बीएफ कॉलेज लड़की

छवि स्रोत,कोई नया बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

जम्मू सेक्स: बीएफ कॉलेज लड़की, मैंने शलाका की कमर को कस कर अपनी तरफ खींचते हुए अपने से चिपकाने की कोशिश की और मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया.

सोनम कपूर की बीएफ

बाली रानी ने सारा वीर्य पी लिया था और फिर उसने लौड़े को नीचे से ऊपर तक चाट चाट कर अच्छे से साफ किया. बीएफ बीएफ बीएफ दिखाओहम लोग जैसे ही कमरे में आए, अमित बिना रूम लॉक किए मेरे ऊपर सवार हो गया.

आपने अब तक की इस मस्त कर देने वाली कहानी में जाना था कि हीना मेरे लंड को चूसने के लिए तैयार ही हो रही थी कि मैंने उससे 69 में होकर उसकी चुत चाटने की इच्छा जाहिर कर दी. बीएफ मारवाडीफिर मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार कर फेंक दिए और उसके ऊपर चढ़ गया.

इधर उधर सिर हिलाते हुए गुड्डी रानी चिल्ला रही थी- आह आह आह कुत्ते … और ज़ोर से चोद कमीने … आह आह आआआह आआह जानू तेरा लंड क्या है बिजली का खम्बा है … अहा अहा अहा अहा … ज़ोर से ज़ोर से ज़ोर से … अहा अहा अहा अहा … उफ्फ फ़फ़फ़ मादरचोद अब जान लेगा क्या?मैं भी गुड्डी रानी के हुकम के अनुसार धम्म धम्म धम्म शॉट पे शॉट पेले जा रहा था.बीएफ कॉलेज लड़की: भैया ने मुझे मिशिनरी पोजीशन में कुछ दस मिनट तक आराम से धीरे प्यार से जोर से धक्कों से किस करते हुए, मेरे बोबे काटते हुए अच्छे से चोदा और चरम सीमा पर आने से पहले मेरा लंड हिलाने लगे.

डॉक्टर- ठीक है, कोई बात नहीं, इसका अब यही इलाज है कि आप इस लड़की के साथ नर्मी से पेश आएं और सौरभ को अपने घर पर ही रखें.मैं नीचे अपने कमरे के बाथरूम में आ गई और बाथरूम के अन्दर जा कर उस वीर्य वाली पैंटी को सूंघते हुए मैंने अपनी गर्म चूत में खूब उंगली की.

बीएफ व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ - बीएफ कॉलेज लड़की

मैं तेल की शीशी अलमारी से निकाल कर दोनों हाथों से उसके चूतड़ों पर तेल मलने लगा.फिर भी कंट्रोल करते हुए मैंने अपने अंगूठे को बहन की गांड के अन्दर डालते हुए कूल्हे पर दांत गड़ाना शुरू कर दिया। पर वो ब्राउनिश छेद मुझे बेचैन किये जा रहा था। शुभ्रा अब अपना सब दुख दर्द भूलकर उसी पोजिशन में खड़ी रही और स्स.

वो बोली- पापा दर्द होगा ना?मैंने उसे समझाया- बेटी, पहली बार जब कुंवारी चूत में लंड जाता है तो थोड़ा दर्द होता ही है. बीएफ कॉलेज लड़की बिन्दू- लेकिन आप प्लीज ये दोनों ही बातें मेरी मम्मी को नहीं बताना वर्ना वो मेरी जान निकाल देगी.

फिर मैंने उसके सलवार का नाड़ा खोल दिया और उसे उतार कर एक साइड में फेंका और उसकी चूत पर एक जबरदस्त चुम्बन जड़ते हुए उसकी चूत चटाई शुरू की.

बीएफ कॉलेज लड़की?

सीमा जी को लगा कि उनकी बेटी पिंकी कॉलेज से कुछ ऊटपटांग खा कर आई है, इसलिए उल्टियां कर रही है. थोड़ी देर में भार्गव ज़ोर ज़ोर से धक्का देने लगा … और उसने मेरी चूत में ही अपना वीर्य निकाल दिया. आपको यह कहानी कैसी लगी आप इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरुर दीजियेगा.

तभी उन्होंने मेरे मोबाइल में कुछ ब्लू फ़िल्म देख लीं और मुझसे बोलीं- प्रणय, तुम ये सब देखते हो?मैंने पूछा- क्या भाभी?वे बिंदास बोलीं- ब्लू फ़िल्म. मैं- चलो अब दर्द से ध्यान हटाओ औऱ मजे में ध्यान लगाओ, फिर तुम्हें दर्द महसूस नहीं होगा. मुझे उसकी गांड चाटने में आसानी हो, इसलिए वो थोड़ा झुकी और अच्छे से गांड का उठान मेरी तरफ कर दिया.

नीतू … डरो मत … पहली बार ऐसा होता है … मैं तुम्हें दवाई ला दूंगा … फिर सब ठीक हो जाएगा. मीता के जाने के मैंने सोचा कि दाना तो डाल दिया है, अब इसको खिलाया कैसे जाए. 15-20 बार उछलने के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और वह मेरे ऊपर पसर कर सोने लगी और मेरी छाती पर लेट सी गई.

उसकी हरेक जम्प के साथ उसके चुचे भी उछल रहे थे, जो अलग ही नज़ारा पेश कर रहे थे. चाची इतनी जोर से और मजा लेकर लंड को चूस रही थी कि मैं पांच मिनट भी उनके सामने टिक नहीं पाया.

तभी नम्रता की ट्रेन एनाउंस हुई और कोई पांच मिनट बाद ही हमारी ट्रेन का भी एनाउंसमेंट हो गया.

इससे पहले मैं कुछ कहता, साना ने मेरे ऊपर आकर मेरे होंठों को चूस लिया और मुझे बेड पर लेकर लेट गई.

रुको एक मिनट!” घर के बाहर निकलते ही मैं नितिन को बोलकर वापिस घर के अन्दर चली गई. ऐसा करने पर मुझे भी यह खेल खेलने में मजा आएगा और रकुल भी शायद इस नई सरप्राइज़ को खुल कर जी पाये और शायद गर्व करे कि वो इतनी खूबसूरत है कि कोई उस पर इस तरह से लट्टू हो गया है. शादी होने पर मैंने तरह-तरह के सपने देखे थे मगर जैसा सोचा था वैसा कुछ नहीं हुआ.

इस बीच गुप्ताइन बोली- डॉली का तो अच्छा हो गया, गोलू की भी नौकरी लग जाती तो चिन्ता खत्म हो जाती. मगर उसकी चूत की मदहोशी ऐसी थी कि पता नहीं कब मेरी जीभ उसकी चूत पर चलने लगी. ऐसा कहकर मैंने भाभी को 2-3 सीढ़ी ऊपर को धकेला, तो भाभी सीढ़ी से फिसल कर गिरने को हुईं, पर मैंने उन्हें संभाल लिया.

वो भी मेरे सर को पकड़ कर दबाने लगी कि मैं और जोर से उसकी चूची को काट लूं.

सभी को नमस्ते![emailprotected]अन्तर्वासना साईट का आइकॉन मोबाइल होम स्क्रीन पर डालें. मैंने तुषार से कहा- उन्ह … यार बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज़ अपना लंड बाहर निकाल ले … मुझे सहन नहीं हो रहा है. एक दिन मैं भैया के घर गयी थी तो उनकी पत्नी किसी पड़ोस की औरत के साथ बाजार चली गयी थी और भैया घर में अकेले थे.

फिर मेरे माथे में किस करने की शुरुआत कर दी … इसके बाद मेरे होंठों में किस, फिर मेरी गर्दन में किस की. मेरे सीधे हाथ की बीच वाली उंगली जो करीब 3-4 इंच लम्बी थी, मेरी बुर में घुस गयी. उसके ऐसा कहते ही मैंने जोर के झटके दिए और अपना पूरा माल उसकी चुत में छोड़ दिया.

मेरी पिछली कहानी थी:छोटी सी लड़की लण्ड ले बड़े बड़ेचूंकि मैं काफी समय से अमेरिका में था और काम में बिजी था इसलिए लिखने का वक्त नहीं मिल पा रहा था.

हाँ उन दो दिनों में कुछ गुस्से में और कुछ विनीता की याद में मैंने अपनी पत्नी को खूब रगड़ रगड़ कर चोदा और उसने भी खूब मज़े ले ले कर चिल्ला चिल्ला कर चुदाई करवाई. ” मैंने हंसते हुए कहा।और फिर मैं रसोई से दो कप चाय बना कर ले आया। मेरा मकसद उसे सहज (नॉर्मल) बनाने का था।मुझे लगता था उस दिन मोबाइल का लोक ओपन करने के पासवर्ड वाली बात उसे जरूर याद होगी। और मैं तो इस संबंध में कोई जल्दबाजी करने के मूड में कतई नहीं था अलबत्ता पूरी योजना बनाकर ही इस प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहता था।पर अभी थोड़ी देर तो सुहाना के प्रोजेक्ट की बात करनी जरूरी थी।लो भई.

बीएफ कॉलेज लड़की पहले उनकी गर्दन पर, फिर उनकी छाती पर और फिर जैसे ही उनकी उंगली को उनकी चूची पर देखा, तो ब्रा के ऊपर से ही उनके बोबों को बुरी तरह चूसने लगा. तो कमेंट्स जरूर कीजिये और बताइए कि मुझे यह कहानी लिखनी चाहिए या नहीं?.

बीएफ कॉलेज लड़की कुछ ही देर में मेरे लंड से पानी निकल गया और हम दोनों किस करने के बाद सो गये. एक तो नशीले बदन की नशीली जांघें और ऊपर से उस पर लगी हुई नशीले अमृत की बूदें … आअह आआह बहनचोद क्या कहने !!!तभी बाली रानी कूद के मेरे पास नीचे आ गई और लिपट के मेरे मुंह पर चुम्मियों की झड़ी लगा दी.

उसके मुँह से रिक्वेस्ट शब्द सुनते ही मैंने सोची कि ये शायद माफी मांगेगा.

सेक्सी वीडियो डॉट कॉम जबरदस्ती

इसके बाद कहने को कुछ ख़ास नहीं है, इन्टर पास करने के बाद अंकल जी की सहायता से मैंने कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया साथ ही मैं पूरी मेहनत से कम्पटीशन की तैयारी करती रही. भाभी बोली- राज, कल परसों में मेरी मेंसिज आने वाली हैं, अतः अब चार पांच दिन तुम बेशक अपने कमरे में ऊपर ही सो जाना. मेरी जांघों के कोनों को वो चाटते हुए अंडों को मुँह में भरने की कोशिश करने लगी.

पर रुमित के साथ चुदवाते चुदवाते पता नहीं मैंने पर्स कहां रख दिया था कि मिल ही नहीं रहा था. एक दूसरे को किस करने के बाद बांहों में बांहें डाल कर सो से गए और आराम करने लगे. नहाने के बाद मैंने चाय नाश्ता किया उनके साथ और फिर मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा और वो नहाने चली गई.

फिर नीच होकर जैसे ही मैंने उसके पैर के अंगूठे को मुँह में लेके चूसा, तो अदिति सिसकारियां लेने लगी.

मैंने उसे रोका तो उसने कहा- हमें कोई नहीं देख रहा, थियेटर में बहुत अंधेरा हो रहा है यार. आपकी खातिरदारी में कोई कमी रह गई, तो हम जीजू को क्या मुँह दिखाएंगे. जाते जाते बोली- मुझे मजा आया … प्लीज़ अब मुझे भी हर रोज सुधा की तरह ही चोदना.

8-10 धक्के तेजी के साथ लगाकर कुत्ता पलट गया और उसका लंड कुतिया की चूत में ही फंस गया. देस बदलेंगे … काल बदलेंगे, जिस्म बदलेंगे … नाम बदलेंगे लेकिन आदम और हव्वा की एक-दूसरे के लिए प्यास का ये खेल यूं ही अनवरत चलता रहेगा … शायद सृष्टि के अंत तक. मैंने गाड़ी साइड में लगाई और कार में से अपना सूटकेस निकला और वसुन्धरा के पीछे-पीछे अंदर चला गया.

जैसे ही नम्रता लेटी, मैंने उसकी बुर में जीभ लगा दी और उसके उस कैसेले स्वाद से भरी हुई चूत को चाटने लगा. हम तीनों लड़के तीनों लड़कियों को चोद रहे थे।सतीश ने अब मुस्कान को गोद में से उठाया और घोड़ी बना कर पीछे से उसकी चूत में लंड डाल दिया.

फिर उसने इस लिंगरी को और साथ ही एक बहुत ही सेक्सी पैन्टी ब्रा को सेलेक्ट किया. जब मुझे लगा कि वो फुल गर्म हो गयी है तो मैंने उसको किचन की टेबल पर बैठाया और उसके सामने खड़ा होकर अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. ठीक है, तुम थोड़ा सो लो, तुम्हें अच्छा लगेगा … तब तक मैं नीतू को बेडरूम में ले जाता हूं … तुम्हें चलेगा ना?” शर्मा सर ने नितिन को जानबूझ कर ये सवाल पूछा.

बहुत मज़ा आता है किसी हसीन, सेक्सी लड़की को लौड़ा चूसते हुए के नज़ारे से.

नम्रता अपने दोनों पैरों को थोड़ा फैलाते हुए साड़ी को उठाकर कमर पर ले आयी. भार्गव का लंड मेरे मुँह में था … और मैं ज़ोर ज़ोर से उसका लंड मेरे मुँह में हिला रही थी. उसने मुझे कमर से पकड़कर उलटा घुमा दिया … और पीछे से अपना लंड मेरी गांड में डालने लगा.

फिर अपना तना हुआ लौड़ा उसके छेद पर लगाया और उसके चूतड़ों को अपनी तरफ खींचते हुए अपना लंड उसकी गांड में घुसा दिया. मैं लंड झाड़ते ही लेट गया और वह तुरंत कपड़ा ढूंढ कर बाथरूम में घुस गई.

जब सारा उसकी जीभ को अपनी जीभ से चूसती थी तो चूत लण्ड को अंदर खींचने लगती थी जैसे चूत लण्ड को चूस रही हो. उन्होंने मुझसे मोबाइल नम्बर मांगा और रात को मोबाइल चालू रख कर सोने को कहा. कुछ देर के बाद भाभी नीचे आ गई और अपने घर को लॉक करके मेरी गाड़ी में आकर बैठ गई.

इंडिया सेक्सी आदिवासी

वह चुदाई क्या और कैसे हुई और इन रानियों की तीसरी वाली सहेली कैसे चुदी उसका वर्णन मैं अगली कहानी में करूँगा.

ऐसा लग रहा था, उसकी बुर मेरे लंड को औऱ अन्दर तक खींच रही थी और मैंने अपनी पूरी जान अपने लंड के रास्ते उसकी बुर में जैसे लबालब भर दी. लंड बड़ी तेज़ी से उसका पूरा मुंह पार करता हुआ धड़ाम से उसके गले से जाकर टकराया. उसने चूत पर लन्ड सटाते हुए एक ही झटके में लन्ड मेरी चूत में घुसा दिया.

अगले दिन उसका फिर वही हाल था, तो मैंने उससे पूछा- यार कोई प्रॉब्लम है तो बता … मिल कर सॉल्व करते हैं. इधर नम्रता भी मेरी जीभ को अपने मुँह के अन्दर कैद करके उसके लार को पी रही थी. शिल्पा शेट्टी की सेक्सी वीडियो बीएफइसका लंड कितना लम्बा होगा! क्या 7 इंच का होगा? क्या खूब रसीला लंड होगा जो किसी भी जवान औरत की चूत को चोद-चोदकर उसे फाड़ डाले … मैं मन ही मन ये सब बातें सोचने लगी.

उसके बाद तो नितिन ने अनेकों लड़कियों और भाभियों की मस्त चुदाई का धमाल किया. अब अंकल के चौड़े मूसल ने चुत के अन्दर की खाली जगह को पूरी तरह से भर दिया था.

मैंने सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत पर हाथ फेरा तो उसके मुंह से सिसकारी निकल गई. ऐसी ही करीब 5 मिनट की सेक्सी चुसाई के बाद मैं भी अब झड़ने के बिल्कुल नजदीक पहुंच चुका था. पहली वाली के मम्मे बड़े थे, लेकिन मैं इतना मदहोश था कि मुझे पता लगाना मुश्किल हो रहा था.

अचानक नम्रता को ध्यान आया और बोली- यार हम लोग छत पर हैं, आओ नीचे चलें, दिन होने वाला है. वह फिर से कुछ चिढ़ गई … शायद उसकी शादी शुदा होने की बात इस वक्त उसे नहीं सुननी थी. उसके बाद मैंने साना को नीचे लेटा दिया और उसकी चूत पर लंड को रख कर रगड़ने लगा.

दोस्तो, बिहारन चन्द्रा भाभी को मैंने किस तरह से चोदा और उन्हें चुदाई से पहले अपने सपनों में चोदने की कहानी सुना कर मजा दिया … ये सब मैं आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

’ की कामुक आवाजों के साथ हमारी ताबड़तोड़ चुदाई तेज और बहुत तेज होती चली गई. वो नशा ही इतना मज़ेदार था कि उस वक्त प्राण भी निकल जाए तो मरने का अफसोस न हो.

फिर क्या था … पहली ही बार में अपनी सुधा की सहेली को ताबड़तोड़ चोदने लगा. इतना खुलापन होने के बावजूद भी मैंने कभी भी अपनी सौतेली मां को गलत नजर से नहीं देखा था. उसने अपनी जाँघों को फैला सा दिया था, जिससे मुझे उसकी चूत पर हाथ फेरने में आसानी हो रही थी.

इस बार लंड बिना किसी आनाकानी के अन्दर चला गया। मेरा उत्साह और बढ़ गया और मैं लंड को बहन की चूत के अन्दर और धकेलने लगा. अब तुषार ने मुझे देखा और बोला- आशना चल, अब मैं तुझे दिखाता हूँ कि लौंडिया कैसे चोदते हैं. उसके बाद भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और फिर से मेरे लंड के साथ खेलने लगी.

बीएफ कॉलेज लड़की मेरी कहानी आपको पसंद आयी या नहीं, मुझे आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा. मैं अपनी सहेलियों के साथ रहते रहते लड़कों से फ्लर्ट करना सीख गयी हूँ.

सेक्सी मूवी डाउनलोड सेक्सी मूवी

मैंने गौर से देखा तो उसकी चुत से पानी और वीर्य दोनों मिक्स होकर बाहर आ रहे थे. मैंने नम्रता को एक बार फिर पलंग पर बैठाया और उसके चूत के साथ खेलने लगा. चाची ने भी जल्दी से अपनी मैक्सी को सही कर लिया और मैंने अपनी निक्कर को ऊपर कर लिया और दोनों लेट कर सोने का नाटक करने लगे.

सारा भी मुझे जहाँ तहाँ चूमने लगी और मेरा लण्ड को चूमने लगी फिर लण्ड को मुँह में लेकर चूसने लगी. मेरा लंड उसकी चुत को छू रहा था और हम दोनों की गर्म सांसें एक-दूसरे के मुँह पर टकरा रही थीं. बीएफ सेक्सी एचडी फुल एचडीहमारा संयुक्त परिवार है तो मेरे चाचा-चाची भी हमारे ही घर में हमारे साथ रहते हैं.

नम्रता ने गांड को अच्छे से चाटने लगी और अपने थूक से मेरी गांड को अच्छे से गीला करने के बाद एक बार फिर वो कुप्पी अन्दर डालने लगी.

मैंने गोद में उठाये हुए ही उसको होंठों पर हल्का सा चुम्बन किया। उसने भी आँख बंद करके मेरा वेलकम किया। फिर बाथरूम में जाकर हम साथ में नहाये. मैं आश्चर्य से शुभ्रा को देख रहा था, लेकिन उसके चेहरे पर कोई हाव भाव नजर नहीं आ रहे थे जबकि मेरे लिये वो कहानी इतनी उत्तेजित करने वाली थी कि अगर शुभ्रा मुझे नहीं टोकती तो दो पल बाद मेरा लंड पानी छोड़ ही चुका था।कहानी की किताब देखने के बाद शुभ्रा नंगी लड़कियों वाली मैगजीन देखने लगी।फिर मुझे हड़काकर बोली- चल यहाँ (उसके बगल में) आकर बैठ.

रानी ने फिर मुझसे अपनी जांघों पर छलक के लगी हुई अमृत की कुछ बूँदें चटवाई. आंटी, भाबी, तलाकशुदा और विधवा औरतें, जिनकी उम्र चालीस साल तक हो … मेरे लंड से बड़ी संतुष्ट रहती हैं. मैं मंजू को बोला- मंजू, क्यों ना एक एक पेग हो जाये?वो बोली- हां, मुझे भी इस समय सख्त जरूरत है.

दो हफ़्ते बाद उसका मैसेज आया कि वो मिलना चाहती है और कुछ बात करनी है.

जब उसकी चुत में थोड़ी सी जगह बनी, तो मैंने अब पूरा लंड डालने की सोची. फिर सुबह एक कप चाय और प्यारी सी मुस्कान के साथ रेखा ने मुझे जगाया और फिर हम दोनों साथ-साथ चाय पी. ” कहते हुए उसने अपने हाथ में रसगुल्ला लेकर मेरे मुंह में डालने लगी।मैं ना … ना … करते ही रह गया और इस आपाधापी में थोड़ा रस मेरे कुर्ते पर और कुछ उसके गाउन पर भी गिर गया।ओह … सॉरी? आपके कपड़े खराब हो गए … आइये मैं साफ़ कर देती हूँ … आई एम सॉरी.

विदेशी वीडियो बीएफकुछ देर के बाद भाभी नीचे आ गई और अपने घर को लॉक करके मेरी गाड़ी में आकर बैठ गई. मैंने उसकी कमर पर, जहां बेल्ट बांधते हैं, वहां होंठ जमा दिए और उसे बेहताशा चूमने लगा.

मराठी सेक्सी बीपी ऑंटी

मैं फिर बोला- लेकिन तुम तो शादीशुदा हो … इस पर तो तुम्हारे पति का हक है. मैं बोली- मेरी कसम मत खा … चल बता मुझे कहां ले कर चलेगा?वो बोला- मम्मी आप तो ऐसे बोल रही हो, जैसे आप मेरी गर्लफ्रेंड हो. मैं तो कब से चाह रही हूं कि तुम मुझे इतनी बेदर्दी से चोदो कि मैं कहीं मुँह दिखाने के लायक भी ना बचूं.

डॉक्टर जूली बोली- आमिर एक बार मुझे फिर तुम्हारे लंड का मुआयना करने दो ताकि चुदाई की बाद होने वाले फर्क पता चल सके. मेरे स्तन आंटी से तो छोटे ही थे, पर उनसे ज्यादा कड़े थे और मेरी ब्रा से आधे से ज्यादा बाहर निकले हुए थे. मैं बोला- बस? लेकिन मजा तो इसी में है ना।वो बोली- अगर मजा इसी में है तो फिर लोग पेशाब नाली में क्यों करते हैं? फिर तो मुंह में ही कर देना चाहिए?वो मुझसे बहस करने लगी।मैं झल्लाते हुए- अरे यार, ये सब मुझे नहीं मालूम, मगर जो मालूम है उसमें चूत चटाई और लंड चुसाई होती है.

फिर मैंने उनके होंठ चूसना शुरू कर दिए तो इस बार साली जी भी मेरा साथ देने लगीं; जल्दी ही हमारी जीभ आपस में अठखेलियाँ करने लगीं और फिर उसने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी जिसे मैं चूसने लगा. जब उसके दिल में तुम्हारे लिए जगह बन जाए, तब शादी के लिए उसकी सहमति लेना उचित रहेगा. बीच-बीच में वो मेरे लंड को अपनी चूचियों के बीच फंसाकर अपनी चूचियों की चुदाई करा रही थी.

सुसु पूरी होने से मुझे बहुत रिलीफ महसूस हुई और मेरी आंखें बंद हो गईं. उसकी गीली चूत में लण्ड सर्र से अंदर चला गया और मैंने उसे 15 मिनट तक चोदा और हम दोनों झड़ गए.

वह धीरे धीरे ऊपर नीचे होकर लंड की सवारी करती रही और चूत के दाने को मेरे लंड पर रगड़ती रही.

नेहा बोली- पहले मेन गेट तो बंद कर लो?मैंने गैलरी के मेन गेट की कुंडी लगाई और नेहा को दोबारा उठाकर उसके बेडरूम में ले गया. सेक्स बीएफ इंग्लिश वीडियोनम्रता भी मेरे लंड को सहला रही थी और अंडकोष दबाने के साथ ही सुपाड़े के खोल को खींच रही थी. एचडी बीएफ मूवीससुमन जोर से चिल्लाई- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मम्मीईई ईईईई नहीईई ईई! नहीं … मत करो … मर जाऊंगी. मैं तो कब से चाह रही हूं कि तुम मुझे इतनी बेदर्दी से चोदो कि मैं कहीं मुँह दिखाने के लायक भी ना बचूं.

उस दिन उसे मेरा सारा हेयरस्टाइल खराब कर दिया था, लेकिन मैंने स्टाइल बनाया भी तो उसी के लिए था.

रितेश जीजू कभी मेरे साथ मेरे रूम में सो जाते थे तो कभी हॉल में सो जाते थे. उनके मुलायम से हाथ का स्पर्श मिलते ही मेरा लंड एकदम से जैसे भड़क सा गया. मैं अभी नहीं झड़ा था सो एक दो पल रुकने के बाद मैं नीचे लेट गया और उसको अपने लंड के ऊपर सैट कर लिया.

जब वो फिर से जरा सा नार्मल सी लगी, तो मैंने उससे कहा- बस हो गया सरिता, अब मजा आएगा. मेरी छोटी बहन शुभ्रा को सजना संवरना अच्छा लगता था और मुझे छिप-छिप कर दोस्तों द्वारा दी गई मस्त राम की कहानियां पढ़ने में बड़ा मजा आता था। कहानी इतनी ज्यादा उत्तेजित होती थी कि हाथ कब लंड पर चला जाये पता ही नहीं चलता था और चैन तब तक नहीं आता था जब तक लंड को दबा-दबा कर उसका माल न निकाल लूं. अब दी ने अपना मोबाइल उठाया और मुझसे कहा- मोबाइल में काम कैसे करते हैं, मुझे सिखाओ.

मला ने वाला सेक्सी व्हिडीओ

मैंने सोचा कि यही वक्त है मौके पर चौका मारने का।मैं बोला- सबसे पहली बात तो मैं यहां पर बिल्कुल नया हूं और दूसरा मुझे अभी तक तुम्हारे जैसी कोई हॉट लड़की यहां अमेरिका में मिली नहीं है. मैं खड़ा होकर दिशा के पास गया और मुझे आता देख कर चुदासी सी दिशा खड़ी हो गई. फिर रवि बॉस ने मेरी दाईं चूची को पकड़ा और अपने मुंह में तेजी से घुसा लिया और वहशी की तरह चूसने लगा.

कुछ देर ना-नुकर करने के बाद वो समझ गयी कि मैं इतनी हिम्मत क्यों कर रहा हूँ.

इतनी बात सुनने के बाद मैं उसके निप्पल को मुँह में भरकर चूसने लगा, तो मुझे हटाते हुए बोली- दो मिनट रूको.

सुबह 8 बजे मेरी आँख खुली तो मैं बिल्कुल नंगा अपने बेड पर पड़ा था और दीपिका अपने बेडरूम में जा चुकी थी. उसके बाद फिर से मैं उसके मुँह में धक्के लगाने लगा और आखिरकार मेरा वीर्य मेरे टट्टों से चलकर मेरे लंड से होता हुआ बाहर आने को हुआ तो मैंने जूली के मुंह को पीछे की तरफ करके अपने लंड को हाथ में ले लिया. सी बीएफ हिंदी वीडियोवहां पर हमने आराम से पूरे मज़े लेते हुए चुदाई का दूसरा राउन्ड पूरा किया.

उसने मुझे अपने मुँह में दूध का घूंट भर के मुझे अपने मुँह से ही दूध पिलाया. अब मैंने अपनी टी शर्ट उतारी और उसके ना ना करते करते साड़ी, ब्लाउज, पेटीकोट और ब्रा सब उतार दिया, तमाम कोशिशों के बावजूद उसने पैन्टी नहीं उतारने दी. अभी तक मेरी चूत का दर्द खत्म नहीं हुआ है और तुम मेरी गांड को चोदने की बात कर रहे हो? गांड फिर कभी मार लेना.

बदले में मैंने नम्रता के हाथ को पकड़ा और अपने से चिपकाकर उसके गर्दन पर चुंबन जड़ते हुए उसके चूतड़ को सहलाने लगा. लंड सूंघने के बाद वो मुझसे बोली- शरद तुम्हारे वीर्य में जो नशा है, वही नशा तुम्हारे लंड को सूंघने में भी है.

मैंने चारों ओर की छतों पर नजर दौड़ाई, पर आस-पास की छत पर कोई नजर नहीं आया.

थोड़ी देर बाद वो एक बाल्टी और पौंछा लेकर आई और पौंछा लगाने लगी लेकिन तब मैंने देखा कि अब उनके एक नहीं, दोनों बूब्स बाहर हैं और एकदम पूरी तरह से. मेरे दूसरे हाथ से उसका मुंह बन्द करके मैं लगातार उसकी गांड पेलता रहा. तो मैंने मेंहदी धोई और हीना को याद करके मेंहदी को चूम लिया और कपड़े बदल कर नीचे चला गया.

पंजाबी बीएफ ओपन तुमको कभी भी किसी भी बात का डर नहीं रहेगा … और मैं तुमको कभी नुकसान भी नहीं पहुंचाऊंगा. मैंने उसकी चूची जोर से मसली, तो उसका मुँह खुल गया, तभी मैंने अपना लंड अपनी बहन के मुँह में ठूंस दिया.

अंडरवियर को भी उसने उतार फेंका और मेरे लण्ड को हाथ में लेकर देखने लगी. उन्होंने इतनी जल्दी मेरे सारे कपड़े उतार दिए कि मुझे कुछ पता ही ना चला. मैं भी उसको बालों से पकड़ कर सारा लंड उसके गले तक उतार देता था और तब तक लंड घुसेड़े रहता था, जब तक कि उसकी आंखें बाहर न आ जाती थीं.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी फुल मूवी

उन्होंने शांति से जाकर बेडरूम का दरवाजा लॉक कर दिया और धीरे धीरे बेड के पास आ गए. ब्यूटीफुल होल …” शर्मा सर नजदीक से मेरी चुत को आंखें फाड़ कर देख रहे थे- इतनी सुंदर चुत मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी!सर … आप भी मेरी तरह नंगे हो जाओ ना!” मैंने कामुक आवाज में उनको कहा. मैंने एक बार फिर ढेर सारा थूक उसकी गांड के मुँह में गिरा दिया और अपनी जीभ चला दी.

मैंने उसकी कुर्ती को उसके गले तक उठाया तो उसकी चूचियां ब्रा में क़ैद नज़र आईं. उसकी चूत के आस-पास से धार बाहर निकल रही थी, तब तक आधी कुप्पी खाली हो चुकी थी.

मेरे कपड़ों को सही जगह रखा और हम एक बार फिर बहुत लंबे चुम्बन में डूब गए.

रात को बेड पर लेटे हुए मेरे मन में दिन में हुई घटना के बारे में ही विचार आ रहे थे. अब तुम थोड़े पानी को गरम कर लो, ताकि तुम्हारी चूत की अच्छे से सफाई कर दूं. जब वासना में प्रेम का समावेश हो जाता है, तब कामक्रीड़ा एक खेल से ऊपर उठकर उपासना का रूप धर लेता है.

तभी याद आया कि अंकल जी का कड़क लंड कैसे मेरे पेट पर चुभ रहा था और अब वही लंड मेरी चूत में घुसेगा. फ़िर धीरे धीरे हमारी मुलाकातें बढ़ने लगीं और फ़िर हमने अपनी फैमिली के बारे में भी एक दूसरे को बताया, तो पता चला हम दोनों ही शादीशुदा हैं. कुछ पहले से ही सूजन थी ऊपर से जूली की कसी हुई चूत और साथ में सारा की चुदाई करके लंड लाल गाजर के जैसा हो गया था.

उसके बाद मैंने उसको पीने के लिए एक गिलास पानी दिया और हम दोनों लोग एक दूसरे से बात करने लगे.

बीएफ कॉलेज लड़की: शांत होने के बाद चाची बोली- वाह रे कमीने! तू तो बड़ा खिलाड़ी है … कल तुझे अपनी बहन से मिलवाऊंगी।अगले दिन चाची ने अपनी बहन को बुला लिया और हमारा परिचय करवाया। चाची की बहन का नाम पूनम (बदला हुआ) था. मैंने हैरत से देखते हुए ऐसे इजहार किया जैसे उसका लंड को बड़ा लम्बा समझ आया था.

शर्मा सर थोड़ा आगे आ गए, उनकी गर्म सांसें मेरी जांघों पर गुदगुदी कर रही थीं. जब मेरी चूत झड़ गयी, तब मैंने अपने चड्डी में लगे उस वीर्य को चाट लिया और फिर वही पैंटी पहन ली. उसके बाद बेडरूम में जाएँगे, नहीं तो पूरा बिस्तर खराब हो जाएगा और बदबू भी आएगी.

दोपहर को मैं जब घर आया तब मैंने देखा कि मिष्टी दी ने एक टीशर्ट और नीचे पजामा पहना हुआ है शायद उन्होंने अंदर ब्रा नहीं पहनी थी.

वो कभी मेरे ऊपर आकर मुझे किस कर रहा था, तो मैं कभी उसके ऊपर जाकर उसको किस कर रही थी. हां बस जब तुम जिस मौके में चाहोगी, मैं तुम्हारे साथ रहूंगा, लेकिन जंगल में नहीं. वैसे तो मेरा मकसद पड़ोसी भैया के घर ही जाना होता था क्योंकि मैं स्पेशल उनके लिये तैयार होकर जाती थी.