बीएफ सेक्सी गांव देहाती

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म 18 साल

तस्वीर का शीर्षक ,

डबल शॉट सेक्सी: बीएफ सेक्सी गांव देहाती, फिर मैंने दोनों को अपने आगे बैठा दिया और अपना लंड पिंकी के मुँह में घुसा कर अपना बीज गिराने लगा.

सेक्सी पिक्चर नंगी देखने के लिए

वो मोटी होने की वजह से ज़्यादा स्पीड से नहीं कर पा रही थी, तो मैंने उसको घोड़ी बनाया और चुत में पेलने लगा. सेक्सी क्राइम रिपोर्टतभी मुझे ऐसा लगा कि मौसी का सर हिलने लगा है, मैंने एक बार देखा तो समझ गई कि मौसी ने मौसा का लंड अपने मुख में ले रखा है और धीरे धीरे उसे चूस रही थी.

उसने बाजू में रखी पानी की बॉटल उठाई और खोली… फिर धीरे से वो अपने स्तनों के ऊपर पानी डालने लगी और मेरा मुँह अपनी चूचियों से लगा दिया. नहाते हुए लड़कियों का वीडियोऔर काफी दिन हो गए थे चाची की चूत मारे हुए भी तो कब तक मुट्ठी मार के काम चलाता यार!वो मेरी बहन थी इसलिए ये काम थोड़ा मुश्किल था!लेकिन अगर शिद्दत से चाहो तो हर काम आसान हो जाता है.

उसने अपने हाथ पीछे करके मुझे रोकते हुए कहा- जानू ये तुम्हारे लिए गन्दा है.बीएफ सेक्सी गांव देहाती: फिर मैंने उनकी पैन्टी को उतार दिया और उन्होंने मेरी अंडरवियर को उतार के फेंक दिया.

तो बात इस साल जनवरी की है जब मैं दिल्ली अपने किसी काम से गया तो भाभी के कहने से मैं कविता के फ्लैट पर रुक गया.बहूरानी की चूत से जैसे रस का झरना बह रहा था, मैंने लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

आयशा टाकिया सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी गांव देहाती

उसने घबराई हुई आवाज में पूछा- तुम कौन हो?मैंने कहा- तुम्हारे साथ ही सफ़र कर रहा हूँ.एक हाथ से मेरे लंड को ऊपर से ही सहला रही थी और दूसरे हाथ मेरी पीठ पर घूम रहे थे.

तो मैंने तेज़ धक्के देने शुरू कर दिए उसका हुआ तो वो मुझसे कस कर चिपक गई और मैं रुक गया. बीएफ सेक्सी गांव देहाती तभी थोड़ी देर में ही मॉम ने नहाते हुए ही दरवाज़ा खोला और वाइपर से बाथरूम के अन्दर पानी खींचने लगीं, जिससे कमरे में पानी ना आ जाए.

मैंने आगे बढ़ते हुए उसकी जींस की चैन खोल कर पेंटी के ऊपर से उसकी चुत सहलाने लगा.

बीएफ सेक्सी गांव देहाती?

मेरे हाथ एक एक नीचे सरक गये और मैं अपनी चुत को सहलाने लगी जो गीली और चिपचिपी हो चली थी. एक बार तो मुझे लगा कि अगर मेरी झांटें साफ़ होती तो मुझे आज ज्यादा मजा मिलता. उन्होंने एक एक करके दोनों छेद दिखाए जिसमें ऊपर वाला छेद मूतने के लिए बताया कि इस वाले छेद से मूत निकलता है और नीचे वाले छेद में लंड घुसेड़ा जाता है.

फिर बोली- धत बदमाश!मेरे ज़ोर देने पर उसने शरमाते हुए मुझे बता दिया कि जब मैं सो रहा था, तब देखा. मैंने देखा मेरे सामने को कार पार्क की हुई थी उसका पीछे का टायर पंक्चर था. अपने विचार मुझे मेल करें कि आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है![emailprotected]एडल्ट कहानी का अगला भाग :बस के सफर से बिस्तर तक-3.

इधर काजल की बाँहों में पड़े पड़े थोड़ा सा आराम करने के बाद रमेश का लंड फिर से चुदाई के लिए तैयार हो गया. मेरा लंड फिर से तैयार हो गया, मैंने उससे उसकी गांड मारने को बोला तो वो मना करने लगी. वो आँखें बंध कर मेरा सर दबाने लगी- आह आनन्द, पूरी रात तो चूत को चाटा अब भी जी नहीं भर रहा, आह…फिर मैंने खड़ा होकर अपना लिंग उसकी चूत में पीछे से पेल दिया और जैसे ही एक धक्का लगाया कि उसे पता चल गया कि मैं हूँ.

उसने मुझसे मेरा व्हाट्सऐप नंबर देने के लिए अनुरोध किया तो मैंने उसे अपना मोबाइल नम्बर दे दिया. एक दिन की बात है कि कॉलेज में छुट्टी थी और इस छुट्टी में दिव्या भी घर नहीं गई थी.

पहले तो उसने मना किया, जब मैंने कहा कि अभी तो तुम कह रही थीं कि मेरी बारी.

उसने मुझे बैठने के लिए बोला और बोली- मैं अभी अपने कपड़े बदल कर आती हूँ.

मेरा लंड बार बार उसकी गांड को छू रहा था और शायद अब उसे भी इस बात का अहसास हो गया था. फिर मैंने उसकी चूत को देखा, जिस पर छोटे छोटे बाल उगे थे, उसे चाटना चालू किया. मैंने नोट उठाकर देखा तो उस पर उनका मोबाइल नंबर लिखा था और लिखा था ‘कॉल मी.

लेकिन मैंने उसे कस कर पकड़ लिया था अन्यथा वो मुझ से छूट जाती और वो मुझसे कभी नहीं चुदती. मैंने जोर से धक्का मारा तो अमित दूर होकर खड़ा हो गया और मुझे फटी निगाहों से ऐसे देखने लगा कि कोहिनूर हीरा देख लिया हो. अब हमें होश आया तो जल्दी से कपड़े पहने और उसके बाद हमने मेज को साफ़ किया.

और वो साला दर्जी मेरी नयी माँ के मम्में घूर रहा था, उन्हें छू रहा था.

उन्होंने मेरा लंड फ़िर से चूस कर नेक्स्ट राउंड के लिए खड़ा कर दिया और मैंने उन्हें फ़िर से इशारे से कहा- लेट जाओ. कॉफी पीते हुए मैंने माला को अपने गोदी में बिठाया तो उसने मुझे उसके कप वाली कॉफी पिलाना शुरू किया. उसे तुम्हें सहन करना होगा, तुम्हारा वो दर्द ही आगे जाकर तुम्हारा मजा बन जाएगा.

इसके बाद हमने दो दो पैग और लगाए और अबकी बार मैंने उसके उरोजों पर हमला बोल दिया. मैंने लंड को तेज़ी से चूत में पेलना जारी रखा और साथ ही नीचे होकर बूब्स को हाथों से मसलने और चूसने लगा, दीदी के हाथ भी अब बेडशीट से हटा कर मेरे सर पर आ गये थे वो भी मेरे सर को बड़े प्यार से एक हाथ से सहला रही थी और साथ ही एक हाथ को मेरी पीठ पर घुमाने लगी थी. रोहण ने भी मुझे एक स्माइल दी।लेकिन उसने अपनी तरफ से कुछ नहीं किया और रोहण सो गया.

मैं अब भी उसी पोज़िशन में था और ड्राइवर भी ब्रेक लगा लगा कर तेज तेज बस चला रहा था.

जब तुमको दिखाने के लिए, मैं दूसरे लड़कों के साथ फ़्लर्ट करती थी और तुमको जलाती हुई देखती थी. उसकी पेंटी और ब्रा दोनों इम्पोर्टेड थी, गोर रंग पर काले रंग की ब्रा पेंटी बड़ी ही अच्छी लग रही थी.

बीएफ सेक्सी गांव देहाती मैं अब मैं अपनी ही सैटिंग करने जा रही थी, इतना नशा मुझ पर छा गया था, मैंने कहा- मुझे क्या मिलेगा तो मैं बताऊँ बोलो?अमित- क्या चाहिए बताओ तो हां एक बात और है कि मैं मिनी को फिर से एक बार गले से लगाना चाहता हूँ. मीना- नहीं भैया मैंने बहुत इन्जॉय किया, भैया एक बात पूछू आपसे, अगर आप बुरा ना माने तो?सागर- अरे डरो नहीं, खुल के कुछ भी पूछो.

बीएफ सेक्सी गांव देहाती तो पानी ना होने के कारण वो नीचे हमारे बाथरूम में नहाने आ गईं। उनके हाथ में सिर्फ़ पेटीकोट और ब्लाउज था।हमारे बाथरूम के दरवाजे में एक छेद था। कुछ देर बाद मैंने उस छेद से देखा. तो मैं भी अपने कपड़े पहन कर घर जाने के लिए कह कर भाभी का एक लंबा चुम्बन लेकर अपने घर आ गया.

मुझसे कोई गलती हुई हो तो माफ़ करना प्लीज!आप सभी का धन्यवाद।आप मुझे ईमेल कर सकते हैं[emailprotected].

नंगी नंगी बीएफ

मैंने उसकी दोनों चूचियों को हाथ में पकड़ लिया और उसकी ठुकाई करने लगा. भाईईई आआज्ज तो मसल दे भाई मसल अपनी इस प्यारी ठरकी बहन को आअहह उऊहह. माया सबके सामने तो साड़ी ठीक कर नहीं सकती थी, इसलिए उसने अपनी प्रेजेंटेशन चालू की.

शायद आज वो अपनी चूत में उंगली डाल कर हिलाने लगी थी, जिससे पलंग हिलने लगा था. मैंने सारे एसएमएस मिटाए और सोने के लिए लेट गई, पर मेरी आखों में नींद कहां थी. मैं भी झड़ने लगा और उनकी चुत में अपना लंड डाले हुए ही उन पर निढाल सा होकर लेट गया.

इधर मेरा लंड भी लोहे ही रॉड की तरह हो गया था, मैंने अपने लंड में इतना तनाव पहली बार देखा था.

फिर सिराज बोला- देखो, मैं अकेला नहीं तय कर सकता कि आपको छोड़ देना है या नहीं। अगर किसी ने कंप्लेंट मार दी तो मेरी तो नौकरी गयी. मैं जोश में चूत चुसाई करने लगा, तभी उसकी चुत से बहुत सारा पानी निकल गया जो मैं सारा पी गया. क्यों सिमरन, मैं सही कह रही हूँ ना?सिमरन ने अपनी गर्दन हिला कर अपनी मौन स्वीकृति दी तो मैंने भी ओ.

बोलो?”उसने बताया- मेरा पहले एक बॉयफ्रेंड था जिसने मुझे धोखा दिया था इसलिए मैंने तुमको मना क़र दिया था और फिर तुमसे बात बंद क़र दी क्योंकि मैं दुबारा धोखा नहीं खाना चाहती थी. पर अकीरा ने कहा कि उसे उसकी शर्त माननी ही होगी वरना वो उससे नाराज़ हो जाएगी!आखिर में विक्रांत को हार माननी ही पड़ी और उसने अकीरा की शर्त को मान लिया। उसने अलसाई आँखों से घड़ी की ओर देखा, 6 बज रहे थे, रामु काका भी न टाइम के पक्के हैं, पक्का उठाने आये होंगे. ”इधर मुझे तो जैसे आज जन्नत ही मिल गई थी इस चोदन से… क्या टाइट लंड जा रहा था उस की चूत में.

मैंने अपने मन में गांव का वो 500 के नोट के बारे में सोचा तो लालच सी आ गई. जब माया के फ़्लर्ट करने की वजह से लोगों का लंड खड़ा हो जाता था, माया को बहुत मज़ा आता था.

मैंने खेद जताते हुए कहा- ओह अंकल 68 वेटिंग कन्फर्म होना तो मुश्किल है. एडमिशन के टाइम उसके पिता साथ थे शायद इसलिए उसने कपड़े सिंपल पहन रखे थे. मैं उसके बोबे जोर जोर से दबाने लग गया और एक हाथ से उसका दूसरा हाथ पकड़ लिया.

कई बार मैं अकेले में उनको चोदने का सोच कर उनके घर गया हूँ, पर कभी हिम्मत ही नहीं हुई.

दीदी अपने हाथों से मेरी पीठ को पकड़ कर मुझे तेज़ी से ऊपर नीचे करने में लगी हुई थी. उसका शरीर धीरे धीरे अकड़ने लगा और उसने काजल की चूत में अपने प्यार की धारा को खोल दिया. उसके जिस्म पर पड़ती हल्की सी सूरज की रोशनी में वो और भी क़यामत लग रही थी.

दोनों अपने अपने कामरस को एक दूसरे के मुँह में डाल कर मज़े से चाटने लगे. जब तक मेरी भाभी मेरे साथ सेक्स नहीं करती, तब तक सारी भाभियां मेरे उस लंड को याद करके अपने हाथ से काम चलाओ जो वास्तव में लोहे की रॉड की तरह चूत का भेदन करता है.

उस शाम को तन्नू जल्दी ही मेरे पास आई, तब मैं सो रहा था और मेरा लंड लुंगी में तंबू बनाए हुए खड़ा था. फिर एक दिन जब मैं घूम रहा था तो वो अचानक से पीछे से आई और उसने मुझे आवाज़ दी. काजल भी रमेश का लंड चूसना छोड़ कर पीछे पलट गई और मयूरी की तरफ देखने लगी.

कॉलेज वाली बर्फ

मैंने सुनील के चेहरे को अपनी चुत पर दबाया और उन दोनों को देखने लगी.

मैंने हंसते हुए जवाब दिया- हा हा हा… अच्छा इतना प्यार तो कभी मुझे नहीं किया है और उसके लिए इतना बेचैन हो. जब ये भाभी उन्हें बोलेगी कि क्या देखते हो, तब तुम उठना और पैर फैला कर बैठ जाना ताकि वो तुम्हारी चड्डी देख सके. अब धीरे-धीरे उसे भी मजा आने लगा था और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

हम लोग मेरे एक दोस्त की कार लेकर घर से निकल पड़े, साथ में खाने का कुछ सामान भी ले लिया. घर में मॉम, मैं नानी और बहन ही रहते थे, मिलने वाले आते थे और दिलासा देकर जाते रहते थे. सेक्सी पिक्चर सोंग्सपूनम के मुँह से हल्की सिसकारी निकलने लगी और उसका भीगा बदन मेरी बाँहों में था.

पैकिंग के समय उसमें स्टीकर नहीं हटाया था और जब रेट देखा तो मैं हैरान हो गई क्योंकि वो ड्रेस 8999 की थी. इस बात पर भाभी ज़ोर देकर पूछने लगीं और बोलीं- अच्छा जी क्या क्या करते हो?मैंने बोला- भाभी आपको पता नहीं है क्या कि क्या क्या करते हैं?तो भाभी बोलीं- जी नहीं मुझे नहीं पता.

बगीचे में एक कोने में जाकर वे दोनों रुक गए और उस लड़के ने मेरी मॉम को बाँहों में भर कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. थोड़ी देर बाद वो सब चले गए और जाते जाते उषा काकी ने मुझ और एक सिग्नल दिया. उस लड़के के घर जाकर पूछा कि वो कहाँ है?उसके घर वालों ने कहा कि कहीं बाहर गया है.

मैं तो पूरी तरह से अपने भाई की साली के नागे और सेक्सी बदन पर फिदा हो गया था. फिर दुबारा शायद इस मक्खन गांड को चोदने का कभी मौका मिले ना मिले, मैंने तय कर लिया कि आज गांड भी बजा कर मजा ले लूँगा. उन्होंने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी हुई थी और उनका ब्लाउज लगभग आधा खुला था, जिसके कारण उनके उभार साफ साफ दिखाई दे रहे थे.

तभी वो भी मेरे सामने टेबल पर चढ़ गईं और बिल्कुल मेरे सामने ही उनके चूचे आ गए.

गर्मी की छुट्टियों में नाना के गाँव जाना तो होता ही था तो गाँव के लड़कों के साथ पेड़ पर चढ़ कर मुठ मारने में जो मज़ा आता था और अपने वीर्य की पिचकारी दूर तक फेंकने में जो हम बालकों में प्रतिस्पर्धा चलती थी उस दुनिया का आनन्द ही अलग था. मुझे ऐसा लग रहा था कि अमित पिछली बार मेरा पेट नहीं देख पाया था, वही देखने के लिए ऐसी ड्रेस लाया है.

मेरे पेरेंट्स अब 2 हफ्ते के लिए यू एस ए जा रहे थे और साथ में मेरी बहन भी जा रही थी और उधर भाभी भी बिल्कुल अकेली थी तो मम्मी ने मुझे भाभी के घर रुकने को कहा. लेकिन मेरी मॉम 15 मिनट तक नहीं आई तो मैं सोचने लगी कि अब मेरी चालू चुदक्कड़ मॉम किसी और से तो चुदवाने नहीं चली गई. आपके लंड में उतना दम नहीं है!मेरे पति बोले- तू रंडी है, तेरी चुत नहीं.

मैंने उससे कहा- मैं आ रहा हूँ, कहां निकालूँ?उसने कहा- मेरे मुँह में आ जाओ मेरे राजा. ऐसा महसूस करते ही मैं सुनील से बोली- आह सुनील डार्लिंग मेरा निकलने वाला है. मूवी शुरू हो गयी और उसमें सिर्फ चुदाई और किसिंग सीन ही थे। रोहण गर्म हो गया था और उसने अपना हाथ मेरी नंगी जांघ पर रख दिया था, वो मेरी जांघ पर हाथ फेर रहा था और फिर मूवी खत्म होने पर हम वहाँ से बीच पर गए.

बीएफ सेक्सी गांव देहाती उसके बाद सुमीना ने रिक्वेस्ट एक्सेप्ट की और हम अच्छे दोस्त बन गए और फ़ेसबुक में बहुत चैट करने लगे. इसके बाद रेणुका भाभी की कमर में हाथ डाल कर उनके होंठों को किस करने लगा.

नई हिंदी पोर्न

मैंने कहा- क्यों क्या बात है?सुभाष ने कहा कि यार रेणुका का कहना है कि शादी के 2 साल तक हम बच्चा पैदा नहीं करेंगे. आप अपनी राय मेरे इन ई मेल पते पर दे सकते हैं…[emailprotected][emailprotected]. और उसने ही मेरे लण्ड को पकड़ कर अपनी चूत पे लगा दिया और धीरे से अंदर डाला.

आआअह… संजू… आआआह… बस रुक जाओ… आह…”मैं फिर भी नहीं रुका और उनके दाने पर जीभ फिराता ही रहा. इस बार जब मैं घर गया तो अपनी ताई के भी घर हो कर आया अपनी बहन से मिलने के बहाने से. நியூ செஸ்अगले दिन रक्षाबंधन था, उसने राखी बांधी और सभी अपना अपना काम करने लग गए.

तीनों उसी अवस्था में नग्न ही सोफे पर बैठ गए और मयूरी के वापिस आने का इंतज़ार करने लगे.

मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ?भाभी जी बोलीं- मैंने जो गारमेंट्स लिए हैं उसमें एक पीस छोटे साइज़ का निकल आया है, उसे चेंज करना है. जब वो रोटी बना रही थी, तो मैं उस के पीछे चला गया वो हाईट में मुझसे छोटी है तो मैं ऊपर से ही उस के ब्लाउज के बीच की गहराई को देखने लगा.

फिर मैंने आहिस्ते से टॉपिक छेड़ा- मामी आपने कितने साल से सेक्स नहीं किया?उन्होंने कहा- पांच सालों से सिर्फ चूत को सहला सहला कर जी रही हूँ. हाय सनी… मेरी गांड… फिर… फट… गई… छोड़ दे… मुझे!”सन्नी- क्या हुआ दीदी, पहले खुद ही बोल रही थी कि आज गांड ही मरवानी है खुद ही तो चूत में जाते हुए लंड को पकड़ कर गांड का रास्ता दिखाया था. मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके होंठों को चूसने लगा, अपने हाथों से उसके उभारों को दबाने लगा.

मैंने कहा- हाँ भाभी माँ, ठीक है!मैंने उसके माथे पर किस किया और उसके बाद उसके गुलाबी गुलाबी होंठों को चूसा, फिर गर्दन को चूमा, फिर बूब्स और फिर मैंने उसकी चूत के पास आकर उसकी जाघों पर किस किया.

हम दोनों भिलाई स्टील प्लांट के कॉलोनी में रहते थे और बचपन से ही पक्के दोस्त हैं. नमस्कार दोस्तो, यह इंडियन सेक्स स्टोरी मेरी मामा की लड़की की चुदाई की है. अब तक उन्होंने छोटी उम्र से लेकर पच्चीस साल तक के गांव के सारे ही लौंडे निपटा दिए थे.

सपना चौधरी सेक्सी वीडियो हरियाणाभाभी ने संजय को जोर से जकड़ लिया और झड़ गईंमैं खिड़की के बाहर से गैर मर्द से भाभी की चुत चुदाई देख कर अपना लंड सहलाने लगा. ऐसा मैंने 3 बार किया, उस वजह से रश्मि बहुत गरम हो चुकी थी और मेरी तरफ बहुत कामवासना भरे क्रोध से देख रही थी.

ಹಿಂದಿ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಹಿಂದಿ

मेरी मम्मी की चूचियाँ हर धक्के पर ऊपर नीचे उछल रही थी।मम्मी कुछ देर बाद मम्मी अकड़ने लगी, वो झड़ गयी थी पर ससुर जी अभी भी उनको चोद रहे थे।‌अब फिर ससुर जी ने मेरी मम्मी को नीचे बिस्तर पर लिया लिया और उनके ऊपर चढ़ कर चोदन करने लगे. मैंने कहा- सरिता अगर बुरा नहीं मानो तो मैं अभी व्हिस्की के 2-3 पैग लगाऊंगा. अब मुझे सेक्स अच्छा लगने लगा था और किस और बूब्स दबवाना भी मजेदार लगने लगा था.

साथ ही भाभी अपने पैरों को मेरी कमर से बांध कर अपनी गांड उछाल उछाल कर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगीं. अब मैं अपना बॅलेन्स बना कर उसकी गांड पर धक्के मारने लगा, वो भी आगे पीछे होकर मेरा लंड अपनी गांड में खाने लगी. जैसे ही उसकी गांड पर अपना लंड लगाया, तो मेरा पैर फिसल गया और मैं उसकी गांड पर गिर गया जिससे मेरे लंड का टोपा उसकी गांड में उतर गया.

इधर राजेंद्र अंकल मेरे पीठ के हर हिस्से में अपनी जीभ से चाटने लगे और अपना हाथ मेरे दोनों कूल्हों में चला रहे थे और बीच बीच में उंगली मेरी गांड में डालने की कोशिश कर रहे थे. इसके बाद मैंने पूनम को घर छोड़ा और फिर मैं शाम होने का वेट करने लगा. अभी तक इस कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं तनु की मम्मी से सेक्स की बात कर रहा था.

वो भी मेरा साथ देने लगीं, मैंने उनके मम्मों को दबा दबा कर निचोड़ दिया और वो तो मुझे इतनी गाली दे रही थीं कि आप पूछो ही मत… साथ में मैं भी उनको चोदते हुए उनको गाली दे रहा था. मैंने वो आइसक्रीम उसके मम्मों पर लगा दी और थोड़ी सी उसकी चुत पर लगा दी.

उसने दूसरा धक्का और जोर से मारा और तीन बार में पूरा लंड मेरी चूत में अन्दर तक कर दिया.

मुझे मेरी नंगी भाभी को फर्श पर लिटा कर उसके शरीर पर लेटना है और 69 अवस्था में उसकी चूत चाटनी है और भाभी मेरा लंड चूस रही हो. मां बेटे की सेक्सी वीडियो दिखाओफिर बहुत धीरे धीरे मेरी तरफ बढ़ने लगा, वो ऐसे शायद इसलिए चल रहा था कि कहीं मैं जग ना जाऊं. पहली बार कैसे लेना चाहिए videoकोई रास्ता न पा कर मैंने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया और उसके बेरहम घस्सों को सहने लगी. मैंने देर न करते हुए एक ज़ोरदार धक्का मारा, उसकी चुत बहुत कसी हुई थी.

सबसे पहले तो मैं आदरणीय गुरु जी को धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे इस योग्य समझा और इस विषय पर लिखने हेतु मेरा चयन किया.

उसने मेरी पैंटी उतार दी और मेरी बुर पर हाथ फेर कर कहा- देखो कितनी मस्त छोटी कुंवारी चूत है. यदि उसे ऊपर बढ़ाते तो पैंटी दिख जाती, अगर नीचे खींचती तो चूचियां ज्यादा दिखने लगतीं. ये देख कर उन्होंने मुझे गले से लगा लिया और फिर और ज़्यादा रोने लगीं.

फिर अंकल ने मेरी गांड को चाटा, थूक लगाया और अपना लंड मेरी गांड में घुसा दिया, बोले- आरती, तेरी गांड आज के पहले कभी किसी ने चोदी है?मैंने कहा- सच बात बताऊं, अब तक दो तीन बार मेरे ट्यूशन वाले सर ने सिर्फ गांड ही चोदी, आज तुम लोग मेरी गांड चोदो!और अंकल ने जैसे ही पूरा लंड अन्दर गांड में घुसेड़ दिया, बहुत दर्द हुआ, मेरी आंख से आंसू आने लगे, मैं बोली- निकालो लंड… बहुत मोटा है अंकल आपका. मैं भला ऐसी रसदार चुत को क्यूँ छोड़ता, उसकी चुत को फैला के अपनी जीभ के करतब दिखने लगा. पर मैं शुरू हो गया ‘हूं हूं…’ मैंने अपना एक हाथ उसकी गर्दन पर लपेट लिया उसका एक जोरदार चुम्बन लेकर बोला- यार! गांड मराने में थोड़ी तो लगती है तभी तो मजा आता है.

देवर भाभी का सेक्सी हॉट वीडियो

तो फिर मैंने उसके टॉप के अंदर हाथ डाला अचानक से उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया और बाहर निकालने की कोशिश करने लगी, वो बोली- मैंने यह सब कभी नहीं किया, तो प्लीज मुझे अभी भी या नहीं करना!पर मुझे तो पता था कि वह साली रंडी है. अन्नू मुझसे लिपट कर ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ भर रही थीं और आवाज निकाल रही थीं- अह. फिर मीना सागर के पास गई, शरमाते हुए उसका लंड अपने हाथ में लिया और वैसे ही हाथ में लेकर दोनों मेरे पास आये.

उसके बाद मैं वापस आकर बिस्तर पर सो गई।अब तो करीब करीब हर रोज़ रात को मेरा भाई मेरी चूत मारता है और दिन में मौका मिलता है तो कभी अब्बू से तो कभी फरीद से चुदवा लेती हूं।मेरी चूत को तीन तीन लंड नसीब हो रहे हैं.

कसम से मज़ा आ गया, पहली बार ऐसा अहसास हुआ कि मैं अभी झड़ जाऊंगा।उसने मेरे लोड़े को मुँह से निकाला और सुपारे के छेद में जीभ घुसाने लगी.

मैंने मस्ती करते हुए कहा- उसको मैंने बाहर भेज दिया क्योंकि तुम्हारे साथ थोड़ा अकेला टाइम चाहिए था. फिर मैं विवेक के लंड को पकड़कर सहलाने लगी और फिर नीचे बैठ कर उसके लंड को अपने मुँह में भर कर फिर से चूसने लगी. हिंदी सेक्सी फिल्म जानवरमुझे देख कर वो लेट गईं और फोन रखकर बोलने लगीं- मेरे सर में दर्द है मुझे सोने दे.

टीवी देखते देखते मुझे नींद आने लगी तो मैं रीना मौसी से बोला- मैं सोने जा रहा हूँ!और जाकर बिस्तर पे लेट गया।तभी माँ का फ़ोन आया तो मैं बोला- मैं सोने जा रहा हूँ, कल बात करते हैं!तो माँ बोली- बहुत जल्दी थक गया मेरा बेटा क्या ?तो मैं बोला- माँ, बहुत ग़ुस्सा आ रहा है मुझे… यहाँ वैसा कुछ नहीं है जैसा मैंने सोचा था. थोड़ा सुस्ता लेने के बाद, किड ने दुबारा अपना सामान उसके मुंह में घुसेड़ दिया लेकिन इस बार लंड ना घुसेड़ कर अपने अण्डों को मुट्ठी में इकट्ठा कर मेरी बीवी के मुंह में डाल दिया. मैं अपना पूरा मुँह में उसकी चूत लेकर चूसने लगा वो बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकारियाँ लेने लगी, उसने ऐसे ही अपना सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया.

अब हम गेट पर आ गये और विनीत नीचे उतर गया लेकिन आरजू अभी भी मेरी बाहों में थी, ट्रेन ने हॉर्न दिया तो मैं बोला- अब जाओ!तो वो रोने लगी. लंड के बाहर निकलने के साथ उससे जुदा हुआ नताशा के थूक का एक तार भी खिंचता हुआ बाहर निकाल आया, जिसको ओमार ने अपने हाथ में समेट कर मुस्कुराते हुए अपने मुंह में डाल लिया.

”ओके… पर रिप्लाई करना मत भूलना, मैं इंतज़ार कर रही हूँ।”कामुकता भरी कहानी जारी रहेगी.

उसने कहा- कुछ लगा लो, वरना नहीं जाएगा अंदर!मैं वेसलीन लाया और लगा ली लंड पे और उसकी चूत पे भी।अब मैंने लंड को उसकी चूत पे रख कर थोड़ा ताकत वाला शॉट मारा और लंड का सुपारा चूत में गया और वह चिल्लाने लगी- आह आह आआह… जोर से डाल दिया आपने तो।मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा कर और जोर का शॉट मारा और लंड आधा चूत में चला गया. मैंने किचन में ही वर्षा की सब्जी में एक कैप्सूल कूट कर पावडर करके मिला दिया, फिर थोड़ा सोच कर एक और कैप्सूल और कूट कर मिला दिया. इस बीच एक बार उसने मुझसे ये पूछा कि आपका लंड इतना मोटा कैसे हो गया.

தமிழ் டாக்டர் செஸ் வீடியோ काफी देर इंतजार के बाद वो धीरे से अंदर आया और मेरे सीने से लिपट गया और मेरे एक एक कपड़े को खोल कर उतारने लगा. अब मैंने भी मेरा कैमरा चालू कर दिया और अन्दर का सब रिकॉर्ड करना शुरू कर दिया.

मैं अपनी उंगली को भाभी की चूत में अच्छे से घुमा-घुमा कर साफ करने लगा. सन्नी- सर ऐसी लड़की को कैसे सेट किया जाता है मुझे भी बता दो प्लीज… मुझे भी सपना के साथ सेट्टिंग करनी है. सॉरी… वेरी सॉरी…” मैं सकपका गया- दीदी, मैं तो ये कहने आया था कि अगर आपने जाना है तो मैं भी चला जाता हूँ.

व्व्व xxx

वो दर्द के मारे चिल्ला उठा, मैंने पूरी झड़ने के बाद उसको छोड़ा तो भाई ने उठ कर मुझे घोड़ी बना कर पीछे से मेरी चूत में लंड घुसेड़ दिया, और मेरी गांड में हर 3-4 झटकों के बाद थप्पड़ मार देता, जिससे मेरी गांड पूरी लाल हो गयी थी. मैंने पूछा- तुमने चैक किया?वो बोलीं- नहीं?मैंने बोला- तुम जल्दी मेडिकल शॉप पे जाओ और टेस्ट करने वाली किट ले कर चैक करके मुझे अभी बताओ. भाभी ने मुझसे कहा- तेरे जैसी उम्र में तो अब तक गर्लफ्रेंड बन जानी चाहिए.

फिर रिया ने अपना लंड मेरे मुँह में पेल दिया और धक्के मारने लगी, मेरे मुँह को अपने लंड से चोदने लगी. आकाश ने कहा- देख विशाखा, तेरे साथ मैं ज़िंदगी गुजारने को तैयार हूँ, तुझे घबराने की ज़रूरत नहीं है.

अब इस घर के हॉल में लगे सोफे पर दो जोड़े जबरदस्त चुदाई में लगे हुए थे.

मोना उसका सर दबा कर मेरी ओर देखते हुए सिसकारियां निकलने लगी- आह आनन्द, आह. मेरी बीवी की एक सहेली है जिसका नाम राखी है, वो ब्यूटी पार्लर चलाती है. अन्नू भाभी मेरा लंड चूसने लगीं और कुछ मिनट तक लंड चूसने के बाद मैं अपना लंड अन्नू भाभी की चूत पर ले गया और भाभी की चूत टटोलने लगा.

पैसों की मुझे जरूरत थी ही, तो मैंने ले लिए और रूचि मुझे घर छोड़ने के लिए आने लगी तो मैंने कहा- आप आराम कीजिए, मैं ऑटो लेकर चला जाऊँगा. हम दोनों ने उस रात तो बस 2 बार हीचुदाई का खेलखेला क्योंकि मुझे दर्द बहुत हो रहा था. अब शिशिर मेरे गालों को चूमते हुए मेरी चुत के घने बालों को सहला रहा था और सलमा सुनील के लंड को सहला रही थी.

मैं जोश में चूत चुसाई करने लगा, तभी उसकी चुत से बहुत सारा पानी निकल गया जो मैं सारा पी गया.

बीएफ सेक्सी गांव देहाती: खैर चुदाई का एक दौर पूरा हो चुका था और अब हम दोनों दूसरे राउंड की तैयारी करने लगे थे. मेरा नाम मोहित है, मेरी उम्र 36 साल है, मैं शादीशुदा और दो बच्चों का पिता हूँ.

जब वो थोड़ी शांत हुई, तो फिर मैंने एक शॉट से आधा लंड उसकी चुत में उतार दिया. मैं अकेला ही घर पर रह रहा था तो मैंने सोचा क्यों न घर पर आज कोई कॉलगर्ल बुला लूँ. उसके बड़े बड़े चूचे और भारी सी गांड, जिसे देखते ही लंड खड़ा हो जाता था.

उसने अपनी दोनों टाँगों से मेरी कमर पकड़ ली और कह रही थी- मुझे चोदो… और चोदो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… और अंदर तक डालो!अब मेरा लंड आसानी से अंदर बाहर हो रहा था, छप छप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था.

मुझे मेरी भाभी की चूत के अन्दर तक जीभ डालनी है, जितना हो सके उसके चूत के अन्दर की जगह चाटनी है और मेरी जीभ को कड़क करके चूत के अन्दर डाल कर जीभ से चोदना है. ऑरलेंडो फ्लोरिडा का एक बहुत खूबसूरत शहर है और यहाँ का मौसम काफी हद तक भारत की तरह है. ”ओके… पर रिप्लाई करना मत भूलना, मैं इंतज़ार कर रही हूँ।”कामुकता भरी कहानी जारी रहेगी.