरी दोनों टांगों को फैला कर चूमने लगे.

सतीश ने मुझसे फिर से पूछा- बस एक बात बता दे कि अब तक एक साथ तुझे कितने लोगों ने अधिकतम चोदा है.

कुछ ही पलों में भाभी ने अपना बदन ढीला छोड़ दिया और अब वो धीरे धीरे मेरे चुम्बन में साथ देने लगीं. मुझे अपनी इस शृंखला की यह कड़ी को लिखने में बहुत वक्त लग गया, पर ये बहुत ही रोमांच से भरी हुई कहानी तैयार हुई है. कुछ दिन बाद दीदी जब वापस आई तो वो मुझे अपनी सुहागरात के बारे बताने लगी.