बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी ब्लू मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

हरियाणा बीएफ हिंदी: बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई, अंकल ने मेरे पैर खोलने की कोशिश की पर खोल नहीं सके, पता नहीं मेरे अन्दर कौन सी ताकत आ गयी थी.

बियफ हिदी

इस कहानी में आपको मेरे पहले सेक्स कहानी बड़ी भाभी के साथ चुदाई की पढ़ने को मिलेगी, इसलिए आप अपने लंड को थाम कर तैयार रहिए. हिंदी एक्स एक्स फिल्मक्योंकि इस खुशबू को चाटते हुए वंश मेरी चूत के अन्दर तक जीभ डाल रहा था जिससे इस दवा का असर मुझे भी होना था.

उसके बॉयफ्रेंड के साथ उसका ब्रेकअप। हवा के झोंके से उसके बाल उसके चेहरे पर आ रहे थे।मैंने बालों को उसके चेहरे के ऊपर से हटाया और उससे पूछा- क्या हुआ?वो मेरी तरफ देख के मुस्कुरायी और बोली- कुछ भी तो नहीं. दूध wali comउन्होंने मुझे गले से लगा लिया और ऐसे किस करने लगीं, जैसे भूखी शेरनी को बहुत दिनों बाद खाना मिला हो.

उसके बाद उन्होंने मेरी चूत में उंगली दे दी और उसे अंदर बाहर करने लगे.बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई: लंड का मजा मिलते ही वो गर्म होकर बोलने लगी- आह मेरी फुद्दी को फाड़ दो और तेज़ और तेज़ करो … आह आह आई आई शी शी शी.

साथ साथ लौड़े को पुचकारती भी जाती थी- हाय मेरे सण्ड मुसण्ड … कितना सख्त है तू … अब लूट अपनी मालकिन की चुसाई का मज़ा.मैं उसके लंड के सुपारे को नीचे कर के उसके लंड को हिला हिला कर मस्ती में चूसने लगी मानो ये बस अभी ख़त्म हो जायेगा.

नेपाली ओपन सेक्सी वीडियो - बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई

मेरी गांड दवा के प्रभाव से सुन्न हो चुकी थी, तो मुझे पता ही नहीं चला.मैंने भी देर करना ठीक नहीं समझा और मौसी को मैंने मेज़ पर बैठने का इशारा किया.

मैंने कुछ देर रुक कर भाभी की गांड में लंड को आगे-पीछे करना शुरू कर दिया. बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई अगली सुबह देर से आँख खुली; सात बज चुके थे और दिन चढ़ आया था तो अब मोर्निंग वाक पर जाने का तो प्रश्न ही नहीं था अतः यूं ही अलसाई सी लेटी रही और मन में उधेड़बुन चलती रही, सोचती रही कि सुरेश अंकल के यहां जाना है; अंकल जी ने मेरे ही कारण आंटी जी को मायके भेजा होगा और अब खुद ऑफिस से छुट्टी लेकर घर पर मेरे इंतज़ार में बैठे होंगे.

फिर अंकल जी ने मेरी चूत का वो बाजा बजाया कि मेरी पोर पोर दुःख गयी और उस रात तीन बार चुद कर मैं तृप्त हो गयी और उनसे लिपट कर नंगी ही सो गयी.

बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई?

मैंने कहा- बस एक बार!वो- जा…इतना ही उसके मुँह से आवाज़ निकली थी कि लंड के सुपारे से उसका मुँह बंद हो गया. निखिल साइन्स में ग्रॅजुयेशन का स्टूडेंट था और रीमा फिज़िक्स में मास्टर्स कर रही थी. नम्रता- अच्छा तुम बताओ अपनी खुशी का राज?उसके हाथ को अपने हाथ में लेते हुए मैं बोला- जान, मेरी खुशी में तुम्हारी खुशी छिपी है.

मैंने मानसी के फोन पर मैसेज छोड़ दिया कि मैं रात 11 बजे के बाद उसके रूम में आऊंगा और वो दरवाजा खुला ही रखे. मैं अकेला क्या क्या करूँ यहाँ?तो मैं बोली- मैं कैसे आऊँ … कपड़े अभी गीले हैं. ”नीतू इधर तुम अपनी जवानी के जलवे बिखेर कर मुझे सता रही हो और उल्टा मुझे ही कह रही हो कि मत सताओ.

मैं डॉली को इस बात के लिए राजी कर सकती थी कि वो मेरे पापा से मिल उन्हें समझा कर इस बात के लिए मना ले कि मेरी पढ़ाई का सारा खर्चा वो मुझे उधार देगी. फिर उसकी चूत की मांसपेशियां सिकुड़ सिकुड़ कर मेरे लंड से वीर्य की एक एक बूँद निचोड़ने लगीं. यहां के लड़के तो दूसरे लड़कों की गांड मारने के लिए तैयार बैठे होते हैं.

अब इस बार बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा, जो है वो भी जाता रहेगा और आज इतना मजा आएगा पूछ मत. कैसे हो दोस्तो, मैं राज अपनी कहानी का अंतिम भाग आपको बताने जा रहा हूं.

अंकल करीब आधे घंटे तक मुझे उसी पोजीशन में चोदते रहे, चुत में वीर्य की सात आठ पिचकारी मारने के बाद ही वो शांत हुए और दस पंद्रह मिनट वो वैसे ही मेरे बदन पर पड़े रहे.

बोले- आह्ह … तेरे ये रसीले होंठ और तेरी ये नशीली आंखें तो बहुत कातिल हैं.

लाल लालिमा के साथ हल्का सफेदीपन उस जगह दिखायी पड़ रहा था, जहां पर इन दिनों मेरे लंड का आना जाना था. मैंने अपनी पैंट से रुमाल निकाल कर उसकी बुर को अच्छी तरह से पौंछते हुए साफ किया और शलाका को अपनी गांड आगे-पीछे करते हुए घपा-घप धक्का देकर चोदने लगा. अचानक चाची ज़ोर से मेरे लंड को दबाती हुई बोलीं- राहुल और तेज़ कर …मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

अब खेल शुरू हो गया है, अब मैं आप लोगों को एक एक करके सभी के कमरे में हुई चुदाई की दास्तान सुनाऊंगा जैसा कि मुझे मेरे दोस्तों ने बाद में बताया था. अनिल की शादी के बाद मालूम पड़ा कि मंजू सगाई से पहले घर से दस दिन लापता रही थी. मैं- पक्का न … मुकर तो नहीं जाओगी न?नम्रता- न मेरी जान … जो तुम कहोगे, वो मैं करूँगी.

कभी वो बेड के किनारे पर लाकर चोदने लगते थे, तो कभी सोफे पर ले जाकर घोड़ी बना देते थे.

नम्रता पलंग पर पेटकर बल लेट गयी और अपनी टांगों को फैला कर दोनों हाथों से कूल्हे को पकड़ कर फैला लिए और बोली- शरद आ जाओ, मैंने गांड खोल दी है. उसकी चुचियाँ इतनी बड़ी थी कि उसकी दोनों लड़कियों की बड़ी चुचियाँ भी उसी की देन थी. इसी बीच मैंने अपने घुटने को, जो मौसी के चूत के ठीक ऊपर था, उनकी चूत पर घिसने लगा.

मगर मैं फिर भी उनके लंड को आगे-पीछे करती रही यही सोच कर कि जीजा जी अभी शायद स्तनपान में व्यस्त हैं. मैं उसके साथ फिर वह खेल खेलने लगा, जिसमें मैं धीरे-धीरे उसकी चूत की तरफ हाथ लेकर जाता और फिर वापस आ जाता. काजल की पैन्टी मेरे लंड पर महसूस होते ही मेरा लंड भी झटके मारने लगा.

फिर रवि बॉस ने मेरी दाईं चूची को पकड़ा और अपने मुंह में तेजी से घुसा लिया और वहशी की तरह चूसने लगा.

कैसे हो दोस्तो? सभी चूतधारी और लंडधारियों को मेरे खड़े हुए लंड का प्रणाम!मैं अंतर्वासना पर कहानियाँ पिछले चार साल से पढ़ रहा हूँ. मगर मैंने उसके चूचों को अपने हाथों में लेकर दबाना शुरू कर दिया और उसकी पीठ को चूमने लगा.

बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई उसके चूचे बहुत ही मुलायम और बड़े बड़े थे, जिसे मैं अपने पूरी हथेली में भर के सहला रहा था. मैंने वसुन्धरा का चेहरा अपने दोनों हाथों में ले लिया और बढ़ कर वसुन्धरा की पेशानी पर एक चुम्बन अंकित कर दिया.

बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई मेरी आह निकल गई, लेकिन उसने मेरी आह की कोई परवाह नहीं की और वो मेरी चूत को लंड से चोदने लगा. मैं भी उसको चोदने लगा, लेकिन यह क्या, फिर वही कहानी, 10-12 धक्के के बाद वो अलग हुई और जमीन पर नागिन की भाँति लेटकर रेंगने लगी और अपनी जीभ को छत पर भर चुके पानी पर चलाने लगी.

हम जब अपने दिल्ली वाले घर में थे तो एक दिन जब मैं नहाने के लिए तौलिया लपेट कर बाथरूम में घुसने ही वाला था कि उसी वक्त जूली घर आ पहुंची.

ब्लू मूवी हॉट

मैं मम्मे मसल रहा था, मुझे ये राधिका लग रही थी, इसलिए मैं एक पल के लिए रुक गया. अभी तक इस सारी प्रतिक्रिया के दौरान वसुन्धरा ने अपनी दोनों आँखें बंद कर रखी थी. मैंने एक बार फिर ढेर सारा थूक उसकी गांड के मुँह में गिरा दिया और अपनी जीभ चला दी.

कुछ देर तक उसकी टांग उठा कर उसकी गांड चोदने के बाद मैंने उसको डॉगी पोज में कर लिया और फिर से उसकी गांड की चुदाई की. तू भी तब तक तैयार हो जा।बस इतना सुनना था कि शुभ्रा झट से उठी और उसने मेरे होंठों से होंठ चिपका लिये और मेरे होंठों को कस-कस कर चूसने लगी और साथ ही मेरे लंड को अपनी हथेली के बीच फंसाकर भींचने लगी. जब से आपके हथियार को हाथ में लेकर देखा है तब से ही नीचे जैसे भट्टी जल रही है.

अपनी साली दिशा का इतना हॉट फिगर देखकर एक बात तो पक्की थी कि आज मैं दिशा को पूरी रात चोदने वाला था.

फिर मैंने उसके तने हुए निप्पलों को अपने हाथ में लेकर कचोटते हुए जोर से मसल दिया और वो सिहर उठी. कुछ ही पल बीते कि मौसी ने मेरा हाथ हटा दिया और मेरी तरफ देख कर फुसफुसा कर बोलीं- यहां ये सब करना ठीक नहीं होगा, कभी भी कोई भी जाग गया, तो प्रॉब्लम हो जाएगी. वो प्यार भरे अंदाज से मेरी चूची को अपने बड़े-बड़े हाथों से सहलाने लगा.

मुझे पूरी रगड़ कर चोद … ये चूत की जलन मुझे बहुत तंग करती है अपना पेचकस मेरी गांड और चूत में घुसा घुसा कर मार दे मुझे!पवन अब और जोश में आकर मुझे चोद रहा था मैं तो अब खुद ही चाह रही थी कि पवन जोर जोर से धक्के लगा कर फाड़ डाले मेरी चूत को। सच में बहुत मस्त चुदाई हो रही थी मेरी। इतना सख्त लंड पहली बार मेरी चूत में था।लंड ने मेरी चूत को अपने हिसाब से खोल दिया था, अब मुझे चुदाई में तकलीफ नहीं हो रही थी. वह बोली- क्यों, तुम यहाँ भी मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलोगे क्या?मैंने गैस को बंद कर दिया और उसके बाद शिखा को नीचे बैठा दिया. इससे पहले कि मैं अपनी नई कहानी शुरू करूँ मैं आप सबसे कहना चाहती हूं कि जो भी मैं यहाँ पर कहानियों के माध्यम से बताती हूँ वह सब मेरे साथ असल जिन्दगी में ही घटित हो चुका होता है.

तुम्हारी ये रांड कर रही है बात … आह य्ये … और चूसो मेरी इस पागल चु…चूत को प्लीईईज … आई लव यू प्रकाश आअज मुझे पागलों की तरह चोद दो ना. मैं डॉली को इस बात के लिए राजी कर सकती थी कि वो मेरे पापा से मिल उन्हें समझा कर इस बात के लिए मना ले कि मेरी पढ़ाई का सारा खर्चा वो मुझे उधार देगी.

दोस्तो, मैं मॉनिक सक्सेना फिर से हाजिर हूँ आपके सामने अपनी सच्ची सेक्स कहानीमौसी की लड़की को पटा के चोदा-1का दूसरा भाग लेकर … जैसा कि मैंने पहली कहानी में बताया मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. ना वो कभी मुझसे पूछती हैं … और ना ही कभी संजना या शीना के सामने यह बातें कहती हैं. वो जानबूझकर अब मेरे आसपास ही पौंछा लगाने लगी और बूब्स एकदम नजदीक से दिखाने लगी.

मैं भले ही मौसी के साथ इतना कुछ कर चुका था, फिर भी मेरे मन में हिचक थी कि कहीं मौसी मेरी किसी हरकत का बुरा न मान जाएं और मेरा बना हुआ काम बिगड़ जाए.

फिर सारा बोली- आमिर, अब दिलिया की बारी!तो दिलिया लेट गयी और मैंने उसके लिप्स को किस करते हुए एक झटके में पूरा लंड अंदर उतार दिया. हालांकि वो मेरी चिल्लपौं सुनकर ठहर गया और फिर अपने आधे घुसे हुए लंड से मेरी चूत को धीरे धीरे चोदने लगा. भैया ने मुझे गांड से बिना लंड निकले धक्का दिया, तो मैं बेड पर लेट गया और भैया मेरे सामने आ गए.

जितनी देर मैं मानसी की बॉडी के साथ खेल रहा था, उसकी आंखें एक बार भी नहीं खुली थीं. बल्कि आप यह समझिये कि इस जिम में लड़के लड़कियों के अलावा सभी आयु वर्ग के लोग आते हैं.

मेरा नाम मन्नत मेहरा है, मेरी उम्र 35 साल की है, फिगर साइज 38-32-40 का है, पर एकदम पटाखा माल जैसी लगती हूँ. इस कहानी का वास्तविकता से कोई लेना-देना नहीं है। एक बार फिर मैं आपसे प्रार्थना करता हूं कि इसे एक कहानी की ही तरह पढ़ें।अब मैं कहानी शुरू करता हूं. जब चाची रुक गई तो मैं नीचे से धक्के लगाने लगा और नीचे से उनकी चूत को चोदते हुए मैं उनकी चूचियों को भी पीने लगा.

హీరోయిన్ బి ఎఫ్ లు

भाभी लंड मसलते हुए बोलीं- तुम्हारा लंड तो बहुत मस्त है, बस इसे थोड़ी सी ट्रेनिंग की जरूरत है.

घोड़ी बनते ही उसकी प्यारी सी चूत उसके चूतड़ों और पिछले पटों के बीच में दिखाई देने लगी. वो बोली- पापा दर्द होगा ना?मैंने उसे समझाया- बेटी, पहली बार जब कुंवारी चूत में लंड जाता है तो थोड़ा दर्द होता ही है. चुदाई ख़त्म करके मैंने उसको गाड़ी की रिपेयर करने को कहा तो वो बोला- गाड़ी तो ठीक है.

मीता- पर आप?मैं बीच में ही बोल पड़ा- देखो इस उम्र में नए नए अनुभवों को लेने का मन करता है. एक पल के लिए तो मैं भी हैरान हो गया था कि अचानक से इस औरत को ऐसे क्या हो गया. ब्लू पिक्चर वीडियो वालीदवाई की ठंडक अन्दर गई … तो मैंने देखा कि भैया ने वही ट्यूब अपने लौड़े पर भी लगा ली है.

ये सुनते ही वो बहुत खुश हो गया और हम दोनों कार में पीछे की सीट पर चले गए. अब तुम थोड़े पानी को गरम कर लो, ताकि तुम्हारी चूत की अच्छे से सफाई कर दूं.

मुझे नहीं पता था कि रंजना ने इससे पहले किसी के साथ संभोग किया था या नहीं, लेकिन मेरा तो यह पहली बार था. मेरा क्या होगा? मेरी चूत और गांड का ख्याल तू नहीं रखेगा तो और कौन रखेगा बे कुत्ते!मैंने बड़े प्यार से उसके दोनों निप्पल पकड़ कर जोर से खींचते हुए बोला- मेरी रंडी … मुझे पता है तेरे दोनों छेद मेरा लौड़ा पूरा अन्दर घुसा लेने के लिए तैयार बैठे हैं. मौसी भी जैसे इसी बात की इंतजार में थीं और मेरा इशारा पाते ही तुरंत मेरी तरफ मुँह करके मेज़ पर बैठ गईं.

वो मेरा कमीज उतारने लगा, तो मैंने उसे रोक कर बेडरूम की ओर इशारा किया. करके आ रही थी।रिया एक हाथ से अपनी चूत को रगड़ रही थी। मगर दोनों में से कोई अभी रुकने को तैयार नहीं था। थोड़ी देर बाद रमेश ने फिर लण्ड निकाला और रिया की चुद कर खुली और फैली गांड को निहारा।उसने उसकी गांड में थूका और फिर से अपनी बेटी की गांड चुदाई करने लगा. मैंने उसको बोला- क्या हुआ?तो वो बोली- मुझे आपकी बोली बहुत अच्छी लगती है.

मैंने एक बार हथेली से उसकी गीली चूत सहलाई और फिर अपने हाथ पर थूक लगा लिया.

मैंने उसे खींच कर चोरी चोरी बस में ले गया और वहां बैठ कर हम दोनों बातें करने लगे. तो मैंने उससे पूछा- तुझे क्या हुआ … इतना मुँह लटकाए क्यों बैठी है … क्या बॉयफ्रेंड की याद आ रही है?इस पर वो बोली- कुछ नहीं यार … बस परेशान हूँ.

कुछ देर बाद लड़की ने अपनी पैंटी भी एक झटके में निकाल दी और बैड पर चौड़ी टांगें करके लेट गई. देख बेटा झूठ मत बोल, तुझे मेरे सिर की कसम है अगर तूने मुझसे कुछ भी छिपाया तो!” अंकल जी बोले और मेरा हाथ पकड़ कर अपने सिर पर रख लिया. मुझे लगा कि मुझे अपनी बेटी की चूत पर थोड़ी चिकनायी लगानी पड़ेगी, तभी उसके बाप का लंड उसकी चूत में जा पायेगा.

दस-एक मिनट बाद वसुन्धरा ट्रे में भाप उड़ाती कॉफ़ी के दो मग ले कर अंदर आयी. अब तक इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि नम्रता और मैं, हम दोनों अपने अपने पार्टनर के साथ रात को चुदाई कर चुके थे. मैं अपनी गांड को भींचकर उनकी उंगली अन्दर जाने से रोकने की पूरी कोशिश कर रही थी, साथ ही उनके लंड को अपने गले के अन्दर तक ले लेती, तो वो मेरी फांकों को काट लेते.

बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई एक लंबा बैंगन मैंने छुपा कर रखा था, उसे भी अपनी फुद्दी में लेकर बहुत चुदाई करी. ज्यादा उल्टियां आने पर सीमा ने नितिन से कहा- इसे लेकर डॉक्टर के यहाँ जाना पड़ेगा.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ सनी लियोन

तभी एक कार आकर मेरे बगल में रुकी और कार में सवार आदमी ने मुझसे पूछा- कहीं जाओगी क्या आप?मैंने ना में अपना सर हिला दिया. बाथरूम से बाहर आकर मेरी बिटिया ने कहा- पापा, आज मैं मम्मी की शादी की साड़ी पहनूंगी और आज रात हम सुहागरात मनाएंगे. वो मुझे चुत देने की कहते हैं और धमकी भी देते हैं कि या तो तू अपनी चुत दे या किसी और की दिलवा दे.

मैं उठा, अपने कपड़े लिये और कमरे में आ गया क्योंकि अब मामा-मामी के भी जागने का टाईम हो रहा था। सुबह जब मैं सोकर उठा तो पता चला कि शुभ्रा की तबियत ठीक नहीं है इसलिये वो पढ़ने भी नहीं जा रही. फिर मैं नारियल का तेल लाया और बहुत सारा तेल अपने लंड और अपनी बेटी की चूत पर लगाया और आराम से लंड को अपनी बेटी की टाइट और कुंवारी चूत पर टिका कर अंदर ठेलने लगा धीरे धीरे!मुश्किल से आधा इंच ही लंड मेरी बेटी की चूत में घुसा होगा, मेरी बेटी चिल्लाने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… पापा इसे बाहर निकालो … बहुत दर्द हो रहा है. बीपी गुजराती पिक्चरफिर वो इसको आगे से आगे अपने दोस्तों से मिलवाएगा, इसकी फ़ोटो भी ले सकते हैं, ब्लैकमेल भी कर सकते हैं और सबसे बुरी बात यह प्रेग्नेंट भी हो सकती है, आप चिंता मत करें, कुछ दिन बाद जब इसकी शादी होगी तो यह से अपने आप छोड़ देगी.

मैं उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा और जब मुझे लगा कि वो भी अब थोड़ा सहन करने लगी है, तो मैंने फिर से एक तेज धक्का दे मारा और अपना आधा लंड उसकी फुद्दी में पेल दिया.

उनकी चूत एकदम गीली हो चुकी थी और चूत के पानी की वजह से झांटें भी भीग चुकी थीं. फिर जब मेरी हिम्मत और बढ़ी, तो मैंने भाभी की चुत में अपनी दो उंगलियां अन्दर कर दीं और उनको अन्दर बाहर करने लगा.

उसकी आँखों में चमक थी।कुछ भी हो मैं उससे प्यार बहुत करता था; मैंने हाथ आगे ले जाकर उसके हाथों को पकड़ा और चूम लिया।तब तक वेटर आ गया आर्डर लेकर। हमने एक दूसरे से बात करते हुए डिनर किया। वो बार-बार डांस फ्लोर की तरफ देख रही थी जहाँ कपल्स डांस कर रहे थे। मैं उठा और रोमांटिक अंदाज में उसका हाथ पकड़ के डांस फ्लोर पर ले गया।हमने थोड़ा डांस किया। वो बहुत खुश थी। फिर हम वहाँ से निकल गए. मैं सोने का नाटक किये हुए थी और ऐसे दिखा रही थी जैसे मुझे उसके छूने का कोई अहसास ही नहीं हो रहा है. हम लोग जब भी फ्री रहते हैं, तो एक दूसरे से अपने अपने बॉयफ्रेंड की बातें करते हैं.

मैंने महसूस किया कि जीजा जी चूत चाटने में पहले के मुकाबले ज्यादा माहिर हो गये थे और उन्होंने दो मिनट के अंदर ही ऐसी तरह से मेरी चूत चाटी कि मेरे मुंह से सीत्कार निकलने लगे.

मैंने बोला- दोनों को एक साथ में चोदूंगा … चुदेगी?वो हंस दी और उसने हामी भर दी. इसलिए मैं फिर से खड़ी हुई और थॉमस का लंड अपने हाथ में लेकर फिर से उसे अपने मुँह में डाल कर चूसने लगी. मैंने दोबारा उसके होंठों को चूसा तो उसने भी बदले में मेरे होंठों को चूस लिया.

नौकर नौकरानी की चुदाईउन्होंने समीज को ऊपर कर दिया और बोले- साली बंध्या, तेरे दूध तो बहुत कड़क हैं और तेरे निप्पल तो बिल्कुल गुलाबी हैं. यह शहर का सबसे अच्छा सिनेमा हॉल था। मैं उसके साथ पहले भी यहाँ आ चुका हूँ। यहाँ भीड़ काफी कम होती है.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ

मेरे बाल साइड में कर के उन्होंने अपने होंठ मेरी गर्दन पर रखे और हाथों से मेरी पीठ को सहलाने लगे. लेकिन मुझे याद है पाँचवें दिन जब मैं सुबह उठा तब मैंने देखा कि दी आज कुछ अलग दिख रही हैं. उसके बाद मैंने उसको पीने के लिए एक गिलास पानी दिया और हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करने लगे.

वो अब थोड़ा कम ऊपर नीचे हो रही थी क्योंकि वो झड़ गयी थीं … लेकिन मैं चालू था. ब्रा उतारते ही उनके मोटे चूचे आजाद हो गये और मैंने उन दूधों को अपने हाथों में कस कर भींच दिया. मैं खुद को रोक ही नहीं पाया और बस मैं भाबी की चूत को चूसने लगा आह विपुल बहन के लौड़े … अब और नहीं चूस … जल्दी से अन्दर डालो न … बस कर साले अब चोद दे.

मैंने अपनी गांड हिलाते हुए उसके लंड को अपनी चूत में आने का इशारा किया।कहानी जारी रहेगी. भैया ने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल लिया और वो अपना माल मेरे चूची पर छोड़ने लगे. दूसरा यह कि एक औरत जो खुलकर मस्त होकर सेक्स अपने प्रेमी से करती है.

जब उसकी चूत के अंदर मेरा पूरा लंड चला गया तब मैंने उसे नीचे लिटा लिया और उसकी एक टाँग को घुटने से मोड़ कर उठाया और फिर मैं अपना घोड़ा उसके सपाट मैदान में पूरी स्पीड से सरपट दौड़ाने लगा।जहां तक मुझे लग रहा था कि मेरे मकान मालिक यानि कि उसके पति का लंड न तो ज्यादा लंबा था और न ही ज्यादा मोटा था. एक बार चोरी करने के बाद अगर पकड़ा न जाए, तो चोर रिलैक्स हो जाता है … वैसे ही मैं रिलैक्स हो गयी थी.

मैंने गौर से देखा तो उसकी चुत से पानी और वीर्य दोनों मिक्स होकर बाहर आ रहे थे.

कुछ देर चूत पर रगड़ने के बाद अनिता मेरे लन्ड को पकड़ कर खुद ही घुसेड़ने लगी. सेक्स ब्लू फिल्मेंअबकी बार के तेज प्रहार में मैंने एक बार में ही पूरा मूसल उसकी चूत में ठांस दिया. देसी सेक्सी वीडियो मूवीमैंने अपनी नौकरानी को कॉल करके बता दिया कि मैं कभी बाजार जा रही हूँ, जब मैं आ जाऊंगी तो तुमको फोन कर दूँगी तब तुम आ जाना. तन्वी एकदम से सीईई… की आवाज के साथ मचल गयी और स्सस्स स्सस्सस्स करके सिसकारियाँ लेने लगी.

मैंने भी उसकी चड्डी के अन्दर हाथ डाल दिया और उसका मूसल लंड सहलाने लगी.

फिर थॉमस धीरे धीरे मेरी जांघों पर आ गया और मेरी जांघों पर किस करने लगा. ‘ये चमड़े का इंजेक्शन नहीं लगा, तो तेरी जान चली जाएगी … अन्दर भी दवाई लगाना जरूरी है … तू जल्दी से घूम जा. शायद सोच रहे होंगे कि अब आएगी, अब आएगी, लेकिन मुझे उनको तरसाने में मजा आ रहा था.

मैंने कहा- मैं तो एक दिन में ही उतार दूंगा इसकी शर्म!सीमा बोली- मैं और प्रियंका मिल कर अभी उतार देती हैं इसकी शर्म. मैंने अपना लंड मुस्कान के मुंह के पास किया तो मुस्कान ने अपने एक हाथ से मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और पीछे उसकी चूत में मोनू ने लंड डाला हुआ था. फिर उसने कटोरी उठायी और फांकों को फैलाकर कटोरी से चूत पर अपना दूध गिराते हुए बोली- लो मेरी जान दूध पिओ.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो नई

बाली रानी ने सारा वीर्य पी लिया था और फिर उसने लौड़े को नीचे से ऊपर तक चाट चाट कर अच्छे से साफ किया. उन्होंने अपना हाथ मेरी ब्रा के अन्दर डाल दिया और मेरे स्तन दबाने लगे. अब रिया भी गांड में लंड के दिये दर्द से निकल कर आनंद की चौखट को चूम रही थी.

आह-आह करते हुए पतिदेव बोले- कैसा लगा मेरा माल?नम्रता- बहुत टेस्टी है.

फिर मैंने खड़े रहकर ही दिशा को टास्क दिया- दिशा, अब तुम भी आ जाओ अपने मन की करने के लिए.

अंडरवियर को भी उसने उतार फेंका और मेरे लण्ड को हाथ में लेकर देखने लगी. उस वक्त मुझे जो मजा आ रहा था उसकी कल्पना करने में भी मेरा लिंग कामरस छोड़ देता है. इंडियन आंटी सेक्सी वीडियोकुछ ही देर में मेरे लंड से पानी निकल गया और हम दोनों किस करने के बाद सो गये.

मैं शुभ्रा से चिपक गया और उचक-उचक कर देखने के चक्कर में लंड उसकी गांड से बार-बार टकरा रहा था. मैंने अपने उतारे हुए गीले कपड़े पॉलिथीन में लपेट कर सूटकेस में रखे, जूते पहने, आकर टेबल पर से अपना कॉफ़ी का मग क़ाबू किया और वसुन्धरा के सामने वाले सोफा-चेयर पर बैठ गया. इस बार मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके कंधों को कस कर पकड़ा और अंधा-धुंध धक्के लगाने लगा.

चूंकि रंजना के साथ संभोग करने का यह मेरा पहला अनुभव था इसलिए लिंग चुसवाने और योनि चाटने का मेरा मन नहीं किया और न ही मुझे उसके आनंद के बारे में कोई ज्ञान था. उसके बाद मैंने साना को नीचे लेटा दिया और उसकी चूत पर लंड को रख कर रगड़ने लगा.

अनिल की शादी के बाद मालूम पड़ा कि मंजू सगाई से पहले घर से दस दिन लापता रही थी.

सीमा जी उसे काम दिलवा दिया और बाकी टाइम वे उसे अपना यार बना कर रखे हुए थी. सच बताऊं तो मैं भी यही चाहती थी कि वो मुझे बेताब कर दे चुदाई के लिए!उसने एक बार फिर मेरे पास आकर मुझे अपनी बांहों में कस लिया और बिस्तर में जा पटका. अगले दिन मैं फिर उस दुकान पर गयी, उस दिन उस दुकान का सिर्फ मालिक ही था.

देसी बिपी मैंने उसको उठा बिस्तर पर ले जाकर पटक दिया और धीरे-धीरे अपना शर्ट पैंट खोल कर बिस्तर में आ कर उसके ऊपर चढ़ गया. उसने मेरे कपड़े उतारे और मेरे लंड को देख कर अपने होंठों को दबा के कातिल स्माइल दी.

”मुझे इतनी गंदी बातें सुनने की आदत नहीं थी, पर मन ही मन मुझे अच्छा लग रहा था. इतनी देर तक तन्वी साइड में अपनी चूत खोले बैठी थी।मैंने हर्षिल को आँखों ही आंखों में तन्वी की तरफ इशारा किया तो हर्षिल ने अपनी दो उँगलियाँ तन्वी की चूत में घुसेड़ दी. मैंने आनन्द के भंवर में खुद को खो जाने दिया और खुद को हीना के हवाले कर दिया.

हिंदी बीएफ फिल्म देसी

दोस्तो, इस कहानी के द्वितीय भागकच्ची कली मसल डाली-2में आपने पढ़ा कि मेरे पड़ोस में रहने वाली कामवाली की जवान कमसिन लड़की को नंगी करके उसके कुंवारे बदन के साथ मैं काफी खेल चुका था लेकिन अभी तक उसकी कुंवारी बुर में लंड घुसाना बाक़ी था. मैंने भी उनकी आंखों में प्यार से झांकते हुए कहा- चाहिए तो बहुत कुछ है लेकिन अभी सिर्फ चाय ले आइए. मैंने कई बार देखा है कि उन्हें जो भी पहली बार देखता है, वो अपना लंड सहलाने लगता है.

मैंने उसके मम्मों को, लगभग हट चुकी ब्रा में से ही चूसना और काटना शुरू कर दिया, जिससे वो और तड़फने लगी थी. वो कभी अपना लंड पूरा बाहर निकालता, फिर एक झटके में पूरा मेरी चूत में अपना लंड घुसा देता.

उस दिन मैं घर से ऑफिस की यूनीफॉर्म सफ़ेद रंग की शर्ट और नीले रंग की पैन्ट पहन के निकली तो बाहर बहुत तेज़ बारिश हो रही थी.

वो बोला- मम्मी तो क्या किया जाए … आप ही बताओ?मैं बोली कि मैं क्या बताऊं … तू ही बता. मेरी पत्नी इस तरह की चुदाई से मजा लेकर बोली- इसलिये मैं तुम्हारे साथ आना चाहती थी. जब कुप्पी पूरी तरह से चूत के अन्दर चली गयी, तो मैंने उसकी टांगों को ढीला करके नीचे की तरफ सरका दिया.

हम दोनों को एक दूसरे के उत्तेजक अंगों से खेलते हुए काफी देर हो चुकी थी. क्या हुआ बॉस? परेशान दिख रहे हैं आप?” मैंने कहा।दीपिका! मेरे सिर में बहुत दर्द है. शादी के 5 दिन बाद ही उसका फ़ोन आया- यार जैसा तुम चोदते हो, ऐसा मेरा पति नहीं चोदता है.

पहली बार मैंने किसी अमेरिकन सेक्सी गर्ल की चुदाई की थी जिसका अनुभव वाकई में निराला था.

बीएफ बीएफ सेक्स चुदाई: तब तक मेरी सहेली ने कहा- तुम शाम तक घर में रहो, मैं बाहर कुछ काम से जा रही हूँ. फोन करने के बाद मैंने सोचा कि जीजा जी जायेंगे लेकिन वो दरवाजे को अंदर से लॉक करके आ गये.

वो मुझसे बोली- आपको जो भी चाहिये, वो आपके बैग में है, खुद ही निकाल लो. मैंने भी उसकी चड्डी के अन्दर हाथ डाल दिया और उसका मूसल लंड सहलाने लगी. मैं कभी-कभी मॉडर्न सलवार सूट पहन कर भैया के घर जाती थी जिसमें से मेरी ब्रा और पेंटी का रंग बिलकुल साफ़ दिखाई देता था.

तू तो ऐसे बात कर रही है जैसे सच में तेरी चूत में मेरा लंड चला गया हो.

महायाराना के आगाज़ में आगे क्या होता है, रणविजय और रीना की चुदाई की मोड़ पर जाकर रोचक होती है, इसके लिए कहानी के अगले भाग का इंतजार करें. जैसे ही वसुन्धरा अपना बैग लेकर कार से उतरी तो मैंने कहा- अच्छा … वसुन्धरा जी!क्या मतलब?”मैं चलता हूँ वसुन्धरा जी! मैंने बहुत दूर जाना है. आपको मेरी ये सच्ची सेक्स कहानी कैसी लगी, कमेन्ट करके जरूर बताइएगा … ताकि मुझे अगली कहानी लिखने की प्रेरणा मिले.