बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी

छवि स्रोत,बीएफ हिंदी लड़की का

तस्वीर का शीर्षक ,

घरेलू xxx: बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी, उसके बाद उसने एक एक करके मेरी बेहन के सारे कपड़े उतार दिए और मेरी बेहन ने नंगी होने के बाद नीचे घास में अपना दुपट्टा बिछा दिया.

बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी में

रोज सवेरे कपड़े सुखाने जब वो छत पर आती, तो मैं उसे काम पिपासु नजरों से ताड़ता रहता. जंगली देहाती बीएफ वीडियोमैंने एक रात उसे चोदते हुए उससे पूछा- राज की याद आ रही है क्या … जो रोजाना चुत चुदवा रही हो.

वो मुझे अपनी पूरी रफ्तार में चोदने लगे और मैं भी अपने दोनों होंठों को अपने दांत से दबा कर अपनी कामुक सिसकारियां रोक कर अंकल से चुदवाने लगी. एक्स एक्स एक्स बंगाली वीडियो बीएफतो मैंने घुटनों पर बैठकर उसकी पेंट उतार कर नीचे कर दिया और पूरी उत्तेजना से उसके लन्ड को चूसने लगी, उसकी गोलियों को मुंह में लेकर चूसने लगी.

जेठजी ने अपने दोनों बड़े बड़े हाथों से मेरे सर को पकड़ कर अपनी कमर से धक्का मारा और उनका लंड मेरे मुँह में 3 इंच अन्दर घुस गया.बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी: ऐसा लग रहा था जैसे कि वो बहुत बड़ी जंग जीतकर एकदम से थक कर सो गयी हो.

मैं अब भी उसके स्तनों को चांटे मार रहा था और चुच्चियों को मसल रहा था.कुल मिला कर अब वो अपनी सेक्स की प्यास पोर्न साइटों, चैटिंग और आखिर में वाइब्रेटर से बुझाने लगी.

सेक्सी वीडियो बीएफ सेक्सी ब्लू - बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी

गांड में मोटा लौड़ा घुसा तो सोनू की काफ़ी तेज़ आवाज़ निकली- आहह … मर गया.साथ में दारू पीने के कारण मेरी और सुहैला की अच्छी दोस्ती हो गयी थी.

अब मेरा वीर्य निकलने वाला था इसलिए मेरे धक्कों की स्पीड बहुत ज्यादा हो गयी थी. बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी जिसमें चादर के अन्दर लड़का लड़की की चुदाई कर रहा था और उसने लड़की के चिल्लाने की आवाज भी कामुक थी.

स्कूल गर्ल सेक्स कहानी के पिछले भागआंटी ने अपनी बेटी की चुदाई के लिए कहामें अब तक आपने पढ़ा था कि रिट्ज मेरे साथ जाने के लिए रेडी हो गई थी और उसकी मम्मी मतलब आकृति आंटी ने मुझे आंख मारते हुए उसे चोदने के ले जाने के लिए इशारा कर दिया था.

बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी?

भाभी की ब्रा में से इतनी मादक खुशबू आ रही थी कि मुझको मालूम ही नहीं पड़ा कि भाभी ऊपर छत पर खड़ी यह सब देख रही हैं. मेरी जितनी भी सहेलियां हैं … उनके घर में भी मुझे उनके पापा या भैया या उनके घर का कोई भी मर्द मुझको अश्लील भाव से ताड़ने का एक भी मौका नहीं छोड़ता था. लकी ने टोका तो सारा बोली- यहाँ नोएडा में दो तीन महीने रह लो, तुम भी साले, बहनचोद, फट गयी जैसे शब्दों के बिना बात नहीं करोगे.

मेरे हाथ ने उनकी चुत को टटोला, तो वो एक काले रंग की पैंटी में मेरे सामने पड़ी थीं. कुछ देर बाद हम दोनों ने फिर से अपनी पोजिशन चेंज की इस बार 69 की पोजीशन में आ गए. मैंने भी टांगें फैला दीं और चाची ने मेरी कच्छे की इलास्टिक हटाकर लंड को बाहर निकाल लिया.

वैसे भी उसके पापा भी इस हालत में नहीं हैं कि उसके कुछ बुरा हो जाने पर संभाल लें. अब मैंने उसको उलटा करके लिटाया तो उसकी पैंटी के फटे छेद में से उसके चूतड़ों की दरार दिख रही थी. राज़ ने मेरी गांड पर क्रीम लगाई और उसने मेरी गांड के छेद में उंगली डालकर उसे खूब चिकनी कर दिया.

मैंने उसकी बात को मान लिया और उसने दूसरे दिन दोपहर में खेत में मिथुन को बुला लिया. सारा ने अपनी चूत की दोनों फांकों को अपने हाथों से और चौड़ा कर दिया ताकि लकी की जीभ और अन्दर तक जा सके.

एक दिन मैं अकेले जा रहा था, तभी वो खेत के पास सड़क पर दिखाई दी … उसके आस-पास कोई नहीं था.

पता नहीं उसको मेरे में क्या पसंद आया, पर उसने सेक्स के साथ साथ प्यार भी किया.

दो दिन तक मैंने सुबह शाम उसकी गांड में बोरोलीन लगाई, तो उसे भी मेरी उंगली से मजा आने लगा था और उसकी गांड लंड के लिए कुलबुलाने लगी थी. शिकायती अंदाज में सारा बोली- आग लगा कर बुझाई क्यों?कमल बोला- चलो कोई बात नहीं, फिर कभी दोबारा बुला लेंगे उसे!उस रात सारा और कमल का वैसा सेक्स हुआ जैसा शादी के शुरूआती दिनों में होता था. मैंने निशा भाभी को उल्टा किया और उनकी पीठ पर किस करते हुए सहलाने लगा.

मैंने एक रात उसे चोदते हुए उससे पूछा- राज की याद आ रही है क्या … जो रोजाना चुत चुदवा रही हो. उस दिन मैंने और मिथुन ने अपने दोनों दोस्तों के साथ मिल करबेहन की चुत का भोसड़ाबना दिया. थोड़ा और प्रयास करते हुए मैंने उँगलियाँ और अंदर डाल दीं जिससे ‘ओह्ह … आह … ओह … ओह ऊफ़्फ़’ के साथ उसने अपने को पंजों के बल खड़ा कर लिया और जोर से मुझसे लिपट गयी।उसके ऊपर होते ही उसे शीशे के साथ दबाकर मैंने फिर उंगली अंदर बाहर करनी शुरू कीं।उंगली की स्पीड बढ़ाते हुए मैं तेजी से उसे अंदर बाहर करने लगा। मैं उसकी चूत में उंगलियां अन्दर बाहर किये जा रहा था.

दो दिन बाद भाभी जी के लड़के के किसी खिलौने में कोई प्रॉब्लम आ गई थी.

मेरी इस हरकत से मायरा ने आंखें बंद कर लीं और अपनी पीठ मेरी बांहों में टिका दीं. मैं पैंटी को सूंघते हुए मैं उनके बाथरूम में मुठ मारने लगा और मेरा वीर्य वहीं ज़मीन पर पड़े उनके कपड़ों पर छूट गया. और मुझे पता है कि हम दोनों ही इस रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहते हैं, पर इस समाज की वजह से हम रुक रहे हैं.

मैंने अन्दर उंगलियों को खोलना शुरू कर दिया, जिससे छेद खुल जाए और बड़ा हो जाए. रमेश बोला- रोहित क्यों ना दोनों को व्हिस्की पिला दी जाए!मैंने पूछा- कैसे?रमेश बोला कि कोल्डड्रिंक में मिला देते हैं. पता नहीं उसने अपनी चूचियों के साथ क्या किया या करवाया था कि समझ ही नहीं आता था.

अब ये तो पक्का था ही कि ये भी सिंधी होगी और सिंधी औरतों की बहुत मोटी मोटी गांड होती है.

कुछ देर बाद बारात के वापस जाने का समय होने लगा था; उन्होंने मुझे कार के पास आने का इशारा किया. आह … अब उसके दूध से होते हुए कोल्डड्रिंक की धार मेरे मुँह में जा रही थी.

बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी इतने में ही ससुर ने अपने पजामा नीचे करके लंड बाहर निकाला और मेरे मुंह में दे दिया. एक दिन की बात है कि शाम के 7 बजे एक बहुत ही रोमांचक क्रिकेट मैच आ रहा था.

बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी उसके बाद उसने वो तेल लगाया और अपनी सलवार खोल ली और साथ में चड्डी भी सरका दी. जब मैंने उससे मेरी पसंदीदा आइसक्रीम वनीला मांगी, तो वो अपनी कुर्सी से उठ कर काउंटर से होती हुई जैसे ही निकल कर डीप-फ्रीजर के जैसे पास पहुंची, तो आंटी की विशालकाय गांड देख कर मैं एकदम से मचल गया.

उसी समय ये सब कुसुम ने सुन लिया था क्योंकि वो रोहन के झड़ने के कुछ पल पहले ही यहां पर उसे तौलिया देने आई थी.

सेल्फ़ी ले ले रे

कल उसका फोन आया था कि वो और हमारे कुछ दोस्त दो दिनों के लिए ऋषिकेश जा रहे हैं. मैं उसे अपना जिस्म देने में सताती हूँ … तभी तो वो मेरे साथ सोने को तड़फता रहता है. मैंने भी फिर मौके पर चौका मार दिया और पूछ लिया- इस बात का मतलब ये लगता है कि तुम अपने पति से संतुष्ट नहीं हो.

हम ऐसे खो गए थे कि हम किस करते हुए एक दूसरे के होंठों को काटने लगे थे. अब मैंने बहुत सारा साबुन उसकी पैंटी पर लगाया और उसकी गांड को साबुन से चिकनी कर दी. मैं काम भरी सिसकारियां ले रहा था- आहा अहा … चूसो और चूसो!पूजा बोली- मज़ा आ रहा है ना आकाश!मैंने बोला- हां यार, बहुत मज़ा आ रहा है … तुम कितनी अच्छी हो, काश मुझे तुम्हारे बारे में पहले क्यों नहीं पता चला.

इधर धीरे धीरे मेरे अरमान ठंडे हो रहे थे कि रानी मेरी तरफ सर उठाकर भी नहीं देखती.

उनकी इस आवाज से पहले तो मेरी सिट्टी-पिट्टी गुम हो गई थी, मैं एकदम से घबरा गया था कि कहीं भाभी जी, मेरी मम्मी से ना बोल दें. लकी ने उसकी खुशामद की- नहीं होगी नाराज सारा, वो बहुत खुले विचारों की है और हम तो केवल पीयेंगे और डांस करेंगे बस. अब जब उनका पूरा लंड मेरी चूत में घुस गया तो मुझे अहसास हुआ कि उनके बड़े बड़े अंडकोष मेरी गांड से सट गए हैं.

इस अर्धनग्न हालत में भाभी को देखकर मेरे लंड का बुरा हाल हो गया और मेरा लंड का चड्डी में तंबू बन गया. अंकल ने मेरी फ्रॉक में से मेरी दोनों चुचियां बाहर निकाल लीं और मेरे दोनों मम्मों और उनके निप्पलों को मींजने लगे. अपने घर पर सत्यम को लाने के बाद मैंने उसको अन्दर बिठाया और उसके लिए पानी लेकर आई.

अचानक शीना को कुछ याद आ गया और वो बोली- नहीं भैया, यह सब नहीं … आपका लौड़ा बहुत बड़ा है और मेरी चुत अभी तक कुंवारी है. यह इंडियन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी मेरी क्लासमेट के साथ पहले सेक्स की है.

आंटी ने केक काटा, मुझे खिलाया और मैंने उनको!उन्होंने एकदम से मुझे अपने सीने से लगा लिया और बोली- थैंक्स राज!मैंने कहा- पार्टी तो बाकी है. बिल्लो बोली- आज पहली बार मेरी ढंग से चुदाई हुई है, क्योंकि इसके पहले मुझे मेरे बॉयफ्रेंड और पति ने ही मुझे चोदा है. अब कुछ देर के बाद मेरे लिंग महाराज का गर्म लावा भी बाहर आने को बेकरार था.

उस दिन गुरुवार है, तो मेरी भी शॉप बन्द रहेगी, तो क्यों ना मैं दो दिनों के लिए मायके चली जाऊं.

सच में अगर मेरी ऐसी होती, तो मैं तो पूरी रात नंगी करके पेलता, साली को कपड़े भी न पहनने देता. मैंने उसी तरह उसे बिठाए हुए उसके एक मम्मे को मुँह में डाला और दूसरे मम्मे को अपने हाथ से दबाने लगा. मैं एक बार दिल्ली से भोपाल आ रहा था किसी काम से!मैंने भोपाल एक्सप्रेस में स्लीपर कोच रिजर्व करवा लिया था।9 बजे मैं स्टेशन आ गया और अपनी सीट S8-43 में आकर लेट गया।1 घंटे के सफर के बाद अचानक से एक 25 साल की विवाहित महिला ने आकर मुझे जगा दिया।वो बोली- यह सीट मेरी है.

उन्होंने मुझे कैसे अपने साथ सेक्स के लिए पटाया? मैंने उन दोनों भाभियों को चोदा. मैंने ओके कह कर उसकी ड्रेसिंग टेबल से तेल उठाया और अच्छे से उसकी मालिश कर दी.

धीरे धीरे वो एक दूसरे की चूत में उंगलियां डाल कर सिसकारियां निकाल रही थीं. मामी के आने के बाद हम लोगों को सोने की दिक्कत तो होनी ही थी तो उसके पहले ही मैंने एक रजाई और गद्दा उनके लिए लिया था. ऐसा लग रहा था जैसे कि वो बहुत बड़ी जंग जीतकर एकदम से थक कर सो गयी हो.

डॉग सेक्सी कुत्ता

और पता ही ना लगा कब उनकी साड़ी उनके बदन से पेटिकोट के साथ मेरे कमरे के फर्श पर थी।मेरे होंठों को चूसने और कपड़ों के ऊपर से मसलने का असर उन पर दिखने लगा था।बारिश के शोर में हरषु की मादक आवाजें आग में घी का काम कर रही थी।मैं एक अलग ही दुनिया में खोने लगा.

उसी समय मैंने अपना दायां हाथ उसके दाहिने तरफ़ के चूतड़ पर धीरे से रख दिया. रमेश और अंजलि 69 की पोजीशन में थे इसलिए रमेश को मेरी बीवी की चुत चाटने में आसानी थी. मैंने रात को अपनी बहन की पैंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा जिससे उसको भी मज़ा आने लगा और वो मादक सिसकारियां निकालने लगीं.

फिर धीरे से मैंने भाभी की टी-शर्ट को ऊपर कर दिया और उन्हें किस करते हुए सामने आ चुकी ब्रा को भी ऊपर को कर दिया. कुछ देर बाद वो बोली- वरुण प्लीज़ जल्दी कुछ करो, अब रहा नहीं जा रहा है. विदेशी बीएफ सेक्सी विदेशीउसने कमरे में रखे फ्रिज से एक कोल्डड्रिंक की कैन निकाली और मेरे मुँह में दूध देते हुए बोली- अब चूसो.

वैसे नासिर जी की बीवी को पहले से दमा की बीमारी थी इसलिए उनका बचना नामुमकिन हो गया था. मैं भी ज्यादा समय खराब नहीं करना चाहता था, तो मैं उसकी गांड को भी साथ साथ दबाने लगा था ताकि वो गर्म हो जाए.

मैंने उससे पूछा- तुमने ब्रा और पैंटी क्यों नहीं पहनी?उसने बताया कि मैं घर से जब चली थी, तभी से तुमसे चुदने के मूड में थी. मैं उसे अपने मुँह पर बिठाए हुए बर्थ पर सीधे लेट गया और वो मेरे ऊपर कमर हिलाने लगी. दस मिनट तक किसिंग की, फिर मैंने यास्मीन से पूछा- तू कब से इस धंधे में है?यास्मीन मेरा लंड हिलाते हुए बोली- दो साल से.

मैं मस्त होने लगी और मेरे मम्मों की चुसाई से मेरी चुत की सनसनी बढ़ने लगी. रोहन अब भी उस अहसास को भूल नहीं पा रहा था, जो उसे अभी थोड़ी देर पहले अपने सीने पर महसूस हुआ था. भाबी ने अपना चिकना हाथ बाथरूम से निकला और साथ में अपने गोरी जांघ भी बाहर कर दी.

हम दोनों चुदाई का मजा ले ही रहे थे कि अचानक से कमरे का दरवाजा खुल गया.

वो बोली- मैं अब हर रोज आपके साथ ऐसे ही कपड़े पहनकर सोऊंगी क्योंकि आप मेरे पति हैं … और मेरा सब कुछ अब आपका है. वे बहुत देर तक मेरी गांड और मेरी चूत को ऐसे ही गीला करते रहे और बहुत देर तक अपनी जीभ को मेरे चूतड़ों पर फिराते रहे.

फिर उसने फैसला कर लिया कि उसे मॉम के पास जाकर माफी मांग लेनी चाहिए और इन बातों को यहीं खत्म कर देना चाहिए. मैं उनकी कसमसाहट को समझ गया और भाभी को किस करते हुए उनके गले को भी किस करने लगा. मुझे पीछे से उसकी नंगी पीठ ने बेचैन कर रखा था, शायद मेरी कुंवारी दुल्हन को अंदाजा नहीं था कि मैं अब उसकी पीठ पर हमला बोलूंगा.

अब आगे हॉट कज़िन की चुदाई कहानी:सुबह जब नींद खुली, तब करीब 10 बजे थे. मैंने उसकी चूत में एक ही बार में अपनी 2 उंगलियां डाल दीं और ज़ोर ज़ोर से अन्दर बाहर करते हुए हिलाने लगा. तभी अचानक शीना बोली- भैया लगता है बिस्तर में चूहा आ गया, मुझे वो मेरे पीछे चुभ रहा है.

बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी ये अनीषा मैडम ऐसा क्या काम करती हैं?वो आदमी बोला- यार तुम इस बिल्डिंग के सिक्योरिटी गार्ड हो, तुम्हें पता नहीं है कि क्या काम होता है?मैं बोला- अरे यार मुझे नहीं पता है, अगर पता होता तो मैं तुमसे क्यों पूछता. मैं बस मुस्कुरा कर रह गया और मैंने बताया कि ये मेरी एक परिचित की आंटी की बेटी है.

हिंदी सेक्सी ब्लू सेक्सी वीडियो

फिर 10-15 मिनट बाद उनका फिर से चुत चोदने का मन करने लगा लेकिन मैं तैयार नहीं थी. अब मैं वहीं पर रुक गया क्योंकि लंड मोटा और लम्बा था और आरिफा की चूत बहुत टाइट थी. लकी ने कमल को बेडरूम में चलने का इशारा किया तो दोनों ने सारा को गोदी में उठा लिया और बेड पर ले गए.

आपा मुस्कुरा कर बोली- बहुत बड़ा लंडधारी हो गया है!मैं बहन के मुँह से लंड सुनकर गर्मा गया और बोला- आप एक मौका तो दो … जीजाजी को याद नहीं करोगी. इससे मेरे दिमाग में एक बात पक्की होने लगी थी कि इसकी चुत में भी आग लगी है. सेक्सी बीएफ बिहारी देहातीफिर मैं उसको लेकर बेड पर धच्च से गिर गया और उसके होंठों का चुम्मा लेता रहा.

मुझे चॉकलेट खाना पसंद तो थी लेकिन मैं बसंत से लेते समय कुछ सकुचा जाती थी.

इस बीच जेठजी मेरे दोनों स्तनों को अपने दोनों हाथों में लेकर हल्के हल्के सहला रहे थे. मैंने अपने शौहर से लड़ाई की और कहा कि या तो एक अलग घर ले या मुझे तलाक दे दे.

मेरी साइकल को सुरेश ने पेड़ से बांधकर मुझे अपने साथ कार की पिछली सीट पर बैठा लिया. मैंने अपने पैरों से उसके पैर चौड़े कर दिए और हाथों से उसके हाथ पकड़ लिए. मैंने उसका ब्लाउज और ब्रा अलग किये तो उसके पके आम मेरे हाथ में आ गये और मैं चूसने लगा.

अब हम दोनों चुदाई में एकदम खुल गए थे और एक दूसरे को गाली देते हुए चुदाई का मजा लेते थे.

वो लगातार मुझे देख रहे थे और मैं खुश हो रही थी कि मेरा प्लान काम कर रहा है. मैंने दूसरी कैन निकाली और उसकी चुत पर कोल्डड्रिंक टपका कर चुत चूसने का इशारा किया. नाना-नानी अपने कमरे में बगल में ही सो रहे थे।मीनू आनंद में आह्ह … आह्ह … स्स … करके मस्त सिसकार रही थी और मामाजी के बालों में हाथ फिरा रही थी.

न्यू फुल एचडी बीएफफिर …सभी दोस्तो को मेरा हैलो, नमस्ते, प्रणाम।मेरा नाम प्रतीक है। मैं अन्तर्वासना का पुराना पाठक हूं. मगर जब आज खुद बकरा कटने को मिमिया रहा हो तो जल्दबाजी की क्या जरूरत थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी 2017

मैंने भी उन्हें सहयोग देने के लिए अपनी पीठ उठा दी ताकि जेठजी मुझे जोर से जकड़ सकें. रमेश मेरी चूत चाटने लगा और बोला- बड़ी मस्त गर्म चूत है साली … आज तक इतनी गर्म चूत नहीं चाटी. भाभी के नंगे मम्मों को देखते ही मैं उन पर टूट पड़ा और पागलों की तरह मम्मों को काटने लगा.

फिर कुछ देर बाद हमारा मूड बना, तो हम दोनों ने एक दूसरे के होंठों को चूमने से शुरूआत की. वैसे मैं यह चाहता था कि एक बार इसको लौड़ा भी चुसवा दूँ, लेकिन सब कुछ मैं एक ही रात में नहीं करना चाहता था इसलिए लौड़ा चुसवाने का काम बाद के दिनों के लिए छोड़ दिया. मैंने उनको रोकना चाहा … लेकिन उन्होंने मुझे बेड की तरफ पीछे को धक्का दे दिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगे.

मैं अपने होंठों को उसके क्लीवेज के पास ले आया और उसे चाटना शुरू कर दिया. तो हिम्मत जुटा कर मैंने उसकी पैंट पूरी निकालने का फैसला लिया और उसके पैरों के पास बैठ कर उसकी पैंट दोनों तरफ से पकड़ कर धीरे धीरे घुटनों तक कर ली. ऐसा लग रहा था कि अब वो अपनी जीभ से मेरी चूत को चोदने लगा हो।कुछ देर चूत चाटने के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गई और वह मेरा चूत का सारा पानी पी गया और मेरी चूत चाट चाट कर साफ़ कर दिया।अब सागर खड़ा हुआ और अपना खड़ा लन्ड मेरी चूत में डालने की कोशिश करने लगा.

अब आगे कुकोल्ड सेक्स कहानी:फिर मैंने भाभी से पूछा कि आपने जब मेरा लंड अन्दर लिया तो क्यों रो रही थीं. रोमी ने नीचे से गांड उठा कर अपना लंड सरिता भाभी की गांड में डाल दिया.

तकरीबन बीस मिनट बाद मेरी चूत किसी फटे कपड़े की तरह कांप रही थी, जब सत्यम ने अपना गर्म लोहे जैसा लौड़ा मेरी भट्टी जैसे चूत से बाहर निकाला.

भाभी जी ने आंख नचाते हुए पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- मैं खुद को शाबाशी दे रहा था. तब्बू का सेक्सी बीएफमैंने आंटी को थोड़ी हिम्मत दी, तो वो मेरे गले से लग गईं और मुझे कसके जकड़ लिया. देहाती बीएफ चाहिए सेक्सीइस बात के बाद से भाभी मुझसे कुछ ज्यादा ही बात करने लगी थीं और वो अब मुझे गाहे बगाहे जब तब फोन पर मैसेज करने लगी थीं. अन्दर एक हुक के ऊपर चंचल की ब्रा और पैंटी का सैट सूखने के लिए टंगा था.

जब दीदी की बात पर सुनील ने कहा कि उसने अभी तक अपनी बहन की गांड नहीं मारी है, तो दीदी ने सुनील से कहा- ठीक है अब तुम मेरी गांड मारो और मेरे भाई से अपनी बहन की गांड की सील खुलवा लो.

अब उन्होंने अपने सामने ही मुझसे दीदी को चोदने के लिए कहा।मैंने कपड़े उतार दिए और मैं नेहा दीदी के पास गया. उन्हें अभी स्टेशन पहुंचे दस मिनट ही हुए थे कि रोहन की ट्रेन आती हुई दिखी. रानी ऐसा कहकर जैसे ही मुड़ी, तो गीले फर्श पर एकदम से उसका पैर स्लिप हो गया.

मामाजी और मीनू दोनों ही बारी बारी से ऊपर आ गये और अपनी अपनी जगह पर लेट गये. कुछ मिनट बाद जब हम दोनों के होंठ अलग हुए, तो दोनों के दिल जोर से धड़क रहे थे. चुदाई के बाद उसने अपनी इच्छा जाहिर की कि इसे बेड पर एक बार मुझे मेरी मम्मी के साथ तुम्हारे लंड से चुदना है.

औरत और घोड़े का सेक्सी

मैं वीडियो देख कर सकते में आ गई और उसकी तरफ दयनीय भाव से देखने लगी. सत्यम से चुदवा कर मुझे दो बेटियां भी पैदा हुईं, जिनको मेरे हस्बैंड अपनी बेटियां समझते थे कि ये उनकी औलादें हैं, लेकिन ये तो मुझे मालूम था कि इन दोनों बेटियों के पापा सत्यम हैं. अब मधु को डर लग रहा था कि कोई देख ना ले … पर मेरे कड़क लंड को छूने की मस्ती ने मधु को बिंदास बना दिया था.

कुसुम को मज़ा आने लगा और उसकी कमर नीचे से उठ कर लंड में धक्के लगाने लगी.

तो वो पहले मेरे कंधे पर सर रखे थी, अब मेरी तरफ करवट लेकर मुझ से चिपक गई.

अब मैं उसकी टांगों के बीच में अपना मुँह लेकर उसकी चूत को किस करने लगा. कुसुम को पता था कि ताक झांक के चक्कर में रोहन का पढ़ाई में बिल्कुल भी में नहीं है, इसलिए उसने रोहन को खुद से अलग कर दिया था. लेडीस कुत्ता के बीएफऔर वो फिर हम दोनों को बिना बोले ऑफिस चले गए।मैं और नेहा दीदी बेड पर नंगे ही लेटे थे। अब अधिकतर रात को जीजा जी पीने के बाद मेरे साथ में नेहा की ठुकाई देखकर मज़े करते थे।नेहा दीदी अब हर जगह नंगी घूमा करती थी। जीजा जी और मैं टीवी देख रहे होते थे तो भी नेहा दीदी नंगी आकर सोफे पर बैठ जाती थी.

मैंने पूरा रस सुहैला के मुँह में झाड़ दिया और सुहैला भी मेरा पूरा लावा पी गयी. तभी प्रिया का पैर मेरे चेहरे को लगा।वो बोली- राज, तुम वहां मत लेटो पैरों की साइड … अच्छा नहीं लगता।फिर मैं सीधा होकर उसके साथ आ गया. उस दिन मेरी सुनील और सुरीली से बात हुई, तो उन्होंने बताया कि उन लोगों ने उसी रात को फिर से चुदाई की थी.

उसकी गर्म सांसें मेरे चेहरे पर मानो बसंती बयार का सा अहसास दे रही थी. मेरी हॉट गर्ल Xxx कहानी पर अपनी राय जरूर दें, जिससे मुझे आगे सेक्स कहानी लिखने की प्रेरणा मिल सके.

सब लोग छत पर सोते थे तो एक रात …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम मोहन है, मैं एक शादीशुदा युवक हूँ.

मैंने अपने जीवन में न जाने कितनी ही हसीन चूतों का मजा लिया था परन्तु नैना जैसी कशिश मैंने कभी पहले महसूस नहीं की थी।ऐसा लग रहा था जैसे कि उसका चेहरा मेरे सामने हो और मुझसे कह रहा हो- आ जाओ अनुराग, मुझे अपनी बांहों में ले लो। जब से तुम्हें देखा है, मेरा रोम रोम छटपटा रहा है. उसने कतर नज़र से मेरी ओर देखा और बोली- मार ही डालोगे क्या? तड़पाना बंद करो और अपने लंड को मेरी मुनिया रानी में डाल दो. जितना अंदर हो सके मैं उतना अंदर तक ले जाता और चूत के अंदर उसकी छत पर रगड़ता।उसकी रगड़ से वो और जोर से आवाज करती- आम्म्म … म्म्मम!तभी मैंने अपनी दूसरी उंगली भी साथ ही चूत में डाल दी.

कुत्ते और लेडीस की सेक्सी बीएफ कुछ देर बाद वो मेरी चूचियों को देखते हुए बोला- दीदी मैंने गेम डाउनलोड पर लगा दिया है, लेकिन आपका नेट बहुत स्लो है … तो इसको अभी डाउनलोड होने में एक घंटा लगेगा. मैं- तो फिर तूने अपने कॉलेज में क्यों किया?वो बोली- अब तुम इस बात को भूल जाओ.

मेरा तो मन किया कि वहीं जोर से पकड़ कर भींच लूं लेकिन ऐसा हो नहीं सकता था।फिर हम लोग सीधे अपने रूम पर आये और थोड़ा आराम किया. ये सीन देख कर अब मैंने बिल्कुल भी देरी ना करते हुए, उसकी चूत को दबा कर किस कर लिया. कुछ समय बाद अनिकेत करवट बदलने लगा, तो मुझे अन्वेषी भाभी के पीछे लेटना पड़ा और रुकना पड़ा.

आदिवासी सेक्सी पिक्चर देना

मैंने उसे देखते हुए कहा- तुम भी चिंता मत करो … मैं भी मम्मी को सब बता दूंगा. मैं उसके दूध चूसता हुआ उसकी चुत को भोसड़ा बनाने के जैसे झटके मार रहा था. वो आह आह करके आवाज निकालने लगी और कहने लगी- जीजू, थोड़ा धीरे दबाओ यार … दर्द होता है.

इस बात से मुझे शक हुआ कि साला ऐसा क्या हुआ कि ये इतना सेक्स कर रही है. मैं बहन की चुत के ऊपर फूले से मटर के दाने को खींच कर चूस रहा था और जीभ को चुत के अन्दर तक डालकर चाट रहा था.

कुछ देर बाद मैंने एक उंगली पर थूक लगाकर धीरे से उसकी गांड के छेद में उंगली डाल दी.

समीक्षा के पास मेरा नंबर था, अगर उसे कोई प्रॉब्लम या परेशानी होती थी, तो वह मुझे कॉल कर देती थी. जेठजी ने अपने दोनों बड़े बड़े हाथों से मेरे सर को पकड़ कर अपनी कमर से धक्का मारा और उनका लंड मेरे मुँह में 3 इंच अन्दर घुस गया. विजय ने सरिता भाभी से कहा- मेरी जान चुदाई शुरू करें?सरिता ने भी मादक आवाज से कहा- हां मेरे राजा, आओ चोदो मुझे … मेरी इस चूत को फाट दो, इसका भोसड़ा बना दो … आह इसे अपने लंड से खूब चोदो.

उसने अपने पति से कहा- रमेश, ऐसे क्या देख रहे हो यार, वो रोहित का माल है. उस रात को सारा और लकी ने कमल के पीछे से किस भी की लेकिन सारा प्यासी रह गयी क्योंकि उसको लकी के साथ ज्यादा कुछ करने का मौका नहीं मिला. उसने मेरे दोनों चूचों को थाम लिया और बहुत जोर जोर से मुझे चोदने लगा.

आते जाते समय हम दोनों जब रोज ही एक दूसरे को देखने लगे, तो मैं उसे देखा करता था.

बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी: उसके बाद मैंने थोड़ा और जोर लगाया और एक ही बार में पूरा लन्ड चूत में उतार दिया. मैंने दूसरे दिन एक बजे उनको अपने आने का मैसेज कर दिया और तय वक़्त पर चला गया.

वो बोली- बहुत दर्द हो रहा है विहान, मेरी कमर का पहले ही इलाज चल रहा था और आज ये झटका और लग गया ऊपर से।मैं बोला- मैं डॉक्टर के पास ले चलूँ आपको मौसी?वो बोली- नहीं, डॉक्टर के पास तो तेरे मौसा ले जायेंगे. मैंने पूछा- मैडम मजा आ रहा है?वो झुक कर मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- आज सच में मुझे मेरे मन का लंड चुत में मिला है. आंटी ने मुझसे पूछा- ह्म्म्म … क्या चाहिए?मैंने ध्यान ही नहीं दिया बस उनके तने हुए चूचों को ही देखे जा रहा था.

जब मेरा एडमिशन हो गया तो राज़ ने मुझे गर्ल्स हॉस्टल के एक रूम में शिफ्ट कर दिया क्योंकि हम लोग एक ही रूम में नहीं रह सकते थे.

उसमें से उसकी फूली हुई गोल गांड ऐसी लग रही थी कि जैसे किसी ने पीछे कपड़ा ठूंस कर गांड फुला दी हो. उसे संभालने वाला अब कोई नहीं रहा था, इसी लिए पापा उसे अपने साथ ले आए थे. कुछ देर बाद शेखर भी उठ गया और नित्य क्रिया से फारिग होकर वो तैयार हुआ और बाहर ब्रेकफास्ट के लिए डाइनिंग टेबल पर आ गया.