बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,भाभी को सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी एचडी सेक्सी ब्लू: बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ, मैंने बोला कि मुझे जल्दी है, तुम जल्दी से खाना दे दो, मुझे घर जाना है.

सेक्सी देसी पोर्न

सब भाभियाँ, आंटियां मुझसे ही सर्विस लेती थी लेकिन कोई मेरे लिए कुछ नहीं करती थी. सेक्सी वीडियो सेक्सी बीएफ वीडियोआज पहली बार मैंने बाथरूम में जाकर दीदी और रिया के बारे में सोचते हुए मुठ मारी.

निशा यूनिवर्सिटी में टॉपर है … और ये पढ़ने वाली लड़कियां कुछ ज्यादा ही रोमांटिक होती हैं, मैं आज समझ चुका था. ஆன்டி புன்டைमैं अपने सास-ससुर से अलग दिल्ली में अपने पति के साथ एक बड़े से फ्लैट में रहती हू.

यह बात तब की है, जब एक साल पहले मेरी सहेली शालिनी की लखनऊ में शादी थी.बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ: बहू बोली- अरे डैडी जी, अपने कोट के साथ टाई नहीं पहनी है? आप यहाँ खड़े हो जाइये, मैं टाई बांध देती हूँ.

वो हंसने लगी और बोली- भैया मैं कैसे घोड़ा बन सकती हूंमैंने पूछा- क्यों?उसने बोला- अरे भैया मैं तो लड़की हूँ न … तो मैं तो घोड़ी बनूंगी न!तब मैंने कहा- अच्छा बाबा, घोड़ी ही बन जाओ.सारे कमरे में बस ‘आअहह आअहह यस्सस्स यसस्स ओह अज्ज्जजुउ … यह क्या कर दिया है तुमने मेरे साथ … आह पहले क्यों नहीं मिले तुम.

सेक्सी आंटी ब्लू फिल्म - बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

ये उस समय की बात है जब मैं मेरे पापा के किसी दोस्त के घर की शादी में जा रही थी.तुम्हारे आने से मेरा तो अच्छा टाइम कट जाता है, आते रहा करो। तुम्हें कहाँ चाय बनाना आता होगा।”भाभी, बिना पिये ही बोल दिया? चलो आज ऊपर ही चलो, फिर बताता हूँ कि मुझे क्या क्या बनाना आता है। शायद आपको मालूम ही नहीं कि मैं अपने लिए खाना घर पर ही बनाता हूँ।”अच्छा ये बात है? तो चलो मैं आती हूं.

हर महीने मैं वहां जाकर तीनों फ्लोर के किरायेदारों से महीने का किराया लाया करता था. बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ इसी बीच मैं तैयारी करने के लिए प्रयागराज आ गया और निधि वही कॉलेज में ग्रेजुएशन करती रही।ऐसे ही एक दिन मैं कोचिंग क्लास खत्म कर रूम पर आया.

नशे में तो हम वैसे ही थे, तो मैंने आगे बढ़ कर अपने होंठ उसके होंठों से साथ मिला दिए और धीरे धीरे उसको किस करने लगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ?

मैं माया से बात तो कर रहा था, लेकिन मेरी बार बार नज़र उसके चुचों पर जा रही थी. अब आगे:मैं उसके गले को किस करने लगा, उसके दोनों चुचों को ब्लाउज के ऊपर पकड़ कर जोर से दबाने लगा. मैंने भी उनको रोका नहीं क्योंकि जब चूत में ससुर का लंड ले चुकी थी तो गांड में भी ले लिया.

मेरे हर के धक्के से कल्पना के मुँह से ‘आह … आह … उह … हम्म … और तेज और जोर से आह … आह … और अन्दर … चोदो … मुझे और चोदो … हां ऐसे ही हम्म आह…’ की मादक आवाजें निकल रही थीं. उनके साथ जब भी ड्रिंक करो … मुझे पूरी तरह से नंगी ही रहना पड़ता है. मैक्सी को मैं अब उसके कमर के ऊपर तक ले आया और उसकी चूत नीचे से नंगी हो गयी थी.

’कह कर मुझसे कहा- ठीक है ले जाओ … और सुनो कल शाम को तुम्हें मुझे जिम पर पिक करने आना है. उसकी बात सुन कर करोना शर्मा कर मुस्कुरा दी और डाइनिंग टेबल पर बैठ कर खाना सर्व करने लगी. मैंने दीदी के कमीज में हाथ डालने की कोशिश की लेकिन दीदी ने मेरे हाथ को पकड़ लिया.

कुछ देर बाद भाभी मजा लेने लगीं और अब वो बार बार मुझसे कहे जा रही थीं- आंह चोद डाल … मेरी चूत को फाड़ दे आज … मुझे पूरी रंडी बनाकर चोद दे … आजा मेरे राजा. तो हमने क्या किया?मेरी बहन की चुदाई की सेक्सी स्टोरी के पहले भागकुंवारी मौसेरी बहन की चूत चुदाई-1में आपने अभी तक पढ़ा कि मैं अपनी मौसेरी बहन को एक परीक्षा दिलाने ले गया था.

मैंने गणित लगाया और देखा कि नहाने, पैकिंग और स्टेशन पहुंचने इन सब में 2 घंटे लगेंगे.

दोस्त- कुणाल तू एक काम कर … तू पहले वाले कमरे पर आ जा, मैंने पास में ही दूसरा कमरा लिया है.

मेरे पूछने पर अंजू ने बताया कि उसके सास, ससुर व पति बहुत अच्छे हैं. मैं भी उसके होंठ चूस रहा था, एक हाथ से उसके बूब्स दबा रहा था और एक से उसकी चूत में उंगली कर रहा था. करीब पचास धक्कों के बाद जैसे ही भाभी फिर अपने चूतड़ों को उठाने लगीं, तो मैंने भाभी के दोनों पैर अपने कंधों के ऊपर ले लिए और जोर से उनकी चुत में लंड के झटके लगाना चालू कर दिए.

तीन-चार मिनट लगे उसको नॉर्मल होने में, तब जाकर मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किये. मैंने ये सुनते ही अपना लंड भाभी की चूत पर सैट कर दिया और हल्का सा धक्का दे दिया. चूत टाइट थी इसलिए पहली बार में लंड का सुपाड़ा अंदर न जाकर चूत पर से फिसल गया.

वो बोली- ऐसे आज तक मुझे किसी ने नहीं चोदा … तुमने आज मेरी प्यास बुझा दी है साहेब … अब मैं तुम्हारी हो गई हूँ … जब चाहो मुझे चोद लेना.

इस तरह मेरे पास उसका नम्बर आ गया।मैंने उसे वाट्सएप मैसेज करना शुरू किया और वो भी जवाब देने लगी। अब हम खाली टाइम पर बातें भी करने लगे।वो मेरी बातों में आ चुकी थी तो एक दिन मैंने उसे मेरी गलफ्रेंड बनने को कहा. मैं सलमा के बूब्स से फिर से खेलने लगा और उसकी चूत में उंगली डालने लगा. मेरी सेक्स कहानी में जो मेरी पहली चाहत थी, वो थी मेरे पड़ोस में रहने वाली चाची.

दोनों बाप-बेटे मेरे दूधों को चूसते रहते हैं इसलिए शायद इतने बड़े हो गये हैं. लगभग 20 मिनट बाद पुष्पा आंटी बोली- यही करते रहोगे क्या? मूवी खत्म हो जाएगी. फिर मैंने उसके मुँह से कपड़ा निकाला, तो उसने जोर से सांस लेते हुए गुस्से से कहा- भैया आज तो मार ही दोगे … इतना दर्द हो रहा है.

अगर मैं एग्जाम में अच्छे मार्क्स ले आया तो शायद दीदी को चोदने का दोबारा से मौका मिल जाएगा.

वो भी बड़े मजे से अपने दूध को मेरे होंठों में दबाए हुए ऊपर से बूंद बूंद दारू टपकाते हुए मुझे मजे से पिला रही थी. रास्ते में निधि ने कहा कि आज प्रपोज़ डे है, किसी को प्रपोज़ करना है या नहीं?मैंने उसकी बात काटते हुए कहा- पहले तुम बताओ।निधि ने कहा- हाँ, आज मुझे किसी को प्रपोज़ करना है अगर वो मुझे नहीं करता है तो!तब मैंने उससे कहा- ऐसे ही जाकर किसी भी लड़के को प्रपोज़ कर दोगी?निधि ने कहा- इशारा तो उसे बहुत करती हूँ पर वो मेरी बात ही नहीं समझता है.

बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ कभी उसके कमरे में नहीं गए आप?नहीं रानी, वैसे उसके कमरे में ऐसा क्या है?”रानी मेरा हाथ पकड़ के मुझे बहू के कमरे में ले गयी. और उन दोनों लड़कियों की चुदाई तो मैंने अपनी इस कबूतरी को दाना डालने के लिए की थी.

बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ वो पहले तो मना करने लगी क्योंकि घर पर चाचा की देखभाल के लिए कोई भी नहीं था. इस पर उसने कहा- पहले मैं तुम्हारे लंड और अपनी चूत को पानी से अच्छे से धो लेती हूँ.

फिर मैंने अपने माल को उनकी गांड के छेद पर मल दिया और फिर अम्मी की गांड में उंगली दे दी.

सेक्सी वीडियो चोरी वाला

उसके बाद तुम जिसकी चूत चोदने की इच्छा करोगे मैं तुम्हारे लिए करने के लिए तैयार हूं. डिस्चार्ज का समय करीब आते आतेहनी भी पूरे जोश में आ गई और अपने चूतड़ उछाल कर कहने लगी- मारो फूफा जी … और जोर से मारो. तो एक लेडी, जो वहीं की लग रही थी, ने हमको कहा- भाई साहब, यहाँ का सबसे बढ़िया नजारा तो सुबह के वक्त का है.

उपर्युक्त किसी भी तरह के प्रयोग के लिए आपके पास कलाकार के रूप में दो प्रकार के विकल्प हो सकते हैं-1. मैंने फिर से गर्म करने के लिए उसके होंठों और मम्मों पर किस करना स्टार्ट किया, जिससे वो मुझे अपने ऊपर खींचने लगी. मेरे घर में सभी बच्चों के एक साथ आने पर सभी ख़ुश थे, इसलिए मम्मी ने हम सबके लिए एक बड़े कमरे में सोने का इंतजाम किया था.

तभी तो आगे की कार्रवाई पूरी होगी या बिना कपड़े उतारे ही अपनी भट्टी शांत कर लोगी?तो उसने कहा- यार, कपड़े मैं ही उतारूंगी तो क्या मजा है। ऐसा करो, तुम मेरे सारे कपड़े उतार डालो और मैं तुम्हें नंगा करती हूं।उसकी यह बात भी ठीक थी, असली मजा तो एक दूसरे कपड़े उतारने में ही था.

उसी समय मैंने दूसरी क्लिप दिखाने के लिए ब्लू फिल्म का फोल्डर खोल दिया और जैसे ही चुदाई वाली फिल्म चालू. मैंने उससे कहा- नहीं, आप अंदर नहीं करना क्योंकि हमने कंडोम नहीं लगाया था. उसकी चुत को जैसे ही मैंने अपनी उंगलियों से फैलाया, तो चुत के अन्दर का नजारा एकदम से सुर्ख लाल था.

कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बॉयफ्रेंड के बारे में बता दूँ, मेरे बॉयफ्रेंड का नाम सागर है, मैं उसे सैम बुलाती हूँ. उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सटा दिया और जोर लगाते हुए उसकी चूत में लंड को घुसाने के लिए एक धक्का मारा. उधर रहने वाले सभी लोग गरीब घर से थे और सभी मजदूरी करने वाले रहते थे.

लंड लेते ही वो मेरी कमर में टांगें डाल कर झूल गई और लंड उसकी चुत में अन्दर तक चला गया. कल्पना मेरी बात सुनकर हंसने लगी और उसने कहा- मुझे पता था कि तुम्हारा कॉल आएगा … पर इतनी जल्दी कॉल करोगे, ये नहीं सोचा था.

इतनी बात होने के बाद मैंने उसे धन्यवाद किया और हमारी बातचीत खत्म हो गई. उसने मेरे उल्टे हाथ की तरफ की चुची के चारों और इंची टेप लगाया … और चूची को नापा. इसी बीच मुँह हाथ धोने के बाद करोना ने अपनी लाल रंग की नाईट ड्रेस पहनी.

फिर बहू ने गेट बंद कर दिया और बेटे को रूम में ले गयी मैं भी अब लेट गया.

मैंने अपनी कमर आगे पीछे करके झटके लगाने शुरू किए और उसकी जोरदार चुदाई करने लगा. उसके पतले और गुलाबी से मुलायम होंठों को देख कर मेरा दिमाग खराब होने लगा. मैंने भी सोचा हुआ था कि अगर आज किला फतेह नहीं हुआ, तो आगे से दरवाज़ा तक छूने को नहीं मिलेगा.

अब उसने मेरा विरोध करना बिल्कुल बंद कर दिया था … और अपनी टांगें पूरी तरह से खोल दी थीं. क्या तू मेरे को मसाज दे सकती है … इसके लिए मैं तुझे अलग से पैसे दूंगी.

वे थोड़ा मेरी तरफ झुक कर बैठी हुई थी तो मुझे उनके बूब्स दिख रहे थे. सलमान की देख रेख करते करते कब मैं नसरीन की तरफ आकर्षित हो गया, कुछ पता ही नहीं चला. भाभी की गांड चुदाई की कहानी मैं अगली बार लिखूंगा, तब तक आप मुझे मेल करके जरूर बताएं कि आपको मेरी कहानी कैसी लगी?[emailprotected].

नेपाली सेक्सी एचडी

वो ये सुनकर डर गई और बोली- नहीं भाई … गांड नहीं मारना … बहुत दर्द होता है.

यह कहानी मेरी खुद की है, जिसमें मेरी सगी बहन नन्दिनी, चचेरी बहन ज्योति और मेरी भांजी कविता शामिल हैं. मम्मी की रंगरेलियाँ मैंने अपनी जवानी की शुरुआत से ही देखनी शुरू कर दी थी। अब मेरी भी सेक्स की आग भड़कने लगी थी। पहले तो उंगली से फिर गाजर मूली, लेकिन असली मजा तो असली चीज से ही आता है. मगर जैसे ही मैंने उसे देखा, तो सारा गुस्सा ऐसे गायब हो गया था … मानो मैंने खुद ही कोई गलती कर दी हो.

मैंने बॉक्सर से बाहर निकाल कर अपने लण्ड का सुपारा आंटी की चूत पर रख दिया और हल्के हल्के से रगड़ने लगा. मैंने सोचा कि मेरी मॉम रंडी बन चुकी है अब! और मॉम को सोचते हुए मैंने मुठ मार दी. सूरज पंचोली जीएफ बीएफटूर का पांचवां दिन था, पैर में हल्की सी मोच के कारण नीलम हम लोगों के साथ घूमने के लिए तैयार नहीं हुई तो मैं, सुधा व कमल घूमने निकल पड़े.

अगर आपका रेस्पोन्स सही रहा तो मैं और भी सेक्स कहानियां आप लोगों बताऊंगा. ऐसा दिखने में लगता है तो होगा भी!और आपको मैं रचना भाभी के बारे में बताऊँ जो दिखने में इतनी गजब की माल है कि मैं आपको लिखकर के बयां नहीं कर सकता.

मैंने अपने आपको थोड़ा और आगे को किया और एक करवट लेकर अपना पैर प्रीति के ऊपर रख कर हाथ उसके दूध के ऊपर रख दिया. उन्होंने मेरे बगल में भी क्रीम लगा कर बाल साफ कर दिए और गीले कपड़े से साफ कर दिए. उनकी मोटी मोटी चूचियां एकदम से नंगी हो गयी और उभर कर मेरी आंखों के सामने आ गयी.

अब अगली बार मैं आपको अपनी बड़ी बहन की चुदाई की कहानी को विस्तार से लिखूंगा. मैंने पूछा- ये क्या लगा रहे हो?उसने कहा- कुछ नहीं, बस इससे मजा ज्यादा आएगा. एक दिन मैंने घर में कुछ ऐसा देखा कि अम्मी के बारे में मेरे विचार बदल गये.

मेरे पास बस अब एक ही रास्ता था कि दीदी को फोन देकर उनसे माफी मांग ली जाए.

दोस्तो, मैंने भाभी की चुत चूसना शुरू कर दिया और काफी देर तक चुत चूसता रहा. मैं- मुझे पता है कि तुम्हें क्या बोलना है … तो हम जब इस रूम से बाहर निकल जायेंगे तब बात करेंगे उस बारे में … अभी बस मजे करते हैं.

उसको लिटा कर मैंने बहन की चूत पर अपनी जुबान का जादू चलाना शुरू कर दिया. जब उससे बर्दाश्त नहीं हो पाया तो वो एकदम से उठी और मुझे नीचे बेड पर अपने नीचे पटक लिया. मैं कॉलेज के लिए घर से निकला, तो देखा कि तो मेरी बाइक ही पंचर पड़ी थी.

हाय दोस्तो, मैं शिवा आज फिर आप लोगों के लिए एक सच्ची कहानी लेकर आया हूँ जिसमें आप लोग पढ़ेंगे कि कैसे मैंने अपनी कजिन दीदी की बेटी की चुदाई की. मामी से मैंने पूछा- मामी, लड़कियां भी अपनी चूत को अपने हाथ से मजा देती हैं क्या?वो बोली- तुम्हारी उम्र के सब लड़के-लड़कियां करते हैं. वो मुझे देखते हुए बोले- तुमको दिन में 2 बार आना होगा, सुबह ब्रेकफास्ट और शाम में डिनर बनाने.

बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ इन नज़रों में नसरीन के लिए एक भाई का जो प्यार और स्नेह होना चाहिए, वो बिल्कुल नहीं था. एकदम गजब का सीन था वह! मैं तो इतना गर्म हो गया था मैं कि मैंने एक बार मुट्ठ मार लिया.

अंग्रेजी सेक्स की वीडियो

पहले एक हॉल था और उसके बाद एक रसोई बनी हुई थी और तीसरा फिर एक रूम था अंदर की ओर. कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं अपने परिवार से आपका परिचय करवा देता हूं. कुछ ही देर में तेल गायब हो गया तो मैंने चार बूंद तेल फिर से सारिका की गांड के छेद पर टपकाया और अंगूठे से मसाज करने लगा.

आपके विचार आप मुझे इस ईमेल-आईडी पर भेज सकते हैं-[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव की कच्ची कली-2. कई दिन मैंने ऐसे ही चुदाई देखने की उम्मीद में कई रातें बर्बाद कर दीं. बीएफ हिंदी मूवी एक्स एक्स एक्सजाते जाते मैंने भाभी को एक ज़ोर सा चुम्बन दिया और उनसे विदा लेकर वहां से निकल गया.

नितिन ने मेरे दोनों मम्मों को जोरों से मसला और दोनों निप्पलों पकड़ कर खींचने लगा.

तभी तो आगे की कार्रवाई पूरी होगी या बिना कपड़े उतारे ही अपनी भट्टी शांत कर लोगी?तो उसने कहा- यार, कपड़े मैं ही उतारूंगी तो क्या मजा है। ऐसा करो, तुम मेरे सारे कपड़े उतार डालो और मैं तुम्हें नंगा करती हूं।उसकी यह बात भी ठीक थी, असली मजा तो एक दूसरे कपड़े उतारने में ही था. नेहा के चेहरे के भाव बता रहे थे कि उसने आज तक लंड असल जिंदगी में नहीं देखा है.

इतने में बस चल पड़ी।रास्ते भर मीनू अपने कूल्हों को इधर उधर कर रही थी, इस दौरान मेरी नजर उसकी पैंट पर गयी और मुझे उसकी कच्छी के दर्शन हो गए जो पिंक कलर की थी।कुछ देर बाद मीनू सो गयी और मेरे कंधे पर अपना सर रख लिया. और आखिर वो दिन भी आ ही गया जब उसकी दीदी उसके घर चली गयी और वो अकेली रह गयी।पूरा दिन बड़ी बेचैनी से गुजरा मेरा! मैं सोचता रहा कि कब रात हो और मैं उसे जम कर चोदूँ।आखिर रात भी आ ही गयी. मैंने जीभ से उसकी चूत की शेप पर जोर से फिराना शुरू कर दिया तो उसकी सांसें तेजी के साथ चलने लगीं और वो मेरे बालों को खींचने लगी.

इसलिए जब मैंने उसकी झांटों की बीच से उसकी चुत की फांकों पर जब हाथ लगाया, तो उसने मेरा हाथ बाहर निकाल दिया.

हरामी और एक्सपिरिएंस्ड चोदू चिन्ना जानबूझ कर अपने कूल्हों को भी थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा कर लण्ड का दबाव करोना की नाजुक पीठ पर बढ़ा देता. करीब पांच मिनट बाद करोना- अंकल आप मेरी चूत का बैंड कब तक बजाओगे?चिन्ना- आअह बस हो गया मेरी प्यारी बेटीईईईई!करोना की चूत में चिन्ना का लण्ड थोक में झड़ने लगता है और करोना उसकी पिचकारियों को महसूस करती है. मैंने इस बार उसे अपने लंड पर बिठाया और उसकी उछलती चूचियों को अपने हथेलियों में भर कर खूब मींजा.

एक्स एक्स एक्स नेपाली मेंरिटायरमेंट के समय मिले करीब साठ लाख रूपये खर्च करके मैंने अपनी बेटी अंजू की शादी बड़े धूमधाम से की. मेरी मां मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर लोलीपॉप के जैसे चूस रही थी.

सेक्सी लड़की मूवी

मुझे नहीं पता कि मैंने दीदी के साथ सेक्स संबंध बना कर ठीक किया या नहीं. मुझे अपने लंड को सहलाने की आदत थी लेकिन मामी शायद किसी और बारे में बात कर रही थी. मैंने अपना हाथ सूट के ऊपर से ही उनकी चूत पर रखा, तो वो ओर नीचे हो गईं.

हफ्ते में तीन दिन तो वो लोग चुदाई करते ही थे।मेरे बारे में पूछने पर मैंने बता दिया- पहले गर्लफ्रैंड थी, जिसके साथ मजे करता था अब कोई नहीं है।अब हम जब बहुत खुल ही चुके थे तो मुझे आगे की कार्यवाही शुरू करनी थी ताकि वो मेरे भी लण्ड के नीचे आ सके।एक दिन बाहर बड़ी ठंडी हवा चल रही थी, मैं कम्बल में घुस कर टीवी देख रहा था. मैं नहाने के लिए बाथरूम में गया और नहाने के बाद बिना बदन को पौंछे ऐसे ही तौलिया लपेट लिया. उसके मेरे लंड का सुपारा अपने छेद में रखा और खुद ही अपने चूतड़ उछाल कर मेरे लंड को अपनी चूत में घुसा लेने का प्रयास किया.

मैंने आकांक्षा को कॉल किया और उसे बहाना बनाकर आज के लिए मना कर दिया. उसने मुझे नीचे से ही घूर कर देखा, फिर उसको पूरा मुँह में लेकर चूसने लगी … मेरा पहली बार कोई चूस रहा था तो मैं सातवें आसमान में था. फिर बहू ने नहा धोकर मुझे ब्रेकफास्ट दिया मगर खुद का ब्रेकफास्ट नहीं लायी.

एक बार जब मामी मेरे घर आईं, तो मैंने सोचा ये मामी को चोदने का सुनहरा मौका है. उसकी पत्नी ने दरवाज़ा खोला और मैंने माया को देखा, तो उसने सफेद कलर की गाउन पहन रखा था.

उसके लंड से थोड़ा पानी आने लगा था जिससे उसके लंड की चमड़ी बड़े आराम से आगे पीछे हो रही थी.

मैं बोला- नहीं भाभी, आप तो अब भी कई कुंवारी लड़कियों को फेल कर रही हो. सेक्सी लंड बीएफचूत टाइट थी इसलिए पहली बार में लंड का सुपाड़ा अंदर न जाकर चूत पर से फिसल गया. ब्लु फिल्म हिंदी सेक्सीलिप किस के बाद नितिन मेरे गले पर किस करने लगा और मेरे मम्मों को जोरों से मसलने लगा. उसने कहा- ठीक है … तुम अन्दर जाओ और ट्रायल रूम के बाहर वाले कमरे में बैठो … मैं वहीं आता हूं.

तब बहू मुझसे पूछने लगी- डैडी जी, गांव में कौन है वो औरत? क्या मैं उसे जानती हूँ?मैंने कहा- बताऊंगा बहू, तुम्हें बता दूंगा.

उसकी लार धीरे धीरे मेरे लंड पर से बहती हुई मेरी जांघों पर आने लगी थी. वो भी कामुक आवाज निकाल कर मुझसे कह रही थी- आंह ऐसे ही … और जोर से अहह आह. आज मैंने अपने लौड़े को उसकी सलवार के नाड़े से रगड़ कर साफ़ किया और अपने कमरे में आ कर सो गया.

उसने वैसे ही मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी साड़ी ऊपर की और मेरे ऊपर चढ़ गया. मगर 1 घंटे बाद मेरे गेट खुलने की आवाज से मैं उठा और रूम की लाइट जलाई तो मेरी बहू मेरे टी शर्ट लोअर में खड़ी थी. कुछ परेशानियां होती हैं, कुछ मजबूरियां होती हैं, जिनसे उसे इस नर्क में जाना पड़ता है.

डीजे रीमिक्स गाने

दीदी अपनी चुत में उंगली डालने लगीं, जिससे उनकी उंगली मेरे वीर्य से सन गई. अपनी बहन की चूत में लंड को डाले ही हम दोनों वैसे ही पड़े रहे और एक दूसरे को नंगे जी अपनी बांहों में पकड़े वैसे ही लेटे रहे. कम्पार्टमेन्ट के दोनों खिड़की पर वृद्धा और वो कालेज का लड़का बैठा था.

तीन पैग पीने के बाद वो अपना लौड़ा सहलाते हुए बोले- अंजलि, तू एकदम हॉट एंड सेक्सी माल है … मेरी बीवी भी इतनी सेक्सी नहीं है.

उसकी आंखों पर से पट्टी हटा दी और उसके सर को, फर्श पर बने हुए ‘आय लव यू.

तब से ही मेरा भी मस्ती करने का बहुत मन कर रहा था। फिर तुम मुझे अच्छे लगने लगे. चिन्ना का खम्बे जैसा लण्ड करोना की स्लेक्स से ढकी चूत के सामने से होता हुआ करोना के पेट तक पहुँच रहा था, जिसकी वजह से करोना अपनी जगह से आगे नहीं हिल सकती थी।चिन्ना ने करोना को चुदाई के लिए तैयार करने की अपनी कार्यवाही आगे बढ़ाई और एक हाथ से करोना की चूचियों को सहलाता रहा. न्यू बंगाली बीएफउसके बाद माया ने किस तरह अपनीसहेली को भी मुझसे चुदवाया, वो अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

हम सभी बिहार के एक गाँव में रहते हैं और इस गांव में हमारी कुल 8 बीघा जमीन है, जिसमें मेरे पिता खेती करते हैं. फिर मैं उसकी चूत को चाटने लगा जिससे उसके मुँह से सेक्सी आवाज निकलने लगी- आ ऊ आ ऊ आ और जोर से … मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. वह एक गांव की सीधी सादी महिला थी जो घर के काम के अलावा किसी चीज के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानती थी.

उनमें से कोई मेरी सहेली का ससुर था, कोई देवर, कोई जीजा … सब कोई घर के ही सदस्य थे. मौका देख कर वो मेरे लंड को पकड़ लेती थी और मैं उसको जमकर चोदने लगा.

इस बार कल्पना ने मेरे होंठों को काट लिया और भी जोर से चिल्ला दी- आह … हाय रे साले हरामी … मार डाला रे … आहा … आह कुत्ते तूने मेरी चूत की वाट लगा दी … साले आराम से नहीं चोद सकता क्या … आह हाय रे … मर गयी आह.

मैंने कहा- क्यों क्या हुआ… तू भी तो जवान और समझदार है अब, और मुझे मालूम है एक बात. मैंने देखा कि उसमें एक दुबला पतला लड़का मोटी औरत के साथ चुदाई कर रहा था. तभी चमन ने पीछे से आगे हाथ करके मेरे चुचे पकड़ लिए और उन्हें दबाना शुरू कर दिया.

सेक्सी नंगी वीडियो चलने वाली जैसे ही उसकी गांड ने शरमाना छोड़ा, मैंने एक उंगली उसकी गांड में डाल दी. अब मैंने वहां रुकना ठीक नहीं समझा और मैं भी फ्रेश होकर वहां से निकल लिया.

कुछ ही देर में वो भी मजे लेने लगीं और अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगीं. वो उसे धीरे धीरे सहलाने लगी। मैं भी एक हाथ से उसकी चूचियों को मसलते हुए दूसरे हाथ के उसके चूतड़ों पर हाथ फेर रहा था। धीरे-धीरे वो सिसकारियां लेने लगी।वह तो सुबह से ही गर्म थी, मेरे थोड़ा सा सहलाने में ही उसके मुंह से आवाजें निकलने लगी और बोली- यार जल्दी करो ना. तब इसे मैं पूरा का पूरा भर दूंगा।”और मैंने फिर से उन्हें सहलाना शुरू किया.

सेक्सी वीडियो कार्टून में

उसका पेटीकोट नीचे गिर गया और उसकी नीले कलर की छोटी सी पैंटी मुझे दिखाई दी. करीब 3 बजे मेरी छुट्टी हुई और घर जाने के लिए कॉलेज से निकली और बस का इंतज़ार करने लगी. वो अपनी गांड को बार बार ऊपर उठाते हुए मेरे मुँह को अपनी चूत के अन्दर और दबा रही थी.

मम्मी दो बार पेशाब करने के लिए बाथरूम गईं और मैं बाथरूम में उनको पेशाब करने की कल्पना करके, उनकी चूत के बारे में सोचकर अपना लण्ड सहलाता रहा. हरामी और एक्सपिरिएंस्ड चोदू चिन्ना जानबूझ कर अपने कूल्हों को भी थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा कर लण्ड का दबाव करोना की नाजुक पीठ पर बढ़ा देता.

फिर मैंने उससे अपना लंड मुँह में लेने को कहा, तो वो राज़ी नहीं हुई.

साथ ही मुझे ये भी पता था कि ट्रायल के बहाने वो मुझे चोदने के लिए भी आएगा. ऊंह… ऊंह की आवाज के साथ वो अपनी चूत में सहलाते हुए अपना चूचा दबा रही थी. बोला ना तुझे कि बहुत दिनों बाद लंड रही हूं। तू भी तो कुछ समझा करता बस तुझे तो चूत दिखी और तूने फाड़ डाली।”चल कोई नहीं। ऐसा कर … मेरे ऊपर आ जा, थोड़ी देर मेरी चूचियों को चूस।”मैंने ऐसे ही किया.

नीलम ने सिर हिलाकर मना करते हुए कहा- नहीं, हनी घर में है और वैसे भी मुझे डेन्टिस्ट के यहां जाना है, टाइम हो रहा है. अब जब भी मौका मिलता था आंटी मेरे लंड को मसल कर तुरंत खड़ा कर देती थी और हमारी चुदाई शुरू हो जाती थी. एक दिन मैंने देखा कि मेरे पापा मेरी बहन की गांड पर हाथ से सहला रहे थे.

उसके बाद हम लोगों ने साथ साथ लंच किया और जब मैं उसके घर से निकलने लगा, तो उसने मेरा मोबाइल नंबर अपने फोन में सेव कर लिया.

बीएफ सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ: मैं घर जाने लगी तभी वो बोला- कल सुबह कैसे जाओगी?मैंने कहा- बस से जाऊँगी. एकदम गजब का सीन था वह! मैं तो इतना गर्म हो गया था मैं कि मैंने एक बार मुट्ठ मार लिया.

मैंने बहुत अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ी है, इस कारण मुझे पता था कि लड़कियाँ पहली बार में नखरे करती हैं और उनको बहुत अजीब लगता है तो मैंने भी ज़बरदस्ती नहीं करने की सोची।पर मैं यह भी जानता था कि अगर मैंने ऐसे में चुदाई शुरू की तो मैं बहुत जल्दी झड़ जाऊँगा क्योंकि मेरा भी पहली बार ही था।मैं- कोई ना, फिर तुम हाथ से ही कर दो. दोस्त की सेक्सी बीवी की चूत चुदाई स्टोरी में आपको मजा आया? मुझे आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी. अब जैसा मैंने पहले भी बताया था कि मुझे सेक्स से बहुत डर लगता है, तो मेरी सिसकारियां डर में बदल गई.

उस वक़्त मैं इतना ज्यादा चिल्लाई थी, उस वक़्त जो दर्द हुआ था, वो आज हुआ है.

वो चिल्लाने लगी, दर्द और मजे के चलते अपने मुँह से कामुक आवाजें निकालने लगी. अनिल ने कहा- वैसे तुम्हारा फिगर भी लाजवाब है, शॉर्ट्स और टॉप में मस्त लगती हो. कुछ परेशानियां होती हैं, कुछ मजबूरियां होती हैं, जिनसे उसे इस नर्क में जाना पड़ता है.