बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018

छवि स्रोत,चोदा चोदा चोदी

तस्वीर का शीर्षक ,

ಕನ್ನಡದ ನೀಲಿ ಚಿತ್ರಗಳು: बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018, राजेन्द्र जी ने मुझे अपनी गोद में खींच कर मेरे गालों पर एक किस कर दिया.

नवरा बायकोची झवा झवी

उसके टॉप को उतारा और उसके मम्मों को देखे, जो अभी थोड़े ही निकले थे, निप्पल भी बाहर को निकले थे. पीरियड में चुदाईकुछ ही पलों आग भड़क उठी और हम दोनों की जीभें एक दूसरे के मुँह में एक दूसरे के रस को चूस रहे थे.

और हल्की डरी हुई नंगी ही गेट की तरफ चलने लगी … उसकी चाल में लड़खड़ाहट थी. देवर भाभी की चुदाई दिखाइएये कहकर नम्रता ने लंड को अपनी चूत के अन्दर कैद कर लिया और पाल्थी मार कर मेरी जांघों के ऊपर बैठ गयी.

काजल ऊपर से बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और उसकी तेज़ धड़कनों की वजह से उसकी दोनों चूचियां बहुत तेज़ी से ऊपर नीचे हो रही थीं.बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018: इसी बीच उसने मेरी जीन्स में हाथ डाल दिया और लंड को पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया.

तुम भी कमाल के हो मेरी जान, क्या मस्त मेरी गांड चाट रहे हो मुझे सुरसुरी सी हो रही है.उसके नंगे जिस्म को देख के इतनी उत्तेजना बरस रही थी कि कोई भी झड़ जाए.

भोजपुरी ब्लू फिल्म सेक्सी - बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018

जिससे वो भी गर्म हो गई और अपनी दोनों टांगों को पूरा फैला कर अपनी बुर को चुसवाने लगी.वसुन्धरा के दोनों होंठ मेरे होंठों की गिरफ़्त में थे और जैसे ही मैं उसके ऊपर या नीचे वाले होंठ पर अपनी जीभ फेरता, वसुन्धरा का पूरा शरीर तन जाता और सिहरन की लहरें वसुन्धरा के शरीर में उठनी शुरू हो जाती.

हम सब लोग पार्टी कर रहे थे और उस दिन उन्होंने एक मेल एस्कोर्ट को भी बुलाया हुआ था. बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018 यह सवाल मीना जी द्वारा: मैंने एक पॉर्न वीडियो देखा, जिसमें दो लड़की एक लड़के के साथ सेक्स कर रही थीं.

मैं हल्की सी चीख़ पड़ी- आऽऽऽह …फिर भाई ने मुझे गोद में उठाया और कमरे के बेड पर लिटा दिया और मुझे किस करते करते मेरी चूत तक आ गया.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018?

अगर आपका रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं आपके साथ अपनी और भी कई सारी आपबीती शेयर करना चाहूंगा. वीणा की इस धुआंधार चुदाई से हम दोनों की टांगों ने जवाब दे दिया था क्योंकि ज्यादातर चुदाई हमने हमारे टांगों के बल पर ही की थी. मैंने अंतर्वासना पर बहुत सारी कहानियाँ पढ़ी हैं। आज मैं भी आप लोगों को अपनी आपबीती बताना चाहती हूँ.

”तभी बगल के कमरे से नीना आई, तो उसे देख मेरे बदन में बिजली सी दौड़ गई. मगर अभी तक ये पता नहीं था कि प्रिया की उस लड़की से बात होती है या नहीं. वो पूरी तरह से अब पागल हुए जा रही थी लेकिन फिर भी कुछ मुँह से बोल नहीं रही थी.

कभी मेरे कंधे पकड़ कर मुझे पीछे हटाए, कभी मेरे सर के बाल नोचे लेकिन मैं वसुन्धरा को ना छोड़ने के लिए दृढ़प्रतिज्ञ था. कैसा लंड है राज का। तुमने उसको तुम्हारी चूत चुदाई के लिए उकसाया कैसे?हेतल ने मानसी को राज की कहानी सुनानी शुरू की:राज पर मेरी नजर बहुत पहले से थी. मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे.

फिर दो-तीन घंटे ऐसे ही बीत गये और मानसी ने खाने के लिये पूछा तो मैंने बोल दिया कि आज बाहर से पिज्जा मंगवा लेते हैं. सुडौल और गोरे, लम्बी समान अनुपात में पतली गोरी उंगलियाँ … मैंने बहुत प्यार से वसुन्धरा के पैरों पर हाथ फेरा एक सिहरन की लहर मेरे और वसुन्धरा दोनों के जिस्मों में से गुज़र गयी.

मैं उसके हाथ की तरफ जोर लगाते हुए अपनी गांड को धकेल कर उसके हाथ को जैसे चोदने की कोशिश करने लगा.

जब मैं कौतूहल वश बेडरूम की तरफ मुड़ा, तो देखा कि भाभी कपड़े पहन रही थीं.

और तो और … एक दोपहर को एक घंटे का पावर-कट लग गया तो भी जिम्मेवार मैं …हे भगवान! ऐसी खब्ती औरत मैंने जिंदगी में पहले न देखी थी. मुझे लंड चूसना आदि कुछ आता नहीं था इसलिए मैं सही से लंड चूस नहीं पा रही थी. तनने के बाद सो चुके लंड से कामरस की एक बूंद निकल कर अंदर ही अंदर अपने मुझे मेरे लंड के टोपे पर ठंडा-ठंडा अहसास करा रही थी.

उस औरत का मैंने नाम और पता पूछा और उससे मसाज कराने की तारीख भी पूछी. हालांकि वसुन्धरा की पलकें तो झुकी हुई थी लेकिन आवाज़ में हल्की सी सत्तात्मक लरज़ बता रही थी कि शेरनी वापिस चैतन्य हो रही थी. इसके बाद में उसने अपनी नाइटी हटा दी और वो सिर्फ ब्रा पैंटी में आ गई.

उसके बाद बुआ ने मेरे से पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?पहले तो मैं डर गया कि ये क्या पूछ रही हैं.

उसने मुझे बीच में ही रोकते हुये बताया- मेरा पहले से ही ब्वॉयफ्रेंड है. जैसे कि आप जानते हैं कि मैं जवानी की दहलीज पर कदम रख चुका था, तो मेरा लंड भी फन उठाने लगा था. जब मेरा लंड आंटी के मुँह में नहीं था, तो पूरे कमरे में आंटी की मादक आवाजें आने लगी थीं.

वो मुझे गालियां देने लगीं- मादरचोद, हरामखोर, बहन के लौड़े, तेरी माँ की चुत, भड़वे. अरे रंडी! तेरे भोसड़े पर तो अपनी पूरी जवानी कुर्बान कर दूँ!! ऐसा सेक्सी भोसड़ा है तेरा!” रवि सिर उठाकर बोला और फिर से चाटने लगा. उस दिन मैंने देखा कि आगे वाला मेन दरवाजा अंदर से लॉक नहीं किया गया था.

घर पर हम मिल नहीं सकते थे, तो किसी काम के बहाने बाहर जाकर ही ये हो सकता था.

भाभी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा और पीछे से अपनी चूत मेरे लंड के पास लाकर पीछे से मेरे लंड को अपनी चूत में घुसा लिया. मैंने कहा- कौन?तो उधर से आवाज आयी- नौकरी चाहिये, तो कल शाम मैसेज में दिए पते पर आ जाना.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018 उसने अपनी टांगें पूरी तरह से खोल कर मेरी जीभ को चूत चाटने की आजादी दे दी थी. उसने मेरी टांगों को उठाया और अपने लंड को अपने हाथ में लेकर मेरी गांड के छेद पर सेट किया और अंदर धकेलने लगा.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018 धीरे धीरे उनके झटके तेज़ होते जा रहे थे, अब मेरा दर्द कुछ मजे में बदल रहा था. लेकिन मेरी चूत आज काफी टाइट थी क्योंकि मैं बहुत दिन से चुदी नहीं थी.

मैं उसके शर्ट को निकालना चाहता था मगर इंस्टिट्यूट में उसको नंगी करने में खतरा था इसलिए उसके कमीज को उसके चूचों के ऊपर करके मैंने उसकी ब्रा को भी ऊपर सरका दिया.

साउथ सेक्सी

माँ बोली- अब तो खुश हो गया होगा न तू?मैंने कहा- हाँ मां, आज मैं बहुत खुश हूँ. दीदी जीजाजी की चुदाई की कामुक आवाजें सुनकर वैसे मैं भी गर्म होना शुरू हो गई थी. कुछ देर में ही वह एक पैर पर खड़ी-खड़ी थक गई तो उसने दूसरा पैर भी मेरी पीठ पर रख लिया और मेरी गोदी में आ गई.

मैंने एक फर्जी कॉल की, थोड़ी देर बात करने के बाद डॉली को बताया कि रात को रुकना पड़ेगा, चलो दीदी के घर चलते हैं, तुम अपनी मम्मी को बता दो. मेरी बहन सुमिना उसके भाई को देखकर ज्यादा ही उत्साहित हो उठी थी, उसके इस बर्ताव ने मुझे काजल के भाई कुणाल के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया था।अब आगे:मैंने सुमिना से काजल के भाई कुणाल के बारे में पूछा तो सुमिना उसके बारे में बातें करती हुई बड़ी ही रूचि के साथ उसका गुणगान कर रही थी. बाहर मुन्ना भी अकेला है और मैंने अब कपड़े भी पहन लिए हैं।मैंने भी मन में सोचा कि उसकी भी बात ठीक है.

इधर मैं भी उसकी चूत से निकलते हुए रस को अपने मुँह में लेकर रसपान करने लगा.

मगर किस्मत खराब थी कि सायमा बेड से उठने लगी और उसने मुझे अपना लंड हिलाते हुए देख लिया. मैंने कहा- ठीक है कमीनो, लेकिन मां के बारे में तो सोचो, अगर मां साथ में रही तो हम आंटी की चुदाई नहीं कर पायेंगे. मुझे याद करती होगी या नहीं … करती तो होगी!’ ऐसे कितने ही विचार मन में आ विचरते.

मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो गया था उसकी चूत में वीर्य निकालने के बाद. मैंने अंजलि के नंगे चिकने बदन के हर अंग को अच्छी तरह से मसला और उनको तेल पिलाया. मैंने हिम्मत करके माँ की चूत पर हाथ रखा तो वह बहुत गर्म महसूस हुई मुझे.

और दिलिया की चीख निकल गयी- आईई आहाह आआआआ आईईईई स्स्सस!मगर गजब की हिम्मत थी उसमें … अपने हाठों में मेरा चेहरा लेकर चूमते हुए बोली- गज़ब किला फ़तेह किया तुमने आमिर … आई लव यू! बहुत दर्द हुआ लेकिन मुझे गर्व है कि मेरी चूत को तुमने एक ही धक्के में ही फाड़ दिया. उधर चूत के रस की बौछार से लंड सनक गया और गोलियों में एक पटाखा फूटा.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरे छोटे भाई विक्रम ने मेरी बीवी रीना को नंगी बेड पर बंधे हुए देखा और वह अपने लंड को पैंट के ऊपर से मसलने लगा. वो चॉकलेट मेरी चूत में लगाकर मेरी चूत को चाटने लगा जिससे मैं उत्तेजित होने लगी. अलका- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं … अब तक तो कोई भी नहीं है.

मेरी मोटी और गोल चूचियों को देख कर नीचे वाले लड़के ने अपने दोनों हाथों में उनको भर लिया और उनको कस कर दबाने लगा.

अगर मैं उससे ये पूछता कि आप क्या पढ़ाई कर रही हैं तो शायद वो मुझे लल्लू समझ बैठती क्योंकि वो मेरी बहन के साथ ही पढ़ाई कर रही थी इसलिए ऐसा बेतुका सवाल पूछ कर मैं अपना इम्प्रेशन बनने से पहले ही बिगाड़ना नहीं चाहता था. उसने तुरंत मेरी तरफ देखा, मैंने आंखों से इशारा किया- मैं हूँ डरो मत. वो एक पिंक कलर की नाईट ड्रेस पहने थे जो सामने से पूरी खुली थी और एक डोरी से बंधी हुई थी.

छुट्टी का दिन था, दोपहर को उपिंदर आया हुआ था। हम तीनों बैठे हुए थे। एक सोफे पे उपिंदर और अंशु, सामने दूसरे पर मैं। खाना पीना चल रहा था। अंशु के कपड़े उतरने शुरू हो गए थे। साड़ी ब्लाउज उतर चुका था और अब वो ब्रा और पेटिकोट में थी, दोनों का चुम्मा चाटी, दबाना मसलना चल रहा था।उपिंदर का फोन बजा, अंशु ने उठा के उसे दिया और मुस्कुरा के बोली- हमारी रखैल का है. भाभी की उठी हुई टांगों को थामे हुए मैं नीचे से भाभी की चूत को चोदने लगा.

इस तरह की पॉर्न सामग्री में अधिकतर पुरुषों को सेक्स पिल्स देकर काम करवाया जाता है ताकि उनका लिंग लंबे समय तक योनि भेदन कर सके. यह सब देखने और उनके बीच का वार्तालाप सुनने से मेरे बदन में भी हलचल मच गई थी. मैं मामी से पूछ रहा था कि क्या मेरी उंगली से और अन्दर भी लंड जाता है?वो अपना जबाब देने के स्थान पर सिर्फ मादकता से सिसक रही थीं.

जानवर और आदमी सेक्स

उसके 2 दिन बाद जैसा कि मैंने आपको बताया था कि भाबी को चोद कर वापस आने के बाद एक दिन उनका कॉल मेरे पास आया था, जिसमें भाबी ने मुझसे 6 महीने बाद दिल्ली आने की कहा था.

रानी मेरे सर को सहला सहला के मेरे मुंह को कभी एक चूची पर फिर दूसरी चूची पर लगा रही थी. वह किसका लंड था और मैंने उस लंड को कैसे तैयार किया वो सब मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगी. अगले दिन सुबह मैं और दोस्त निकलने लगे, तो मैंने देखा अलका की आंखों में आंसू थे.

उसने टांग उठाकर मेरे कंधे पर रख दी और मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत में धकेलते हुए मेरे बालों को सहलाने लगी. रफ़-टफ़ अपीयरेंस, झगड़ालू तबियत, तमाम दबंगई, बदतमीज़ी और ब्रिटिश एक्सेंट में धारा-प्रवाह अंग्रेज़ी बोलना, ये सब वो सख़्त कवच थे जिनके पीछे एक नाज़ुक, छुई-मुई और सहमी सी वसुन्धरा विराजती थी और इस अलामत का कारण यक़ीनन वसुन्धरा का शादीशुदा ना होना था. डबल वीडियोमैं- अब तुम तीनों को नग्न अवस्था में देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया, इसलिए मैं सोनल को उठाकर चोदने लगा.

फिर पूजा उस लड़की की तरफ देखा, तो वो भी अपना गाल पकड़ कर हां में अपना सर हिलाते हुए बोली कि तू ऐसे ही खड़ी रहेगी या कुछ कपड़े भी पहनेगी?ये बोल कर उसने आंख मार दी. मैंने थोड़ा सा उसके पैरों को ऊपर उठाते हुए फैलाया और उनकी चूत के मुँह में लंड का टोपा लगा दिया.

”अरे हाँ!”हम बाथरूम में गए। मैं, ब्रा पैंटी में घुटनों पे बैठी। दोनों मेरे सामने खड़ी हुई नंगी और फिर सुनहरी रंग का फव्वारा शुरू हो गया, मेरे चेहरे गर्दन पूरे जिस्म, ब्रा और कच्छी को भिगाने लगा।मैंने अपने भीगे जिस्म पर जीन्स और टॉप पहना। अंशु भी तैयार हो गयी।जब हम चलने लगे तो डॉक्टर आशा ने कहा- कामिनी बड़ा मज़ा आया तेरे साथ, आती रहा कर!जी ज़रूर!”और हम दोनों घर आ गए. ये आवाजें मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रहीं थीं।रेलगाड़ी अपनी पूर्ण रफ्तार से चल रही थी और मैं भी उतनी ही रफ्तार से चोद रहा था। फिर करीब 4-5 मिनट बाद उसे खड़ा करके उसका एक पैर वाशबेसिन पर रख दी और खड़े होकर चुदाई करने लगे।और कुछ ही देर बाद आयशा की चूत ने पानी छोड़ दिया, वो बोली- अब बस करो, मैं थक गयी हूँ. अर्पित एक दिन अपने दोस्तों के साथ बाहर गया था और मामी और मामा को भी कहीं से फ़ोन आ गया था, जिस कारण से उनको भी बाहर जाने का प्रोग्राम बन गया था.

केशव ने मुझे पकड़ कर खींच लिया और सीधे होंठ पर अपने होंठ रख कर जोरदार किस करने लगा. दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने सेलिना को फिर से गर्म कर दिया और उसके हाथ फिर से मेरी पीठ को सहलाने लगे. लेकिन इसके बाद उसने एक बार में ही अपना पूरा लंड मेरी चूत में पेल दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा.

मैंने आंटी की चूत में उंगली डाल दी तो पता लगा आंटी की चूत पूरी गर्म हो चुकी है.

विशाल तुम मुझे बहन समझने की गलती मत करना। आज पूरी तरह से तुम्हें समर्पित हूँ। एक रखैल की तरह चोदो मुझे।मैंने कहा- जैसा तुम कहो मेरी जान!कहानी जारी रहेगी. हम दोनों खुले आसमान के नीचे दरी पर एक दूसरे से गुत्थम गुत्था हो गए.

उसके बाद तो जब भी वह घर पर अकेली होती तो वह मुझे फोन करके बुला लेती थी और मैं उस सेक्सी जवान आंटी की चूत चुदाई का पूरा मजा लेता था. मैंने कुछ देर तक उसकी चूत की पिलाई की और फिर अपने लंड को बाहर निकाल लिया. एक बार तो मैं अपने कमरे की तरफ बढ़ा लेकिन फिर सोचा कि अगर सुमिना को ये पता चल गया कि मैं आज कॉलेज से जल्दी घर आ गया हूँ तो उसको कहीं ये शक न हो जाये कि मैंने उसको काजल के भाई कुणाल के साथ चुदाई करते हुए देख लिया हो.

जिसमें पहले कुछ रोमांटिक गाने, फिर नग्न नृत्य और उसके बाद सनी लियॉन के सम्भोग दृश्य. 10 मिनट मेरी गांड चोदने के बाद उसने अपना माल मेरी चुत में भर दिया और उठ कर अंदर चला गया. इससे आपके पार्टनर को ये अहसास होता है कि आप उससे बहुत प्यार करते हो.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018 मानसी बेड पर पड़ी हुई रितेश जीजू के गोरे-मोटे लंड की चुदाई का मजा लूट रही थी. उसके बाद उन्होंने दीदी के चूचों को बहुत ही जोर से दबाना शुरू कर दिया.

परदेस मूवी

तब भी मैं इस बात को भी मना नहीं करूँगा कि मुझे गांड मरवाने में भी मजा आता है. सौ लोगों के हुज़ूम में अकेली दहाड़ने वाली शेरनी, ऐसे सहमी सी बैठी थी जैसे अदालत में एक ऐसा मुजरिम सहमा बैठा हो जिस को अभी … बस अगले ही पल सज़ा सुनाई जानी बाकी हो. दूसरे भाग की कहानी का मजा यहीं से शुरू होता है कि कैसे मैंने अनामिका की गांड भी उसके मना करने के बावजूद भी चोदी और अनामिका के यहां सोनिया भी कैसे मिल गयी और उसकी चूत व गांड कैसे मारी.

गज़ब! वसुन्धरा के चेहरे पर तो हवाईयां उड़ रहीं थीं और जाने क्यों उसकी पेशानी पसीने से तर-ब-तर थी, नज़रें सहमी हुई हिरणी के मानिंद इधर-उधर भटक रही थी, कार की सीट के परले सिरे पर सिमट कर बैठी वसुन्धरा ने गोद में रखे हुऐ अटैची-केस का हैंडल दोनों हाथों से कस कर थाम रखा था. आंटी की कामुक आवाज मेरे लंड की वजह से शान्त थी, लेकिन उनके चेहरे से साफ़ नजर आ रहा था कि आंटी लंड के पूरे मजे ले रही थीं. बांस का तेलमुंह से आह्ह ऊंहह की आवाजें निकालने लगी जो मेरे जोश को और ज्यादा बढ़ा रही थी.

उसके बाद मैंने जैसे ही अपने लंड का सुपारा उसकी गांड के छेद पर रखा, उसने अपना मुँह दबा लिया.

वो खुद भी पूल में आ गया और मेरे साथ मस्ती करने लगा, कभी दूध दबाता कभी चुत में उंगली करता. अब घरवाले हर मेहमान की पूंछ से चौबीसों घंटे तो नहीं बंधे रह सकते थे और वसुन्धरा थी कि बात-बात पर मुंह फुला लेती थी, हंगामा खड़ा कर देती थी.

मैंने झट से अपने लंड को बाहर निकाला और हल्का तेल और लगा कर दुबारा से पेल दिया. उन्होंने पूछा- उसके साथ कभी सेक्स किया था?मैंने बोला- हां 1-2 बार, लेकिन वो बहुत डर डर के सेक्स करती थी. मेरा जिस्म बहुत अच्छा है और मेरी चूची और गांड का आकार भी बड़ा सेक्सी एंड हॉट है.

पेंटी हटाते वक्त मेरे पेटीकोट का नाड़ा भी ढीला किया हुआ पड़ा था, उसने पेटीकोट और मेरी नाइटी को भी मेरे बदन से अलग कर दिया.

एक मिनट किस करने के बाद मैंने उससे कहा- बस … अब कोई आ जाएगा, तुम जाओ. उसके मोटे मोटे चुचे, फिर पतली सी कमर और फिर उठी हुई गांड … मेरा लंड तो पूरा खड़ा हो गया. ”उसके बाद उसने अपनी जवान लड़की की चूत में अपना अंगूठा कचाक से घुसेड़ दिया.

किन्नर की सेक्सी फोटोअब तो भूखे शेर के मुँह खून लग गया था।बस उस दिन मैंने आंटी की चुदाई का मन बना लिया था। मैंने ठान लिया था कि चाहे मुझे आंटी की चुदाई के लिए कुछ भी करना पड़े मैं इसकी चूत को चोद कर ही रहूंगा. मैं तो बस अपनी गीतू को चूसना चाहता था।मैंने देर न करते हुए उसकी गुलाबी रंग की पैंटी उतार दी.

हीरोइन की सेक्सी

काफी देर अन्दर बाहर करने के बाद मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला, कॉण्डोम चढ़ाया और फिर से चूत के अन्दर खिसका दिया और धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा. फिर मैंने उसकी शर्ट को उतरवा दिया और उसकी काली ब्रा में उसका गोरा चिकना बदन देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया. मैंने नहाने के बाद के बिना ब्रा और पैंटी के गहरे गले की टी-शर्ट और टाइट जींस पहन ली.

भाभी ने बेड पर लेटते ही सेक्स के लिए अपनी बांहें मेरी तरफ फैला दीं. उसने मेरे हाथों को अपने हाथों में ले लिया और उनको प्यार से सहलाने लगा. कुछ देर बाद दीदी भी सेक्स के रंग में रंगने लग गई और जीजा के मोटे लंड से चुदाई का मजा लेते हुए आह … आह … की आवाज करने लगी.

पैंटी उतरते ही मेरी आंखों के सामने साफ गुलाबी बाल रहित चूत उभर कर आ गई. लंड को उसकी गांड में पिरोया और तेल की शीशी से तेल टपकाना शुरू कर दिया. मैं किचन में थी, वो वहीं आ गए और मुझे पीछे से पकड़ कर किस करने लगे.

लोअर के अन्दर लण्ड और पैन्टी के अन्दर चूत लेकिन बेबी उनको मिला कर मजा ले रही थी. पुरुष दम्भ … ये तो है ही!यक-बा-यक बिला-वज़ह ही फिज़ा खुशगवार सी हो चली थी और वसुन्धरा भी कुछ सहज़ सी दिखने लगी.

मैंने भी उसी कपड़े से अपना लंड साफ किया और हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए.

कुछ देर बाद मेरा लंड छूटने वाला था और पिचकारी निहारिका की सलवार पर जा गिरी. 12 साल लड़की के साथ सेक्स’ और मेरे कंठ से निकलती ‘आअह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आउउऊ उउउ …’ की गूंजें फ़ैल गई थीं. सविता भाभी कार्टून चुदाईहालांकि मैं अंदर ही अंदर गुस्से में उबल रहा था लेकिन ऊपर से शांत दिखने की भरपूर कोशिश कर रहा था पर लगता था कि वसुन्धरा ने मेरा मूड भांप लिया था तो हाथ में शादी में पहनने वाले कपड़ों वाला मीडियम साइज़ का अटैची-केस ले कर चुपचाप कार की फ्रंट-पैसेंजर सीट पर आ बैठी. मगर रजाई होने के कारण कुछ पता नहीं लग पा रहा था कि मैंने नीचे से पैंट निकाल रखी है.

बलवन्त बिना रुके जोर जोर से मेरी गांड मार रहा था और मैं दर्द से कराहते हुये रो रही थी.

जब तक मैं उसका लंड मुँह से निकाल पाती कि उसके पहले ही मेरा मुँह उसके वीर्य से पूरा भर गया. मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]मुझे आपके अमूल्य फीडबैक का इंतज़ार रहेगा. मगर मैंने जोर लगाते हुए उसकी चूत के ऊपरी फूले हुए भाग को ही धीरे-धीरे सहलाना शुरू कर दिया.

उंगली से चूत को मजा मिलने लगा और उस आनन्द से आंटी की आंखें बंद हो गईं. हम दोनों खुले आसमान के नीचे दरी पर एक दूसरे से गुत्थम गुत्था हो गए. मैंने उन्हें मजाक में ही कह दिया- भाभी आपको फिटनेस सेंटर में आने की क्या जरूरत है … आप तो पहले से ही काफी फिट हो.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी चाहिए

मैंने पूछा- तुम्हारे हाथ काम्प क्यों रहे हैं? तुम शर्माओ मत … खुल के मालिश करो. प्रिय अन्तर्वासना पाठकोमार्च 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …. जब मुझसे रहा न गया तो मैंने उसको अपनी बगल में पटक लिया और उसकी पैंटी को खींच कर उसकी चूत को नंगी कर दिया.

मैं- क्या मौसी और कहां?मौसी भी समझ चुकी थीं कि मैं क्या चाहता हूँ उनसे और टाइम कम होने की वजह से जल्दी भी करना था … इसलिए मौसी ने भी बिना टाइम गंवाये बोल ही दिया- डाल ना जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में … और चोद मुझे … चोद चोद कर फाड़ दे मेरी चूत को … पिछले 12 सालों से लंड के लिए बहुत तड़पी है मेरी चूत … अब तू और मत तड़पा इसे … जल्दी चोद मुझे.

मैं बी-टेक के फाइनल ईयर में था, तो मैंने सोचा क्यों ना पार्ट टाइम में कोई जॉब कर लिया जाए.

दिन में जब कोई काम होता, तो वो मुझे बार बार छूने की कोशिश करते और एक दूसरे के इर्द गिर्द ही रहते. मैं उन जीजा-साली की वो कामुक रास-लीला वहीं खड़ा रह कर देखने लगा क्योंकि मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था ये कामुक दृश्य देख कर. ट्रांसजेंडर सेक्समेरा मन कर रहा था कि अभी की अभी भाभी की साड़ी उठा के पूरा लंड एक बार में ही पेल दूँ.

उसका गोरा रंग, मीडियम बिल्ट बॉडी, पैसेवाला, गुस्से का जाहिल, पर जबान का पक्का है. चूंकि वो मेरे जिले का था, मैंने प्रॉब्लम नजरअंदाज करते हुए फाइल साइन कर दी. स्स्स … आह आह अह्ह … हय … !उसकी गोरी, चिकनी, मखमली चूत को चोदते हुए इतना मजा आया कि पांच-सात मिनट में ही मेरे अंदर का जोश मेरे लंड के वीर्य में उबाल ले आया और मैंने उसकी चूत में वीर्य की पिचकारी मार दी.

मैंने दूसरे धक्के में पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में जड़ तक घुसा दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. इस कमरे में टीचर लोग खाली पीरियड में सुस्ताने, इम्तेहान की कापियां चेक करने, विद्यार्थियों का होम वर्क जांचने और लंच इत्यादि के लिए इस्तेमाल करते थे.

पिछली बार जब मैं दिल्ली से घर आई थी, तो मुझे पहाड़ों में आकर बहुत सुकून मिला.

मामी बोली- अगर तुम दोनों अगर लड़ाई नहीं करती तो शायद बत्ती भी गुल न होती. मैं उसके सर को वैसे ही बाल पकड़े हुए हल्का सा घुमा के होंठों का रसपान करने लगा. मैं कुछ नहीं बोला और मैंने झट से अपनी एक उंगली उनकी चुत में डाल दी जिसकी वजह से वो सिसक उठीं.

भाभी की चूत में लंड डाला फिर दिनेश अलग हो गया और अनिल ने मुझे घोड़ी बनाकर मेरी चूत में लंड एक ही झटके में पेल दिया. आगरा से ट्रांसफर होकर जब मैं कानपुर आया तो मैंने कानपुर में जो मकान किराये पर लिया.

तनने के बाद सो चुके लंड से कामरस की एक बूंद निकल कर अंदर ही अंदर अपने मुझे मेरे लंड के टोपे पर ठंडा-ठंडा अहसास करा रही थी. अब मुझे उससे अपने मतलब की बात शुरू करनी थी।मैंने बोल दिया- ऐसे मुझे घूरोगे तो एक्सीडेंट हो जाएगा. ज्योति आंटी का पति अक्सर टूअर पर जाता रहता था। मैंने बहुत कोशिश की आंटी को पटाने की लेकिन आंटी की लाइन कहीं से भी ओपन नहीं लग रही थी.

राजस्थानी सलवार सूट

मौसी को दर्द हो रहा था … और होगा भी क्यों नहीं, कितने साल बाद उनकी चूत को लंड मिला था. मुझे लगा रायता फ़ैल गया है लेकिन कुछ देर बाद स्वीटी ने मैसेज किया ‘कितना वक्त लगा दिया पागल … आई लव यू बोलने में. उन दिनों मैं अपने नाना जी के यहां गया हुआ था। गांव में अधिकतर लोग जल्दी सो जाते हैं क्योंकि उनको सुबह जल्दी उठना पड़ता है.

मैंने भी मौके का भरपूर फायदा उठाया और उसके घाघरे का नाड़ा खोल दिया और अपना हाथ उसकी पैन्टी के अंदर डाल दिया. बाथरूम में ही मैंने दिशा के मम्मों को दबाते हुए उसे घुमाकर उसकी गांड में लंड डाल दिया … और उसकी गांड मारने लगा.

कुछ देर के बाद किसी ने कमरे में आकर मेरे चूचों को दबाना शुरू कर दिया.

फिर सुमिना ने उसे अपने ऊपर से हटाते हुए उसको पीछे किया और वो अपने घुटनों पर आ गया. यह तो सरासर मेरे पौरूष को खुली चुनौती थी और ऐसा तो मैं होने नहीं दे सकता था. मैंने तुरंत चाची को बेड पर लेटा दिया और दोनों टांगों को फैला कर लंड चूत के मुँह पर सैट करने के बाद जोर जोर से चोदने लगा.

देखते ही देखते उसका लंड तन गया और फिर उसने एकदम से अपने लंड को पैंट के बाहर निकाल कर उसकी मुट्ठ मारते हुए हिलाने लगा. मैंने मामी को आज से पहले उस नियत से नहीं देखा था, लेकिन आज मेरी नियत बिगड़ गयी. भाभी किचन में जाने लगी, तो पीछे से उसकी ठुमकती गांड बहुत सेक्सी लग रही थी.

पांच बजे के करीब माँ भी घर पर आ गई और हम दोनों साथ में बैठ कर टीवी देखने लगे.

बीएफ बीएफ ww2 system requirements 2018: वो मेरी बहन की चूचियों को चूस रहा था और अपने एक हाथ से उसकी चूत को सहला रहा था. हसरत होगी भी क्यों नहीं, बेचारी पिछले 10-12 साल से लंड के लिए तरसी जो थीं.

छोटी बहन मानसी ने दो महीने पहले ही मीडिया में काम करना शुरू किया है।मैं और मानसी अहमदाबाद (गुजरात) में रहते हैं. मैंने अपना वीर्य मामी की चुत में ही निकाल दिया, जिससे मामी की चुत भर गई. उसने अपनी एक टांग को मेरे दोनों टांगों के बीच फंसा कर दूसरी टांग को मेरी कमर पर चढ़ा दी.

वो कभी मेरा एक मम्मा चूसता और दूसरा दबाता, तो कभी दूसरा चूसता, तो पहला दबाता.

इसको इसके सेन्टर पर ड्राप कर दूंगा और अपना काम निपटा कर वापसी में से इसको ले लूंगा. अभी थोड़ा ही डाला था कि भाभी की आंखें बाहर निकल आईं, वो बोलने लगी- आह … थोड़ा रुक जाओ … बहुत दर्द हो रहा है. पेन ड्राइव शुरू हो गई तो हम लोगों ने एक दूसरे के कपड़े उतारे और शुरू हो गये.