देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी

छवि स्रोत,देसी सेक्सी की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बाथरूम की सफाई: देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी, ’उसने फिर मुझे बताया कि वो मुझे कैसे जानती है और अचानक से मुझे याद आया कि ये मेरी एक बेस्ट फ्रेंड की किसी गर्लफ्रेंड की छोटी बहन है.

सेक्सी सेक्सी देखनी

उसने मुझे प्यार से चुप कराया और बोला- बस तुम्हें डरा रहा था जानेमन. रिया कपूर सेक्सी वीडियोअब सलीम ने मेरी चूत में अपना लोड़ा डाल दिया और मुझे दोनों छेदों में एक साथ चोदने लगा।मैं कराह भी रही थी और मजे भी ले रही थी.

अब आगे GF BF Xxx कहानी:उसके बाद तो ये हमारा रूटीन बन गया, हम हर हफ्ते या 8-10 दिन में जब मौका मिलता, हम किसी लॉज में पहुंच जाते और कम से कम दो बार सेक्स करके ही निकलते. हिंदी सेक्सी वीडियो शादीशुदाअब मैं खुद अपने पैरों पर उठ कर सीधे खड़ी और उनकी तरफ मुँह करके उनकी गोद में बैठ गयी.

अदिति बोली- हर्षद हम अभी विलास के घर गए थे, तब तुमने सरिता के साथ संभोग किया था.देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी: उसने मुझे नहाते हुए देखा, तो वो मेरे गठीले बदन को देखकर अपने होंठों पर जीभ फेरने लगी.

मैं दरवाजे के पास पंहुचा ही था कि मैंने मामी को फ़ोन पर रोते हुए सुना.रिक्की के बचपन में ही उसके पिता की मौत हो गयी थी तो मोहिनी ने ही उसे पाल-पोस कर बड़ा किया.

शिल्पी राज का वायरल वीडियो सेक्सी वाला - देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी

मैं दो दिन श्वेता के पास रहूंगी और सोमवार को चंडीगढ़ कोर्ट का काम खत्म करके शाम तक घर आ जाऊंगी.मैंने उसको रोका और कहा- सुहानी, तुम्हारी चूत में तीन साल से लंड नहीं गया है.

थकान के कारण नींद आ गई और हम दोनों ऐसे ही लंड बुर एक दूसरे में फंसाए हुए ही सो गए. देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी जब उसका लोअर नीचे हुआ तो मैंने महसूस किया कि उसका लंड अभी भी चड्डी में था.

दोनों तरफ से मज़ा लेने के लिए मैंने भी रीना को बिस्तर की ओर धकेला और झुकते हुए मेरा लौड़ा उसके मुँह में देकर उसका मुँह चोदने लगा.

देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी?

अब मैं सोच लिया था कि किसी भी तरह से इसको पटाना है और मुझे उम्मीद थी कि ये मुझसे पट जाएगी. इन्द्रेश अंकल मज़े से मम्मी की बड़ी बड़ी चूचियों का आनन्द उठाने लगे. कुछ देर के बाद उन्होंने अपनी वीर्य भरी पिचकारी मेरी बुर में ऊपर छोड़ दी और भैया हांफते हुए मेरे ऊपर ही ढेर हो गए.

मैंने उन्हें मना किया और उनसे पूछा- आप आज तक मेरे अलावा कितने मर्दों से चुदवा चुकी हो?उन्होंने कहा- चार. दोस्तो, जितना पैसा मैं उसे देता था, उस पैसे से उसका काम नहीं चल रहा था क्योंकि उसे अपने घर भी पैसे भेजने पड़ते थे. तो मैंने टाइमपास करने के लिए अपने लैपटाप पर एक फिल्म लगा ली और इयरफोन लगा कर फिल्म देखने लगी.

इसी बीच अपना एक हाथ नीचे ले जाकर मैंने बुर के दाने को भी रगड़ना शुरू कर दिया. रात के करीब 11 बजे धीरे से उठकर मैंने देखा कि साथ वाले कैबिन की सवारी गहरी नींद में सो रही थी।सामने वाली सीट पर बैठ गया।मुझे लगा वो भाभी ही होगी. थोड़ी देर इस तरह चोदने के बाद एक ने कहा- चल कुतिया, अब घोड़ी बन जा!मैं भी मजे से उठी और कुतिया बन गई.

ऐसे बारिश के मौसम में एक लड़की साथ में हो, तो सफर में कितना मजा आएगा. ये देख कर मैं कुछ देर ऐसे ही रुका रहा और उसको किस करता रहा, उसके मम्मों को सहलाता रहा.

बेटे ने लंड निकाल कर मां के मुंह में डाल दिया और मां हंसते हुए लंड चूसने लगी.

मेरा भी पानी निकलने वाला था तो मैंने स्नेहा की चूत से लंड निकाल कर गांड में डाल दिया.

मैं थोड़ा जल्दीबाजी करने लगा तो चित्रा ने कहा- आज तो थोड़ा सब्र करो, आज तो हमारे पास पूरी रात है. अर्णव ने बहुत सी लड़कियों की चुदाई की थी पर उसे मोहिनी जैसी कोई नहीं मिली थी. फिर हम दोनों घर की ओर निकल गये।जब तक हम मामा के घर रुके तब तक यह मॉम अंकल सेक्स का सिलसिला चलता रहा।नानाजी और नट्टू अंकल शाम को खेत में बने कमरे को साथ में दारु पीते थे। मैं भी कभी कभी उनके साथ बैठक में होता था।एक बार दोनों नशे में टुन्न थे.

किस किस की बुर में पेलते हो अपना लण्ड?उसने कहा- रात में जिसकी बुर खाली होती है उसी की बुर में घुसा देता हूँ लण्ड!शेखू ऐसा कह कर शन्नो की चूत की धज्जियाँ उड़ाने लगा।सबके मुंह से मस्ती में कुछ न कुछ निकलने लगा।जैसे कि- हाय रब्बा बड़ा मज़ा आ रहा है. चाहे वो मौसी की लौंडिया हो या बुआ की, मामा की हो या चाचा की, फ़ज़लू ने सबकी चूत में लंड पेला था. गीला बदन और कसी हुई चूत चोदते मेरा मन कर रहा था कि ये लम्हा कभी खत्म न हो और हमारी ये रास लीला ऐसी ही चलती रहे.

जैसे ही कूपे का दरवाज़ा मैंने बंद किया तो रेशमा ने मुझे जोर से झप्पी देते हुए मेरी छाती पर अपना चेहरा रख दिया.

भाभी मेरे सर पर हाथ रखे हुए मुझे अपनी चूत पर रगड़ रही थीं और अपनी गांड हिला कर मेरे मुँह में चूत दिए जा रही थीं. इस बीच कोरोना के कारण वर्क फ्रॉम होम रहने के कारण मेरा भी समय आसानी से कटने लगा. उसने थोड़ा सा लंड बाहर निकालकर लम्बी सांस भरी और अगले ही पल फिर से लंड का सुपारा मुँह में लिया.

यह सब हो रहा था तब मेरी फुद्दी पूरी तरह से गीली हो चुकी थी और मेरे लोवर को भी गीला कर रही थी. गीता हंस कर बोली- हां अब तो लड़ाई होनी ही चाहिये हर्षद … और जल्दी से चोदो, नहीं तो नीता नाश्ता लेकर आ जाएगी. मोहिनी ने उसकी शर्ट उतार दी और उसके पेट को छूते हुए उसकी छाती पर चूमने लगी.

उस अवस्था में वो अपने मुँह से होंठों का चुम्बन लेते लेते चुदाई करने लगी.

ये मेरी सच्ची फर्स्ट टाइम Xxx विद चाची कहानी तब की है, जब मैं पढ़ता था. मैंने ये सुना तो मौका पर चौका मारते हुए कहा- इससे मुझे क्या फ़ायदा होगा?मुस्कान दीदी बोली- कहा तो है कि जो तू कहेगा, वो करूंगी भाई, लेकिन किसी को मत बताना.

देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी ऐसी घमासान चुदाई के चलते अब मेरा लौड़ा रीना के बच्चेदानी पर वार करने लगा और रीना इस घाव से बच नहीं सकी. उसने नीचे उतर कर देखा, तो पिछली कार का काफी नुकसान हो गया था, उसका बम्पर टूटकर लटक गया था.

देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी इससे वह धीरे-धीरे गर्म होनी शुरू हो गई और उसका विरोध कम होना शुरू हो गया. नमस्कार दोस्तो, मैं आपका अपना दोस्त विवेक, आज आपके साथ अपनी जिंदगी में हुई एक हसीन घटना को साझा कर रहा हूं.

मैं अपना लंड अपने हाथ में पकड़ कर उसकी चूत पर पीटने लगा, थोड़ा थोड़ा अन्दर डाल कर बाहर निकाल लेता.

বিএফ চুদাই

मैंने वही सब सोच कर अपने आपको इस बात के लिए पूरी तरह से रेडी किया कि मैं आज किसी भी हाल में अपने तीनों छेदों को अच्छे से ठुकवा कर ही रहूंगी. उसकी ये हरकत देख कर रीना बोली- ओये बहन के लौड़े … कितना लौड़े चूसेगा मादरचोद … अब घुसा दे लौड़ा मेरे भोसड़े में हिजड़े … देख कैसे आज फिर से तेरी बीवी गैरमर्द की रांड बनकर चुदेगी. मेरा इतने बोलते ही भाई बोला- अच्छा साली कुत्ती, तुझे सब पता है तो मुझे भी तेरे बारे में सब पता है.

लगभग 5 मिनट तक लंड चूसने के बाद मेरा बांध टूट गया और मेरा सारा वीर्य नेहा के मुँह में आ गिरा जिसे वो बिना कुछ सोचे पी गई. इससे बुआ ‘उई ई उईई राज मर गई … आह मर गई आहहह …’ चिल्लाने लगी और मैं ताबड़तोड़ झटके लगाने लगा. पॉल ने भी रीना को ज़वाब देते हुए कहा- हां मेरी मालकिन और चोदो … आह फाड़ दो मेरी गांड … आअह पूरा घुसा दे रीना रंडी साली मादरचोद कुतिया, चोद मेरी मां को भी … हम दोनों चुदेंगे तेरे लौड़े से रीना उफ्फ आहह रीनायआ.

मेरी चूत की फांकें बिल्कुल कसी हुई हैं और एक दूसरे से बिल्कुल चिपकी हुई हैं.

उसके मुँह से दर्द भरी आवाज निकल गई- आह उई!फिर मैंने उसके लंड के सुपाड़े को मेरी चूत पर सैट किया और उससे धक्का लगाने को बोला. वो लोग अपना सब सामान नीचे से ऊपर लेकर जा रहे थे, तभी उनकी नजरें हमारे फ्लैट के ऊपर टिक गई थीं. जैसे ही अमित ने मेरी चूत को अपने हाथों से मसल दिया, तो मैं उनके सामने सरेंडर हो गई.

वो अपने जोबन मुझे ही दिखा रही थीं और मैं भी उन्हें ही देखे जा रहा था. क्या आप मेरे साथ बाजार चल सकते हैं?मैंने कहा- हां, तुम दोपहर तक इंतजार करो. इस पर भाभी अचानक से गुस्सा होकर बोलीं- तो जाओ, उसके पास चले जाओ, मेरे पास क्यों बैठे हो.

काफी देर तक उसी पोज़ में चोदने के बाद भैया खुद नीचे लेट गए और मैं अपनी गांड उनके लंड पर फंसा कर खुद से चुदने लगी. वो जींस पहनते हुए मोहिनी से कहा- अब मुझे जाना चाहिए, रात बहुत हो गयी है.

अपनी जीभ उसके होंठों पर फेरते हुए मैं उसे किस कर रहा था और हम एक दूसरे में खो चुके थे. अगले कुछ पल बाद उसने अपना लौड़ा बाहर निकाला और मेरे मुँह में दे दिया. यह देखकर राकेश बहुत खुश हुआ और बाकी दोनों से बोला- यह देखो यह हरामजादी तो स्कुर्ट भी कर सकती है.

दोनों मम्मों को इसी तरह से सहलाते और चूसते ही वह गर्मा गई और सिसकारियां भरने लगी.

मेरी इस हरकत से वो एकदम से सनाका खा गयी, जैसे उसे सांप सूंघ गया हो. वो ऑफिस में अपना दबदबा वैसा ही बनाए रखना चाहती थी, सो ये ख्याल भी उसने एक पल में झटक दिया. मैं चाहती भी थी कि जैसे मेरी गांड की खुजली मिट गई, वैसे ही मेरी चूत की खुजली भी उसके पानी से मिट जाए.

अब मुझसे रहा न गया, मैंने उसी तरफ जाकर भाभी से राम राम की- भाभी जी, राम राम!भाभी एकदम से सकपका गई और धीमे स्वर में बोली- राम राम भैया जी. कुछ देर बाद रूमी बाथरूम में जाने को उठी, तो उसने देखा कि चादर खून से सन गया है और उसकीचूत सूज गईहै.

पहले तो मैंने ऐसे ही ना-नुकर सी की, पर फिर सोचा कि नहा ही लेती हूँ. हम दोनों आराम से किरण और रेशमा का खेल देखते रहे, दारू के गिलास भरके ख़ाली करने लगे. अपने इस रूप में मैं कोई आइटम गर्ल लग रही थी क्योंकि ब्रा पर साड़ी पहन कर रेडी होना … आप सोच ही सकते हैं कि मैं उस वक्त कितनी सेक्सी और खुली हुई लग रही होऊंगी.

बीपी नंगी

वो मेरी पड़ोसन थी तो उसको कहीं से पता चल गया था कि मां का ऑपरेशन हुआ है.

इस बात से रोमा इतना ज्यादा गुस्सा हो गई थी कि वह फौरन वहां से निकल कर उन तीनों लड़कों के रूम पर चली गई. उस समय ब्लू फिल्म की सीडी का जमाना हुआ करता था और मैं काफी किस्म की सीडी देख चुका था. ब्लू फिल्म देखते देखते मैंने अपने लंड को पैंट से बाहर निकाला और हिलाने लगा.

इसलिए इस बार मैंने सोनी के साथ थोड़ा निर्दयी बनने का फैसला कर लिया था. अब मैंने उन दोनों से कहा- तुम दोनों एक दूसरे को किस करो और मैं अपना काम करता हूँ. बंगाली फुल सेक्सीतभी एकदम से उन्होंने अपना रूप बदला और गाली देते हुए कहा- मादरचोद चोद दे ना … क्यों तड़पा रहा है?मैंने अपना लंड चूत पर लगाया और एक ही झटके में जड़ में उतार दिया.

इस पर भाभी अचानक से गुस्सा होकर बोलीं- तो जाओ, उसके पास चले जाओ, मेरे पास क्यों बैठे हो. फिर उसके कहने पर मैंने अपनी बुर को भी मसला और उसके बाद उसी के कहने पर मैं अपनी बुर में अपनी दो उंगलियां घुसा कर अपनी बुर को अपनी उंगलियों से चोदने लगी.

इससे वो अपना सुध बुध हो बैठी और आँखें बंद कर ली और सिसकारी भरने लगी. मैं भी उसकी चूचियों की रगड़ का मजा लेते हुए ड्राइविंग का मज़ा लेने लगा. ये सुन कर मैं अन्दर ही अन्दर बहुत खुश हुआ कि ये यहां आएगी तो शायद कुछ बात बन जाए.

अब लाइट में देखने के बाद मुझे और भी बहुत चीजें मालूम पड़ीं कि मम्मी को सेक्स में क्या क्या पसंद है. उन्होंने अपनी 4 सहेलियों से भी मेरा संपर्क करवाया था, जिनको मैंने चोदा था. आखिरी बूंद तक मैंने वैसे ही मेरे लंड का सुपारा उसकी बच्चेदानी में घुसाए रखा.

मैं उसके जिस्म में हाथ फेरने लगा और बोला- मेरी रूपा, मुझे भी तेरी याद आती है.

तभी उसके हाथों ने मेरे सिर को पकड़ कर उसके निप्पल का रास्ता दिखा दिया. इन्द्रेश अंकल मज़े से मम्मी की बड़ी बड़ी चूचियों का आनन्द उठाने लगे.

वो बड़ी बेताबी से मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं उसके होंठों को अपने होंठों में दबा कर चूस रहा था. और तभी एक जोरदार धक्का लगाया जिससे पूरा लंड पिंकू की चूत की गहराई में समा गया।हॉट डिफ्लोरेशन सेक्स में दर्द के कारण पिंकू फिर से उछल पड़ी. ये कहानी नहीं बल्कि सच है, जो मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूँ.

भाभी एकदम मस्त हो गई थीं, उन्हें उस वक्त चूत से लंड निकालना अच्छा नहीं लग रहा था. चूचे 32 साइज के, कमर 28 से भी कम और 34 से थोड़ा ऊपर उसकी खतरनाक उठी हुई गांड. इसी तरह 15 मिनट तक उसकी गांड मारने के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी अम्मी को जब ब्रा और पैंटी नहीं मिलीं, तो उन्होंने मुझसे पूछा कि तूने मेरी ब्रा पैंटी देखी हैं क्या?मैंने अम्मी से कहा- अम्मी, तुम्हारे निप्पल्स कितने काले और मस्त हैं. अब आगे Xxx कुकोल्ड वाइफ स्टोरी:उन दोनों के सोने के बाद मुझे नींद नहीं आ रही थी.

लड़कियों का लैंड

सासुजी ने रजनी को अपने पास सोने के लिए कहा और हमारे मिलन की व्यवस्था कर दी. मैंने उसको जोर से थप्पड़ मारते हुए कहा- अब कहां सो रही है बहनचोद, चल आ जा बैठ, मेरे लौड़े पर बहन की लौड़ी. दोस्तो, मैं आपसे अगली सेक्स कहानी में मिलूंगा, जिसमें मामा के रहते मैंने मामी को कैसे चोदा.

मैंने कहा- अब इस उम्र में आप मेरा मूसल लंड सह भी पाओगी, दो तीन बार ही घुसाउंगा, तो आपकी गांड फ़ट जाएगी. हम दोनों ने इसी तरह से किस की और एक दूसरे की जीभ को चूसते हुए स्मूच किया. नेपाली सेक्सी नेपाली सेक्सी नेपालीथोड़ी देर बाद मैंने अपने हाथ से उसकी पीठ पर दबाव बनाया और उसकी पीठ को दबा दिया ताकि उसकी बुर थोड़ी बाहर की तरफ आ जाए.

मैं- लेकिन भैया, मैंने ऐस फक़ वीडियो में देखा कि जब पहली बार गांड फटती है, तब बहुत ज़्यादा दर्द होता है.

कुछ ही पलों में उसका लंड मुझे चोदने के लिए बिल्कुल तैयार हो गया था. तभी उसी समय एक गड्डा आया और मेरे भीगे हुए एक गाल पर नीता के गुलाबी और कोमल होंठों का स्पर्श हो गया.

सुरेश के यह बोलने की देर थी कि अमित मेरे करीब आ गया और उसने मुझे अपनी बांहों में पकड़ लिया. मैंने उससे कहा- जानू एक बार मेरे कहने से लेकर देखो, पसंद नहीं आए तो कहना. मैंने लगभग बीस मिनट तक उसकी चूत की चुदाई की, फिर लंड बाहर निकाल कर झड़ गया.

मैंने अपने लंड पर हाथ फेरा तो वास्तव में लंड फूल कर कुप्पा हो गया था.

बुआ की गांड का छेद अब खुल चुका था और लंड आसानी से सटा सट सटा सट अन्दर बाहर अन्दर बाहर कर रहा था. मैंने उन दोनों को लिटाया और उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनकी जांघों को चूमने लगा. वो चूत में खीरा घुसाकर अपने बॉयफ्रेंड से गन्दी गन्दी बातें कर रही थी.

हिंदी सेक्सी इंडियन देहातीमैं पैदल ही अपने घर की ओर चल दी क्योंकि मेरा घर ज्यादा दूर नहीं था. पर अर्णव ने उसकी न सुनी और ऊपर आकर अपना अंडरवियर टांगों से अलग कर दिया.

चुदाई चुदाई चुदाई चुदाई चुदाई

मैंने उसके पैरों को हल्के हल्के दबाना शुरू किया और धीरे धीरे उसकी जांघों को भी दबाना शुरू कर दिया. तुमने पिछली बार की थी, तो मैंने सोचा कि इस बार भी करोगे, तो कोई मायने वगैरह नहीं रखती … हां एक दोस्त के तौर पर मायने रखती है, बस ज्यादा कुछ नहीं. विलेज सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं गाँव में दो चूतों को एक साथ पटा रहा था.

अब मैंने अपना लंड गाँव की लड़की की चूत में सैट किया और पूरी ताकत से जोर का झटका दे दिया. उसी में से एक लड़के ने बोला- मैं आपको अपने जन्म दिन में बुलाऊंगा, तो आप आओगी न!मैंने कहा- पूरी क्लास को बुलाओगे क्या?वो बोला- नहीं हम तीनों और बस आप. मैंने अनजान बनते हुए कहा- क्या पहली बार … किस बारे में बात कर रही हो तुम?दीदी ने कहा- बड़ी हूं तेरे से और तेरे से ज्यादा एक्सपीरियंस है मुझे … अब चल तुझे सुसु करवा लाऊं, तुझसे तो चला नहीं जाएगा.

थप-थप की आवाजें कमरे में गूंज रही थीं और रीना इन सबसे उत्तेजित होकर और जोर से अपनी गदराई हुई गांड मेरे लौड़े पर पटक रही थी. एक नंगी औरत के जिस्म को अपनी बांहों में लेकर, उसके साथ बिना कुछ किए सोने से मुझको कितनी बेचैनी हो रही थी, ये बात आप सब समझ रहे होंगे. मेरे ब्वॉयफ्रेंड पर मुझे इतना ज्यादा गुस्सा आ रहा था कि मैं अब किसी भी चीज को बर्दाश्त नहीं कर सकती थी.

मैंने उसको पलट दिया और उसकी गर्दन, कंधे, पीठ, कमर और गांड को चूसता और चाटता रहा. ऐसा कहकर मैंने अपनी जीभ को मामी की गर्म चूत पर रख दिया जिससे वो एकदम से सिहर गईं.

हैलो फ्रेंड्स, मैं नव्या एक बार पुन: आप सभी का अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ.

मैंने फिर थोड़ा सा रोका लेकिन अंकल ने मेरी पैंट खींच कर बाहर निकाल दी. बिहार के छोरी के सेक्सी वीडियोवो मेरे जीवन की पहली चुदाई का आनन्द था क्योंकि मैं पहली बार किसी लड़की से संभोग कर रहा था. सौतेली मां के सेक्सी वीडियोमैंने आधा लंड बाहर निकाला और फिर से देसी माल लड़की की चूत के अन्दर पेल दिया. किरण की गांड का छेद भी अब थोड़ा खुलने लगा और मेरा लंड जोर जोर से उसकी गांड में सैर कर रहा था.

जब मेरी वाइफ सो जाया करती थी, तब मैं धीरे से उठ कर अपने रूम को लॉक करके उसके रूम में आ जाता.

उस समय घड़ी में शाम के चार बज रहे थे, उसने कहा- अब तो तुझे मेरा लंड भी शांत नहीं कर पायेगा. जॉन का लंड अंडरवियर में से फूला हुआ साफ़ दिख रहा था कि बहुत बड़ा लंड है. किरण को चूत चूसवाने का मस्त मज़ा मिलने लगा था तो उसने खुद अपनी चूत रेशमा के मुँह पर रगड़नी चालू कर दी- उफ्फ चूस रेशमा मजा आ रहा है साली रंडीई पूरी जीभ घुसा ना मादरचोद की औलाद … आह.

अपना गिलास खाली करते हुए मैं किरण के पीछे जाकर खड़ा हुआ और उसके नीचे दबी रेशमा के मुँह के पास जाकर लौड़ा उसके मुँह में दे दिया. इससे वो अपना सुध बुध हो बैठी और आँखें बंद कर ली और सिसकारी भरने लगी. मैंने भी जवाब दे दिया- अम्मी, तुम्हारे थप्पड़ से डर नहीं लगता, जब तुम्हारी छाती के तरबूज हिलते हैं तब डर लगता है कि कहीं ये बम मुझ पर गिरें, तो मैं मर ना जाऊं.

बीपी सेक्सी दिखाओ

पिंकू धीरे-धीरे सिसकारियां लेती हुई झड़ गई।यह सब नजारा देख कर मैं धन्य हो गया।पिंकू नहा के बाहर आने वाली थी इसलिए मैं वहां से चला गया. अब मैं रोज़ अम्मी की ब्रा और पैंटी पर अम्मी को याद करके मुठ मारकर माल निकालता और अम्मी को गले लगाता या उनके गाल चूमता तो पूरा ठरक से काम लेता. वो मुझे प्यासी निगाहों से देख रही थीं और मैं भी उन्हें ही देख रहा था.

लेकिन पहले नाग ने दूध का रसपान करने के लिए दोनों बूब के बीच में जगह ढूंढ ली और वहीं आगे पीछे होने लगा.

”मेरी बात सुनकर वो मेरी पीठ को सहलाती हुई मुझे चूमने लगी और बोली- हां हर्षद, मुझे भी पता है कि हम दोनों इस पल के लिए कितने दिनों से बेकरार थे.

मैं कभी एक को चूमता तो दूसरे से खेलने लगता तो कभी दूसरे को चूमता और पहले को मसलने लगता. आज मैं इतनी बार झड़ चुकी थी कि मैंने गिनती भी नहीं कि मैं कितनी बार झड़ी हूं. हिजडा सेक्सी पिक्चरकहानी के पिछले भागबहन की चुदक्कड़ जेठानी चुद गयीमें अब तक आपने पढ़ा था कि रात को जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों सो गए थे.

बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद कुणाल ने अपने लंड को चूत से बाहर निकाला और आगे आ गया. मैंने सर के प्रस्ताव के बारे में सोनी को बताया, सोनी को भी सर का प्रस्ताव मेरे लिए ठीक लगा क्योंकि सोनी के पापा भी घर घर जाकर बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते थे. नीता ने मेरे कान के नजदीक अपना मुँह लाकर पूछा- कितने बजे हैं हर्षद?मैंने हाथ की घड़ी देखकर उसकी तरफ अपना मुँह मोड़कर कहा- सात बजे हैं.

पिंकू धीरे-धीरे सिसकारियां लेती हुई झड़ गई।यह सब नजारा देख कर मैं धन्य हो गया।पिंकू नहा के बाहर आने वाली थी इसलिए मैं वहां से चला गया. मेरी बहन चित्रा ने मुझे स्पीड तेज करने को बोला और मैं तेज तेज शॉट लगाने लगा.

उसने मेरी जैकेट पहन की और अपने सर पर टोपी ओढ़कर वो मेरे पीछे बैठ गयी.

मैं आश्चर्य से देखता रह गया कि अचानक रीना कमरे से बाहर क्यों चली गयी. एक हाथ से मैंने उसका चूचा पकड़ लिया और दूसरे हाथ की उंगलियों से जोर जोर से उसकी चूत चोदने लगा. एक लौड़ा मेरी चूत फाड़ रहा था और दूसरे का लंड मेरे मुँह को चोद रहा था.

सेक्सी वीडियो लंदन की इतने में बाहर से वसुंधरा भाभी गुजर रही थीं, वो भी ठिठककर ये सब देखने लगीं. खिले खिले बाल हैं और शरीर भी अच्छा है, रंग भी गोरा है और फ़िगर भी 34-25-36 का है.

वो मेरे सीने को देखते हुए बोला- कितनी फंसाई अब तक?मैंने कहा- अरे मुझे क्या जरूरत है किसी को फंसाने की, वो खुद ब खुद फंस जाती हैं. यह दृश्य देखकर तो मैं जैसे पागल से हो गया था, सब कुछ मुझे एक मीठे सपने की तरह लग रहा था।ऑन्टी ने अपने दोनों विशालकाय स्तन मेरे सीने से जोर जोर से रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने दो चार बार जिनसे अटा सटा किया है, वे मराते समय गांड खोल कर चुपचाप लेटे रहते हैं.

ಕನ್ನಡ ಆಂಟಿ ಸೆಕ್ಸ್

वो अपनी ही बहन के सामने अपने जीजू का लंड चूस रही थी और मैं अपनी वाइफ के सामने अपनी साली को लंड चुसा रहा था. उधर रीना भी पॉल के चूतड़ दोनों हाथों से फ़ैलाती हुई उसकी गांड मार रही थी. तो उसने भी फुर्ती दिखते हुए मेरे लौड़े को कच्छे से बाहर का रास्ता दिखाते हुए अपने मुँह में भर लिया.

उस समय मैं समय की नजाकत को देखते हुए चुप हो गया और मैंने सॉरी बोल दिया. मैंने अपनी सारी न्यूड फोटो का फोल्डर भी ओपन करके उसे मोबाइल दे दिया.

मैंने हालांकि अब तक कभी भी सेक्स नहीं किया था पर आज घर में मनीषा के और मेरे अलावा कोई नहीं था इसलिए मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था.

मैं नीचे ही देख रहा था कि शैली की सबूत वाली बात सुनकर मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं. मेरा मन तो उसकी आज ही चुदाई करने का था, पर कुछ जुगाड़ नहीं बन रहा था. शालिनी- जीजू, दीदी के बूब्स कितने बड़े हैं, मुझसे तो बहुत बड़े है … और गांड भी बहुत बड़ी है.

तब मैं बोला- क्या अब गधे के जैसा सहन हो रहा है?वो हंस कर बोली- नहीं मगर झेल लूंगी. मैं बिना रुके झटके देने लगा और उसकी चूचियों से प्यासे की तरह दूध पीने लगा. वो पता नहीं मेरा हाथ अपने हाथ में ले कर कंधे पर सिर रख कर लेट सी गई.

उसे पहले तो यकीन ही नहीं हुआ, पर जब मैंने उससे कहा तो उसने अपने घर की पहचान वगैरह बताई.

देहाती बीएफ फुल एचडी हिंदी: जैसे ही मैं अपने रूम में लौटी, मेरी दोनों सहेलियां रोमा और गीतांजलि दोनों ही घबरा गईं. इस वक्त तक मैं उसे ऐसी वैसी नजर से नहीं देखती थी पर मुझे क्या पता था कि आज से मेरी खुशियां वापस आ जाएंगी.

मैंने नाजिया को बताया कि कैसे रात में मैंने गलती से उसकी सास को चोद दिया था।फिर वो हंसने लगी और उसने बताया कि उसे पता है वो रात में एक बार आई थी तब मैं चुदाई कर रहा था।उसने अपनी ‌‌‌‌‌सास का नाम जुबेदा बताया. अभी कुछ पल ही बीता था कि मुझे लगा मेरा होने वाला है इसलिए मैंने जल्दी से अपना लंड निकाल लिया और भाग कर बाथरूम में घुस कर हस्तमैथुन करके अपना पानी निकाल दिया. उसने अपने हाथों से मुझे अलग करने का प्रयत्न किया लेकिन मैं डटा रहा.

जब कभी सब लोग साथ बैठे हों और लाइट चली जाती थी, तो अंधेरे में हम दोनों किस करने लगते थे और एक दूसरे को छूते थे.

बेटा और मैं दोनों, चूचियों को दबा कर चुदाई करने लगे थे और वो दोनों रांडें अपनी गांड आगे पीछे करके मस्ती से चुदाई में भरपूर साथ देने लगी थीं. कुछ ने गंदी ख्वाहिश भी लिखी लेकिन मैंने उनकी बातों को ज्यादा दिल पर इसलिए नहीं लिया क्योंकि जब लंड खड़ा होता है, तो पढ़ने वाला कुछ बहक ही जाता है. रूम पर आते ही भैया ने मुझे चूमना शुरू कर दिया, मेरे कपड़ों को उतारकर मुझे नंगी किया और खुद भी नंगे हो गए.