एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म

छवि स्रोत,राजस्थानी सेक्सी हिंदी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

ஆன்ட்டிகள்: एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म, उसने उसके ब्लाउज के हुक खोलकर ढीले कर दिए और धीरे धीरे आगे बढ़ने लगी.

सेक्सी सेक्सी पिक्चर मराठी

तो मैंने कहा- बैठ तो सकते हैं ना?उसने कहा- बस खराब है, मैंने आपको बता दिया अब आप जो करें!फिर मैंने यहां वहां मुड़ कर देखा कि वहां कोई है तो नहीं. bye bye सेक्स वीडियोमैं उन्हें अपने अंदाज में इस मंच तक पहुंचा रहा हूँ। आपके पास भी कुछ ऐसा है तो मेल या फेसबुक पर मुझसे शेयर कर सकते हैं। मेरा ईमेल एड्रेस और फेसबुक एड्रेस है[emailprotected]https://facebook.

दोनों के चेहरे पे थकान भारी संतुष्टि थी और वो दोनों ही थक चुके थे, पर खुद पे गर्व कर रहे होंगे. पेट में कीड़ेआंटी एकदम से बोलीं- क्या कर रहे थे?मैं बोला- ये दीदी की सहेली है, इसको आपके घर का रूम दिखा रहा था.

मैं अपना मुँह को नीचे सरकाता हुआ जैसे ही चाची की चूत पर अपनी जीभ को रखा, चाची एक बार फिर जोर से सीत्कार भरते हुए मेरे सर को पकड़ कर अपने चूत पर दबाने लगीं.एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म: मम्मी हंसी और बोलीं- हां सब मेरी बहनें भी यही कहती हैं कि सोनू कहीं बड़े घर में या मुंबई में होती, तो सोनू टीवी या फिल्म में हीरोइन बन सकती थी.

तभी महेश ने सीधे मेरे गालों में किस करके मेरे होंठों में अपने होंठ रख दिए.दवाई चाहिये ना? लेऐ … पीईई … पीईई ये दवाई …” कहते हुए सुलेखा भाभी ने अब खुद ही अपनी चूचियों को मेरे मुँह पर लगा दिया.

लेडीस के साथ - एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म

हिन्दुस्तानी वस्त्र धारण करने वाली मेरी पत्नी ने कहा- ये क्या करेंगी?मैंने कहा- कुछ नहीं तुम मेरे पास लेट जाओ.फिर बातों ही बातों में पता चला कि वे लोग भी घूमने के लिए ही आए हुए थे.

हम दोनों बाथरूम में जाकर पहले मैंने अपने हाथों से पूजा की गांड को साबुन लगा कर धोया और फिर पूजा ने मेरे लंड को पकड़ कर मसल मसल कर धोया. एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म नीरू की मम्मी उसे उसकी जीजी के यहां मतलब हमारे घर किसी वक्त भी भेज देती थी, उनके मन में कोई शंका नहीं थी.

फिर उसके होंठों को अपने होंठों से सटा कर उसे किस करने लगा और धीरे से उसकी ब्रा को निकाल कर उसके मम्मों को बारी बारी चूसने लगा, जिससे वो भी आह अह करने लगी और मेरा सर अपने बूब्स पर दबाने लगी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म?

बैठने के बाद थोड़ा सा अपने चूतड़ों को उठाया और अपने हाथों से मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत से लगा दिया और फिर कुछ शर्मा कर अपनी कमर चलाकर मेरा लंड अपनी चूत में घुसेड़ लिया. पर हिना भाभी को रोते देखने के बाद अगली सुबह मैं जानबूझ कर सोया रहा और भैया के जाने का इंतज़ार करने लगा. कुछ देर मार्केट में घूमने के बाद हम लोग वापस होटल के कमरे में आ गए.

अब आगे:अब दोनों माँ बेटी थोड़ा आराम करने के मूड से बिस्तर पर लेट गयी और एक दूसरे को बड़े प्यार से देखने लगी. सुलेखा भाभी के पेंटी में कैद उनके विशाल नितम्बों को सहलाते हुए मैं अब वापस अपने हाथों को पीछे से ही उनकी जांघों के जोड़ की तरफ बढ़ाने लगा. कहानी के पिछले भागअपने चोदू को माँ का पति बनवाया-2में आपने पढ़ा कि अमीषा 2-4 बार चुद कर अपनी चूत की कीमत जान गयी थी.

जब मैं छोटी कक्षा में था, तो मेरे दादी की मृत्यु हो गयी और हमें अपना घर बदलना पड़ा, जिससे मेरा स्कूल भी बदल गया. अब मैं क्या करता मेरे पास जवाब ही नहीं था, तो मैं उसे चुपचाप घर ले आया. नहीं तो मजा कैसे लोगी? एक बार शुरू में थोड़ा सा दर्द सहन कर लो, फिर अपन तीनों को रोजाना मिलकर खूब मजे करा करेंगे! तूने देखा नहीं कि मेरी चूत में कैसे लंड को एक बार में ही पूरा ले लिया था और मैं कितना मजा लेकर उछल रही थी.

अगले दो मिनट में हम चारों ही नंगे हो चुके थे और हम सभी की चुदास की गर्मी सातवें आसमान पर थी. मगर जब तक हमने खाना खाया, तब तक सुलेखा भाभी ऐसे ही मुझे घूर घूर कर देखती रहीं.

मेरी जवानी उफान मार रही थी तो मैंने खुद से केबिन की कुण्डी लगायी और शिवानी को कहा- बेटा, तुम्हारे भैया मुझे अब प्यार करेंगे.

अब घर के तीनों लंड मयूरी के मुँह में जबरदस्ती जैसे तैसे ठूंसे जा रहे थे और वो मजे ले लेकर जैसे भी हो सबका लंड चूस और चाट भी रही थी.

रेवती ने मेरे लंड को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया और मैं अचानक हुए इस हमले से आनन्द के उस सागर में चला गया, जिसकी गहराई दुनिया में आज तक कोई भी नहीं नाप पाया है. हम सेक्स में अलग अलग खेल खेलते, लेकिन सेक्स में ज्यादा से ज्यादा मैं अपना लंड उसकी चूत पर रख कर रगड़ता था, अन्दर नहीं डालता था. तुम देख चुके हो अंकल, लालजी की सगी मौसी की बेटी सोनू घर में नाम है, वैसे वन्द्या नाम है.

पूरी प्रक्रिया के दौरान न जाने मैं कितनी बार उत्तेजित हुई और कई बार मेरी उत्तेजना शांत हो गयी. मेरी पत्नी उसको समझा रही थी- थोड़ा बर्दाश्त करो, कुछ देर बाद बहुत मजा आएगा. लेकिन यह आकर्षण सिर्फ मीता के साथ गुजारे पलों में ही था, उसके अलावा मेरे सम्बन्ध जहां भी बने, वहां पर मैं एक सामान्य मर्द ही होता था.

अब दोनों मां बेटियां जोर जोर से चिल्ला रही थी और हम दोनों इन दोनों रंडियों की गांड फाड़ रहे थे.

मैं उसे सीधे कुकरैल के आगे फारेस्ट कैम्प लेकर गया, जो कि एक छोटा सा रिसार्ट था. अब मैंने भी अपनी चोदन गति कुछ बढ़ा दी।उसके मुख से ‘आआआ आआह आहहह आआ आआह आ आह आह ओह आ आ आ आहह आओह आआ हह … फक फक फक फक मी फक मी मेरे राजा चोद दे मुझे आआआ आआहह आहहह आआ आआआहह आई आह आआ आह… आज मैं तेरी फाड़ दे मेरी चूत को …’ निकल रहा था. उनका पल्लू भी उनके मम्मों से हटा हुआ था, मैं जब भी गियर चेंज करता तो मेरा हाथ उनकी जांघों से टकरा जाता.

मेरी बातों को सुनते ही पूजा की आंख चमक उठी और मुझसे बोली- क्या फिर से करोगे. वहां पर अन्दर कमरे में वे तीनों लोग मतलब दोनों नीग्रो और वह हैंडसम सा पुनीत बैठ गए. तभी बेबी मुझे देख कर मुस्कुरा दी और मैं भी उसे देख कर मुस्कुरा दिया.

वो कुछ कहे, उससे पहले मैंने उसे अपनी तरफ खींचकर बांहों में भर लिया.

इतना सुनना था कि मैंने लंड बाहर खींचा और मयूरी भाभी की कम झांटों वाली चुत और दूध पर पिचकारी मार दी. उसने शायद घाघरे के जैसा कुछ पहना हुआ था, जो कि काफी खुला हुआ भी था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म इस बार मैंने उसे खड़े होकर बेड पर झुकने को कहा और खड़े खड़े चोदने लगा. रात हुई … सब सोने लगे लेकिन आज ना तो मेरी आँखों में नींद थी, ना ही मौसी की.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म कोई कितना ही काबू करे, पर इस माहौल में दोनों तरफ से आने वाले मजे में लालच आ ही जाता है. दीपक- ओह …मैं- क्या हुआ?दीपक- मुझे शक है कि उसके पेट में बच्चा है।मैं- क्या!?दीपक- टेस्ट के बाद मैं यकीन के साथ कह सकूंगा.

मैं उसकी चूत की दरार में जीभ फिराने लगा और वो अपने चूतड़ हिला हिला कर, अपनी जांघें लहरा लहरा कर मचल रही थी.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो एचडी वीडियो

यह बन गयी आपके लिए रुई और कपड़े की आरामदायक कृत्रिम योनि!अब आप अपने खड़े लंड को उसमें डालो और फिर धीरे धीरे मज़ा लो उत्साह के साथ! बाकी की चीज आप खुद प्रयोग करें, अपने शरारती दिमाग का प्रयोग कर के बिल्कुल मस्त रियल सेक्स जैसा अनुभव लगेगा।जब ऐसा रोज़ करेगे तो तकिये का छेद अपने लंड के अनुसार अपना आकार ले लेगा, बड़ा हो जायेगा. पूजा कभी कभी मेरे सुपारे को अपने आंखों से लगाती या फिर उसे अपने मुँह से निकालकर अपने गालों पर रगड़ती. वो अलग अलग शहर में दवाईयां देने जाते हैं और 15 दिन में 2-3 दिन के लिए ही घर पर आते हैं.

मैंने पूरी ताकत से माइक से एक हाथ छुड़ाने तथा दूसरे हाथ से रोकने का प्रयास किया. जैसे ही पांच मिनट का भी मौका अकेले होने का मिला, झट से मेरे मुँह में लंड डाल कर चुसवा लेते, फिर जाते. इसी लिए मैं आप से प्यार करती हूँ।मैं बोला- नीता, मैं भी तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और आज तुम्हें बहुत प्यार करना चाहता हूँ।वो बोली- मैं तो आपकी ही हूँ जी! जो चाहे … करो … मैं तो तुम्हें दिल से अपना मान चुकी हूँ.

जब उसने कहा कि दर्द कम हुआ है, तब मैंने एक और झटका लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में समा गया.

मैंने नीरू को बोला- अरे नीरू, यह क्या कर रही है?नीरू बोली- जीजू आप घबराओ मत, कल रात मैंने इसको ब्लू फिल्म दिखाई थी मोबाइल पर! उसको देखकर यह सब कुछ सीख गई है. दीपक से रुका नहीं गया, उसने उठकर मानसी को अपनी बांहों में जकड़ लिया और बोला- तुम चिंता मत करो, मैं सब सम्हाल लूंगा। दो दिन की बात है और तुम पहले जैसी बन जाओगी।यह बोलकर उसने मानसी की चूचियाँ मसलना शुरु कर दी. फिर मेरे लंड को देखते हुए पूजा मुझसे बोली- लगता है कि तुम्हारे लंड में अभी काफ़ी दमखम है और तुम अभी भी शरारत करने के लिए तैयार हो.

उसने अभी तक अपनी गांड और चूत तो बहुत बार चुदवाई थी पर एक साथ दोनों और वो भी दोनों नए लंड से … यह अनुभव उसे बहुत ही नया और निराला लग रहा था. मेरी आंख खुली, तो मैंने देखा कि मूछों वाले ठाकुर साब थे, और उनके साथ वही ड्राइवर अंकल, जो मौसी के यहां से आते समय गाड़ी चला रहे थे. अब आगे:तभी वह लड़का लंबा सा हैंडसम निकल गया और स्टोर वाला मेरे से बोला- थोड़ा जल्दी करो, जिसको कहना हो बता कर और आ जाओ.

मैं खुद नहीं समझ पाती हूँ कि सबको मेरी नोज ही क्यों इतनी पसंद आती है. इससे पहले कि रिया भाभी और मयूरी भाभी कुछ कहतीं, एकता भाभी ने कहा- हम तुम्हें अकेले रिया को खुश करने नहीं देंगे, तुम्हें हम दोनों को भी खुश करना होगा.

वो भी तेजी से आते हुए अचानक मेरी बर्थ के सामने वाली सीट पर आकर बैठ गई. ऐसे ही थोड़ी देर के बाद पूजा फिर से मेरे लंड को अपनी चूत से जोरदार झटकों के साथ चोदना शुरू कर दिया. मेरी फिलहाल उत्तेजना शांत हो गई थी, पर ये माइक के लिंग से निकलता चिकनाई वाला पानी था.

इईई … उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआह्ह्ह …” की मस्त सी आवाज में सुलेखा भाभी के मुँह से अब एक जोरों से सीत्कार निकल गयी.

मैं उनके पास जाकर खड़ा हो गया तो बोलीं- क्या हुआ निकालो ना?मैंने हाथ उनकी तरफ बढ़ा दिए. मैं चाहता था कि मैं दो अन्य हसीनाओं की मौजूदगी में श्रीमती जी की चुदाई का मजा लूँ. इतना बोलने के बाद पूजा ने फिर से मेरा लंड अपने मुँह में भरकर चूसना शुरू कर दिया.

मैं उसकी चुत को चाट भी रहा था और अपनी दोनों उंगलियां अन्दर बाहर भी कर रहा था. तभी नीरू ने पायल की सलवार में हाथ डाल दिया और उसकी चूत में उंगली डाल कर बाहर निकाल कर मुझे दिखाते हुए बोली- अरे जीजू, देखो इसकी बुर पूरा पानी छोड़ चुकी है, यह तो पूरे मजे ले रही है.

अब रोज़ शाम को किसी कोने में सर का लंड चूसती और हफ्ते दस दिन बाद सर मुझे वहीं ले जाते और मेरी चूत को लंड खिला देते. मैं बस लम्बी लम्बी सांसें ले रही थी और धीमी धीमी आवाजें निकाल रही थी. तुम्हें अच्छा नहीं लगेगा मगर फिर भी तुम्हें आज के लिए दिल से शुक्रिया.

सेक्सी पिक्चर चोदने के लिए

मुन्ना अंकल भी इस हरकत से हाँफने लगे और अपने हाथों से मेरे दूधों को दबाने लगे.

उन्होंने बोला- बेटा तेरा बहुत अहसान है हम पे … और कोई नहीं है जो इतना कर सके. अब मैं पूरी नंगी गैब्रियल के ऊपर लेटी थी और मैक मेरे पीठ और कूल्हों को चाट रहा था. अब मुझे इतना भरोसा तो हो ही गया था कि इसको बता सकूँ कि इसे क्या बोलते हैं.

कुछ देर बाद वो भी फिर से मुझे किस करने लगी और चुदाई के मज़े ले लेने लगी ‘आहह हह आसीई ईईइ प्लीज और ज़ोर से चोदो मेरी चूत को … आअहह फाड़ दो …’मैं लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा, जिसकी वजह से उसके चूचे ज़ोर ज़ोर से हिलने लगे. मेरे इसी विश्वास की वजह से ही मैंने अब आनन्द लेना शुरू कर दिया और उसका साथ भी खुल कर देना शुरू कर दिया. भोजपुरी बीपी ओपनवो हांफते हुए बोली- सही में यार तुम बहुत मस्त चुदाई करते हो … कभी मुंबई आओ, उधर की सारी लड़कियां तुम्हें चाहने लगेंगी और खूब चुदाई करवाएंगी.

उसने हौले हौले उन्हें फैलाना शुरू किया और चूमते हुए मेरी योनि के पास आ गई. क़रीब 15 मिनट की चुदाई के बाद जब मुझे लगा कि मैं अब छूटने वाला हूँ तो मैंने उन्हें घोड़ी बनने को कहा.

उसका नाम मीनल था, वो हमारी बायोलॉजी टीचर के साथ ही वो ही हमारी क्लास टीचर भी थी. वो इस समय बस आहें भर पा रही थी… उसको और किसी चीज़ का कोई होश नहीं था. मेरी चूत को जिस कपड़े से मैंने पौंछा था उसको जब मैंने देखा तो वो मेरी बुर के खून से रंगी पड़ी थी.

किरण जी कहने लगीं- राजा, तेरे मोटे लंड से मेरी चूत फट न जाए … जरा आराम से चोदना़. हम अपने मेहमान समेत बहुत उत्तेजित हो चुके थे और हमारे हाथ अपने-अपने लंडों को मसल रहे थे. मेरे इशारे पर स्टीव ने झुक कर उसके एक पाँव को अपनी गोद में रखा और टांग पे हाथ फेरने लगा, पर बीवी एकदम से कुर्सी से उठने लगी.

वो उठा और रसोई से जाकर तेल ले आया और अपने लंड और अपनी माँ की गांड पर बहुत सारा तेल लगा दिया और एक जोरदार झटका मारा.

अब डैड ने घर पर सब की क्लास लगा दी और कह दिया कि अपने अपने मन मुटाव अपने तक रखो, तुम्हारी भाभी तक घर की कोई भी टेंशन नहीं पहुंचनी चाहिए. मैं भी कहां रुकने वाला था, मैं भी बात करते करते भाभी कि चूचियों को अपनी कोहनी से दबा दिया करता था.

इससे पहले में एक काफी अच्छे स्कूल में पढ़ता था, जहां किसी को गलत बोलने पर टीचर बहुत मारते थे और पढ़ाई इतनी ज्यादा होती थी कि किसी और चीज़ के लिए वक़्त ही नहीं मिलता था. हम सेक्स में अलग अलग खेल खेलते, लेकिन सेक्स में ज्यादा से ज्यादा मैं अपना लंड उसकी चूत पर रख कर रगड़ता था, अन्दर नहीं डालता था. मैंने उनकी चूत को किस किया और उनकी चूत को जीभ से ऊपर से नीचे तक चाटा.

अनन्या उसकी गर्लफ्रेंड थी और मुझे पता चल गया था कि वो जरूर उसकी चूत लेने जा रहा था. ठरक में तैरते इंसान के मुँह के आगे एक गर्मागर्म लौड़ा हो तो क्यों ना वो आगे होकर उस गर्म लौड़े को मुँह में चूसने लगेगा! मेरा भी वही हाल था, मैंने छोटे के बड़े से लौड़े को मेरे मुँह के सीमित गतिविधि करते हुए चूसना शुरू कर दिया. मुनीर ने पहले मेरे पल्लू को स्तनों के ऊपर से हटाया, फिर ब्लाउज से बाहर स्तन के हिस्से को चूमती हुई बोली- तुम कितनी कामुक महिला हो … तुम्हारा बदन ऐसा है कि कोई भी मर्द तुम्हें पाने को पागल हो जाए.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म इधर वो मेरे पास सट कर बैठी थीं, जिससे उनकी जांघ मेरी जांघ से सटी हुई थी. माइक समझ गया कि मेरा लक्ष्य आ गया और उसने भी मुझे पूरी ताकत से पकड़ लिया और दोगुनी तेज़ी से धक्के मारने शुरू किए.

सेक्सी दुसरा

लेकिन अगर उसे आगे की बात किसी और से पता चलती है तो वो सही जानने के लिए किसी तीसरे से पूछता है, वही तुम्हारे साथ हुआ है. मैंने उनके पास जाकर जाना तो मालूम हुआ कि उनकी कोई पैसे की दिक्कत थी. यह सुनकर तो मेरे मन में एक खुशी की लहर दौड़ गई, पर उसे इसका अन्दाजा नहीं था कि आज उसके साथ क्या होने वाला है.

मैंने नीरू से कहा- ठीक है … लेकिन इसकी चूत की दरार को चौड़ा करके फैला ना … तभी तो अंदर जाएगा!मेरे कहते ही नीरू ने सविता की चूत की दरार को दोनों उंगलियों से फैलाया तो अंदर से चूत बिल्कुल गुलाबी नजर आ रही थी. ”उसने मेरे नाज़ुक पाँव को अपने हाथों से पकड़ा, तो मेरे बदन में सिहरन सी उठने लगी. हैप्पी बर्थडे विशेस फॉर बरोथेर इन हिंदीमैंने जैसे ही अपना हाथ और नीचे ले जाना चाहा, तो उन्होंने मुझे रोक दिया.

उत्सुकतावश मैंने भी अब अपने हाथ को थोड़ा सा और नीचे उनकी चुत की तरफ बढ़ा दिया.

उसने मुझे बताया तो मैंने कहा- बस मेरा एक बार हो जाए, फिर चलते हैं।मैं पूरे पसीने से लथपथ होने के बाद भी धक्के लगाए जा रहा था. मेरे एक हाथ में हिना भाभी की पेंटी थी, दूसरा हाथ लंड पर लगा था और मेरी नज़रें अर्जुन की तरह मछली की आंख पर लगी थीं.

मुझे थोड़ा यकीन होने लगा, तो मैंने सोचा कहीं और से इसे पता चला तो शायद ज्यादा जानने के चक्कर में कुछ गलत न कर ले. मैंने मन ही मन सोचा … साली देख कैसे रुला रुला कर चोदता हूँ। पराया मरद कहाँ … उस पुजारी को छोड़कर मेरा आठ इंच का लंड एक बार ले ले, फिर इसका गुलाम बन जाएगी।मैं- वो कमरे का किराया बहुत ही ज्यादा है. मैं सच बता रहा हूँ, उस दिन प्रिया की चुत ने इतना प्रेमरस उगला था कि मेरा लंड उसकी चुत‌ में घुसा हुआ होने के बावजूद भी किनारों से उसकी चुत ने प्रेमरस की इतनी पिचकारियां मारी थीं कि उससे मेरे पेट के साथ साथ मेरी दोनों जांघें भी भीग गयी थीं.

वह बिस्तर पर मेरे पास आकर बैठ गईं और हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूमने लगे.

तो मौसी ने कहा- ठीक है चली जाओ … नंदोई जी साथ में हैं ही, क्या प्रॉब्लम है. आज मैं उसी कहानी से जुड़ी हुई एक और बहुत ही दिलचस्प कहानी पेश कर रहा हूँ, आशा है ये कहानी आपको बहुत पसन्द आयेगी. बाद में जब हमें अकेले में टाइम मिला तो उसने पूछा- मुझे क्या हुआ था?मैंने बताया उसे कि तू मजे लेते हुए झड़ गई थी.

हिस्टीरिया बीमारी क्या हैवो बोला- और क्या चाहिए…चुदाई वाली…मूवी?मैंने पूछा- तू देखता है क्या?वो बोला- और क्या…मेरे पास तो कई सारी हैं. उसने ये भी बताया कि सर्जरी कराके बहुत से मर्द औरत और औरत मर्द बन जाते हैं.

इंग्लैंड की सेक्सी वीडियो फिल्म

मेरी एक उंगली भाभी की योनि में ऐसे घुसी जैसे मक्खन में गर्म छुरी घुस गई हो. इस बात को लेकर दोनों में बहुत लड़ाई भी होने लगी और बात तलाक तक आ गयी. मैंने जीजू के लंड का मजा लेते हुए कहा- हां जीजा जी … ज़ोर से मारो हय साली की कुंवारी चुत को फाड़ डालो … आह उफ्फ आह …जीजा बोले- ले मेरी साली …वे ज़ोर ज़ोर से लंड के झटके लगाने लगे.

इतने में मैंने देखा कि एकता भाभी ने अपनी गांड उठा कर मुझे आंख मारी और मैं मुस्कुरा दिया. मेरा मन हुआ कि चूम लूं इसे! अबकी बार मैंने पूछा नहीं और लंड पर तीन चार चुम्मे दिए. नीता आंटी- चोदो ना मेरे राजा … मैं तेरी ही हूँ, तुम जितना चाहो उतना चोद सकते हो.

मैंने अपने होंठ उसकी चूत पे रख दिए, वो मेरा सर अपनी चूत पे दबाने लगी. सोनाली ने मुझे किस करते हुए मेरे और अपने दोनों के कपड़े खोले और पूरे बदन को किस किया. थोड़ा सब्र तो कर।” पूरा अंदर डालने के बाद रोहित उसकी पीठ से एकदम चिपक गया था।थोड़ी देर तक दोनों वैसे ही खड़े रहे, फिर आरजू एक हाथ पीछे कर के उसके नितम्ब को थपकते हुए बोली- सारा नशा तोड़ दिया तेरे लंड ने.

तब तक के लिए सोचते रहिये, कि क्या हुआ होगा! अपने इमेजिनेशन के घोड़े दौड़ाइए और मुझे[emailprotected]पर मेरी इस कहानी के बारे में अपनी राय भेजिए और मुझे बताइये कि आपके हिसाब से बड़े ने क्या कहा होगा![emailprotected]. मैं अपनी चूत की प्यास के आगे मजबूर हो गई और बोली- जल्दी से डाल दो … जल्दी चोदो … बहुत चुदास चढ़ गई है … ज्यादा तड़पाओ नहीं … अब मुझसे नहीं रहा जाता.

मैं अंकल के हाथ को बड़ी ताक़त से बुर के अन्दर ठेलवा रही थी, लेकिन केवल बीच वाली उंगली ही बुर में पूरा घुस नहीं रही थी.

वो बोली- मैं किसको पटाऊं, मेरी समझ में ही नहीं आ रहा है?मैंने कहा- तेरे साथ कोई लड़का नहीं पढ़ता. पिक्चर फुल सेक्सीफोन कट करके उसी मोबाइल से जल्दी से दो-तीन फोटो क्लिक की, वह भी मेरी चूत में उंगली डाले हुए … मैं तो पागल हो रही थी. जानवरों का सेक्स मूवीक्योंकि वहां कम लोग आते जाते थे और अगर कोई आता भी तो ठीक से सुन नहीं पाता. एक दूसरे को खिलाते थे, वो मुझे अपने मुँह का निवाला मेरे मुँह में डाल देता था और मैं अपने मुँह में पानी भर के उसके मुँह में डाल देती थी.

मेरे बेटे सोनू ने करीब चालीस मिनट तक मुझे चोद चोद के मेरी चूत का भोसड़ा बना के रख दिया.

उसके चूतड़ की गोलाइयों की दरार के बीच ऊंगली सरका कर उसकी मुलायम लज़्ज़तदार चूत को महसूस किया. मगर मेरे दिमाग़ में अभी भी उनका गिरा हुआ पल्लू और बाहर झाँकते दूध और निकली हुई गांड चल रही थी. मुझसे सब्र नहीं हो रहा था, मैंने नीरू से कहा- यार इसकी ब्रा पेंटी भी निकालो ना ताकि मैं इसकी छोटी सी बंद बुर का दीदार कर सकूं और उसको जीभ से चाट सकूं!नीरू ने कहा- जीजू सब्र रखो, सब्र का फल मीठा होता है.

हम लोग कुछ हेल्प कर दें?मैं कुछ नहीं बोली पर हिमांशु ने सीधे अपना हाथ मेरी चूत में रखा और उसे रगड़ने लगा. मुझे पिछले बहुत दिनों से लिखने का टाइम नहीं मिल रहा था, लेकिन आज मन किया कि एक सच्चा किस्सा आप सबको सुनाऊं. वो मुझे बस पागल किये जा रहा था, मैं बिन पानी की मछली की तरह तड़प रही थी.

सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म हिंदी मै

इस बार मैंने लंड को पकड़ कर उसकी फुद्दी पर लगाया और धक्का दे मारा, तो मेरा थोड़ा सा लंड अन्दर घुस गया. हमारी किस्मत तो देखिए कि इतना खराब निकली कि जो ट्रेन हमेशा सही समय पर आ जाती थी. मगर तभी मेरे दिमाग में आया कि उस समय दरवाजे पर जो आया था, कहीं वो सुलेखा भाभी तो नहीं थीं?नहीं … नहीं … सुलेखा भाभी कैसे हो सकती हैं? अगर वो सुलेखा भाभी होतीं, तो अभी तक‌ घर में हंगामा नहीं हो जाना था.

मेरे जैसे नये नवेले लेखकों के लिए आप सभी पाठकों के सुझाव ही प्रोत्साहन का काम करते हैं और हमारा हौसला बढ़ाते हैं.

रानी ने मेरे सोए हुए पप्पू को पकड़ लिया, उसकी ओर देखते हुए मासूमियत से बोली- ओए छोटू.

लेकिन उसने आंटी को ये नहीं बताया कि उसका दोस्त यानि कि मैं घर पर हूँ. मैं समझ नहीं पा रहा था कि माँ यहाँ सब्जी बनाने आई है या सब्जियों को देखने आई है. सेक्सी मूवी मद्रासीकुछ और दिन कोशिश की क्रीम लगा कर, तेल लगा कर… लेकिन उसके दर्द के आगे मैं हार जाता था क्योंकि मैं उसे चोट नहीं पहुंचाना चाहता था.

मैंने दोनों गिलास में दारू डाली और अपने गिलास में थोड़ा सा सोडा और थोड़ा पानी डाला. फिर वो बोली- मैं तुम्हारे लंड को अपने अंदर थोड़ी देर महसूस करना चाहती हूँ. यह मेरा खुद का आविष्कार है, मैंने इसके बारे में कहीं नहीं पढ़ा, न ही किसी ने मुझे बताया.

कभी वो अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल कर अच्छे से घुमाते हुए मजा ले रही थीं. उसने भी देरी ना करते हुए मेरे शर्ट के बटन खोल दिए और मेरी शर्ट को उतार कर मेरे सीने पर किस करने लगी.

जल्दी ही मेरा हाथ उनकी चिकनी टांगों से होता हुआ उनके नितम्बों पर जा लगा.

बस बेचैनी और इन्तजार इस बात का था कि कैसे भी जगह का जुगाड़ हो जाये तो मेरा लंड भी इस कामिनी की कुंवारी चूत का भोग लगा के तृप्त हो ले और मैं भी इसकी चूत के रस का पान करके धन्य हो जाऊं. मैंने अपना चेहरा उसकी चूत पर झुकाया और एक लम्बी साँस भर कर वहां की सुगंध ली. मैं जोर से घिसना शुरु कर दिया … मेरे लंड को और उसकी चूत को … एक जोर की सिसकारी उसके मुँह से निकली और एक हाथ से मेरे हाथ को अपनी चूत पर उसने दबा दिया.

नवीन सेक्सी वीडियो मैं उन आमों को अपने हाथों में पकड़ना चाहता था तो मैंने ज़ोर से नाइटी को खींच दिया, जिस कारण वो फट गयी. लेकिन मेरा फायदा क्या होगा?आंटी मेरी बात समझ गईं, प्यार सर मोड़ कर मेरी आंखों में देख कर कहा कि तुमको एक हजार रूपये दूंगी.

मगर खाला ने बताया था कि उसकी सभी जांचें हो चुकी थीं और सभी ठीक ठाक ही रही थीं। उसे किसी तरह की कोई बीमारी नहीं थी. तुम्हें अपनी बात याद है ना?अब मुझे चुदाई के समय कही हुई सभी बातें याद आने लगी थीं. तो उसने बोला- मुझे समझ में नहीं आया, तुम क्या बोल रहे हो?मैंने कहा- इससे ज्यादा मैं और क्या बताऊं?तो उसने कहा कि मुझे एक बार और देखना है.

सेक्सी सुहागन

ये कहानी मेरे और मेरे बॉस की वाइफ सुमन (नाम बदला हुआ) के बीच की है. जिस औरत ने भी मेरे लंड का स्वाद चखा था, उसने मुझे एक एक्स्ट्रा चुत जरूर दिलाई है क्योंकि मेरे लंड का लम्बा और मोटा होना ही उनकी चुत की खुजली को पूरी तरह से मिटाने में सक्षम होता था. मैंने पास रखी पानी की बॉटल से उस पर थोड़ा पानी डाला, तो वो होश में आई और रोने लगी.

उनकी चूत भी फूल गई थी और उसका आकार मुझको उसकी पेंटी के ऊपर से नज़र आ रहा था. नीरू तुरंत बोली- जीजी … है ना मेरी सहेली पायल … वह मुझसे स्कूल जाते वक्त सेक्सी बातें करती रहती है.

इस कहानी के पहले भागबुआ के प्रति भतीजे की वासना-1अब तक आपने पढ़ा कि जग मुझसे किसी बात पर नाराज हो गया था.

मैंने भी उनके होंठों को होंठों में डाल जवाबी वार किया और उनसे लिपट कर उनके होंठ चूसने लगी. अपनी कहानी शुरू करने से पहले मैं सबसे पहले अन्तर्वासना को धन्यवाद करना चाहूँगा जिन्होंने मेरी सेक्स कहानी को आप लोगों के पढ़ने लायक समझा और प्रकाशित किया. उसकी बात सुनकर मैं ऊपर को उठ कर आया और अपना 7 इंच का लंड बुर पे सैट कर दिया.

चाची- तू कितना उतावला है रे … दीदी को चोदने के लिए … साले तू चोद मुझे रहा है और तेरा ध्यान दीदी की चूत पर है. वो घबरा कर मेरी ओर देखने लगा!मैं नताशा की गांड में बदस्तूर धक्के लगाता हुआ बोला- मैंने तुम्हें मेरी पत्नि को चोदने की परमीशन दी है. अब मैंने उसकी ब्रा को निकाल कर एक तरफ फेंक दिया क्योंकि मैं यह चाहता था कि वह पूरे समय बिना कपड़ों के ही रहे.

अब इस पोज में लेटे होने के कारण मुझे आंटी की चूत मुझे साफ दिख रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी फिल्म: आज मैंने उससे कहा तो उसने कहा- आज तुम अपना लंड मेरी चुत में धीरे से अन्दर डालना. लेकिन वो वहां पर अपनी बाहों में लेकर बस इधर-उधर किस कर दिया करता था.

मैंने उस दिन मेरून रंग का बड़े गले का टॉप पहना था और बहुत ही टाईट जींस थी. फिर मैं उनको चूमते हुए थोड़ा ऊपर उनके पैरों की एड़ियों तक आ गया तो उनकी पायल बजने लगी. अब हम दोनों थोड़ी देर के लिए शान्त हो गए और एक दूसरे से खेलते हुए धीरे धीरे 69 पोजीशन में आ गए.

नीरू के मुंह से हल्की सी आवाज निकली- जीजू, यार मार डालोगे क्या?मैंने कहा- क्या हुआ?नीरू बोली- अरे जीजू 7 इंच लंबा लौड़ा एक झटके में अंदर डालोगे तो थोड़ा दर्द तो होता है!मैंने कहा- अरे साली छिनाल … कितनी बार इस लोड़े को लेकर मजा ले चुकी है, अब भी दर्द होता है?नीरू बोली- हां जीजू, जब 7 इंच लंबा लंड एक झटके में डालोगे तो थोड़ा सा दर्द तो अभी भी होता है!मेरा पूरा लंड नीरू की चूत के अंदर समा चुका था.

अब मैंने पैरों को फैला कर अंकल को अपने ऊपर लिटा कर लंड को बुर के पास रगड़ने लगी. मैं कुछ समझ पाता कि उसने मेरा लंड मुँह में भर लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. माइक का लिंग बीच में थोड़ा और मोटा था और जैसे ही वो हिस्सा मेरी योनि की छेद तक पहुंचा, मैं फिर से कराह उठी और पूरी ताकत से उसे रोक लिया.