बीएफ ओपन मूवीस

छवि स्रोत,ब्ल्यू फिल्म बीपी सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

ப்ளூ ஃபிலிம் மூவி: बीएफ ओपन मूवीस, सुलेखा तो झड़ने के बहुत करीब थी तो मैंने उसकी चूत में झटके और तेज कर दिए और मनोज भी शायद ज्यादा उतेजित हो गया, उसने नेहा की चूत में अपनी जीभ स्पीड से चलानी शुरू कर दी, नेहा जोर जोर से चिल्लाती हुई बोलने लगी- उई आह आह… सालों चुद गई उई उई आह.

निर्गुण सेक्सी वीडियो

उसके बाद उसके दोनों हाथ पकड़ कर मैंने एक जोर का धक्का दे मारा, लेकिन चिकनाई के वजह से लंड फिसल गया. सेक्सी हिन्दी हॉट वीडियोराहुल ने मेरी गांड मारनी चालू रखी और मेरी गांड में जोरों के झटके मारता रहा.

दोनों नंगे हो गये और मैं राहुल का लंड चूसने के लिए आगे बढ़ा कि तभी उसका दोस्त जय आ गया. सेक्सी फिल्म वीडियो वीडियो सेक्सी फिल्मतभी वैशाली बोली- प्रकाश, इससे पहले तुमने किसी से सेक्स किया है?मैं बोला- नहीं.

मुझसे रह नहीं गया और मैं ऋतु की जांघों पे चाटने लगा और धीरे धीरे उसकी चूत पर मुँह ले गया.बीएफ ओपन मूवीस: मैं उसको बोलूंगी कि मेरा भाई रोज इसी समय बजे अपने रूम में मुठ मारता है और मैं इस छेद से रोज उसको देखती हूँ.

लेकिन उधर एंड्रयू से सब्र नहीं हुआ, जब मैं वाइफ की गांड के छेद को देख रहा था, तो उसने अपना हैवी लंड रूसी लड़की की गुलाबी, बालरहित चूत में घुसेड़ दिया.’पापा ने अपनी रफ्तार बढ़ा दी, नीचे से मैं अपने चूतड़ों को हवा में उछाल रही थी कि तभी मेरी चुत से कुछ निकलने को हुआ.

छोटी लड़की के वीडियो सेक्सी - बीएफ ओपन मूवीस

अभी वे अपने होने वाले पति के बारे में सोच ही रही थीं कि इतने में उनके कमरे में किसी ने दस्तक दी.तो तेरी चुत कैसी होगी उफ्फ चूस आह…काफ़ी देर तक ये चुसाई चलती रही उसके बाद गुलशन जी झड़ गए.

गोपाल तो थोड़ी देर में सो गया मगर मोना को टेंशन में नींद नहीं आ रही थी. बीएफ ओपन मूवीस फिर धीरे से पूरा लंड एक झटके में अन्दर धकेला वो तो गला फाड़ कर चीखने ही वाली थीं कि मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से बंद करते हुए किस किया.

यही सोचता हुआ मैं बाहर आया और फिर से वही हेल्प डेस्क की तरफ गया लेकिन वह वहाँ नहीं था.

बीएफ ओपन मूवीस?

गोपाल ने चादर हटा दी और लंड पे हाथ घुमा कर कहा- ठीक है बिना चादर के कर दे. हम 69 की पोज़िशन में आ गये, वो मेरा लंड चूस रही थी और मैं उसकी चूत. इस बाप बेटी सेक्स कहानी में आप पढ़ चुके हैं कि गुलशन जी अपनी बेटी को चोदने की फिराक में थे और वे उससे साफ़ साफ़ चुदाई के लिए कह भी रहे थे, लेकिन सुमन मना कर रही थी.

उसने अपनी जांच पूरी की और वह वापस चला गया लेकिन मैं अब उसके पीछे पीछे नहीं गया क्योंकि उसको शक हो जाता कि मैं उसका पीछा कर रहा हूँ. वो आप को रियल सेक्स स्टोरी से पता चल जायेगा और जो भाभी मुझसे चुदती है वही ऐसे बोलती है. गुलशन जी ने एक बार सुमन को देखा फिर अच्छे से पूरे मम्मों पर दोबारा हाथ घुमाया और मौका देख कर जल्दी से एक निप्पल को चूस भी लिया.

वह मेरे सीने से लग गई और बोली- पहली बार किसी गैर मर्द के सामने नंगी हुई हूँ, तो अब क्या प्यासी ही लौटाओगे?तभी रूबी अंदर आ गई और बोली- अपने रिस्क पर अंदर लेना, मेरी चीखें निकल गईं थीं. गुलशन जी ने जैसे तैसे ममता के सवालों का जवाब दिया और उसको कहा कि घर जाकर सब बातें करेंगे, अभी नहीं. कहाँ गए थे?गुलशन- अपनी बेटी से पूछो, इतना टाइम कैसे लग गया। मैं तो थक गया हूँ अब तो मैं चेंज करके थोड़ा आराम ही करूँगा। अब दुकान जाने की हिम्मत नहीं है, मैं गोपी को फ़ोन कर देता हूँ.

अब बात थी टाइम और प्लेस की, तो वो भी मैंने सैट कर लिया और हम दोनों चल पड़े प्यार के उस दरिया की ओर, जिसका ना तो कोई किनारा है और न ही गहराई की कोई सीमा है. रोहन ने मुझसे कहा- अंजलि, तुम हमारी मॉडल को बुला कर उसे सब समझा दो.

मैंने माला की आँखें डाल कर उसकी ओर देखते ही मैं समझ गया कि उसका दर्द कम हो गया था और वह संसर्ग के लिए तैयार थी.

उसने फिर सेट करके जोर लगाया और लंड ने अपना रास्ता बनाते हुए अपना टोपा अंदर भेज दिया.

अगर आप चाहते हैं कि मैं और भी कहानियां में आपके साथ शेयर करूँ, तो आप बताएं कि ये चुदाई की कहानी कैसी लगी. मेरी कहानीकॉलेज गर्ल की चुदाई की कहानी हिंदी मेंको पढ़कर किसी पाठिका ने यह कहानी भेजी है, आप भी पढ़ें और आनन्द लें!मंजू शर्मामेरा नाम साबिया है. रानी के मुंह पर पीड़ा के चिह्न उभरे लेकिन वो दर्द को पी गई पर मुंह से कुछ न बोली.

मैंने झुककर रिया के होटों पे किस करके उसे जगाया और फिर हम दोनों ने सभी लड़कों को लिप किस करके जगाया. मैंने कहीं से उसका मोबाईल नम्बर लेकर दोस्ती करने के लिए कहा, जिसे उसने जल्द ही स्वीकार कर लिया. मैं उनके हर झटके पर ‘आआह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ आराम से आःह्ह्ह’ बोल रही थी.

10-15 मिनट लेटे रहने के बाद वह उठी और चूत धोकर, अपने कपड़े पहन कर बाहर आ गई.

रास्ते में सोनू धीरे से बोली- कैसी रही डर लगने वाली चाल?मैंने कहा- सोनू मैं तो यही चाहता था. मैंने अपना एक हाथ सुलेखा की गांड के नीचे ले जा कर, अपनी एक ऊँगली नीचे से पहले उसकी चूत में डाली और फिर जब वो अपने टांगों को सिकोड़ने लगी और बहुत तेज तेज सिसकारने लगी तो मैंने अपनी ऊँगली वहां से निकाल कर उसकी गांड में डाल दी जिस से वो बहुत तड़पने लगी. आज मैं आप को बताऊंगा कि कैसे मैंने दोपहर को एक भाभी को चोदा था वो भी छत के ऊपर!उस भाभी का नाम कुलवंत कौर था और वो मेरे मकान मालिक बिट्टू सिंह की बहु थी.

तभी मैंने संजना का हाथ पकड़ कर पैन्ट के ऊपर से अपने लंड पर रखा तो उसने वापस खींचने की कोशिश की, लेकिन मैंने फिर से लंड पर रख कर दबा दिया. तो लड़के के चाचा ने मुझे रोका और बोला- बेटा, क्या तुम पास ही में रहते हो या. हो सकता है कि ये सच होती हों।बात तब की है, जब मैं 12वीं के एग्जाम के रिज़ल्ट का वेट कर रहा था और मुझे इसके लिए अपना 10 वीं का डिप्लोमा लेने के लिए अपने पुराने स्कूल जाना पड़ा। मैं डिप्लोमा लेने के लिए वहाँ गया। मैंने प्रिंसीपल से डिप्लोमा लेने के लिए बात की और प्रिंसीपल ने बोला कि कल आना।फिर मैं स्कूल के साथ प्रिंसीपल के कमरे से बाहर चला गया.

पर ये तो सॉलिड लंड है, बड़ा मजा आएगा जब ये मेरी चुत के अन्दर जाएगा.

मैं उसकी बगल में खड़ा उसके लंड को तेजी से सहलाने लगा और मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी भुजा पर रख दिया और उसकी मोटी भुजाओं को सहलाने लगा. उसने मुझे खुद से अलग किया और मेरे लंड पर टूट पड़ी, मेरे लंड को किसी लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

बीएफ ओपन मूवीस ’राजीव ने रिया के बाल पकड़े और किसी जानवर की तरह वो उसका मुंह चोदने लगा. उसने दौड़ कर मुझे खींचा और एक लंबा किस करते हुए बोली- कहाँ जा रहा है मेरे राजा.

बीएफ ओपन मूवीस सो अब शर्ट के बटन खोलने के बाद मैं नीचे होकर उसके पेट को चूम चाट कर ऊपर को बढ़ रहा था. उसने मैरून ब्रा पहनी थी और उस ब्रा में उसके गोरे चूचे बहुत सुन्दर लग रहे थे जैसे चांद के ऊपर लाल नीले बादलों का पहरा हो.

देर से उठेगीं।उसने मुझे ऊपर से नीचे तक देखते हुए कहा- ठीक है, उन्हें सोने दो।मैंने कहा- बस वो कल चली जाएंगी, उनके पेपर हैं।दूध वाला हंस कर बोला- ठीक है चलता हूँ.

सेक्सी चूत मरवाती

मेरी बहन अनुराधा का शरीर एकदम से ऐंठ गया और उसकी कुंवारी चूत से रस का ढेर सारा स्खलन हुआ, वो आनन्द से चीखने लगी, अपनी गांड को जोर-जोर से हिलाने लगी. मैंने सुलेखा के मम्मों को दबाना शुरू किया और उन्हें हल्के हल्के मसल रहा था और फिर धीरे धीरे उनपे अपनी जीभ घुमाने लगा. इस कहानी में हो रही घटना को आप अपने करीब महसूस करें, यही मेरा उद्देश्य है.

उसने मेरा हाथ पकड़ के अपनी ओर खींचा, उसने मेरी पेंट में कुछ रखा और कहा- तुम्हारे लिए गिफ्ट है, घर जाके देखना. मैंने उसकी छाती की तरफ देखा जो काफी मजबूत थी और उसकी खाकी शर्ट का ऊपर का बटन खुला हुआ था। उसकी जांघें फैली होने की वजह से उसके घुटने मेर पैरों पर आकर टकरा रहे थे। मैं उसकी जिप की तरफ देख ही रहा था कि स्पीड ब्रेकर आ गया और अचानक उसकी आंख खुलीं और उसकी नज़र सीधी मेरी नज़रों पर गई. असल में वो दोनों प्यार करने लगे थे मगर अपनी माँ के लिए अनिता ने प्यार को कुर्बान कर दिया.

हम लोग फिर से एक दूसरे को प्यार करने लगे तभी कुछ देर बाद दूसरे पण्डित भी नीलम के साथ आ गये, हम दोनों जल्दी से हट गये।सब कुछ सामान्य सा दिख रहा था ऐसा लग रहा था जैसे कुछ हुआ ही नहीं था.

मैंने हालात को देखते थोड़ी हिम्मत करते हुए उसकी ब्रा खोल दी और फिर आराम से उसकी कमर मसलने लगा. वो सिसकारियाँ निकालने लगी और दोनों हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगी, मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी. कहानी का पिछला भाग :सहकर्मी भाभी ने दोस्ती करके चूत चुदाई-1वाह भाभी, आज तो तूने कमाल ही कर दिया… क्या मस्त जोरदार चुदाई कर डाली… आज तो असली जवानी की चुदाई का मजा आ गया। बहुत धम-धम चुदाई थी.

फिर मुझे उसे मनाने में आधा घंटा निकल गया कि मैं लंड अन्दर नहीं डालूंगा. वो जाग गईं और उन्होंने मुझे देख कर मुस्कुराते हुए बड़े आराम से अपने मम्मों को और ठीक से पकड़वा लिया. मैंने दुबारा पोजीशन लेकर लंड अंदर डाला, वह धीरे धीरे सारा लंड अंदर ले गई.

उसके बाद तो गुलशन रोज अनिता को चोदने लगे और वो भी उनके बड़े लंड की आदी हो गई. ’तिवारी की यह बात सुन अनीता थोड़ा हचमचा सी गयी लेकिन फिर अपने आपको सामान्य करते हुए बोली- आज रात को तो नहीं तिवारी जी, हाँ लेकिन यह वादा करती हूँ आपसे कि कल जब आप आएंगे मेरे घर तो में आपको वो सब बताऊँगी जो हम दोनों इस रात को साथ साथ करेंगी.

रात को गुलशन जी फिर सुमन के कमरे में चले गए और उसको बातों में लगा कर उसके जिस्म को छूकर मज़ा लेते रहे. उसने चूस-चूस कर मेरे लंड को खड़ा कर दिया और बोलीं- अब और ना तड़पाओ. उसने लोअर टीशर्ट पहना हुआ था, लोअर उसकी जांघों से टाइट चिपका हुआ था.

अब दोस्तो, फ्लॉरा कोई दूध पीती बच्ची तो थी नहीं, जो किसी मर्द के हाथ उसके चूचों पे मालिश करें और वो उत्तेजित ना हो, ये तो कुदरत का क़ानून है, भले ही उस उम्र में सेक्स का ज्ञान नहीं होता मगर उत्तेजना तो अपने आप ही आ जाती है.

अब मोना की चुत की खुशबू भी उसको भा गई और वो भी मज़े से मोना की चुत चूसने लगी. मैं दूसरी मंजिल पर गया और यहाँ कोई मर्द ढूंढने लगा इसके बाद पहली मंजिल पर गया. उनका लिंग बहुत विकराल था लेकिन उन्होंने अनुभवी प्रेमी की तरह प्यार करते हुए उसे मेरी योनि में घुसा ही दिया.

उसकी माँ को उसके हवाले कर दिया और फ्लैट बंद करके चाभी गुलशन जी ने ले ली. जैसे ही वो अन्दर गया, मैंने देखा कि कहीं से मेरा गाउन फटा तो नहीं है.

उनके मदमस्त मम्मों को चूसते हुए, चिकनी गांड को सहलाते हुए, लंड उनकी चूत की दरारों को भेदता हुआ अन्दर जाता है. आज जाकर अपनी चुदाई की देसी कहानी या कहिए अपनी आपबीती आपको बताने जा रहा हूँ. मैंने अपना लंड वहाँ रखा और जैसे ही अंदर को धकेला, मेरा लंड किसी गीली, गरम और बड़ी मुलायम सी जगह में घुस गया.

वीडियो औरतों की सेक्सी

रानी के मुंह पर पीड़ा के चिह्न उभरे लेकिन वो दर्द को पी गई पर मुंह से कुछ न बोली.

भाभी को मैंने वहीं छत पर चोदा और वादे के मुताबिक़ माल चूत में नहीं निकाला. यह बात साल 2014 गर्मी की जयपुर की है मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया कि आज कल कोई *** app आई है उस पर लड़कियाँ आसानी से मिल जाती है और पट भी जाती है क्योंकि उस टाइम इस app पर कोई भीड़ नहीं थी. बस थोड़ा सा पीछे का हिस्सा फिर से देख लो ताकि आप लोगों का मजा बराबर बना रहे.

अन्यथा तुम मत आना।उसने कहा- ठीक है।रात को 9 बजे पति के जाते ही मैंने अपनी चुत को चिकना किया और शादी के जोड़े को पहन कर अपने बेडरूम में सुहागरात जैसी दुल्हन बन कर बैठ गई और दूधवाले को फोन का इन्तजार करने लगी।उसका फोन आया तो मैंने उसे समय पर आने के लिए कह दिया।वो समय से 15 मिनट पहले ही आ गया. अक्सर हम दूसरों के मुक़ाबले अपने किसी करीबी से ज़्यादा उत्साहित होते हैं, इसे शैतानी दांव भी कहते हैं. असली सेक्सी असलीपर मेरा दिल वही लगा रहा, काफी दिन बीत गए पर मुझे उसकी याद आती रही, पर मैं अपनी पढ़ाई और काम मे व्यस्त हो गया, और वक़्त के साथ साथ उसकी यादें धीरे धीरे धुँधली पड़ने लगी.

बल्कि सही मायने में खजुराहो में ही वो हम बिस्तर हुए थे तो उन्होंने वापिस आते ही कोर्ट मैरिज कर ली थी. मैं बैठा ही था कि मेरे मोबाइल पे दुल्हन के सिस्टर का कॉल आया, उसने मुझे जल्दी से उसके घर जो मेरे घर से 7-8 किलो मीटर दूर है, वहाँ आने के लिए कहा.

दोस्तो, मेरी कहानी जिसमें मैंने अपनी सगी बहन को चोदा, के छः भाग आ चुके हैं, मुझे काफी मेल आ रहे हैं, सभी ने मेरी सेक्स कहानी की तारीफ की है पर मैं आपको बता दूं कि यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है. हम दोनों के पास आकर नेहा ने अपनी चूत को मनोज के मुंह पर रख दिया, मनोज नेहा की चूत चाट रहा था और नेहा ने अपने होंठ ऊपर से नीचे को मुंह करके सुलेखा के होंठों से मिला लिए. जॉन ने मौके का फायदा उठाया अब वो उंगली को चड्डी के एकदम पास ले जाता.

मैं भी खुश था कि आज मेरी गांड बच गई नहीं तो ये लम्बे लंड से फाड़ देता. उन्होंने मुझसे पूछा- मेरी चुत का स्वाद कैसा लग रहा है?मैं बोला- नमकीन. अब वो मेरे नीचे आ कर मुझे अपनी चुत के अन्दर लंड डालने का इशारा करने लगी.

उसने मोना को बड़े प्यार से विश्वास दिलाया कि ये सब आजकल फैशन बन गया है, कुछ औरतें तो बस शौकिया ये सब करती हैं, तेरी तो मजबूरी है.

चाची ने खाना तो सुबह ही बना दिया था तो वो टीवी देखने लगीं और मैं भी उनके पास ही बैठ गया. मुझे लगा कि ये छूटने वाली है, मैंने चूत को चाटना बंद किया और जल्दी से उसकी टांगें उठा कर अपना बड़ा और मोटा लौड़ा उसकी चूत में पेल दिया.

राहुल को मेरी कमजोरी पता लग गयी थी तो उसने थोड़ा नीचे होकर फिर से मेरे निप्पल्स पर अटैक कर दिया. मनोज ने अपना लंड मेघा की चूत में से निकाल कर उस के बूब्स पे अपना पानी छोड़ दिया और उसे लिप किस करने लगा. मेरे दिल में तब रोमांस करने का सूझा, तो मैंने होटेल के मैनेजर से रिक्वेस्ट करके एक रूम 2 घंटे के लिए ले लिया.

कहते हैं ना कि किस्मत से पहले और वक़्त से ज्यादा कभी किसी को कुछ नहीं मिला है और मुझे लगता है कि ऐसा ही मेरे साथ भी है।ऐसे ही दिन गुज़रते गये लेकिन कभी ना कभी तो किस्मत को खुलना ही था. तू कह तो रहा है उन्होंने तेरी भी मारी। चलो मेरी भी मार दी कोई बात नहीं।फिर वह- बोला सर, पर मुझे चैन नहीं पड़ेगा. वो उसे ऐसे चूस रही थी जैसे मेरा लंड हो… पूरी तरह से वो मुझे पीना चाहती थी.

बीएफ ओपन मूवीस जमीला ने मुझे पूछा- किसका फोन है?तो मैं बोला- कोमल का है, तेरी चूत के हाल पूछ रही है. और तुझे डरने की क्या जरूरत है पगली? मैं तुझे कभी तक़लीफ़ नहीं पहुँचाऊंगा.

सेक्सी फिल्म दिखाएं सेक्सी फोटो

कुछ ही देर बाद बहूरानी चाय और बिस्किट्स लेकर आईं और मेरे सामने ही चेयर ले के बैठ गईं. उसने मुझसे बोला- अंजलि तुम्हें वॉशरूम में जाने की जरूरत नहीं है, तुम यहीं बदल सकती हो. मैंने अपने बैग में ब्रा, पैंटी, बेबी डॉल, नाइटी, नाइटी और बिकनी के सैंपल रखे और रोहन से कहा कि आप घर जाओ, में 12 बजे तक घर आ जाउंगी.

मैंने उसे दर्द की वजह से लंड को बाहर निकालने को बोला, वो दो मिनट के लिए रुक गया. ऋतु ऊपर थी और पूजा नीचे!मैंने एक हाथ बढाकर ऋतु की चूत को पूजा के मुँह से हटा दिया और अपना लंड लेटी हुई पूजा के खुले हुए मुंह में डाल दिया. सेक्सी चुदाई 2018कई शादीशुदा मर्द भी अपनी गन्दी नजरों से हमें देखने से बाज नहीं आये.

उसके साथ उसने मुझे एक मैचिंग की ब्लैक ट्रांसपेरेंट ब्रा-पैंटी भी दे दी.

मैं तब तक नहीं हटा, जब तक मेरा माल नहीं गिरा, और जब गिरा तो मैंने उसका सर अपने पूरे ज़ोर से खींच कर अपने पेट से लगा लिया. तो वो रात भर मेरे घर पर रही, हम दोनों रात भर ब्लू-फिल्म्स देखते हुए उन्हीं पोज़िशन्स में खूब सेक्स किया।उस दिन के बाद में से तो मेरी तो जैसे लॉटरी ही लग गई। जब मैं घर जाता हूँ तो मेरे लिए मेरे फ्लैट पर फ्रेश होने के लिए गर्म पानी, चाय और एक मस्त सेक्सी माल अपनी ब्रा-पेंटी में मेरे बेड पर चुदने के लिए तैयार रहती थी।मेरी इस पोर्न स्टोरी के लिए आपके मेल की प्रतीक्षा है।[emailprotected].

तो यही थी टीना की सज़ा, उसकी करनी की सज़ा उसके भाई और माँ को भुगतनी पड़ी. मुझ पर वो कुछ ऐसे हावी हो रही थी जैसे कोई शेरनी अपने शिकार पर होती है. जैसे ही मैंने हाथ मिलाया, उसके गरम हाथों के स्पर्श से मेरा लंड खड़ा हो गया.

आआआ स्सस्सस्स सआआअ अच्छा लग रहा है मेरी चूत चाटो न प्लीज!” मेघा ने उसकी पजामे में हाथ डाल कर लंड पकड़ के सहलाना शुरू कर दिया और उसे नंगा कर के लंड सहलाने लगी.

इस बार मेरा पूरा 7 इंच का लंड बुर को चीरता हुआ जड़ तक अन्दर पहुँच गया. थोड़ी देर बाद मैंने उनको आवाज देकर कहा- दीदी, अपने बिस्तर पर सो जाओ. वो अब खुद ही मेरे मुँह पे अपनी चूत रगड़ रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी.

जापानी सेक्सी भोजपुरीमुझे लगा कि शायद और लड़कों की तरह यह भी मुझ से लड़कियों के नंबर माँगने की कोशिश करेगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं था, उसने मुझे अपनी माँ को चोदने का मौका दिया. मैं बिस्तर के सामने खड़ा हो गया और उसके पैरों को पकड़ कर उसे बिस्तर के किनारे तक खींचा.

2022 के वीडियो सेक्सी

इससे भाभी के स्तन और कड़े होकर उभर गए और निप्पल तो तन कर आमंत्रित करने लगे कि आओ मुझे चूस लो, काट लो …और मैं भला ये निमंत्रण कैसे अस्वीकार सकता था. पूजा- अरे मामू बातों-बातों में मैं आपको एक ज़रूरी बात बताना तो ही भूल गई. मैंने महसूस किया कि बीच-बीच में मेरे लंड का सुपारा चाची की चूत के छेद में फस जा रहा था.

मामा जी बोले- पहले अभी तुम्हारी गांड मारूँगा, फिर हम लोग खाना खाएँगे, उसके बाद तुम्हारी चूत की चुदाई करूँगा. तेल से कुछ देर में आराम मिलता है मगर इसको दूसरा तरीका पता है, बस ये वही कर रही थी. ऋतु बोल उठी- उह्ह राज… तुम्हरा लंड तो बहुत बढ़िया है, इसेमेरी चूत में डालोन!और उसे चूसने लगी!उसके मुँह में लेते ही मेरा लंड ऐसे कड़क हो गया जैसे वियाग्रा की 100 एम जी गोली खा ली हो.

चंगेज़ अपनी दो उँगलियों को नताशा की चूत में डाल कर अन्दर ही अन्दर उन्हें गांड के छेद से बाहर निकलने लगा! रूसी गोरी अब इतनी मतवाली हो चुकी थी कि उसे इस प्रक्रिया में जरा भी परेशानी नहीं हो रही थी, उसने अपने संगीतमय गले से सारे स्टूडियो को रूमानी बना रखा था. मेरी बीवी अपनी भाभी की चूचियाँ बाहर निकाल कर उनको दबा रही थी और चूम रही थी. जैसे ही मैंने दीदी के एक चूचे को पकड़ा, दीदी की एक आवाज आई- सब कुछ तू ही करेगा या मुझे भी कुछ करने देगा?वो दीदी की मादक आवाज थी.

वो आप को रियल सेक्स स्टोरी से पता चल जायेगा और जो भाभी मुझसे चुदती है वही ऐसे बोलती है. अगर आपको मेरी फ्री सेक्स मसाज की कहानी पसंद आई हो तो मुझे ईमेल कीजिएगा.

‘कमाल का चूतिया आदमी है? ऐसे आदमी को तो गोली मार देनी चाहिए!’ मैंने मन ही मन सोचा लेकिन कहा कुछ नहीं और रानी की चूत चाटता रहा.

मगर संजय ने भी कुछ किया तो उसको भी देख लेते हैं।कॉलेज के बाद संजय घर चला गया और हमेशा की तरह लंच के बाद पूजा उसके कमरे में आ गई। पूजा ने ग्रे कलर की जींस की हाफ पेंट और ब्लैक टी-शर्ट पहनी हुई थी। उसके बाल खुले हुए थे. ओके की सेक्सी वीडियोआप सभी अंतर्वासना सेक्स स्टोरीज के पाठकों का धन्यवाद जिन्होंने मेरी सभी कहानियों को सराहा और मुझे मेल किए. सेक्सी वीडियो दैनिकमेरा मतलब है उन्हें ख़ुशी देनी होगी, उसका आप ही कोई आइडिया बताओ ना!टीना- सॉरी यार मेरे समझने में ग़लती हो गई. वो अपनी आँखें फाड़े मेरे लंड को देख रही थी, उसका होंठ थोड़े से खुले हुए थे, चूचे तन कर खड़े हो गए थे, लगता था वो अपनी सुध बुध खो चुकी है.

कहते हुए माँ ने मेरे सुपारे को अपने मुँह में कस लिया बहुत ज़ोर से चूसने लगी.

मैं कल्पना के गोते लगाने लगी और ये भी मेरे साथ सेक्स करते हुए मनोज का सा अहसास कराने लगे. एक खास बात और थी कि जो भी लड़कियाँ अपने टाईम से लेट आ रही थी, उनको तो एन्ट्री मिल जा रही थी, जबकि लड़कों की लेट एन्ट्री बंद थी. आपको मेरी नोन वेज स्टोरी अच्छी लगी? मेरी e-mail id-[emailprotected]पे ज़रूर कमेंट कीजिएगा.

मैंने उसे फिर बेड पर कमर के बल लिटाया और उसकी टांगों को अपने कन्धों पर रख कर चोदने लगा. ऋतु ने उससे पूछा- क्या तुम्हें मेरे भाई का लंड चूसने में मजा आया?पूजा ने कहा- हाँ… बहुत मजा आया. अबकी बार मैंने उसके ऊपर से उतर कर अपने होंठों को उसकी बुर पर रख दिया और जैसे ही जीभ से बुर को चाटा, वो सिहर उठी.

तेज़ाब सेक्सी वीडियो

वो आते ही बेड पर मेरे ऊपर लेट गई और मुझे जोर से बाहों में भींच लिया. ऋतु ने उसे फिर भी नहीं छोड़ा और पूजा के उठते हुए चूतड़ों के साथ वो भी उठ गई और रसपान जारी रखा. उसने मेरे वीर्य का टेस्ट भी मुझे कराया था, जो मैंने लाईफ में पहली बार लिया था.

उसके ऊपर चढ़े चंगेज़ ने उसकी चूत को निशाना बनाते हुए अपना भरकम लंड अन्दर घुसेड़ दिया और सामनी खड़े रुस्लान ने अपने लंड की सीध में आई गांड में! मेरी नताशा इस शानदार चुदाई से निहाल-निहाल हो उठी!पोज़ हालाँकि मुश्किल था, लेकिन लड़के भी तो जवान थे! मेहनत करके ही सही, दोनों ने अपनी कमर सिकोड़ कर, पेट भींच कर आखिर असंभव को संभव बना दिखाया और उलटे पोज़ में ही चूत, और गांड की चुदाई आरंभ कर दी.

मैं उसकी माँ, जिसने उसे जन्म दिया, उसका आख़िरी झटका ना बर्दाश्त कर पाई और जोर से चीख पड़ी- आअहह बेटा, थोड़ा आहिस्ता उफफ्फ़.

मैं छूने या ना छूने की कशमकश में ही था कि तभी चाची सीधी हो गईं और अपनी दोनों टांगों को मोड़ कर ऊपर कर लिया. फिर उसने लंड टच करना शुरू किया तो मैंने भी गांड को पीछे करके उसे इशारा दिया. सेक्सी वीडियोxxxiiगोपाल ने चादर हटा दी और लंड पे हाथ घुमा कर कहा- ठीक है बिना चादर के कर दे.

बाद में मैंने उससे बात की तो उसने कहा कि उसे सेक्स का बहुत शौक है लेकिन वो चुदाई से डरती थी, इसीलिए अभी तक चुदाई नहीं की थी किसी के साथ… बस थोड़ा बहुत मौज मस्ती ही थी ऊपर ऊपर से…अब मैं उसे कभी भी चोदना चाहूँ तो चोद सकता हूँ, वो मेरे लिए हमेशा तैयार रहती है. मैंने उसकी पैंट के ऊपर से उसकी चूत पर हाथ फिराया और फिर पैंट को खोल कर नीचे खिसका दिया. पापा बोले- तू तो जानती है कि अभी तू दूसरी बार ही चुद रही है, तो लंड घुसाते वक्त तो दर्द होगा ही.

मैंने कपड़े पहने और सविता को बस ब्रा पेंटी पहनने दी- जानू आज ऐसे ही चलो. बस ये बात सुमन के दिमाग़ में नहीं आई वो तो वासना की आग में सब कुछ भूल गई थी.

साले मादरचोद तुझको भी तो मजा आ रहा होगा? और ज़ोर से पेल अपने लंड से मुझे, साले भड़ुए हरामी, और ज़ोर से मार, अपना पूरा लंड अपनी माँ की चूत में घुसा कर चोद.

एक दिन नीलम बहुत बेचैन थी क्योंकि उसकी चूत रात को प्यासी रहा जाती थी. दोस्तो, कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि शिवानी भाभी की बहन आरती को मैंने कैसे चोदा. बस थोड़ा सा पीछे का हिस्सा फिर से देख लो ताकि आप लोगों का मजा बराबर बना रहे.

साड़ी उतार कर सेक्सी मैंने भी अपने हाथों में उनके मम्मों को संभाला और एक निप्पल को मुँह में भर लिया. अब यश अपने मेरे निप्पल चूसते हुए मुझे झंझोड़ रहा था, मेरे दूसरे मम्मे पे तड़ातड़ चांटे मार रहा था.

कपड़े धोकर जैसे ही मैं उठा तो दीदी ने मस्ती में मेरे ऊपर पानी डाल दिया. रॉबर्ट ने उसे अपने हाथ में लपक लिया और मेरी पैंटी की खुशबू लेने लगा. ये बात उन दिनों की है, जब मेरी मौसीजी की 25 वीं एनिवरसिरी थी और मुझे घर की डेकोरेशन में मदद के लिए बुलाया था.

ओपन सेक्सी वीडियो फुल चुदाई

वे मुझे बहुत ही वासना भरी नजरों से देख रही थी। मैं उनकी आंखों में देखते देखते उनकी चूत को अपनी जीभ से हल्के हलके से चाट रहा था। जीभ से लिकिंग करते हुए और शहद का स्वाद और उनके चूत के नमकीन पानी के साथ मुझे अच्छा लग रहा था।उनकी चूत पर मैंने और शहद लगाया और अच्छे से चाटना, चूसना चालू किया. उसने अपने मुँह के अंदर ही मेरे लुल्ले की चमड़ी पीछे हटा दी, और उसकी टोपी निकाल कर चूसने लगी. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम नेहा सिंह, मैं खूबसूरत हूँ… स्मार्ट हूँ, सेक्सी हूँ.

अब अँधेरा हॉल हो और दो जवान लोग पास-पास बैठे हों तो कोई पत्थर ही होगा जिसका सेक्स की तरफ ध्यान न जाए बल्कि मैं तो कहूँगी कि सेक्स के अलावा किसी और तरफ ध्यान जाता ही नहीं. गोपाल- अच्छा बोलो क्या चाहिए तुम्हें?मोना- तुम्हें नीतू मिल जाएगी मगर मैं भी किसी और मर्द से चुदवाना चाहती हूँ.

वो धीरे से बिस्तर पर बैठ गए और सुमन की टी-शर्ट को पूरा ऊपर कर दिया.

उच्च रक्तचाप वालों को टैबलेट बिल्कुल नहीं खाना चाहिए और नशे या खाली पेट की स्थिति में भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए. और मुझे किश करने लगे, मैं भी मामा जी का साथ देने लगी, मेरा निचला होंठ पूरी तरह से मामा जी के मुँह के अंदर जा चुका था. पण्डित जी बिस्तर पर निढाल हो गए और मैं उनके ऊपर वैसे ही पांच मिनट पड़ी रही.

मैं हिम्मत करके वॉशरूम का गेट खोला और वॉशरूम से कैटवॉक करती हुई रॉबर्ट की पास पहुंच गयी. पूजा- हाँ… मेरी कई सहेलियाँ हैं जो अपनी चूत चुसवाना चाहती हैं, उन्हें ऐसे मौके मिलते नहीं और वो दुनिया के डर से खुद ही एक दूसरी की चूत चाटती रहती है. मैं चाहता था कि जैसे ही वो झड़ने वाली हो, उससे पहले मैं उसे नंगी कर दूँ.

मैंने भाभी को बिस्तर पर चित्त लेटा दिया और उनके मम्मों को दबाने लगा.

बीएफ ओपन मूवीस: उस रात हम दोनों सेक्स की बाते करते हुए कुछ ज्यादा ही रोमांचित हो गये थे और पहली बार हमने फोन सेक्स किया. संजय ने झूठा नाटक किया, तब उसकी मॉम ने बता दिया कि सब ठीक है उसकी माँ ने उसके पैर पर दर्द की ट्यूब लगा दी है.

मैं कुछ समझी नहीं?टीना- सुन संजय ने तुझे चुत चूस कर मज़ा दिया और तुझे इतना तड़पाया. मेरी तो भाई ने और दोस्तों ने घर पड़ोस और स्कूल में कई बार मारी है, मेरे होम टाउन में लौंडेबाजी बहुत होती है। जो चाचा मेरे साथ लेटे थे, वे भी लौंडेबाजी में पकड़े गए थे, सब चलता है गनीमत है भतीजे को छोड़ दिया। पर आपके साथ गलत हुआ, बदले में आप मेरी मार लो तो मैं समझूंगा आपने माफ किया।मैंने कहा- यार रहने दे मैंने माफ किया. ऐसी चुदाई मैंने पॉर्न स्टार की देखी थी, मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं कभी ऐसे चुदूँगी.

‘मादरचोद, आराम से चोद उस साली से बोल पूरे गाँव से नहीं चुद रही है, जो इतना आवाज कर रही है.

सभी रिश्ते बड़े होते हैं, इनको गंदा मत करना, बाकी ऊपर वाला आपको समझ देता ही है. मेरी चूत में सू सू भरी होने के वजह से मुझे चूत में जोरों से खुजली होने लगी, मुझे सू सू कंट्रोल से बाहर हो रही थी, लग रहा था कभी भी सू सू निकल जाएगी. मुझे रोटे हुए देख सभी सहानुभूति से पूछने लगे- क्या हुआ? रो क्यूँ रहे हो?उनकी बातें सुन कर मुझे समझ आया कि स्मृति ने कुछ नहीं बताया… तो मैंने बात बदलते हुए कहा- दीदी की याद आ रही है.