सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,चाचा भतीजी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

कैटरीना सेक्सी पिक्चर: सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी, लेकिन जब वो मेरी ब्रा निकाल कर मेरी चूची को चूस रहा था तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी गर्ल

मेरे अन्दर सेक्स की बहुत भयंकर आग जल रही थी, जिसे मैं रोक नहीं पा रहा था. एक्स एक्स एक्स नई बीएफजब तक मैं इस पल को देख पाता, तब तक तो मेरा पूरा लंड उसके मुँह के अन्दर तक जा चुका था.

” (टीना यार प्लीज मूड खराब है … अभी मेरा)क्या हुआ?”कुछ नहीं, तू अभी जा प्लीज. xxx देहाती वीडियोसारा साबुन साफ करने के बाद शावर बंद कर दिया और तेजी के साथ तौलिया से बदन को रगड़ने लगा.

लेकिन मुझे यकीन था कि अगर मॉम मना भी करेंगी, तब मैं उन्हें मना लूंगा.सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी: यह सुनकर मेरा गुस्सा और बढ़ गया, मैंने तमतमामते हुए उससे कहा- मैं तुम्हारे जैसी नहीं हूँ.

साथ ही अपनी सुरक्षा के लिए उनसे कह दिया कि ये बात सिर्फ हमारे बीच में रहे.उसने मुझे चूमते हुए कहा- तुम्हारे गोल गोल चूतड़ और गोल गोल मम्मों पर मैं फ़िदा हो गया था.

हिंदी सेक्स मूवी ब्लू फिल्म - सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी

गर्मी में उसके गठीले बदन को देखकर मेरी चूत में सुरसुरी सी उठने लगती थी.मैं हड़बड़ा गया लेकिन खुद को संभालते हुए मैंने हाथ को बाहर खींचने की कोशिश की मगर प्रिया ने फिर मेरी तरफ ही करवट ले ली.

बीच-बीच में वो कह रहा था- साली … आह्ह … तुझे तो जिन्दगी भर मैं अपनी रंडी बना कर रखूंगा. सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी ये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है … जो मैंने आप लोगों के साथ साझा की है.

फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया.

सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी?

वो बोली- कुछ भी बोलते हो आप तो … भला अपनी सास के साथ बैठ कर मूड थोड़े बनता है. मैंने कहा- बिजी रहने का मतलब ये कब से होने लगा कि प्यार भी नहीं किया जायेगा?फिर मैंने दूसरा सवाल किया- अच्छा ये तो बता दो, कितने दिन से नहीं किया है?वो बोली- पिछले एक महीने से. यह देख कर शिवानी ने कहा- देखो सागर तुम जिस चूत को चोद रहे हो, वो चूत कोई तुम्हारी बहन की नहीं है, जिस में तुम धक्के मारते हुए डर रहे हो.

इसके बाद हम दोनों वीडियो सेक्स करने लगे और वो अपनी गुलाबी गुलाबी चूत में उंगली डाल कर आह आह कर रही थी, कामुक सिसकारियां ले रही थी. मुश्ताक ने बेल बजाई … सीमा ने दूर खोला और सीधी मुश्ताक की बाँहों में आ गयी. एक परिचित के द्वारा बिंदु से मेरी जान पहचान हुई और मुलाकातों का सिलसिला शुरू हो गया.

फिर उन्होंने मुझे खुलकर कहा कि तुमने शादी से पहले किसी के साथ सेक्स किया था?मैंने ना बोला, तो अंकल ने बोला- फिर फर्स्ट नाइट में तुम्हें मज़ा कैसे आया होगा?मैंने बोला- फर्स्ट नाइट को वो अन्दर डाल ही नहीं पाए थे. ऋतु ने उठ कर सारी लाइटें बंद कर दीं और सिर्फ एक मंद रोशनी वाली लाइट जला दी. वो चूत की सेवा तो करते ही थे साथ ही मैं उनसे कई बार घर का काम भी करवा लेती हूं.

मैंने इसके दूधों को दबाते हुए इसके होंठों को चूस डाला और फिर इसकी गर्म चूत में लौड़ा भी पेल दिया. थोड़ी देर में मैंने आंटी की चूत से लंड को निकाला और उनके मुँह से लगा दिया.

मेरा लंड तो कह रहा था कि आज तो दीदी की चूत मार ही ले लेकिन मैं दीदी को परखना चाह रहा था कि वो भी मेरे लंड को लेना चाहती है या नहीं.

अब उसने सीमा की टांगें चौड़ी की और अपनी जीभ उसकी गुलाबी चूत में घुसा दी.

फिर मैंने जोर के झटकों के साथ ही अपना रस उसकी चूत में ही डाल दिया उसी वक्त उसने भी एक बार फिर से अपना पानी छोड़ दिया. कुछ देर के बाद यहां-वहां की बातें करने के बाद उसने कहा- क्या तुम्हें उस दिन वाली वीडियो देखनी है?मैंने अन्जान बनते हुए कहा- कौन सी वीडियो?वो बोला- पोर्न वीडियो. फिर क्या था … मैंने भी पूरा जोर लगा कर एक धक्का दे मारा और मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया.

उनकी बातों से लगा कि वो भी मुझसे वही चाहते हैं, जो मैं उनसे चाहता हूँ. उसके जाने के बाद मैं अपने फोन पर एक सेक्सी हॉलीवुड की मूवी देखने लगा. अब ये आप पर है कि दोस्तो कि आपको मेरी पहली सेक्स कहानी कैसी लगती है.

मुझे उसकी मासूमियत पर तरस आया और उसको कसके अपने गले लगा कर सुला लिया.

दरअसल मुझे रूम सिर्फ किसी प्रायवेट हॉस्टल में चाहिए था जहां मुझे लंड की कमी न हो और 24 घंटे रूम देने वाला मकान मालिक भी मौजूद न हो. इस रसीली सेक्स कहानी सुनाने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता दूँ. लेकिन उस दिन हमने बस सीधा सीधा लंड चूत का मिलन करने वाला सेक्स किया.

” उसके दिमाग ने कहा। दिमाग की आवाज़ ने उसके दिल को मात दे दी और उसने अपना हाथ आगे बढ़ाकर अपनी बहू के चिकने पेट पर रख दिया।वाह … कितना नर्म और चिकना बदन है. उसने उस नेपकिन से मेरी बीवी की चूत में से बह रहे अपने पति के वीर्य को पौंछा और फिर ध्यान से नेपकिन पर लगे वीर्य को देखने लगी. कुछ देर इधर-उधर की बातें करने के बाद मैं उसको फिर से उसी विषय पर ले आया जिस विषय पर उसके जाने के पहले हम लोग बातें कर रहे थे.

मेरे हर धक्के का जवाब भी उतनी ही तेज़ दे रही थी जितनी तेज़ मेरे धक्के थे।मेरे अंदर का तूफान आ चुका था, मैंने उससे पूछा- कहाँ निकालूं?उसने कहा- अब मैं तुम्हारी हूँ, जहां मन करे, निकाल दो!और इतना कहते ही मैं और वो एक ही साथ झड़ने लगे.

मैंने उसका मन बहलाया, मैंने कहा- यार, तेरा भी मस्त है।मैं उसका मरोड़ दिया, बोला- अभी वह लौंडिया चुद कर मस्त हो गई. चिकनी चूत होने के कारण मेरा पूरा लंड एक बार में ही भाभी की चूत की जड़ तक घुस गया.

सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी अपने पूरे दिल से वह चाहती थी कि वह उसे रोके लेकिन वह अपनी भावनाओं को छुपा रही थी. ’ उसने अपने आप से कहा और जैसे जैसे उसका बदन ठंडा पड़ता गया, उसका बदन शांत हो गया लेकिन चूत और गांड में दर्द अभी भी था।अब बेचारी क्या करती, कोई चारा नहीं था उसके पास … उसने किसी तरह रोटियां पकाई।वक़्त बीतने के साथ साथ दर्द बढ़ता जा रहा था, उसने पानी हल्का गर्म किया और एक कपड़ा लेकर टाँगों पर लगा हुआ वीर्य साफ किया और फिर अपनी चूत और गांड को गर्म पानी से साफ करने लगी.

सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी उसके बाद मैंने उसके हाथ को अपने लंड पर दबा दिया और उसके हाथ से ही अपने लंड को सहलाने लगा. मैंने पति का सोया हुआ लंड देखा और उसको बेड पर आकर अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी.

पर मैं खुद पर काबू कर झटके से उससे अलग हुई और किट उठा कर वहां से उसको तड़फता छोड़ भाग आई.

पुष्कर की सेक्सी वीडियो

सहलाते हुए कई बार मैंने अपनी उंगली उसके चूत में डालने की कोशिश की मगर उसने ऐसा करने नहीं दिया, शायद उसे दर्द हो रहा था।अब उससे बर्दाश्त नहीं हो रहा था जिसका उसकी सिसकारियों से पता चल रहा था, अब वो पागल सी होती जा रही थी और अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में ऐसे दबा रही थी जैसे मुझे ही अपने अंदर समा लेगी. प्रदीप और रीमा तो आपस में चिपट कर लेट गए थे और उनकी नजदीकियां तो हद पार कर रही थी. जैसे ही तू अपने ब्वॉयफ्रेंड से बातें करते हुए अपनी लोवर को नीचे करने लगी तो मेरा होश बेकाबू होने लगा.

मैं तो उसका इंतजार ही करती रहती हूं लेकिन उसे काम से फुर्सत ही नहीं है. वो मुझसे मेरे बारे में और मेरी फैमिली के बारे में बातचीत कर रहे थे. पीछे युवराज ने मेरी साड़ी और पेटीकोट कमर तक ऊपर कर दी थी। अंदर पैंटी नहीं थी तो मेरे नितंब उसके सामने नंगे हो गए थे, नितिन मजे से उन को दबा रहा था, उन गोलाइयों पर किस करते हुए उन्हें दाँतों से काट रहा था।ससऽऽह… धीरे… काटो मत…”सॉरी भाभी… आपकी गां… आप के कूल्हे … हैं ही इतने परफेक्ट … जी कर रहा है कि खा जाऊं … जरा सीधी होना … आपकी चूत देख लूं …”इधर नहीं रे … चल बैडरूम में चलते हैं.

दस मिनट तक मेरे पति ने ऐसे ही कुतिया बनाकर मुझे चोदा और फिर अपना लंड बाहर निकाल लिया.

वो बोला- अपनी फु्द्दी, अपनी चूत… जो भी कहती हो उसको, उसे दिखा दो अब।उसके कहने पर फिर मैंने अपनी चड्डी उतार दी. स्वरा बोली- वाह जनाब … तूने तो लज्जत दिला दी … इससे पहले कहां था?मैं हंस दिया और हम दोनों ने फिर से एक बार चुदाई के अगले राउंड की तैयारी शुरू कर दी. आधी रात के बाद मुझे पेशाब का प्रेशर महसूस हुआ तो मैं टॉयलेट में जाने के लिए उठ गया.

तू निश्चिन्त रह … और मुझसे कभी भी ऐसे बात ना करना वरना मैं तुम से कभी नहीं बोलूँगी. मैं जानती थी कि वो पांच दिन मेरी चूत के बिना रहे हैं इसलिए उनका लंड मेरी चूत में जाने के लिए बेताब होगा. उसका बदन कसरती था और उसका लंड खड़ा होकर पैरों के बीच डौल रहा था। मैं उसे देखती रही और वो मेरे करीब आने लगा.

तौलिये से उसने अपनी चूत और पिछवाड़ा साफ किया और अब पंकज उसके ऊपर चढ़ कर उसकी चुदाई करने लगा. ”मैं तो डर रहा था कहीं तुम यह बात मधुर को ना बता दो?”हट!!! ऐसी बातें तीसी तो बताई थोड़े ही जाती हैं, मुझे शलम नहीं आती त्या?”उसने मेरी ओर ऐसे देखा जैसे मैं कोई चिड़िमार हूँ। हाए मेरी तोते जान परी मैं मर जावां …वैसे गौरी एक बात तो है?”त्या?”तुम ब्यूटी विद ब्रेन हो.

फिर सोचा घर पर तो माँ और पिता जी के अलावा कोई है नहीं … तो ये कौन हैं. मुझे पता नहीं क्या हो गया था कि मुझे दीदी के बूब्स कुछ ज्यादा ही आकर्षक लग रहे थे. ऐप इंस्टाल कैसे करेंहाय दोस्तो! कैसे हैं आप? मैं प्रतीक अपनी पहली कहानी के साथ हाजिर हूं.

मैंने उस दूसरी लड़की को देखा, तो पता चला कि वो स्वरा थी और मेरे कॉलेज में ही पढ़ती थी.

ज़िन्दगी बड़ी अच्छी चल रही थी। मेरे पास लण्ड अब भी था पर मैं मन से और लिबास से औरत थी और अपने दोनों पतियों अंशु और उपिंदर के साथ प्यार से रहती थी।अंशु काम के सिलसिले में बाहर गयी हुई थी। मैं उपिंदर के घर पे थी। रात हो चुकी थी। खाने के बाद बिस्तर प्रोग्राम बस अभी खत्म हुआ था, मेरे गांड में उसका पानी झड़ चुका था और मैं प्यार से उसके लौड़े से वीर्य चाट रही थी।तभी उसका फोन बजा।अंशु है. अब हम अच्छे दोस्त हो गए थे, पर मैंने कभी सोचा नहीं था कि कभी उसके साथ मेरा सेक्स होगा और वो मुझे अपनी गोरी चिकनी गांड मारने देगा. उस दिन हम लोग बातें करते हुए मंदिर पहुंचे, वहां पूजा की और हम लोग वापस चल पड़े.

इसीलिए मैंने उससे बोला- तुम अपने बच्चे को उसकी नानी के पास छोड़ के दोपहर में आ जाना. मैंने जब तक बोतल से कुछ शराब उसके निप्पल पर डाली और निप्पल चूसने लगा.

फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया. आधे घंटे की मुलाकात में बातूनी रजनी ने राहुल के बारे में पूरी जानकारी ले ली और अपने मोबाइल नंबर भी शेयर कर लिए. कामुक मस्ती में सावधानी भी उतनी ही जरूरी होती है वरना ऐसी स्थिति किसी के साथ बनने में भी देर न लगेगी.

देवास सेक्सी वीडियो

मैं और वो एक दूसरे से हमेशा खुश थे और एक दूसरे से बहुत प्यार भी करते थे.

घर में घुसने से पहले गर्मी और थकान से परेशान था लेकिन उस खूबसूरत चेहरे से टकराकर आंखों के साथ-साथ पूरे बदन को ठंडक मिल गई थी. मैं तो एकदम स्तब्ध उसे देखते ही रह गया, क्या करिश्मा था कुदरत का, एक 23 या 24 साल की अदम्य सुंदरता की मूरत मेरे सामने खड़ी थी. मैंने सोचा कि शायद नींद में ही प्रिया ने अपना हाथ मेरे पेट पर रख दिया है इसलिए मैं चुपचाप लेटा रहा.

दोस्तो, मेरी यह सेक्स कहानी एकदम सच है, मैंने जो अनुभव किया था, वो जस का तस आपके सामने लिख दिया है. ससुर का लंड नीलम की चूत में घुस चुका था और उसे अब भी यकीन नहीं हो रहा था कि उसके साथ खुले आसमान के नीचे दिन दहाड़े ये सब हो रहा है. बाबा रामदेव का आश्रमउसके चुचे ज्यादा बड़े तो नहीं हैं, पर हाथ में आ जाएं, ऐसे मुलायम हैं, जैसे मक्खन हों.

क्या संयोग था किस्मत का कि वो वहाँ भी मेरे बगल में ही बैठी थी और उसके शरीर की मादकता मुझे मदहोश कर रही थी, मैं चाह कर भी कुछ नहीं बोल पा रहा था क्योंकि कैब में और भी लोग थे और दूसरा कहीं वो बुरा न मान जाए।मैं यह नहीं समझ पा रहा था कि ये मेरा प्रेम है उसके लिए या काम वासना। वैसे भी काम और प्रेम दोनों तो एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।उस दिन मेरा सफर इतनी जल्दी कैसे खत्म हो गया मैं समझ नहीं पाया. वो कभी कभी फ़ोन पर मेरे से सेक्स वाली बातें भी करता था और मुझसे बोलता था कि वो मुझे बहुत चाहता है और मुझसे रोज मिलना चाहता है.

फिर वो जाने लगी और कुछ कदम चलने के बाद बोली- यदि आपको सही लगे तो मैं आपके साथ ही चलूं क्या?मैंने कहा- आपकी मर्जी है. मैंने रीतिका से कहा भी था कि अपनी चाची से मिलवा दो, तब तो उसने तुम्हारा नम्बर दिया और मुझे कहा कि जाओ मज़े करो. ” समीर ने अपनी बहन के गालों से आंसू को पोछते हुए कहा।नहीं भाई, तुम बहुत अच्छे हो.

मेरे इतने कहते ही उसके चेहरे पर मुस्कान आ गई, उसने कहा- सच में आप मुझे छोड़ कर कभी नहीं जाते?मैंने कहा- जाता … मैं कभी सोचता भी नहीं कि आपको छोड़ कर कहीं जाऊं भी. उस समय 4-5 बार ज्योति की नज़रें मुझसे मिलीं, पर मैंने नज़रें चुरा लीं. हमारे बीच धीरे धीरे प्यार की बातें होने लगीं और फिर उसने मुझसे कहा- मैं तुमसे प्यार करने लगी हूं.

मैं आज तक भी नहीं समझ पाया हूँ कि वो कुणाल का लंड लेकर ज्यादा खुश होती थी या काजल की चूत चूस कर।मगर अब तो उसकी शादी हो गई है और उसके दो बच्चे भी हैं.

एक पॉर्न साइट खोलकर देसी इंडियन नंगी लड़कियों की तस्वीरें देखने लगा. कुछ ही पलों बाद वो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी और साथ में हाथ से आगे पीछे करने लगी.

इसी दौरान उसके छोटे भाई का मेरे पास सेंटर पर आना शुरू हो गया था और मैं उन सबको जानने भी लग गया था. आंटी अब तेजी के साथ मेरे लंड पर उछलने लगी और नेहा ने अपनी चूत मेरे मुंह पर सटा दी. नीता ने सबको अपने अपने कमरे में जाने को कहा और अपना गाउन पहन कर रानी को फोन करके आने को कहा जिससे खाने की तैयारी हो सके.

अब मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया लगाया और उसके पैर खोल कर उसके बीच में आ गया. मैं जब भी उनसे बात करने की कोशिश करता, तब कुछ ना कुछ उल्टा हो जाता था. फिर उन्होंने मुझे बेड पर सीधी लिटाकर अपने पैर मेरी कमर की बाजू में रख लिये और चूत में लंड को पेलने लगे.

सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी ग़लती से उन्होंने अपना दुपट्टा, जो कि मूतते समय उतारा होगा, उसे वही टंगा छोड़ कर ले जाना भूल गईं. फिर मैं इतने में नमकीन लेकर आ गया लेकिन वो दोनों अभी भी फोन में व्यस्त थे.

सेक्सी विडियो ईगलीस

मैंने उसकी गर्दन को चूमना शुरू किया और फिर एक झटके में नीचे से अपना लिंग उसकी योनि में धकेल दिया. आख़िर पूरा लंड चुत में घुसा कर ही मैंने दम लिया … मुझे बेहद दर्द हुआ, हल्का खून भी निकला, पर इतने दिनों से डिल्डो से खेलते रहने से मुझे इसकी आदत सी हो गई थी और इससे होने वाला डर अब मजे में बदलने लगा था. सासू माँ के मुँह से ये सुनते ही मैंने भी उनकी गीली चूत को चाटना शुरू कर दिया.

साथ ही साथ यह भी कह दिया कि जब मम्मी जी टॉयलेट से निकलीं, तो मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने उन्हें किस कर लिया. मैं वेब डेवलपर की नौकरी करना चाहती थी लेकिन मेरे घर वाले मुझे दूर भेजना नहीं चाहते थे. श्रीलंका बीएफदोस्तों चारू ने बताया कि उसको खुल कर फ़ोरप्ले करना पसंद है, जबकि उसके हस्बैंड को यह सब बिल्कुल भी पसन्द नहीं है.

तब मैंने कहा कि देखती हूं, अगर किसी तरह कोई जुगाड़ बनता है तो मैं आऊंगी.

उसने मेरी चूचियों को मसल मसल कर उनका हलवा सा बना दिया था, मेरी चूचियों का बुरा हाल हो चुका था. प्रिय मित्रो, नमस्कार … मैं राकेश, ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली सेक्स कहानी है.

मोनाली बार बार बोल रही थी कि बस करो प्रकाश … तुम अपना लंड मेरी चुत में अभी का अभी अन्दर डाल दो. भोला ने कहा- साली रंडी, कैसी बेटी है तू? अपने बाप का लंड गांड में नहीं ले सकती है?फिर भोला ने जीजा से कहा- तू चोद साली को, इसकी गांड को ढीली कर दो. राजीव ने शबनम को नीचे पलटा और अपना मुंह उसकी चूत में ले गया और उसकी दोनों टाँगें चौड़ी कर अपनी जीभ उसकी चूत में घुसेड़ दी.

ये सुनते ही मैंने उसे अपने नीचे लेटाया और उसकी चूत में लंड घुसाने का रास्ता ढूंढने लगा.

मम्मी बोलीं- तुम्हारी साँस फूली हुई क्यों है?मैंने कहा- अभी मेरी आंख खुली है, मैं कोई सपना देख रही थी … और शायद इसलिए ही ऐसा हो गया होगा. उसने मेरे करीब आकर मेरी ब्रा के अन्दर हाथ डाला और मैंने उसकी पैंट खोल दी. परवीन- हो क्या गया है तुमको जीशान? इतने अच्छे बच्चे थे तुम … मैं तुम्हारी अम्मी की उम्र की हूँ.

बीएफ भोजपुरी हिंदीपिंकी बोली- नहीं अभी सोचना भी नहीं … अभी कुछ दिन देखो कि क्या ये जो कुछ हुआ ये हमें कहीं डिस्टर्ब तो नहीं कर रहा. अब गांड मराने वाला लौंडा शान्त लेटा था। मेहमान लौंडेबाज गांड में अपना पूरा लंड पेल कर चालू हो गया ‘दे दनादन … दे दनादन … धच्च पच्च धच्च पच्च … अंदर बाहर … अंदर बाहर!वह धक्के पर धक्के लगा रहा था, उसकी सांस जोर जोर से सुनाई दे रही थी ‘हंह हह हूं …’ वह जोरदार तरीके से लगा था.

बट सेक्सी

मैंने डॉली को कॉल करके आने को कहा तो बोली- आज मैं नहीं आऊंगी, आप आयेंगे, वो भी अभी नहीं, रात को आठ बजे. उन चार अफ्रीकन हब्शियों के बड़े बड़े लंड से चुदने के बाद मेरी चुत को अब यहां के लंड शांत कर ही नहीं पाते थे. मैं बोला- मेरी ऐंजल ने वो जो किया था, उसका ब्याज मिला कर वापस कर दिया है.

लेकिन जब उस नंबर से रोज ही एसएमएस आने लग गए, तो मैंने उस पर कॉल की. मैंने कुछ नहीं कहा जिससे उसको भी पता चल गया कि मुझे उसके साथ ये सब करने में मजा आ रहा है. वो मेरे चेहरे की तरफ देख रही थी और मैं उसके चेहरे को पढ़ने की कोशिश कर रहा था.

अगले दिन शाम को गेम के बाद दिलावर को आते देख वहां से जल्दी से साईकल स्टैंड की तरफ चल पड़ी. पर मुझे नींद नहीं आ रही थी, मेरे दिमाग में सिर्फ हर्ष की कही हुई बात घूम रही थी।यह सोचते-सोचते मैं कब सो गई, पता ही नहीं चला. मैं समझ गया था कि मेरीबीवी की गांडदेख कर अनिल को सेक्स चढ़ने लगा है.

मैंने अपनी जिप खोल कर लंड को बाहर निकाल लिया और पूजा के हाथ में दे दिया. आआ आप क्या कर रहे हैं?” नीलम अपने ससुर के हाथ अपनी चूचियों पर लगते ही सब कुछ भूलकर सिसकारी लेते हुए बोली।ओहहहह बेटी, मुझे अपना वादा याद है, मगर मैं तुम्हारी तकलीफ कम करने के लिए ही इनसे छेड़ छाड़ कर रहा हूँ.

पिंकी बोली- क्यों?सीमा बोली- यार मस्ती करनी है, जरा रगड़ेंगे, मजा आएगा.

उसने लंड हाथ में पकड़ा और उसमें अपनी चूत फंसा कर लंड के ऊपर बैठ गयी. बीएफ पिक्चर सेक्सी फिल्मेंवस्त्रहीन भीगे जिस्म पर हाथ फिराया और फिर दायें हाथ से पकड़ कर लिंग को शॉवर से गिर रहे पानी के धारे के नीचे कर दिया. लंड चूसनेरास्ते में मैंने सागर से कहा- आज तो तुमने मेरी चूत को अपनी पूरी मर्दानगी दिखा दी. जब कभी उनका मूड होता है, तो वो अपना काम जल्दी से दो मिनट में करके सो जाते हैं और मैं अपने शरीर की आग अपनी उंगली से शांत करती हूँ.

मगर मैं उससे नजर बचाकर आगे निकल गई क्योंकि गांव में बदनामी बहुत जल्दी हो जाती है.

मेरी सास मदमस्त सिसकारियां लेते हुए लगभग चिल्ला सी रही थीं- हाय दैया … आह … फाड़ के रख दी … आह … चोद दिया … हाय दैया चोद दिया. मैं थोड़ी देर में क्लास खत्म करके उसके घर गया, तब वो नहा कर निकली थी और अपने बाल सुखा रही थी. मैंने चारू की गांड की गोलाइयों को अपने दोनों हाथों से कस कर पकड़ा औऱ अपने कूल्हों का जोर का उसके पिछवाड़े पर देने लगा.

तभी वो ये भी बोला कि वो मेरी मॉम से प्यार करता है और उनको हर सुख देना चाहता है. मैंने उसे देखा तो वो मुस्कुराई और बोली- मुझे समझ आ गया था कि तुम मेरी घुंघराली झांटों की वजह से मेरी चूत नहीं चाट सके थे. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को उसकी चूत पर सही जगह सैट कर दिया.

सेक्सी वीडियो 25 साल की

मैं तेजी से उसकी चूत को चोदने में लगा हुआ था और वो जल्दी ही अपने चरम पर पहुंच गई।मैंने अपनी स्पीड और बढ़ा दी। अब मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके बूब्स दबाने लगा और बहुत जोर से उसके चूचों को खींचने लगा।अब मेरा भी होने ही वाला था. फिर उसने अपना मुँह मेरी कंधे पर रखा और उसके गाल से मेरे गाल चिपक रहे थे।मैं एक्टिवा बिल्कुल आराम से चला रही थी क्योंकि मुझे साईकल चलानी आती थी तो बैलेंस करने में इतनी दिक्कत नहीं हुई. ”व्हाट?”(क्या)हर सैटरडे (शनिवार) वो वहीं जाती है, जाओ मिल लो अपनी इशिता से.

मैंने उनको बिस्तर पर सीधे लिटा दिया और उनके मम्मों के बीच में अपना लोहे जैसा लंड ब्रा के बीच में फंसा कर ऊपर की ओर कर दिया.

मेरी उम्र 40 साल है मगर मेरी बॉडी काफी हद तक फिट है और कहीं से भी मेरी शेप बिगड़ी नहीं हुई है.

मैंने अपने इस संदेह को लेकर भाभी को मैसेज किया कि भाभी अपने बीच प्यार कैसे हो पाएगा?भाभी बोलीं- तू चिंता मत कर, वो सब मैं संभाल लूंगी. चोदेगा? कभी चोदी है?वह बहुत ज्यादा प्रभावित था, बार बार हाथ में मेरा लंड लेकर कह रहा था- इतना बड़ा तो कम लोगों का होता है. ब्लू फिल्म दिखाओ ब्लू सेक्सीफिर रात को मैंने तीन बजे के करीब एक फिर से उसकी चूत पर अपने लंड से हमला कर दिया.

मैं धीरे-धीरे मालिश करते हुए अपने हाथों को उसके चूचों तक लेकर जा रहा था. रात पूरी अपनी थी … मुश्ताक ने ड्रिंक्स बनाए … दोनों ने टॉवल ही लपेटे थे. हमारी चुप्पी तब टूटी जब मेरी धुएँ की डंडी ने मेरी उंगली जलायी, तब मैंने अपने आप को सामान्य किया और उससे पूछा- जी बताइये?वो कुछ समझ नहीं पायी और वहीं खड़ी रही.

इतने बड़े लंड का अमृत मैं क्या वेस्ट जाने देता! मैंने एक बूंद भी नहीं जाया होने दिया … पूरा का पूरा माल निगल गया. और फिर मैंने भी अपने आपको नंगा किया और वासनामयी प्रेमालाप के साथ शुरुआत कर दी.

उन्होंने लेटने के पहले ही अपनी सामने से खुलने वाली नाइटी को खोल दिया था.

जैसे ही उसने अपनी ज़ुबान मेरी चूत पर रख कर अन्दर की, मेरी चूत तो उछल पड़ी. उधर सागर के घरवालों ने तो यह कह दिया- जो चाहो करो, हम यही समझेंगे कि हमारा कोई बेटा नहीं था, जिसका नाम सागर था. मॉम ने फिर अपने पति से तलाक ले लिया और मेरी मॉम विभा ने अपने मर्द राजनाथ से विवाह कर लिया और अपना नाम भी बदल लिया.

एक्सएक्सएक्सी मूवी जैसे ही मैंने मूड शब्द का प्रयोग किया, चयन ने मेरे लंड पर हाथ रखते हुए कहा- अच्छा तेरा ऐसा कितना बड़ा है मोंटू … देखूँ तो ज़रा. हम रोज रात नंगे बदन एक दूसरे की बांहों में लिपट कर प्यार की बातें किया करते थे.

पेपर देने के बाद वहां होटल में चुदाई के खूब मजे लेने के बाद दूसरे दिन कानपुर वापस पहुंच गई थी. लंच करने के बाद शरीर में सुस्ती सी आ गई और मैं अंगड़ाई लेते हुए उठ कर अपने कमरे में जाकर बेड पर गिर गया. मॉम ने अपनी नाइटी को कमर तक उठा रखी थी और अपने और अपने एक हाथ से अपनी चूत को सहला रही थीं.

न्यूड सेक्सी फिल्म

इसके बाद बर्थडे पार्टी वाले दिन मेरे बॉस ने मुझे एक गिफ्ट दिया और कहा- यह तुम्हारा पार्टी गिफ्ट है, आज तुम इसको ही पहन कर आना. उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया. उसके चूचे उसके घुटने से लगने के बाद जैसे बाहर की तरफ ही निकलने वाले थे.

तब तक युवराज ने मेरा पल्लू पकड़ कर खींचा और मेरी साड़ी उतार दी। अब मैं सिर्फ पेटीकोट और ब्लाऊज़ में थी।नितिन ने मेरे नितम्बो का मोर्चा संभाला, वो मेरे कूल्हों को पेटीकोट के ऊपर से मसलने लगा. उसे स्वीमिंग सिखाने का शौक था पर यहाँ स्वीमिंग सिखाना सेक्सी लग रहा था, जो राहुल को पसंद भी था.

बहुत संकरी चूत थी उसकी; इससे पता चल रहा था कि इससे पहले उसने कभी पहले ज्यादा बड़ा लंड नहीं लिया था.

लेकिन मुझे पता था कि ऐसा ही होने वाला है तो मैंने अपनी पकड़ उस पर पहले से ही मजबूत रखी थी कि वो छुड़ा न सके. मैं तो भूल ही गया था कि उसने खाने को मंगाया था। मैं उसके सामने नहीं आना चाहता था तो मैं उसके घर के अंदर जाते ही ऊपर छत में चला गया।सेक्स अभी भी मेरे दिमाग में भरा हुआ था तो ऊपर जाते ही मैंने अपनी बियर एक सांस में गटक ली. मैंने तो अपना वीर्य निकाल लिया लेकिन उसके बारे में तो मुझे ख्याल ही नहीं आया.

चाची- उम्म्ह… अहह… हय… याह… अपनी चाची को नए नए मज़े दे रहा है और चाची को अपना बना रहा है … शाबाश बेटा. मेरा इशारा समझते हुए उसने अपनी पैंट और अंडरवियर अपने कूल्हों के नीचे से उतारकर घुटनों के नीचे तक ले आया। उसकी पैंट अब कार की मैट पर थी और उसके पैर अभी भी उसके पैंट के अंदर ही थे. उनके बारे मैंने आपको पहले ही बता दिया था कि वो तो मानो कामवासना की देवी थीं.

मैं उसके बदन से लिपटा रहा और वो मेरी पीठ पर अपने हाथों से सहलाती रही.

सेक्सी दिखाइए बीएफ सेक्सी: मैंने संजना के घर जाने के बारे में सोचा ताकि उसके बेटे से भी मिल लूंगा और उसको थोड़ा सहारा भी मिल जाएगा. और दोस्तो … जो डर था, वही हुआ।पांच मिनट बाद ही एक मोड़ लेने पर पता चला कि उस रास्ते पर पाइपलाइन का काम चल रहा है और वह रास्ता बंद हो गया है।नितिन तो मानो ग़ुस्से से आगबबूला हो गया था- मैंने पहले ही कहा था कि यह गलत रास्ता है, तुम मुझे जबरदस्ती इस रास्ते ले आयी, तुम्हारी वजह से मैं ट्रेन और नौकरी खो बैठा … बहुत हो गया … मुझे वापिस ले चलो … नहीं तो मैं तुम्हारी ऑनलाइन कंप्लेट कर दूंगा.

स्मायरा बोली- कोई बात नहीं … दीपक को कुछ काम भी था मुंबई … तो उनके साथ मेरा बेटा भी चला गया. भैया का लंड था तो छोटा, पर भाभी भी अभी तक तो मुझे वर्जिन ही लग रही थीं. ” वो मेरे कानों के पास अपने होंठों को लाकर ऐसे ही कामुक सिसकारियां लेते हुए बड़बड़ा रही थी.

फिर मैंने आंटी की चूत में अपनी दो उंगलियां घुसा दीं और तेजी से आंटी की चूत में उंगलियों से चुदाई करने लगा.

उन्होंने हमें कहा कि हम उस एक हफ़्ता मोहिनी के साथ उनके घर में रुके. जब उसकी बेटी को अपने पिता की नियत का पता चला तो …मेरी नॉनवेज स्टोरी के पिछले भाग में अपने पीया महेश के साथ अपनी पत्नी को नंगी लेटे हुए देख कर समीर सोच में पड़ गया. सुबह छह बजे के करीब मेरी आंखें खुलीं, तो देखा रीना फ्रेश होकर बाहर निकल रहा थी.