नंगी चोदा चोदी बीएफ

छवि स्रोत,सपना भाभी की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी धकाधक: नंगी चोदा चोदी बीएफ, तो तुझे बुरा तो नहीं लगेगा ना?वो- बुरा क्यों लगेगा, हग तो हग होता है।मैंने चुटकी ली- और मेरे चेस्ट में कुछ चुभाएगी तो नहीं.

अपनी भाभी को चोदा सेक्सी वीडियो

तो हम लोगों के सामने एक गंभीर समस्या आ गई थी कि कैसे पूजा और अग्रवाल भाई बहन होते हुए सेक्स कर सकते हैं तो जैसे ही आप लोगों के सुझाव को ध्यान रखते हुए मिस पूजा गोयल ने अपने भाई के सामने एक शर्त रखी- आप मेरे भाई हैं लेकिन मैं आपके साथ बेइंसाफी नहीं कर सकती हूँ कि आप मुझे ना छुएं! मैं घर पर आपकी बहन हूँ, लेकिन यहाँ आप चाहो तो मुझे आप अपनी वाइफ भी बना सकते हो! लेकिन घर पर मैं आपकी बहन ही रहूँगी. देसी सेक्सी फिल्म बीपीवो बोली- चूस इसे!मैंने चूसना चालू कर दिया, मजा नहीं आया, मैं बोला- आंटी, गन्दा लग रहा है!तब आंटी ने कहा- पहली बार है, इसलिए लग रहा है, एक बार और कर, मजा आएगा!मैंने थैली निकाली और लंड पर लगाकर रबड़ बैंड लगा कर कंडोम बनाया.

ले पूरा खा ले।काका भी अब नीचे से झटके मारने लगे थे और मोना गांड को ऊपर-नीचे करके मज़ा ले रही थी। अब कमरे में दोनों की आहें गूँजने लगी थीं और चुदाई का तूफान जोरों पे था।मोना- आह. हिंदी वीडियो हिंदी सेक्सी वीडियोकल तो सब होंगे गांड में लंड जाएगा तो तुझे दर्द होगा और तू चिल्लाएगी, तो सबको पता लग जाएगा।मोना- नहीं काका.

मैंने भी उसके लंड को अपने स्तनों के बीच दबा दिया, सुन्दर ने एक दो बार हिलाया और लंड से वीर्य छलक पड़ा.नंगी चोदा चोदी बीएफ: उनका टॉप उतारने के बाद, मेरी नजर उनकी चूचियों पर गई, उन्होंने ब्रा नहीं पहनी हुई थी.

राधा 20 साल की देसी जवान लड़की थी और गाँव की लड़की का बदन वैसे ही कसा हुआ होता है। उसका गेहुँआ रंग.उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरी चुत चुदाई की सेक्सी कहानी पसंद आई होगी.

सुनीता सेक्सी फोटो - नंगी चोदा चोदी बीएफ

मैं कहने लगी- थोड़ी देर और करते तुम।उसने कहा- कुछ देर आराम करने के बाद फिर से करते हैं।मैंने खुद को साफ किया क्योंकि उसका माल मेरी जाँघों से रिस रहा था।फिर मैंने अपनी वनपीस फ्रॉक पहनी और रजाई में घुस कर लेट गई।कुछ देर मैं वैसे ही पड़ी रही.!’‘आआ आह्ह… स्स स्साआअह्ह… म्म म्म्माआआह्ह…’सिर्फ आवाजें और सिर्फ सिसकारी… और बाहर टीवी पर बजता सॉफ्ट म्यूजिक…‘अय्य… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आईईई ईईईई, ऊऊऊ युयुयु ऊऊऊयू हाआआ अहा हह औय्या शहस हेहः ओह आह आहः’करीब दस मिनट तक की एक दूसरे को चूसने के बाद मैंने उसको पीठ के बल लिटा दिया- अंजलि, तुमको थोड़ा दर्द होगा, हो सकता है कि ब्लड भी आये, तुमको बर्दाश्त करना होगा.

तभी मैं उसके कपड़ों को निकालने लगा उसने फिर मुझे रोककर खुद ही उसके पूरे कपड़े निकाल दिए और फिर से मेरे लंड को चूसने लगी. नंगी चोदा चोदी बीएफ अम्मा ने बालक को मेरी ओर बढ़ाते हुए बोली- लो साहिब, यह है आप के लगाये हुए बीज की उपज.

इतना सुनते ही जीजू ने तो और भी बड़े प्यार से मेरी चूत के छेद को खुरेदना चालू रखा.

नंगी चोदा चोदी बीएफ?

ये लड़कियाँ अंग्रेजन हेरोइनों की देखादेखी पैसे के लिए कुछ भी कर लेतीं हैं, सचमुच में कोई कैसे उस गन्दी जगह पर अपना मुंह लगा सकता है?’‘अरे कोई जगह गन्दी होती है तो फिर साफ़ भी तो हो जाती है कि नहीं?’‘अंकल जी, साफ़ करने से क्या. चुदाई देखी दोस्त के मम्मी पापा कीनाश्ता करने के बाद आंटी ने मुझे पांच प्रश्न दिये और मैंने कर दिए लेकिन मयंक को अच्छे से याद नहीं थे तो उसके नंबर कम आए. आंटी नॉटी स्माइल के साथ मुझसे बोली- रुक… मैं कुछ खाने पीने के लिए लाती हूँ!थोड़ी देर बाद आंटी फ्रूट की प्लेट के साथ आई और टेबल पर प्लेट रख कर मेरे सामने सोफे पर बैठ कर बात कर रही थी.

बहन तू इधर आ ना, मुझे यहाँ बन नहीं रहा है।यह बात मेरी बगल वाली सीट पर बैठा सीनियर सुन रहा था, उसका नाम गौरव था, उसने कहा ‘वहाँ नहीं बन रहा है तो मेरी गोद में आ जाओ।’ उसने ये बात ऐसे कही कि कोई टीचर ना सुने। मैंने मुंह बनाया और नाखून दिखाते हुए उसे इशारों में कहा कि टीचर से शिकायत कर दूँगी. तो चलो मैं तुम्हें बहुत से टास्क बताता हूँ, तुम खुद चाय्स करो इनमें से कौन सा तुम्हारे लिए आसान होगा।सुमन- जी आप बताओ, मैं कर लूँगी।संजय- क्लास में जो भी सर पहले आएं, उसको थप्पड़ मारना है या वो सामने मोटू दिख रहा है उसके पेट पर एक जोर का मुक्का मार दो, ये भी नहीं तो वो कोने में जो खड़ा है. थोड़ी देर बाद तो मानो जैसे मुझे कोई डर नहीं और मुझे कोई दर्द नहीं… सब ठीक हो चुका था.

तो उन कपड़ों में से आंटी की पैंटी नीचे गिर गई। मैंने कपड़ों को साइड में रख दिया और फिर उनकी पैंटी को जैसे ही उठाया. मेरी और उसकी नजर एक हुई और मैंने तुरंत मोमबत्ती रख के बाहर के रूम का रास्ता नापा. फिर तुझे इसका कैसे पता लगा?सुमन- क्या दीदी आप भी ये तो 9वीं क्लास में ही साइन्स की किताब में था.

बातों बातों में हम दोनों सेक्स पर आ गए और अब सिर्फ और सिर्फ सेक्स की ही बातें करने लगे थे. वो ब्रा-पेंटी में इतनी अधिक सेक्सी लग रही थी कि किसी बूढ़े का लंड भी तन के लोहा बन जाए.

रयान के पेरेंट्स बोले कि कोठी के पीछे जो एक रूम सेट है, उसे ठीक करा देते हैं… ऐसी लगवा देंगे.

ये तो सब को आते है इसमें शर्माना कैसा? अब तू हमारे ग्रुप की हो गई है.

और आज भी चोदने के बाद ही इस सेक्स स्टोरी को लिखा है।आपके मेल का इन्तजार रहेगा।[emailprotected]. मेरी चूत फाड़ से रे मम्मी मर गई मैं!अमिता सिसकती हुई बोली- उई आह सीसी. उसकी वासना बढ़ने लगी और उसकी जांघें थोड़ा खुल गई और कमर मेरी तरफ पीछे झुकने लगी.

उसकी बात सुन कर रामू काका भी हमारे पास आ गए और मेरे लंड को देख कर बोले- अरे वाह भाई, तू तो तीस मार खान निकला, इतना बड़ा लौड़ा तो पूरी सोसाइटी में किसी का नहीं होगा, अगर सोसाइटी में ये बात पता चल गई, तो तुझे तो एक से एक चूत मारने को मिलेगी. ’ की आवाजों से पूरा कमरा गूँजने लगा। गुप्ता जी अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर उसे बार-बार संजू की चूत में पेले जा रहे थे। गुप्ता जी का लंड जब भी बाहर निकल कर दोबारा संजू की चूत में घुसता था. भाभी के नाज़ुक गोरे-गोरे भरे पेट पर हल्के से हाथ फिराते हुए उनके मम्मों को दबाने लगा.

फिर मैंने सलवार के ऊपर से ही उसकी दोनों जांघें चूम डालीं और और हल्के हल्के काटने लगा.

खड़े लंड को तड़पाती, लंड के मीठे-मीठे शरबत की प्यासी गांड का प्यार भरा आमंत्रण. मैं जमीन पर घुटनों के बल बैठ गई और मैंने रोहन के गीले लण्ड को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया… वीर्य के कारण लण्ड का स्वाद काफी अच्छा लग रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बिस्तर पर लेट गए, रोहन मेरे ऊपर आकर आकर 69 की पोजीशन में लेट गया… फिर रोहन ने मेरी चूत को चाटना और चूसना शुरू कर दिया. कपड़े तो निकालने दो।मोना पहले ही वासना की आग में जल रही थी। अब राजू ने उसकी आग को और भड़का दिया था। उसने राजू को अलग किया और अपने जिस्म को कपड़ों से आज़ाद किया। सोने सा चमकता जिस्म देख कर राजू का लंड झटके खाने लगा।मोना- ऐसे क्या देख रहे हो.

अगर आदमी ना हो तो भी लड़की इस नकली लंड के साथ सेक्स कर सकती है और ये भी ना हो तो उंगली से भी सेक्स कर सकती है। इसे ही आप फिंगरिंग बोल रही थी ना!टीना- शाबाश सुमन बहुत जल्दी समझ गई तुम. पूरे रूम में उसकी सिसकारी की आवाज़ गूँज रही थी और हम पूरा मजा लेकर चुदाई कर रहे थे. ‘आअह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह मर गई ई ई ई ई ई ई… माँ म म म उफ़ उई अह्ह्ह्हह…’‘उह आह्ह्ह्हह्ह्ह्ह माआआ रुको ओओ ओ ओ…’पर रुकना संभव नहीं होता, मेरा दबाव बढ़ता गया.

अब राजू को ज्यादा स्पेस मिलने के कारण वह बड़ी लहर के साथ लंड को मेरे लंड के लगभग समान्तर और सीधा रखते हुए गांड में घुसेड़ने में समर्थ हो गया और नताशा के चेहरे की चमक ने भी इस बारे में बता दिया था.

तूने ऐसा क्या किया कि तेरे चूचे इतने बड़े-बड़े हो गए।मैंने कहा- क्या करूँ, रोज अपने हाथों से इनको खूब दबाया है. फिर मैंने बातों बातों में उससे पूछ लिया- क्या आपने कभी सेक्स किया है?वो बोली- हां किया है…मैंने पूछा- किसके साथ?और फिर उसका जवाब सुन कर तो मैं चौंक गया जब उसने बोला- अपने पति के साथ.

नंगी चोदा चोदी बीएफ आज बिन्दास होकर सुहागरात मना लो।इतना कहकर कमला अपने मुँह को मेरे मुँह के करीब लाई और अपने होंठों को मेरे होंठों से चिपका लिया। अब मैं भी सब कुछ सोचना छोड़ कर कि जो होगा सुबह देखा जाएगा, उसके अपने होंठों से उसके होंठों का रसपान करने लगा।क्या रसीले होंठ थे. वो मेरा साथ देने लगी।फिर मैंने उसकी टी-शर्ट को उतार फेंका और ब्रा भी उतार दी। फिर उसको बिस्तर पर लिटा के उसके चूचे चूसने लगा।सच में क्या रसीले चूचे थे.

नंगी चोदा चोदी बीएफ लंड एकदम से फनफना उठा, सच में बहुत मज़ा आया।अब हम दोनों दोस्त जैसे हो गए थे। मैं इधर-उधर कभी भी नीलू को टच करता, तो वो कुछ नहीं बोलती। कभी-कभी माँ नहीं होतीं. उसने लंड पकड़ कर हिलाना चालू कर दिया। कुछ ही पलों में वो जोर-जोर से लंड को हिलाने लगा। मैंने उसकी पैंट निकाल कर उसे नंगा कर दिया।अब वो नीचे की ओर हो गया और मेरे लंड को मुँह में ले लिया, इससे मेरे मुँह से ‘अह्ह्ह.

रसोई से बर्तन खड़कने की आवाज़ से मेरी नींद खुली तो इस आस से की माला भी आई होगी मैं उठ कर वहाँ गया लेकिन सिर्फ अम्मा को देख कर मायूस हो गया.

कुंवारी देसी सेक्सी

पर उसने उसकी गाण्ड को हाथ नहीं लगाने दिया, हमने बहुत मिन्नतें की पर वो नहीं मानी. और रात के दस-ग्यारह बजे तक पहुँचे।वहां से ऑटो से साहब के बंगले पहुँचे. मैंने फिर धीरे से पूरा लंड डाल दिया, भाभी के मुंह से आवाज़ आने लगी- ओई ओईए ईईई अंकूउहां अहहहा हह आअहह!मैंने अपने लंड को हल्का सा बाहर किया और ज़ोर से एक और झटका दिया, अबकी बार तो भाभी पूरी दर्द भरी हो गई थी, मैं फिर ज़ोर ज़ोर से भाभी को झटके देता रहा और बाद में मेरे लंड से माल आने लगा तो मैंने भाभी की छाती पर डाल दिया.

उस दौरान भी रेशमा मेरी तरफ देख रही थी और मुझे लगा आँखों ही आँखों में कह रही हो ‘मैं तुझसे ऐसे चुत चुदाई चाहती हूँ. लेकिन ऊपर वाले ने हमारी जल्दी ही सुन ली।कुछ दिन बाद एक विवाहित जोड़ा आया और उसमें से वो आदमी मेरी माँ से कमरे के किराये के बारे में बात कर रहा था। मैं उस जोड़े में कुछ और ही देख रहा था।वो एक नव विवाहित जोड़ा था। वो लेडी तो. चाची आगे बोली- देख अशोक, तेरे चाचा महीने में कभी कभी ही आते हैं जिससे मेरी वासना बहुत प्यासी ही रह जाती है, देख अशोक, तूने वो कमी पूरी कर दी है… तू शर्मिन्दा नहीं हो… अब तू रोज आकर अपनी चाची को चोदा कर!मैं चाची को और वासना की नजर से देखने लगा, चाची मुझे और सेक्सी दिखने लगी.

चूमते हुए मेरा अंग अंग फड़क रहा था और एक ही झटके में मैंने उसकी मैक्सी और पेंटी निकाल फेंकी.

तुम्हें अकेले ही जाना पड़ेगा।मैंने कहा- फिर आज की टयूशन का क्या रहेगा?वो बोलीं- तुम आ सकते हो. मैं खुद आपसे ऐसे व्यवहार के लिए शर्मिंदा हूं। कृपया करके अपना परिचय बताओ।तब उसने कहा- अब आये ना लाईन पे… पहले वादा करो की मेरी छेड़खानियों को माफ करोगे और मुझसे दोस्ती करोगे?मैंने आनन-फानन में हाँ कहा और उसके जवाब का इंतजार करने लगा. फिर रविवार की सुबह किसी ने घंटी बजाई, दरवाजा खोला तो भाभी थी, बोली- नाश्ता हमारे यहां कर लेना!मैंने ‘ठीक है!’ कहकर दरवाजा बंद कर लिया.

यह सुनते ही मेरे मुंह से निकल गया- हाँ अम्मा, जल्दी जाओ और उन्हें ले आओ. सुधीर- हाँ तो मोना जी कहिए, मैं आपकी क्या मदद कर सकता हूँ?मेरे साथियो, आप इस सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. मुझे कुछ काम है।यह कह कर उसकी मम्मी साथ वाले मकान में चली गईं।मुझे कुछ शक हुआ.

सुन्दर का तगड़ा लंड अब चूत को दनादन पेल रहा था और वो ऊपर मेरे स्तन को चूस रहा था. मेरी पाठक और पाठिकाएं जो मेरी कहानियों का बेसब्री से इंतज़ार करते हैं, उन्हें पूरा पढ़ते हैं और मुझे मेल्स करते हैं, उनका बहुत बहुत धन्यवाद![emailprotected].

बस इतने में ही नीलू चीख पड़ी और बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहुत दर्द हो रहा है. अब मुझसे ये भाषण नहीं सुना जाता।फ्लॉरा गुस्से में वहां से चली गई और जॉय ममता के पास आ गया।जॉय- क्यों लड़ती हो तुम उससे. पर वो समझ गए, एक दिन चुदाई के वक़्त कहने लगे- लगता है अब तुम्हें बड़े लंड की ज़रूरत है?मैंने कुछ नहीं कहा.

जे जे बड़े मम्में हैं उसके!’ स्नेहा ने अपने हाथों से इशारा करके दिखाया मुझे!‘अच्छा तुझे कैसे पता कि कितने बड़े बूब्स हैं उसके… देखे हैं क्या तूने?’ मैंने आश्चर्य से पूछा.

तुम्हें मेरे उभार बड़े पसंद हैं। मेरे चुचों को तुम बड़ा पसंद करते हो. ये देखते हुए मेरी माँ ने मेरी शादी तय कर दी।आगे की चुत चुदाई की कहानी अगली बार लिखूंगी. लेकिन राहुल ने मुझे जींस, टॉप और शॉर्ट्स दिलवाए, बोला- आप यहाँ तो ये सब पहन सकती हो! आप पर ये कपडे अच्छे भी लगेंगे.

उसके बाद हमने चुदाई का दूसरा राउंड लिया जिसमें मैंने रजनी को खुल कर चोदा. ‘मैं आती हूँ…’ इतना कह कर मैं वहाँ से चल दी!मैं जाकर उस आदमी से थोड़ी दूर पर खड़ी हो गई, तभी उसकी नज़र मेरे ऊपर पड़ी, उसने अपने दोस्तों को इशारा किया.

मेरी भाभी बहुत ही सेक्सी टाइप की हैं, और उन्हें हंसने खेलने की आदत है, भैया जॉब करते हैं और मम्मी पापा घर पे हैं, हम सब साथ ही रहते हैं. और आप प्लीज़ मुझे मार कर मुझसे होमवर्क कराएं।वो बिल्कुल ऐसा ही करने लगीं।मुझे होमवर्क देकर वो किचन में काम करने चली गईं। मैं पीछे से उनके मस्ताने जिस्म को निहारने लगा क्योंकि मुझे दूर से ही उनका किचन दिख रहा था। जैसे ही वो मुड़ीं. कॉल बेल बजाई, मैडम ने दरवाजा खोला, उन पर नजर पड़ते ही मैंने उनसे हैलो कहा, जवाब में हैलो बोली और साथ ही अन्दर आने को बोली.

हिंदी एचडी सेक्सी चुदाई

ऐसे कहां मानने वाली थी, उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा और मुझे जोर का झटका मारने को बोला।तो मैंने ना आव देखा ना ताव.

पिछले एक वर्ष से माला ही मेरा एवम् घर का सारा काम करती है और अपने बालक के साथ मेरे ही साथ रहती एवम् सोती है. उस टाइम ऐसा हुआ था।टीना- गुड यानि तूने महसूस किया था। चल अबकी बार दोबारा ट्राइ कर. चूमते चूमते गर्दन और फिर बूब्स तक आए, ब्रा निकाल दी और अम्मी के थनों को नंगा करके दोनों बूब्स को पागलों की तरह चूसने लगे और उनका दूध पीने लगे.

फिर मैंने चाची से शरमाते हुए पूछा- तो क्या चाची, माँ आज भी चुदती है?चाची- हाँ अशोक हाँ… तेरे पापा के लंड बहुत छोटा है और दम भी नहीं है. तेरा कहीं कोई चक्कर तो नहीं शुरू हो गया?मैं उनके सामने बैठ कर बोला- अरे भाभी आप भी ना कुछ भी बोलती रहती हो. पंजाबी सेक्सी ओपन वीडियोप्रिय पाठको एवं पाठिकाओ, आप सभी को मेरा नमस्कार!पोर्न सेक्स का यह मेरा अनुभव मेरी एक क्लास मेट के साथ का है जब उसने एक वीरान पड़ी इमारत में मुझसे अपनी चुदाई करवाई.

उसके बाद मैंने अपना सुपारा चाची की चूत में घुसा दिया, वो चिहुंक गई और बाहर निकालने के लिए बोलने लगी, उनको दर्द हो रहा था क्योंकि अभी उनके कोई बच्चा नहीं था. मैं उसको बोला- मैं आ रहा हूँ, मेरा माल कहाँ डालूँ?तो बोली- अंदर ही डाल दो, मैं सेफ हूँ… और मैं तुम्हें महसूस करना चाहती हूँ…फिर मैंने जोर जोर से चोद कर मेरा वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया.

माँ मेरे दरवाजे को पीट कर आवाज देने लगी, मैं मोबाइल बंद कर के दरवाजे पर गया, मेरे लंड पैन्ट के अंदर इतना टाईट था कि पैन्ट उठी हुई थी. मैंने साथ में बैठे पुलिस वाले की तरफ देखा तो वो मेरी तरफ देखकर मुस्करा रहा था. काफी देर बाद जब उसने लंड मुंह से बाहर निकाला, तो वो और भी विकराल नजर आ रहा था, जैसे रक्तरंजित चाकू से खून की बूंदें, उसके कातिल लंड से नताशा की लार टपक रही थी.

भाभी बोली- तुम क्यों आए यहाँ?भाभी को तो मैं देखता ही रह गया, भाभी ने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी पहनी थी, क्या कमाल की लग रही थी. मामी ने धीरे से अपना हाथ मेरे गाल पर फेरना शुरू कर दिया था और मेरा हाथ हल्के से खींचकर अपने बूब्स पर ले गई थी और मुझसे जोर से दबवाने के लिए अपने चूचों पर मेरे हाथ को दबाने लगी. तो भगत खुद ही शाम को घर आ जाता। उसके आने पर फिर वही होता, माँ हम दोनों को दूसरे रूम या छत पर जाने को बोल देती थीं।वे बोलती थीं कि भगत जी 1-2 घंटे पूजा करेंगे.

आप भी सोचते होंगे कि ये पिंकी लड़की होकर गंदी कहानी कैसे लिख लेती है.

यह करने में हमें बहुत आनन्द मिल रहा था।अब मैंने उसकी पेंटी उतार दी, उसकी चुत पर बाल नहीं थे, पूरी तरह साफ़ थी। मैंने अपना हाथ चूत पर घुमाया, मैंने उसके दोनों पैर अलग किये और चूत का मुँह ज्यादा से ज्यादा खोल कर चूत चाटने लगा. ’ कह कर मुझे सुला दिया।टीना- यही बात है तेरी वजह से वो लोग खुलकर सेक्स नहीं कर पाते थे और धीरे-धीरे तेरी मॉम के अन्दर सेक्स की फीलींग्स कम होने लगी और अब शायद वो करती ही नहीं होंगी.

मैं हूँ स्नेहा! उस दिन शादी की पार्टी में आप से बात हुई थी न?’‘ओह, हाँ याद आया. थोड़ी देर के बाद माला ने अपने बेटे को दूसरी ओर पलटी किया और ब्लाउज के बाकी बटन खोल कर दूसरे स्तन को बाहर निकाल कर उसमें से दूध पिलाने लगी. शायद वो सोच रहा था कि भाभी को कुछ पता नहीं चला!सुबह उठते ही मैंने अपने पति को सारी बात बता दी.

गांड तो तुमने भी खूब मरवाई है उससे!‘भाभी चुप जाओ प्लीज!’‘साली रंडी, मुझे ताना मार रही है. मेरी तो जान ही निकल दी तूने और ये जलता सरिया मेरी चूत में भोंक दिया. जूसी मुस्करा दी, बोली कुछ नहीं लेकिन ऐसा लगा कि अब वो नार्मल है गई है.

नंगी चोदा चोदी बीएफ आज तुम्हारी तपस्या का फल मिलने का वक्त आ गया है।और मैं अपने कपड़े उतार के मूर्ति बनकर खड़ी हो गई, उसके सामने मेरी खूबसूरत नंगी टांगें थी, हर अंग तराशा हुआ मेरी आँखों में नशा था, और मैं सिर्फ ब्रा और पैंटी में सामने खड़ी थी, मुझे इस हालत में देखकर किसी का भी मन बेईमान हो उठेता. वो काफ़ी सेक्सी थी, बस देखो तो नज़र हटाने का मन ही नहीं करता था पर मैं उससे बोला नहीं!फिर ऐसे ही उसे देखने के लिए हम जल्दी सेंटर पर पहुंच जाते और बाहर खड़े रहते, उसको उसका पति छोड़ने आता था सेंटर पर… मैं रोज उसे गुड ईवनिंग विश करता लेकिन बात आगे नहीं बढ़ रही थी.

छोटी बहन की चुदाई सेक्सी वीडियो

अब उसने खुद सारे कपड़े उतारे और लेट गई फिर मुझे अपने ऊपर खींचा और मुझे लिप किस करने लगी और हाथों से मेरे लंड को आगे पीछे करके खड़ा कर दिया. मेरी ख़ुशी और बढ़ गई। अब तो सारा दिन दीदी के घर आना-जाना लगा रहता था। दोनों बच्चे मुझसे इतने घुल गए कि क्या बताऊं, सारा दिन ‘मामा मामा. उसके बाद उसने मुझसे अपनी गांड भी मरवाई और अपने सहेलियों की चूत भी दिलवाई!कैसी लगी आपको यह सेक्स स्टोरी? जरूर बताइयेगा मुझे![emailprotected].

उसके बाद मैंने सिस्टर को पकड़ा और कहा- चल तू मेरे लिए उस लड़की से सैटिंग बिठा!उसने बोला- करा तो दूँगी ब्रदर… लेकिन मुझे क्या मिलेगा?मैंने बोला- मैं हूँ न. अब हम दोनों सम्पूर्ण नग्न अवस्था में थे और एक दूसरे को खा जाने की तैयारी में थे. सेक्सी विडिओ मराठी ओपनकाफी देर तक इसी प्रकार चुदाई चलती रही, फिर नताशा को सांस देने के लिए हम रुके, और मैंने मौके का फायदा उठाते हुए राजू के लंड द्वारा भक्काड़ा हो चुकी गांड को कब्जाते हुए उसमें लंड घुसेड़ दिया.

मॉंटी का मज़ा तो दुगुना बढ़ गया अब वो भी सुमन को देख रहा था और आहें भर रहा था.

अब मैं नीचे से और हिम्मत ऊपर से चुदाई की ताल मिलाने लगे और बिमलेश ने एक हाथ पीछे हिम्मत के सिर पर और एक हाथ मेरे सीने पर रख कर दोहरी चुदाई का आनन्द ले रही थी. ’मैंने ऊपर नीचे होना शुरू किया, वो नया कुछ भी नहीं कर रहा था, फिर मैंने उसके छाती पे हाथ रखकर स्पीड बढ़ाई और उसने मेरे स्तनों को कस से पकड़ा और नीचे से धक्के देना शुरू कर दिया.

वो भी सेक्स की भूखी है, उसे मेरी जरूरत थी और मुझे उसकी… हम लोग अब एक दूसरी से कुछ भी नहीं छिपाती. उसके बाद लंड को लड़की की गांड में पेल दिया और चुदाई करना शुरू कर दिया।लड़की भी ‘ये ये…’ करके उसका हौसला बढ़ाती जा रही थी, वो आदमी कभी उसकी गांड मारता तो कभी चूत की चुदाई करता।एक बार फिर उस आदमी ने अपने लंड को बाहर निकाला और लड़की के मुंह के पास ले गया. फिर आदित्य ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे मम्मों को मसलने लगा… वो अपने एक हाथ से मेरे मम्मे मसल रहा था.

उस समय रेंट मतलब कि किराया ही हमारी आमदनी का सिर्फ़ एक ही साधन था। हमारे पास 10-11 रूम थे, जिन्हें हमने किराये पर दे रखा था और इस एरिया में हमारा किराया सबसे कम था इसलिए हमारा कोई रूम खाली नहीं रहता था। लेकिन हमने कुछ समय बाद अपने कमरों का किराया बढ़ा दिया और काफी किरायेदार ज्यादा किराया ना दे पाने के कारण रूम खाली करके चले गए।इस तरह धीरे-धीरे हमारी आय का साधन खत्म हो रहा था.

रानी के पति को देख कर मुझे सच में रानी कि भाग्य से सहानुभूति हुई; उसका पति नाटे से कद का सांवला सा बदसूरत आदमी था. मैं दर्द से मर ही गई थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ और मेरी आँख से आँसू निकल आये. शहर से बाहर निकल कर उसने बाइक की स्पीड बढ़ा दी और बाइक हवा से बातें करने लगी लेकिन जब भी स्पीड ब्रेकर आता मैं एक फीट तक ऊपर उछल जाता और बड़ी मुश्किल से बैलेंस संभालता.

किस वाली सेक्सी वीडियोवो सीधे कैफे पहुँच गई और किसी से पूछने के बाद वो सुधीर के सामने खड़ी थी. मैं रोज ही कई कई बार इस साइट पर आता हूँ। जब तक मैं 2-3 सेक्सी कहानी ना पढ़ लूँ मुझे नींद नहीं आती है। मेरा नाम अभी है, मैं 25 साल का हूँ और मैं कानपुर का रहने वाला हूँ.

भोजपुरी हीरोइन की सेक्सी पिक्चर

मैंने उसके होंठों पर किस किया तो उसने मुझसे कहा- मुझे वो वाली वीडियो देखनी है।मैंने कहा- कौन सी? किसिंग वाली. उसने धीरे से अपना गेट खोल दिया और मैं डरते-डरते उसके घर में घुस गया. मैंने दोनों हाथों से मानसी के चूचों का मर्दन करना शुरू कर दिया था, मेरे होंठ मानसी के होंठों पर थे और मैं नीचे से धीरे धीरे अपने लंड को उसकी चूत में हिलाने लगा था.

मैं किसी अबोध शिशु की तरह उसके दूधों से लिपटा हुआ अमृत पान करता रहा और वो मेरे सिर को सहलाती हुई, बालों में उंगलियाँ पिरो कर कंघी करती हुई अपना स्नेह जताती रही. भाभी पागल सी हो रही थीं।फिर मैंने अपने कपड़े उतारे। जैसे ही मैंने अपनी चड्डी उतारी. भाभी ने मेरी छाती पर हाथ फेरा, ‘आई लव यू’ कहा और मेरे लंड को सहलाने लगी।मैं भाभी जी की गांड में उंगली डालने लगा.

आओ आज तुम और मैं मिलकर दोनों की आग बुझा लेते हैं।इतना सुनते ही मैंने उसके चुचों पर हाथ रख दिया. भोजपुरी हीरोइन की सेक्सी पिक्चर. मैंने उसके बदन के हर हिस्से को खूब चूमा…यह थी मेरी पहली चुदाई… उम्मीद है आपको पसंद आई होगी… मुझे मेल करें![emailprotected].

तो मैंने थोड़ा सा लंड बाहर निकाला और एक इतना करारा शॉट मारा कि मेरा पूरा लंड चुत में जड़ तक घुसता चला गया।वो फिर से चीखी- मर गई माँ. मैंने उसे मेरा लंड चूसने को बोला और थोड़ी देर में, मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैंने उसकी अलग-अलग पोस्चर में चुदाई की.

अब मैंने उसकी टाँगें फैलाई और अपना लिंग उसकी चुत के मुहाने पे रख दिया ‘आहा हा! वो चिकनाहट मेरे लिंग को घुस जाने का न्योता दे रही थी.

थोड़ी देर बाद उसने अपना पानी मेरी गांड पे छोड़ दिया और फिर बेड पे जाकर सो गया. सेक्सी चोदा चोदी सेक्सी फोटोमैंने एक हाथ से अपने लंड को धारण किया हुआ था और दूसरे हाथ से उसके चूचों की मालिश कर रहा था. चोपड़ा वीडियो सेक्सीतभी उसने तेज गति से धक्के लगाने का बोला, मैंने भी भी उसकी बात मान ली और तेज गति से धक्के लगाने लगा. माला ने मेरे पास बैठते ही अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा कर अपने ब्लाउज के नीचे के तीन बटन खोल दिए और अपने एक स्तन को बाहर निकला कर उसकी चूचुक को बालक के मुख में दे दी.

ये ग़लत है?मैं बिना कुछ सुने बस उनको किस करता रहा और उनके मम्मे मसलता रहा और उनकी मस्त नंगी गांड में धक्के लगाता रहा।अब वो भी आपे से बाहर हो चुकी थीं.

अब मैंने लंड को धीरे से थोड़ा बाहर किया और फिर एक ज़ोर का धक्का देकर पूरा अंदर डाल दिया जिसकी वजह से मैडम की चीखने की आवाज़ मेरे मुँह में दबकर रह गई. क्या करूँ?’मैं- आपसे क्यों नहीं रहा जा रहा?‘जब से मैंने आपके साथ सेक्स किया है. अब मैंने उसे सीधा करके उसकी ब्रा उतार दी।उसकी दोनों चूची देख कर में उत्तेजित हुआ और उन्हें दबाने लगा, मैंने एक हाथ से एक चुची दबाई और दूसरे हाथ से दूसरी चुची का निप्पल मुँह में लिया।काफ़ी देर तक मैं चुची का मजा लेता रहा।फिर मैंने उसे पलंग पर लेटा दिया, उसके दोनों बूब्स के बीच में अपना लंड रखकर आगे पीछे हिलाने लगा.

अचानक उसने मुझे गाली दी- बहनचोद पता नहीं क्या ख़ाता है इतना नमकीन माल छोड़ दिया मेरे मुंह में…मैं गिर सा गया बेड पे!10 मिनट हम दोनों यों ही लेटे रहे. अब मैं आपको मेरे दोस्तों की बीवियों का परिचय करवा दूँ… मेरी बीवी दीपा, रंग सांवला पर बड़ी आकर्षक औरत है. पतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्ना-5अब तक आपने मेरी बीवी की चुदाई स्टोरी में पढ़ा था कि मेरी बीवी संजू ने गुप्ता जी के लंड के आगे वाली चमड़ी को पीछे किया, पीछे करते ही एक अजीब सी दुर्गंध पूरे कमरे में फैल गई।अब आगे.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी चोदा चोदी वीडियो

मगर आप कोई हरकत ना करना, और उसका क्या हुआ वो किसी को कुछ बता ना दे?काका- मैंने उसका बंदोबस्त कर दिया. भाभी- ओ जान… मुझे किस करो ना!मैं- मैं आपको किस कर रहा हूँ, मेरे होंठ अपने होंठों पे महसूस करो. तेरी जैसी आइटम के लिए तो एक मुँह चुत पे और एक गांड में तीसरा एक मम्मों पे चौथा दूसरे आम पर और एक तेरे मुँह में लंड डाल कर तुझे मज़ा दे।फ्लॉरा- आहा काश इतना मज़ा मिल जाए आह.

आंटी- तो फिर अंदर आओ, मैं अकेली बोर हो रही हूँ!मैं फटाफट अंदर चला गया.

वो दिखने में पटोला थी, मैं क्या… सेंटर के सारे लड़के उसे देखते ही रह गये.

बस देवर जी अब अपने लंड को मेरी चुत में डाल दो।रसीली भाभी का ऐसा खुलकर बोलना था और मैं खड़ा हो गया। भाभी ने फिर से एक बार लंड को मुँह में ले कर गीला किया।मैंने कंडोम निकाला तो भाभी ने ना में मुंडी हिलाकर आँख मारी।रसीली भाभी ने बिना कंडोम के चुदाई का सिगनल दिया। मैंने एक बार चुत चाटी और दोनों पैर के बीच बैठकर लंड को भाभी की चुत पर घुमाकर लंड का टोपा चुत में धीरे से ढकेला। भाभी के मुँह से ‘उह उम्म. तो वो थोड़ा चिल्ला उठीं।मैंने पूछा तो भाभी ने कहा- मेरे पति का लंड बहुत ही छोटा है. मराठी बीपी पिक्चर सेक्सी ओपनरवि को इन सब से कुछ लेना-देना नहीं था, वे बेफिक्र होकर मेरी चुदाई कर रहे थे।उत्तेजना के कारण मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैं झड़ने लगी… मेरी चूत से रस की धार बाहर बहने लगी पर रवि का लंड अभी भी मेरी चूत के अंदर बाहर हो रहा था.

मुझे इसके बारे में थोड़ी ही जानकारी थी। लेकिन किसी के कहने पर मुझे अरेबियन नाईटस पढ़ने का मौका मिला था. जब उसका मुंह मेरी तरफ था तब वो बार-बार मुझे आँख मार रही थी, फिर एक तरफ की सफाई करके वो दूसरी तरफ आई तब उसकी जांघे और कूल्हे मेरे सामने थे।अब मेरा रुक पाना मुश्किल हो गया, मैं कल्पना के पास गया और उसकी स्कर्ट को पकड़ कर ऊपर उठाते हुए मैं नीचे बैठ कर उसके कूल्हों को पेंटी के ऊपर से ही काटना चाटना शुरू कर दिया. एक दिन रीना अचानक से काली स्कर्ट और हल्के गुलाबी टॉप में आई, एकदम हॉट सी हीरोइन लग रही थी, मानो सेक्स से भरा बम!मैंने पूछा- आज स्कर्ट टॉप? क्या बात है?तो उसने मुझे बताया कि आज उसका जन्म दिन है.

अभी कुछ ही पल हुए थे उसका लंड चूसते हुए मुझे कि इतने में उसने मेरे मुँह से अपना लंड निकाला और बेड पर लेट गया. आज वो शरमा नहीं रही थी। मैंने आज पूरी नाइटी पहले ही उतार दी और जोरों से उसके मम्मों को अपनी मुठ्ठी में भर कर दबाने लगा।तो नीनू बोली- भैया क्या आज ही पूरा निचोड़ दोगे क्या? मैं कहीं भाग जाने वाली नहीं हूँ.

मैंने थोड़ा जोर लगाते हुए अपनी उंगली को मानसी की चूत में घुसाया तो वो दर्द के मारे फड़फड़ाई, उसने मेरी उंगली को बाहर निकलने के लिए मेरा हाथ पकड़ के खींचा तो मेरी उंगली पे थोड़ा खून लगा था.

मैं उसको उकसाता हुआ बोला- किसको शक भी नहीं होगा।बहुत रिक्वेस्ट के बाद वो बोली- सोचकर बोलूँगी।फिर हम दोनों सो गए।अगले दिन दुकान के आने के बाद देखा नीलू ने नहाकर एक सेक्सी सलवार-कमीज़ पहन रखी है।मैं बोला- नीलू क्या बात है आज तो एकदम सेक्सी माल लग रही हो।उसने थोड़ा गुस्सा दिखाया और चली गई।शाम को हम दोनों ने खाना खाया. मैंने उसके गाल पर हाथ फेर दिया तो वो शर्मा कर भाग गई।इसके बाद जब मैं बेड पर टीवी देख रहा होता था तो वो भी मेरे पीछे बेड पर आकर लेट जाती. गोपाल भी स्पीड से लंड अन्दर-बाहर करने लगा। मोना गांड उठा-उठा कर उसका साथ देने लगी। यही कोई 10 मिनट ये चुदाई अपने पूरे उफान पर चलती रही। उसके बाद गोपाल के लंड की नसें फूलने लगीं.

सेक्सी आंटी देहाती फिर चूतड़ को फैलाते हुए बोला- अशोक आ जा!मैंने अपना लंड माँ के गांड पर फिराया, फिर लंड को माँ की गांड के छेद पे लगा दिया. उसके दोनों संतरे आजाद होने को तड़प रहे थे तो मैंने बिना देर किये उसकी ब्रा के हुक खोले और दोनों कबूतर आजाद किये.

तेरी चूत देखी तो मैं रह नहीं पाया, बस हो गई ग़लती!अब मैंने कुछ भी नहीं सोचा, बस झट से उसका लंड पकड़ा और अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. इसलिए मैंने अपने पेपर का बहाना बनाकर इस बार 5-6 मामी के घर रुकने का फैसला लिया. पूरा लंड अन्दर घुस जाने के बाद नताशा एकदम से ऊपर उठी और तेजी से नीचे बैठ गई.

गावातील सेक्सी

चूत में मेरे लंड को गीला महसूस हुआ तो मैंने अपनी बीवी से पूछातो उसने बताया कि उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया है. संजय जीभ की नोक से चुत को कुरेदने लगा। अब पूजा की चूत रिसने लगी थी, उसमें से पानी बाहर आने लगा था।संजय ने मौका देख कर अपनी उंगली पर थूक लगाया और चुत की फाँकों को फैला कर उंगली अन्दर करने लगा।पूजा- आआह. भाभी- ओ जान… मुझे किस करो ना!मैं- मैं आपको किस कर रहा हूँ, मेरे होंठ अपने होंठों पे महसूस करो.

अपने घुटने मेरी जाँघों के दोनों साइड में टिकाकर उसने चूत को ऐन लौड़े के उपर सेट किया और धीरे धीरे नीचे होना शुरू किया. रूबी ने बार से बियर निकली और एक छोटी शीशी शहद की…विवेक बोला- शहद का क्या करोगी?तो रूबी मुस्कुरा दी.

दो दिलों की प्रेम भरी सेक्सी कहानी-1आपने अब तक इस प्रेम भरी सेक्सी कहानी में पढ़ा कि पूजा मुझसे चुदना चाहती थी इसलिए उसने मुझसे कहा था कि इस बार हम दोनों के बीच में कंडोम होगा।अब आगे.

मेरी बात सुन कर माला ने थोड़ा घूम कर उस स्तन को मेरी ओर करते हुए बोली- लीजिये साहिब, जी भर कर ताज़ा गर्म दूध पी लीजिये. उसके आने के बाद हम बाकी लोगों से थोड़ी दूरी बना कर खड़े हो गये। रात का वक्त था ज्यादा रोशनी नहीं थी। अब मैंने आज सुबह की चुम्बन वाली हरकत के बाद उससे पहली बार कुछ कहने की सोची. क्या बताऊँ दोस्तो, मेरा कुंवारा लंड तो टाइट होकर पैन्ट में ही तंबू बना देता था.

30 की ट्रेन से जयपुर के लिए निकल गया, 10 बजे जयपुर पहुँच गया, 11 बजे उस के दिए एड्रेस के अनुसार उसके घर के नजदीक पहुँच गया. अब चलो देर न करके हम चलते हैं असली बात की तरफ…जब हम फार्म हाउस पहुंचे तो हम हैरान हुए, वहाँ हर कुछ इंतजाम था, बड़ा हॉल, पांच बेडरूम, स्विमिंग पूल… वो सब कुछ जो मजे के लिए चाहिए. उसकी बात तो सही थी कि मेरी चूत को लंड की तलाश थी मगर यह लंड मेरे बड़े भाई का होगा यह मैंने सपने में भी नहीं सोचा था.

वो बोली- मैं सब समझती हूँ कि किधर और कैसी नजर है तुम्हारी!मैं और घबरा गया और बोला- सॉरी भाभी, आगे से ऐसा नहीं होगा!वो बोली- आगे से नहीं होगा का क्या मतलब है? क्या मैं सेक्सी नहीं हूँ?यह सुन कर मैं समझ गया कि भाभी को चुदवाने की इच्छा है.

नंगी चोदा चोदी बीएफ: कुछ ही पलों में वो मेरे मुँह में झड़ गई। फिर मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसके चूचे पीने लगा। लगभग दस मिनट बाद वो भी फिर से गर्म हो गई और मेरा लंड अपनी बुर पे रख कर दबाने लगी। वो बोलने लगी- अब और मत तड़पाओ भाई. फिर वो बोला- वैसे मेरा नाम आदित्य है!और अपना एक हाथ मेरी तरफ बढ़ा दिया।मैंने उससे हाथ मिलाते हुए कहा- मैं सोनाली हूँ… और हाउसवाइफ हूँ।आदित्य की नज़र मेरे अधनंगे मम्मों पर ही थी… जिसे मैंने नोटिस कर लिया.

तो उनकी सीत्कार निकल गई, पर मेरे किस करने की वजह से उनकी आह मेरे मुँह में ही रह गई। मैंने किस करना चालू रखा. लेकिन जब मेरा हाथ उसके ड्रेस में था तो इंटरवल हो गया और मुझे अपना हाथ निकालना पड़ा।हॉल में रोशनी हुई तो हम दोनों ठीक से बैठ गए लेकिन जैसे ही अँधेरा हुआ तो फिर हम अपनी उसी पोजीशन में आ गए। ऐसे ही फिल्म पूरी हो गई. पिछले तेरह माह से मैं बिना विवाह किये भी एक शादी शुदा पुरुष की तरह जीवन जी रहा हूँ और माला विवाहित होने के बावजूद भी एक पर-पुरुष के साथ जीवन व्यतीत कर रही है.

बल्कि मुझे माथे पर चूमा भी।फिर मैंने बोला- तुम और सुनील ऊपर वाले कमरे में चले जाना.

कुछ ही पल के बाद सुल्लू रानी के बदन में मुझे एक तेज़ कंपकंपी सी दौड़ती हुई महसूस हुई. मैंने उसकी चुची पर किस की, बहुत मजा आ रहा था, बिल्कुल दूध की तरह सफ़ेद थी और बड़ी बड़ी थी उसकी चुची… मैं खूब मजा ले रहा था और उसकी सिसकारी साफ सुनाई दे रही थी. मॉम रोज किसी काम पर जाती हैं? वो रोज ये सब काम करती हैं तभी हमारे घर का गुजारा चल रहा है और जानती भी हो.