गांव की सेक्स बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,आम्रपाली दुबे की सेक्सी फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी औरत सेक्स बीएफ: गांव की सेक्स बीएफ वीडियो, मुझे डर इस बात का लग रहा था कि कहीं वो मेरी गांड में ऐसे ही अपना लंड न डाल दे.

भोजपुरी सेक्सी व्हिडिओ भोजपुरी सेक्सी

मैंने कहा- देखो अब जल्दी से ड्रेस बदलो, मेरा लंड तुम्हारी चूत के साथ सुहागरात मनाने को बेकरार हो रहा है. साड़ी पहनने के डिजाइनसुनील बोले- यदि संजय, चौधरी को छठा पति बनाने के लिए राजी हो, तभी ये बात आगे बढ़ सकती है.

संजना मूतना चाहती थी पर मैंने उसे मना किया और कहा- जान थोड़ा वेट करो. जानू की सेक्सीअब आगे पोर्न लेडी सेक्स कहानी:मैंने उसकी नाभि से उसकी चूत का सफर बढ़ाया.

’इतना सुनते ही उन्होंने अपने लंड पर हल्का दवाब डाला और लंड का सुपारा आराम से छेद में घुस गया.गांव की सेक्स बीएफ वीडियो: विनी बोली कि ये क्या … सिर्फ चॉकलेट?मैंने कहा- और क्या चाहिए मेरी बहना को?तो विनी थोड़ा शर्माती हुई बोली- जो पिछली बार मिला था, वो ही दो ना.

यह देखकर रिया ने अमित को बोला- साले थोड़ा तो इन्तजार कर ले या उसे यहीं पटककर चोदेगा?मैंने हैरानी से रिया की ओर देखा तो सब हंसने लगे.तो मैंने कहा- ठीक है … मगर मैं तुम्हें बहुत मिस करूंगा,वो भी जाना नहीं चाहती थी मगर जाना तो था ही.

सेक्सी वीडियो सुंदर लड़की - गांव की सेक्स बीएफ वीडियो

पर उसका मन अभी और चुदाई करने का था इसलिए उसने मुझे वापस अपनी बांहों में ले लिया और मेरे मना करने पर भी मुझे चोदने लगा.उसे मैं सीधा बिस्तर पर ले गया और उसे लेटाकर उसके दोनों पैरों के पास बैठकर एक झटके में उसके दोनों पैरों को फैला दिया.

मैं उसे इस रूम में इसलिए लाया था क्योंकि इस रूम की आवाज बाहर तक नहीं जाती थी. गांव की सेक्स बीएफ वीडियो मैं उसके पीछे आकर उसके चूतड़ों को चूमने लगा; अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को फैलाया और उसकी चूत और गांड के गुलाबी छेद पर अपनी जीभ चलाने लगा.

मैंने उससे शरीर को चूमते हुए धीरे-धीरे उसकी नाइटी को उतार दिया और उसे लिटा कर उसके पूरे शरीर को चूमने लगा.

गांव की सेक्स बीएफ वीडियो?

मॉम- तेरा लौड़ा बहुत मोटा है बेटा … कितनी को चोदा है इससे?वो हंसती हुई बोलीं और मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगीं. मैंने इठलाते हुए कहा- फिर क्या करोगे? अपने लंड को किसी और तरह से चिकना करोगे क्या?उसने मेरी बात को शायद समझ लिया था. मैंने उसे और जोर से बांहों में भर लिया और धीरे से कहा- हां मैं तुझे पसंद करता हूँ.

लगभग दस मिनट बाद भाभी मेरे रूम में आईं और कमरे की कुंडी लगा कर मेरे सीने से चिपक गईं. इसलिए मामी के ब्लाउज के ऊपर से ही मैंने हल्के हल्के उनके बूब्स सहलाना शुरू कर दिए. मेरे होंठ से हल्का सा खून भी आ गया मगर आयेशा पर फिर भी कोई असर नहीं हुआ, वो मेरे होंठ चूसती रही.

भाभी धीरे से बोलीं- पहले गोली खा ले, नहीं तो मुझे आधे रास्ते अकेला छोड़ देगा. मोहन ने अपना पजामा उतार दिया; उनका लंड मदन की तरह 5 इंच लम्बा और थोड़ा मोटा था. अनुपम ने बहन की चूत में … और कार्तिक ने अम्मी की चूत में लंड पेल दिया था.

मैंने उसे बिस्तर पर करवट लेकर लिटा दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल कर चुदाई करने लगा. मेरी समझ में यही आया कि शादी से पहले ये एक बार भी नहीं चुदी होगी; उसका कोई बॉयफ्रेंड भी नहीं रहा होगा.

हम दोनों एक दूसरे को कसकर जकड़े हुए थे और वो जोर जोर से धक्के लगा रहे थे.

मुझे भी वक्त नहीं मिल पा रहा था कि मैं उनसे सारी बातें पूछ सकूं और भैया की मार्केटिंग का जॉब भी ऐसा था कि उन्हें भी बहुत कम समय मिलता था.

वो चारों डिल्डो नार्मल साइज़ के ही थे मतलब लगभग 6 इंच लंबे और 2 इंच मोटे थे. मेरे पूछने से पहले ही पापा ने पूछ लिया कि इस खुशी की वजह क्या है?उन्होंने कहा- बाद में बताऊंगी. रास्ता लंबा था और बारिश के कारण मैं बाइक तेजी से चला नहीं पा रहा था.

फॅमिली रंडी सेक्स कहानी मेरी अम्मी और बहन की पैसों के बदले चुदाई की है. उन्हें गए अभी करीब 10 दिन गुजरे ही थे कि एक दिन मैंने रसिका का मोबाइल देखा. अब एक दो नहीं सारे हाथ मेरे चूचे रंगने लगे, दबाने लगे।मैं हरे पीले नीले गुलाबी और लाल रंग से पूरी तरह रंग चुकी थी।उधर रोशनी के साथ भी यही सब हो रहा था, उसे भी लड़कों के एक गुट घेरे खड़ा था और वो सबके बीच मजे ले रही थी।तभी कुछ नई लड़कियां तैयार होकर बगीचे में आई, सबने मुझे छोड़ उनका रुख किया.

साथ ही मैंने अपना मोबाइल मयंक के हाथ में देकर कहा कि मेरी चुदाई की एक एक पल की शूटिंग करो.

लेकिन इसमें कुछ मजा नहीं आ रहा था इसलिए मैंने रिस्क लेने का फैसला किया लेकिन वो रिस्क भी मेरे लिए तो था ही नहीं, मैं तो सब कुछ उतारने को तैयार था. उस दिन के बाद से चाची ने मोहल्ले के लौंडों को घास डालना बंद कर दिया. किशोर ने मुझसे पूछा- क्या किया जाए, तुम बताओ?मैं- मैं क्या बताऊं?किशोर- अगर हम लोग इनकी बात नहीं मानते हैं तो ये पूरे गांव में हमारी कहानी बता देंगे.

मैंने भाभी से पूछा- भाभी, माल कहां लेना चाहोगी?भाभी मुझे किस करती हुई बोलीं- जान मेरी चूत को आज हरी भरी कर दो, मैंगर्भ निरोधक गोलीले लूंगी. मैं उनकी दोनों चूचियों को बारी बारी से जोर जोर से चूस रहा था और काट रहा था. गेम खेलते हुए मैं नजर बचाकर उसे ही देख रहा था, वो पूरी कोशिश करते हुए अपने को ढक रही थी कि कहीं कुछ न दिख जाए.

और इस बीच मैंने उससे सारे कांटेक्ट खत्म कर दिए थे क्यूंकि मुझे लगता था कि अब इसकी चूत नहीं मिलेगी!करीब 2 साल बाद जब मैं एक बार वेकेशन के लिए घर आया तो मैंने ऐसे ही दिव्या को ‘हेलो’ का मैसेज कर दिया.

मैंने उसकी एक टांग को उठाया, उसको अपने कंधे पर टिकाया और दूसरी टांग को बेड पर फैला दिया. और क्यों रोकती, मुझे तो मर्दों से रगड़वाना बहुत पसंद है।नीचे बैठे लड़के ने मेरी टांगें अंदर तक रंग दी और चूमने लगा।किसी ने मेरे चूचे मेरे ब्लाउज/चोली में से बाहर निकाल लिए.

गांव की सेक्स बीएफ वीडियो मैंने कहा- हां, उसने मुझे सब कुछ बता दिया है … तो उसका क्या?तो वो बोला- यार देख, मैंने जब से तुझे देखा है, तब से मैं तेरे साथ सेक्स करना चाहता था. जब संजना ने पूरा मूत लिया तो मैंने अपना लंड संजना की चूत से बाहर निकाला और उसकी चूत को चाटने लगा.

गांव की सेक्स बीएफ वीडियो उनकी आंखें मस्ती से बंद होने लगीं और ओह ओह आह आह करके सिसकारियां लेने लगीं. दो लोगों का लंड एक साथ मिलाने के बाद, चौधरी जी के लंड की मोटाई से थोड़ा सा ही ज्यादा होता.

हम दोनों को चुदाई करते हुए टाइम का पता ही नहीं चला, मस्ती से लगे थे.

चोदा चोदी गाना वीडियो

हाथ उनको पकड़ने के लिए भागे और मन सोच रहा था कि साले चूतिया इनको अभी तक क्यों भूला हुआ था. उन्होंने कहा कि उसका तीन डिपार्टमेट्स में काम और पेमेंट फंसा हुआ है. बेचारी कई दिन से बिना चुदी जो थी, उसका पति बच्चा होने के एक महीने बाद बाहर चला गया था.

नीचे ज्योति की चूत भी कभी बंद होती और कभी खुलती … मतलब ज्योति अपनी चूत की सिहरन को बर्दाश्त करने की कोशिश कर रही थी।हॉट लेडी Xxx स्टोरी में आपको मजा मिल रहा होगा. मैंने उनकी पीठ सहलाते हुए उनको करवट किया और उनकी नकल करते हुए घुटने से लेकर उनकी जांघों तक किस करने लगा. … आज तूने मुझे जन्नत दिखा दी … साले तेरी कहानियाँ पढ़ कर भी ऐसे ही मस्त हो जाती हूँ … आज तो तू खुद साक्षात मेरी फुद्दी चूस रहा है … मेरे राजा … ले तेरी रांड तेरे … मुँह में अपनी … जवानी का रस छोड़ रही है.

थोड़ी देर उसके बूब्स मसलने के बाद उसने मुझसे धीमी आवाज में कहा- क्यों बे नींद नहीं आ रही है क्या?मैंने कहा- नींद ही आती तो तुझसे क्यों पंगे लेता.

उन्होंने देखा था, जब उनके कस्बे के चारों साथी लोग रात को खाना खाने आते हैं, वो सब उसकी बीवी यानि मेरे बड़े स्तन और चिकने शरीर को हसरत भरी निगाह से देखते हैं. फिर मैंने पूरा वीर्य उसकी टाइट चूत में भर दिया और उसके ऊपर लेट गया. अब अनुष्का का बीएफ घुटनों पर बैठ गया और मेरी चूत पर अपने लंड को रगड़ने लगा.

मैंने कहा- तभी तो मजा आएगा मेरी जान कुछ देर दर्द सहन कर ले मेरी रंडी … फिर तुझे जन्नत का सुख मिलेगा. मसलन कोरियाई औरत की चूत कम गहरी होती है नीग्रो महिलाओं से।इसलिये अगर भारत के मर्द एशियाई महिला के साथ सेक्स करते हैं तो आपको इस वजह से कोई दिक्कत नहीं होगी।सामान्यतः लोगों मे ये धारणा होती है कि ज्यादा लंबे लिंग से औरत को ज्यादा मजा आता है. मैं बोला- मैं भी आया!वो बोली- अर्जुन अंदर मत निकालना, अभी मेरी शादी नहीं हुई.

मैंने उससे कहा कि आंह साले मादरचोद आराम से कर ना … क्यों मेरे बूब्स की माँ चोद रहा है. मेरी नाभि के पास उसका लंड था, जो कि उस वक्त उनकी चड्डी के अन्दर ही था और पूरी तरह से टाइट हो गया था.

मतलब जैसे कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड को कौन से शॉट लगाता हूं और कौन से शॉट में क्या पोजीशन रहती है?अब जब हम लोग खुलने लगे तो कभी-कभी हम दोनों व्हाट्सएप पर रोल-प्ले भी कर लिया करते थे. अब एक ही पोजीशन में चुदाई करते रहने से मेरे और आसिफा दोनों के पैरों में दर्द होना शुरू हो गया था. मैं भी होटल मैनेजमेंट से शिक्षित हूँ और एक होटल में रिसेप्शनिस्ट का जॉब करती हूँ.

इस बार भाई का लंड बहन की बुर की सील को फाड़ते हुए पूरा अन्दर चला गया.

कुछ देर यूं ही चुदाई के बाद उसने मुझे एक झटके में उठाया और दीवार से टिका कर घोड़ी बना दिया. पहले मेरी चूत की आग शांत कर!यह सुनते ही आयेशा ने मुझे गले लगा लिया और मुझे किस करने लगी. तू एक काम कर … अलमारी से वो डिलडो निकाल ला … उससे मेरी चुदाई कर!आयेशा ने मेरी तरफ देखा और हँसती हुई वो अलमारी से डिलडो निकाल लायी.

तो मुझे बॉयफ्रेंड की आवश्यकता ही नहीं पड़ी, इसलिए तुम ही मेरे बॉयफ्रेंड हो. वो मेरा पूरा मुँह अपनी जीभ से चाटने लगी थी और मैं उसकी गांड मार रहा था.

हालांकि अम्मी ने तो बहुत कोशिश की कि मैं नानी घर चला जाऊं लेकिन मैं नहीं गया. यह नर्स मेरे लिए फील्ड में काम कर रही थी; गांव गांव जाती थी और मरीज लाती थी. वहां मैंने मौसी को खाट पर दरी बिछा कर लेटा दिया और उनकी साड़ी ऊपर करके उनकी गांड चाटने लगा.

उर्मिला सेक्स वीडियो

थोड़ा समय लेते हुए मैंने अपनी उंगली बाहर निकाली और उसकी आंख में देखा.

इसलिए खुद ही चोदो, जिससे उसके बाजारू रंडी बनने का चांस कम रहे … समझी कुतिया अब लंड का मजा ले और चुत का मजा दे. मैंने तुरंत उसे पैंटी में से निकाला और बोला कि ये तो बस घुसा हुआ था, क्या वाइब्रेट भी करता है?भाभी- हां ध्यान से देखो, सब मिल जाएगा तुम्हें. मैं उसके पास पहुंचा और उससे पूछा- बुकिंग आपने ही की है?तब वह बोली- हां बुकिंग मैंने ही की है.

कुछ देर और चूसने के बाद मैंने मैंने लंड छोड़ दिया और लंड के ऊपर बैठने लगी. एक बांस की बल्ली उसके सर के ऊपर रस्सी से दोनों तरफ से बंधी हुई लटकी थी. सेक्सी टिक टॉकफिर हम जाने लगे तो वो बोला- तू चिंता मत कर, आज तेरी सारी आग मिटा दूंगा.

लेस्बियन सिस डर्टी मस्ती का मजा लिया मैंने होली से पहली रात को! दिन भर की मस्ती और अगले दिन होली की चुदाई की सोच सोच कर मेरे अंदर वासना भड़क गयी थी. ‘आ … आ … आह …’ कराहती हुई उसने अपनी कमर ऊपर उठायी और सिर पीछे को झुका लिया.

चाय पीने के बाद हवलदार अपने काम में व्यस्त हो गया और मैं उसकी नजर बचा कर फिर से अन्दर की तरफ गया. उसी दौर में जवानी भी चढ़ रही थी, तो कभी कभी उनकी जांघों के दर्शन ने वासना भी भरनी शुरू कर दी. मैंने हँसते हुए कहा- अभी कहाँ आज़ाद हुए हैं पंछी? आओ हम दोनों मिल कर आज़ाद कर देते हैं पंछियों को!तब मैंने ज्योति के सर को ऊपर किया और हमारी छातियों के बीच में फंसी ब्रा को निकालकर रोहित को पकड़ा दिया.

फिर मैंने संजना से कहा- जान, अब मैं तुम्हारी गांड में लंड डालने वाला हूँ. उसने मेरे सीने पर अपना सीना रखते हुए मुझे दबा लिया और दनादन मेरी चुदाई चालू कर दी. उसको लिटाकर मैंने उसकी दोनों टांगों को फैला दिया और उसकी बुर को गौर से देखने लगा.

अपनी बात बोलने के बाद उसने फिर से अरुणिमा के होंठों को चूमना चालू कर दिया.

चूंकि हमारा मोबाइल उसके आगे पड़ा हुआ था तो मैंने अपने हाथ उनकी बाजू के नीचे से निकलता था. कहानी के पिछले भागचार लड़कियों की गांड चुदाईमें अब तक आपने पढ़ा था कि सुबह चार बजे तक चुदाई का बड़ा ही रंगीन मंजर चला था, जिसमें हम सब काफी थक गए थे और सो गए थे.

हम दो मर्दों के जिस्मों ने ज्योति को जैसे पागल कर दिया था, उसकी चूत पानी छोड़ने लगी थी परन्तु मैं था कि उसे हर हाल में पहले चुसाई का मज़ा देना चाहता था।मैंने ज्योति से पूछा- ‘उमम्ह्हा … कैसा लग रहा है डार्लिंग, मेरी चुसाई का मज़ा आ रहा है?ज्योति सिसकारती हुई बोली- उफ्फ … आह बहुत मज़ा आ रहा है. उसे देख कर मेरी इंद्रियां काम करना बंद कर गयी, मैं एकटक उसे देखता रह गया. [emailprotected]सेक्सी लड़की की जवानी की कहानी का अगला भाग:लूडो का खेल चुदाई में तब्दील हो गया- 3.

उसके दूध मेरे सीने के नीचे दब गए और मैं लंड को अन्दर बाहर करने लगा. इससे साफ़ मालूम पड़ रहा था कि वो अपनी निम्फो वाली समस्या से जूझ रही है. मैं पीछे से उसकी कमर की बनावट को देख रहा था, कसम से क्या गजब का फिगर था उसका.

गांव की सेक्स बीएफ वीडियो थोड़ी देर में सबने अपनी पसंद का डिल्डो ले लिया और फिर अपने अपने डिल्डो देखकर बोले- बहनचोद ये तो सब एक ही साइज़ के हैं. ज़रा ज़रा टच मी … टच मी … टच मी … ज़रा ज़रा किस मी … किस मी … किस मी” मैं गा रही थी.

काला भूत चार्ट 2021

फिर मैंने उसकी पैंटी नीचे करके उतार दी और अपने हाथ में पैंटी लेकर उसके मुँह में घुसा दी. फिर विकास ने एक बार और जोर से बुर की चुसाई करके अपनी बहन को एक बार फिर से झाड़ दिया. अब हम दोनों पूरे नंगे, एक दूसरे के सामने खड़े थे; एक दूसरे को अपनी बांहों में लेने को बेताब थे.

मैंने अब देर न करते हुए तुरंत ही चाभी लगाई और दरवाजा खोलकर अन्दर चला गया. मैंने संगीता से मालूम किया कि वह कहां से साड़ी और खुले गले का ब्लाउज खरीदती है. త్రిబుల్ ఎక్స్ ఎక్స్अब इस बहनचोद लंड को कैसे समझाऊं कि ऐसे अचानक उससे नहीं मिला जा सकता.

इसके बाद मेरा भी अगले 20 दिन तक ऑफ था तो मैंने भी करीब 5 से 6 बार दोनों को ऐसे ही चोदा.

अन्दर अरुणिमा खड़ी थी और दो लौंडे उसकी चूत और गांड एक साथ मार रहे थे. इसके पहले से ही जब भी कुछ किराना या कुछ और सामान मंगाना होता तो आंटी मुझसे ही कहती थीं.

हम दो मर्दों के जिस्मों ने ज्योति को जैसे पागल कर दिया था, उसकी चूत पानी छोड़ने लगी थी परन्तु मैं था कि उसे हर हाल में पहले चुसाई का मज़ा देना चाहता था।मैंने ज्योति से पूछा- ‘उमम्ह्हा … कैसा लग रहा है डार्लिंग, मेरी चुसाई का मज़ा आ रहा है?ज्योति सिसकारती हुई बोली- उफ्फ … आह बहुत मज़ा आ रहा है. मैंने जल्दी से नाश्ता बनाया और अपने बेडरूम में जाकर दरवाज़ा बंद कर लिया. आह क्या नज़ारा था यार!मेरी आंखें उनके उजले उजले कबूतरों को देख रही थीं.

इस बार हैरी ने मुझे अपने मजबूर हाथों में उठा कर मेरी चूत में लंड पेला और मेरी जानवरों जैसी चुदाई की.

जैसे ही उनका धक्का मेरे पेट पर लगता, मेरे मुँह से ‘आआह मम्मीई …’ की आवाज निकल जाती. मैंने कहा- तो कब तुड़वाओगी अपनी सील?वो बोली- जिससे तुड़वाने का मन है, बस वो सैट हो जाए, तब मैं मजा ले लूंगी. अरुणिमा अब तक पहुंच गई होगी और मैं क्या बहाना बनाऊंगा, ये सोच कर मैं थोड़ा धीरे धीरे ही ड्राइव कर रहा था.

सेक्सी मूवी.ज़ल्दी … साथ ही मैं भी तेरे मुँह में अपनी चूत से अपनी जवानी का रस छोड़ने वाली हूँ. वो लोग लड़की की जगह लड़कों की तरफ आकर्षित होते हैं और गांड मरवाना पसंद करते हैं.

एक पहेली सुनाओ

उसने कहा- जुगाड़ मिल गयी है चल आ जा!मैंने सोचा दूर की चिड़िया के चक्कर में हाथ की चिड़िया को कौन छोड़े. मैं धीरे धीरे चाची की चूचियां चूसते चूसते उनकी चूत पर अपना हाथ ले गया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को रगड़ने लगा. मामी ने कहा- एक नंबर का हरामी है तू!मैंने कहा- तू चाहे तो मादरचोद भी कह ले, आख़िर मामी मां समान होती है.

उसके लंबे गांड तक लहराते बाल, उसकी बाहर को निकली हुई गांड, उसका गोरा रंग, उसके शरीर की कामुक खुशबू मुझे पागल बना रही थी. मेरी गांड में मैं पन्द्रह दिन से तेल लगा रही थी तो मुझको मज़ा आ रहा था. वो अपना एक दूध मेरे मुँह में देने लगी और मादकता से मेरे मुँह में दबे निप्पल को अपनी दो उंगलियों से ऐसे दबाने लगी, जैसे वो किसी बेबी को दूध पिला रही हो.

पर ये याद है कि जब चाची ने मेरी कमर में हाथ डालकर मेरे होंठों पर होंठ रखकर चूसा और मुझे अपने ऊपर खींच लिया. कहानी के पहले भागजवान भाई बहन की अन्तर्वासनामें आपने अब तक पढ़ा था कि नेहा ने अपने भाई विकास के साथ चुदने का मन बना लिया था. मैंने बाहर निकाल कर पट्ट पट्ट चूत पर मारा और भीतर डाल कर फिर से चोदने लगा.

जो हुआ उसका इतना अफ़सोस मत कर, मैं समझ सकती हूँ कि तुझ पर उस सब का क्या असर हुआ होगा. मैंने उनसे कहा- आज तू मेरी रंडी है और इस बाथरूम में आज तेरी चूत नहीं,गांड मारूंगा.

सुबह जब मैं जागती, तो चौधरी जी का खड़ा लंड चूस चूस कर उनके प्रसाद रूपी वीर्य को पी जाती.

मैं बातों बातों में अब उन्हें कुछ ज्यादा टच करने लगा था और भाभी भी इसका बुरा नहीं मानती थीं. मल्लिका शेरावत सेक्सीमैंने और आयेशा ने तो पहले भी नीग्रो लंड से हार्डकोर चुदाई करवाई हुई थी मगर मुझे नेहा का लग रहा था कि ये बेचारी कैसे झेलेगी. एचडी वीडियो सेक्सी न्यूउनकी आंखों से साफ़ नजर आ रहा था कि आज रोमा आंटी की चूत मेरे लंड का शिकार करने वाली थी. कमसिन जवान लौंडा और जवानी अपने ऊपर लदी भरपूर 5 फुट 4 इंच की औरत को कमर से पकड़ कर खिलौने की तरह अपने लंड पर उछाल रहा था.

मैंने भाभी को फिर से घोड़ी बनाया और किसी पागल घोड़े की तरह उन्हें चोदने लगा.

हॉट वर्जिन पोर्न स्टोरी रिश्ते में मेरी बुआ लगी मेरी हमउम्र लड़की के साथ पहले सेक्स की है. मैं ठीक स्टेज के सामने कुर्सी पर बैठा हुआ था और सामने बारी बारी से सभी फ़ोटो के लिए आ रहे थे और वो लड़की मेरी बहू के पास ही खड़ी हुई थी. आप मेरी इस साधारण मगर रसभरी नंगी चाची भतीजा सेक्स कहानी के लिए अपने विचार मेल से भेजें.

क्या बताऊं दोस्तो … इतनी वो हसीन लड़की थी कि मेरी आंखें झपक ही नहीं रही थीं. चुदाई का यह हनीमून तीन दिन तक चला जिसमें पहले दिन छोड़कर बाकी सभी दिन और रात हमने अपने कमरे पर ही बिताईं. मैं अन्तर्वासना साईट का एक नियमित पाठक हूं; पिछले काफी सालों से मैं इधर सेक्स स्टोरीज पढ़ता आ रहा हूं.

हमारे पतिदेव

थोड़ी बहुत तलाश करने के बाद मुझे अपने एक फ्रेंड का कमरा मिल गया और मैंने समय तय करके अपनी सेक्सी गर्लफ्रेंड को वहां बुला लिया. बाहर अब भी रिमझिम बारिश हो रही थी और मैं इस बारिश का आनन्द ले रहा था, साथ ही पहाड़ पर धीरे ही गाड़ी चला रहा था. मैं पुणे महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ और आपकी तरह मुझे भी चुदाई की कहानियां पढ़ना बहुत पसंद हैं.

मैं उसकी बता सुनकर दंग रह गया कि इस जवानी की शुरुआत ही इस लड़के का लंड मुझसे लंबा कैसे है?मैंने बोला- दिखाओ.

उसने मेरी टांगों के बीच में आकर मेरी चूत फैला दी और अपनी जुबान चूत की दरार में ऊपर से नीचे तक फेर दी.

रात की देर तक चुदाई और फिर सुबह अप्रत्याशित रूप से लंड को चूत द्वारा ऐसे रौंदने पर मुझे थोड़ा अजीब सा लगा और मेरी आंख खुल गयी. वो पिंकी भाभी की गांड की छेद पर तेल को लगाने लगीं और वाइब्रेटर को चालू करके उस पर रगड़ने लगीं, फिर धीरे से उसे अन्दर डाल दिया. गांव की सेक्सी सेक्सी सेक्सीदेवर के कमरे का बाथरूम अब गर्म होने वाला था, यह मुझे आभास हो गया था.

एकदम से उसने झटके से अपनी किस तोड़ी और मेरे हाथ अपने स्तनों से हटा दिए. उम्मीद है कि सब मस्त ही होंगे और तालाबन्दी यानि लॉकडाउन के दौरान मज़े लिए होंगे. उसे पता न चले इसलिए उसकी छाती को बांहों में भर लिया और हल्के हल्के से स्तन दबा कर मजे लेने लगा.

अब अगर उसका पति चुदाई करना चाहता तो कंडोम लगा सकता था या कई टेबलेट भी आती थीं जिनसे एक दो दिन के लिए माहवारी टाली जा सकती थी. मैंने पूछा- मतलब अभी फटी नहीं है?वो धत कर कह मुस्कुरा दी और बोली- मैंने अभी तक सिर्फ पोर्न में ही वो देखा है.

उन्होंने मादक आवाज में कहा- शर्म नहीं आती तुझे अपने मामा के माल पर हाथ डालते हुए हरामी.

नेहा सिर्फ ‘ओहह विकास … आहहह विकास …’ करती रही और कहती रही कि तुमने इतनी देर क्यों लगा दी भाई. उसके मुँह में से लार ही लार निकल रही थी और उसका मुँह एकदम लाल हो गया था. प्रिया ने मस्ती से कहा- किस रूप में?मैं उठा और अलमारी से एक नाईट गाउन निकाल कर ले आया.

हिंदी सेक्सी फुल्ल विडिओ यह सब नज़ारा देख कर मैं भी गर्मा गया और कमरे में ही अपना लंड हिलाने लगा. अब मुझे अपने लंड के लिए छेद नहीं मिल रहा था और लंड दिमाग की बात सुन ही नहीं रहा था, वो बस चूत चूत कर रहा था.

इधर वो मेरे सीने में और जहां जहां उसके हाथ जाते, वहां वो शैम्पू लगाती जा रही थी. हम दोनों भी पानी में पड़े सांप की तरह सुस्त पड़ गए और हमें कब नींद लग गयी, कुछ पता ही नहीं चला. अपने जिस्म को ढीला छोड़ दो और ताकत मत लगाना प्लीज, नहीं तो तुम्हें ज्यादा दर्द होगा.

मस्त झवाझवी

अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और अपने आप ही बड़बड़ाने लगी थी ‘आआह आआह अब करो न … अन्दर डालो न …’‘कहां अन्दर डालूं मेरी जान. कुछ देर बाद उन्होंने मेरी चूत के नीचे से हाथ डाला और मुझे उठाकर बिस्तर पर लेटा दिया. क्या जान ही ले लोगे, तब चोदोगे क्या?मैंने कहा- ले ले मना किसने किया है रानी.

कुछ समय बाद अम्मी का बिजनेस फिर से चलने लगा और जब बिजनेस चलने लगा तो आमदनी भी होने लगी जिसकी वजह से घर के हालात ठीक होने लगे. अंत में मैंने उसी से पूछा- मैं कैसे बदला लूँ?आयेशा ने कहा- मोम का बदला मोम से!मैंने कहा- मतलब?आयेशा ने कहा- जैसे उसने तेरी चूत में मोम डाला था, वैसे ही तू उसकी गांड में मोम डाल देना मगर मॉम गांड के छेद में अन्दर जाना चाहिए.

संजना ने हंस कर अपनी बांहों को फैला दिया और मुझसे बोली- जान मेरी बांहों में आ जाओ.

मैंने सोचा कि ठोक दूँ, पर फिर ये याद आ गया कि इसका रंडीपना अभी से ही शुरू हो जाएगा और फिर वो दोनों फोटोग्राफर इसको चोदने तो वाले ही हैं. इतने में मैंने उसकी अंडरवियर में हाथ डाल दिया मैंने जैसे ही उसके लंड को टच किया तो मुझे झटका सा लगा. इसी तरह मैं रोज सुबह घर की छत पर और कभी उसके कमरे में जाकर उसके हुस्न का दीदार करता रहा.

तभी मेरे एक जान पहचान वाले कांट्रेक्टर आए और उन्होंने गुस्से में मेरी टेबल पर फाइलों का बंडल पटक दिया. सुनीता बोली- डरो नहीं, ये रंडियां तुम जैसे अमीरों के लिए ही बनी होती हैं. मैंने भाभी को किस करते हुए उनकी ब्रा को निकाल फैंका और उनके मम्मों पर टूट पड़ा.

पर आज वो मेरे सामने सफ़ेद बिना स्लीव की क्रॉप टॉप और छोटी सी सफ़ेद और काली रंग की प्रिंटेड स्कर्ट पहन के आयी थी, जिसके नीचे उसने काली कैप्री पहनी थी.

गांव की सेक्स बीएफ वीडियो: अब नेहा थोड़ा रिलैक्स हुई और अन्दर सांस भरती हुई वो अपने भाई के और करीब आ गई. अब उनका पारा सातवें आसमान पर था; उन्होंने मुझे फोन करके तुरंत आने का कहा.

मेरे मुँह से बस आह आ आआआ मेरी जान चोद मुझे साले हरामी की औलाद … चोद आपनी जान को अआह्ह्हा बहुत मज़ा आ रहा है जानू … जोर जोर से चोद मुझे … डाल दे भोसड़ी के अपना पूरा लंड मेरी चूत में. उसने मेरी चूत में इतनी तेजी से लंड डाला कि मुझे कुछ समझ ही नहीं आया. चूंकि मैंने अपनी एक गोटी अभी पाले के बाहर ही रखी थी तो उसे मैं जाने नहीं देना चाहता था.

इसके बाद भी दो तीन बार अन्दर गया लेकिन बहुत किनारे से झांक कर तुरंत वापस आ जाता था.

भैया भी बड़ी चतुराई से नींद में होने जैसा होकर, ये काम कर रहा था कि अगर मैं नींद से उठ जाती, तो मेरे को लगे कि वो नींद में है. कुछ समय मैं उसे देखता रहा, फिर मैंने उसे उठाया और वो अपनी चड्डी ब्रा और गाउन पहनकर बाथरूम चली गई. संजना के जिस्म में बहुत जगह लाल लाल निशान हो गए थे जो मैंने ही दिए थे.