बताओ बीएफ

छवि स्रोत,ईरान का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सीvidio: बताओ बीएफ, मैं- तुमने मुझे जगाया क्यों नहीं?ज़ारा- पहले चाय पी लें?मैं- ठीक है ले आओ!मैं अंदर चला गया, कपड़े बदले.

सेक्सी वीडियो पिक्चर मूवी

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ लिया और धीरे से मेरे ऊपर के होंठ को अपने मुँह में भर लिया. सेकसी गावपर लिखने का कभी समय ही नहीं मिला, आज मन बना कर अपनी कहानी लिख रहा हूँ.

मगर मुझे मालूम था कि ये इसका पहली बार का सेक्स है इसलिए इसे ऐसा लग रहा है. इंडियन मॉम सेक्सऊई माँ, याल्ला … मर गई, मेरी गांड फट गई … तुम्हारा लण्ड है या मूसल!”जाने क्या क्या चिल्ला रही थी लेकिन मेरा लण्ड रूका नहीं और उसकी गांड में वीर्यपात करने के बाद ही निकला.

बातों बातों में मैने उसे पूछा कि वो सिंगल है या नहीं?तो उसने बताया कि उसका पहले तो बॉयफ्रेंड था लेकिन दो महीने पहले उनका ब्रेकअप हो गया है तो वो फिलहाल सिंगल है.बताओ बीएफ: मैं उसकी प्यासी चूत में पूरा अन्दर तक लंड पेल कर उसकी मदमस्त चूचियों को भी चूस रहा था और वो भी अपनी चूचियां चुसवाते हुए लंड का मजा ले रही थी.

क्योंकि ज्यादातर लड़के तो उस भँवरे की तरह होते है जो फूल पर बैठकर रस चूसा और उड़ गये किसी दूसरे फूल की तलाश में!हाँ तो दोस्तो … रोहित धक्के पर धक्के लगा रहा था.डिनर पर राजीव ने आइडिया दिया कि अगले वीकेंड पर सब लोग दो दिनों के लिए बाहर चलते हैं … मस्ती होगी.

सेक्सी वीडियो गांव का - बताओ बीएफ

सामने से उसकी लाल रंग अंगिया में कैद उसके दोनों कबूतरों की कसमसाहट साफ़ दिखाई देने लगी थी.काफी देर तक ऐसा चलते रहने से मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और डॉक्टर का वीर्य मेरे पेट के ऊपर आ गया था.

चिराग उठ कर मॉम के हाथ से चाय लेकर पीते हुए बोला- वो भूतनी उठी या नहीं?संगीता- बेटा वो अब बड़ी हो गई है. बताओ बीएफ मैंने रिया से कहा कि वो नवीन को मैसेज करे और उससे कहे कि वो उससे मिलने उसके अपार्टमेंट में आये.

मैं चुदाई के समय अपने दोस्तों की बात करता और बताता कि रमेश का 7 इंच का मस्त मोटा नुकीला लंड है.

बताओ बीएफ?

वो मेरी तरफ अपनी चूचियों को दबाए जा रही थी और गर्म आहें निकाल रही थी. वो उस रंडी के मम्मों को बड़े ही बेदर्दी से जोर जोर से मसलने लगा और अपने लंड को औरत के हाथ में देकर बोला- अब मज़ा आ रहा है रंडी की जनी साली दोनों हाथों में लंड लेकर मुठ मार बहन की लौड़ी. जितना मैं संजना को धक्के दे रहा था, उतनी ही तेज़ी से हाथ से शीना की चूत में उंगली कर रहा था.

थोड़ी देर बाद रंगोली और रोहित दोनों ऊपर आए, तो मैंने रोहित को किसी बहाने से कमरे में भेज दिया. उधर इमरान हाशमी अब मल्लिका शेरावत के ऊपर लेट गया था और उसके होंठों को चूमने की कोशिश कर रहा था मगर मल्लिका शेरावत अब भी उसे ‘नहीं … ये ठीक‌ नहीं है … नहीं. मगर जैसे ही मैंने उन्हें पकड़ा स्वाति भाभी ने तुरन्त अपना एक हाथ मेरे हाथ पर रख दिया.

इस समय वो एक हाथ से ड्राइवर का लंड हिला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे आंडों को सहला रही थी. मेरे शब्द उसे और वहशी बना रहे थे, उसका भी शरीर अकड़ने लगा, उसके पैरों के कंपनों को मैं महसूस कर रही थी. कमरे मैं जाते ही पहले बाथरूम जाकर अपनी झांटें साफ़ की और रगड़ कर मुठ मारी.

उसने मुझे प्रिंसिपल की टेबल पर फिर से झुका कर अपने लंड पर काफी क्रीम लगा ली. मैंने अपनी उंगली से उसकी गांड में क्रीम डाल दी और आगे पीछे करने लगा.

दोस्तो, आपको मेरा नंगा सेक्स कैसा लगा? आप मुझे जरूर प्रतिक्रिया के रूप में या मेरी ईमेल आईडी पर जरूर बताना.

वो तो खुशी से फूल कर कुप्पा बन गई और सागर के हर धक्के का जवाब नीचे से उछल कर देने लगी थी.

इसके लिए मैं शायरा के रसीले होंठों का रस पी रहा था ताकि अपने लंड को एक्सट्रा एनर्जी दे सकूँ. फिर भाभी के सामने मैं अपनी जीएफ से आधे घंटे तक खुल कर बात करता रहा. उस दिन मैं अपनी मोबाइल चार्जिंग में लगाकर आ गया था और मैं मामी की ब्रा की खुशबू ले रहा था.

लेकिन जब इस से ज्यादा कुछ हुआ ही नहीं था तो मैं बयां भी नहीं कर सकती. स्टोरी ऑफ़ सेक्स इन फैमिली में पढ़ें कि कैसे मेरे भानजे के साथ मेरे सेक्स सम्बन्ध बने और मेरे भाई ने देख लिया. कुछ लड़के तो ऐसे भी होते हैं कि लड़की पटाई, उसे चोदा और फिर किसी दूसरी की तलाश शुरू।और फिर लड़कियाँ भी कम नहीं होती हैं.

सब इस तरह से खड़े हुए थे कि म्यूजिक शुरू होते ही जो जोड़ी बनें वो पति पत्नी की न बनें.

उसने बोला- अन्दर ही उतार दूँ या मुँह में लेगी?मैंने कमलेश का लंड मुँह से बाहर निकालते हुए बोला- प्लीज अन्दर नहीं. मैंने हिम्मत करके अपने होंठ आगे बढ़ाए और भाभी के गुलाबी होंठों पर किस कर दिया. ” महेश ने अपनी नाक को ठीक अपनी बेटी की चूत के क़रीब करते हुए कहा।आहहह पिता जी, आप यह क्या कर रहे हैं …” ज्योति भी अपने पिता के मुंह से निकलती हुई गर्म साँसों को अपनी चूत पर महसूस करके आराम सा पाने लगी।कुछ नहीं बेटी, मैं तुम्हारी चूत को अपनी जीभ से चाट कर साफ़ कर देता हूँ ताकि अगर कोई ज़ख़्म वगैरह हो तो वह ज्यादा न बढ़े.

ये सोच कर मैंने भाभी को अपनी तरफ खींच लिया और हम दोनों आपस में चिपक कर चूसा चूसी करने लगे. रिचा पूरी ताकत से अपनी चुतड़ को ऊपर नीचे करने लगी थी यानि उसकी चुत मेरे लंड को खाने के लिए एकदम से तैयार थी. वो शायद कुछ कहना चाहती थी मगर उसके दिल ने उसका साथ नहीं दिया और वो बस हल्का सा कुनकुनाकर रह गयी.

पति के जाने के बाद मैंने मनोज से कहा कि मैदान खाली है, जब चाहो आ जाना.

दो मिनट की मेहनत के बाद ही श्रुति ने मेरे हाथ पर सुसू (कामरस की धार) कर दिया. फिर जैसे ही उन्होंने अपनी टांगों को फैलाया, मैंने देखा की मॉम की चुत एकदम क्लीन थी.

बताओ बीएफ उसी उत्तेजना में मैंने उससे ये भी पूछ लिया- मेरी पैंटी को सूंघते समय तुम क्या इमेजिन करते हो, तुम क्या फंतासी करते हो?उसने जवाब दिया- आपको जब छूकर जाता हूँ, फिर अकेले में आंख बन्द करके आपकी बॉडी के हर पार्ट को अपने मन में सहलाता हूँ, पोर्न देखता हूँ और अपने हाथ सूंघता हूँ. उसने लम्बी सांस भरते हुए कहा- आज तुमने मुझे अपनी सुहागरात की याद दिला दी.

बताओ बीएफ लेकिन उसकी जुबान बयाँ कर रही थी कि मदिरा ने अपना काम करना शुरु कर दिया है. असल में बात ये थी कि रमेश अब आरिषा भाभी की चुदाई नहीं करता था और अगर कभी करता भी था, तो आरिषा भाभी उसकी चुदाई से संतुष्ट नहीं हो पाती थीं.

तभी दीदी बोली- आज क्या हो गया है तुम्हें … ऐसा क्यों कर रहे हो? तबीयत तो ठीक है तुम्हारी.

रियल सेक्सी वीडियोस

मीरा की साड़ी पेटीकोट ऊपर उठाकर उसकी गांड के चुन्नटों पर मैंने तेल टपकाया और अपने लण्ड का सुपारा ठोक दिया. जब लगभग पूरा लंड अन्दर जा चुका, तो वो बोली- अब इसको आधा बाहर निकाल कर फिर से अन्दर कर … और ऐसा बार बार कर … जल्दी जल्दी से. मैंने अपने हाथ से पीछे लंड पकड़ना चाहा पर उसने मेरी कमर को पकड़ लिया था.

com/office-sex/bondage-porn-fetish-sex/मैं आशा करती हूं कि आपको इस स्टोरी में मजा आया होगा. दोस्तो, मुझे विश्वास है कि मेरी ये डेली सेक्स की कहानी आप सभी को पसंद आई होगी।धन्यवाद।[emailprotected]. तू उन पॉर्न वाली वीडियो के बारे में मत सोच कि वो इतनी देर तक चलते हैं, तो हमारा भी उतनी ही देर तक चलना चाहिये.

फिर बोले- फिर भी मुझे लगता है कि मैं भाई साहब की तरह नहीं करवा पाया.

इसलिए मैंने विवेक को फोन पर सारी बात बता दी कि पापा के आने बाद तुमको लेकर बहुत बवाल होने वाला है. फिर उसने मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत को सहलाया और मुझे सोफे की ओर ले जाने लगा. मैं बहुत तेजी से ऊपर हुआ, भाभी ने टांग एकदम मेरी पीठ के ऊपर डाली और मैंने एक ही बार में आधा लंड भाभी की चूत में घुसा दिया.

मैंने उसके दूध दबाए और बोला- ये तो बस शुरूआत है, जब तुम्हारी प्यारी चूत में मेरा लंड जाएगा न … तो तुम्हें इससे भी ज्यादा मजा आएगा. हालाँकि मैंने वो हिस्सा छोड़ कर पहले उनकी जाँघों को चूमना शुरू कर दिया. प्रीति दर्द से कहने लगी- क्या हुआ?मैंने कहा- झड़ने के बाद भी लंड बाहर नहीं निकल रहा है.

शायरा ने मेरी गर्दन पकड़ रखी थी, इसलिए मैंने अपनी गर्दन को हिलाकर उसे छोड़ने का इशारा सा किया. मैंने कहा- सोचो कि तुम न्यूड (नग्न) सोई हो और में तुम्हें सारे शरीर पर चूम रहा हूँ.

मैंने उससे पूछा- तुम्हें मजा आ रहा है बेबी इसमें? (मैंने फोन में रिकॉर्डिंग चलाई थी)अब मैंने उसके मुंह पर डक्ट टेप लगा दी और अब वो पूरी तरह से मेरी गिरफ्त में था. मैं बच्चों से शैक्षणिक व सांस्कृतिक गतिविधियां करवाता रहता था, जिसका मुझे बहुत अच्छा रिस्पांस मिला था. मैंने उसके एक स्तन को चूसने की कोशिश की, तो उसने मुझे धक्का दे दिया और मुझे नीचे लिटा दिया.

भाभी के गुलाबी गालों से होकर नीचे को आते आंसुओं को पौंछने के बहाने से मैंने अपनी भाभी के गालों पर भी हाथ फेरना शुरू कर दिया था.

फिर उस कुतिया ने एक गैर मर्द के लंड को मुँह में ले लिया और उसे चूसने लगी, जिससे राहुल मदहोश होने लगा. मैंने उसको कॉल किया तो उसने कहा- अभी मेरा बेटा जाग रहा है, मैं उसको खाना खिला कर सुला देती हूँ. मेरा मन कर रहा था कि अभी पति के पास जाकर उनसे लिपट जाऊं और उनकी गोद में बैठ जाऊं नंगी होकर … लेकिन पति की तबीयत सही नहीं थी और वह अलग रूम में क्वॉरेंटाइन हो गए.

अब आप ईमेल करके मुझे बताइएगा कि BF GF सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]. अनीता ने कमल को दिमाग से इतना गुलाम बना लिया था और उसके दिमाग में ये बात बैठा दी थी कि तुम नामर्द हो और अपनी बीवी की चुत को शांत नहीं कर सकते हो.

रेखा की चूत के लब फैला कर अपने लण्ड का सुपारा रखकर धक्का मारा तो अन्दर नहीं गया. बिन्नी- देखो, कल आपने इनका क्या हाल कर दिया था?मैं- चुदते वक्त तुमने ही तो कहा था इन्हें चूसो. मैं फिर दोस्त से बात करने लगा, तो 2-3 मिनट में उनका फिर से मैसेज आया- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैं सोच में पड़ गया कि आखिर ये चाहती क्या हैं.

सेक्सी फुल गाने

मेरी नजर डॉक्टर पर पड़ी, जो अपनी बनियान उतार चुका था और अब चड्डी उतार रहा था.

मैंने ध्यान दिया भैया जब भी जोर का धक्का लगाते तो फिच्च की सी आवाज आती और उसके साथ ही भाभी की एक मीठी आह सी निकलती। थोड़ी देर इसी प्रकार धक्कमपेल करने के बाद भैया थोड़े से ऊपर उठ गए और अपने लंड को भाभी की चूत से बाहर निकालने लगे।क्या हुआ?” भाभी ने उनकी कमर पकड़ कर नितम्बों को अपने ओर दबाते हुए पूछा।एक मिनट रुक. नंदिनी की जुबान से सुनें:इस कहनी को आप लड़की की कामुक आवाज में भी सुन सकते हैं. फिर कुछ देर बाद चूत का दाना फूलना शुरू हो गया और उसमें पता नहीं क्या होने लगा.

मैंने देखा कि उसने अपना पेटीकोट उतार दिया और वो पूरी की पूरी नंगी होकर नहाने लगी. मैंने उसका टॉवल खींच कर साइड में रख दिया और उसे नंगी को ही अपनी गोद में बिठा लिया और उसके चुचों को सहलाते हुए कहा- आशा, तुम्हारी चूत सच में ही बहुत लाजवाब है. मारवाड़ी सैक्सीखैर … मुझे लगने लगा था कि रंगोली की चुत तो मिलने की उम्मीद हो गई है.

मैं एक हाथ से उसकी चूत सहला रहा था और दूसरे हाथ से उसके स्तन मसल रहा था. अंतिम इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मुझे कहानी लिखने का समय बहुत कम मिलता है.

उसका हाथ सीधा मेरी पैंट की जिप पर जाकर रुका और उसने मेरे लंड को सहलाते हुए कहा- मैं भी वही सोच रही हूं जो ये सोच रहा है. फिर रोहित भी बहुत कम बात करने लगा और धीरे-धीरे हम दोनों की बातचीत बन्द हो गई. दूसरे वाले लड़के ने फिर मेरी गांड मारी और पहले वाले के लंड को मैंने चूसा.

दूसरी तरफ आरिषा भाभी को काफ़ी दिनों बाद किसी ने ऐसे छुआ था, तो आरिषा भाभी भी पागल हो रही थीं. सर बोले- मुझे तुम्हारे चूचे बहुत अच्छे लगे … क्या तुम इस बार मुझे अपने मम्मों के बीच में लंड रख कर चोदने दोगी. वो समझ नहीं पाया और पूछने लगा- किधर चाची?मैंने उसके हाथ को उठा कर अपनी पैंटी लाइन पर रख कर कहा कि इधर करो.

शायरा का फिगर तो अच्छा था ही … ऊपर से सेल्सगर्ल का तो काम ही ये होता है कि कैसे भी ग्राहक को खुश करना है.

ये बात मैं अपने अनुभव से बोल रहा हूँ, जो मुझे इन पांच साल में मिला. ऐप इंस्टाल कैसे करेंअब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ा कि मेरी ऑफिस में मेरे सतह काम करने वाली एक लड़की शिवानी ने मुझे एक पैकेट दिया.

उनके बदन और लंड के आसपास बहुत सारे बाल थे और ये मुझे सबसे अधिक उत्तेजित कर रहा था. उसके बाद हम दो मिनट शांत रहे और फिर तूफान थमते ही वहां से भागने की जल्दी मच गयी. इसका मतलब मेरी जितनी भी पैंटी और ब्रा गायब हुई हैं, सब तुम्हारे पास हैं.

कुछ मिनट तक लंड चुसवाने के बाद मैंने उनको सोफे पर लिटा दिया और उनका एक पैर ऊपर करके उनकी झांट रहित चूत में थूक लगा दिया. पायल किलकारी भरती हुई बोली- आंह हां … और अन्दर पेलो … आह अब से मैं आपकी ही हूँ … बहुत परेशान किया है इस चूत ने … आज अपने लौड़े से इसकी जमकर चुदाई करो. मालिश करते हुए वो मेरे निप्पलों को मसलते और मेरी चूचियों को भींच देता.

बताओ बीएफ वो मचलती रही और मेरे सर को अपनी चूत पर दबा दबा कर मुझे उत्तेजित करती रही. मैंने प्रियंका को इशारा किया कि वो फ्रिज से आइस क्यूब (बर्फ के टुकड़े) लाकर दे.

हॉलिवूड सेक्सी विडिओ

हम लोग आपस में बात कर रहे थे मगर मेरा मन स्वभाव के मुताबिक चुदाई के हिसाब से ही लड़की को देख रहा था. फिर मैंने उससे बोला- गर्मी बहुत हो रही है न … क्यों ना ठंडा ठंडा शॉवर लिया जाए. तभी मुझे कुछ याद आया और मैंने अगले जनरल स्टोर से कुछ चॉकलेट के पैक लिए और अपने रूम पर आ गया.

मेरा लंड बार बार मौनी की चूत के बारे में सोच सोच कर मुंह उठा रहा था. उनके हाथ लगाते ही मेरा लंड और ज्यादा टाइट हो गया, लेकिन मैं इतनी जल्दी तो चूत में लंड डालने वाला नहीं था. करिना कपुर नंगे फोटोइन्हीं मादक आवाजों के साथ उसकी गांड ने भी नीचे से उठ कर लंड से मोर्चा लेना शुरू कर दिया था.

अनिल का एक हाथ धीरे धीरे सरकता हुआ पिंकी की जांघों तक पहुंच गया था.

इन कामुक आवाजों को सुन कर रामू और भी उत्तेजित होने लगा और उसने भाभी को किस करते हुए उनका पेटीकोट निकाल दिया. मैं- भाभी आजकल एक तो मुश्किल से पटती है … तीन-चार कहां से सैट हो पाएंगी.

फिर साल 2015 में हमारे यहां मेरे मामा जी आए और जब मेरी मां ने उनसे मेरी शादी के लिए कहा तो उन्होंने भोपाल में ही दो लड़कियां बताईं. उसका जोश देखकर मैं भी धीरे धीरे अपने धक्कों की गति को तेज़ करने लगा, जिससे शायरा की गर्म सिसकारियां भी तेज हो गईं. तभी चाची ने अपने सूट की कमीज़ निकाली, उनकी बड़ी बड़ी चुचियां ब्रा में क़ैद दिखने लगी थीं.

अब हम लोग जब भी मिलते और कोई नहीं रहता था, तो एक दूसरे के बदन के साथ खेलने लगते थे.

हम दोनों में अभी तक कोई बात तो नहीं हुई थी … मगर जैसे ही मैंने अब अपना मुँह आगे तरफ बढ़ाया, अगले ही पल शर्म और हया से लजा कर स्वतः ही शायरा की नजरें नीचे झुक गईं. दूसरे दिन अनिता के पति कमल ने मेरे लंड को एक नई चुत फाड़ने के लिए मुहैया करवाई. मैं- इस डिजाईन में दिखाना तो?सेल्सगर्ल- जी सर, ये लेटेस्ट डिजाईन है और इसका कपड़ा भी एकदम कम्फर्टेबल है.

लड़कियों का ग्रुप whatsappइन्हीं मादक आवाजों के साथ उसकी गांड ने भी नीचे से उठ कर लंड से मोर्चा लेना शुरू कर दिया था. फिर धीरे धीरे मैंने लंड हिलाना शुरू कर दिया, वो भी लंड को झेलने लगी.

नंगी नंगी फिल्में सेक्सी

अच्छा … क्या हुआ था, पूरी बात तो बता?”पहले वाले लड़के उससे पूछते हुए कहा और‌ मेरी कॉलर छोड़कर मुझे हाथ से इशारा‌ करते हुए बोला- चल बे … तू निकल. मैंने अपनी ताकत से अपने चूचियों को कस-कस कर मसला, लेकिन वो मजा नहीं आ रहा था. मगर मुझे बाद में पता लगा कि मेरे जैसी हॉट गर्लफ्रेंड होने के बाद भी मेरा बॉयफ्रेंड नवीन मेरी ही सह प्रशिक्षक रिया के साथ सो चुका है और उसके साथ रंगरेलियां मना रहा है.

मैं- तुम्हें मेरी गांड मारनी ही थी तो बोल कर गांड मारते … मैं कहां मना करने वाली थी. नीरू अब बिल्कुल ठीक हो गयी थी, उसकी गांड का दर्द अब ना के बराबर था. दरअसल वो दुकान केवल बस अंडरगार्मेन्टस की ही थी, जिसमें जेन्टस के साथ साथ लेडीस अंडरगार्मेन्टस भी मिलते थे.

सर मुझे समझाने लगे- बेबी … प्लीज़ पहली बार में थोड़ा होता है … थोड़ी देर रुको … फिर तुम्हें भी अच्छा लगेगा. एक रात की बात है कि जब मैं सोकर उठी तो मेरे कपड़ों पर मुझे सुबह कुछ दाग जैसा दिखा. लेकिन रात होते ही मुझे हल्का सा बुखार आ गया और मेरा सर दर्द करने लगा.

जनवरी में मेरी मां कुछ दिनों के लिए अपने भाई मतलब मेरे मामा जी के यहां जाने वाली थीं. वो दर्द और मजे के मारे अपने मुख से कामुक आवाज़ निकालने लगी और ज़ोर ज़ोर से कहने लगी- चोदो मेरे राजा … और ज़ोर से … बुझा दो आज मेरी प्यास!करीब पन्द्रह मिनट तक मैं उसको चोदता रहा … और फिर हम दोनों साथ में झड़ गए … मैंने उसकी चुत में ही अपना सारा पानी छोड़ दिया था.

फिर मैंने लकड़ी की छड़ी उठाई और उसकी जांघों के अंदरूनी हिस्से पर मारने लगी.

मैंने रूम में रखी बिजली वाली केतली में पानी गर्म किया और अपने रूमाल से उसकी गांड की सिकाई की. माय सिस्टर नेम इजशिल्पा- अहह ओह राहुल यू आर क्रेजी मैन … आह्ह बस करो … मेरी दम निकाल कर मानोगे क्या … आह मैं झड़ गई … आह. गूगल मेरी गर्लफ्रेंड बनोगीहमारा परिवार जयपुर शहर में रहता है जबकि मेरे ससुराल के गांव जो जयपुर के पास ही पड़ता है. टीचर एंड स्टूडेंट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने कोचिंग क्लास में पढ़ाना शुरू किया तो एक लड़की पर मेरी नजर टिक गयी.

उसका कमरा ऊपरी छत पर था, जिससे उसके कमरे में क्या हो रहा है, किसी को कुछ पता नहीं लगता था.

कैसे? मैं अपनी चूचियां बड़ी करवाने डॉक्टर के पास गयी तो उसने मेरे जिस्म से खेल कर मेरी वासना जगाई और मेरी बुर खोल दी. उसने अपने पैर नीचे फैला दिए और बोला- चल रंडी … नीचे बैठ कर लंड चूस. नमस्ते साथियो, मैं महेश आपको शायरा के साथ अपनी प्रेम गाथा को इस सेक्स कहानी के माध्यम से सुना रहा था.

और प्रिया भी एक बेहद गर्म लड़की थी।उसको चूमते हुए मैंने उसकी नाइटी उतार दी. इस तरह हम सभी एक गोल चक्कर में थे और सभी एक दूसरे की चुसाई कर रहे थे. सास एक चुदासी रंडी की भाषा में बोलीं- चाहे जिस पोज में चोद लो दामाद जी … बस आज मेरी फाड़ दो.

इंडियन देसी सेक्सी वीडियो डाउनलोड

मैंने मुँह से तो कुछ नहीं कहा … मगर अपना बायां हाथ उठाकर सीधा शायरा‌ के बाएं कंधे पर रख दिया. मैंने उसकी टांगें चौड़ी कर दीं और लंड को तेल की कटोरी में डुबा दिया. विक्रम मेरी बीवी संजू के होंठों को बड़े प्यार अपने होंठों में दबा कर बेतहाशा ऐसे चूसने लगा, जैसे आज वो साल भर की प्यास मेरी संजू के होंठों से बुझा लेगा.

मैंने भी देरी ना करते हुए बचे हुए दोनों हुक खोले और इससे पहले कि वो हाथ पीछे करके ब्लाउज को शरीर से अलग करतीं, उनके ब्रा से बाहर निकले हुए स्तनों के हिस्से पर भूखे भेड़िये जैसा टूट पड़ा.

उसके बाद उसने अपनी जीभ से मेरे लंड के सुपारे को चाटना शुरू कर दिया.

वहां पर उसके मामा की लड़की भी तो है।दीदी के घर से रोहित का कमरा करीब चार पाँच किलोमीटर दूर था. बाद में घर वापस लौटते समय रवि ने पिंकी से कहा कि उसके पास पिंकी और अनिल की कॉल डिटेल आती है. इंडियन लड़कियांमैंने उसका टॉवल खींच कर साइड में रख दिया और उसे नंगी को ही अपनी गोद में बिठा लिया और उसके चुचों को सहलाते हुए कहा- आशा, तुम्हारी चूत सच में ही बहुत लाजवाब है.

आरिषा भाभी की लाइफ अच्छी चल रही थी, पर वो पिछले कुछ दिनों से उदास सी रहने लगी थीं. वो मुझे देख कर मुस्कुरा कर हाथ हिलती हुई मेरी तरफ आती है और आकर मुझे बांहों में भर लेती है, मैं उसे देख कर हैरान हो जाता हूँ।क्या माल लग रही थी वो … उसने एक सफेद रंग की फ्रॉक पहनी थी जिस पर गुलाबी रंग के फूल प्रिंट थे, जिसकी लम्बाई उसके घुटनों से थोड़ा ऊपर थी जिस कारण उसकी चिकनी सफेद जांघें दिख रही थी. मेरे दोस्त की सिस्टर की चुदाई कहानी पर मुझे अपना फीडबैक देने के लिए कृपया ईमेल ज़रूर करें, ताकि कहानियों का ये दौर, अन्तर्वासना की चुदाई की कहानी वाले पोर्टल पर … आपके लिए यूँ ही चलता रहे.

दीपा ने मेहनत तो की ही थी अपनी चूत से आज, और इसका अहसास मनोज को हो रहा था. इससे मेरी बीवी शिल्पा ने कामुक आह भरी और राहुल से जल्दी से लंड चुत में पेलने का इशारा किया.

मैं- चाची आपके बदन में मुझे सबसे पसंद आने वाली जगह कौन सी है? पता है आपको?चाची- नहीं.

वो यहाँ आकर हमें मसाज दे सकता है और मेडिकल मसाज सिखा सकता है और पैसे भी नहीं लेगा. उसने मेरे चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगा दिया जिससे मेरी चूत उभर कर ऊपर आ गयी।मुझे उस समय बहुत शर्म आ रही थी, मैंने अपनी आँखें बंद कर ली थीं।फिर रोहित ने अपना लिंग मेरी चूत की बीच दरार में फंसा दिया. उन्होंने अपना एक हाथ नीचे किया और मेरे शॉर्ट्स के ऊपर से ही मेरे लिंग को पकड़ लिया.

गुजराती लड़की मेरे दोनों आम उसके सामने नंगे थे जिनको उसने बिना देर किये अपने मुंह में भर लिया. अनिल का एक हाथ धीरे धीरे सरकता हुआ पिंकी की जांघों तक पहुंच गया था.

और इस बात की भी क्या गारंटी है कि हममें से किसी ने उस दिन सेक्स भी कर लिया हो तो?बात में दम था. पर लिखने का कभी समय ही नहीं मिला, आज मन बना कर अपनी कहानी लिख रहा हूँ. फिर पहले हमने साथ में बैठकर चाय वगैरह पी और बाद में मैं उससे बातें करने लगी.

त्रिशाकर मधु का सेक्सी वीडियो

जब मेरा बन जाएगा, तो यह मुझसे पूछेगा नहीं … ज़बरदस्ती अपने घर में घुस जाएगा. अब जो करना होगा करेंगे।”उसकी तरफ से मुझे अब पूरी छूट मिल चुकी थी; अब मुझे किसी बात का डर नहीं था।मुझे अपनी जिंदगी में एक बेहद ही खूबसूरत जवान और सेक्सी लड़की मिल चुकी थी।अब मैं उसका पूरा मजा लेना चाहता था; उसे हर तरह से चोदना चाहता था।वो अब मेरी थी।उस रात मैंने केवल एक बार ही उसकी चुदाई की क्योंकि रात ज्यादा हो चुकी थी. चुदी चुदाई की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मेरा वजन बहुत बढ़ गया.

भाभी- कैसी है अब तबियत?में बोली- तबीयत तो ठीक है और सेवादार भी ठीक हैभाभी- सेवादार तो कब से तेरी सेवा करने के लिए बैठा है बेचारा, तू ही हर बार मना कर देती है. घोड़ी बनाते ही अपना लण्ड रेखा की चूत में पेल दिया और उसकी गर्दन, पीठ व कमर पर शहद मलकर चाटने लगा.

मैं दो घंटे पहले ही वहां पहुंच गयी और मैंने पूरी सोसायटी का जायजा लिया.

अंशिका हम सभी को देख रही थी और अपनी चूत पे तेज तेज उंगली चला रही थी।मैंने सोचा भी नहीं था कि अंजू की चूत का रस बहकर मेरे मुंह में आने लगा और मेरी जीभ को भिगोने लगा, मैं उसका रस पिए जा रहा था। अंजू की चूत को मैंने अपने होंठों में कस लिया ताकि वो इस बहते झरने का पूरा मज़ा ले सके।अंजू मेरे मुंह से उठ गयी और अंशिका ने उसकी जगह ले ली। दूसरी तरफ मैंने सपना की चूत में धक्के तेज कर दिए थे. और इसके कुछ दिन बाद एक मार्ग दुर्घटना में गोपाल की छोटी बेटी की मृत्यु हो गई, बड़ी बेटी की एक टाँग में गम्भीर चोट आई और टाँग आधा इंच छोटी हो गई. मगर पिंकी ने मना कर दिया और कहा कि आज रवि मूड में है, शायद रात को मौका मिल जाए.

पहले तो वो दोनों बहुत शर्मा रहे थे और हिचक भी रहे थे लेकिन कुछ हंसी मजाक और बीयर का हल्का नशा होने के बाद वो दोनों खुल गये. इन दस सालों में मैंने नीरू को इतनी बार चोदा है कि इतनी बार तो वो अपने पति से भी नहीं चुदी होगी. वो बोला- फूफाजी आज मेरा भी लंड उत्तेजित हुआ पड़ा है … आज मेरी भी चुदाई की इच्छा है.

मैं उस अहसास से आज बिल्कुल भी बाहर नहीं आना चाह रही थी कि तभी दरवाजे की घंटी बजी और आवाज आई.

बताओ बीएफ: लेकिन मुझे अपने अनुभव के आधार पर ये ज्यादा लग रहा था कि भाभी मेरी गोद में आ ही जाएंगी. ”लण्ड को रेखा की चूत से बिना निकाले मैं उसको लेकर बेडरूम में आ गया.

शीशी का ढक्कन खोल कर मैंने तेल को अपने लंड पर चुपड़ा और तेल से भीगी उंगली उनकी गांड में डाल दी. घर आकर आज भी शायरा ने हम दोनों‌ के लिए चाय बनाई, जो‌ कि हम दोनों ने साथ में ही बैठकर पी. ज़ारा- आह जान! हसरतें तो आप पूरी कर रहे हो!ये कहकर अपने दोनों पैर जमीन पर रख लिये और हाथ कैबिनेट पर.

मैं छटपटाने लगी।फिर रोहित एक हाथ से मेरी कमीज़ (कुर्ती) ऊपर करने लगा और कुछ ही सेकंड में उसने मेरी कुर्ती उतार कर अलग रख दी.

इस पोजीशन में भाभी को 10 मिनट तक चोदने के बाद मैं उनकी चुत में कंडोम के अन्दर झड़ गया और उनके ऊपर ही गिर कर अपनी सांसें नियंत्रित करने लगा. मैं लंड को पूरी तरह अन्दर बाहर करने लगा, जिसमें हमें और ज्यादा मजा आने लगा. उसकी चूत की फांकों को मैंने अपने मुंह में लिया हुआ था और उन्हें दांतों से रगड़ रहा था इसलिए वो ज्यादा चिल्ला रही थी- उई आह आह आह … मर गयी … मज़ा आ गया … साली मरवा दिया आज … मादरचोद उई आह आह सी सी सी सी!इधर मेरे मुंह से भी सिसकारियाँ निकल रही थी- आह आह आह सी सी सी सी बहनचोद … मादरचोद रांडो चुद गयी आज तुम सालियो … आह आह चुदो चुदो चुदो कुत्तियो … आह सी सी सी सी सी.