बी बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,सेक्स मूवी इन हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी नहाना: बी बीएफ पिक्चर, असल में सारा कमाल जो है ना… आपकी टोपी का है… आपकी टोपी जिस तरफ जाकर रगड़ती है उधर ही बस मजा चढ़ता है.

बाहुबली पिक्चर

किचन में भाभी ने मुझे और मेरे कसे हुए लंड को तिरछी नजर से देखा और चुपचाप रोटी सेकने लगी. ओपन सेक्स पिक्चरनाश्ते के बाद हम जैसे रूम में आयी तो हमें मेरी हमारी राह देखती नजर आयी.

शायद उन्हें भी नींद आ रही थी और वे भी मेरे बांहों में आकर सो गई।[emailprotected]. मारवाड़ी सेक्सी मारवाड़ी सेक्सीसतीश बोला- दरअसल आपके आने से पहले हम थोड़ा माहौल बना रहे थे और एक एक बीयर से थोड़ी हिम्मत जुटा रहे थे.

अब नजारा इस तरह था कि जमीला और सबीना 69 में एक दूसरी की चूत चाट रही थी और मैं सबीना की गांड… रफीक जमीला की चूत चोद रहा था.बी बीएफ पिक्चर: मैंने कहा- तुम जैसे मर्जी कर लो, परंतु कहलाओगी तो मेरे बच्चे की माँ ही, क्यों न हम आपस में सेक्स करके इस काम को कर लेते हैं.

उन्होंने नेहा भाभी को चैक किया और उनसे कहा- आपकी कमर में मोच आ गई है, अब 4-5 दिन तक कोई भारी सामान मत उठाना.तू जब तक ट्राइ नहीं करेगी, तुझे पता कैसे लगेगा?सुमन- आपकी बात सही है मगर अभी नहीं.

ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೊ - बी बीएफ पिक्चर

गोपाल तो थोड़ी देर में सो गया मगर मोना को टेंशन में नींद नहीं आ रही थी.मेरे मुँह से जोर-जोर से चीख निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…तभी मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया, पर मामा रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे.

ऋतु ने बताया कि उसके पति राहुल काम के सिलसिले अकसर बाहर रहते हैं इसीलिए उन्होंने किरायेदार रखा है. बी बीएफ पिक्चर मैंने भी आव देखा ना ताव, उसके सूट को पूरा उतार दिया और अब मेरे हाथ उसके दोनों चूचों को मसल रहे थे.

गुलशन- अच्छा तो ये बात है? कोई बात नहीं अबकी बार उसका भी इंतजाम कर दूँगा.

बी बीएफ पिक्चर?

तो अचानक उसके हाथ से उसका मोबाइल स्लिप कर गया। वो साड़ी में थी, तो नीचे झुकी और उसी समय मुझे उसकी साड़ी के ऊपर से मम्मों के बीच वाली लाइन दिख गई। मैं भी कमीना कुत्ता वैसे ही उसकी चूचियों की घाटी को देखता रहा।वो जब उठी तो उसकी नज़रें मुझसे मिलीं और उसने भी मुझे एक नशीले अंदाज में देखा, साथ ही साथ गुस्से में मुँह भी बनाया।उसके बाद वो भाभी मेरे सामने आईं और मैं जहाँ खड़ा था. तेरी चुत क्या कमाल की है। अब इसमें लंड घुसेगा तब और मज़ा आएगा।मोना- रोका किसने है. मैं समझ गया, मैंने गाड़ी रोक दी, उसने उतरते हुए कहा, मुझे आपका साथ अच्छा लगा, थैंक्स.

काम पिशाच-1तीन चार दिन बाद मेरा लुल्ला बिल्कुल ठीक हो गया, मगर इन दिनो में मैं मौसी से इतना खुल गया, इतना घुल मिल गया कि मुझे जैसे उसके बिना सांस ही ना आती हो. वो बोलीं- मेरी गालियों का बुरा मत मानो राजा… मुझे चुदाई के समय गालियाँ देना अच्छा लगता है. तुम कहो तो उसकी चुत का मुहूर्त भी आज करवा दूँ?संजय- नहीं तू ज़्यादा एक्सट्रा मत सोच.

इन दोनों ने उसे हैलो किया, फिर उसके पास खड़ी हो गईं संजय बस सुमन को निहारता रहा. उसने अपने सिरहाने के नीचे से पहले से ही रखे कोंडोम के पैकेट में से एक कोंडोम निकाला और मेरे लंड पर चढ़ा दिया. चाची तब तक मेरा लंड हिलाती रहीं, जब तक कि लंड बिल्कुल पुच्चू सा नहीं हो गया.

दोस्तो, आपके भेजे गए मेल से मुझे पता लग रहा है कि आप सभी को मेरी स्टोरी बहुत पसंद आ रही है. इतना कहने के साथ ही वोमेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी, मैं धीरे-धीरे झड़ने लगा और वो मेरा माल को पीने लगी फिर अपने मुंह को पौंछते हुए बोली- यार तेरा लंड अभी भी तना हुआ है, जब कुंवारी लड़की की बुर चोदेगा तो उस लड़की की तू गांड फाड़ने के साथ-साथ उसकी जान भी निकाल लेगा.

पूजा का चेहरा भी लाल सुर्ख हुआ पड़ गया था पर उसकी आँखों में एक अलग ही चमक थी.

फिर एक दिन एक लड़की मिली पूजा (बदला हुआ नाम) जो अजमेर की थी पर पढ़ाई के सिलसिले से जयपुर रहती थी.

इसलिए मैं तेरे घर जा रहा हूँ, वहीं फ्रेश हो जाऊंगा, तू आराम से फिल्म देख कर आना. मैंने भाभी से ऐसी बेहूदगी इसलिए दिखाई क्योंकि वही एक ऐसी महिला थीं, जो मुझे शुरूआत से पसंद नहीं आ रही थीं. कुछ ही देर में मुझे एहसास हुआ कि मेरी चूत के अन्दर गुदगुदाते हुए कुछ तो गर्म सा निकल रहा है, उस वक़्त कुछ अलग सा आनन्द मिलने लगा था.

तब मैंने उससे कहा कि मैं जैसा कहूँ, तू वैसा ही करेगा तो मैं तेरे अब्बू को कुछ नहीं बोलूँगी. पहले तो मैंने इसे अपना वहम समझा लेकिन मैंने बार बार इसे कन्फर्म किया. ये देखने के बाद मैं हिल गई थी, पर मैंने अपने आपको संभाला और वापस किचन में आ गई.

मैं समझ गया कि वो कुछ करना चाहती है तो मैंने मौका देख कर उसका हाथ पकड़ लिया.

वहीं एक दुकान थी, हम दोनों वहाँ चाय लेने चले गए, मैं ठीक उनके पीछे खड़ा था और कुछ दुकान वाले से बात करने के बहाने मैंने अपना शरीर उनके शरीर में छुआ दिया. अब जॉय और ममता भी बाहर चले जाते, उन्हें अब फ्लॉरा की टेंशन नहीं थी क्योंकि जॉन उसका अच्छे से ख्याल रखता था. और मुझे किश करने लगे, मैं भी मामा जी का साथ देने लगी, मेरा निचला होंठ पूरी तरह से मामा जी के मुँह के अंदर जा चुका था.

मोना- ओह अच्छा ये बात है तो मेरे प्यारे पति देव आज सच में थकान बहुत है, फिर चुत भी क्लीन नहीं है कल सुबह जब आप वापिस आओगे, तब करेंगे. मेरे होंठ चूसते हुए वो मेरे मम्मे मसल रहा था, चूतड़ों को दबा रहा था. मैंने उसका बेल्ट ढीला किया और अगले ही पल वो जमीन पर खड़ी हो कर अपनी जीन्स उतारने लगी.

यह सुनकर मनोज बोला- अरे अरमान तो रुचिका को संभाल चुका है, वैसे भी पहले तो भाग कर रवि के पास आई हो तुम खुद ही!यह सुनकर रुचिका बोली- अरे आपको नहीं कह रही, आप अपना काम करो, बात हम दोनों के बीच की है.

ऐसे ही शाम को जब मैं किचन में उन्हें चूमने लगी, तो पापा ने मुझे देख लिया. वो जानता था जिसे सिर्फ़ मोबाइल में नंगा देखा था आज वो उसके नीचे लेटी है.

बी बीएफ पिक्चर हालांकि चाची के बेटे की उम्र 4 साल ही थी, पर फिर भी उसके सामने ये सब करना गलत तो था ही. सरिता- मेरी सहेली कहती है कि लंड को भी चूसने से मजा आता है पर आपका लंड बहुत ही मोटा और लंबा है.

बी बीएफ पिक्चर उसकी बुर बिल्कुल गीली हो गई थी और उससे अब बिल्कुल नहीं रहा जा रहा था. ये तो आप सब भी जानते हो कि सविता ने अपने विवाह से पूर्व खूब गुल खिलाए थे.

मैंने झट से तुम्हारे लंड को अपने हाथ में लेकर उसको अपने हाथ से हिलाने लगी.

क्सक्सक्स लाइव

फिर अपने होटों की सुलगती सिगरेट मेरे होटों में फंसा कर पूछा- बोल ना जान, चलना है थाईलैंड? मजा आएगा।मैंने दिखावटी गुस्से से उसकी तरफ देखा तो उसने कहा- देख, अगर हां कहेगी तो तेरे लिए दो तोहफे हैं. मैं अपने दोनों हाथों से अपने बूब्स छुपा रही थी और जांघों से अपनी चुत को छुपा रही थी. कुछ ही देर में सोनू का भाई गहरी नींद में सो गया और सोनू मेरे पास आ गई.

वहीं पास पड़े सोफे पर उसने फ्लॉरा को लेटा दिया और पागलों की तरह उसकी चुत चाटने लगा. आज हम एक खेल खेलेंगे, तुम बस अंधे बने रहो और हम ऐसे ही मज़ा करेंगे. अब मैं मामा जी के लंड को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी थी, बीच बीच में मैं मामा जी के लंड में दाँत चुभो देती थी तो मामा जी के मुँह से आहह निकल जाती थी.

मैं- अकेले बोर नहीं होती आप?भाभी- हाँ लेकिन क्या कर सकते हैं, मुझे ज्यादा फ्रेंड बनाना भी पसंद नहीं हैं न.

मैंने और रिया ने एक दूसरी की तरफ देखा और दोनों एक दूसरी को देख कर मुस्कुरा उठी. ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’थोड़ी देर में इतने में भैया ने भाभी को फिर नीचे पटक कर अपना लंड भाभी मुँह में ठूंस दिया और मुझेभाभी की चूत में लंडडालने को कहा. प्राची भाभी ने कहा- मैंने बहुत से लंड सहलाए हैं … पर तेरे जैसा चिकना और बड़ा सुपारा आज तक नहीं मिला था.

मैंने लंड उसके मुख में दे दिया, वो चूसते हुए पूरा पानी पी गई, उसके चेहरे पर तृप्ति साफ़ दिख रही थी. वो थोड़ा उछली और लंड को बाहर निकाल दिया और बोली- मैं फर्स्ट टाइम लंड चूस रही हूँ, मुझे अपने हिसाब से चूसने दो. तुम्हें भी मजा आएगा अपने देवर के लंड से चुद कर, तुम भी चुद लो आज, लम्बे मोटे लंड का मजा ले ही लो!भाभी भी मेरे मोटे लंड की बात सुनकर शायद मन ही मन में बहुत खुश हुई और हंस दी.

अब मैंने उसे पूछा- जान एक बात बता… अगर तू मुझसे प्यार करती थी तो पिछली रात गुस्सा क्यों हुई थी?स्मृति बोली- यार, मेरी बगल में वो मधु जागी हुई थी. मेरी बात सुन कर स्मृति मुस्काई और कमरे में चली गई तो मेरी जान में जान आई, मैं वापिस ऊपर वाले कमरे में पहुँच गया.

थोड़ी देर तक बारी-बारी से अपने दोनों मम्मों को उसने मुझे पिलाया, फिर उसने एक-एक करके मेरे सारे कपड़े मुझसे अलग कर दिए, मैं भी उसकी तरह बिल्कुल नंगा हो चुका था. थोड़ी देर में उसे भी मज़ा आने लगा, वो कहने लगी- चोदो मेरी जान, मेरी चूत फाड़ दो. अब तक की इस हिंदी पोर्न स्टोरी में आपने पढ़ा कि गोपाल ने नीतू से अपने लंड की मुठ मरवा ली थी और मोना ने ये सब देख लिया था.

मैं और सविता अलग-अलग कमरों में चले गए और मनोज और मेघा एक साथ चले गए.

फिर मोना ने नीतू की मदद से खाना बनाया और दोनों ने अच्छे से खाना खाया और मोना उसे अपने कमरे में साथ ले गई. उसे मैं अक्सर सोसाईटी में बड़े टाइट कपड़ों में सुबह सैर करते हुए देखता था. उनका लंड तो अकड़ कर उन्हें इशारा दे रहा था कि कली सामने है और तू जा रहा है.

साथ में उसके मम्मों को भी दबाने लगा।मोना- ये तुम क्या कर रहे हो सुधीर. पर मेरे मस्ताना की मलाई खूब निकलती है तो कहाँ सबीना के मुँह में आ पाती, सबीना मस्ताना को मुँह से निकाल कर साँस लेने लगी.

उस मज़िल पे 4 कमरे थे, मैंने पहले कमरे में देखा, वहां पर कुछ औरतों के बातें करने की आवाज़ आ रही थी, तो मैंने अन्दर जाना उचित नहीं समझा. गुलशन जी आगे कुछ बोल पाते तभी बीच में हेमा ने उन्हें टोक दिया- आपको कुछ और नहीं सूझता क्या. तो मैंने उससे बात नहीं की, क्योंकि मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से उसे कोई तकलीफ हो.

सेक्सी वीडियो हनीमून

मैं अपने हाथ को काफी समय से उसके लंड के आगे रेलिंग की पाइप पर रखे हुए था.

ऐसे करते करते जब मैं सुलेखा के नीचे के भाग की तरफ यानि चूत पे पहुंचा तो सुलेखा ने मेरा सर पकड़ लिया और मैंने उसकी चूत की किस की और फिर उसकी चूत को हाथ से खोल कर उसके लाल भाग के ऊपर अपनी जीभ को चलाना शुरू कर दिया. इसके जवाब में वो बोले- जी, मुझे कोई आपत्ति नहीं होगी, आप जैसा चाहे वैसा भोजन बनायें, मैं खुद भी तो बनाता हूँ अपने घर में. मैं ये सब बातें उसको बता ही रहा था कि उसने मेरा हाथ अपने लंड पर रखवा दिया जो अब तक उसकी पैंट में तनकर झटके मार रहा था.

नताशा मेरे और स्वान के बीच अपनी दाईं करवट लेट गई और बायाँ पैर थोड़ा सा फैला दिया जिससे कि मुझे उसकी चूत में धक्के लगाने में आसानी हो. अब तुम अपना हथियार भी तो निकालो।और मेरा लंड … ऐसा लग रहा था कि फट जाएगा. सेक्सी वीडियो हिंदी में न्यूये बातें दिमाग में चलते-चलते मुझे नींद आ गई और सुबह 8 बजे मां ने मुझे फिर उठा दिया.

मैंने देर ना करते हुए अपने होंठों को उसके चूत के होंठों पर लगा दिया और बड़े प्यार से उसकी चूत चाटने लगा. उनके जाते ही मैंने घर का मेन गेट बंद किया और सीधा मौसी के पास आया- मौसी, मम्मी पापा बाहर गए हैं, दोपहर के बाद आएंगे, हम करें?मैंने एक ही सांस में कह दिया.

वो लगभग 25 साल की कमसिन जवानी से लबरेज, एकदम हॉट और सेक्सी माल थीं. नमस्ते दोस्तो, मैं प्रनब मंडल कोलकाता से मैं बँगाली हूँ इसलिए कहीं गलती हो जाए तो माफ़ करना। यह मेरी प्रथम सच्ची सेक्स स्टोरी है यदि यह आपको अच्छी लगी तो मैं और अच्छी से अच्छी कहानियाँ पेश करुँगा।रूपा मेरी कजिन सिस्टर यानि बुआ की लड़की थी, वह मेरे घर के पास ही रहती थी. वैसे तो ऐसी कली पास में हो और वो भी नंगी, तो किस पागल को नींद आएगी मगर गुलशन जी ने अपने ज़ज्बात पर काबू रखा और देर से ही सही, उनको भी नींद आ ही गई.

उम्म्म…”मनोज- मेघा, क्या बूब्स हैं… उम्म्म उम्म्म्म…मनोज ने उसको ऊपर से लेकर नीचे तक चूमा पीछे से और फिर उसका टॉप उतर दिया और बूब्स चूसने लगा, होंठ चूसने लगा, उसकी नाभि को चाटने लगा और बूब्स को काटने लगा. बस तू उनकी बात ऐसे मानना जैसे तुझे कुछ पता ही नहीं है, तू तो बस आईसक्रीम और पैसों के लिए ये सब कर रही है. मगर राहुल मुस्करा रहा था तो मैं समझ गया कि ये इनका पहले से ही प्लान था.

थोड़ी देर ये सब चलता रहा गुलशन जी बड़े प्यार से उसके सर पर हाथ घुमा रहे थे.

फ्लॉरा ने जॉन को हटाने की बहुत कोशिश की, मगर जॉन अपने काम में लगा रहा और थोड़ी ही देर में फ्लॉरा भी उत्तेजित हो गई. रात को खाने के बाद गुलशन जी बैठे कुछ हिसाब लगा रहे थे और हेमा किचन में बिज़ी थी.

वो धीरे से बिस्तर पर बैठ गए और सुमन की टी-शर्ट को पूरा ऊपर कर दिया. मैं कभी उसके गले को चूमता… कभी उसके गालों पर चुम्बन करता… कभी उसकी आँखों पर चूमता. ‘ऐसे क्या देख रहे हो अंकल?’‘तुम्हारा निश्छल सौन्दर्य निहार रहा हूँ रानी.

पति के लंड के सुख से वंचित सविता भाभी अपने पुराने चोदू के सामने अपनी चुत को कैसे खोल बैठीं. ‘आप जब अपनी फ्रेंड प्रिया के साथ लेस्बियन रोमांस कर रही होंगी उसकी कुछ झलक आप हमें भी दिखाएंगी. मैंने पूछा- वो लोग क्या कोई फीस लेते हैं?तो रूबी ने बताया कि वह सब वैशाली करेगी.

बी बीएफ पिक्चर जब मैं उसके निप्पल चूस रहा था तो उसने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया और उसको सहलाने लगी. सासू माँ ने जमाई को चूम लिया और बोली- बेटा, ऐसे ही मुझे रोज चोदा करो.

युटुब चलाना है

ये सब बताते हुए सविता भाभी पुरानी यादों में खोकर बताने लगींबाद में शाम को सविता भाभी ने डिनर की सब तैयारी की. फिर मुझे थोड़ी देर में होश में आया तो सोचा कि मैं ये क्या कर रहा था. हालांकि इनका असर स्पष्ट नहीं दिखता, पर लंबी अवधि के बाद आप स्वतः अपनी कमजोरी को जान जाओगे.

मैं यही सोच रहा था कि कब चाची सोएं और मैं उनकी चूत के दर्शन करूँ पर मेरी उम्मीदों पर पानी तब फिर गया जब चाची बोलीं कि चलो छत पर सोते हैं. वो तो गोरे-गोरे सॉफ्ट गेंद की तरह थे। मैं उन मम्मों को बड़ी बेताबी से चूस रहा था।कोई 5 मिनट के बाद उसने बोला- सिर्फ़ तुम ही चूसते रहोगे या मुझे भी लॉलीपॉप चूसने का मौका दोगे?मैं उसकी बात समझते हुए उठा और उसने मेरे सारे कपड़े उतार कर मेरा 7 इंच का लौड़ा अपने हाथ में ले लिया।उसने बोला- अरे वाह. गुवाहाटी सेक्सी वीडियोआप तो जानते हो ज़माना कितना ख़राब है आजकल!”अरे तो अदिति को यहीं बुला लो ना.

एक कॉमन सीढ़ियों से था और एक प्राइवेट था, जो कि मेरे कमरे से हो कर जाती थीं.

फिर मैंने उसके एक बूब को मुँह में डाल लिया और वो मदहोश हुए जा रही थी…फिर उसने अपना हाथ पैन्ट के ऊपर मेरे लंड पर रख दिया और लंड को सहलाने लगी, उसने मुझसे कहा- मुझे आपका देखना है. उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाँ… चोदो… जरा तेज… जोर से… आई… मार दिया…राजा… पहले कहाँ थे, आदि बोलती रही.

अब धीरे धीरे आनन्द मिलना शुरू होगा तुम्हें!कुछ मिनट तक मैं ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा, फिर मैंने उसे पूछा- अब भी दर्द है क्या?तो वो बोली- अब तो दर्द काफी कम है!मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किये, पांच मिनट की हल्की चुदाई के बाद मैंने अपनी गति बढ़ानी शुरू की तो अब उसे भी मजा आने लगा, वो भी नीचे से सहयोग करने लगी. कुछ देर तक लंड को साबुन लगा लगा के मैंने खड़ा किया और फिर भाभी को आवाज लगाई- भाभी, प्लीज़ मेरे कपड़े देंगी, मैं भूल गया हूँ. मुझसे ग़लती हो गई, अब मैं कभी ऐसा नहीं करूँगी।सुमन के चेहरे की खुशी देख कर गुलशन जी भी बहुत खुश थे।गुलशन- अच्छा ठीक है अब तुम भी आराम कर लो बेटा.

चाची की शादी को वैसे तो 12 साल हो गए हैं… पर इन 12 सालों में चाची को चाचा ने उतना नहीं चोदा होगा, जितना मैंने पिछले 7 सालों में चोद दिया.

मानसी अपनी अधखुली आँखों से मुझे प्यार से देख रही थी और उसका पूरा शरीर काँप रहा था. उसका नाम नैना था, वो दिल्ली की रहने वाली थी और बहुत सुन्दर और स्मार्ट लड़की थी. देर से उठेगीं।उसने मुझे ऊपर से नीचे तक देखते हुए कहा- ठीक है, उन्हें सोने दो।मैंने कहा- बस वो कल चली जाएंगी, उनके पेपर हैं।दूध वाला हंस कर बोला- ठीक है चलता हूँ.

বিএফ ফিল্মउस मज़िल पे 4 कमरे थे, मैंने पहले कमरे में देखा, वहां पर कुछ औरतों के बातें करने की आवाज़ आ रही थी, तो मैंने अन्दर जाना उचित नहीं समझा. पहले उन्होंने अपनी जीभ निकाल कर मेरे होंठों पर घुमाई और फिर मेरे को जोरदार किस की.

चोदा चोदी वीडियो दे

फिर हम दोनों एक साथ अपना पानी छोड़ने वाले थे तो मैंने उससे पूछा- अन्दर ही छोड़ दूँ?उसके कुछ कहने से पहले ही सारा का सारा माल उसकी चूत में ही निकल गया और मैं उसके ऊपर ही लेट गया. काफी देर तक चाची की चूचियों से खेलने के बाद मेरा दिमाग अब उनकी चूत की तरफ गया. जाने से पहले एक दिन दोनों ने करीब आधा दिन ब्यूटी पार्लर में बिताया, बदन को चमकाया, घर आकर चुत को चिकना बनाया और फिर रात के दो बजे की फ्लाईट से हम दोनों कोह फांगान के लिए रवाना हो गयी.

पानी लीजिये पापा जी, मैं चाय बना के लाती हूं!” वो बोली और किचन में चली गई. 6 फिट का जवान मर्द… गांव वाला मस्त बदन चौड़ी हथेली वो भी कड़क… बदन पर नर्म कपड़े वाली कॉटन की महंगी शर्ट जिसके खुले हुए बटन से दिखती हुई छाती और मोटी बाजू जो शर्ट में अलग ही अपनी जगह बना रही थी. मुझे देख कर उसने हाथ जोड़ कर नमस्कार किया और मुझे सोफे पर बैठने को कहा.

स्वान ने मस्ती में चूर होकर अपनी आँखें बंद कर ली और आनन्द के अतिरेक में अपनी कमर लहराने लगा. मैं इस शानदार दृश्य को देख कर मानो स्वर्ग में आ गया और उंगली से अपनी बीवी की क्लिट रगड़ने लगा, जिससे उत्तेजित होकर उसने मेरे लंड को पकड़ कर ताकत लगा कर चूस डाला. ऋतु- ठीक है फिर… गुड नाईट…और उसने झुक कर मेरे लंड को चूम लिया और बाहर निकल गई.

!सुधीर टेंशन में आ गया, ऐसी मस्त चुत अब उसको कहाँ मिलती, उसने मोना को कहीं बाहर मिलने को कहा. जब मैं उसकी गोद में बैठी थी, तो उसका लंड एकदम खड़ा हो चुका था और मुझे चुभ रहा था.

मैंने मौके की नजाकत को समझते हुए गर्म लोहे पर चोट मारी।सन्नी ने कहा- इस बात की क्या गारंटी है कि ये तुम्हारी बात मान जायेंगी?मैंने कहा- मैंने बोल दिया ना बस!तभी विकास बोला- और दूसरी वाली के बारे में क्या ख्याल है… क्या वो भी चूसने देगी?मैंने कहा- उसके बारे में मैं ये कह सकता हूँ कि उससे मैं अपना लंड चुसवा सकता हूँ.

मैं अपने बारे में बता दूँ, उस समय मैं बहुत ही पतली सी थी और मेरे बूब्स भी कोई ज्यादा बड़े नहीं थे. राज शर्मा की कहानियांचन्दन ने अपनी सास के एक स्तन का सारा रस पीने के बाद दूसरे स्तन को अपने मुँह में ले लिया और उसे भी चूसने लगा. नई सेक्सी हदउनकी तबीयत ठीक नहीं तो यहाँ रुक गई थीं और उन्होंने पापा को कॉल पर बता दिया था. कविता भी जीजू की दीवानी थी तो उसने भी हंस कर गले लगा कर विनय को गाल पर किस दिया.

एक तो जवान जिस्म ऊपर से दोनों पे ड्रिंक का नशा मुझे बहकने में देर नहीं लगी.

अब मुझे अंदर जाने दीजिए दामादज़ी…” धीरे से कहते हुए मम्मी ने अंदर आना चाहा. लेकिन घर में जवान बीवी हो तो और शादी भी नई-नई थी तो मजे ही कुछ और थे. फिर वो घुटनों के बल बैठ गई, मेरे लंड महाराज को किस करने लगी और मेरे लंड को धीरे धीरे मुँह में लेकर चूसने लगी.

फिर जैसे ही मैंने एक उंगली को बुर में डाला, वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज के साथ उछल पड़ी. मेरा मन बहुत करता कि किसी और के पास जा कर चुत की भूख मिटा आऊं, पर मुझे बदनामी का डर लगा रहता था, इसलिए मैंने आज तक किसी बाहरी आदमी से नहीं चुदवाया. फिर उन्होंने धीरे से अपने हाथ को आगे बढ़ाते हुए मेरे हाफ पैंट के अन्दर डाल कर मेरे लंड को छुआ.

औरत की चुदाई साड़ी में

मैं उसके नथुनों से निकलती गर्म साँसों को अपनी गर्दन पे महसूस कर रहा था और बहुत खुश था क्योंकि ये सब मेरी ही तो प्लानिंग थी. पापा मेरी गोरी गोरी और गोल गोल चूचियों को इतनी जोर से मसल रहे थे कि मैं चीख उठी- आआअह्ह. मैंने उन्हें 15 मिनट तक धकापेल चोदा और लंड निकाल कर उनके खुले मुँह में लगा दिया.

और अपनी गांड दिखा के बोली- देखो भाभी कैसे गांड सुजा दी इस बहन के लौड़े ने गांड मार कर!कोमल- हेलो सबीना, हम मस्त है पर कभी जमीला ने बताया नहीं तेरे बारे में!मोहन- हेलो सबीना, मस्त सेक्सी लग रही हो, कभी मुझे भी रस चखवा दो अपनी रसीली का!सबीना- अभी तो राजेश को चुसवा रही हूँ, आप भी भाभी को लेकर आ जाओ हम सभी खूब चुदाई करेंगे.

मैंने कुछ देर उन पर हाथ फेरा, उनको सहलाया, मसला, फिर मैं जोरों से दबा दबा कर उनके मम्मों को चूसने लगा, उनके निप्पलों पर अपनी जीभ चलाने लगा.

सुबह-सुबह बेचारे अंकल का लंड खड़ा कर दिया ना!सुमन- दीदी चाहे कुछ भी हो जाए मुझे पापा को ख़ुशी देनी ही होगी. चाची तब तक मेरा लंड हिलाती रहीं, जब तक कि लंड बिल्कुल पुच्चू सा नहीं हो गया. सेक्सी हीरोइन वाली सेक्सीभाभी ने अपनी चुत एकदम क्लीन शेव कर रखी थी, शायद चुदाई के लिए ही उन्होंने अपनी चुत तैयार की थी.

मेरे शौहर जो सेक्स के लिए ज्यादा रूचि नहीं रखते थे, इसलिए मैं अपनी जवानी में भी पूरी तरह सेचुदाई का मज़ानहीं ले सकी. मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी गोरी मांसल खुली टांगों के बीच उसकी गुलाबी रंगत वाली चूत को खोल कर देखा, छेद इतना तंग लग रहा था जैसे इसमें कभी कुछ गया ही नहीं था. सविता भाभी ने एक बहुत छोटी सी थोंग पेंटी पहनी थी, जिसमें सिर्फ चुत ही बड़ी मुश्किल से ढक पाती है और चूतड़ों की छटा बड़ी जबरदस्त बिखरती है.

मैं कल्पना के गोते लगाने लगी और ये भी मेरे साथ सेक्स करते हुए मनोज का सा अहसास कराने लगे. मैं रुका हुआ हूँ।वे सब चले गए, भाई साहब रुके रहे। मुझे ड्यूटी पर छोड़ने वाले डाक्टर साहब आ गए.

फ्लॉरा जब बिस्तर पे आई तो गुलशन जी ने उसको बांहों में भर लिया उसके होंठों को चूसने लगे और हाथों से उसके मम्मों को दबाने लगे.

उधर रिया हाथ निकल जाने से तमतमाया हुआ मॉन्टी पूल से निकल कर फूर्ति से मेरे पीछे आया और उसने अपना लंड पूरे वहशी पन के साथ मेरी गांड में ठोक दिया. पापा- आज रात तू ऐसे ही नंगी मेरे साथ चिपक कर सोएगी, यहीं इसी कमरे में. रिया ने टू पीस बिकिनी के ऊपर एक बेहद सेक्सी छोटा टॉप और हॉट पैंट पहनी और मैंने स्पेगेटी टॉप के नीचे मिनी स्कर्ट पहन लिया.

दुल्हन के साथ सेक्सी वीडियो एक दिन मैं बैठा हुआ अखबार पढ़ रहा था, तभी मेरी नजर क्लासीफाईड कॉलम पर पड़ी. जब विदाई का समय आया, तब तक आधी रात बीत चुकी थी, सबने एक दूसरे से विदा ली और हम घर आ गये.

थोड़ी देर लंड चाटने के बाद लंड को मुँह से निकाल कर लंड के टोपे को अपनी मुट्ठी में ज़ोर से दबा लिया जिससे मामा जी के लंड का छेद खुल गया जैसे कोई मछली अपनी मुँह खोल कर खाना माँग रही हो. जैसे ही उसने मेरे दाने पर हाथ लगाया तो मुझे जैसे करंट सा लगा और मेरा पानी निकल गया, पहली बार किसी ने उस जगह को छुआ था. सासू माँ को लगा कि आज यह लौकी जैसा लम्बा लंड मेरे गले को फाड़ता हुआ पेट तक जा कर मानेगा.

हेलो गूगल प्ले

मेरा लंड रॉड की तरह सख्त हो चुका था और दर्द भी करने लगा था, पर उस समय मेरे पास चुपचाप लेटे रहने के सिवाए और कोई रास्ता नहीं था. भाभी इठला कर खुल कर बोलीं- शरमाओ मत… बोल दो, अगर तुम मेरे बूब्स देखने की कोशिश कर रहे थे तो साफ़ बता दो न?यह सुन कर मैं शॉक्ड रह गया. चलो न प्लीज!”अच्छा चलो!”हाय यार, तुम्हारी गांड चलते टाइम क्या मस्त लग रही है! उम्म उम्म्म!”अरे गांड पर पप्पी ले रहे हो… आआअ स्सस्सआआ!”ये क्या, तुमने सारे कपड़े उतार दिए? नंगे ही चलोगे मेरे कमरे में?”जब चोदना है तो कपड़े उतार कर ही चोदूँगा न… तो देर कैसी अब?”अच्छा बाबा चलो, मेरे भूखे मन का बहुत फायदा उठा रहे हो आप!”वो तो उठा ही रहा हूँ.

सुलेखा तो झड़ने के बहुत करीब थी तो मैंने उसकी चूत में झटके और तेज कर दिए और मनोज भी शायद ज्यादा उतेजित हो गया, उसने नेहा की चूत में अपनी जीभ स्पीड से चलानी शुरू कर दी, नेहा जोर जोर से चिल्लाती हुई बोलने लगी- उई आह आह… सालों चुद गई उई उई आह. अब गुलशन जी इस दुनिया को अलविदा कह चुके थे और कागज पर उन्होंने सबसे माफी माँगी थी.

वैसे आज उसने मुझे कम मज़ा नहीं दिया था, जिस तरह से ये उसका पहली बार था.

मेरा तो लंड मानो फट रहा था भाई भाभी की हॉट बातें सुन कर!फिर भैया भाभी से बोले- शरमा मत, मुझे पता है कि नया लंड सबको अच्छा लगता है, रुक, मैं कुछ करता हूँ तेरे लिए. मुझे अपने दिल ओ दिमाग पर पूर्ण नियंत्रण रख के अदिति बहूरानी के साथ अपनी खुद की बेटी के जैसी केयर करनी ही होगी. मगर हमारे काम का कुछ वहाँ नहीं हुआ तो चलो हम लोग भी सीधे पॉइंट पे चलते हैं.

फिर एक बार काका भी गाँव से आए थे तो गोपाल की गैर मौजूदगी में उन्होंने जमकर मोना की चुदाई की. बीच बीच में मैं अपनी जीभ उसकी गांड के छेद पर भी फिरा देता, तो वो एकदम सिहर उठती. एक बार मेरी बेटी की सहेली हमारे घर आई, न जाने क्यों मुझे लगा, ये लड़की कुछ चाहती है.

सुमन ने एक पतली टी-शर्ट और पजामा पहन लिया था, उसका मन अब कुछ और करने का था.

बी बीएफ पिक्चर: टीना- आओ सुमन रानी क्या बात है आज मूड सही नहीं लग रहा, सुबह-सुबह किससे झगड़ा करके आई है. मैं रोज रात को सोने से पहले निखिल की हरकतों को याद करके नीलम की चुदाई का प्रारंभ करता था.

मेरी नंगी चिकनी चुत देख कर मामा ने भी झट से अपने कपड़े उतार दिए और केवल अंडरवियर में आ गए. इसका पूरा सचित्र विवरण देखने के लिए आपकासविता भाभी की अपनी साईटपर स्वागत है।. ‘आह राजा… आज पूरे साढ़े आठ महीने बाद लंड मिला है मेरी चूत को!’ वो मुझे चूमते हुए बोली.

‘हाँ… ऐसे ही अपना लंड मेरी चूत में दिये पड़े रहिये… मैं झड़ने वाली हूँ… लेकिन आप नहीं हिलना बस… थोड़ा सा ऊपर हो जाओ ताकि मैं अपनी चूत ऊपर उठा के दे सकूं आपको… इसे उलीच सकूँ आपके लंड पे!’ वो कामाग्नि में जलती हुई बोली.

दिन भर कॉलेज में रहा शाम को पढ़ रहा था कि दस बजे करीब सुकांत आया। वो मेरे से नजरें नहीं मिला रहा था। फिर हम सोने के लिए अपने बेड पर लेट गए, तब वह मेरे बेड पर आया।पहले तो बड़ी देर तक चुपचाप बैठा रहा, मैंने कहा- क्या बात है?वह चुप रहा।मैंने कहा- लेट जा. अब उसने एक और झटका दिया और उसका लंड लगभग आधा मेरी गांड को फाड़ता हुआ चला गया. मैं अभी कुछ देर और उसके ऊपर ही लेटा रहना चाहता था लेकिन मेरे लिंग के सिकुड़ कर माला की योनि से बाहर निकल जाने के कारण योनि में से निकल रहा दोनों का मिश्रित रस बिस्तर गीला करने लगा था.