पटना का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,indiàn xxx

तस्वीर का शीर्षक ,

गाने वाली सेक्सी: पटना का सेक्सी बीएफ, यह बात आज से पांच साल पहले की है जब मेरे बड़े ताऊ के लड़के की शादी थी.

मराठी भाभी की सेक्सी व्हिडिओ

मैंने फटाक से अंदर का दरवाजा बंद कर दिया और उसको अपनी ओर खींच कर उसके हाथ पीछे बांध कर उसके होंठों को बुरी तरह से चूसने लगा. मां और बेटा की सेक्सी वीडियोफिर मैंने मम्मी से पूछा- कैसा रहा मम्मी … पापा की कमी पूरी हुई या नहीं?तो मम्मी बोलीं- अरे बेटा, तेरे पापा में इतना दम कहां बचा है.

वो बोली- तो फिर और कुछ नहीं देखना है क्या?मैंने कहा- तुमने मना कर ही दिया तो और क्या देखूं मैं …वो बोली- जब इतना सब कुछ देख ही लिया है तो फिर जो मन करे वो देख लो लेकिन किसी को बताना मत. सेक्सी मूवी शॉटबेड पर पटकने के बाद मैंने उनकी चुत को देखा, उनकी चुत पर एक भी बाल नहीं था.

तब मैंने उनके होंठों को चूमते हुए कहा- आज आपकी गांड की चुदाई की … कल आपकी चूत चोदेंगे.पटना का सेक्सी बीएफ: चुदाई के दौरान मर्द इनको मुंह में लेकर चूसता है और जब बच्चा पैदा होता है यहीं से दूध निकलता है.

मेरी अपनी सगी बहन अंतरा पूरी नंगी थी और टेबल पर अपनी बुर चुदाई करवा रही थी.चूंकि हम पांच लड़कियां हैं और पांचों ही लड़कियों ने कॉलेज के दिनों से अपनी चूत चुदवानी शुरू कर दी थी तो इन कहानियों का सफर काफी लम्बा चलने वाला है जिसमें आपको पूरा मजा आने वाला है.

सेक्सी फिल्म ब्लू सेक्सी फिल्म वीडियो - पटना का सेक्सी बीएफ

रिश्तों में चुदाई की गर्म कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी अम्मा ने मुझसे ओरल सेक्स का मांग की तो मैंने किया.आंटी फिर कहने लगी- तुम इतना शरमाते क्यूं हो?मैंने कहा- बस ऐसे ही, मैं बचपन से ही ऐसा हूं.

आरम्भ में मुझे बिल्कुल नहीं पता था कि वे दोनों हमारे साथ यात्रा में होंगे. पटना का सेक्सी बीएफ हम और सनी ऐसे रियेक्ट कर रहे थे कि जैसे हम लोग आपस में जीएफ बीएफ हों.

मैं नजर नीचे करके चाय पीता रहा और वह मेरे सामने ही टेबल साफ कर रही थी तो उनके मम्मों के दर्शन होने लगे.

पटना का सेक्सी बीएफ?

भाई को देख कर मुझे भी अपने मोबाइल में पोर्न देखने का मन किया तो मैं अपने मोबाइल में पोर्न देखने लगी. ये इशारा था कि रमा अब पूरी तरह गर्म हो गई है और वो संभोग के लिए पूरी तैयार हो चुकी है. सुरेश बोला- तो मेरा लंड का माल खा ले साली रांड … तुझे प्रोटीन भी मिल जाएगा.

अब हम एक दूसरे को उत्तेजित कामुक नजरों से देखते हुए हस्तमैथुन करने लगे थे. मैंने बात को आगे बढ़ाते हुए कहा- फोन पर तो मैंने कभी सर्विस दी नहीं है और न ही मैं देना चाहता हूं. अगर इस दौरान कोई एक साथी स्वार्थी बन गया, तो फिर इस मिलन में आनन्द खो जाएगा और केवल औपचारिकता ही रह जाएगी.

अब तक नलिनी और मेरी अच्छी दोस्ती हो गई थी, तो उसने मुझे बैठने के लिए रोका नहीं. मैंने बाथरूम में बहाने से जाकर मुट्ठ मारी तब जाकर कहीं लंड थोड़ा शांत हुआ. तब मैंने उससे कहा कि हमारा मन जिस काम के लिए बार बार भटकता हो, उस काम को कर देना चाहिए ताकि हमारा दिमाग शांत हो जाए.

उसकी टांगें अपने कंधे पर रखीं और फ्रंट फॉर्वर्ड पोज़िशन में लंड को अंतरा की चुत के दरवाजे पर रख दिया. इस तेज झटके से मेरे लौड़े का सुपारा अन्दर डॉली की चूत में घुस गया था.

मैंने भी खुद को तैयार कर लिया कि उसके साथ मैं भी झड़ जाऊं … पर रवि तो पहले ही झटके खाने लगा था.

मैं इतना गर्म हो गई थी कि मेरी चूत गीली हो गयी थी, मेरी चूत से पानी निकल रहा था.

मैंने सोचा क़ि मौका बढ़िया है अभी जाकर इसको दबोच लेते हैं और अपनी इच्छा पूरी कर लेते हैं. एक अन्जान नम्बर से फोन आया मेरे मोबाइल पर!मैंने फोन उठाया तो उधर से आवाज आई- हैलो!मैं सोचने लगा कि ये आवाज तो कुछ जानी पहचानी सी लग रही है. अब तक की इस चुदाई स्टोरी के पिछले भागखेल वही भूमिका नयी-8में आपने पढ़ा कि हम सभी अब नए साल के आगमन में केक काटने की तैयारी में थे.

मैं जोर से उसके होंठों का रस पी रहा था और साथ में ही उसके कसे हुए जिस्म के मजे भी ले रहा था. यह कह कर भाभी मुड़ीं, तो मुझे उनकी गांड देखी … उफ्फ्फ हिलती हुई गांड बड़ी मस्त लग रही थी. यह बोलकर उसने मुझे कमर से पकड़ अपनी ओर खींचते हुए अपने सीने से मुझे लगा लिया.

जब विकास का लंड पूरा खड़ा हो गया तो उसने मुझे बेड पर पीछे धकेल दिया और मेरी टांगें अपने हाथ में ले लीं.

मैंने गुस्से में बोला- यार, जैसे ही तेरे ब्लाउज को खोलने लगता हूँ, वैसे ही कोई ना कोई आ जाता है. मैंने उसकी दोनों टांगों को कुछ इस तरह से फैला दिया कि बहन की चूत मेरे मुँह से लग गई. फिर उसने कहा- जोश जोश में भला ऐसे भी कोई करता है, तुम्हें क्या लगता है कि मुझे पता नहीं कि तुम मुझे पसंद करते हो … मेरे बूब्स को दबा देते हो, छुप छुप कर मेरे चूतड़ देखते हो और मेरे चूतड़ों की बीच की दरार पर अपना लंड टच करते हो.

यह कहानी मेरी और एक ऐसी औरत के बीच में है, जिससे न मैं कभी मिला था, ना कभी उसको लेकर कुछ सोचा था कि जिंदगी में ऐसी कोई औरत आएगी. मैं जितनी जोर से लंड हिलाता, वो उतनी ही तेजो खीरा को अपनी चुत में घुसा रही थीं. मैंने कहा- जब भी तुम्हारा मन किया करे तुम मेरी चूत की चुदाई कर सकते हो.

इसलिए आप सभी को इस ग्रुप के साथ सेक्स कहानियों का भरपूर मजा मिलने वाला है जिसमें सेक्स के साथ-साथ मस्ती और रोमांस ही नहीं बल्कि रोमांच भी होगा.

ज्यादातर लोगों को लगता है कि केवल कौमार्य भंग के समय लड़कियों को पीड़ा होती और खून आता है. पति ने मेरे गाल दबाए तो मेरा मुँह खुल गया और महाशय ने अपना लंड मेरे मुँह के अन्दर डाल दिया.

पटना का सेक्सी बीएफ उसने मुझसे कहा- तुम बहुत दिनों के बाद मिली हो, इसलिए तुम्हारे लिए मैंने एक नई बात सोची है. हम मेस में पहुँचे- कुछ मिलेगा?मेस वाला दारू में धुत्त था पर उसकी लड़की बोली- दाल चावल मिल जाएंगे!हम खा रहे थे, तभी अनिल के हाथ से लड़की के मम्मे जब वह परोस रही थी, छू गए.

पटना का सेक्सी बीएफ एक दिन मैंने उनको देखा तो मेरा दिल आ गया उन पर … मैं उनसे प्यार करने लगा और सेक्स कमैंने अन्तर्वासना की कई कहानियां पढ़ी हैं, तो सोचा क्यों न अपनी कहानी भी शेयर की जाए. उसके कोमल हाथों में जाकर मेरा लंड फिर से तनतना गया और मुझे मजा आने लगा.

अगले दिन सारे गांव को जीमने का न्यौता था, तो चाचा जी बोले कि आज सब काम सम्भालना है.

हिंदी बीएफ एचडी भेजो

तीन महीने के बाद तुझे तेरी बीवी मिल जाएगी … और गलती से भी तूने पंगा लिया, तो अपनी बीवी को भूल जाना. मैंने उनकी चूत को चाट चाट के साफ़ कर दिया।फिर आंटी भी मेरे लन्ड को मुंह में लेकर चाटने लग गई. फिर रमा से कमलनाथ ने कहा- भाभीजी, आपको कोई परेशानी नहीं तो क्या मैं इसे यहीं चोद सकता हूँ?रमा यही तो चाहती थी.

यह देखकर उसने बुखार नापा, उसने मुझे दवा दी और कहा- मैं हूँ यहीं पर … तुम सो जाओ. मैं सोच रहा था कि जब ये बाहर से देखने में इतनी मस्त माल लग रही है तो अंदर से तो ये बिल्कुल कयामत ही लगती होगी, मैं उसकी मां के नंगे बदन को देखने के लिए तरस जाता था लेकिन अभी मुझे ऐसी कोई उम्मीद दिखाई नहीं दे रही थी कि मैं उसकी मां को नंगी देख सकूं. जब मुझे पूरा यकीन हो गया कि वो भी बुर चोदन करवाने की तैयारी करके ही आई है तो मैंने उसकी कमीज में हाथ डाल दिया.

उसके ये कहते ही मैंने पोजीशन बनाई और अपना लंड उसकी चूत में रखकर तैयार हो गया.

उससे दोस्ती होने के बाद हम दोनों कई बार साथ में ही बाहर घूमने के लिए भी चले जाते थे. मैंने देखा कि उनके मम्मे असल में बहुत बड़े थे, जिसके कारण ब्लाउज का एक बटन नहीं लगा था. रात को अक्सर इस तरह की आवाजें मुझे उनके कमरे से सुनाई दिया करती थीं.

पर मुझे पता था कि लंड कैसे डालना है।मैंने कुछ देर और आधे लंड को अंदर बाहर किया और उसके बूब्स से खेलता रहा।जब मुझे लगा कि अब सोनम सामान्य हो चुकी है और दर्द सहने के लिये तैयार है. दीदी ने मेरी पैंट की चेन खोल दी और फिर मैं समझ गया कि दीदी मेरे लंड का स्पर्श पाना चाहती है. मैं उनकी तरफ देखकर मुस्कराते हुए बोली- अब कैसे करेंगे आप?वो बोले- अब मैं नहीं, अब तू करेगी.

तो मैंने अपनी बीवी की फिगर सुधारने के लिए क्या किया? पढ़ें इस गंदी कहानी में!यह गंदी कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है, वास्तविकता से इसका कोई संबंध नहीं है. सीमा जी ने अन्दर रूम में चलने का इशारा किया और हम दोनों एक दूसरे की बांहों में बांहें डाले अन्दर रूम में आकर बेड पर बैठ गए.

मैं उसकी चूत में अपना लंड फंसा कर उसके ऊपर लेटा रहा और उसके मम्मों को बार बार मुँह में लेकर चूसने लगा. लेकिन आंटी से फोन नहीं लगा तो उन्होंने मेरे को फोन लगाने के लिए बोला. मेरे लंड पर उनके कोमल हाथों का अहसास मेरे दर्द को एक सुकून में तब्दील कर रहा था.

मेरा लंड पानी से भीग चुका था, लेकिन वो पूरे लंड को चाट कर साफ कर चुकी थी.

अपनी मर्दानी ताकत का प्रयोग करते हुए उसने मुझे भी मेरी टांगें पकड़ खींचा और बिस्तर से नीचे उतार दिया. तभी मुझसे राहुल बोला- आज तक तुम मुझे क्यों नहीं मिली … मुझे पहले ही मिल जाती, इतनी अच्छी चीज मेरे सामने थी और मैंने पहचाना नहीं. रमा ने मुझे बताया कि मैं कपोल कल्पना करती हुई एक वेश्या का किरदार करूं.

लंड कितना भी बड़ा या मोटा क्यों न हो, अगर किसी को सेक्स करने की कला नहीं आती है तो वह ज्यादा संतुष्टि अपने पार्टनर को नहीं दे पायेगा. अगर आपको बुरा न लगे और आपको कोई परेशानी न हो, तो क्या आप एक्सरसाइज करवाने के लिए मेरे घर पर आ सकते हैं?मैंने कुछ सोचने के बाद उससे बोला कि ठीक है … मेम पर मेरी फीस पांच हज़ार है.

वो दोनों आपस में बातें करने लगीं और कुछ देर के बाद लाइट बुझा दी गई. मेरे घर के सभी लोग जॉब करने गए थे और बाकी बचा एक किरायेदार और उसकी पत्नी भी जॉब पर गए हुए थे. एक दूसरे में ऐसे खोये रहे 7 दिन तक जैसे हमारी जिन्दगी का मकसद सिर्फ यही है.

बीएफ वीडियो सेक्सी वाली

पहले तो मैं आसानी से बाहर घूम रहा था मगर बाद में घूमने पर प्रतिबन्ध लगने लगा। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू हो गया। इसके चलते दीदी किसी जगह अपने बच्चे के साथ फंस गई।दीदी अपनी सहेलियों के साथ होटल में ही रही किंतु बाद में होटल भी बंद हो गया.

मैं बोला- अब मैं जाऊं?उसने बोला कि अब और भी करना है क्या?मैंने बोला- करना तो था, मगर अब बाद में करूंगा. लेकिन घर आने के बाद भी पत्नी के साथ सेक्स करने का मौका नहीं मिला।2 दिन रुकने के बाद मैं वापस आ गया और मैंने जानबूझ कर शाम की ट्रेन पकड़ी, रात को लगभग 2 बजे मैं ससुराल वाले घर पहुँचा. उसके बाद मैंने फिर से उसको अपने नीचे ही लिटा लिया और ऐसे ही उसकी बुर की चुदाई करने लगा.

मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और उसकी बुर में हल्के से लंड को चलाने लगा. नमिता की बातें सुनने के दौरान मेरा लण्ड अपना काम जारी रखे था, नमिता की बूर से बहती रसधारा से सराबोर लण्ड मैंने उसकी बूर से निकाला और गांड के छेद पर रख दिया. மலையாளம் செஸ் படங்கள்राज की आवाज सुनकर मैं चौंका और पूछने पर उसने बताया कि यह उसकी चाची है और कुछ दिनों के लिए आई है.

ऐसे ही 10 मिनट तक लंड सहलाने के बाद मैंने उसको इशारा किया कि टॉयलेट में चलो. उसने चूसना बंद किया और बोली- जल्दी करो … मुझसे अब कन्ट्रोल नहीं हो रहा.

इसलिये हमारी कोशिश है कि यहां पर हमारी कहानियों के जरिये सभी पाठकों का भरपूर मनोरंजन हो जाये और उनको अपनी जिन्दगी में किसी तरह का खालीपन महसूस न हो. कारण ये रहा कि मेरे अम्मी अब्बू को लड़की कुछ समझ में नहीं आई … और इसी लिए मेरी उससे सगाई टूट गई थी. मैंने उसके निप्पल को अपने उंगली से पकड़ कर कसके खींचा, तो वो कराह उठी.

भाभी पहले तो ना ना करने लगीं- क्या कर रहे हो अजय … छोड़ भी दो उफ्फ्फ्फ बदमाश!मैं भाभी की कुछ नहीं सुन रहा था और भाभी के चूचों से पूरा लिपट गया था. मैं खुश होता या दुखी कुछ समझ में नहीं आ रहा था क्योंकि मम्मी ने मुझे उसका भाई बना दिया था।अब पूजा ही खाना बनाती, हम साथ में बैठ कर खाना खाते लेकिन मैं उससे नज़र नहीं मिलाता. उन्होंने नीचे से अपने चूतड़ उचकाये कि लंड अंदर घुस जाए लेकिन ऐसे कैसे लंड अंदर घुस जाता… जब मैंने ऊपर से एक झटका अंदर को मारा तो गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुस गया जैसे मक्खन में गर्म छुरी.

मेरे लंड ने एकदम से उसकी चूत में पिचकारी मार दी और मैं झटके दर झटके झड़ता चला गया.

5 मिनट बाद वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी, अचानक एक आवाज आई- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैंने पलट कर देखा तो मेरा दोस्त शोभा की चूचियों को बाहर निकाल कर उसके निप्पल को जोर जोर से चूस रहा था. मैंने छिपी हुई नजरों से देखा कि उसके पैर में हल्के हल्के से बाल थे और पूरा पैर एकदम गोरा दिख रहा था.

कभी मेरी जांघों पर हाथ फेर कर कहता कि कितनी गोरी, चिकनी और गठीली जांघ हैं. मैं अपनी बहन की चूत को जीभ से चाटने लगा और वो भी मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. तब मैंने उससे पूछा, तो उसने कहा- हां मामाजी हल्का सा दर्द महसूस हो रहा है.

वो जल्दी से सेक्स के लिए बावली सी हो गयी, कहने लगी- बेटा, अब उंगली से काम नहीं चलेगा. प्रसव होने के बाद यानि बच्चे होने के बाद नारी में स्वाभाविक रूप से कमजोरी आ जाती है और बच्चे के साथ काम भी बढ़ जाता है, जिम्मेदारियां भी … दिन का समय बच्चे की देखभाल, उसकी आवश्यकताएं पूरी करने में निकल जाता है और रात को भी अक्सर जागना पड़ता है इससे नवप्रसूता को आराम नहीं मिल पाता है, नींद पूरी ना होने से वो चिड़चिड़ी होने लगती है. मैंने अपने लंड को चूत पर सैट किया और एक ही धक्के में पूरा लंड अन्दर डाल दिया.

पटना का सेक्सी बीएफ मेरे पति जब अपने काम पर चले जाते हैं, तो उस बच्चे को संभालना भी होता है और फिर घर के काम भी करने होते हैं. लेकिन अचानक मेरे बॉयफ्रेंड राहुल का फोन आया कि उसके घर बहुत जरूरी काम है, जिससे वो नहीं जा सकता.

सउदिया बीएफ

फिर वो मेरी बात सुन कर मुस्कराने लगी और अपने बैग से चिप्स का एक पैकेट निकाल कर उसे खोला और चिप्स खाने लगी. मैंने मम्मी की नीचे तकिया लगाया और उनके पैरों को अपने कंधे पर रख लिया. मैंने अपने लंड को अंडरवियर में दबाया हुआ था ताकि मामी को मेरा तना हुआ लंड दिखाई न दे.

साँसों को थामते हुए धीरे धीरे जब वो अलग हुए, तो लगा कि दोनों में किसी प्रकार की शक्ति बाकी नहीं रही. मेरे अलग होते ही रवि ने निर्मला को धकेलते हुए उसे नीचे जमीन पर गिरा कर लिटा दिया और उसकी दोनों टांगें फैला उसके मोटी मांसल जांघों के बीच झुक गया. सेक्सी बड़ौदामुझे उसकी लय बनती हुई दिख रही थी और उसे देख मुझे भी फिर से कुछ कुछ होने लगा था.

हर कोई अपनी अपनी सोच सामने रखेगा, देखा जाएगा कि किसकी तरकीब सबसे बढ़िया है.

उस दिन मां ने मुझे डांट भी दिया था लेकिन बाद में सब कुछ नॉर्मल होता चला गया. मैंने दो ही दिन में उसकी गांड से लेकर चूत और मुँह सभी छेदों को चोद दिया.

फिर उसे मैं गार्डन में लेकर गयी, वहां मैंने उसके साथ बहुत किसिंग की. आज भी जब मैं उन पलों को याद करता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है और खुशी महसूस होती है. रास्ते में हमें बहुत से जोड़े मिले, जो कुछ नवविवाहित थे … कुछ गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड … कुछ विदेशी भी थे.

लेकिन अब मुझसे नहीं रुका जा रहा था, मैंने आंटी को अपनी बांहों में भर लिया और उनको किस करने की कोशिश करने लगा.

बल्लू- हां यार, क्या बताऊं, मैंने बहुत सी लड़कियों और औरतों को पटा कर चोदा हुआ है लेकिन यह जो सर्विस देती है वो कोई और नहीं देती. जब लिफ्ट बंद होने लगी तो आंटी ने मुझसे पूछा- ऊपर जा रहे हो या नीचे?एकदम से उनके सवाल करने पर मैं कुछ जवाब न दे सका और मैंने कहा- अम्म … मैं … ऊपर जा रहा हूं. उसने मेरी पैंटी को जांघ के बगल से हाथ लगाकर एक तरफ कर दिया, जिससे मेरी चूत दिखने लगी.

xxx video चाना जबरदस्तिहम दोनों का ही मन हो रहा था कि बस एक दूसरे की बांहों में सिमट जाएं और अपने मन की इच्छा को पूरा कर लें. जब मैं गंदी फिल्में देखता था, तब चूत चुदाई करने का मेरा मन बहुत होता था, लेकिन उम्र छोटी थी, उस वक्त शक्ल सूरत भी अच्छी नहीं थी … तो कोई लड़की मुझे भाव ही नहीं देती थी.

सेक्सी फिल्म बीएफ पंजाबी

क्योंकि मुझे भी वाइल्ड सेक्स और चुदाई के दौरान गालियां देना और सुनना बहुत पसंद हैं. वो बोली- वो कैसे?मैंने कहा- जब मैं तुम्हारी चूत की फांकों को हाथ से हटा कर उसमें उंगली करता था तो आराम से उंगली चली जाती थी लेकिन जब मैं उसमें अपना मोटा लंड डालता था तो झांट आपस में उलझ कर लंड को रोक लेते थे. भले वो अपनी पूरी ताकत लगा रहा था, मगर मुझे उसकी ताकत में दम नहीं दिख रहा था.

मैं दो पल उनकी जवानी को याद किया और उनके मम्मों को अपने ख्यालों में मसला … तो मेरा मूड बन गया और मैं उनके घर पहुंच गया. मगर अभी मैं यह नहीं दिखा रहा था कि मैं उनकी चूत को चादने की फिराक में हूं. वो चिल्ला पड़ी- अभी नहीं।मैं भी पीछे हट गया और उनके फ्री होने का इंतजार करने लगा.

रोशनी के मुँह से जोर जोर से आवाजें आ रही थीं- ऊहह आहाहाह … ऊऊहह ऊहह … मजा आ रहा है … और तेज चोदो … आह चोदो बहुत मजा आ रहा है … अहह … मैं गई!पति बोले- आह मेरी जान … ले बस मेरा भी होने ही वाला है … रोशनी मेरी जान ले लंड ले. पूरा लंड पेलने के बाद मैं एक पल के लिए रुका और उनकी चूचियों को पकड़ कर दबादब चोदने लगा. जाते जाते उन्होंने बीजी से इशारा किया और कहा- इसका नहाना बाकी है … तुम दोनों नहा कर नाश्ता कर लेना.

उसने अपनी एक हाथ की ताकत से मेरे बाल पकड़े, दूसरे हाथ की एक उंगली मेरे मुँह में मुझे चूसने को दे दी. और पर मुझ पर सेक्स का भूत सवार हो चुका था तो मैंने उसे गंदी गंदी गालियां देते हुए चोदना शुरू कर दिया।वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करती हुई चुद रही थी.

चाय पीते हुए आंटी ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने आंटी को कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है।मैंने कहा- आंटी आप तो बहुत सुंदर हो.

मैंने जैसे ही अपनी जीभ उनकी चूत पर लगाई, उन्होंने मेरा सर चूत में घुसा दिया. ப்ளூ பிலிம் மலையாளம்मैंने जोर से उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और अरशी भी बिना किसी विरोध के मेरा साथ देने लगी. कॉलेज की सेक्सी नंगी वीडियोतभी निर्मला ने मेरे चूतड़ों पर 2-3 थपकी मारते हुए कहा- बस भी करो सारिका … अब मेरी बारी है. कभी मैं उनके बोबों को मसलता, तो कभी उनकी गीली चूत को अपनी मुट्ठी में भर कर दबा देता.

पर जैसे ही रमा तैयार हो गई, उसने मेरी उलझन दूर करने में सहायता तो की, पर वो सब उसकी मर्जी से था … न कि मेरी मर्ज़ी से.

हॉट हिंदी सेक्स स्टोरी की शुरूआत करने से पहले मैं आप सभी को अपने बारे में बता देना चाहती हूँ। मेरा नाम सोनम वर्मा है और मैं एक शादीशुदा महिला हूँ। मेरी उम्र 34 वर्ष है. कांतिलाल ने मेरे चूतड़ों को ऐसे चूमना और काटना शुरू कर दिया कि मेरी सिसकियां रोके नहीं रुक रही थीं. मैं बता दूं कि हम यहाँ किसी से दोस्ती करने नहीं बल्कि आप लोगों का मनोरंजन करने के साथ साथ आपके अंदर सेक्स का नया जोश भरने के लिए आये हैं।हम लोग अच्छी तरह जानती हैं कि शादी के बाद व्यक्ति की जिन्दगी में कई तरह के बदलाव आ जाते हैं.

जैसे जैसे धक्के बढ़ते गए, वैसे वैसे मेरी गर्माहट भी बढ़ती गई और मैं उस मस्ती में उसको अपनी बांहों में जकड़ने लगी. वो भी एक मदमस्त कली थी, जिसके नीबू जैसे टिकोरे देख कर मेरा लंड फनफनाने लगा था. उसकी टांगों को पकड़ कर अलग किया और उसने दोनों टांगों को दोनों दिशाओं में फैला दिया.

सेक्सी बीएफ 2021 के

कुछ देर तक मामा जी लेटे रहे फिर उठ कर एक तरफ होकर चादर तान ली और सो गये. प्लान के मुताबिक हमारा टूर 5 दिन का था, जिसमें हम सभी गोवा जाने वाले थे. अम्मा ने कहा- हां बेटा सब दिखाऊंगी … लेकिन कल … अब तू रुकना मत और मेरी जम के गांड मार … मैं काफी टाईम से सेक्स की प्यासी हूँ.

हैलो फ्रेंड्स, मैं फिर से आपको जुबैदा और उसकी दोनों बेटियों सलमा और नजमी की चुत चुदाई का रस चखाने आ गया हूँ.

वो बोली- तो तुमने मुझसे कभी कहा क्यों नहीं?उसके जवाब में मैंने कहा- ये तो मेरी फीलिंग थी.

इसके बाद मैं अपनी गीली जीभ से उसके सीने को चाटने लगी और धीरे धीरे नीचे जाने लगी. मैंने उससे पूछा- ये क्या है?तो उसने बताया- ये एक तरह की क्रीम है, जो चिकनाई के साथ गर्भधारण से भी बचाता है. बुधवार पेठ पुणे मुली फोन नंबरमैंने कहा- स्पर्म वो तरल पदार्थ होता है जो पुरुष के गुप्तांग से सेक्स करने के बाद निकलता है.

अगले दिन हम सब बारात में गए, तो साथ में परिवार से कुछ लड़कियां भी आई थीं. उसने जैसे ही अपना लिंग घुसाया, पल भर के भीतर ही उसने 20-25 धक्के मार दिए. मैंने कहा- तो जब तुम चूत को उंगली से सहलाती हो तो कैसा लगता है?वो बोली- जब से मैंने वो ड्राइवर वाली घटना देखी है तो मेरा मन भी करता है कि मैं एक बार लंड को करीब से देख लूं.

उनको मेरा व्यवहार बहुत पसंद आता है और मैं हमेशा अपने को एक अलग लुक देकर रखता हूं. शायद मुझे उन 3 औरतों की फिक्र थी, जिनसें मैं पहले कभी नहीं मिली थी.

फिर वो मेरे गले के चारों तरफ हाथ डाल कर मेरे होंठों को किस करने लगी.

बल्कि वो तो हर धक्के पर अपने चूतड़ों को यूं हिला डुला रही थी, मानो पिछले धक्के का आकलन कर अगले धक्के को सही अंजाम देना चाहती हो. लगभग 3-4 मिनट के बाद मैंने साराह का गाउन उतार दिया और उस में से उसके 32 साइज के मम्मों को देख कर मैं हैरान था कि दो बच्चों की माँ और फिगर इतना मस्त. हां यह बात अलग है कि हर कोई मुझे एक बार देखता है, तो देखता ही रहता है.

सेक्सी देसी वीडियो में फ्लैट में दो ही कमरे थे। एक में नाना-नानी सोते हैं और एक में मामा जी, मामी जी और उनके बच्चे सोते हैं. फिर मैंने उससे कहा- यहां से बाहर कैसे जाएंगे … आपके पति बाहर बैठे हैं.

मगर उस दिन के बाद मैंने एक बात नोटिस करनी शुरू कर दी कि विकास मेरे बदन को अब घूरने लगे थे. मैंने उनकी चूचियों को चूसना शुरू किया और अपने खड़े लंड को एक बार फिर से भाभी की चुत में पेल दिया. मैं भी किसी वेश्या की भांति नखरे दिखाते हुए नेताजी के गले में हाथ डाल बैठ उनके मनोरंजन के लिए तैयार हो गई.

बीएफ बीएफ बांग्ला बीएफ

मेरी क्लास में सहेलियां तो और भी कई थीं लेकिन हम पांच का बिंदास ग्रुप ऐसा था जो कुछ खास था. उस वक्त मैंने नीलू मौसी पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया था क्योंकि मैं मां के साथ बिज़ी हो गया था. उसने पोजीशन बदली और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए।अब मेरा पूरा लंड उसके मुंह में बिल्कुल गले तक जा रहा था और मैं उसकी चूत को अपने मुंह में लेकर चूस रहा था.

मम्मी ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मैंने अपना लंड मम्मी के मुँह में डाल दिया. छोटा भाई मतलब मेरे लंड से है जो 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है।चलिए मामला शुरू करते हैं.

राजेश्वरी भी बहुत अधिक गर्म थी, सो वो ज्यादा देर अलग होकर न रह सकी.

अब पहले वाला लंड चुसवाने लगा और ऊपर वाला नीचे आकर भाभी की चूत को चाटने लगा. खुद को करवट लेकर एक किनारे किया और उसकी एक टांग सीधी करके, दूसरी को कंधे पर रख ली. उसके तने हुए मम्मे देखकर मैंने एक को मसल कर पूछ लिया कि तेरे ये इतने बड़े कैसे हो गए? इन पर किसने मेहनत की है?रुचि- ओह्ह … जैसे तुझे पता ही न हो कि मेरा भी एक बॉयफ्रेंड था, जिससे मेरा ब्रेकअप हो गया है.

फिर उसने मेरे हाथों को हाथों से पकड़ कर बिस्तर के दोनों तरफ फैला कर दबा दिया. अभी उस लड़के ने लंड घुसाया ही था कि मेरी बीवी की जल्दी चोदने की बात सुनकर उसने एक जोर के झटके के साथ लंड अन्दर पेल दिया. नजदीक जाकर मैंने उसे कॉल किया और पूछा कि मैं सीधा अन्दर आ जाऊं?तो उसने कहा कि नहीं … रुको तो … पहले मुझको देखने दो, बाहर कोई है तो नहीं … अगर किसी ने देख लिया, तो मेरा यहां रहना मुश्किल हो जाएगा.

फिर तीन-चार दिन के बाद जीजा को कंपनी के काम से बाहर जाना था तो मैंने अपने ऑफिस एक दिन के लिए छुट्टी ले ली.

पटना का सेक्सी बीएफ: उसका उत्तेजित कड़क लिंग मुझे मेरे पेट पर चुभता हुआ महसूस होने लगा था. मैं उत्तेजना में उसके बालों को कसके पकड़ कर ऐंठन लेने लगी और टांगों से उसे जकड़ने का प्रयास करने लगी.

मेरी मां की जवानी की तारीफ मैं ही नहीं कर रहा बल्कि उनको देखने वाला हर आदमी दीवाना हो जाता है. वहां पहुंचने के बाद देखा कि भाभी नीचे सो गई थीं और नलिनी ऊपर अकेली पैर मोड़ कर बैठी थी, क्योंकि लास्ट वाली सीट थी और ऊपर के दोनों लोग सो गए थे. काव्या मुझे हटाने की कोशिश करने लगी और बोली- ये क्या कर रहे हो यार.

लेकिन बाद में जब से मुझे सेक्स की हवस चढ़ना शुरू हुई, तो मैं हमेशा प्रीति के मादक बदन को देख कर मुठ मारने लगा था.

इसको तो अगर बाज़ार में बेचने जाएंगे, तो लोग कितने भी रुपये देने के लिए तैयार हो जाएंगे. फिर जब मुझसे न रहा गया तो मैंने मां की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया. वो किसी से फोन पर बात कर रही थी और बात करते हुए ही उसकी आंखों से आंसू भी निकल आये थे.