बीएफ चालू पिक्चर

छवि स्रोत,शादीशुदा लड़की का

तस्वीर का शीर्षक ,

सास को भी छोड़ डाला: बीएफ चालू पिक्चर, फिर मैंने अपने हाथों से उसकी चूत के होंठों को अलग किया तो पाया उसकी चूत से पानी निकल रहा था। मैंने उसका एक पैर साइड पर सरका कर उसकी जांघों को चौड़ा किया और उसकी नाज़ुक चूत पर अपना लंड रख दिया.

ब्लू फिल्म सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी में

मैंने उसकी टांगें और फैला दीं और पूरी जीभ चूत के अन्दर अन्दर डाल दी. रानी चटर्जी का सेक्सी फिल्ममैंने बोला कि अगर मैंने बताया तो हमारा ये भाई बहन का रिलेशन खत्म हो जाएगा.

उसने भी उत्तेजना के आधिक्य में नताशा के सिर को थाम लिया और सटाक-सटाक गहरे धक्के लगाता हुआ अपने लंड को मेरी बेचारी धर्मपत्नि के मुंह का जबरदस्त चोदन करने लगा. खेती से करोड़पति कैसे बनेकुछ ही देर में हम दोनों इस कदर उत्तेजित हो गए कि हम दोनों ने पानी छोड़ दिया.

मैंने हाल ही में अपनी मौसी के लड़के से अपने शारीरिक सम्बन्ध बनाए हैं.बीएफ चालू पिक्चर: तुम बहुत खुले विचारों की औरत हो … और जीवन में मजा करने के लिए जब इतना कष्ट उठा सकती हो, तो यहां आकर रुक क्यों गईं.

उसी शाम को शायना भाभी ने कहा- आज कोई नहीं है, तो बाहर से खाना लाते हैं.एक दिन दिन नीता की कमर में बहुत दर्द था तो मैंने उसे उसके घर तक छोड़ा तो उसकी माँ से भी मिला.

सेक्सी ऑनलाइन पिक्चर - बीएफ चालू पिक्चर

शाम को करीब सात बजे मैं उनके घर गया, डोर बेल बजाई तो मैडम ने दरवाजा खोला.कुछ देर ऐसे ही रहा, फिर वो मेरे कंधे पर चूमने लगा, कंधे से चूमता हुआ वो गले पर आ पहुंचा.

फिर मेरी छुट्टियां खत्म होने को थीं, इसलिए मुझे वापस अपने घर आना पड़ा. बीएफ चालू पिक्चर क्या करूँ मेरे पति का लंड बहुत छोटा है और वो चूत में घुसते ही झड़ जाता है.

मैं मन ही मन बहुत खुश हो रहा था कि इतनी सुंदर लड़की की चूत की सील तोड़ने को मुझे मिली.

बीएफ चालू पिक्चर?

पानी लेते हुए मैंने उससे पूछा- घर के बाकी लोग कहां हैं?वो बोली- मैं अकेली रहती हूँ. मेरी सहेली की ये बात सुनकर मुझे बहुत अजीब लगा कि वो अपने जीजू से सेक्स करती थी. फिर वो बोली- मैं तुम्हारे लंड को अपने अंदर थोड़ी देर महसूस करना चाहती हूँ.

उसने जवाब दिया- हाँ… मेरी जान… बोलो?मयूरी- सबने तो केक खा लिया, पर मुझे तो खिलाया ही नहीं?अशोक- अभी खिलाते तुझे केक मेरी चुड़क्कड़ बेटी…और ऐसा कहते ही उसने घर के सभी लोगों को फिर से आदेश दिया- सब लोग अपने-अपने लंड पर केक लगाओ… और शीतल, तुम अपनी चूत पर केक लगाओ, आज मेरी बिटिया को उसके जन्मदिन का केक खिलाना है. स्पष्ट था कि यह मेरी बीवी के लिए एक बहुत ही सुखदायी और रोमांचकारी लम्हा था. मैंने भी सोचा कि जब मैं दरवाजे जैसी चूत वालियों की भी चीखें निकलवा देता हूँ तो उनकी चूत तो लगभग कुंवारी थी मेरे लिए…मैं- हम्म्म!मैं बहुत तक गयी हूँ और मुझे नींद आ रही है.

मैंने उसकी साड़ी खींच कर उतार दी, पेटीकोट ऊपर खिसका कर उसकी गाण्ड में एक उंगली डाल दी तो वो चिंहुक गयी. क्या मस्त नजारा था और फिर जब पेंटी उतार रही थी, तब तो हलक ही सूख गया. उसके बारे में क्या बताना दोस्तो… लगता था कि ऊपर वाले ने उसे बड़ी ही तसल्ली से बनाया था.

उनके बारे में मैं भी सोचने लगी कि मैं भी अपने जीजू से चुदूँगी तो घर की बात घर में ही रह जाएगी. यह देख कर मन विचलित सा होने लगा था और धड़कनों का धड़कना तेज होने लगा.

उसने आगे कहा- अगर मजे करने हैं … तो इन सब बातों को दिमाग में नहीं लाना चाहिए और असली मजा तो दर्द में ही है.

ऊपर से मैंने भी उसके साथ इतना कुछ कर दिया था, फिर भी उसने बिल्कुल भी बुरा नहीं माना, इसका मतलब था कि उसके दिल में भी कुछ ना कुछ तो चल ही रहा है.

दोनों अपने मजे में मस्त हो, मेरी आग कौन बुझाएगा?मेरी पत्नी अब नीरू की चूत में लग रहे धक्कों को उसके चूतड़ों की खाई फैलाकर मेरे लंड को अंदर बाहर जाते देख रही थी और कह रही थी- वाह क्या मस्त चूत है … एक भी बाल नहीं है. तब तक उसने मेरे लंड को उसकी चूत में सेट कर दिया था तो मैं उसकी गर्म चूत की गर्मी को महसूस करने लगा. पूजा ने भी अपना एक हाथ बढ़ा कर मेरा लंड अपनी चूत के छेद से लगा दिया और खुद ही अपनी कमर हिला कर एक झटका देते हुए मेरा लंड फिर से अपनी चूत में घुसवा लिया.

मैं चाहता था कि नीता आंटी मेरे कमरे में सोएं, सो मैंने मॉम से कहा कि मुझे आजकल ऊपर सोने में डर लगता है, क्या मैं आंटी को ऊपर सोने ले जाऊं?मॉम ने नीता आंटी से बात की, तो नीता आंटी ने एकदम से हां कर दी. अकेले में दूर तक कोई आवाज नहीं, गर्म मसाज हो तो कोई भी हो, पिघलेगा ही. चूंकि गांव का ही घर था इसलिए उतना डेकोरेशन नहीं था पर हॉल बड़ा था, एक तखत में बिस्तर लगा था, एक खाली था लेकिन उस पर भी गद्दा मुड़ा हुआ रखा था, उसको अंकित ने बिछा दिया.

सुबह मुझे लगा कि जैसे कोई मुझे जगा रहा है, आँख खोलकर देखा तो पूर्वी थी.

चाची ने कभी मना नहीं किया!दोस्तो, और भी कई किस्से हैं मेरे और मेरी चाची के साथ। वैसे चाची का नाम सुनीता है।उम्मीद है लड़कियों की चूत गीली हो गयी होगी और लड़कों का लंड पूरा तैयार होगा चुदाई के लिए!आप सभी के ईमेल का मुझे इंतजार रहेगा।[emailprotected]. थोड़ी ही देर बाद पूर्वी कुछ चिप्स और नमकीन लेकर आई और उसी टेबल पर रख दिये. फिर उससे पूछा- अब बोलो कैसे चुदवाओगी? मैं तुम्हारे ऊपर चढ़ कर चोदूँ या फिर तुम मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चोदोगी?पूजा मुस्कुरा कर बोली- क्या फर्क पड़ता है? मैंने पहले भी कहा था कि चाहे तुम ऊपर हो या मैं ऊपर हूँ, चुदेगी तो मेरी चूत ही ना? अब तुम जैसे चाहो चोदो मुझे.

जो दर्द होना था वो हो गया।मैं उसके स्तनों का मर्दन करने लगा तो उसने थोड़ी राहत की सांस ली। मुझे लगा कि उसका दर्द कम हो गया है तो मैं धीरे-धीरे उसे चोदने लगा। फिर उसे भी मजा आने लगा, अब वो भी कूल्हे उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी।वो बोलने लगी- आह्ह … अब मजा आ रहा है. उसके मुंह से ‘आह आआ आहह आआ आ … आआहहह आह …सक माए पूसी … आह आह आहह …’ की आवाजें निकल रही थी. चुत के पास से सुलेखा भाभी की पेंटी बिल्कुल गीली हो रखी थी और उसमें से गर्माहट सी निकल रही थी.

फिर भी मैंने ऐसे ही चान्स मारने के लिए अपनी उंगली पर थोड़ा थूक लगाया और उनकी गांड के छेद को रब करने लगा.

मुझे वो बहुत पसंद थीं, पर वो किसी से बात नहीं करती थीं और मैं भी शर्मीला था. ठीक है ना?मैं पूजा के नंगे चूतड़ों को सहलाते हुए बोला- मेरी रानी, तुमने तो मेरे मन की बात बोल दी.

बीएफ चालू पिक्चर पीछे उस सीट में दो बहुत पहलवान की तरह दिखने वाले रईस धनी व्यक्ति बैठे हुए थे. उनकी दादी बहुत पहले चल बसी।वहाँ जाकर पहले मैं नहाया धोया और करीब 9.

बीएफ चालू पिक्चर और सच बोलेगी तो हमेशा साथ रखूंगा, तब उसने बताया था कि एक मेरे सगे मामा का लड़का है, उसने सील तोड़ी थी और फिर मेरे भाई का दोस्त वो बहुत बार चोदा. कुछ देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वो अपनी कमर उठा उठा कर मेरा लंड अपने चुत में ले रही थी.

इसके बाद सोनू खड़े होकर अपने लौड़े पे खाने का निवाला रखता जाता और मैंने उस निवाले को मुँह में लेने के लिए उसके लंड को भी चूसती जाती और निवाला भी खाती जाती.

తాప్సి సెక్స్ వీడియోస్

गलती मेरी भी थी, मैंने दरवाज़ा लॉक नहीं किया था; और उसकी भी थी क्योंकि उसने नॉक नहीं किया था. मेरी रेड ब्रा और पैंटी को देखते ही वह मेरे ऊपर टूट पड़ा और बोला- जान, आज तो मैं तुम्हें जन्नत में लेकर चलूंगा. श्रीमती जी के चेहरे को मोनिका एक ठंडे टावल से ढक कर नीचे की तरफ आ गई.

इस पर वो बोली कि कई लोग तो खुल्लम खुल्ला अपने पार्टनर को किस करके सेक्स करते हैं?अब मैंने सोचा बेटा पूरा बात बता दे. थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि मेरी दीदी की सास किरण जी ने अपना एक हाथ और एक पैर मम्मी के ऊपर रख लिया और थोड़ी देर बाद वो धीरे धीरे मम्मी के ब्लाउज के बटन खोलने लगीं. गैब्रियल ने मेरे सीने में हाथ से धक्का देकर मुझे बेड में गिरा दिया और अपने दोनों बाजू इधर उधर करके मेरे ऊपर चढ़ गया.

सुलेखा भाभी ने मुझसे पूछा भी, मगर मैंने ऐसे ही तबीयत खराब होने का बहाना बना दिया और अपने कमरे में आकर लेट गया.

मैं अपनी ही धुन में लगातार धक्के लगाता रहा, जिससे प्रिया अब जोरों से कराहने लगी- आआ … अहह्हह … ओय्य … बस्स्स … अब बहुत जल रहा है …प्रिया ने मेरी कमर को पकड़कर कराहते हुए कहा. इस अवस्था में लिंग इतना मोटा था कि तारा के मुँह में केवल सुपाड़ा ही घुस रहा था और उसने दोनों हाथों से लिंग पकड़ रखा था. जब उसने कोई आपत्ति नहीं जताई, तब मेरा हौसला बढ़ा और पीछे से ही मैंने उसके सूट में हाथ हाथ डाल कर उसकी चूची पकड़ ली.

धीरे धीरे करते हुए वो मेरे लंड पे आ गईं और फिर उन्होंने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया. लेकिन उतना मजा नहीं आया और दर्द भी काफी हुआ।”पहली बार में दर्द तो आगे भी होता है और उसका मजा एक दो बार में नहीं आता. थोड़ी देर के बाद तेजी से धक्के मारते हुए पूरा लंड अन्दर करके बॉडी टाइट करने लगा.

मेरे होंठों से भी मदभरी कराह फूट पड़ी, लन्ड स्वतः मीता की चूत की गहराई तक जा घुसा था और अंदर ही अंदर मुझे खुद को गति देने के लिए उकसाता हुआ ठुनकता जा रहा था. ऐ … हुँहह … ऐ हहहह …”मेरे मुँह से कभी मादक और कभी दर्द भरी सीत्कारें निकल रही थीं- अरीई … उईईई … आअहह … उउउंम … हाँ … ऐसे ही अंकल जी … जरा धीरे अंकल जी स्स्स्स्स् … हुउउउ … आह री मौ …सी … दे …खो … अं …क …ल … ने मुझे चोद दिया … आह मौसी तुम … भी … चु …दवा … लो …मेरी और अंकल जी की ऐसी मिली जुली कामुक आवाजों से पूरा कमरा गूंज रहा था.

कुछ देर में भाभी ने अपना पैर से मेरी कमर दबा कर मुझे थाम लिया और आहें भरने लगीं. फिर उसके बाद मैडम ने अपना मुँह खोल दिया और पूरे लंड को गले तक लेकर चूसने लगीं. इस वक्त मेरी सहेलियां रोज़ की तरह अपने आशिकों के साथ मैदान के दूसरे कोनों में घुस गई थीं.

यह बात उस वक्त की है जब मैं पढ़ता था और एक बार अपने बड़े भाई के ससुराल में गया हुआ था.

उसकी गांड थी ही इतनी सुंदर … मुझे चूत से ज्यादा उसकी गांड देखकर मजा आ रहा था. इस वक्त घर के सारे सदस्य मयूरी के सारे गुप्तांगों पर अपने जीभ और होंठ से प्रहार पर प्रहार किये जा रहे थे, और इस अद्भुत सुख का मयूरी खूब आनन्द ले रही थी. मैं बड़ी चाची के बारे में बोल बोल कर छोटी चाची को चोदने लगा- काश … आपकी तरह मुझे बड़ी चाची की चूत चोदने का सौभाग्य प्राप्त हो जाता.

उन तीनों से भी ठीक से बैठते नहीं बना क्योंकि वैगनार में इतनी जगह नहीं होती. जब वो यह सब कर ले, तो अपना लंड मेरी चूत में डाले और मुझे अच्छी तरह से चोदे ताकि मुझे जिंदगी के पूरे मज़े मिलें.

उस समय उन्होंने इधर दरवाजा खोला और उधर मेरा मुंह खुला का खुला रह गया. इसी बीच मेरी पत्नी बोली- अब आप दोनों ही मजा लोगे या मुझको भी शांत करोगे? मैं भी तो बीच में ही रह गई थी. तभी राज अंकल ने राजीव अंकल को बोला कि राजीव भाई अब तुम अपने लंड को सोनू की गांड में अन्दर-बाहर करो और सोनू की गांड को अपना लौड़ा से चोदना शुरू कर दो.

सेक्सी मोडल व्हिडिओ

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-3.

बहू को वो रूप देखकर मुझे अपने लंड के मुकद्दर पर फ़ख्र हुआ कि इस शानदार जिस्म की मलिका की चूत को मेरा लंड अनगिनत बार भोग चुका था. उसकी माँ हैंडीकैप्ड है और उनकी देखभाल करने वाला और कोई नहीं है उसके सिवा! इसी बात को लेकर उसका अपने पति और ससुराल से कोर्ट केस चल रहा था. उसके बाद कमलेश मेरी गोद में लेट गया और उसको नींद आ गई लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी.

उसने कहा- बस एक बार दर्द होगा, फिर मजा आएगा तुझे!मैंने कहा- नहीं यार, मैं नहीं कर सकता ये!उसने फिर कहा- मान जा ना यार… अबकी बार आराम से करूंगा. उस वीडियो में एक मर्द, एक औरत और एक आधा मर्द और औरत संभोग कर रहे थे. इंग्लिश सेक्सी एचडी मूवीयदि आपको मेरी कहानी अच्छी लगती है तो मेरा हौसला बढ़ाने के लिए मुझे जरूर मेल करें और यदि कोई कमी दिखती है तो सुझाव अवश्य दें.

थोड़ी देर मैं वैसे ही उसके ऊपर पड़ा रहा जब वो कुछ नॉर्मल हुई, तब मैंने एक और धक्का मारा, तो मेरा पूरा लंड अन्दर जा चुका था. उन्हीं से प्रेरित होकर के आज मैं आपको अपनी पहली सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ.

कार से एक बहुत ही खूबसूरत मैडम ब्लू कलर की साड़ी पहने हुए बाहर आईं, मैं उनको देखता ही रहा. मुझे लगा था कि बीवी को लंड चूसना इतना पसंद है कि वो अब लंड चुसाई का पूरा मज़ा लेगी, लेकिन उसने अपने होंठ बंद कर लिए. अब मैं उससे बात करने का मौका ढूंढ रहा था लेकिन वो मेरी तरफ देख ही नहीं रही थी। मैं सोच रहा था कि अगर इसकी चूत मिल जाए तो मजा आ जायेगा।फिर वो अपनी सहेलियों के साथ पता नहीं कहाँ गायब हो गयी और मैं भी अपने दोस्तों के साथ डीजे पर डांस करने लगा।डांस करने के बाद जब मुझे भूख लगी तो मैं खाना खाने लगा.

अब आगे की घटना पढ़ें:यह बात अगले दिन की है, जब मैं सुबह उठा, तो मैंने देखा दीदी और अरु नीचे चली गयी थीं. भाभी का ब्लाउज़ भी उनकी बांहों में अधमरा सा झूल रहा था, मैंने उसे भी उतार दिया. सुनील बोला- यार इसकी चूत में तो आग लगी है … साली अन्दर से बहुत गर्म हो रही है … क्या करें?तब महेश बोला- कुछ नहीं यार अभी थोड़ा टाइम है … सीधे लंड डाल कर चोद दे.

खाना खाते हुए कभी कभी मैं रेवती के पैर को अपने पैर से छू देता तो रेवती मुस्कुरा जाती.

मैंने चड्डी की इलास्टिक को पकड़ कर नीचे को खींचा तो आंटी की चूत पर एक भी बाल नहीं दिखा. उस समय उन्होंने इधर दरवाजा खोला और उधर मेरा मुंह खुला का खुला रह गया.

मेरी बातों को सुन कर पूजा उठ कर खड़ी हो गयी और मेरे लंड को पकड़ कर मुझे भी उठा दिया. मेरा उस चोदू वाले मेरे ब्वॉयफ्रेंड से मेरा ब्रेकअप हो गया क्योंकि मेरे बारे और मेरे ब्वॉयफ्रेंड के बारे में मेरे घर की तरफ के एक लड़के ने मेरे परिवार वालों को सब बता दिया था कि मैं कॉलेज में एक लड़के से बात करती हूँ. फिर वो गिड़गिड़ाने लगी- प्लीज़ ऐसा मत करो … जब मेरा होने वाला रहता है … तो तू क्यों रुक जाता है.

मैंने उसके होंठों पे अपने होंठ रख कर बोला- आज इन होंठों को ही खाना है. मेरी नींद खुली छह बजे, तो देखा मनीष के छह मिस्ड कॉल थे, मैंने तुरंत कॉल किया मनीष ने ऑन कर दिया. एक दिन फिल्म देखते हुए बोली- क्या तुम अपनी मूतने की जगह मुझे दिखा सकते हो?मैंने कहा- पहले तो समझ ले कि ये मूतने की जगह है और इसे लंड बुलाते हैं.

बीएफ चालू पिक्चर बाद में जब उसको मेरे बारे में पता चल गया कि मैंने ही उस से व्हाट्सएप पर बात की थी, तो उसने बताया कि वो उसका बेस्ट बर्थडे गिफ्ट था. आंटी की चूत के अन्दर डिल्डो पूरा का पूरा अन्दर जाता था और फिर आंटी उसे बाहर निकालकर वापस अन्दर ले रही थीं.

हिंदी में सेक्सी विडीओ

रेवती ने भी मेरा हाथ पर अपनी मजबूती बनाकर मेरे और अपने रिश्ते को स्वीकृति प्रदान की. मैं कुछ समझ पाता कि उसने मेरा लंड मुँह में भर लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. हिमांशु के उठते ही सतीश बोला- वन्द्या अब तू उठ जा, तुझे दूसरी पोजिशन में चोदता हूं.

मैंने हाल ही की विजिट से पहले तक कभी तुम्हें शायद गौर से देखा तक नहीं था। न ही कभी पहले तुम्हें ले कर मन में कोई ख्याल आया था, लेकिन अब तुम्हें देखता था तो सोचता जरूर था कि बिना कपड़ों के तुम्हारा बदन कैसा लगता होगा।”वह मेरी आंखों में झांकने लगी।दरअसल मैंने अब तक ढेरों जिस्म भोगे हैं. यह देख मेरा लंड अंडरवियर खड़ा हो चुका था, नीरू ने मुझको बेड पर अपने पास खींचते हुए मेरे लंड को पकड़ लिया और बोली- जीजू, आज तो आपको नई चूत का मजा मिलने वाला है. अमीरों की सेक्सीमेरी सांसें मानो रुक गईं … दिल किया कि चीख मारूँ, पर वो खेला हुआ खिलाड़ी था.

तारा ने अपनी कमर उठा दी और मुनीर ने तकिया उसके कूल्हों के नीचे रख दिया.

इसके बाद वन्द्या की नाभि चूमते हुए और बूब्स दबाने और पीने की खींचना! उसके बाद इसकी बहुत मस्त सेक्सी नाक चूमते चूमते और नाक चूसते की जरूर लेना. शायद काम क्रीड़ा का खेल‌ खेलते खेलते सुलेखा भाभी की चुत ने कामरस उगल दिया था, जिससे उनकी पेंटी भीग गयी थी.

मैं जोर जोर से चाची की गांड को मसलने लगा और अपने लंड को चाची की जांघ पर रगड़ने लगा. जब किसी का लंड झड़ जाता तो थोड़ी देर में वो अपना लंड खड़ा कर के फिर से चुदाई करने लगता. अब दीपक का लंड पूरा सुशीला की गाण्ड के अंदर था मगर सुशीला तड़प रही थी.

फिर धीरे धीरे मैंने उसका कुर्ता उठाकर अपना हाथ उसके पेट पर रख दिया, जिस पर उसने धीरे से कहा कि क्या कर रहे हो?मैंने कहा- हाथ में ठण्ड लग रही है.

इस पर वो बोली कि कई लोग तो खुल्लम खुल्ला अपने पार्टनर को किस करके सेक्स करते हैं?अब मैंने सोचा बेटा पूरा बात बता दे. फिर उन्होंने झुक कर कहा- आज मैं तुम्हें बताऊंगी कि मैं क्यों इतने दिनों से तड़प रही थी. वो हांफता हुआ बोला- आह्ह … मुझे जन्नत मिल गई … वन्द्या तू बहुत सेक्सी है … तेरी प्यास बुझाने के लिए कोई विदेशी ही चाहिए … इंडियन कल्चर से तू अलग है वन्द्या … तू बहुत मस्त माल है.

बोलो पिक्चर सेक्सीखाना के बाद मैंने सिगरेट सुलगाई तो उन तीनों ने भी सिगरेट का मजा लेना शुरू कर दिया. पहले वे चूत सूंघने लगे, फिर मेरी चूत में अपना मुँह रख कर चूमने लगे.

இந்தியன் ப்ளூ ஃபிலிம்

उसकी बहन केवल पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देती थी क्योंकि अब उसके लिए लंड का इंतजाम हो चुका था. मेरे लंड को पकड़कर सहलाने लगी एवं कहने लगी- बहुत दिनों से केवल ऊपर से महसूस किया… आज देखने का मौका मिला है. मैं समझ गया कि ये अब तक अपनी उंगली या गाजर मूली से ही काम चलाती रही हैं.

जल्दी ही मेरा हाथ उनकी चिकनी टांगों से होता हुआ उनके नितम्बों पर जा लगा. मेरे लंड ने अपने पानी को उसके मुँह में डाल दिया, जिसे उसने अपनी जीभ से चटखारे लेते हुए एक एक कतरा चाट कर साफ़ कर दिया. उसने कहा- क्यों असली माल को छुपाती हो? मेरी देखो, पूरी साफ़ की हुई चूत है.

सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार … मेरा नाम केशव है और मैं नवाबों के शहर लखनऊ से हूँ. शीतल (हैरानी से)- मतलब तुझे अपने बाप से के लंड से चुदने का मन करता है?मयूरी- मेरा तो मन किसी भी मर्द के लंड से चुदने का करता है माँ… फिर चाहे वो कोई भी हो अपना बाप या कोई और मर्द… और वैसे भी, दुनिया के हर लड़की का पहला प्यार उसका बाप होता है… जैसे दुनिया के हर लड़के का पहला प्यार उसकी माँ होती है. तुम्हें अपनी बात याद है ना?अब मुझे चुदाई के समय कही हुई सभी बातें याद आने लगी थीं.

वो बोली- हां तेरी बात तो सही है, पर यार … सच में रोज नया लंड लेने बड़ा मजा आता है. कम्मो कोई विरोध नहीं कर रही थी वरन वो भी मेरे संग बहती सी चली जा रही थी की जहां नियति ले जाये वहीं चले चलें जैसी मनःस्थिति थी हम दोनों की.

हमारे यहां की लड़कियों की ये विशेषता है कि उनके साथ इस तरह के इंटिमेट सम्बन्ध बनते ही इनके व्यव्हार, बोलचाल में अधिकार झलकने लगता है.

उन्होंने मेरी टी-शर्ट उतार दी और ब्रा में कैद मेरे ताज़ा अनछुए चूचों को दबाया, तो मेरे मुख से मीठी मीठी आहें निकलने लगीं. নায়ুঘটি আমেরিকাवो फिर से चुदाई के लिए तैयार थी, वो बोली- चलो अब असली खेल शुरू करो. नेपाली सेक्सी लड़कियों कीलेकिन सिर्फ इतने भर से ही मुझे संतोष होने वाला नहीं था, पता नहीं कम्मो लंड से चोदने को मिले न मिले क्योंकि जगह की समस्या बनी हुई थी; पर मैं उसकी नंगी चूत से तो खेल ही सकता था. इसके अलावा अगर ज्यादा कुछ होता तो वह मेरी चूचियों को दबा देता था या फिर उनको पी लेता था.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मॉम-डैड का सेक्स और बहन की चुदाई-2.

ये देख माइक ने तारा की कमर पकड़ी और नीचे से ही बहुत तेज़ी में अपनी कमर उचकाते हुए धक्कों की ताबड़तोड़ बारिश सी कर दी. वन्द्या तेरी मम्मी को तो दस हजार रुपए दे दूं तो वो खुद तुझे चुदवाई करवाने ले आएगी और हजार दो हजार दे दूंगा तो वो खुद चुदवा लेगी. तभी मेरे दिल में प्रिया का ख्याल आ गया, रंग के मामले में तो दोनों बहनें समान ही थीं मगर नेहा की चूचियां प्रिया से काफी बड़ी, भरी हुई और मस्त थीं‌.

प्रिया ने ताना सा मारते हुए कहा- अगर इतना ही डरते हो, तो कल तुम में इतनी हिम्मत कहां से आ गयी थी?मैंने उल्टा प्रिया से ही पूछा- तुमने भी तो उस रात कुछ नहीं कहा था, फिर कल क्या हो गया था तुम्हें?प्रिया ने हैरान सा होते हुए कहा- क्या बोल रहा है … कौन सी रात? तुम कब की बात कर रहे हो?मैंने उसकी तरफ देखते हुए कहा- मैं सुमन की शादी में उसी रात की बात कर रहा हूँ, जब तुम‌ रात में मेरी रजाई में सोई थीं. उसकी हालत देख कर एक बार को तो मैं भी डर गया कि इसको कुछ हो तो नहीं गया. मैंने बोला कि अगर मैंने बताया तो हमारा ये भाई बहन का रिलेशन खत्म हो जाएगा.

हिंदी सेक्सी हिंदी हिंदी सेक्सी हिंदी

उसने मुझसे मुस्कुरा कर पूछा कि तुम्हारी कोई जीएफ है?तो मेरे ना में सिर हिलाने पर उसे थोड़ा अचरज हुआ. फिर हम लोग बातें करने लगे, वो अपने बारे बातें करते करते अपनी सेक्स लाइफ के बारे में बात करने लगीं और बात करते करते रोने लगीं. मेरे बदले बर्ताव और नज़रों से कहीं ना कहीं भाभी को शक हुआ कि कुछ तो है.

लाइट बंद करने के बाद मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया था, वे थोड़ी देर रखे रहीं, फिर हटा लिया.

भाभी कभी कभी मेरी गांड पर चपत लगा देतीं और कभी कभी मैं उनको इधर उधर छू लिया करता था.

पहली पहली बार इसकी चुदाई हुई है, इसकी चूत को अपने माल से भर दो!मैंने अपनी पत्नी की आज्ञा का पालन करते हुए अपना सारा माल उसकी चूत में उलट दिया. बारह बजे के करीब जब मेरी नींद खुली और जब तक मैं तैयार होकर अपने कमरे से बाहर आया तो दोपहर के खाने का समय हो गया था. नंगी देहाती सेक्सीजब वो उठी, तो उसकी बुर से उसका और मेरा मिक्स वीर्य नीचे टपक रहा था.

मैं एकदम से उछली, मानो जैसे अनजान सी बन कर बोली- जीजू आप?मेरी आवाज सुन जीजू सीधे हुए और झेंपते हुए बोले- रागिनी तुम! कामिनी कहाँ है?मैंने कहा- वो बाजार गई है. थोड़ा और सहलाने के बाद तारा ने माइक का पैंट खींच कर उसे नंगा कर दिया. इस प्रक्रिया से मेरी योनि चिकनी हो गयी और योनि के किनारे भी धीरे धीरे फैलते चले गए.

मगर अभी मैं पूरी तरह से उठी भी नहीं थी कि श्यामा ने अपनी चूत उसके मुँह पर रख कर चूत चुसवानी शुरू कर दी. माइक इधर मुझे बातें करने लगा, उसने पहले तारा की तारीफ करनी शुरू कर दी.

पुनीत बोला- तू बहुत चुदासी हो गई है, तेरी चूत को आज हम तीनों चोदकर भोसड़ा बना देंगें.

अब तो वो जब चाहे मुझे हासिल होने वाला माल बन चुकी थी।फिर मैंने उसको दो दिन तक अच्छे से चोदा और हम दोनों ने बहुत मजे लिए एक दूसरे के!और उसके बाद जब भी वो हमारे घर आती तो मैं उसको पूरी रात चोदता!फिर कुछ टाइम बाद उसकी शादी हो गयी और फिर मैं उसको कभी नहीं चोद पाया उसके बाद!मेरी लाइफ कीमें रिश्तेदारी में शगुन सिर्फ ऐसी लड़की थी जिसके साथ मैंने सेक्स किया. माइक तारा के पीछे आया और अपना लिंग तारा की योनि में प्रवेश करा दिया. ओके!मैंने जरा खुल कर कहा- देखो जो आपको चाहिये, वो मैं दे सकता हूँ, मैं आपकी प्यास भी बुझा सकता हूँ.

बड़ी गांड वाली सेक्सी फोटो मैंने लंड उसकी गांड पर पैंटी पे रगड़ रहा था और पीछे से उसके बूब्स दबा रहा था. यह कहते हुए मेरी गांड को समाली अंकल चाटने लगे और मेरी गांड के छेद पर अपनी जीभ डाल दी.

मेरा नाम अमित है, मैं नागपुर का रहने वाला हूँ और यहाँ अकेला ही रहता हूँ. मैं हमेशा अन्तर्वासना की कहानी पढ़ती रहती हूँ और मुझे इधर प्रकाशित हर तरह की सेक्स से भरपूर चुदाई की कहानी पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. लेकिन उसने आंटी को ये नहीं बताया कि उसका दोस्त यानि कि मैं घर पर हूँ.

హిందీ బ్లూ

लाइट बंद करने के बाद मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया था, वे थोड़ी देर रखे रहीं, फिर हटा लिया. तभी सुशीला ने एक जोर की सिसकारी छोड़ी जिसकी आवाज पास के दो तीन कमरों तक सुनाई दी होगी. अब नीरू ने पायल के पीछे आकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, उसके बूब्स बिल्कुल नंगे थे.

फिर मेरी मम्मी की ओर इशारा करके बोले- उनको भी मेरी तरफ से 4 साड़ियां और दिला दो, तब तक मैं वन्द्या को कुछ नाश्ता करा देता हूं. मैंने उनकी टी-शर्ट निकालने के लिए हाथों को ऊपर किया तो उन्होंने भी तुरंत अपने दोनों हाथ हवा में किये और मुझे हरी झंडी दिखा दी.

बाकी मैं अपने लंड के बारे में में क्या बताऊं, जिसने लिया है, वही जानती है.

दीपक से रुका नहीं गया, उसने उठकर मानसी को अपनी बांहों में जकड़ लिया और बोला- तुम चिंता मत करो, मैं सब सम्हाल लूंगा। दो दिन की बात है और तुम पहले जैसी बन जाओगी।यह बोलकर उसने मानसी की चूचियाँ मसलना शुरु कर दी. इतना सुनते ही वे दोनों जोश में आ गए और बोले- यह बहुत बड़ी आइटम है … इसको हम दोनों के लंड से कोई फर्क नहीं पड़ेगा … तू डाल हिमांशु. मैं खुश था क्योंकि मेम के साथ जा रहा था और बंगलोर घूमने को भी मिल रहा था.

मैंने पलंग के पैरों के पास शीशे में देखा तो पाया कि पूजा मेरे लंड अपने आंखों के सामने रखकर मंद मंद मुस्कुरा रही है. तो वह बोला- कोई दिक्कत नहीं है, मुझे पता है कि रात में कोई ना कोई साथ चलेगा ही. भाभी इन बातों को लेकर मुझे कुरेदने लगीं- क्या हुआ है, मुझसे ठीक से बातें क्यों नहीं कर रहे हो.

जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में लगायी, वो सीईई सीईई करके मेरा सर दबाने लगी, वो चुदास से बोली- आह.

बीएफ चालू पिक्चर: फिर मैं भी धीरे धीरे आहिस्ता आहिस्ता अपने लंड को ऊपर नीचे करने लगा. तो मैं समझ गया कि अब ये पूरी गर्म हो चुकी, सो मैंने देर न करते हुए उसकी ब्रा और पैंटी भी उतार दी और उसने मेरी.

उसने अपनी पीठ उठाते हुए मेरे इस एक्शन को सहारा दिया, जैसे वो कह रही हो कि पूरी चूची को मसल दो. मैंने उसे समझाया लेकिन उसने कुछ नहीं सुना तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया. अब आगे:मदमस्त हो चुकी पत्नि के दिल से निकलती आवाज़ को सुनते हुए मैंने अपने लंड के टोपे को दीमा के लंड से भरी हुई गांड के छेद से भिड़ा कर हौले-हौले अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया और जल्द ही करीब आधा लंड अब तक की चुदाई से काफी खुल चुकी गांड के अन्दर पहुंचा दिया.

पहले वो अपनी माँ के, फिर अपने बड़े भाई के, फिर अपने बहन के और अंत में अपने पिता के कपड़े भी उसने ही उतारे.

एकता भाभी ने मयूरी के दूध को चाट कर मेरा माल चखा और रिया भाभी ने चुत चाट कर स्वाद लिया. अब इस पोज में लेटे होने के कारण मुझे आंटी की चूत मुझे साफ दिख रही थी. तभी झटके से उठकर मैंने उसे पकड़ लिया, वो कुछ समझे उससे पहले ही मैंने उसे बांहों में भरकर बिस्तर पर गिरा लिया और उसके नर्म मुलायम कश्मीरी सेब से लाल गालों को चूमने लगा.