हिंदी बीएफ 50 साल

छवि स्रोत,बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

आजादी की सेक्सी: हिंदी बीएफ 50 साल, चूंकि अम्मी ने पैन्टी नहीं पहनी थी इसलिये अम्मी की चूत भी मुझे दिख गई थी.

क्सक्सक्स ब्लॉकेड कॉम

नीचे भी मैक्सी के झीने कपड़े के कारण उनके चूतड़ों की गोलाई साफ़ साफ़ दिख रहे थे. बीएफ ओपन हिंदीफिर चुदाई के बाद मैंने बाहर आकर देखा, तो सब हमारे आने का इन्तजार कर रहे थे.

दोस्तो, यह कहानी पिछली कहानियोंयारानाभाई-बहन ननदोई-सलहज का यारानायाराना का तीसरा दौरयाराना का चौथा दौरके आगे की कहानी है।जैसा कि आप सबको पता है कि कहानी अब तक दो मुख्य पात्रों के इर्द गिर्द घूमती रही है जो कि हैं राजवीर (मैं) और मेरी पत्नी रीना।इस वाइफ स्वपिंग के याराना में हम अलग अलग समय पर अलग अलग जोड़ों से मिले। इस याराना में सबके साथ ही बहुत मजा आया. बीएफ सेक्स पंजाबअब रमेश ने रिया के बालों को गुच्छा बना कर कस कर पकड़ लिया और उसकी चूत में धक्के मारने लगा.

फिर रोहित भी उसी तरह रोहन के कपड़े उतारने लगा।पर रोहन का बॉक्सर उतारते ही वो चौंक गया.हिंदी बीएफ 50 साल: तुम्हारे बाबू मुझे आज तक माफ नहीं कर पाए, वो जुल्म अपने ऊपर ढाते हैं … वो दारू अपने जिंदगी बर्बाद करने के लिए पीते हैं, ये मैं जानती हूँ.

मैं फिर वहां से बाथरूम की खिड़की, जो थोड़ी ऊंचाई पर थी, वहां गया और बगल में रखी दो ईटों को नीचे रखकर उस पर चढ़ कर बाथरूम के अन्दर झांका.मेरे हाथ उसकी चूचियों को दबा रहे थे और उसके मम्मों को जोर से सहला रहे थे.

सेक्सी ब्लू फिल्म में - हिंदी बीएफ 50 साल

वो भी हंसते हुए बोलीं- हां, बाथरूम से तुम्हारे लिए चुत साफ़ करके आ रही हूँ.मैंने कहा- क्यों … मैंने क्या चालाकी की?भाभी बोलीं- कहीं सिस्टर आ ना जाए … इसलिए खुद ही उसे बुला लाए.

मैंने थोड़ा लंड बाहर निकाल कर फिर से एक और जोरदार झटका मारा और पूरा लंड उनकी चुत में समा गया. हिंदी बीएफ 50 साल मैं देखूँ तो कि तुम चोदते हुए कैसे दिखते हो?”मैंने उठकर लाइट जला दी.

मैं किसी भी तरीके से अपनी सहेलियों से पीछे नहीं रहना चाहती थी, पर जवानी की दहलीज पर आकर लग रहा था कि मेरी सहेलियां मुझसे पहले जवान हो गई थीं.

हिंदी बीएफ 50 साल?

मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था, मैं परेशान होकर सर खुजाते हुए हल ढूंढने का प्रयास कर रहा था. मैं भी अन्तर्वासना पर माँ बेटे की चुदाई कहानियां पढ़ना पसंद करता हूँ. उसने मुझे एक बार बताया था कि किसी को भी गर्म करना हो, तो उसकी गर्दन के पीछे उंगलियां फेरनी चाहिए.

दोनों खलासियों ने मेरे एक एक स्तन को एक एक हाथ से पकड़ लिया और जोर जोर से मसलने लगे. एक पल की भी देर न करते हुए उसने रोहित के लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगी. पांच मिनट में ही भाभी ने मुझे कसकर जकड़ लिया और बोलीं- मेरा माल आने वाला है.

चूस क्या रहा था बल्कि कहना चाहिए कि लौड़ा रानी के मुंह को चोद रहा था. आपके लंड ने तो कमाल कर दिया … मेरी चूत के कोने कोने में जाकर मेरी प्यास को शांत कर दिया. जब उसने मेरा लौड़ा अपने मुँह से निकाला, तब देख कर ऐसा लगा कि उसको भी मेरा मूत पीना अच्छा लग रहा हो.

दरवाजा खुलने में हुई देर, जीजू का बदहवास चेहरा, अस्त व्यस्त बेडरूम सारी कहानी बयां कर रहा था. फिर उसने ब्रा नीचे करके मेरे बूब्स शुरू कर दिये मगर ब्रा उतारी नहीं.

खाली हुई लिम्का की बोतल एक तरफ को फेंक के रानी ने लौड़े पर हाथ फिराया और लंड को चूमने लगी.

मैं बाहर आ गया और देखा कि सभी सिस्टर्स अपनी कुर्सी पर बैठकर सो रही थीं.

मैं भी मदहोशी में बक रहा था- हां रंडी तुझे आज पूरा खा जाऊंगा साली … तूने बहुत तड़पाया है. तो मैंने पूछा- वो क्या?वो मेरी जींस के ऊपर से मेरे लंड को दबाते हुए बोली- ये. साहब लंड को बहुत ही धीरे धीरे निकालते हुए चूत के बाहर ले आए और धपाक से धीरे धीरे अन्दर कर दिया.

वे दोनों आपस में झगड़ा हो जाने पर एक दूसरे को मनाने के लिए मेरा सहारा लेते थे. सुबह उठा, तो देखा कि व्हाट्सएप पर भाभी का हैलो का मैसेज आया हुआ था. मैंने अपने पति से कहा- चलिये अब चलते हैं क्योंकि मुझे नींद आ रही हैं।तो उन्होंने कहा- चलो मैं तुम्हें छोड़ कर आ जाता हूँ, मैं कुछ देर से आऊँगा।और वो मुझे वहां छोड़ आये जहां पर हम रुके हुए थे।उस वक्त मुझे लौटते देख कर किशोर भी वापस अपने घर आ गए थे मगर मुझे यह बात पता नहीं थी।मैंने अपने कपड़े बदले और गाउन पहन कर बिस्तर पर लेटी रही.

फिर रोहित भी उसी तरह रोहन के कपड़े उतारने लगा।पर रोहन का बॉक्सर उतारते ही वो चौंक गया.

अब वो मास्टर जी हमारे शहर के सबसे बढ़िया पैंट सिलने वाले व सूट स्पेशलिस्ट बन चुके थे. अब आगे की शादी में चुदाई की कहानी:मैंने उनसे समय निकालकर फिर मिलने की बात कही और जल्दी से वैभव के पास चला गया. विक्रम- एक बार कोशिश करने में क्या हर्ज़ है? बुरा लगे तो मत करना!रीना थोड़ी देर तक सोचती हुई- अच्छा ठीक है.

दोस्त के रूम पर होम थिएटर था तो उस दिन हम लोगों ने गाने चला कर खूब मस्ती की।कुछ देर बाद उसकी सहेलियां चली गयी. रोहित कभी इस चुची को पी रहा था … तो कभी उस चुची को … और साथ ही साथ चुची का मर्दन भी कर रहा था. वैसे तो अब मैं भी उसके साथ ज्यादा सम्बन्ध रखना नहीं चाहता था, लेकिन वो इतनी हॉट माल थी कि मेरा उसको दोबारा चोदने का मन कर रहा था.

मैंने कहा- मुझे कुछ नहीं आता यकीन कीजिए … मैं स्टेज पर परफार्म नहीं कर सकता!वहां बैठी सभी लड़कियां मेरी बेबसी का मजा ले रही थीं और मुस्कुरा कर तमाशा देख रही थीं.

तभी मैंने देखा कि मुस्कान थोड़ा हिचकचा रही थी क्योंकि मुस्कान ने प्रियंका से मिल कर मेरे साथ तो पहले भी काफी बार सेक्स किया था. कुछ देर बाद वो बोली- बस देखते ही रहोगे या अन्दर आकर कुछ और भी करोगे.

हिंदी बीएफ 50 साल इस गन्दी कहानी हिंदी में पढ़ें कि कैसे एक बाप ने अपनी कालगर्ल बेटी से उसके जिस्म का सौदा किया. वो मुझे अपने ऊपर कुछ इस तरह से लिए हुए थी कि मेरा लिंग उसकी योनि से रगड़ खाने लगी थी.

हिंदी बीएफ 50 साल उसका दिल बहुत ही तेज धड़क रहा था और सांसें भी काफी तेज चल रही थी।उसके बाद मैंने उसके सर से पल्लू हटाते हुए उसकी नथ उतारी और धीरे-धीरे उसके बदन से सारे गहने उतार कर किनारे रखकर सायरा को अपनी बाहों में भर लिया. उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाया और एक धक्का दिया और लंड एक बार में ही पूरा अन्दर चला गया.

मेरी मौसी के गाल फूले हुए थे … जिन्हें दांतों तले दबा कर बड़ी ही किंकी फीलिंग आती थी.

सुहागरात कैसे बनाते

मैंने नीरा के गाल थपथपाते हुए पूछा- क्या बात है, एकदम से चुप क्यों हो गई हो?इतना सुनते ही नीरा सिसकने लगी. मेरी हाईट मेरी उम्र के हिसाब से बहुत अच्छी थी, फिर अभी तो मुझे और बढ़ना था. हालांकि मैं उनके पति के बारे में पूछना चाहता था, लेकिन मैंने कुछ नहीं कहा.

मेरा मन कुछ उचटा हुआ सा था तो मैंने सोचा कि मास्टर जी के यहां थोड़ा संगीत सुन कर आ जाऊं. मैंने पूछा- आप मुम्बई भी आओगे क्या?उन्होंने बताया- हाँ, पहले मैं मुम्बई में ही आऊंगा. जब मुझसे नहीं रहा गया तो आखिर मैंने कविता से पूछ ही लिया- जीजू के जाने के बाद भी तुम दोनों इतना खुश कैसे हो? क्या तुम्हें जीजा जी के जाने का कोई गम नहीं है?उसने बोला- पति को मैं वापस नहीं ला सकती हूँ.

दोस्तो, मैं सुधीर आप सभी पाठकों के लिए अपनी बीवी की चूत चुदाई कहानी का अगला भाग लेकर आया हूं.

प्रिया के गोरे गोरे मांसल मम्मे अब विशाल के हाथों की गिरफ्त में थे. और तुमको पेशाब करने जाना है तो नंगी ही जाओ!” कहकर मैंने चादर खींच ली।वो चादर छोड़ कर लंगड़ाती हुए बाथरूम की तरफ भागी। भागते समय सायरा के कूल्हे ऊपर नीचे हो रहे थे।काफी देर बाद सायरा पेशाब करके बाहर आयी तो मैंने पूछा- अन्दर देर क्यों लगा दी?तो वो बोली- पापा, पेशाब करते समय मुझे जलन महसूस हुयी तो मैंने देखा तो पेशाब के साथ-साथ हल्का-हल्का खून भी आ रहा था. ”हनी के निप्पल्स को दांतों से काटते हुए मैंने कहा- ये तो तुम गलती से चुद गई, मैं तो तुम्हें सीमा समझ कर चोद रहा था.

इसीलिए उसे बस मेरी चूत को ऊपर से सहलाना पड़ रहा था।रोहित अपने लण्ड को पूरी तरह मेरी जाँघों के बीच से आगे पीछे कर रहा था. और इधर यश चुदाई की भूख में इतना पागल हो गया था कि उसका लंड पानी न छोड़ने के कारण शबनम के दोस्ती तुड़वा चुका था।सपना भी उसको छोड़ के जा चुकी थी और अब शबनम भी। पर उसकी चुदाई की भूख अभी भी शांत नहीं हुई।आपको कहानी कैसी लगी दोस्तो? आप जरूर मेल कर बताना![emailprotected]. मैंने हाथ पकड़े, तो दोनों ने एक एक हाथ से मेरे दोनों स्तनों को पकड़ लिया और मुझे ऊपर खींच लिया.

दिखने में वो मेमसाब से दुगनी खूबसूरत थी, बस उस पर नौकरानी का ठप्पा लग रहा था. उसकी सांसें तेजी से चल रही थीं और उसकी चूचियां ऊपर नीचे हो रही थीं.

अन्दर ब्रा पहनी हुई नहीं थी, उसकी गोलाइयां एकदम बड़ी साइज़ में ऊपर को ओर उठी हुई थीं. तो रीना बोली- अभी नहीं, अभी ये आने वाले हैं, कल जब ऑफिस चले जायेंगे तब!अगले दिन सुधीर के ऑफिस जाने के बाद मैं उसके घर पहुंचा और सिगरेट सुलगा कर रीना को पकड़ा दी. वो बोला- भाभी आओ ना!संजू मुस्कुराते हुए आई और रोहित के लंड को अपने मुँह में ले कर चूसने लगी.

शीना का चेहरा देखकर मुझे भी ऐसा लगा कि मैं थोड़ी उस पर नाइंसाफी कर रहा हूं.

आई … फाड़ दी … मेरी चूत।मैंने भाभी के होंठों को कस कर स्मूच करना शुरू कर दिया उसकी आवाज अंदर ही दब गयी. वो- अच्छा फिर क्या?मैं- फिर क्या … सलवार को उतार कर तुम्हारी दोनों टांगों के बीच में बैठ जाऊंगा और …इतना बोल कर मैं चुप हो गया. गुड्डी रानी ने लंड को मुंह से निकाल कर प्यार पूर्वक निहारा, फिर सूंघा.

यहां पर संयोग वाली बात ये थी कि उसके बच्चे उसी स्कूल में पढ़ते थे जिस स्कूल में मैं भी पढ़ाता था. उसकी चूत पर अभी भी काले बाल नहीं आए थे, जो थे वो भी अभी भूरी रंगत लिए रेशमी से दिख रहे थे.

नजमा मेरा पूरा साथ दे रही थी ‘आह ओह … निचोड़ दो मेरे बूब्स को … आह … आ स स … आ. बहनचोद पीछे से चोदते हुए मेम रानी के मस्त सुन्दर रेशमी से नितम्ब देख देख कर मेरी हवस भी जंगल की आग जैसे भड़क गयी थी. इस महायाराना के लिए श्लोक ने मालदीव में एक होटल में पांच कमरे बुक किये.

मुल्ले मुल्ले

उसका व्यवहार वैसा ही था जैसे कोई जानवर अपने नवजात शिशु की चिंता में असहज होता है।खुशी की आँखों में मेरे लिए वही चिंता थी.

जीजा का लंड अब जब मेरी सहेली की चूत की गहराई में जाता तो पच-पच की आवाज हो रही थी. काफी देर तक मालिश करने के बाद में मुझसे रहा नहीं गया- भाभी, मेरे अंदर कुछ हो रहा है। ऐसा लग रहा है कि मेरे लिंग में से कुछ निकल रहा है. रीना- अरे बाबा इतनी सी बात! अभी तो पिछले 2 साल से किसी भी पराये मर्द को छूने नहीं दिया है, पूरी तरह से पवित्र हूँ, चलो मूड बनाओ.

मेरा एक्सपेरिएंस भी यही कहता है, जिस लड़की से सेक्स किया जाता है, वो खुद ही दोबारा चुदने की इच्छा जताती है. मैंने उसे पीछे से पकड़ा और फिर से गर्दन पर किस किया और वहीं धीरे धीरे उसके कान के पास दांतों से छेड़ने लगा. बीएफ सेक्सी व्हिडिओ सेक्सीपर आज हम तीनों ही जानवर बनना चाहते थे और जानवर होने की सारी हदें तोड़ देना चाहते थे.

दोस्तो, कोई औरत जब किसी बांके जवान मर्द के नीचे खुद ही अपने जिस्म को रगड़वाने के लिए तड़प रही होती है तो ऐसी स्थिति में किसी का रूखा व्यवहार बहुत अखरता है. इस पर मैं थोड़ी गुस्से में बोली- इतनी गर्मी भरी है … दीदी को नहीं चोदते क्या?जीजू बोले- उसे चोदता तो हूँ मेरी रानी … लेकिन तेरे जैसी कसक उसमें कहां है.

तो मैंने एक ही झटके में पूरा लंड चूत में पेल दिया और बिना रुके बहुत फास्ट चुदाई शुरू कर दी. बहुत ही हल्के से छोटे छोटे धक्के लगाते हुए मैंने उसे बड़े प्यार से चूमना शुरू किया. तुम बस बताओ मालिक … मेरी चूत के मालिक … तुमको मेरे घर की कौन सी लौंडिया चाहिए … जिसको कहो, मैं उसको तुम्हारे नीचे सुला दूंगी.

अब तुझे चोदने के लिए मुझे इन्तजार करना पड़ेगा? मुन्ना का लण्ड तुझे ज्यादा पसन्द आ गया है क्या?अब्बू, आ तो गई हूँ. मैंने कहा- आंटी आप बस ऐसे ही खड़ी रहो … मैं अंडरवियर उतार कर नाइट पैन्ट पहन लेता हूँ. कुछ सेकेंड्स तक मैंने भी उनकी आंखों से आंखें मिलाने की कोशिश की, पर जल्दी ही शर्म के मारे मैंने अपनी आंखें झुका लीं.

मैं- अगर वो अपनी फैंटेसी पूरी करना चाहते हैं, तो किसी दूसरे कपल के साथ कर लें.

कुछ देर बाद भाभी अपनी योनि साफ करके आई और मुझे बिस्तर पर लिटा दिया. मेरी शादी की बात उसके साथ पक्की होना मेरी लॉटरी लगने से कम नहीं था.

स्कूल और घर में पढ़ाई का प्रेशर और मन में जवानी का तूफान सबको एक साथ संभाल पाना, बहुत मुश्किल होता है. खुद मैंने उसके हाथों को अपने चूचों पर रख कर उसके हाथों को दबा लिया था. मैंने उसकी चूत को सूंघ कर देखा तो उसकी चूत से मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी.

तब रमेश ने उसके बालों का गुच्छा बनाकर कसकर पकड़ लिया जिससे उसके बाल हल्के खिंच रहे थे।तब उसने लण्ड को बाहर निकाल लिया. ओह्ह ओह्ह शश्श … ह्ह्ह!मैं- नीरा तुमको गाली दे सकता हूँ मैं?नीरा- हाँ दे दो. मनीषा भाभी भी मस्ती से अपनी गांड को आगे पीछे करके चुदाई का पूरा मजा ले रही थीं.

हिंदी बीएफ 50 साल फिर मैंने उसकी थोंग को साइड में किया और अपने अंगूठे और उसके साथ वाली उंगली से उसकी चूत को खोलकर उसमें अपनी जीभ घुसा दी. पायल ने वहां से चलते हुए मेरे कानों में धीरे से कहा- बातों में नहीं, मुझसे किसी चीज में नहीं जीता जा सकता!मैंने मुस्कुरा कर हामी भरी और हम स्टेज के पास चले गए.

छोटे भाई की बीवी को चोदा

मैंने कहा- तो फिर मसाज करवाना चाहोगी?वो बोली- पहले अपनी ड्रिंक तो खत्म कर लो. बस दिमाग में उन दोनों की इतनी तगड़ी ठुकाई करना चाहता था कि वह दोनों अगले दो-तीन महीने तक लौड़ा आपने चूत और गांड में लेने के लिए सोचे भी ना. मैं झांट भरी चूत में उंगली डाल कर, थोड़ी देर चाट कर उन्हें 5 मिनट में झड़वा करके घर वापस आ गया.

अम्मी बोलीं- दूध पीना है मेरे शोना को?मैंने भी गर्दन हिला दी और अम्मी ने मेरा सर अपने मम्मों के बीच घुसेड़ दिया. उसकी चूचियों पर हाथ लगा तो मैंने पाया कि उसने नीचे ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी. सनी+लियोन+के+बीएफफिर भी मैंने अधूरे मन से जेठजी को रोकने की कोशिश की, पर गीली चूत और जबान लड़खड़ाने की वजह से मैं सिर्फ इतना ही बोल सकी- जेठजी प्लीज … रुक जाइये!पर मेरी बात का जेठजी पर बिल्कुल भी असर नहीं हुआ.

फिर हीना थोड़ी नीचे सरकी और काम वासना से लाल हो चुकी अपनी नजरों से मुझे एक बार और निहारा और मेरे मुंह पर अपना मुंह टिका दिया.

मैंने कहा- आंटी आप बस ऐसे ही खड़ी रहो … मैं अंडरवियर उतार कर नाइट पैन्ट पहन लेता हूँ. चूंकि बसंती भाभी एक जवान मर्द से चुदवाने की सोच रही थी, उसका पति बूढ़ा था और उसकी चूत प्यासी थी और उसका जिस्म एक मर्द के स्पर्श के लिए तड़प रहा था.

इन सब के दौरान दोनों बहुत उत्तेजना में आ चुके थे। रिया करीब 15 मिनट तक रमेश जैसे बताता गया वैसे पोज़ देती रही। फिर रिया को ये बर्दाश्त के बाहर होने लगा।रिया ने रमेश से कहा- प्लीज अब ना तड़पाओ, देखो चूत से कितना पानी चू रहा है. रिंकी हँसते हुए आई और सुनील के सर को दोनों हाथों से अपनी ओर खींचते हुए जोरदार फ्रेंच किस उसको दिया. मैं- जान तुम गांड मरवाना चाहती हो?कोमल- हां … आ जाओ!मैंने ये सुनते ही अपना लंड चुत से निकाला और तभी कोमल घूमकर डॉगी स्टाइल में हो गई.

तुम्हें शादी की सारी रस्मों में शामिल रहना है।मैंने मुस्कुरा के हाँ कहा.

मैं आप लोगों को बता नहीं सकता कि मुझे गांड मराने में कितना मजा आ रहा था. लेकिन जैसे ही मेरे देवर मेरे सामने आए, वे मुझे देखकर हल्का शर्मा रहे थे. अभी भी हमारे होंठ एक दूसरे के होंठों से उलझे हुए थे और हाथ एक दूसरे के पिछवाड़े पर जमे थे.

देवर भाभी का सेकसी विडियोतभी प्रियंका सीमा को देख कर बोली- साली थोड़ा ऊँची आवाज में बोल … मुझे तो सुना नहीं!मैंने फिर कहा- अच्छा, जो जो ग्रुप सेक्स के लिए राजी है वो अपना हाथ ऊपर करे. मैं भाभी को चाहने लगा था लेकिन डर भी लगता था इसलिए कुछ कह नहीं पाता था, जबकि भाभी मुझसे काफी खुल कर बातें किया करती थी.

नंगी पिक्चर का फोटो

मुझे पता तो था ही कि उस पैकेट में वो अपने लिए ब्रा पेंटी ही लायी होगी. मैंने भी अपनी बहन की सहेली नताशा की चूत मारी और फिर उसकी कुंवारी गांड को तेल लगाकर खोल दिया. कहो तो मैं उठ जाती हूँ यहाँ से?सीमा को मैंने बांहों में ले लिया और बोला- अब नहीं कहीं जाने देता तुझे डार्लिंग! इधर आ … तेरे भी मम्में देखूं.

कविता भाभी- तेरे भाई के आने में अभी टाइम है, लेकिन मैं भाई से कंफर्म करती हूं कि वो कब तक आएंगे. उनके घर में रसोई, एक बेडरूम और एक सामान रखने के लिए एक छोटा सा कमरा था. मैंने टोका, तो बाबू बोले- यह सॉफ्ट सेक्स है … बहुत धीरे पर बिना आवाज के किया जाता है.

मैंने धक्का देते हुए कहा- जानेमन, लग तो नहीं रही न?उसने कुछ जवाब न दिया. मयंक ने सोनम की नाइटी के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया. पहले तो मैंने कुछ ही पलों में खुशी के सौम्य सौंदर्य, रूप लावण्य को नजरों में कैद करना चाहा.

… हमम्म्मम…’वो बड़ी तेजी से अपने लंड को मेरी चुत में धक्का देने लगा. मैं सोने की तैयारी ही कर रही थी रूम में अपने कि उन्होंने पीछे से आकर मेरी कोली भर ली और मुझे किस पर किस करने लगे.

सारी रात हम एक दूसरे की बांहों में लिपटे बिता दें। सुबह मैं उठकर उसके लिए चाय बनाऊँ और वह हर समय वो दीवाना बना मेरे मेरे आगे-पीछे ही लगा रहे।हम्म!”प्रेम! मैं चाहती हूँ पूरी दीन-दुनिया को भुलाकर बस अपने पति को अपना सारा जीवन समर्पित कर दूं.

उसकी बांहों के घेरे में कैद वो लड़की तो दिखाई नहीं दे रही थी लेकिन इतना जरूर पता लगा रहा था कि चुम्मा चाटी चल रही है. बफ पिक्चर हिंदी वीडियोअब तक की मेरी इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि आज मालदीव में हम तीन कपल यानि तीन लड़के और तीन लड़कियां आपस में ग्रुप सेक्स का मजा करने पहुँच चुके थे. हिंदी बीएफ व्हिडिओ सेक्सीस्नेहा भाभी- अच्छा जी … मेरे पीछे पड़ कर क्या करोगे?मैं- जो सब करते हैं. एक मिनट बाद बाथरूम से संजना के ठहाके की हंसी सुनाई पड़ी, मैं सोचने लगा कि वहां न जाने क्या हो रहा होगा.

अब वो ऊपर से मदारजात नंगी हो गयी।फिर उसने भी मुझे ऊपर से नंगी कर दिया.

उसकी गांड में लंड लगाए हुए ही मैंने उसकी चूचियों को दबाते हुए उसके ब्लाउज में से पैसे निकाल लिये और उसके उरोजों को हाथों से जोर से दबोचकर बोला- और दम देखना है या अहसास हो गया कि मेरे अंदर कितना दम है?अब मैं उत्तेजित हो चुका था और अपने जलते हुए होंठों को मैंने बसंती की सुराही जैसी गर्दन पर रख दिया. इसके अलावा शादी ब्याह में अगर मौका मिल जाए, तो दो चार के साथ मजा ले ही लेती हूँ. बाद में बात करने पर मुझे पता चला था कि उनकी शादी 8 महीने पहले हुई थी.

यह सुनते ही जीजू बोले- यार, ऐसी हूर के लिए अगर मुझे मेरी बीवी तो क्या … अगर मेरी बहन को भी किसी के साथ शेयर भी करना पड़े, तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है. अब्बू अम्मी को किस करने लगे, तो अम्मी की कामुक आवाज़ हल्के स्वर में गूँजने लगीं- उम्म. तो अब कभी कभी विशाल और सुनील शीला की चुदाई साईट के ऑफिस में करने लगे.

स्वीट सेल्फी डाउनलोड

मैंने इधर उधर देखा और किसी को अपनी तरफ न देखते हुए, मैंने अपना गिलास थोड़ा टेढ़ा करते हुए उनके ऊपर गिरा दिया. मैंने कहा- चल कोई बात नहीं, गांड न मरा लेकिन चूत मराने के लिए घोड़ी तो बन जायेगी?हां, चूत मराने के लिए घोड़ी बन सकती हूँ. स्पीड बढ़ने से संजू की मादक सिसकारियां बढ़ गई थीं और वो जोर जोर से ‘आह … ओहअ … ई … इस्स …’ करने लगी थी.

उसने एक के बाद एक कई तस्वीरें देखी और वापस रोहित को मोबाइल देते हुए कहा- मौसी तो बहुत मस्त दिखती हैं।मुझे यह समझते देर नहीं लगी कि वो नंगी फ़ोटो मेरी बड़ी बहन पूजा की थी.

अब मैं रोज उससे बातें करने लगी और थोड़ी बहुत बात करके उसे बाय बोल देती थी.

फिर मैंने देखा कि उसने ब्लैक कलर की पैंटी पहनी हुई थी जो उसके गोरे बदन पर बहुत प्यारी लग रही थी. जब रात के 12 बजे तो मैं उसके रूम में गई और उसे बर्थडे विश करते हुए अपने गले से लगा कर उठाया और अपने कमरे में ले आई. सनी लियोन की न्यू बीएफमैं उसकी चूचियों को दबाने लगी और फिर उसके निप्पलों को मैंने चूसना शुरू कर दिया.

वो फिर से दोबारा मेरे बदन को चूमने और चाटने लगा। मैं बस अपनी आंखें बंद करके उसका अहसास करती रही।उस आनंद को मैं कभी भूल नहीं सकती।और इस बार उसने मुझे घोड़ी बना लिया। मेरी चूत पूरी गीली ही थी तो लंड आराम से पीछे से चूत में चला गया. मैंने उसके नर्म नर्म चूतड़ों पर हाथ से दबाते हुए उसकी गांड के छेद को सहलाना शुरू किया तो वो ‘न. दीपिका ने स्कर्ट निकालने के लिए अपने चूतड़ों को थोड़ा ऊपर किया तो मैंने उसे उसकी टाँगों में से निकाल कर पास रखी चेयर पर फेंक दिया.

वो- आंह … और …मैं- तुम्हारी बुर को खूब चूसूंगा … तुम्हारी बुर को चूसते हुए तुम्हारी चुचियों को हाथों से मसल दूंगा. उसकी सेक्सी बातें सुन कर मेरा भी मन कर रहा था उससे मिलने का!लेकिन दिक्कत जगह की थी कि उससे मिला कहां पर जाये.

कुछ देर तक उसके रसीले होंठों का रस पीने के बाद मुझसे रुका न गया और मैंने अपने हाथों से भाभी की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया.

मैंने उनके सीने पर हाथ घुमाते हुए कहा- अगर आप मुझे इसी तरह पिलाते रहे, तो सुबह सबको पता चल जाएगा कि रात में मैंने वाइन पी है और फिर मेरी गांड सुताई शुरू हो जाएगी. और फिर से अपने मुंह में मेरा लिंग ले लिया और जितना हो सके उतनी अंदर तक ले रही थी।क्योंकि पहली बार मेरा लिंग का मुखमैथुन हो रहा था तो मैंने उनके सर को पकड़ कर अपने लिंग पर दबाना चालू किया और अपनी कमर उठाने लगा. मैं नर्वस था तो बोला- मुझे कल तक के लिए मौका चाहिए।घर वापस आया मैं … एक बार मुठ मार कर पानी निकाल फिर सोचा कि एक तीर से दो दो निशाने … मतलब चोदने जगह भी मिल गयी और दो दो बुर (चूत) भी।अगले दिन कॉलेज जाने से पहले कंडोम ख़रीदा, डिब्बा फेंक कर कंडोम जेब में रख लिया।आज तान्या फिर मेरे से मिलने आयी थी घंटी के बीच में … तो एक कागज पे लिख कर उसे क्वार्टर के पास आने को बोला।मैं पहले गया, वो भी पीछे से आयी.

नंगी नहाना ये सुनते ही उसने मुझे ज़ोर से सीट पर लेटा दिया … और अपना निक्कर पूरा निकाल दिया. मैंने भाभी की गांड को पीछे से दबा दिया और अपने लंड को उसकी जांघों के बीच में सटा दिया.

और यह बोलते हुए उसने अपने लण्ड को जाँघों में ही आगे पीछे करना शुरू कर दिया।रोहित बड़ी ही सादगी से मेरी जाँघों को चोद रहा था औऱ मेरी चूत से खेल रहा था. शायद रोहित सही कह रहा था कि कोई भी उसका लण्ड चूसना चाहेगा।कुछ देर बाद रोहित ने अपने मुंह से लण्ड को निकाला. अब दोनों ही चीख रही थी क्योंकि मैंने उनके बाल पकड़े हुए थे और उन दोनों को नीचे लंड के पास बैठा लिया था.

दूध की बर्फी

कुछ देर तक उसी पोज़ में चोदने के बाद जेठजी ने चूत में लंड डाले डाले ही मुझे गोद में उठा लिया और मेरे पैरों में अपने हाथ फंसा कर खड़े हो गए. मैं बार बार बच्चे को देखने के बहाने ज़ेबा के क़रीब होने का मौका तलाश करने लगा. हर महीने एक सीमित पैसा घर से आता और किसी तरह बस हम दोनों रह रही थी।धीरे धीरे हम दोनों की ही जरूरत बढ़ने लगी हम बाहर घूमने जाती, बाहर खाना खाती, फ़िल्म देखती.

चाची की हल्की सी चीख निकल गई, पर उन्होंने मेरे लंड को चूसना नहीं छोड़ा. उन दोनों की इस काम क्रीड़ा को मैं खिड़की से देखते हुए अपना लंड हिला रहा था.

भाभी का एक हाथ पहले तो मेरा कंधे पर था, लेकिन फिर उन्होंने कमर से पकड़ लिया.

मेरी रंडी बहन मज़े से अपने ससुर के लंड को पूरा मुँह में ले कर चूसने लगीं. अब जीजू पूरा जोश में आ गए थे और उन्होंने अपने कपड़ों को तुरन्त निकाल दिया. मैंने हंस कर पूछा- तो क्या स्नेहा डार्लिंग कहने लगूं?भाभी बोलीं- अभी स्नेहा तक ही रखो.

अम्मी को हड्डी के रोग की दिक्कत थी, वो बहुत कम चलती फिरती थीं, लेकिन आज दर्द ज्यादा होने कारण शाम को जब ज़ेबा मुझे चाय देने आई, तो मैंने उसे रोक लिया और बोला- देखो ज़ेबा अम्मी हम दोनों की शादी करना चाहती हैं. घर आकर जब ज्ञान ने मेरे होंठों से अपने होंठों की गर्मी का आदान प्रदान किया तो उस दिन मुझे चूत में खीरा लेना पड़ गया था. अब तक प्रतिभा सुमन के हाथों में मेंहदी लग चुकी थी, शाम से रात होने वाली थी.

दीपिका ने अपने गाल मेरे गालों से सटा दिए और लम्बी लम्बी सिसकारी लेने लगी- ऊह्ह … अम्म … राज … आह्ह … ओह्ह।मैं धीरे धीरे उसके मखमली शरीर पर अपना हाथ घुमाने लगा.

हिंदी बीएफ 50 साल: दोस्तो, किंक दुनिया में अंडरगारमेंट्स सौंपने का मतलब खुद को सौंपना होता है … शायद ये बात उन्हें पता नहीं थी. यह कहते हुए उसने संजना की चूत के दाने पर अपना हाथ रख दिया और चुत के अन्दर उंगलियां डाल दीं.

कुछ मिनट उसके मम्मों को चूसने के बाद मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया और उसके पांवों को चौड़ा करके उसकी चूत को चाटने लगा. हम तीनों दरवाजा खटखटाने लगे, लेकिन उन तीनों में से कोई ने जवाब नहीं दिया. हनी की चूत के लबों को फैला कर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रखा तो हनी ने अपने चूतड़ उचका दिये.

कुंवारी कच्ची चूत में पहली पहली बार लंड का प्रवेश किसी किसी भी लड़की को जानलेवा दर्द देता ही है; वैसा ही कुछ निष्ठा के साथ भी हो रहा था.

सीधे खड़े होने के कारण मेरे उभरे हुए नितम्बों में रोहित के लण्ड का सुपारा कहीं गायब ही हो गया था. पहले वाले ने उससे कहा- तू बाहर बैठ … मैं जब बाहर आ जाऊं तो तू अन्दर आ जाना. और फिर जैसे ही उन्होंने कस कर धक्का मारा, मैं एक अजीब आनंद के मारे दुहरी हो गयी.