तमिल बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,अंग्रेजी सेक्सी ओपन पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत लंड की ब्लू पिक्चर: तमिल बीएफ दिखाओ, मैंने कहा- इसमें तेरी शक्ल, तेरा रूम सब झूठ है? इसमें सब दिख रहा है.

सुहागरात सेक्सी मूवीस

मैंने धीरे से ज़िप खोली, अंडरवियर नीचे की और अपना लंड बाहर निकाल लिया. बड़ी सेक्सी चुदाईमम्मी ने ससुर को दूर किया और बोलीं- आप अभी कुछ देर के बाद कमरे में आइएगा और सुहागरात मनाईएगा.

जैसे उसने कुछ सुन ही नहीं हो, पप्पू अपना हाथ और रगड़ के पीछे से उससे चिपकते हुए बोला- यार सबको क्या इसी बस से आना था! भाभी सॉरी… आपको तकलीफ हो रही है पर क्या करूँ? फिर हल्की आवाज़ में रूपा के कान के पास आके पप्पू बोला- अरे भीड़ है तो ये सब चलता है. गर्ल्स फुल सेक्सी वीडियोतुम औरतें ये ऊंची ऐड़ी की सैंडल पहन कर खूब अच्छा करती हो… इससे तुम्हारी गांड और उभर जाती है.

मामी मुझसे उम्र में 10 या 12 साल तो बड़ी होंगी ही, लेकिन दोस्तो, वो आज भी इतनी जवान लगती हैं.तमिल बीएफ दिखाओ: पर मेरी माँ नहीं मानी, शायद वो मामा मामी के बारे में कुछ नहीं बहुत कुछ जानती थीं कि कुछ भी कर लो मामा को रात में कम से कम एक बारमामी की चूत चुदाईचाहिए ही चाहिए.

फिर उन्होंने मुझे छोड़ा करीब 2 मिनट बाद मैंने नोटिस किया कि मेरे गांड पर एक लड़की कोई जैल लगा रही है.साली की गांड थी तो बहुत मस्त लेकिन अभी गांड मारनी नहीं थी, लिहाजा मैंने विनीता की गांड को चूम-चाट कर छोड़ दिया और उसे सीधे लिटा दिया.

बीपी सेक्सी पति - तमिल बीएफ दिखाओ

पप्पू ने सोचा कि कुछ किया नहीं तो भी ये औरत नाराज़गी दिखा रही है तो कुछ करके इसकी नाराज़गी लेना अच्छा है.सन 2015 में दीपावली से 2 दिन पहले यानि के धनतेरस के दिन मैं अपने घर के मेन गेट को पानी से धोकर साफ़ रहा था.

एक बार सुगंधा को अस्पताल में दिखाने हेतु शनिवार को छुट्टी ले रखी थी. तमिल बीएफ दिखाओ उसके सी-कप चूचे बिल्कुल खड़े, सख़्त और चूसने के लिए एकदम तैयार दिख रहे थे.

वह अजनबी शिशिर के दर्द की परवाह ना करते हुए उसकी गांड में उंगली करने लगा.

तमिल बीएफ दिखाओ?

अनिता- हा हा हा हा आपका तो आज पोपट बन गया हा हा हा… आपका केएलपीडी हो गया है. सिर्फ चाचा के बारे में… नेट में ब्लू फिल्म देखती तो चाचा का वो लंड आंखों के सामने आ जाता और मेरी चूत गीली हो जाती।मेरी बुआ की लड़की की शादी में पूरा परिवार जा रहा था, दो गाड़ियां थी दोनों बड़ी थी, एक में सब लोग आ गये. मैं जानता हूँ कि उनसे चुदवाने में किसी भी औरत को बिल्कुल भी मजा नहीं आएगा.

कुछ देर में मैं झड़ चुकी थी मगर वो दोनों जालिम मेरा भाई और मेरा यार लगे हुए थे धक्के पर धक्के मारने में!वो दोनों भी झड़ने वाले थे, मैंने कहा- कमीनो, तुम दोनों अपने लंड का माल मेरी चूत में ही छोड़ देना… मुझे तुम दोनों के बच्चे की माँ बनना है. रात को बाहर क्यों आऊं?मैंने उसी पल अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. जब भी आंटी झुकती थीं, तो उनकी कुर्ती के गले से उनके मम्मे दिखते थे क्योंकि उसका गला काफी गहरा था.

इधर मैं भी एक ही झटके में अपने भाई का लंड अपने मुख में लेकर चूसने लगी. वो धीरे से मुझे चुम्बन करने लगी और अपने होंठों को मेरे होंठों के साथ सटा कर उसने एक लम्बा चुम्बन किया. मेरी हिंदी चोदाई स्टोरी की पिछली कड़ी में आपने पढ़ा कि कैसे मैं अपनी सोती हुई चाची को चोद रहा था.

आज पता लगा था जब मेरी शादी हुई होगी, उस वक्त मोनिका पर क्या गुजरी होगी. प्लीज मुझे जरूर बताइएगा और अपने कमेंट्स जरूर लिखें ताकि मैं आपको अपने और गांव वालीबुआ की लड़की की चुदाईकी कहानी सुना सकूँ.

माँ लंड के सुपारे की चमड़ी को आगे-पीछे जैसा करने लगीं, तो मुझे दर्द होने लगा.

घर पर भी मैं माही के अंगों को किसी ना किसी बहाने से छूने की कोशिश करता था.

मेरी जान!फिर मैंने अपना लंड आधा डाला तो उसकी चीख निकल गई और बोली- नहीं करना. मैंने ‘सरदार जी पापड़ वाले’ के यहाँ से अपना सामान खरीद लिया और फिर हम लोग ‘गड़बड़ झाला’ गए, जहाँ उन तीनों ने काफी सारी खरीदारी की. करीब 1 घंटे के बाद गाड़ी में सब सो गए, सिर्फ इरफान और चाची बातें कर रहे थे.

मैंने झुक के देखा और चूम लिया चूत को… चूत में से मेरे वीर्य और उसके रज का मिश्रण धीरे धीरे चू रहा था जिसे बहूरानी ने पास रखी नैपकिन से पौंछ दिया. मोना को सोच में पड़ी देख नीतू ने उससे पूछा- क्या हुआ दीदी?मोना- कुछ नहीं हुआ. रीना रसोई तैयार करने लगी, मैं बुआ के साथ था, अब गोली के असर से बुआ का सिर भारी होने लगा इसलिए शाम से ही वे अपने कमरे में लेटी रहीं.

अल्का बोली- माया हिम्मत रखो सब लड़कियों को, सब महिलाओं को यहाँ तक तुम्हारी और मेरी दादी नानी तक का यह समय आया था.

मैंने कहा- शर्माओ मत जान, ये तुम्हारा ही है, देखो इधर तुम्हें बुला रहा है. चुम्बन पर भी भाभी को कोई ऐतराज नहीं हुआ तो मैं उनके सर पर फिर होंठों पर और फिर उनके होंठ चूसने लगा. मैं जब दूध पी रहा था तो उसने मेरे निक्कर के ऊपर से लंड से खेलना शुरू कर दिया.

मैंने मौसी से कहा- आप इतने दिन से मुझे नीचे से चोदने को कह रही थीं. राहुल को अजीब महसूस हो रहा था, अनजाने में ही वो अंजना के स्तनों को काफी जोर जोर से दबा रहा था… उसका सारा बदन अकड़ा जा रहा था जिस का बदला वो अंजना के मम्मों से ले रहा था. ” भेजा, तुरंत एक स्माइली के साथ रिप्लाई आया- बड़ी जल्दी याद कर लिया.

आरुषि की चूत लन्ड की गर्मी से पिघलती जा रही थी, उसके बदन फिर गर्म हो रहा था, दर्द और शर्म की जगह काम सुख ने ली- आह… पापा बड़ा… मजा आ रहा है… ऐसे ही… आह… मुझे आपका लन्ड चाहिए… आह…दिनेश- देख आया न मजा… ऐसे ही नाटक कर रही थी.

मैं पीछे से उसकी ब्रा खोलने की कोशिश करने लगा पर कई बार कोशिश करने के बाद भी नहीं खोल पाया. टीना ने संजय को फ़ोन कर दिया कि 2 और मेहमान आ गए हैं तो खाना ज़्यादा लाना और बियर भी ज़्यादा लाना.

तमिल बीएफ दिखाओ अब मैं भी चरम सीमा पर था तो मैंने भाभी को पूछा तो उन्होंने बताया कि वो माला डी खाती हैं, कोई डर नहीं है, अन्दर ही झड़ने को कहा. जैसे ही मैंने उसका समीज़ निकालने के लिए अपने हाथ रखे, उसने अपने हाथ मेरे हाथों पर रख दिए.

तमिल बीएफ दिखाओ जब दरवाजा खोला तो सामने एक लड़का और लड़की खड़े थे, जो दिखने में बहुत अच्छे घर के लग रहे थे. उस की सहेली पायल घर आई और उस के बारे में पूछने लगी।जब मैंने उसे उस के जाने के बारे में बताया और उस को कहा- अगर तुम चाहो.

तुम इसमें भी नहीं पहचान पाईं अब दीपक तू ही कोई आइडिया लगा यार जिससे ये पहचान सके.

सेक्सी फिल्म फुल हद

मैंने उसकी और देखा और स्माइल करने लगा और वो भी जान गई थी कि मैंने उसे पहचान लिया है. मैं मौसी को देखता ही रह गया, वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में ही थीं और मेरी तरफ़ किसी छिनाल की तरह देख रही थीं. आखिरी में मैंने उनको मेरी गांड में लंड डालने को कहा, तब 10 मिनट के बाद उनका पानी निकला.

लगभग 10 मिनट तक एक दूसरे के होंठ चूसते रहे, उसके बाद मैं सूट के ऊपर से ही उसके मम्मे दबाने लगा. मॉम ने दरवाजा उड़का रहने दियाथोड़ी देर बाद मॉम ने आवाज दी- बेटा गर्म पानी नहीं है, तो गर्म पानी ले आ, मेरी कमर में दर्द है. ह्हह…” की आवाजे निकालने हुए चीखने लगी।मुझे अब डर लगने लगा था कि ममता जी की आवाज कहीं घर वाले सुन ना लें इसलिये मैंने आगे बढ़ कर ममता जी के होंठों को अपने मुँह में भर कर बन्द कर दिया मगर वो अब भी उऊँऊँ… ह्हहँ… ह्हह… उऊँऊ ह्हहँ… उऊँऊँ ह्हह… हुँअ.

फिर थोड़ी देर में वो जैसे ही बाहर निकली तो एक पल के लिए मेरी नजर से उसकी नजर फिर से मिल गई.

वो बोला- देख अंश, यार जो तू सोच रहा है, मैं चाह कर भी वो तुझे नहीं दे सकता… मुझे लड़कियों में इंटरेस्ट है। और वैसे भी प्यार व्यार तो मैं किसी लड़की से भी नहीं करता! तू तो फिर भी लड़का है. अपनी अपनी बीयर की बोतलें गटक कर तीनों यार देश दुनिया से बेखबर एक साथ मामी पर टूट पड़े. मैंने भी चुत में गीली हुई दोनों उंगलियां अपने मुँह में डाल लीं और चूसने लगा.

उधर हॉस्पिटल के डॉक्टर ने पुलिस कम्प्लेंट कर दी कि किसी लड़की के साथ कुछ ग़लत हुआ है तो थोड़ी देर में वहां पुलिस भी पहुँच गई और संजय के पापा ने खुद उसको पुलिस के हवाले कर दिया. फिर मैंने उस की चड्डी को उन्नत विशाल गांड से नीचे सरकाना शुरू किया. तो नेहा सोनिया को बोली- साली, तू बड़ी आज हम जीजा साली से जल रही है, आजा तू भी दखल दे ले इधर.

दोस्तो, मेरा नाम सैम है (बदला हुआ नाम), मैं उदयपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ. इसके बाद वो साबुन लगा कर अपने शरीर को रगड़ने लगीं और अपने पैर फ़ैला कर पेटीकोट को जाँघों से ऊपर उठा कर साबुन मलने लगीं.

अब मैं उसे लेकर एक ऐसे रूम में आ गया जहां किसी के आने का अन्देशा नहीं था. अब जब इनके लंड को तेरी कुँवारी बुर की जरूरत है तो नखरे करती है? अब चलो और जिस लंड से तुम पैदा हुई हो, उस लंड का पानी अपनी बुर में ले लो. मेरे मुँह से केवल गूं गूं की आवाज ही निकल पाई और उसका पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में समा गया.

इनकी बातें चल रही थीं, तभी वहां गुलशन जी आ गए और तीनों को देखकर खुश हो गए.

जब मेरी मम्मी 10 दिनों के लिए चली गई थीं तो पड़ोस वाली आंटी से खाना बना कर देने के लिए कह गई थीं ताकि मुझे कोई परेशानी न हो. वो उठी और मेरी तरफ अपनी मोटी सी गांड करके कुतिया वाले आसन में बैठ गयी। एक आदमी पीछे से आया और अपना थूक से भीगा हुआ लंड उसकी चूत में डाल दिया।दूसरी औरत भी उठी और उसके साथ ही उसी आसन मैं बैठ गयी और दूसरे आदमी ने अपना मोटा काला लंड उसकी गांड में पेल दिया। दोनों ने एक दूसरे को देखा और ऊपर हाथ करके हाई फाइव किया और एक आदमी दूसरे से बोला- यार, तू सही कह रहा था. मैंने सोचा ये सही कह रही है, इसकी इज़्ज़त मेरी इज़्ज़त है, मैंने एक मिनट बाद सोच कर कहा- मैं आपकी बात से सहमत हूँ.

उसको भी धीरे धीरे पता चलने लगा कि उसकी गाण्ड पर कुछ टकरा रहा है।एक और धक्का आया और वो फिर पीछे की ओर आई. बहू रानी भी मस्ता गयी अच्छे से और कमर उठा उठा के हिचकोले खाती हुई लंड का मज़ा लेने लगीं.

बहूरानी मेरे लंड से लय ताल मिलाती हुई चुदाई में दक्ष, पारंगत कामिनी की तरह अपनी चूत उठा उठा के मुझे देने लगी. उन्हें बड़ा अफ़सोस हो रहा था उस पर की, कैसे उसने अपनी भानजी को अपनी हवस का शिकार बनाया. उन्होंने बोला- चलो आज हमारे साथ रुक जाओ, कल घर चले जाना और अब प्लीज़ कोई बकवास मत करना वर्ना बहुत बुरा होगा.

सोनिया नाम की लड़कियां कैसी होती है

मैं बहूरानी का बदन चूमते हुए नीचे की तरफ उतरा, होंठ चूसने के बाद गला दोनों दूध पेट नाभि और जांघें; इन सबको चूमते चाटते मैं उसकी गुलाबी जांघों पर ठहर गया.

अब मैं चाहता था कि ये पीड़ा जल्द खत्म की जाए, जिसका इलाज था लिंग का योनि में पूरा प्रवेश. मुझे ऊपर मम्मों को मसलने और नीचे रेनू आंटी की चूत से रगड़ खाता मेरा लंड बहुत मजा दे रहा था. थोड़ी देर वो उसी अवस्था में रहे और सुमन की चुत के ऊपर हाथ घुमाते रहे, जब उसका दर्द कम हुआ तो वो 2″ लंड को ही चुत में अन्दर बाहर करने लगे.

अब तक उसका डर सामान्य हो चुका था, वो उठा और अपने बड़े भाई से बोला- भैया?रमेश कामुक सिसकारियां भरते हुए बोला- ह. इसके बाद मैंने दीदी को मंगलसूत्र पहनाया और फिर आखिर में हमने फेरे लिया. सेक्सी वीडियो हीरोइन लोग कासाढ़े तीन से ऊपर ही बजने वाले होंगे पूरी रात ही निकल गयी जागते जागते” बहू रानी बोली.

मैं टीचर को चूमता रहा और फिर मैंने अपना एक हाथ उनकी कमर में डाल लिया और उनका फेस अपनी तरफ़ घुमा कर उनके होंठों को चूमने लगा. मैंने उसकी चुत को छुआ, वो मना कर सकती थी, गुस्सा भी हो सकती थी मगर उसने तो मज़े लिए और वो झड़ी भी.

ऋतु- मुझे पता है क्यों मन नहीं है, सब मेरी वजह से है न!मैं- नहीं बाबा. अब मैंने उसके होठों से यौवन का रस चूसते हुए अपने दायें हाथ से उसके गाउन को उसके जांघों तक सरका दिया और उसके केले के तने जैसी चिकनी और रेशमी जांघों को सहलाना शुरू कर दिया. अभी सिर्फ मेरे लंड का टोप ही उस की गांड में गया था मगर वो चिल्ला दिया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने लंड को फंसे रहने दिया और जल्दी जल्दी उसके लंड को सहलाने लगा.

मेरी वाइफ की और भी ज्यादा उससे दोस्ती हो गई क्योंकि बेबी की वजह से उसे दूध मंगवाना पड़ता था और वो था भी हंसमुख और साफ़ सुथरा. अब शायद मुझमें और मामा में एक जंग छिड़ी हुई थी कि कौन मामी को अच्छे से निचोड़ेगा. रूपा के मम्मों से खेलते हुए पप्पू ने रूपा का हाथ पकड़ के अपने लौड़े पे लाकर रखा.

पूजा को भी मजा आ रहा था, वो ज़्यादा देर ना रुक सकी और झड़ कर कहने लगी- अह… प्लीज निकाल लो.

ताकि पूरी रात लंड में जोश बना रहे और हम सब इन तीनों की चुत और गांड को मार-मार के लाल कर दें. अब तक लंड चुसाई का मजा लेता हुआ उस्मान भी ज्यादा टिक ना सका और उसके लौड़े ने लावा उगल दिया.

अब मामी इतनी गर्म हो रही थीं कि उन्होंने मेरे लंड को तुरंत अपने मुँह में ले लिया. हां जी, लेकिन वो ऐसे नहीं मरेगा, उसे किसी मोटे डंडे से दबा कर मारिए. जैसे ही मैंने उसे चूमना शुरू किया, उसने मेरे लंड को पैन्ट के ऊपर से पकड़ लिया और मसलने लगी.

शिवानी ने बताया- एक बार उसने अपनी सोसाइटी के बाहर जंगल में एक घोड़े को अपने दो फुट लम्बे बड़े लंड से घोड़ी को चोदते हुए देखा था, तब से मन था कि कोई घोड़े जैसे लंड से मुझे भी घोड़ी बना कर चोदे. फ्लॉरा- वाउ सो नाइस… सोया हुआ इतना बड़ा है, जब पूरा खड़ा होगा तो कितना बड़ा हो जाएगा और मोटा भी कितना है. उन्होंने मेरे से पूछा- तुम पागल हो क्या?तो मैंने कहा- हाँ सारिका, मैं पागल हूँ.

तमिल बीएफ दिखाओ लेकिन उन्होंने मुझे लात से मारना शुरू कर दिया।उन्होंने बोला- बता सब कुछ सही सही. चाचाजी ने भी पोजीशन को समझते हुए चुत के अन्दर ही जीभ को लपलपाना शुरू कर दिया, जिससे मेरा मजा दुगना हो गया ‘आआह ईईई आआआआह आआआह.

इंग्लिश सेक्स ओपन

लंड चूसते चूसते उसने मुझे बताया कि उसके पति का लंड इतना बड़ा नहीं है और वो ज्यादा देर तक खड़ा भी नहीं रहता है. यह हिंदी ऑडियो सेक्स स्टोरी सुना रही है दिल्ली सेक्स चैट गर्ल लावण्या जो असल में अलाहाबाद उत्तर प्रदेश की रहने वाली है लेकिन अपनी पढ़ाई के लिए वो राजस्थान के वनस्थली में गर्ल हॉस्टल में रह रही है. चूंकि मेरी कद काठी ठीक ठाक रही थी, इसलिए लंड कुछ देर बाद अपना आकार लेने लगा था, जिसे देखकर अर्चना बार बार प्रसन्न हो रही थी.

फिर ‘1… 2… 3…’ बोल कर जैसे ही विजय ने अपना लंड जोर से डाला, लंड मेरी चूत को चीरता हुआ पूरा घुस गया. साथ ही एक हाथ से उसकी चुत सहलाता और कभी उंगली को उसकी चुत में डाल देता. कार्टून बीपी सेक्सी पिक्चरमैंने थोड़ा नाटक करते हुए कहा- नहीं, मैं आज लेट हो गया, आपको जल्दी है तो मैं भी चलूँगा.

मैं आपकी शॉर्ट्स और बनियान पहनूँ?नीता के पास जा कर पप्पू बोला- हाँ, क्यों? कोई प्राब्लम है तुझे? या तुझे इस टावल में ही रहना है नीता?नीता ज़रा सोच कर बोली- पर अंकल… वो मैं… ठीक है दे दो अपनी शॉर्ट्स और बनियान मुझे.

मैंने पूछा- अभी तक सोई नहीं?मेरी बहन ने कहा- मम्मी की चीख सुनकर नींद खुल गई. मैं विनीता के पीछे आ गया और उसे अपनी जांघों को खोल कर उसके बीच में लगभग अपनी गोद खींच लिया.

अब वे मेरा लंड सहलाने लगीं और मेरे मुँह को अपनी चूचियों में दबाने लगीं. अब मैं प्लान बनाने लगा था कि शादी हो न हो, उसके साथ अब सुहागरात जरूर मनाऊंगा. समीर मेरे लंड की मालिश करने लगा, जिससे हम दोनों की सांसें गर्म होने लगीं.

उस की योनि बहुत ही टाईट थी और मैं अपना लंड ज़ोर से आगे पीछे करके उसे चोद रहा था.

वहां हम लोग नक्की झील के सामने एक ऐसे होटल में रुके जो एक घर में ही बनाया गया था. अभी तेरी चूत तो यूं ही टाइट रहेगी सालों साल तक और किसी कुंवारी लड़की की कमसिन चूत की तरह मज़ा देती रहेगी मुझे. इसलिए मैं हर दूसरे तीसरे दिन मुट्ठ मारता रहता था। मुझे एक चीज़ बहुत परेशान करती थी.

सेक्सी पिक्चर सुहागरात की चुदाईअभी आधे घण्टे में मेरे दोस्त भी आते होंगे, आज हमारे पास पूरे 8 घण्टे हैं… खूब एन्जॉय करेंगे. तब तक सुमन ने मॉंटी को अच्छी तरह काबू में कर लिया था और वो बाहर चला गया था.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी सेक्सी

’मैं भी गाली देकर बोला- हाँ ले रंडी तेरी आज तो चुत फाड़ कर ही दम लूँगा. लेकिन सब नाकाम रहा।अंत मैंने अपने आपको ये समझाया कि कल तो चूत देखेगा न. शीतल मेरे पास सरक कर आई और बोली- अभि क्या किसी लड़की को चाहते हो?मैंने कहा- नहीं.

पर मेरी चूत मारी नहीं थी, आज आप पहले व्यक्ति हो जिसने मेरी चूत का सील तोड़ा, देखो खून निकल आया होगा!एडल्ट स्टोरी जारी रहेगी. तभी उसने मेरी जैकेट के नीचे से हाथ डाल कर मेरी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाल दिया और उसके ठन्डे ठन्डे हाथ मेरे बदन पे रेंगने लगे. मैंने अपनी बहन को कभी ग़लत नज़रों से नहीं देखा था, लेकिन वहाँ का नज़ारा देख कर मैं हैरान हो गया.

क्या मजा आ रहा था…आह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… मेरी चूत पूरी गीली हो चुकी थी. मामी ने तो शरमा कर मुँह छुपा लिया था, उनके दोनों गाल सुर्ख गुलाबी हो गए थे. सभी लोगों ने एक साथ डिनर किया, मामा जी ड्यूटी पर चे गए और मामी मुझे अपने साथ कमरे में लेकर बन्द हो गईं.

मैंने फटाफट बेल्ट खींचा और हुक और चैन खोल कर उसकी जींस को नीचे सरका दिया. ममता भी पीछे पीछे बाथरूम आ गई, मैं देख चुका था कि वह ब्लू फिल्म देख रही थी.

मेरी चुत लंड सेचुदने को बेकरारथी, पर वह अपने लंड को चुत के चारों तरफ़ रगड़ने लगा.

धीरे धीरे में पूरा लंड चूसने की कोशिश करने लगा, लेकिन पूरा लंड मुँह में नहीं आ पा रहा था. फ्री सेक्सी गर्लआख़िर में बहुत आगे-पीछे करने के बाद मेरे लंड से सिर्फ़ गर्म चिपचिपा सा पानी ही निकला, जिसे मौसी पी गईं और बोलीं- तुम्हें जवान होने में अभी समय लगेगा. हिंदी बीपी वीडियो सेक्सी वीडियोमैं बाथरूम चली गयी पिचकारी को लेकर… कमोड पर बैठ कर भी कोशिश करने लगी पर पिचकारी सीधी नहीं हो पा रही थी. पर एक बात बताओ क्या आप मुझे प्यार करती हो? मैं आपके लिए कुछ भी करने को तैयार हूँ.

उस दिन पापा घर पर ही थे, वे काम पर नहीं गए थे क्योंकि चाचा 15-20 दिनों के लिए बाहर गए थे.

मैं तैयार हो गया और अगले ही सप्ताह जा कर एक शुरूआती डील पक्की कर ली और इसी बहाने उसका भरपूर चक्षुचोदन किया लेकिन मेरा टॉरगेट तो असली चोदन कार्य करना था लेकिन विनीता जैसी अकड़ू महिला को चुदाई के लिए तैयार करना एक चुनौती भरा कार्य था और ये काम थोड़ा धैर्य वाला था. मॉम ने कमीज ऊपर की, मैंने नाड़ा खोला और दोबारा चादर मॉम की टांगों पर डाल दी. रात को जब हम बेड पर सेक्स के मूड में थे, तब मैंने सागर से कहा कि मेरे दिमाग़ में एक प्लान है, अगर वो सही से होता है तो फ्लैट सिर्फ हमारा हो सकता है.

जैसे ही मैंने उसकी चूत को छुआ, तो देखा कि उत्तेजना की वजह से उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो चुकी है. दिन भर के गहरी थकान की वजह से उसने बिना कोई हरकत किये अपनी आँखें हल्की सी खोलीं और सामने का नज़ारा देखा तो सन्न रह गया. मुझे पता नहीं लगा कि कब उसने लंड मुँह में डाल लिया और बच्चों की तरह चूसने लगी.

राजस्थानी वीडियो सेक्सी फिल्म

लेकिन इनकी किस्मत शायद इतने से खुश नहीं थी, वो कुछ और ही करवाना चाहती थी. मैंने उसकी चुत को छुआ, वो मना कर सकती थी, गुस्सा भी हो सकती थी मगर उसने तो मज़े लिए और वो झड़ी भी. उम्र 28 साल, लंड की लम्बाई साढ़े छह इंच और मोटाई तीन इंच है, जो मेरे ख्याल से एकदम परफेक्ट लंड साइज़ है.

मैं तो उसकी मानसिक स्थिति से वाकिफ था लिहाजा मैंने हिम्मत करके उसका चेहरा पकड़ लिया और पूछा- क्या बात है? कोई परेशानी है?वो फिर चुप रही तो मैंने पूछा- मैं ना जाँऊ आज?उसने आँखों से संकेत किया कि हाँ मत जाओ.

अन्दर से मयूरी (24 साल) आई जो कि बड़े भाई रमेश की पत्नी थी और दोनों को देख कर मुस्कुराते हुए बोली- आ गए दोनों?छोटा भाई सुरेश बोला- हाँ भाभी!मयूरी- तुम दोनों काफी थके हुए लग रहे हो?सुरेश- हाँ भाभी, आज का दिन काफी हेक्टिक रहा.

चलो देखते हैं कौन कितनी देर बिना पलकें झपकाये देखता रहेगा, जो जीता वही सिकंदर. मुझे उन लड़कों में से कोई पसंद नहीं है… सब के सब मवाली हैं साले पूरा दिन कालेज के बाहर सिगरेट या फिर गुटखा खाते रहते हैं. सेक्सी वीडियो 2020 21 काहर लड़की या औरत का एक सेन्सिटिव पॉइंट होता है, वैसे ही सुमन का पॉइंट उसकी गांड का छेद था.

फ्लॉरा- अच्छा जीजाजी, ये बात है आपको तो अपनी दो साली नज़र आ रही हैं तो आप क्यों शरमाओगे. मैं भी जोश में आ कर अपने चूतड़ उठाने की कोशिश कर रही थी लेकिन जय ने मुझे इतनी बुरी तरह से जकड़ रखा था कि मैं चाह कर भी अपने चूतड़ नहीं उठा पा रही थी. दोस्तो, टीना जब यहाँ आई थी जस्ट उसी समय फ्लॉरा भी उसके पीछे पीछे यहाँ आ गई थी.

फिर मैं मम्मी के साथ अगले दिन पास के गांव जो हमारे गांव से करीब 7-8 किमी दूर था. मैंने उसके मुँह में पेशाब करना स्टार्ट की, तो कहती- ऐसे नहीं 69 में मजा लेंगे.

अब वो कहने लगीं- इतने बड़े लंड से मैं पहली बार चुदाई करवाने जा रही हूँ.

सुमन की चुत रिसने लगी थी, इस बात का अहसास गुलशन जी को तब हुआ, जब दोबारा उनकी उंगली चुत से टकराई. मेरी हालत अब खराब होने लगी पर मुझे लगा कि कुछ हो न जाए इसलिए बोली- अंकल, ये सब ठीक नहीं, आप लोग बहुत बड़े हैं, मैं आप लोगों से बहुत छोटी हूं, प्लीज छोड़ दीजिए।अंकल ने कहा- तुम बेवजह परेशान हो रही हो आरती, शायद तुम्हें डर लग रहा है कि हम चार लोग हैं, तुम्हारा डर अभी दूर करता हूं और अपना बड़ा सा स्मार्टफोन निकाला और तुरंत उसमें कुछ चालू किया और मुझे दिखाने लगे. अब आगे:कुछ पल के बाद हम दोनों एक दूसरे से अलग हो गये, जब अलग हुए तो मेरी नज़र मामा के लंड पर गयी जो एकदम सुकड़ गया था काले खजूर के जैसे.

सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स कंडोम कुछ पल उसने मुँह बनाया और फिर लंड को जीभ से चाटना शुरू किया तो काफी देर तक तक चाटती रही. जो उस्मान ने खींची थींकैमरा माया को देते हुए अमित बोला तो माया ने झट से वो फोटो देखी और हंसते हुए उसने फोटो डिलीट कर दी.

घर पर आने के बाद दीदी और माँ दोनों मेरे लंड की मालिश करतीं और चुम्मा लेतीं. मौसी शायद मेरे दिल की बात भांप गई थीं या मेरा खड़ा बड़ा लंड देख कर उनकी चूत में भी खलबली हो गई थी. उस के साइज़ का मुझे कोई अनुमान नहीं था, परंतु वह मस्त माल थी, एक दम मलाई कोफ्ता.

पंजाबी इंग्लिश सेक्सी वीडियो

देख मैं तेरे बड़े भाई जैसा हूँ, तू बता मुझे दिल खोल कर वो क्या बोलते हैं तुझे, बिल्कुल शरमा मत मेरी नीता. एक दिन मैं और जीजू एक-दूसरे से मजाक कर रहे थे और उस दिन जीजू ने मुझसे बोला- पिंकी तुम बहुत सेक्सी हो. वैसे तूने बताया नहीं कि कितने लड़कों ने तेरा यह जिस्म सहलाया है और तुझे उन लड़कों को अपनी ब्रा का साइज़ बताने में क्यों शरम आती है?नीता को पहली बार मर्द के सामने अपना नंगा सीना दिखाने और निप्पल को मर्द से मसलवाने में मज़ा आने लगा था.

अब मैंने उसकी कमीज को ऊपर कर दिया और निकालने लगा, मैंने उससे कहा- साथ दो मेरा. मामी ने मेरे करीब आकर जो ब्रा पेंटी लाई थीं, उन्हें दिखाते हुए बोलीं- देख ज़रा.

किसी ने मुझे थोड़ा आगे खींचा और झट सेमेरी गांड में अपना लंड डाल दिया।तभी रिया चिल्लाई- निकी, साले हरामी है रे ये लोग.

मैं सोचनी लगी कि कैसे पिचकारी की नुकीली हिस्से को टेबल से ओर ऊपर करूं, मैं टेबल से उतर कर पिचकारी लेकर बाथरूम चली गयी और पिचकारी में थोड़ी पानी भर लाई जिससे पिस्टन बाहर निकलने से पिचकारी की लंबाई 4-5 इंच और बढ़ गयी. मैंने शिशिर से मैगजीन मांगी तो उसने अपने पास से एक छोटी सी बुक निकाल कर दे दी. मैंने तुरंत पानी पी लिया… क्योंकि आप समझ सकते हो, उस वक़्त मेरी हालत क्या हो रही होगी.

मेरी चूत में बार बार तेज खुजली सी मचती और वो आपके लंड की आस लगाये पानी छोड़ने लगती, थोड़ी देर मैंने अपनी उंगली भी चलाई इसमें पर अच्छा नहीं लगा. वो उसको ध्यान से देख रहा था और बीच बीच में काजल की चूत को छेड़ रहा था. आज सुमन रंडी बन चुकी है क्योंकि उसने अपने बाप से चुदवा लिया, अब रंडी बनने में बचा क्या है.

मामी की चुदाई की यह आप बीती मेरे जीवन की एक ऐसी घटना है, जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता हूँ.

तमिल बीएफ दिखाओ: ’ की आवाज़ निकाली और मैंने अपना पूरा लंड आंटी की चुत के अन्दर डाल दिया. उसने फिर से 2 धक्के लगाए और अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में घुसा दिया.

आज उसकी ये तमन्ना पूरी हो रही थी लेकिन ये पहली बार था इसलिए उसे भारी दर्द भी हो रहा था. फिर यह प्रोग्राम कई दिनों तक चला, जब भी हमें मौका मिलता हम चुत चुदाई का खेल खेल लेते. थोड़ी देर बाद बस ने ब्रेक मारी तो उसने मेरी गांड पर अपना लंड टच करा दिया.

मैं तैयार हो गया और अगले ही सप्ताह जा कर एक शुरूआती डील पक्की कर ली और इसी बहाने उसका भरपूर चक्षुचोदन किया लेकिन मेरा टॉरगेट तो असली चोदन कार्य करना था लेकिन विनीता जैसी अकड़ू महिला को चुदाई के लिए तैयार करना एक चुनौती भरा कार्य था और ये काम थोड़ा धैर्य वाला था.

उसने नीचे की ओर इशारा किया, मैं समझ गया और मैंने उसे खड़े होने को कहा. थोड़ी देर के बाद फिर एक धक्का और लगा और मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया. आज की घटना से मेरा नजरिया बदल गया था, अब मैं हर वक़्त प्लान बनाने लगा कि कैसे उनकी चूत और गांड से खेला जाए.