बीएफ हिंदी माई बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ब्लू पिक्चर मूवी में

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेजी में बीएफ सेक्स: बीएफ हिंदी माई बीएफ, खाने के दौरान ही हमने रिवरफ्रंट पर घूमने का तय किया और खाने के बाद सीधे वहीं चले गए.

नूरा की सेक्सी

तभी सना की आवाज आई- बाजी, मैं भी आपके साथ ही भाईजान के लंड से खेलूंगी. जेठ और बहू का सेक्सी वीडियोकुछ दो मिनट लंड चुसवाने के बाद अचानक से मैं उठ गया और उसको उठा कर उसकी ट्रैक पैंट निकाल दी.

इसलिये मैंने नीतू की बालों की चोटी को किसी घोड़ी की लगाम की तरह पकड़ लिया और दनादन उसकी गांड चोदने लगा. चूत लंड की चुदाई सेक्सी पिक्चरआपकी प्रतिक्रियाओं के सहयोग से कहानी को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।[emailprotected]सेक्स चुदाई कहानी हिंदी में अगला भाग:योग के बहाने भोग तक का सफर- 2.

अब मैंने भी अपना हाथ उनके सीने पर रख दिया, उससे उन्हें सिग्नल मिल गया कि मैं भी कुछ करना चाहता हूँ.बीएफ हिंदी माई बीएफ: फिर मैंने अदिति की नाइटी सामने से खोल दी; उनका गुलाबी चिकना नंगा जिस्म मेरे सामने था.

सोनिया भाभी बोलीं- अब से मुझे भाभी नहीं बोलना है … सिर्फ सोनिया बोलो.मुझे नहीं पता लगा कि भाभी नहाने गई है और मैं भी भैया से पूछ कर कि ‘बाथरूम किधर है’ अब नहाने के लिए चल दिया.

एक्स एक्स व्हिडीओ सेक्सी हिंदी - बीएफ हिंदी माई बीएफ

मैंने अपनी दो उंगलियों को चूस कर गीला किया और उनकी चूत पर रख कर उनकी चूत सहलाने लगा.उस दिन मम्मी पापा ने अपने बेटे को चुदाई में सिर्फ चाटने चूमने में शामिल करके खूब मजा लिया.

आज वेदांत सारा दूध पी गया और बाकी दूध की मैंने खीर बनायी, जो अभी तुमने खायी है. बीएफ हिंदी माई बीएफ मेरे शौहर नौकरी के लिए सऊदी चले गये तो मेरी चूत ने मुझे परेशान करना शुरू कर दिया.

मैंने अलमारी में जो मां के लिए साड़ी छुपा रखी थी, वो लाकर मां को दे दी.

बीएफ हिंदी माई बीएफ?

मैंने उससे कहा- तुम चिंता न करो आज से वो तुम्हें परेशान तो क्या … तुम्हारे आस-पास दिखाई भी नहीं देगा. वो साला उन्हें ढकने के बहाने कभी ऊपर से चुचे सहलाता, तो कभी नीचे से. ये कहते हुए सर ने पूरा लंड चाची की चुत में फिट कर दिया और चाची के ऊपर गिरकर हांफने लगे.

मौसी बोली- छुपा मत, मुझे गांव की हर खबर रहती है। अभी बता दे, मैं कुछ कर दूंगी। बड़े घर में नाक मत कटवा देना. मैंने मां से पूछा- मां आज इतनी जल्दी आपने बिस्तर लगा दिया, आपको नींद आ रही है क्या?मां बोलीं- नहीं बेटा, वो तो आज मैंने घर का सारा काम बहुत जल्दी ही कर लिया था … तो सोचा बिस्तर भी लगा ही देती हूं. मेरे दिमाग में कुछ खुटका हो गया था मगर मैंने इस समय उससे कुछ भी पूछना उचित नहीं समझा और उसे चोदने में लगा रहा.

तो हुर्रेम ने कहा- तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … इतना बड़ा लंड तो हमारे इन ब्वॉयफ्रेंड्स के भी नहीं है. वो सब मैं अगली किसी सेक्स कहानी में आगे बताऊंगा, तब तक के लिए अलविदा. उसका मस्त और गठीला शरीर मुझे पागल किए जा रहा था और मैं मस्त होकर कभी उसके होंठों को तो कभी चूची को, तो कभी पेट को पागलों की भांति चूम रहा था.

हम दोनों ने आधे घंटे बाद फिर से एक बार चुदाई की और मैं अपने घर आ गया. मैंने घर पर सभी को बोल दिया कि मेरे आज एक दोस्त का बर्थडे है, तो मुझे वहां जाना है.

रमेश ने कहा- ठीक हैदीदी ने एक हाथ से अपनी चुत ढक ली और एक हाथ दोनों मम्मों के निप्पल ढक लिए.

मैं पूरे इंतज़ाम से बैठा था कि शाइना आएगी और मैं उसके मुँह में लंड दे दूँगा.

आज मेरी गांड को लंड भी मिल गया था और मुंह को माल का स्वाद भी मिल गया था. जैसे ही मैं उसकी चूत पर आया, उसने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत पर ऐसे दबाया जैसे मुझे सर के बल पूरा का पूरा चुत के अन्दर ही घुसा लेगी. चूचियों और होंठों से खेलने में मैं इतना आनन्दित महसूस कर रहा था कि मुझे पता ही नहीं चला कि गीत ने मेरी पैंट और शर्ट को कब निकाल दिया.

ये वही शबनम चाची हैं जिन्हें मैंने अपने टीचर से चुदाई कराते देखा था, फिरचाची की चूत और गांडमैंने भी मारी थी. कुछ ही देर कि मस्ती भरी चुदाई के बाद मैं भी अपनी आखिरी दौर में आ गया था और झड़ने के करीब था. मैंने भी अपनी नज़रों से ही उनको जवाब दिया कि वो मेरा हाथ ना रोकें, पर उन्होंने मेरा हाथ नहीं छोड़ा.

वो तो मेरी बच्चेदानी में अंडाणु की नली टेढ़ी होने से शुक्राणु और अंडाणु का मिलन नहीं हो पाता है.

थोड़ी देर बाद चाची कराहीं- आहह सर बस बस रूको आहह आऊ छोड़ दो न … मैं झड़ गई हूँ, छोड़ दो आहहह. आज मेरे इस तरह से चाटे जाने से आयुषी वासना में कामदेव की रति बन गई थी. दस मिनट बाद मैंने अपने लंड का पानी मामी की गांड में ही छोड़ दिया और उनके ऊपर ही ढेर हो गया.

लेकिन भाभी जी को चुत पर मेरे लंड का स्पर्श हुआ, तो वो पीछे को खिसक गईं– आरुष, प्लीज डोन्ट डू दिस. मैंने नोटिस किया कि मम्मी की और उनकी कई देर तक रात में चैट एवं वीडियो कॉल होती थी. जब मैं ज्यादी ही जोश में चूसने लगी तो वो बोले- बस बस … आह्ह … रुको.

चूत देख कर तो लगता है कि जिस भी लंड से चुदवाती है वो कोई मूसल जैसा लंबा चौड़ा मोटा लंड ही होगा.

मां मेरे पास आईं और मस्ती भरी आवाज में बोलीं- चल बेटा अपने कपड़े उतार दे … मैं तेल से मालिश कर देती हूँ. मेरे लंड को शन्नो गपागप गपागप लॉलीपॉप समझकर चूसने लगी और मैं उसकी पीठ को सहलाने लगा.

बीएफ हिंदी माई बीएफ अभी भी मेरे दिमाग में वही सीन घूम रहा था जब वो मेरे सीने में अपने भरे हुए दूध गड़ा रही थी. चूमते चाटते वो नीचे बढ़ीं और मेरी नाभि में अपनी जीभ गोल गोल घुमाने लगीं.

बीएफ हिंदी माई बीएफ ”किसी को आपके घर भेज दूँ? आपका हमारे घर आना वर्जित है क्या? हा हा हा…”नहीं, ऐसी बात नहीं है. 20-25 शॉट के बाद मैंने वीर्य की पिचकारियों से यामिना की चूत को भर दिया और शान्त हो गया.

वो तेजी से सिसकार रही थी- आह्ह … आह्ह … ओह्ह नो … नो … ओह्ह … विशाल … वि.

बीएफ ब्लू फिल्म बीएफ सेक्स

ये कह कर ममता नेहा के होंठों को चूसने लगी और उसकी चूचियां जोरों से दबाने लगी. मुझे आशा है कि मेरी इस सेक्सी गर्ल Xxx कहानी को पढ़ने वालों के लंड से पानी निकल जाएगा और लड़कियों व भाभियों की चुत गीली हो जाएगी. आज पहली बार उसकी बुर से इतना पानी छूटा था, जितना पहले कभी नहीं छूटा था.

मैं सोच रहा था कि मुझे उर्वशी से ज्यादा प्रज्ञा पसंद थी और ये बात उर्वशी को भी पता थी. थोड़ी देर में मैंने आंटी का गाउन धीरे-धीरे ऊपर को सरकाना शुरू कर दिया. उसका लंड कड़ा हो गया था और वह अपनी जांघों के बीच मेरे चूतड़ों को जकड़े था.

पर इन ख्यालों को मैंने दिमाग से झटक दिया कि चलो जो होगा सामने आ जाएगा.

डाल दो अपना लन्ड मेरी बुर में, अब बर्दाश्त से बाहर है!मैं- इतनी भी क्या जल्दी है मेरी जान, अभी और मजे लो चुदाई से पहले के!यह बोलकर मैं बेड से नीचे उतरा और शीना को घोड़ी बनने को कहा. कुछ देर बाद मेरे घर की डोर बेल बजी तो उस भाभी ने मुझसे कहा- ये वही होंगे … तू रुक, मैं जाकर दरवाजा खोलती हूं. ये सब बातें मुझे कुछ इशारे से महसूस होते थे कि बड़ी दीदी भी मेरे लंड से चुदना चाहती हैं.

ये बात मुझे अच्छे से इसलिए याद है क्योंकि मेरे साथ ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था. मैंने उसी समय आपने फोन से उनका नम्बर डायल करके उन्हें अपना नम्बर दे दिया. आप मुझे मेरी सेक्सी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी के लिए मेल कर सकते हैं.

उसके साथ मेरे दिल की तारें जुड़ गईं और फिर वो तारें हम दोनों को बिस्तर तक लेकर गईं. जैसे ही हम रूम में पहुंचे, तुरंत ही मैंने सलोनी को अपनी गोदी में उठाकर बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसे बेतहाशा चूमने लगा.

अब गांड पर मेरी जाँघों की थप थप थप थप थप की सैक्सी आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा।ऐसा लग रहा था कि मैं कोई घोड़ी चोद रहा हूं. मैंने बोला कि हां बताइए … क्या काम है?उसने बोला- मैं अभी आया हूँ और आप प्लीज़ मेरी बीवी को जल्दी दिखवा दीजिए. इस समय नीता तेज आवाज में बड़बड़ा रही थी- आंह अवि और तेज … डाल दे लंड पूरा … आह भैनचोद … रगड़ दे मुझे … आज मसल दे अपने नीचे और तेज कर मादरचोद.

भाभी कुछ शांत हुईं, तो मैंने धीरे धीरे उनकी चुत में लंड पेलना चालू कर दिया.

उन्होंने मुझे चूसते रहने के लिए बोला तो मैंने चूसना जारी रखा।10 मिनट चूसने के बाद वो फिर पहले की तरह सख्त हो गया।इस दौरान उन्होंने मेरी चूत चाट चाटकर एक बार और पानी निकलवा दिया।अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा था।मैंने उनसे कहा- प्लीज पापाजी, अब रहा नहीं जा रहा. इस तरह मौसी के सामने मैंने राज खोला और उन्होंने मुझे फिटकरी से चूत की सिकाई करने को कहा. आज भाभी को देखकर मेरी भी नीयत खराब होने लगी थी, पर मैंने अपने आप पर काबू रखा.

शादी के एक हफ्ते बाद हमें अपने दिल्ली वाले फ्लैट में भेज दिया और यहाँ सबको बता दिया कि विजय और बरखा यूके गये हैं. वो हंसती हुई बोलीं- बेटा इस चड्डी को भी उतार दे, आज मैं तेरे हथियार की भी मालिश कर देती हूँ.

वो झट से घोड़ी बन गयी, मैं शीना के सामने खड़ा हो गया और अपना लन्ड उसके होठों पर लगा दिया. अम्मी जब जॉब की वजह से जब कभी शहर से बाहर चली जाती थीं तो रात के समय घर में बस हम दो भाई बहन ही रह जाते थे. मैंने जोर देकर पूछा- बिंदु क्या बात है?तभी राजेश बोला- यार यह सब किस्मत का खेल है.

भारतीय लड़की बीएफ

दोस्तो, मैं अपनी सेक्सी दीदी नंगी कहानी का पूरा मजा अगले भाग में लिखूंगा.

जल्दी ही सादिका मेरा लंड निकाल कर हिलाने लगी और मुँह में लेकर जोर जोर से लंड चूसने लगी. तभी ममता अपनी एक उंगली नेहा की चूत पर घुमाने लगी, जिससे नेहा सिहर उठी. जया की पैन्टी नीचे खिसका कर मैंने उसके नंगे चूतड़ों पर हाथ फेरे तो जया हमसे लिपट गई.

कुछ देर बाद मैंने फिर से लंड चूत में घुसा दिया और चूत को चोदने लगा. मैंने राजेश का लंड मुँह से निकाल लिया और बोली- यार, आज तक मेरी चूत ने वीर्य नहीं चखा है. किन्नर चुदाई सेक्सीममता- लो मां ट्राई कर लो, साईज में कुछ फर्क हुआ … तो भैया से कह कर बदलवा दूंगी.

मेरी मां रज्जी मुझे मना करती रहीं लेकिन मैंने लंड का पूरा पानी उनकी चुत में छोड़ दिया. हम सब परिस्थियों के दास हैं, जीवन में कब क्या घट आये इन सब पर हमारा वश नहीं चलता.

मैंने उससे उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो वो बोली- मैं तो अपने बॉयफ्रेंड चेंज करती रहती हूँ. मैं- बारहवीं कक्षा से अब तक तो तू और तेरा खूबसूरत बदन मुझे भी तो तड़पाये जा रहा था. भाभी जी ने उनके लिए भी पैग बना दिए और वो तीनों भी ड्रिंक एन्जॉय करने लगे.

शमा की आंखों में मस्ती छाने लगी- ऊऊओह … आह्ह्ह्ह मुझे कुचल दो राहुल … मैं बहुत प्यासी हूँ. वो था हफ्ते में दो बार ड्रिंक करना।वो जमकर देर रात तक अपने जिगरी दोस्त विजय के साथ पीता और फिर अक्सर वहीं सोफ़े पर पसर जाता।दारू पार्टी हमेशा उनके घर पर ही होती थी. मौसी ने मुझसे बॉक्सर छीना और कुर्सी पर फैंक कर बोलीं- ऐसे ही सो जाओ.

मैं धीरे से मामी जी के कमर के पास बैठ गया और उनके चूतड़ों पर साड़ी के ऊपर से ही सहलाने लगा.

चाची मुस्कुराते हुए बोलीं- सोहेल तू चिंता मत कर, मैं हूँ न!मैंने लंड चुत से निकाला और चाची मेरे लंड को चूसने चाटने लगीं. वो अपने हाथ से अपना दूध निकालने की कोशिश करती थीं मगर दूध इतना ज्यादा बनता था कि वो दर्द से तड़फती रहती थी.

उसके बाद वो मेरे होंठों को किस करते हुए मेरे सभी अंगों को चाटने लगी थी. सच बताऊं … तो कमरे में सबसे ज्यादा मेरी ही मादक आवाजें गूंज रही थीं. पर शीना मेरा सारा माल उंगलियों से साफ करके अपनी मां की तरह चाट गयी.

दीदी ने पूछा- तुम क्यों अपने कपड़े उतार रहे हो?रमेश ने कहा- अरे यार, मुझे गर्मी लग रही है. आपका प्यार मुझे ईमेल के जरिए मिलेगा, तो मैं समझूंगी कि मेरी सेक्स कहानी को पढ़ कर आपको भरपूर मजा आया है. मैं देख रहा था कि मां की चूत पर काफी घनी झांटें थीं पर टांगें खोलने की वजह से उनकी चूत की दरार खुली हुई थी.

बीएफ हिंदी माई बीएफ हम सब इधर उधर घूमने लगे, कॉलेज बड़ा था, तो एक बार को तो समझ ही नहीं आया कि हम कहां पर आ गए थे. फिर चाहे उसकी पत्नी एक बार लंड मांगे या अनेक!रूपाली- दीदी, मुझे माफ़ कर दो.

करीना कपूर के बीएफ फिल्म

जबकि मेरी कामुक नजरें अपनी होने वाली बीवी की मस्त चूत और गांड मारने की कल्पना में ही लगी थीं. एक बार तो गांड चुदाई के दौरान ही मेरा निकलने वाला था लेकिन रह गया था. उसने बाथरूम का दरवाजा बंद नहीं किया था इसलिए उसके मूतने की आवाज कमरे तक आ रही थी.

खिड़की बंद हो चुकी थी मगर मैंने उसमें एक झिरी तलाश ली और उसमें से झांक कर अन्दर देखने लगा. वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा. गुजराती सेक्सी पिक्चर बीपी वीडियोइस बात पर मैंने उसे साफ मना कर दिया क्योंकि सनी के लंड के बिना मैं जी ही नहीं सकती थी.

अफ़रोज़ बड़ी मायूसी के साथ बोला- देखा आपा … अब ये खड़ा ही नहीं हो रहा है.

इस वक्त सादिका पूरी चुदासी लड़की की तरह आहें निकाल निकाल कर चुद रही थी. इस वक्त मुझ पर इतनी मस्ती छाई थी कि क्या बताऊं … मन कर रहा था कि अभी जाकर अफ़रोज़ का लंड अपनी चुत में डलवा लूं.

मैंने भी उनको हां कर दी क्योंकि उन्होंने पहली बार मुझसे कुछ मांगा था तो मैं मना नहीं कर पाया. भाई ने बहन को चोदा इस Xxx कहानी में! असल में मैंने खुद अपने भाई को अपने फायदे के लिए सेक्स करना सिखाया. मैंने कहा- केले का सैंपल देखोगी?वो कुछ कहने ही वाली थी कि केबिन के बाहर से किसी ने आवाज दी- मे आई कम इन सर?ये वेटर था.

अभी फिर से तो काफी समय लग जाएगा!भाभी- अरे बुद्धू वो तो चुत का रगड़ामृत था.

भाभी- तो सुन मैं भी तुम्हें बहुत प्यार करती हूँ और मैं तुम्हें दूध के लिए ऐसा तरसते हुई नहीं देख सकती. उसने अपनी धुन में आगे कहा- तो भाभी, चलिए हमें अपना दूध निकाल कर दे दीजिए. अब मैंने पूछा- अरे तू मुझे इतना चाहता है, मैंने तो कभी सोचा भी नहीं था कि घर में ही एक लंड मेरे लिए तड़प रहा है.

सेक्सी प्रीति जिंटामैंने गर्म पानी से भरा हुआ कटोरा उठाया नीतू के पास चला गया।नीतू अभी भी वैसे ही आँखें बंद करके चादर ओढ़े पड़ी हुई थी।मैंने उसे जगाया और चादर उसके शरीर से हटा दी। मैंने उसकी एक टांग को उठा कर अपने कंधे पर रख लिया और उसकी चूत का मुआयना करने लगा।उसकी चूत कई जगह से सूज गई थी, दाने के पास भी एक दो जगह कट गया था. उसके पूछने पर जसविंदर ने कल रात से लेकर आज शाम तक की सारी कहानी बयां कर दी.

हरियाणवी बीएफ एचडी वीडियो

भाई बहन की सेक्सी स्टोरी के पहले भागबहन ने छोटे भाई की मुठ मार कर मजा दियामें अब तक आपने पढ़ा था कि अब अफ़रोज़ ने मुझसे रात की बात की और उसने बताया कि उसे मेरे हाथ से अपने लंड की मुठ मरवाने में बहुत मजा आया था. अमित ने हम दोनों के लिए एक ही रूम बुक कर दिया, मुझे कोई आपत्ति नहीं थी. मगर जैसे जैसे धक्के लगते गए, उसकी बुर फैलती गई और उसने कसमसाना बंद कर दिया.

अंकल ने इतनी खुली बात कही थी कि मुझे एक बार में ही समझ में आ गया कि अंकल काले जरूर हैं मगर बात बड़ी उजली कर रहे हैं. मां भी गर्म आहें भरने लगीं- अअह उन्हह पेल दे ना!मैंने मौका देख एक ही झटके में अपना पूरा लंड मां की चूत के अन्दर डाल दिया. चूंकि इस वक्त पूरे घर में मैं और मां ही थे और हम दोनों हॉल के बाजू वाले रूम में नीच बिस्तर बिछा कर चुदाई कर रहे थे.

दीदी मुझसे अपने मम्मे मसलवा रही थीं और उन औरतों से बातें भी कर रही थीं. हम लोग एक बार फिर से कैंटीन में देखने के लिए चले गए कि कोई सीट खाली हुई या नहीं. फिर अंकल ने उनसे कहा- अब मेरे कपड़े उतारो और मेरा लंड मुँह में लेकर शुरू हो जाओ.

उन्होंने स्नैक्स उठा कर अपने पास रख लिया और खुद स्नैक्स भी खाने लगीं. कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपसे अपने दोस्तों का परिचय करा देता हूँ.

फिर वो बोला- लगता है आपका गुलाब के बिना मन नहीं लगा!मैं बोली- ये बेकार की बातें छोड़ो, ये बताओ कि वो है कहां?वो बोले- उसके पिता का इंतकाल हो गया है.

मैंने सलोनी को घुटने के बल करके उसको घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चुत में लंड पेल कर चोदने लगा. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो रोमांटिकवो अभी भी मेरे साथ अपनी कुछ फैंटेसी को लेकर काफी कुछ पाना चाहती थीं. रामायण सेक्सी व्हिडीओमेरी सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक डॉक्टर के साथ काम करने लगी. ”तुम्हारी थकावट और कमजोरी दूर हो जाये तो खेलने को तैयार हो?”हाँ, सर.

दीदी की चुत में मैंने उंगली कर दी, तो वो बोलीं- धीरे करो … और अभी ज्यादा मत करो.

इसके बाद हर हफ्ते शबनम चाची मेरी पढ़ाई देखने के बहाने सर से मिलने आतीं और हम दोनों के लंड से चुदाई करवा लेतीं. उसके साथ मेरे दिल की तारें जुड़ गईं और फिर वो तारें हम दोनों को बिस्तर तक लेकर गईं. कुछ देर बाद झड़ कर दीदी ने मुझे किस किया और बोलीं- अब बस … बाकी का शादी के बाद होटल में या फिर मेरी एक सहेली के साथ कर लेना.

और जब ट्रेन किसी छोटे स्टेशन से हॉर्न देती हुई पटरियां बदलती हुई क्रॉस होती तो वो खटर खटर जैसी जादुयी आवाज हमारे जिस्मों में नया जोश जगा जाती. तब तक आप चाहें तो मेरी पुरानी कहानियाँ पढ़ कर मजे ले सकते है ऊपर शीर्षक के नीचे मेरे नाम पर क्लिक कर के।तो मजे लेते रहिए और मजे देते रहिए।आपकी प्यारी सुहानी चौधरीधन्यवाद[emailprotected]. मेरी यह सेक्स कहानी शत प्रतिशत सच है … और सारी बातें एकदम सही लिखी गयी हैं.

हिंदी पिक्चर फिल्म बीएफ हिंदी

इन सबके अलावा बहूरानी समस्त तीज त्यौहार विधिविधान से मनाना आवश्यक व्रत उपवास रखना भी उसे खूब भाता है. वो हंस पड़ी और बोली- अब आए न पटरी पर!इतना खुलापन होने के बाद हम दोनों में सेक्स की बातें होने लगीं. उसका अब भी कोई विरोध न पाकर मैंने उसे दोनों हाथों से दबा लिया और उसके होंठों पर किस करने लगा.

उसने जैसे ही अपनी जीभ बाहर निकाली, मेरे लन्ड से तेज पिचकारी निकली और शीना की जीभ, होंठ, माथा, नाक सब जगह मेरे माल से लबरेज हो गए.

दोस्तो, आप सभी को मेरी मामी की चुदाई Xxx फॅमिली कहानी में रस आ रहा होगा.

आखिर में कुच्ची ने उसको गाली देकर भगा दिया, वो जाना नहीं चाहती थी … पर कुच्ची ने उसे जाने पर मजबूर कर दिया. मैंने भी अपनी स्पीड को बढ़ा दिया और हम साथ में निढाल होकर बेड पर गिर पड़े. जी सेक्सी पिक्चरमैंने मां से पूछा- क्या हुआ मां?तो मां बोलीं- कुछ नहीं बेटा, बस मैंने इतना मोटा हथियार कभी देखा नहीं न, तो बस यूं ही.

वहां से मैंने खिड़की से चुपके से झांका तो देखा दरवाजे के की-होल से भाभी अन्दर हमारी चुदाई देख रही थीं. अभी तो आप अपनी ड्रिंक एन्जॉय करो!” बहूरानी कोल्डड्रिंक का घूंट गटक कर बोली. मगर हरीश किसी कसाई की तरह सुम्मी की चुत को फाड़ता रहा और पूरा लौड़ा चुत में पेवस्त कर देने के बाद वो जोर जोर से झटके मारने लगा था.

मम्मी आशा भरी नजरों से चाची की तरफ देख कर बोलीं- वो कैसे?चाची ने कहा कि एक शर्त पर बताऊंगी?मम्मी ने कहा- मुझे तेरी हर शर्त मंजूर है. बहूरानी का रिजर्वेशन सेकेण्ड ऐ सी में था, मैंने उन्हें उनके कोच में चढ़ा दिया और हैप्पीजर्नी विश करके बाय करने लगा.

उसकी ब्रा के हुक खोलकर चूचिय़ों पर हाथ फेरा तो एकदम कड़क चूचियां और कटीले निप्पल्स.

चूत की दीवारों से घिस घिसकर लंड फिसल रहा था।तभी मैं सिसकारी- उफ सुरजन … मुँह में दे दो अपना मोटा लंड!उसने मेरे मुंह में लंड दे दिया और सिसकारते हुए चुसवाने लगा।अब नीचे से सुन्दर चूतड़ उठा उठाकर पेलने लगा. और हां आप सब पाठकों से निवेदन है कि फादर इन ला सेक्स कहानी के सम्बन्ध में अपने कमेंट्स, सुझाव इत्यादि शालीन भाषा में ही लिखें; अदिति बहूरानी के बारे में कोई भी निकृष्ट बात न लिखें. चुत पर लंड सैट करके मेरा गला पकड़ लिया और जोर का धक्का देकर चुत में लंड घुसा दिया.

लंड चूत की सेक्सी कहानी ये उस टाइम की सेक्स कहानी है, जब मैं सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानती थी. इस देसी सेक्स कहानी के पिछले भागबहन ने भाई को मुठ मारते देखाhttps://www.

वो बोला- हां मेरी रंडी, अभी तेरी गांड भी मारना चाहता था, पर थक गया हूँ. साढ़े दस बज चुके थे, वहां से निकलते समय मैंने पायल को व्हाट्सएप किया- हमने खाना खा लिया है और यहां से निकल रहे हैं, अगर मैं इसे रात को अपने पास रोक लूँ तो कैसा रहेगा?जैसे तुम चाहो, ऑल द बेस्ट दोस्त. यह बोल कर मैंने शीना की बुर को चूमा और अपने लन्ड मुंड को उसकी बुर के मुंह पर लगाया.

मोटी लड़की का सेक्सी वीडियो बीएफ

मजा आ गया पापा जी, लग रहा था मैं सचमुच कुंवारी हूं और अपने बीएफ से चुद रही हूं. इसलिए मैं आज आप लोगों को एक सेक्सी और जवान लड़की के बारे में बताने जा रहा हूं. अपना गिलास खाली करके वो चला गया और मैंने अपना पैग सिप सिप करके खाली करते हुए पन्द्रह मिनट वेट किया.

तुम ये बताओ कि मुझे दुबारा खुश कब करोगे?मैंने बोला- अभी कर देता हूँ. मौसी कराहती हुई बोलीं- आंह मर गई मांआ … मेरे शोना धीरे कर न … सब कुछ तुम्हारा ही है.

फिर एक रात को जब मुकेश पूरे नशे में मुझसे लिपटने लगा तो मैंने अपनी अदाओं से उसको खूब रिझा लिया और उसके सीने पर हाथ फेरती हुई बोली- जान, ऊपर के पोर्शन का काम कितना बढ़िया हुआ है.

”ठीक है, मैं अमूमन दस बजे घर से निकलता हूँ, कल आपके घर की तरफ से होते हुए अपने ऑफिस निकल जाऊँगा. फिर एक रात को जब मुकेश पूरे नशे में मुझसे लिपटने लगा तो मैंने अपनी अदाओं से उसको खूब रिझा लिया और उसके सीने पर हाथ फेरती हुई बोली- जान, ऊपर के पोर्शन का काम कितना बढ़िया हुआ है. अब वो मेरी नाभि के छेद में अपनी जीभ की नोक से मुझे गर्म करने लगा था.

जब किसी गर्म और रसीली मलाईदारकसी हुई चूत में कड़क लंडपूरा घुस जाता है, तो मर्द को कितना अधिक मजा आता है, ये आप कभी खुद ही महसूस करके बताना. शन्नो भी मेरे लंड को चूसने लगी और उसने 5 मिनट चूस कर मेरे लंड का पानी निकाल दिया. उन्होंने किसी एग्जाम के लिए तीन दिन तक रायपुर में अपनी सहेली के घर रुकने की कह दी और अपनी सहेली से कह दिया कि घर से कोई फोन आए, तो बता देना कि मैं तेरे घर पर ही हूँ.

कुछ देर बाद मैंने उसे बेड पर सीधा लिटाया और अपना लंड उसकी चुत के मुँह पर रख दिया.

बीएफ हिंदी माई बीएफ: फिर अपनी जीभ से नीतू के बदन पर लगे मेरे वीर्य को साफ़ करने लगी।नीतू ने रूपाली को बेड पर लिटाया और उसके बदन पर लगे वीर्य को साफ़ करने लगी. मां बोलने लगीं- अरे बेटा ये क्या किया … तूने मेरे बदन को भी तेल लगा दिया.

भगवान की भी अजीब माया है, उधर बिंदु भी गोविन्द से प्रेगनेन्ट हो गई थी. वो भी बहुत ज्यादा गर्म हो रही थी और बार बार मुझे अपने ऊपर खींचकर मेरे होंठों को चूमने की कोशिश कर रही थी. मैं गांड उठाते हुए बोली- आह राजू … सच में प्राची और आपकी बीवी इतना मस्त आनन्द अकेली ही उठा रही थीं.

मैंने मन में सोचा कि रानी मैं चोदता भी बहुत जबरदस्त हूँ … कभी हवेली पर आओ तो तुम्हारी चुत चोद कर भोसड़ा बना दूँ.

मुझे फ़लक की चूत इतनी पास लगने लगी कि दिल किया कि उसके पास जाऊं और गिरा कर चोद दूँ. कुछ पल बाद मेरा ध्यान फिर से दरवाजे पर गया, मुझे अभी भी लगा कि वहां कोई है. लेकिन भाभी पक्की खिलाड़ी थी, वो मुझे मेरे बेडरूम में ले आई और फिर मुझे जोर से किस करने लगी.