बीएफ हिंदी दिखाएं

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो मां बेटा

तस्वीर का शीर्षक ,

भाई वीडियो बीएफ: बीएफ हिंदी दिखाएं, मैंने उनको आगे से थोड़ी नीचे होने को कहा, तो उसने वैसा ही किया … जिससे बुआ की गांड थोड़ी बाहर को उभर आयी और मेरे लिए थोड़ी आसानी भी हो गयी.

प्रेग्नेंसी का महीना

दूसरे दिन शाम के 5 बजे तक उसको मेरे घर के हर कोने में ले जाकर मैंने उसकी चुदाई की थी, उसकी चुत और गांड दोनों को पूरा खोल दिया था. विदेशी सेक्सी वीडियो हिंदीशायद उसने सोचा कि मकान मालकिन उसे देने आई होंगी … मगर जब वो देर तक बाहर नहीं आई, तो वो यहां रखकर चली गयी.

वापिस आई तो मैं खड़ा हो गया और मैंने आँटी को खड़े-खड़े ही अपनी बांहों में ले लिया. सट्टा किंग गली दिसावर कालेकिन तभी मेरी नज़र अचानक से दरवाजे के पास एक परछाई पड़ी।ऐसा लगा जैसे कोई हमें देख रहा है.

हॉट दीदी ने मेरी तरफ वासना भरी नजरों से देखा और कहा- क्यों सिगरेट पीने का मन क्यों करने लगा?मैंने उनकी तनी हुई चूचियों के देखते हुए कहा- बस अभी कुछ मूड हो गया है.बीएफ हिंदी दिखाएं: जब उससे रहा न गया तो बोली- चोद ले एक बार मुझे कमीने, बाद में जो करना है कर लेना.

मैंने गेट पर नॉक किया, तो वो बोली- अरे जीजू आप … अन्दर आ जाओ न!मैं- तुम मेरे कमरे में आई थी, कुछ काम था क्या!दीपिका- नहीं, मैं तो बस नाश्ते के लिए पूछने आई थी, पर आप तो कहीं और ही बिज़ी थे.मैं सोच रहा था कि मुझे बीच में लेटने के लिए मौका मिल गया है लेकिन इधर तो कहानी की ही मां चुद गई थी.

गांव की सेक्सी विडियो - बीएफ हिंदी दिखाएं

जिस औरत को माँ बनने में दिक्कत होती है उसे डॉक्टर 14 इंजेक्शन लगाने के लिए बोलते हैं.उसने बोला- आपका बहुत बहुत धन्यवाद। आपने मुझे इतनी रात को इतनी दूर लाकर मेरे घर छोड़ा.

मैंने उसका इंटरव्यू लिया और फिर उसका प्रैक्टिकल लेने के बहाने उसे अपने रूम में बुलवाया. बीएफ हिंदी दिखाएं जिसमें मैंने अनुभव किया कि जो हम सिर्फ सोच पाते हैं, उसे हक़ीक़त में नहीं बदल पाते हैं.

तभी प्राची बोल पड़ी- आज पहली बार इतना मजा आया है!मैं बोल पड़ा- अभी तो और मजे देने वाला काम बाकी है.

बीएफ हिंदी दिखाएं?

मेरा भी चरमोत्कर्ष अब करीब ही था, इसलिए मैं उन्हें वैसे ही पकड़े चोदता रहा और जोरो से लंड चुत में अन्दर बाहर करता रहा. उस रात दोनों सुबह 4 बजे तक एक दूसरे से बातें करते रहे; फिर अगले दिन उसी चैट रूम में मिलने का वादा किया और थक कर सो गए. मैंने सिगरेट बुझाते हुए कहा- सब साफ़ बता दो … शर्माओ मत, शायद मैं कुछ मदद कर सकूं.

उनको दर्द होने लगा, दर्द को कम करने के लिए मैं उनके मम्मों को दबाने लगा. भाभी- चूस साली … चूस बहन की लौड़ी … देख तेरे भाई से बड़ा और मोटा लण्ड है. मुझे चुत में थोड़ा दर्द हो रहा था, तो मैंने मां को पेट दर्द का बहाना बना दिया और सोने चली गई.

तुम भी उसकी प्यास नहीं बुझा पाओगे, तो और कौन प्यास बुझा पाएगा?मैं- पापा घर पर हैं यार और मम्मी भी आजकल कुछ करने नहीं दे रही हैं. मेरी भाभी से आंखें तो मिली थीं, पर रात को लेकर उनसे कोई बात ही नहीं हो सकी थी. स्नेहा- कैसा प्लान दीदू … उनकी चुदाई देखने का?नेहा- हां, तू तो जानती है, जैसे तेरे मेरे और चिराग के रूम के बीच ऊपर एक वेंटिलेशन है, ठीक वैसा ही सभी गेस्ट रूम के बीच में भी वेंटिलेशन है.

मेरी बात से वे हतप्रभ हो गए- अभी कितना?मैं- बस थोड़ी सी, जो प्रभात देता है … तुम भी दे दो. कुछ देर के बाद उसका कॉल आया और उसने सॉरी बोलते हुए कहा- थैंक्स यार, तुमने पब्लिक प्लेस में मुझे रोका.

मैं बहुत डर रहा था क्योंकि घरवाले सब सो रहे थे और कोई उठ गया तो रायता फ़ैल जाएगा.

चोदो … आह्ह … चोदो और जोर से … चोदो … मैं आने वाली हूं … आह्ह … करो … आह्ह … आह्ह … आह्ह।मैं- ले रण्डी और जोर से … तेरी चूत नहीं मक्खन है.

भाभी को थोड़ी देर दर्द हुआ … मगर बाद में भाभी का दर्द मजे में बदल गया और भाभी को भी मज़ा आने लगा. इतना बोल कर विराज ने पल्लवी का चेहरा पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर एक लम्बा किस कर दिया और ‘लव यू पल्ली. मोना भाभी और भी जोर से खुल कर सिसकारियां लेने लगीं- ऊऊहह ऊह्ह!कुछ ही देर में भाभी काफी गर्म हो चुकी थीं.

आपकी सोनिया वर्मा[emailprotected]कॉलेज स्टूडेंट्स लव लाइफ स्टोरी का अगला भाग:लंड चुत गांड चुदाई का रसिया परिवार- 14. कई महीनों तक मैं बस धक्के खाता रहा और अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से नौकरी के लिए कहता रहा, लेकिन कहीं भी मुझको नौकरी नहीं मिली. उन्होंने जैसे ही मुझे देखा तो गुस्से से दूसरी तरफ मुँह करके खड़ी हो गईं.

उनके हाथ शिथिल से पड़ गए थे और उनके मुँह से सिर्फ ‘हूँ-हूँ …’ की आवाज़ ही आ रही थी.

एकदम से मैं एक कदम पीछे सरक गयी क्योंकि उसके पसीने की बदबू से मुझे उल्टी होने को हो गयी थी।मैं यहां वहां बगलों में देखने लगी ताकि उसकी पसीने की बदबू से खुद को ज्यादा से ज्यादा बचा सकूं. जब उसकी आवाज नहीं निकली तो मैं समझा कि इसको दर्द नहीं हुआ और ये लंड खा गई. वैसे तो मैंने शायरा को उस रात भी‌ किस किया था … पर उस रात किस करके जो फील हुआ था, उससे कहीं ज़्यादा स्वीट था ये किस.

मैम अब पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं, उन्होंने अपनी स्कर्ट उतार दी और मेरे भी सारे कपड़े उतार दिये. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने अपने कपड़े निकाल दिये और उसके हथफूल भी!मैं उसका लहंगा उतारकर 69 की पोजीशन में आ गया!ज़ारा ने झट से लंड को मुंह में भर लिया और मैंने चूत को!मैं उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा और वो मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. मैंने उसे तुरंत बांहों में भर लिया और उसके होंठ को लंबी किस करने लगा.

अपने लंड की रगड़ से मेरी खाज दूर कर दो … ओ माई गॉड चोदो … और ज़ोर-ज़ोर से चोदो मुझे.

उनके झड़ने पर इतना पानी निकला कि वो मेरी जांघों से होता हुआ बिस्तर तक आ गया. फिर शाम को मैं और मॉम किचन में डिनर की तैयारी कर रहे थे कि चाची वहां बाबू को लिए हुए आईं.

बीएफ हिंदी दिखाएं गाड़ी का गेट खुल गया, मैं गाड़ी के नजदीक गया तो गाड़ी में एक बहुत ही सुंदर लड़की बैठी थी, जो गाड़ी चला रही थी. प्रकाश भी घूमने नहीं जा पाया और न ही अनीता ऊपर जा सकी।अनीता को मन में ग्लानि भी हो रही थी कि प्रकाश इतना प्यार करता है उससे, फिर उसने ऐसा क्यों किया!उसने रात को प्रकाश को भरपूर प्यार दिया।मगर कल रात सेक्स के दौरान प्रकाश ने उससे कहा कि क्यों न एक बार किसी कपल से स्वैपिंग की जाये?वो गंभीर होकर ये बात कर रहा था.

बीएफ हिंदी दिखाएं मैंने जैसे तैसे खुद को संभाला और उन दोनों के लिए बिस्तर में जगह बना दी. बीस मिनट की ठुकाई के बाद चुत में कुछ गर्म गर्म फुआरा सा छूटा, जिससे चुत की खुशी का ठिकाना ना था.

जब मैं किसी और मेरे साथ होऊं और उस समय तुम मेरे सामने नंगे आए … तो नहीं चलेगा.

बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म बीएफ फिल्म बीएफ

उसे छोटे कपड़े पहनना काफ़ी पसंद है और ज़्यादातर वो टी-शर्ट और शॉर्ट्स में ही रहती है. इस बार मेरी बहन रीना की चूत फट गयी और अमन का आधा लंड चूत में घुस गया था. फिर उसने मुझको एक कंडोम दिया और बोला- चल भोसड़ी के गांडू … मेरे लौड़े पर इस कंडोम को चढ़ा.

फिर जब वह किचन में खाना बनाने गई तो मैंने उसके मोबाइल की रिकॉर्डिंग में सुना कि मीटिंग रॉयल रिसोर्ट में थी. तो मैंने कहा- मुट्ठी मारने की क्या जरूरत थी मुझे आवाज लगा देते; मैं आ जाती. मालिश करते समय बीच बीच में उसके दोनों निप्पलों को भी बारी बारी से काट रहा था.

वो बोली- इरादा क्या है?मैंने लम्बी सांस लेते हुए कहा- इरादा तो बहुत कुछ है, लेकिन मैं कुछ भी ऐसा नहीं कर सकता, जिससे आप नाराज़ हो जाओ.

नेहा ने हंसते हुए कहा- देख जैसे अभी तेरी जो चूत है … वो बुर या चूत है वर्जिन कुंवारी सील पैक … और मेरे जैसी चुदी चुदाई चूत को भोसड़ी कहते हैं. पूनम बुआ ने मेरे को वो सुख दिया था, जो कोई और आज तक नहीं दे सकी थी. क्योंकि मैंने शायरा के चेहरे को अपनी तरफ भी किया, तो उसने अपनी आंखें बंद कर लीं.

भाभी टैब में मेरे अनहाइड वीडियो देख रही थीं, जो मुझे टैब को ऑन करके पता चल गया था. वहां देखा तो उनके बेटे ने बताया कि मैकेनिक बुलाए थे, वे कह रहे थे वर्कशॉप पर ले जाना पड़ेगा. पापा बोले- तू पागल हो गया क्या?मैंने कहा- पापा, एक बार देख लेने दो बड़ा मजा आएगा.

भाभी- तो फिर पहले मुझे चोदोगे या पायल को?मैं- जैसे आपकी मर्जी।भाभी- ठीक है, कल बताते हैं. अब मैं भी अपनी गांड को उठा उठा कर उसका साथ दे रहा था।तभी उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला और मुझे घोड़ी बनने को कहा.

दो घंटे बाद उसको अपने घर जाना था तो वो बोली- अब मैं चलूं?मैंने बोला- तू वैसे भी यहां रुकने वाली थी न … तो रुक जा. [emailprotected]लड़की की कामवासना स्टोरी का अगला भाग:गेस्ट हाउस की मालकिन- 2. उसके बाद मैंने चाची के पेटीकोट को उतारा और अंदाजे से जहां पर चाची के चूत और चूतड़ लगते थे उस जगह को अपने लंड से रगड़ा.

फिर उसने मेरी टांगों को अपने कंधे पर ले लीं और खुद मेरी टांगों के बीच में आ गया.

अब मैं उसको किसी और नजर से देख रही थी और उसको अपनी तरफ आकर्षित करना चाहती थी. मम्मी- चल छोड़, बेकार की बातें मत कर!और यह कह कर मेरी मम्मी वहाँ से जाने लगी. भाभी- ठीक है … और अब बिना कपड़े के सोओगे … तो भी कोई प्रॉब्लम नहीं है.

इतने में बस का दूसरा स्टाप आ गया था और बस में और ज्यादा भीड़ हो गई थी. उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और होंठों को चूसने लगी।अब उसके बेटे के आने का टाइम हो गया.

जयपुर टूर से पहले मैंने अपनी उस प्रोफाइल पर स्टेटस डाला कि मैं दो दिन के लिए जयपुर में ठहरूंगा, किसी को मस्ती चाहिए तो हाजिर हूं. कुछ पल बाद मैं उनके पीछे आ गया और मेरा ध्यान बस मोना भाभी के हुस्न को प्यार करने का था. उसने मेरे पैर दबाने के साथ मुझे थोड़ा छेड़ा और मेरे लंड तक अपने हाथ को लगाया.

बीएफ हिंदी लड़कियों की

दस बारह शॉट में भाभी का दर्द मजे में बदल चुका था और भाभी गर्म आहें भर रही थीं- आह … शुभ … आहह मजा आ रहा है.

पांच मिनट बाद मैं पापा से अलग हो गई और फटाफट अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई. उसने अपना एक हाथ पीछे लेते हुए मानस के बाल खींचे और उसका मुँह और अन्दर अपनी गांड में दबाने लगी. वो हॉट लेडी सेक्स कहानी इस प्रकार से थी, आप भी सुनें:हमारा परिवार एक तीन बेडरूम के घर में रहता था.

उसने भी मुझे मेरा लंड दिखाने के लिए बोला, जब मैंने अपना लंड दिखाया तो मेरे लंड को देखकर उसकी आंखें चमक उठीं. कुछ समय बाद मयंक का मेरे पास फोन आया- भाई तेरी बहुत ज्यादा याद आ रही है. इंडियन सेक्स मूवीसमैंने कहा- रात को मेरे दरवाजे को ग्रीन सिग्नल मिलने लगेगा, जो सुबह के बाद रेड हो जाएगा.

फिर धीरे धीरे मैं उसकी गर्दन को चाटते हुए काटते हुए उभारों तक आया और उसके गुलाबी निप्पल को अपने दांतों के बीच लेकर जोर से भींच लिया और खींचने लगा. मेरी प्यासी चुत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोसी के लंड से चुदने के लिए योग, व्यायाम करने का बहाना किया.

इस पर चाची आंख दबाते हुए बोलीं- मार लिए … जी करता हो त … तेरा चाचा भी म्हारी गांड मारा करता सै. शर्मा जी ने पूछा- काम हो गया?मैंने अपने पर्स से 50000 निकाले और शर्मा जी को दे दिए. मैंने भी अपना पूरा मुंह खोल कर पूरी सपाट गोरी फूली हुई चूत को अपने मुंह में भरने की कोशिश की.

उसने बाथरूम के ऊपर बनी एक बड़ी सी टांण पर एक गद्दा रज़ाई डाल रखे थे और चढ़ने के लिए सीढ़ी लगा रखी थी. चाची- शर्मा क्यों रहे हो, बताओ न!मैं- हां एक है, जिसे मैं बहुत चाहता हूँ. फिर वो धीरे से मुस्कराई और उसने मेरे पास आकर मेरी गर्दन में हाथ डाला और मुझे सिर से पकड़ कर होंठों पर किस करने लगी.

उसके मस्त मम्मों को मैंने दबाया और चूसा सच में अपनी साली कुंवारी चुत चोदने में मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

फिर हम बाथरूम में साथ नहाने लगे।दोनों ने एक दूसरे को साबुन से साफ किया। फिर हम दोनों रूम में आ गए. लेकिन उस बस की भीड़ देखकर मेरी हिम्मत ना हो पाई तो मैं वहीं पर रुक गई.

मेरी पिछली कहानीविधवा की प्यासी चूतपढ़ कर जितने भी लोगों ने मुझे मेल किए थे, उन सबका बहुत बहुत धन्यवाद. मैं बोला- आप यहां मेरे दोस्त के पिताजी हैं, मेरे आदरणीय हैं … बैठिए. आज वो गजब की सुंदर लग रही थी; मैंने कहा- आज तो आप बहुत सेक्सी लग रही हो.

मानस को जैसे ही पता चला कि सोनम की चुत का पानी उसके लौड़े को नहला चुका है, उसने तुरंत अपना लंड सोनम की गीली चुत से निकाला और अपनी अंडरवियर से पौंछ कर सोनम को कुतिया की तरह झुकने को बोला. शायरा के रस को पीकर मैं उसको अपना प्यार दे रहा था और मेरे होंठों को चूसकर शायरा मुझे अपना प्यार दे रही थी. मेरी मोटी गांड उसके लंड से सटी थी लेकिन समीर एक इंच भी पीछे नहीं हटा।जब सब सामान लेकर हम दोनों मंडी से बाहर निकलने लगे तो वो गली एकदम पतली सी थी और उसमें खूब भीड़ थी.

बीएफ हिंदी दिखाएं उसने धीरे-धीरे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया।मेरी एक टांग उसके कंधे पर थी और दूसरी बिस्तर पर!कुछ देर बाद मुझे मजा आने लगा. उसके नीचे सपाट चिकना पेट और पेट पर ही छोटी, किंतु गहरी नाभि … और उसके ठीक नीचे सेक्सी, सुंदर, प्यारी सी बिना बालों वाली चिकनी चूत, जिसमें से बाहर को निकला हुआ दाना चुत की छटा को चार चांद लगा रही थी.

आर्केस्ट्रा बीएफ वीडियो

ऐसा लगता था कि अभी चाची के मम्मों को मुँह में भरकर इनका सारा दूध निचोड़ लूं और अपना लंड चाची के दोनों मम्मों के बीच में घुसाकर आगे पीछे करके रस झाड़ लूं. घर पर जब यह बात पता चली तो रेणु का चेहरा उतर सा गया और उसने अपना मुँह बना लिया. वो दोनों मुझसे चूत चाटने की कहने लगीं, तो मैं बारी बारी से तीनों की चुत को चाटने लगा.

रोज नये नये लंड … और उनका पानी पीकर मेरा चेहरे की चमक देखते ही बन रही थी. कैसे?आपने दिनाँक 4 जनवरी 2021 को प्रकाशित मेरी कहानीकोटा में कोचिंग और चुदाई साथ साथपढ़ी और उसे काफ़ी पसन्द किया, इसके लिए मैं आपका आभारी हूँ. सपने में जमीन खरीदनास्तनों में दूध ज्यादा होने के कारण वो निप्पलों से रिसता रहता है और उसके टी-शर्ट के ऊपर निप्पलों के पास धब्बे बना देता है.

प्रिया के पति के बारे में सोचने लगी कि कैसे वो मेरी नर्म कोमल गांड पर चपेट मारकर मुझे चोदने की तैयारी कर रहा है.

मैं भी उस रात की घटना को महज ठंड से बचने के लिए किए उपाय समझ कर नार्मल जिंदगी बिताने लगी. अब पूरे रूम में मेरी गांड और अंकल की जांघों के टकराने की थप थप की आवाजें गूंज रही थीं.

वैसे तो मेरे जीवन में बहुत घटनाएं हुई हैं जिन्हें मैं आप लोगों को एक एक करके बताता रहूँगा. मैंने भी हाथ से लंड को ठीक से सैट किया और अगला पैग बना कर दारू पीते हुए उन चारों की चुदाई का आनन्द लेने लगा. दीदी की चूचियां इतनी बड़ी थीं कि वो गहरे गले की कुर्ती से बाहर आ रही थीं.

मेरी पीने की आदत के बारे में तो गार्ड पहले से ही जानता था, लेकिन अलवीना को देख कर उसके मन में भी मस्ती जाग गई.

उसका कारण ये था कि मेरी पत्नी अकसर बीमार रहती थी, तो उसके साथ सेक्स कभी कभार ही कर पाता था. मैंने कमरे में झांक कर देखा तो सच में निखिल और नेहा का रोमांस अपने चरम पर था. चार घंटे बाद हम दोनों वापस आए, पर इन 4 घंटों में मैं केवल यही सोचता रहा था कि अगली बार मैं फिर से कहीं जल्दी न झड़ जाऊं तो न जाने क्या होगा.

जंगली जानवरों की सेक्स वीडियोअब तो तू खुश होगा आखिरकार तुझे तेरे घर की दूसरी चुत भी चोदने के लिए मिल जाएगी. दोनों कपड़े पहनने के बाद फ़लक शीशे के सामने खड़ी हो कर अपने आपको निहारने लगी.

पंजाबी बीएफ भेजें

मैंने उससे पूछा- तुम कब आए?वह बोला- आप किवाड़ लगाना भूल गए थे … यह तो अच्छा हुआ कि मैं आ गया. भाभी बहुत ज्यादा शर्मीले स्वाभाव की हैं … शायद इसलिए नहीं बोल पा रही थीं कि मैं आपकी भाभी हूँ बीवी नहीं. मुझे साड़ी की वजह से चुत सहलाने में दिक्कत हो रही थी इसलिए मैंने साड़ी हटाते हुए पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया.

मैंने देखा कि आगे सीट पर दो बुजुर्ग लोग बैठे हुए थे जो नींद में थे. ज़ारा- आ, आ, आ, आ!ये देखकर मैंने उसकी कमर को पकड़कर रोका तो वो झुककर किस करने लगी. एक दिन मेरी बीवी ने मुझे बताया कि उसके बॉस की एक डील फाइनल होने वाली है और विदेश से कुछ लोग मीटिंग के लिए आने वाले हैं.

तब कविता ने कहा कि मेरे लिए एक सीखी-सिखाई साथी को उसने छोड़ रखा है।उसका संकेत समझने में जरा भी देरी नहीं हुई मुझे. किचन में खाना बनाते वक़्त अपनी साड़ी का पल्लू गिराकर या खिसका कर अपने उन्नत 34 साइज़ के उभारों को दिखाना और पीछे मुड़ कर अपने नितम्बों के दर्शन करवाना रेणु की आदत सी बन गयी थी. मैं समझ गया कि इसका पति भी मेरे जैसा खिलाड़ी है और इसे जमकर चोदता है.

फिर दिन में अनीता ने भरपूर नींद ली। उसे मालूम था कि आज रात को मसाज का केवल बहाना ही है, रमण उसे चोदे बिना नहीं छोड़ेगा. उस समय मैंने पापा को मम्मी की चुदाई करते हुए अपनी आंखों से देखा था.

उनके साथ मोहल्ले की अनीशा, गुलनाज, परिणीति, अलीशा, शहनाज़, बिलौरी, चित्रांगदा, फातिमा, सनाया और भी कई परियां शामिल रही थीं.

मैं देखना चाहती थी कि अमन की नज़र उस नकली चूत पर जाती है या नहीं।वो कमीना मेरी इंटरनेट ब्राउजिंग की सारी खोज को चेक कर रहा था कि मैं क्या देखती हूं इसमें!फिर उसकी नजर उस रबर की चूत पर चली ही गयी. इंग्लिश मे सेक्सीप्रीति हमेशा यही कहती कि तुम दोनों मुझसे हर महीने अपने लिए तनख्वाह ले लिया करो लेकिन मैं तुमको मेरे ही घर में नौकरी करते हुए नहीं देख सकती हूँ. सैंया जी दिलवा मांगे रेजब मैंने उसे बताया कि मैं अभी भी कुंवारा हूं, मैंने अभी तक सेक्स नहीं किया. धीरे-धीरे उसे बातचीत खुल कर होने लगी और कुछ दिन बाद मैंने उससे अपने प्यार का इजहार कर दिया.

जब अफसर साहब आए तो उनके बच्चों व घर के नौकरों ने हमारे पराक्रम की नमक मिर्च लगा कर साहब से चर्चा की.

मैंने अपनी गोद में भाभी को उठा लिया और नीचे उनके बेडरूम में लाकर लाकर बेड पर पटक दिया. जब हम खाना खाने लगे तो मैंने पूछा- तुम्हारी बात हो गयी क्या तुम्हारे बॉस से?वो बोली- हां, सारी बात हो गयी. मैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी पिछली कहानीकॉलेज की लड़की की पहली चुदाईपसंद आई होगी.

मैंने उसकी चूत पर हाथ लगाया और उसके लोअर के ऊपर से थोड़ा थोड़ा फेरना चालू कर दिया. आज भी जो पूर्व में मेरे साथ हो चुका था, वही इस सेक्स कहानी में लिखा हुआ है. हाहाहा … पर दीदू एक बात समझ नहीं आ रही है?नेहा- कौन सी बात?स्नेहा अपनी बहन नेहा के मम्मों को अपने हाथों से सहलाते हुए बोली- आप हमेशा इतना डीप क्लीवेज शो क्यों करती हो?नेहा- यार स्नेहा, आज कल तेरे जीजू मुझ पर ज्यादा ध्यान नहीं देते … इसलिए ये सब करती हूं.

बीएफ दिखाइए वीडियो में हिंदी

ज्योति, जो बैग में से अपने कपड़े निकाल रही थी, पलट कर देखते हुए सीटी बजाकर बोली- क्या बात है जानेमन, ये बिजली किस पर गिराने का इरादा है?उसने पीछे से आकर स्नेहा को बांहों में भर लिया और उसके गाल पर किस करते हुए मस्ती करने लगी- क्या बात है यार … तेरे आम तो दिन पर दिन बड़े होते जा रहे हैं, आज कल किससे दबवा रही है?ये कहते हुए ज्योति ने स्नेहा की रसभरी चूचियों पर अपने हाथ रख दिए. मैं उसी वक्त मेडिकल स्टोर गया और भाभी की चुत चुदाई के लिए कंडोम के दो पैकेट ले आया. इतना कहते हुए उन्होंने मेरा सिर पकड़ लिया और दूसरे हाथ से अपनी दूसरी चूची मेरे मुँह के सामने कर दी.

पर जैसे जैसे हमारी बातचीत बढ़ने लगी थी वह खुल कर बात करने लगी थी।कुछ नॉर्मल चैट और सेक्स चैट के बाद मैं उस पर भी सेक्स स्टोरीज लिखने लगा था।शुरू में कहानियाँ पढ़ कर वह बहुत शरमाती थी, उसमें लिखे लंड, चूत, चूची ऐसे शब्दों पर उसे आपत्ति होती थी.

जो भी मुझे एक बार देख लेता है, तो बस देखता ही रह जाता है।मेरे पति ठेकेदार हैं और मेरे दो बेटे हैं जिनकी हमने जल्दी शादी कर दी थी और वो दोनों बाहर देश में रहते हैं.

मेरी मोटी गांड उसके लंड से सटी थी लेकिन समीर एक इंच भी पीछे नहीं हटा।जब सब सामान लेकर हम दोनों मंडी से बाहर निकलने लगे तो वो गली एकदम पतली सी थी और उसमें खूब भीड़ थी. कहानी के दूसरे भागदोस्त की भतीजी की सील पैक चूत मिली- 2में आपने पढ़ा था शगुफ्ता से मेरी मुलाकात हुई तो वो झिझक रही थी. कैमरा दिखाओऔर तभी मानस का दूसरा हाथ सोनम की गांड के दूसरे हिस्से पर जा टकराया.

मैं- लंड की वजह से या हाथ की वजह से?बुआ- तुम ये पागलों वाले सवाल बहुत करते हो. उससे मन नहीं भरा तो वो मेरी चूत को उंगलियों से खोलकर अपनी जीभ अंदर डालने लगे और अपनी जीभ से मेरी चूत को चोदने लगे. पूनम बुआ ने मेरे को वो सुख दिया था, जो कोई और आज तक नहीं दे सकी थी.

मैडम का आर्डर मिलते ही मानस ने अपनी पैंट, जो उसके पैरों में अटकी थी उसे और अपना अंडरवियर को उतार कर बाजू में रख दिया. मैं सुबह देरी से उठा तो मैंने देखा कि मामी मेरे कमरे में झाड़ू लगा रही थीं.

मेरा लंड भी प्यार मिलते ही अपना आकार बदलने लगा और देखते ही देखते वो निर्मला जी की चूत हासिल करने के लिए तैयार हो गया.

पर तुझे चुदाई की इतनी नॉलेज कैसे है कि लंड चूसा जाता है और चूत चाटी जाती है?ज्योति, स्नेहा को छोड़ कर अपने कपड़े बदलती हुई बोली- अरे यार, इतना तो आजकल के झांट झांट से बच्चों को भी पता है, जो अभी अंगूठा चूसते हैं. मेज पर एक क्रीम की शीशी रखी थी, उसे खोल कर उंगलियों में क्रीम लेकर मेरी गांड पर मलने लगे. नेट की ब्रा में से दीदी की चूचियों के आधे से अधिक दर्शन भी हो रहे थे.

अमेरिकन सेक्स डॉट कॉम हल्के से कसे हुए आलिंगन के साथ उसकी पीठ पर पीछे से अपनी हथेलियों से धीरे-धीरे हाथ घुमाने लगा।मैं उसके कान में बोला- तुम बस इस पल में अपने आप को रखो और ज्यादा मत सोचो. मैं टेबल पर खड़ी हो गई।वो बोले- सारे कपड़े उतारो।मैं चुपचाप सारे कपड़े उतारने लगी.

तेज़ हवा और बारिश से मौसम ठंडा हो गया था और भीग जाने से कपड़े गीले हो गए थे, इससे हम तीनों को ठंड लगने लगी. लगभग दस मिनट के बाद धक्के के बाद भाभी जी होश में आईं और अपना मुँह खोल कर मुझे किस करने लगीं. मैं आपको श्वेता के बारे में बता दूं कि वो 35 साल की दुबली पतली महिला है.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो

फिर थोड़ी देर बाद निखिल मुझे वहां पड़ी चारपाई में ले जाकर लिटा दिया और वो मेरे ऊपर छा गया. एक के बाद एक 3-4 बार हमारी मुलाकात हो चुकी थी मगर अभी तक सब कुछ सिर्फ बातों तक सीमित था. मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए और मुझे मेरी इस देसी सेक्स कहानी के लिए अपने मेल जरूर लिखिए.

पता नहीं ऐसे क्यों कांप रहे थे शायरा के होंठ … मेरे होंठों से मिलने के लिए या मेरे होंठ उसे ना छुए इसलिए?ये तो मुझे नहीं पता था … मगर फिर भी मैं अब उसके होंठों की तरफ अपने होंठ ले जाने लगा. मैंने पूछा- क्यों तेरे पति ने ये कभी नहीं किया क्या?वो बोली- उस कमीने का नाम मत लो यार … साले ने ये अहसास कभी दिया ही नहीं.

मैंने आँटी से पूछा- इस वक्त यहाँ कैसे?आँटी बोली- अंदर आने दो, बताती हूँ.

अगले दिन सर ने मुझे कॉल किया और हमने थोड़ी हवस भरी बातें की और हम गाड़ी से कंपनी चले गए. मेरी पिछली कहानी थी:दोस्त की बीवी चोदने गया पर किसी और को चोद आयाजिस कंपनी में मैं काम करता हूं वहां पर मेरे सुपरवाइजर से मेरी अच्छी बनती थी. दोस्तो, एक बार फिर से मैं आप अभी के सामने एक नई बिग बूब्स स्टोरी के साथ हाज़िर हूँ.

पापा मम्मी के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूस रहे थे और मम्मी की चूत में उंगली कर रहे थे. मैं समझ गया और मैंने अपना लंड बाहर निकालकर दीदी के सामने लहराने लगा. पांच मिनट बाद मैं पापा से अलग हो गई और फटाफट अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई.

मैं उसे उठाने लगा, पहले तो मैंने उसका हाथ पकड़ा और उठाया, पर उसके पैर में मोच आ गयी थी … तो वो ठीक से चल ही नहीं पा रही थी.

बीएफ हिंदी दिखाएं: मुझे ज़रा भी होश नहीं था कि कामोत्तेजना में मैं खुद ही अपनी योनि का रस चूस रही थी।ऐसी हालत तो किसी मर्द के लिए भी नहीं हुई थी मेरी!अब मुझे समझ आ रहा था कि कविता एक अनुभवी खिलाड़ी रही होगी. हम दोनों एक ही कमरे में सोते थे तो रात को अक्सर बियर और सिगरेट का मजा लेना शुरू हो गया था.

भाभी जी- ठीक है, मैं तुम्हारे हाथ पीछे से खोल कर आगे से बांध देती हूं, जिससे तुम्हें लेटने में दिक्कत ना हो. इस बार मेरी बहन रीना की चूत फट गयी और अमन का आधा लंड चूत में घुस गया था. उसी लम्बे मोटे लंड से आज मैंने अपनी मकान मालकिन को चोद कर संतुष्ट कर दिया था.

वो भी मेरे जिस्म की महक में खो गए और बोले- भाभी आज तो आपकी चटनी बना कर ही दम लूंगा.

यह सुनते ही मैंने पूरा जोरदार शॉट उनकी चुत में दे मारा, जिससे मेरा लंड मामी की चुत को चीरता हुआ पूरा उनके अन्दर चला गया. मैं उसके कंधे से हाथ डाल कर उसकी दूसरी तरफ के कंधे पर अपना हाथ फेरने लगा. मैंने भी अपना हाथ उसके लंड पर लगाया, उसका लंड एकदम कठोर हो चुका था.