बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी

छवि स्रोत,सेक्सी चोदी चोदा सेक्सी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सपना चौधरी की सुहागरात: बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी, साली साहिबा बोली- परसों शादी में लड़के वाले आएंगे, उनमें से ही किसी को ढूंढ लूंगी … ईज़ी रहेगा.

ओपन सेक्सी देवर भाभी

मैंने हिम्मत करके नंदिनी से पूछा- उस दिन तुमने मुझे सही में स्नेहा के साथ देख लिया था?नंदिनी- हां, अगर सच कहूं तो मैंने जब से तुम्हारा लंड देखा है … तब से तुमसे चूत चुदवाना चाहती थी. सेक्सी खुलम खुला सेक्समेरी टीचर ने उससे पूछा- बेटा, आप मानसी के साथ मिल कर बना लोगे?उसने हां में जवाब दे दिया.

उन्हीं दिनों मेरे दूर के रिश्ते की ममेरी बहन श्रेया मुंबई जॉब करने के लिए आयी थी. फुल सेक्सी वीडियो नंगी पिक्चरउसने- पति के अलावा बाहर किसी से सेक्स किया है?मैं यह सुन कर एकदम से चौंक गई और धीमे से जवाब दे दिया- जी नहीं, सिर्फ पति से ही.

मैंने जैसे ही दरवाजा खोला, उन्होंने फौरन मुझे गले लगा लिया और मेरे होंठों पर वहीं चूमने लगे.बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी: मैं ब्रा 32D की पहनती हूँ, ताकि मेरे मम्मे एकदम टाईट दिखे और उभरे हुए दिखें.

तभी मुझे फोन आया- कैसा लगा?मैं बोली- मैं नहीं जानती थी कि आप इतने रोमांटिक हो … चलिये अब जल्दी आ जाइए.बड़ा फ्लैट के चक्कर में वो बिजनेसमैन और पैसे वालों के साथ में चुदाई करवा चुकी थी.

सुहागरात स्पेशल सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी

फिर उसने पूछा- तुम किस किसको चोद चुके हो बिल्डिंग में!मैंने कहा- रेखा आंटी और बुआ को भी.[emailprotected]डर्टी सेक्स विद वर्जिन गर्ल स्टोरी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी की बेटी की सीलतोड़ चुत चुदाई- 4.

तभी विक्की की मां उठकर जाने लगीं, तो मैंने नोटिस किया कि विक्की भी अपनी मां की गांड को बड़े ध्यान से देख रहा था. बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी डाइवोर्सी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी दोस्ती एक तलाकशुदा लड़की से हुई.

मुझे मालूम है, सबसे पहले मैं, फिर अम्मी और लास्ट में मुमताज को आपका प्यार मिला.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी?

देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी दिल्ली में रहने वाली एक कुंवारी लड़की की पहली चुदाई की है. मैं अपने लंड को धीरे धीरे उसकी गांड पर रगड़ने लगा लेकिन वो ज़रा भी नहीं हिली. मेरी इस ड्रेस को देख कर घर का कोई सदस्य मुझसे सवाल जवाब न करे, उसके लिए मैंने टॉप के ऊपर से एक शर्ट डाल ली.

मैं नीचे जाकर अपने रूम के नाम पर शराब की बोतल ले आया और सारी रात तक हम दोनों शराब पीते हुए मजा लेते रहे. मैंने धीरे धीरे अर्शिया का पेटीकोट फिर से ऊपर उठाया और कमर तक ऊपर कर दिया. अपनी बहन को अपने दोस्त से चुदते हुए देखने से मेरा काम तमाम हो गया था.

वो कहने लगी- सौरभ छोड़ो … अभी नहीं … थोड़ी देर बाद!पर मैं रुकने वालों में से नहीं था. वो किसी से किस करने लगी और जब संजना ने उसके सामने से अपना चेहरा हटाया तो एक पल को तो मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गई. इसी बात को लेकर मुझे थोड़ा संदेह था कि पता नहीं संजना ठीक से लंड चूसेगी या नहीं … लेकिन उसने मेरा लंड ऐसे चूसा कि पहली बार उसे लंड मिला हो.

वो बोली- तू तो जाटनी को ऐसे चोद रहा है … जैसे किसी रंडी को चोद रहा हो. धीरे धीरे हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए।उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी तो मैंने उसकी कच्छी उतार कर एक तरफ फेंक दी।उसकी चूत एकदम चिकनी थी.

उनके तने हुए चुचे और उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड तो पैंट के अन्दर भारी हलचल करने लगा था.

जैसे ही मैंने उनकी तरफ देखा, तो वो मुस्करा दीं और मेरे बगल में ही बैठ कर चाय पीने लगीं.

वो लंड देख कर कहने लगी कि य…ये क्या है … इतना बड़ा और सख्त!मैंने कहा- ये मेरा औजार है और इसे लंड भी कहते हैं. ये सोचकर मैं घर के पीछे से अन्दर घुस गया और चुपके से अपने बेडरूम में पहुंच कर मां के रूम में देखने लगा. एक मिनट में वो आइसक्रीम लेकर आयी और उसने अपने हाथ से और अपनी ही स्पून से मुझे आइसक्रीम खिलाई.

धीरे धीरे उसने पहल करते हुए मेरे होंठ अपने होंठों में दबाए और धीरे धीरे चूसने लगी. राजीव सर, करीब 45 साल के तलाक़शुदा और बहुत ही आकर्षक पर्सनालिटी के व्यक्ति थे. उन्होंने भी सहमति जताते हुए कहा- आपके लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले हैं.

हम दोनों के मुँह से एक साथ, एक सुर में आनन्द से भरी सिसकारी सी निकल गयी- आ आह … हहहह आ!सच में दोस्तो, कभी किसी तेल या जैल से लंड की मालिश करने के बाद चुदाई का आनन्द जरूर लीजिये.

वो बोला- सर, शाम में मेरी शिफ्ट नहीं होती है, तो अभी ही करना पड़ेगा. मेरा लंड सुबह से ही शीना की चूत को चोदकर उसकी दोनों फांकों को अलग करने के लिए बेताब था. उसने पैंटी नहीं पहनी थी; उसकी चिकनी चूत पर मैं अपनी उंगलियों को चलाने लगा.

मैंने उसकी पैंटी साईड को करके उसकी चूत में अपनी उंगली पेल दी और फांकों को रगड़ते हुए उसकी चुत में उंगली चलाने लगा. मेरा ये इशारा शरद के लिए काफी था और उसने एक भी पल जाया ना करते हुए अपना लंड मेरी चुत पर रख दिया. कुछ देर सुनने पर मालूम चला कि वो जीजू नहीं, किसी और लड़के से बात कर रही थीं.

कभी कभी मैं अपने साथ किरणदीप और सुरजीत को भी ले जाती और हम तीनों ही कहीं घूम आते थे.

दीदी ने जीजा जी के आने में देरी की बात अर्थ पूर्ण भाव से कही थी, जिसे मैंने समझ लिया था कि दीदी की चुत चुदने के लिए तैयार है. पहले तो एकदम से कड़क लंड हाथ में आ जाने से वो थोड़ा घबरा गई और उसने हाथ हटा लिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी जैसे ही मुझे पता चला कि हमारे घर में शादी है तो मैं तुरंत अपने शहर एटा लौट आया. विजय अपनी पत्नी को छोड़ कर देर रात को घर पहुंचा और अपने कमरे में जाकर सो गया.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी फिर उसने मुझे देखा और कहा- तुम बहुत ही गर्म माल हो और तुम्हारा माल भी मस्त था. मैं सुनील की कमीनगी को समझने की कोशिश कर रहा था कि साला चलती ट्रेन में क्या गुल खिलाने की जुगत कर रहा है.

फिर मैंने अपनी गांड को इधर उधर करते हुए गोल गोल घुमाना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर इंग्लिश

हां साइज जरूर मैटर करता है … और ये साइज़ उनकी ज्योग्राफिकल लोकेशन के कारण मैटर करता है. मैंने व्हिस्की में बियर मिलाकर दो पैग तैयार किये और हम दोनों चियर्स के साथ शुरू हो गए. मैंने धीरे से अपना हाथ उसकी कमर से उसकी साड़ी के अन्दर कर दिया, तो वो सहम गई और लंड से हाथ हटा लिया.

शबाना और उसकी पड़ोसनें उसे गांव के एक डॉक्टर के पास ले गईं जहाँ उसे तुरन्त होश आ गया. मैं ज्यादा ड्रिंक नहीं करता हूँ और जब साथ में लड़की हो, तो और ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ती है इसीलिए मैं सबका साथ देते हुए धीरे धीरे पी रहा था और कोमल के साथ बहुत फ़्लर्ट कर रहा था. रश्मि दर्द से कराहती हुई बोली- आह मर गई सर … एक ही बार में पूरा क्यों डाल दिया.

जो तूफान इतनी देर से चल रहा था … अब वह पानी निकलने के साथ खत्म हो गया.

अचानक मुझे याद आया कि पेड़ के नीचे से आते समय अपने मोबाइल को डिक्की में रखते समय मेरे कॉलेज का आईडी कार्ड शायद वहीं गिर गया था. मैंने कहा- हां जी, बोलिए?उन्होंने कहा- मैंने तुम्हारा हाथ पकड़ा, तो तुम्हें कैसा लगा?मैं चुप रही. मैंने उसके कान में बोला- रुक क्यों गई … हम पर किसी की भी नजर नहीं पड़ने वाली.

मैंने लंड को लेकर अपनी बहन के ऊपर एक बार भी नहीं सोचा था कि वो ऐसा कर सकती है. पर डायरेक्टर ने धक्के देना शुरू कर दिए और चुदाई करते हुए बोला- तेरे पति के पास लंड नहीं है क्या … अभी तक वो तेरी चुत को खोल ही नहीं पाया. मैंने किसी तरह से खिड़की में से झांक कर देखा कि मेरी बीवी दरवाज़े के बग़ल में झुककर अपने घुटनों के बल बैठी थी और दूल्हा बना मेरा दोस्त फर्श पर लेट कर उसके मुँह में लंड दिए चुसवा रहा था.

फिर हम दोनों ने नंगे ही किचन में जाकर खाना गर्म किया और उसे वापस अपनी गोदी में बिठाकर मैं उसे खाना खिलाने लगा. तो मैंने कोमल से पूछा- रस अन्दर डालूं या बाहर निकाल लूं!कोमल बोली- अन्दर ही निकालो और मेरी प्यास बुझा दो.

मैं रानी की इस बात पर शॉक हो गया कि इसको सब पता है कि मैं इसको घूरता था. पड़ोसन चाची चुदाई स्टोरी मेरे घर के सामने दूकान चलाने वाली आंटी की है. मगर इस बार वो जल्दी ही शांत हो गई और मैं लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

आंखें बंद करके और लौड़े को अपने हाथ से पकड़कर भाभी का सपना देखकर उन्हें खूब चोदा था.

उसने उसी समय मेरे होंठों अपने होंठ बड़ी सख्ती से जमा दिए और लंड को दाब दे दी. दीदी लगातार सिसिया रही थीं- आह्ह याहह उह हम् म् म्म मम आह वीरू चोदो … आह और चोदो आह्ह आहह मेरी चूत का भोसड़ा बना दो … आह्हह मेरे भाई मेरे राजा. मैंने सुशी के मम्मों को छोड़ा और उनके सर को पकड़ा कर होंठों के बीच से अपनी जीभ मुँह के अन्दर सरका दी.

तो मेरी पत्नी उधर सभी से मेरा परिचय कुछ अपने रिश्तेदारों से करा रही थी. मैंने बोला- लड़के वाले ही क्यों, लड़की वालों के यहां भी लड़कों की कमी थोड़ी है.

थोड़ी देर बाद मैं मॉम के मुंह में ही झड़ गया मॉम ने सारा रस अपने कंठ में बसा लिया. उधर बना कृत्रिम छिद्र को मेरी योनि छिद्र मानकर वो उसमें हर धक्के से और गहरी चोट करते जा रहा था. एक सीट मुझे मिली थी और एक सीट एक महिला की थी जो दिल्ली से इंदौर जा रही थीं.

সেক্স বাঙালি

‘नहीं मम्मी, आप मेरे सामने ही पहन लीजिये न!’ गोगी अब भी वहां खड़ा खड़ा अपने पेट पर हाथ फिराते हुए बोला.

तो मेरी पत्नी उधर सभी से मेरा परिचय कुछ अपने रिश्तेदारों से करा रही थी. मैं आशा करता हूं कि आप लोगों को मेरी यह चाची चुदाई सेक्स स्टोरी बहुत ही अच्छी लगेगी. उसने मुझसे पूछा कि तुम शादी में क्यों नहीं गए?तो मैंने उत्तर दिया कि मेरा मन नहीं था.

बहुत दिनों से चुदाई ना होने के कारण मेरी जीएफ मुझे सरप्राइज देना चाहा और वो उसी समय मेरे रूम में पहुंच गई. मैडम ने सपाट शब्दों में पूछा कि व्हिस्की पीते हो?मैंने हां में सर हिला दिया. गधा और लड़की की सेक्सी पिक्चरअशी गमन के पीछे पड़ी रही और गमन उससे पीछा छुड़ाने की कोशिश करने लगा था.

लता के होंठों को किस करते करते मैंने उसके दोनों मम्मों को दबाना शुरू कर दिया. वहां पर अपनी जीभ से नाभि को कुरेदना और चाटना शुरू कर दियाजेबा भी पूरी तरह से सिसकारी भरने लगीं.

मैं आपकी बहुत इज्जत करती हूं … पर आप मुझसे क्या चाहते हैं?राजीव- रश्मि, मैं हमेशा से तुम्हें चाहता था, बस कभी कह नहीं पाया. मैं- जी, मैं सब अच्छे कर लूंगी और खुश भी … आप मुझे बस काम पर रख लो. तो मैं उसे किस करते हुए नीचे की ओर जाने लगा और उसका लहंगा ऊपर करके उसकी मरमरी टांगों पर चुम्मा करता हुआ उसकी काली पैंटी को उतारने लगा.

आह क्या मस्त मादक रसभरी चूत थी … अम्मह आह्ह्हा हाय्य उम्मह … ऐसी मानो सर्दियों में हरी घास पर ओस की बूंदें चमक रही हों. पूरी तरह से दुल्हन जैसी सजने के बाद मैंने अपने आपको शीशे में देखा तो वाकयी मैं किसी हूर से कम नहीं लग रही थी. शीना भाभी भी मदभरी सिसकारियां लेने लगी- आह्ह आह्ह … अम्महा!इधर मेरे लंड ने चुदाई की रफ्तार पकड़ ली थी.

लेकिन अब मैं कहां रुकने वाला था … मैंने एक और जोर का झटका दे दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में घुस गया था.

भाभी ऊईई ऊईई सीईई आहहह करने लगी और मैं गपागप गपागप चोदने लगा।अब धीरे धीरे उसकी चूत खुल गई. अगली बार भाभी की चुदाई की इस सेक्स कहानी को विस्तार दूँगा और आपके मेल की प्रतीक्षा में रहूँगा.

चूंकि ट्रेनिंग का आख़िरी दिन था तो सब लोगों ने मिलकर पब जाने का प्लान किया. उसकी रसीली बुर का पानी बड़ा मस्त था, आज भी याद करके मुंह में पानी आ जाता है. उसके होंठ अब भी मेरे होंठों में दबे होने से उसकी आवाज नहीं निकल पा रही थी.

मैंने सांडे के तेल की शीशी निकाली और अपने लण्ड की मालिश करके लेट गया. कुछ देर सुनने पर मालूम चला कि वो जीजू नहीं, किसी और लड़के से बात कर रही थीं. फिर जैसे ही डीवीडी ऑन हुआ … तो सामने टीवी पर एक ब्लू फिल्म चलने लगी.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी [emailprotected]बड़ी बहन सेक्स कहानी का अगला भाग:दीदी की ससुराल में चुदाई का घमासान- 2. मैंने कोमल को अपने नीचे आने का इशारा किया, वो थोड़ा घबराई और बोली- अभी नहीं प्लीज … ऐसे ही ठीक है.

सेक्सी तमन्ना

मैंने तसल्ली के लिये एक बार अपनी मम्मी को फ़ोन करके पूछा कि आप लोगों को कब तक आना है?वो बोलीं कि अभी तो प्रोग्राम शुरू हुआ है … अभी देखो कितना समय लगता है. मैंने कमर से अर्शिया की चड्डी को पकड़ा और धीरे से नीचे को खींच दिया. लेकिन मुझे अन्वेषी भाभी की चूत का रसपान करना था और जन्नत की सैर करनी थी, तो मना भी नहीं कर सकता था.

तो वो मेरा हाथ पकड़कर बोलीं- बैठो तो अभी तो रिटर्न गिफ्ट भी देना बाकी है. ट्रेन की लाइट में उसका दूध सा गोरा चिकना बदन उसे और भी सेक्सी बना रहा था. देसी सेक्सी वीडियो देसी बीपीये सेक्स कहानी मेरे और मेरी पड़ोस में रहने वाली एक बंगालन आंटी के बीच चुदाई की कहानी है.

उसके पति ने उसकी समुन्दर जैसी रसीली जवानी की एक बूंद मात्र ही पी है.

मुझे पता नहीं क्यों ये लग रहा था कि ये तो मेरी लुगाई बनने के चक्कर में दिख रही है. आज भी उसकी याद आती है तो मैं बिना मुठ मारे नहीं रह पाता हूं,जब मैं दोस्त के घर पर पहुंचा तो मैंने उसके मम्मी पापा को प्रणाम किया और उनका आशीर्वाद लिया.

अब मैं कोई न कोई बहाना बनाते हुए आंटी के घर जाने लगा और उनसे मिलने का और बात करने एक भी मौक़ा नहीं छोड़ता था. मैंने पहले ट्रेन से 4 घंटे सफर किया, फिर वहां से छोटी वाली बस पकड़ी जिसमें 2 लोगों की सीट पर भी 2 लोग ठीक से नहीं बैठ पा रहे थे. घर आने जाने में तो काफी समय लग सकता था न इस लिए कम्पनी ने सारे स्टाफ को होटल में ही रुकने को कहा है.

यहां मैं चड्डी पहने अपने रूम में गया था मगर मेरा लंड अभी भी बैठ नहीं रहा था.

दूसरी लड़की जो उसी बेड पर हमारे साथ ही पड़ी थी, वो अब थोड़े थोड़े होश में आ रही थी और कुछ ही पलों बाद वो लगभग जाग चुकी थी. उन दोनों की जुगलबंदी जमी और उन दोनों ने मेरे कमरे पर आने का तय कर लिया. कुछ देर के बाद मैंने फिर से उसको चित करके लिटा कर उसके ऊपर आकर उसको किस किया.

हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सी वीडियो सेक्समैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी गर्दन को चूसने लगा, साथ ही मैं अपने एक हाथ से उसकी चूचियों को भी मसल रहा था. उसने अन्दर आते मैडम को बताया कि उसका नया एडमिशन है और आज उसका पहला दिन है.

त्याची सेक्स

”मैंने उसको अपने से नीचे उतारते हुए कहा और मैंने सोफे से उतर कर उसको अपनी गोद में उठाकर अपने गद्देदार बेड पर लाकर रख दिया और तुरंत ही उसके ऊपर चढ़ गया. वो बोली- मैं मेकअप करना जानती तो हूँ … पर मैंने आज़ तक किसी लड़के का मेकअप नहीं किया है. उनका पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर समा चुका था और मेरी आवाज दबी की दबी रह गई.

मैंने दनादन स्पीड से उसके भोसड़े में धक्के लगाए और उसकी कमर को इतनी जोर से कस लिया था कि शायद वहां से थोड़ा खून भी चमकने लगा था. भाभी मेरे लंड को थप्पड़ मारती हुई बोलीं- योगु, तेरा ये चॉकलेटी लंड बहुत मस्त है. अश्मि ने मेरे हाथ में मेरा लंड देख लिया था और मैंने उसकी नंगी चूचियां देख ली थीं.

वो अपनी जीभ को चूत के अन्दर डालकर सहलाता रहा और मेरी बहन अपनी चुत चटवाती रही. मगर मेरे दिमाग में कीड़ा घुस गया था तो मैं अब उसका फ़ोन हर रोज चोरी छुपे चैक करने लगा. इस तरह से मुझे कुछ थकावट सी होने लगी थी तो मैंने उसको फिर से बिस्तर पर लिटा दिया और दोनों पैरों को फैला कर हवा में उठा कर चुत चोदने लगा.

ये कहकर मैंने उसे देखा, तो उसने मेरी तरफ प्यार से देखा और हम दोनों एक दूसरे को बड़े प्यार से होंठों पर चूमने लगे. शिवानी ने मुझे चाय नाश्ता दिया और इस तरह से कोई आधा घंटे में मैं नाश्ता आदि करके सोने के लिए बगल के कमरे में चला गया.

मैं अपने लंड और इस मौसम की मार को कोस रहा था कि कहीं ये कुछ ज़्यादा तो नहीं हो गया.

रोशन पूरी तरह नंगी हो गई थी और बड़े ही मज़े से सोढ़ी का लंड अपनी गांड में अन्दर बाहर करवा रही थी. इंग्लिश फुल ओपन सेक्सीकुछ देर बैठने पर पता चला कि आज हमारी मैडम आयी नहीं हैं, तो मैंने उससे फिर से ज़िद करनी शुरू कर दी. वेस्टइंडीज एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियोकभी मैं उसके होंठों को अपने मुँह में, तो कभी अपनी जीभ उसके मुँह में डाल कर चूस रहा था. वो मेरे दोनों हाथों को पकड़कर बोले कि अब हमारा पूरा मिलन होने का पल आ गया.

मैं अपने काम के सिलसिले में मुंबई, गुजरात, गोवा और कोल्हापुर बेलगांव आता-जाता रहता हूँ.

वो मेरे साथ ही लिफ्ट में नीचे आयी और उसने मुझे दीदार करन का पूरा मौका दिया. अब सभी जवान, बूढ़ी और पॉव रोटी सी फूली … गीली और चिकनी चूतों को नमस्कार. मुझे उसकी आंखों में एक ऐसी कामना सी दिखी मानो वो मुझे फिर से चूमने का न्यौता दे रही हो.

मैं रेखा आंटी वाले रूम में गया तो देखा रेखा आंटी अभी नहाकर आयी थीं. फिर हुआ यूं कि 12 लोगों के ग्रुप ने कंपनी को ज्वाइन किया था, जिनमें से 9 लोग हैदराबाद के ही थे. वो मेरे होंठों के पास अपने होंठ ले आए और मेरे मेरे मुँह के अन्दर अपनी जीभ से मेरे मुँह की चुसाई करने लगे.

बियफ बीडीयो

”इतना कहकर मैंने मुमताज की चोली की डोरी खोल दी और बड़े संतरे के साइज की चूचियां दबोच लीं. उसने देर नहीं की और अपने दोनों हाथों से मेरे अंडरवियर को खींचती हुई उतार कर अलग कर दिया. मैंने देर न करते हुए पहले चुत की फांकों को सामने से खोला और लंड का सुपारा फंसा दिया.

रितिका- पागल हो गए हो क्या … ये कैसे बोल रहे हो!मैं कहा- हां रितिका, मैं तेरी जवानी देख कर पागल ही हो गया हूँ.

मैं और शरद, हम दोनों ही काफी अच्छा कमा लेते हैं और हमारे पास किसी चीज़ की कोई कमी नहीं है.

दोस्तो, मेरी गाँव की लड़की की चूत गांड कहानी पर अपने कमेंट जरूर करें. परन्तु वहां जो लेडी डाक्टर थी वो छुट्टी पर चली गई थी। पता चला कि वो 1 माह तक नहीं आने वाली थी।फिर मुझे किसी ने बताया कि आप डॉ राज शर्मा को दिखा दीजिए, वो बहुत बढ़िया डॉक्टर है।जैसे ही मैं डॉक्टर के पास गई, वो मुझे घूरकर देखते हुए बोले- क्या प्रोब्लम है?मैंने अपनी प्रोब्लम बताई. देसी सेक्सी लड़की की वीडियोउनका पर्सनालिटी थोड़ा अच्छा है इसलिए वो हमारे घर के एक प्रकार से मालिक की तरह रहते हैं.

उन्होंने धीरे-धीरे वैसलीन से सनी उंगली मेरी गांड की तरफ से छेद में फेरना शुरू कर दी. फिर अंकल ने मां के कान में कुछ कहा तो मां ने अपना ब्लाउज और ब्रा को खोल दिया. कमरे में ले जाकर मैंने मुमताज से पूछा- मुमताज, तुम्हें याद है जब तुम छोटी थी और अपने दादू के साथ मेरी दुकान पर आती थी?हाँ, याद है.

अपने होंठों को मुमताज की बुर के होंठों पर रखकर मैंने चुम्बन किया और बुर से निकलने वाला रस चाटने लगा. उनके पास बैठ कर मैंने 15-20 मिनट तक उनसे बातचीत की और हाल चाल जाने.

फिर उसने तेल की शीशी को बगल में रखा और मेरी गांड को मसलते हुए उस पर खूब सारे चांटे मारे.

मुझे अभी यह समझ में नहीं आ रहा था कि निशा के साथ चुदाई की शुरुआत कैसे की जाए. इससे नील की ‘आह्ह इइइ … अहह मम्मम मीईई …’ की मीठी सिसकारियां मुझे बहुत उत्तेजित कर रही थीं. मैंने भी उसके होंठों को अपने होंठों से चूसते हुए लौड़े को पूरी ताकत से चुत के अन्दर डालना निकालना शुरू कर दिया.

सेक्सी कविता सुनाओ मुमताज की बुर सहलाते हुए मैंने उसकी बुर के लब खोल दिये और उस पर अपनी ऊँगली फेरने लगा. वो मेरे पास आई और मेरे गले में हाथ डाल कर बोली- अब उठाओ मुझे गोदी में.

अब मैं भी जोश में आ चुका था, तो मैं जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगा. पर ये बाते बताते हुये और उनके बूब्स की दरार को देख के मेरा लंड फिर से तनाव में आ गया. उसने अपने बेडरूम को एक हनीमून रूम की तरह सजाया था और खुद भी सजधज के पलंग पर बैठी हुयी थी.

हिंदी सेक्सी देसी वीडियो

एक बार अम्मा ने पकड़ लिया तो उसने अंकल को पीटकर भगा दिया और दीदी की शादी कर दी. लेकिन यह जरूर था कि अगर वह पढ़ने आई तो अब मेरे लौड़े के नीचे जरूर आ जाएगी. मैं उनसे सच में बहुत प्यार करती हूँ, अभी मैं उनसे रोज फोन पर बात करती हूँ.

इस समय उसके आउटफिट एक नॉर्मल सलवार कुर्ती में भी गजब का आकर्षण खिल रहा था. निशा भी अब वापस अपने रूप में आ गयी थी और उसने भी जोर जोर से मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

उसके बाद मैं धीरे धीरे उसकी गर्दन को चाटने लगा और साथ में उसके टॉप में हाथ डाल कर उसके एक चूचे को भी मसल रहा था.

अगर बात बढ़ी तो फिर मुसीबत हो जानी थी।दो दिन गुजर गये लेकिन मेरे पास ऐसी कोई बात सामने नहीं आई जिससे कि पता लगे कि अश्मि ने इस बात के बारे में किसी से शिकायत की है।फिर दो दिन बाद मैं शाम के समय छत पर टहलने के लिये गया. क्लास खत्म होने के बाद जब कुछ और लड़कियां उसको रोकने लगीं, तब भी वो नहीं रुका और चला गया. और जब वो अपने धर्मानुसार सर पर स्कार्फ बाँध कर शर्म-हया दिखाकर सेक्स करती है तो ज्यादा उत्तेजना होती है.

लेकिन वो स्मार्ट होने के साथ ही साथ बहुत ज़्यादा भाव वाला भी लड़का था. आज पहली बार एक किसी कच्ची कली के होंठों का रसपान करते हुए लौड़ा फूल कर मोटा हो गया था, जो निशा की स्कर्ट पर से ही उसकी चूत में घुसने की कोशिश कर रहा था. इसके अगले दिन मैंने उससे थोड़ी बात करने की कोशिश की, तो उसने मेरी तरफ ध्यान ही नहीं दिया.

यदि आप सभी को ये हॉट सेक्सी गर्ल की चुदाई कहानी पसंद आई हो तो मैं इसे आगे भी जारी रखूंगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो में पंजाबी: उधर रेशमा भाभी भी कस कस कर मेरे लंड पर कूदते हुए अपने मम्मों को शताब्दी एक्सप्रेस के जैसे उछाल रही थीं. एक, जिसमें 2 लोगों के बैठने की जगह होती है … और दूसरी, जिसमें 4 लोगों की.

दो साल पहले ही शरद ने मुझे मेरे जन्मदिन पर एक अच्छी कार भी गिफ्ट की है और उसे चलाने के लिए मैंने एक ड्राइवर भी रखा है. मॉम मेरा लौड़ा 5 मिनट तक चूसती रही और मैं मॉम के मुंह में ही झड़ गया. इधर मेरी पत्नी ने एक लड़के को जन्म दिया और उधर में अमिता के प्रेगनेंसी के 2-3 महीने तक मैंने जमकर चुदाई का मजा लिया.

हालांकि वो कभी मिले नहीं थे क्योंकि उसका सीनियर गमन, इंटर्नशिप के लिए चेन्नई गया था.

मैं हंसने लगा क्योंकि मेरा इरादा तो कुछ और ही था, मैंने कहा- अभी थोड़ा और मजा ले लो मौसी. मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसकी मां उसके पापा और भाई को छोड़ने स्टेशन गयी हैं. एक रात 10 बजे हम दोनों बात कर रहे थे कि तभी अचानक से उसने बाय बोल दिया.