पंजाब बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,इंसान जानवर सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ग्रैंड मस्ती सेक्सी: पंजाब बीएफ सेक्सी, अंकित मुझे किस करने लगा अपनी बाहों में मुझे लेकर… वो मुझे किस कर रहा था, मैं भी अंकित का साथ दे रही थी.

सेक्सी पिक्चर ओपन सेक्सी

सब मेरे अंगों से वहीं बीच सड़क पर खेल रहे थे, कोई मेरी चूची दबा रहा था तो कोई गांड मसल रहा था तो कोई चूत में उंगली करने की कोशिश कर रहा था. व्हिडिओ सेक्स मराठीकुंवारी कॉलेज गर्ल की हिंदी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि सुमन ने टीना और फ्लॉरा से उनकी सील टूटने की कहानी सुनने की इच्छा जाहिर की तो टीना ने बताना शुरू किया कि उसकी पहली चुदाई किसने की और कैसे हुई.

जॉय ने फ्लॉरा को एक कस के थप्पड़ मार दिया और गुस्से में बोला- दुनिया का कोई बाप अपनी बेटी के साथ ऐसा नहीं कर सकता और जो करता है वो बाप नहीं हवस का पुतला होता है. हिंदी विलेज सेक्समैं आप सबको अपनी चुदाई की और भी कहानियाँ बताऊँगी, मुझे चुदवाने में बहुत मजा आता है.

मैं दिखने में बहुत ही सुंदर हूँ, मेरा बदन का आकार 34-28-34 का है यानि मेरे चूतड़ और चूचे 34″ के हैं.पंजाब बीएफ सेक्सी: मैंने कहा- मैडम! आप बुरा न मानो तो एक बात बोलूं? कहाँ आप इतनी पढ़ी लिखी, लाजवाब पर्सनॅलिटी वाली कल्चर्ड लेडी और कहाँ ये आपके साधारण से पति.

अब मैं उन्हें देख रहा था, तब वो बोलीं- शाम को तो बहुत बोल रहे थे कि मेरी गांड और मम्मे तुझे अच्छे लगते हैं.उसे उस अहसास में मजा आने लगा और वो ये भी भूल गया कि ये चूचे किसी और के हैं, उसके नहीं.

पुरुष शरीर के संवेदनशील भागों - पंजाब बीएफ सेक्सी

दोस्तो, मेरी कहानी के पिछले भाग में आप ने पढ़ा कि कैसे हम भाई बहनों ने अपने मम्मी पापा को नंगा देखा और कैसे उन्होंने हमें चाचा चाची के साथ ग्रुप सेक्स करते देखा.तब माँ का मामी से झगड़ा हुआ था और मामा और नानी भी माँ के खिलाफ थे, बस तब से आज तक ना कोई फ़ोन, ना आना-जाना.

हे भगवान… क्या गदराया बदन था मॉम का… किसी बुड्ढे का लंड भी खड़ा हो जाये. पंजाब बीएफ सेक्सी लेकिन मैं उसे इग्नोर करते हुए निकल जाता था और वो अपने रूम के लिए निकल जाती थी.

हमने शाम को बैठ कर बातें की और मैंने उससे कहा कि आज रात को हम दोनों साथ रहेंगे.

पंजाब बीएफ सेक्सी?

आप अपनी अनमोल राय मुझ तक पहुंचाइए[emailprotected]आशा करता हूँ कि अधिक से अधिक मेल मुझे प्राप्त होंगे. वो बस अपने काम के सिलसिले में आते थे, कुछ एक्सपोर्ट की फॉर्मेलिटी पूरी करनी होती थी, तो आते थे. पूरे हॉल में लगभग 40-50 लोग होंगे… और हमारी रो से 3 आगे की रो में कोई नहीं था.

जहां हम रुके, वो कोई चिंटू का ही परिचित था और मैं पहले भी उनके साथ उस घर में रुकी हूँ तो कोई प्रॉब्लम भी नहीं थी. कोई नवविवाहित जोड़ा एक महीने बाद मिल रहा हो तो आप समझ ही सकते हैं कि सेक्स के लिए वो कितना तड़पे होंगे. लेकिन तभी मैंने नोट किया कि शायद अंजलि ने मेरा खड़ा लंड नोटिस कर लिया था और वो बार-बार मुझे ही देखे जा रही थी.

मैं अंदर से बहुत डरी हुई थी, मैं बोली- प्लीज यार छोड़ दो!लेकिन सब मूड में आ चुके थे, सबका लण्ड तन के रॉड बन चुका था. एक साल बाद अचानक विक्रम की नौकरी छूट गई। नई नौकरी के लिये उसने कहां कहां नहीं ठोकरें खाईं… लेकिन नौकरी हाथ नहीं आई. मैंने कहा- नहीं भाभी जी… आपके ऊपर नजर नहीं है… और फोकट में क्यों माँगा? उसको इतना हैंडसम लड़का भी तो मिलेगा ना.

सुमन- लेकिन दीदी इतना बड़ा जाता है तो दर्द भी बहुत होता है ना?टीना- देख गौर से मेरी बात सुन. लड़के ने अपने हाथ की उंगलियों सेमेरी बीवी की चूतसे खेलना शुरू कर दिया.

दरवाज़े के साथ की दीवार में एक अलमारी बनी हुई थी जिसके किवाड़ बंद थे और उसके साथ वाले कोने में एक रस्सी बंधी थी जिस पर कुछ मर्दाना कपड़े टंगे हुए थे.

जॉन- हाँ रात को पक्का तुझे उसका स्वाद चखा दूँगा मगर ये बात हम दोनों के सिवा किसी को भी पता नहीं लगनी चाहिए.

मैंने घूम कर उसे देखा तो उसने कहा- मैं शाम को आऊंगा, साथ में घर चलेंगे. वो बोला- आराम से पकड़ ले यार… तेरा ही है।मैंने उसका खड़ा हो चुका लंड अपनी मुट्ठी में भर लिया और जींस के ऊपर से ही उसको रगड़ने और सहलाने लगा जिससे वो तनकर झटके मारने लगा. मैंने अपने होंठ अपनी बहन के होंठों पर रख दिए और किस करने लगा, वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

मैं डरते डरते बाहर गया तो आंटी ने कहा- बेटा, ज़रा घर पर आना, जरूरी काम है. मैं- देख अन्नू… तुझे पहले थोड़ा दर्द तो होगा ही और ब्लीडिंग भी हो सकती है. एक दिन की बात है, मैं जब ऑफिस से काम पूरा करके घर जा रहा था तो बस स्टैंड पर मैंने सुमन को देखा वो शायद बस का इंतजार कर रही थी.

काकू ने कविता को नीचे पेट के बल लिटाया और धीरे धीरे कविता के कन्धों और बाँहों पर तेल लगाते हुए मालिश शुरू की.

तभी राहुल को एक शरारत सूझी और वो उनके पीछे से उनकी गांड पर अपने अगले हिस्से से ठोकर मारने लगा और जब उसका लंड थोड़ा खड़ा हुआ तो उसने पैंट के ऊपर से निशाना लगा कर गांड के पास दे मारा, जिससे वो पलट कर खड़ी हो गईं. उधर शोभा भी अमन का ठोस शरीर देख कर मस्त हो गई और उसने सविता भाभी से अमन के मस्त शरीर की तारीफ़ की. साथ में ये भी कहा कि अगर शुरू के दस मिनट में उन लोगों को उसका काम अच्छा नहीं लगे तो वो केवल टैक्सी का बिल यानी 500/- लेगा.

दीदी की ननद का नाम अंजलि है और वो होशियारपुर कॉलेज में पढ़ती है और वहीं पर रहती है. सविता भाभी अमन के मोटे और लम्बे लंड को याद करते हुए अपने कपड़े उतारने लगीं. अहः अहः अ अहः अ आहा हा… हा… पपाआआआ… मैं… आयीईईईइ… ऊऊओ… ऊऊऊ… ऊऊऊऊ… आआआह्ह.

इधर टीना ने जब सुमन से पापा के साथ कुछ होने के बारे में पूछा तो सुमन ने कुछ नहीं बताया.

मडगांव कदंबा स्टॉप से मैंने रात 8 बजे की बस पकड़ी जो 2 बाय 1 स्लीपर थी. कुछ ही देर में लंड एकदम तन गया और भैया से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, उन्होंने मुझे अपने ऊपर खींचा और मुझे किस करने लगे.

पंजाब बीएफ सेक्सी सच बता तूने कभी अपनी चुत का पानी निकाला है क्या?नीतू- नहीं दीदी कसम से मैंने कभी नहीं निकाला. उसके बाद मैंने करीब 15 लड़कियों को चोदा है, पर आज तक उस दिन जैसा मज़ा हासिल नहीं कर पाया.

पंजाब बीएफ सेक्सी मैं मन ही मन खुश होती कि चलो मेरा भाई भी मुझे चाहता है और उसे भी मेरे साथ मस्ती करना है. अनामिका जी ने उस खूबसूरत सी लड़की से परिचय करवाते हुए कहा- इसका नाम रिया है.

कुछ मिनट के बाद जब मैं उसके ऊपर से उठा तो मैंने देखा मेरा लंड पूरी तरह से खून में भीगा हुआ है.

जाने अनजाने सेक्सी मूवी

यह मेरी कहानी की आखिरी हिस्सा है, पीछे के सारी कहानी और आज की कहानी केवल तीन दिन और तीन रात में घटित है. और ख़त्म ही ना हो! मेरे हाथ अपने आप उनकी नंगी पीठ पर चले गए और उनकी पीठ को सहलाने, दबोचने और नोचने लगे! मेरे हाथ कभी उनकी पीठ पर होते, कभी उनके बड़े बड़े चूतड़ों पर, कभी उनकी गर्दन पर, और कभी उनके बड़े बड़े घुंघराले बालों में!उनको भी पूरा मजा आ रहा था… उनके मुँह से हाय मेरी जान. मैंने लंड को रूबी की गांड पर टिकाया तो वह कहने लगी- नहीं, ये मैंने कभी नहीं किया.

लेकिन चूत में साबुन लगाने से उसमे जलन हो रही थी और हाथ लगाने से दर्द हो रहा था. उस दिन अचानक काले काले बादल घिर आए, बरसात के बादल तो नहीं थे… वो कुछ अनचाहे से बादल भटकते हुए जैसे इस ओर आए थे. जब होंठों को किस करने की बारी आई तो मेरे ठोड़ी पे किस किया और कंधे की तरफ बढ़ने लगा.

दिल आशीष का भी बैचैन था और शनाया का भी यानि मेरा भी; बस एक हल्की सी झिझक या यह कहो एक मर्यादा की लकीर थी जो हम दोनों जी नहीं पार कर पा रहे थे परन्तु कुछ चाहते जरूर थे.

मुझे नहीं पता था कि मैं इतना किस्मत वाला हूं कि ऐसे मर्द के दिल में जगह बनाने में कामयाब हो पाया हूं. उसी रकम से ये आलीशान मकान बना, बैंक में मोटी रकम जमा हो गई और इतना हो गया कि अब चैन से जिंदगी गुजर सकती है लेकिन विक्रम को अभी और चाहिये था। कल उसका फोन आया कि अभी एक साल और रुक कर ही वो वापस आयेगा। इसी फोन के बाद से डॉली का मूड खराब था।डॉली की पूरी बात सुनकर मेरे रवि ने कहा- तो ये बात है आपकी परेशानी की… चलिये जहां तीन साल निकल गये, वहां एक साल और निकल जायेगा. फिर मैंने अपनी टी-शर्ट उतार दी, वो मुझे पागलों की तरह किस किए जा रही थी.

क्या तुमने आज तक कभी सुना है कि किसी औरत कि मौत चुदवाने से या गांड मरवाने से हुई है?मैंने कहा- नहीं. नमस्कार दोस्तो, एक बार फिर मैं एक बार फिर अपने साथ घटी एक रसीली सी घटना का जिक्र एक कहानी के रूप में कर रहा हूँ. अब मेरे लिए कंट्रोल करना बहुत मुश्किल था तो मैंने अपना हाथ चाची के सलवार की इलास्टिक पर रखा और उसे खोलने की कोशिश करने लगा तो चाची ने ये कहकर मना कर दिया कि ये सब करने का अभी सही वक़्त नहीं है.

आह… चोद लवड़े… चोद मेरी मुनिया तरस रही है तेरे मुस्टंडे लंड के लिए… आह… भैन के लंड चोद मुझे…”फिर मैंने अपने जिन्दगी की पहली तूफानी चुदाई को प्रारम्भ किया. मैंने गांड में उंगली लगाई तो हरमीत भी यह समझ गई और बोली- साले,गांड में उंगलीक्यों डाल रहा है.

घर वालों ने साफ़ मना किया था कि जब तक पेपर न हो जाएं, तब तक घर पर मत आ जाना. मैंने चाची को हग के दौरान अपना मुँह सीधा रखा और उनके मम्मों पर अपनी ठोड़ी रखी और अपने हाथ उनकी ब्रा की पतली पट्टी पे. शाम को खेलने और खाने के बाद मैंने माँ को बोल दिया- माँ मैं मौसी के साथ सोऊंगा.

उसका फिगर 38-30-36 का था और कॉलेज के सभी लड़के उसे पटाने के लिए दिन रात मेहनत करते थे लेकी वह किसी को भाव नहीं देती थी.

साली तेरा पति जल्दी झड़ जाता है ना… इसलिए मुझे शक है कि वो तेरी बेटियों का बाप नहीं है. बस फिर क्या… मैंने ताबड़तोड़ धक्के लगाने शुरू किये और आधे घंटे बाद हम दोनों चरम पर पहुँच गए. मैं बिना वक़्त गंवाए चाची की ओर लपका और एक हाथ सीधा उनकी पैंटी पर और दूसरा उनकी गर्दन पर रखता हुआ उनको गले के नीचे चुम्बन की बारिश करने लगा.

दीदी ने कहा- डिनर कर लिया?तो मैंने कहा- हाँ दीदी, मैंने डिनर कर लिया. मैं उसको देखे जा रहा था, उसने भी मेरी आँखों में देखते हुए मेरा लंड अपने मुख में डाल लिया.

इन्होंने तो बस जिद ही पकड़ ली कि मैं भी कपड़े उतार कर घर में घूमूँ!मैंने एक दो बार टाला परन्तु ये मेरे पीछे ही पड़ गए और रसोई में आ कर मेरी कमीज़ उतारने लगे. मैं ममता को अपने ऊपर बिठाकर चोद रहा था और वो बहुत मज़े से मेरे लंड पर उछल रही थी. नहीं पापा ये नहीं हो सकता, मुझे शर्म आ रही है आप कैसी बात कर रहे हो.

दुर्गा सेक्सी फोटो

मैंने एक हाथ सोनिया की कमीज़ में डाला और उसकी ब्रा के ऊपर से उसके एक मम्मे को दबाने लगा, जिससे सोनिया को मजा आने लगा.

अब आप सभी तो जानते ही हो कि बॉक्सिंग वाले बंदे का शरीर और स्टेमिना दोनों ही अच्छे होते हैं. शायद उसे बाद में अहसास हुआ कि ऐसा नहीं करना चाहिए था, वो दोबारा उस नंबर पर कॉल करने की कोशिश करने लगी, पर मैंने तो सिम ही तोड़ दी थी. मैं लेटा था, मेरा लंड पत्थर की तरह हार्ड था और वो मेरे ऊपर खड़ी थी.

मैंने फिर धीरे से उसकी चुत में लंड डाला, उसको बहुत दर्द हुआ और मैं उसके दर्द को कम करने के लिए उसको किस करने लगा और चुचियों को चूसने लगा. तू ये बता अगर केला खाने की वजह चूसा जाए तो कैसा लगेगा?सुमन- हा हा हा पापा, आप भी ना कुछ भी. सेक्सी सेक्सी हिंदी फिल्मेंमैं भी मुस्कुरा दिया, मैंने रवि का गिलास उठाया और उसमें आधा दूध डालकर पीने लगा.

अब मैंने उसको आईने के सामने ले जा कर खड़ा किया और आँखें खोलने को कहा. मैंने तपाक से उसका एक हाथ अपने निप्पल से हटाया। तो उसने वहां से हाथ सरका कर फिर से मेरी चुत को सहलाना चालू किया। धक्के लगाते लगाते उसने एक एक करके अपनी चार उंगलियाँ मेरी चुत में घुसा दी.

और रिया का हाथ में शायद उसका लंड था मगर वो कमर भर पानी में थे तो मुझे दिखा नहीं।तभी किसी ने पीछे से पूछा- हाय सेक्सी बेब… मेरे लंड का मजा लेना चाहोगी?मैंने पलट कर देखा; एक अच्छा खासा हैंडसम लड़का खड़ा था और अपना लंड हाथ में पकड़ कर उसने मुझे ये पूछा था. जैसे ही सरपंच का पता करने जा रहा था कि तभी मैंने देखा कि सामने एक गाड़ी से एक आदमी टकराने वाला था, शायद उस गाड़ी का ब्रेक फेल हो गया था. मैंने मोनिका के पैर अपने कंधों पर रखे और लंड जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने उसे आइसक्रीम लाने को कहा, वो नंगी ही चूतड़ मटकाती हुई आइसक्रीम लेने गई. मैंने चिल्लाना शुरू किया- कम ऑन बेबी फक मी नाओ! मुझे अभी चुदाई चाहिए. उसके बाद जब मैंने तुम्हारी गांड में अपना लंड घुसाया तो तुम्हारी गांड ने भी मेरे लंड को अपने खून का टीका लगाया और मेरे लंड से शादी कर ली.

फिर अचानक ही उन्होंने मुझे अलग किया और बाथरूम गए, उसके और उसके बाद चिंटू भी.

तभी बॉस ने कहा कि ये मुझे सारा काम समझा देंगी और बॉस वहां से चले गए. दरवाजा खोलते ही वो अन्दर आ गई, मैं इससे पहले में कुछ कहता वो अन्दर आते आते सपना-सपना.

मतलब जो भी उसके जिस्म से मैं खेल रहा था, वो खेल उसकी चुत पर असर कर रहा था. इसके बाद चुदास बढ़ी तो मैं चाची के ऊपर आ गया और उनके मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा. उसने अपनी दोनों टांगें पूरी तरह खोल दी थीं और उसकी चुत के होंठ मेरे सामने थे.

ये कह कर मैंने एक ज़ोर का झटका दिया, उसकी भीगी बुर में मेरा पूरा लंड जड़ तक घुस गया. मामा जी का लंड ऊपर की ओर तना हुआ था, मामा जी ने मेरा दायाँ हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख लिया और बोले- ज़ोर से पकड़ कर ऊपर नीचा करो, जब मेरी मुँह से आह आह निकलने लगे तो एकदम से नीचे की ओर खींच कर रुक जाना!मैंने मामा जी के लंड को ज़ोर से पकड़ लिया, मामा जी ने अपने मुँह से ढेर सर थूक निकाल कर लंड पर लगाया. फिर मैंने 2 बार उसे बुला कर चोदा और दूसरी बार में मैंने उसकी गांड भी मारी.

पंजाब बीएफ सेक्सी जब उसका लिंग उसके जांघिया में छुप गया तब मैं वहां से हट कर बरामदे में वैसे ही बैठ गयी जैसे पहले बैठी थी. वो मेरे रूम पर चूड़ीदार सलवार और कुर्ता पहनकर आई थी, जिसमें उसके चूचे और मस्त गांड उभर आई थी.

खतरनाक वाला सेक्सी वीडियो

मैं आँखें मूंदे पड़ी थीवो अपने बैग में से 2 बियर के कॅन निकाल लाया और मुझे हिला कर बोला- हिमानी ले… थोड़ा पी ले… थकान उतार जाएगी. फिर 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं फिर से झड़ गई तो उसका लंड फिर से गीला हो गया. उसने अपनी दोनों टांगों मेरी मेरी टांगों में ऐसे फंसा दिया कि मैं ऊपर होऊं चोदने के लिए तो भी न होए.

अगले आधे घंटे में जब तक मैंने रसोई में सभी सामान लगा कर कमरे में गयी तो देखा की तरुण ने वहाँ एक अतिरिक्त चारपाई और बिस्तर लगा दिया था तथा मेज़ के पास अब तीन कुर्सियां पड़ी थी. मैंने चूत पर हाथ फिरा कर अपनी बीच की उंगली उसमें डाली तो वह सीत्कारें लेने लगी. बच्चों के गेम दिखाओतब हरमीत बोल उठी- सैम, ज़रा आराम से करना… अभी तक मैं गांड से कुंवारी हूँ.

जिस सोफे पर हम बैठे थे, उसके आगे एक बड़ी सी टेबल रखी थी, जब वो आगे किताब की तरफ़ झुकती तो मैं उसकी टी-शर्ट के अन्दर देखता.

वहां वो एकदम नंगी हो गई और अपने मम्मों पे हाथ घुमा कर बड़बड़ाने लगी- ओह पापा. अंकल मैंने आपको सब बताया और अब आपसे चुदवाने वाली भी हूँ तो आप भी बताओ कि माँ को कब चोदा आपने? अंकल आपका लंड तो बहुत तन गया है, मेरी चूत भी गर्म है, आप मम्मी की बात बताओ और फिर मेरी चूत चोदो.

हैलो दोस्तो, कैसे हैं आप सब… अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पढ़ कर मजा आ रहा है ना? मैं भी खूब मजा ले ले कर सेक्स कहानियां पढ़ता हूँ. जैसे ही हम एक झुग्गी में घुसे तो पाया कि रिया और उसका साथी भी वहीं मौजूद थे; रिया घुटनों के बल खड़ी होकर उसका लंड चूस रही थी. मेरी बात सुन कर तरुण वहाँ से चला गया और मैं जल्दी अपना पेटीकोट भी उतार कर सभी कपड़े के साथ ही धो दिया और खुद भी नहा ली.

मैं उठी और लंड को बुर पे सेट किया और एक बारगी अनाड़ीपन से बैठ गई लंड पे…‘उई ईई ई ई माँ आ आ आ आ आह…’ दर्द की तीखी अनुभूति हुई… एकबारगी ऐसा लगा कि साँस ही रुक गई है.

अगर सबको रिश्ता पसंद है तो अगले हफ्ते ही कोई रस्म कर देंगे और अगले महीने शादी. अब मेरा भी चुदाई का मन करने लगा था कि मणि ने अपना लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. फिर मैंने मोनिका के चूचे टी-शर्ट के ऊपर से ही दबाए, जो मेरी बड़ी बड़ी हथेलियों में समा चुके थे.

हॉट सेक्स हिंदी मेंअब वो चुदाई की उम्मीद से मुझे देख रही थी, वो कुछ नहीं बोल रही थी पर उसकी आँखें उसकी चूत का हाल ब्यान कर रही थी. वो पहले तो चुपचाप करवाता रहा, फिर बोला- दीदी आपने ये सब जानबूझ कर किया है?तो मैंने हाँ कर दी।फिर वो मुझे किस किरने लगा, मैंने उसको नंगा कर दिया और उसने मेरे कपड़े उतार दिये.

वारली सेक्सी व्हिडिओ

तो मैंने कहा- नीता मेरी जान एक किस करो, जैसे ही उसने मेरे होंठों से अपने होंठ मिलाए. रीना ने फटाफट पकौड़े बनाये, चाय पीकर रीना ने कविता से कहा- चल वैक्सिंग कर लेती हैं. मैं अंकित को बोली- क्या कर रहे हो?तो अंकित बोला- पिंकी मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ, मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ.

फिर मैं हर रोज़ एक से चुदवाती और फिर ननद रजनी को भी खेल का हिस्सा बना लिया. मुझे एक्सरसाइज करने का शौक है, जिसकी वजह से मेरा शरीर काफी हट्टा-कट्टा है. थोड़ी देर के बाद जब वो उठे तो मेरी बुर से भरभरा के वीर्य और मेरे रज का मिश्रण बाहर आ गया, मेरी जांघें और बिस्तर भीग गया और जो सुकून मिला वो शब्दों में मैं बयां नहीं कर सकती.

मैं उनके गाउन के ऊपर से ही अपनी एक हाथ से उनकी चूचियों को दबा रहा था और दूसरी से आंटी की चूत को सहला रहा था. तो दोस्तो, यह थी मेरी एक चाय वाले से हिन्दी चुदाई कहानी रेलवे लाइन के किनारे… इसके बाद एक मस्त हिंदी चुदाई स्टोरी अगली बार लिखूंगी तब तक लंड हिलाते रहिए. कुछ पल बाद मैंने हिम्मत करके फिर से हाथ रख दिया और धीरे धीरे सहलाते हुए दीदी के चूचे दबाने लगा.

मैंने अपना हाथ उसकी चुत पे ले गया और पहली बार किसी चुत को फील किया. आ गई ना लाइन पे, बहुत चिल्ला चिल्ला के रो रो के दिखा रही थी अभी!” मैंने बहूरानी के कूल्हों पर चांटे मारते हुए कहा.

मैं जीवन भर उस समय को न तो आज तक भूल पाई हूँ और न ही भविष्य में कभी भूल पाऊंगी.

मैं होश खो बैठी… उफ्फ्फ्फ़ आअह्ह्ह आह की मंद सिसकारियाँ हम दोनों को उत्तेजित कर गई. सेक्सी एचडी फुल हिंदीउसके बाद तो तुम खुद ही रोज रोज मुझसे गांड भी मरवाओगी और चुत की चुदाई भी करवाओगी. फिल्म सेक्स सेक्स सेक्सऑफिस में व्यस्त होने की वजह से और वो यूनिवर्सिटी में व्यस्त होने की वजह से हम ज्यादा मिल नहीं सकते थे मगर जब भी मिलते तो जिंदगी का पूरा लुत्फ़ उठाते थे. वैसे नीता तूने भी अभी तक मुझे खुल कर बताया नहीं कि वो लड़के क्या छेड़ते हैं और तेरा यह जिस्म कहाँ टच करते हैं?नीता भी अब गर्म हो गई थी और उसने पप्पू की टी-शर्ट को उतार दिया.

यह हिंदी में देसी चुदाई की सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं.

मैंने उसको बोला भी कि यार ये सब खुले में मत कर… लेकिन वो मान ही नहीं रहा था. मेरा नाम ममता है, मैं 49 साल की हूँ, शरीर से भारी हूँ और एक साधारण से चेहरे मोहरे वाली औरत हूँ, अकेली रहती हूँ, एक ऑफिस में काम करती हूँ। ऑफिस के बहुत से लोग मुझ पर लाइन मारते हैं, मगर मुझे पता है कि ये सब सिर्फ मेरे तन के दीवाने हैं, मेरे मन से किसी को कोई मतलब नहीं. तो उसने बताया कि उसके मामू का लड़का है, उसने उसके साथ 2 बार सेक्स किया है.

काकू मुस्कुरा दिया उसने टॉवल की गाँठ खोली और टॉवल को नीचे उसकी चूत के ऊपर ढक कर सरका दिया. मेरी पूरी सेक्स भरी कहानी मेरी मधुर सेक्सी आवाज में मुझसे सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. नेहा और मुश्ताक बातें करने लगेमुश्ताक- मजा आया जान?नेहा- तुम में जो दम है, वो तुम्हारे साथियों में नहीं है मुश्ताक, सच कहती हूं, तुम तो पागल बना देते हो.

कराड सेक्सी

प्रिया- मैंने क्या देखा?मैं- झूठ मत बोलो मैंने आपको देखा था उस छेद से आप मुझे देख रही थींप्रिया आंटी ने मुस्कुरा कर कहा- ओके नहीं बताऊंगी. भाभी ने मुझ से कहा- जो देख लिया तो देख लिया मगर अब यह बात किसी और को मत बोलना. अब वह मुझे बार-बार बुलाती है और बोलती है कि जब तक तुमसे नहीं चुद लेती हूँ.

मगर उसे थोड़ा शक हुआ अगर गुलशन जी ने लंड ना चुसवाया तो फिर उसने भी दिमाग़ दौड़ाया और फिर बोली- वाओ पापा, ये गेम तो बहुत मस्त सोचा आपने, मगर फ़्रीज़ में क्या-क्या है ये तो मुझे पता है.

तुम्हारी चुत और गांड ने मेरे लंड को अपने खून का टीका इसलिए लगाया क्योंकि तुम्हारी गांड और चुत को मेरा लंड पसंद आ गया था.

पप्पू अब नीता का मुँह चोदते हुए चूत में उंगली करने लगा जिससे नीता और तड़पने लगी. रास्ते में उसने बाइक एक रेस्तरां के सामने रोकी और कहा- चलो यार कुछ खा लेते हैं. सेक्सी वीडियो राजस्थान मेंउसने फोन की लाइट ओन करके देखा और बोली- उई माँ, इतना बड़ा और मोटा?मैंने उससे पूछा- तुम्हारे बॉयफ्रेंड का कैसा है?उसने बताया- आपकी उंगली जैसा.

पर आशीष का नहीं हुआ था, आशीष ने मुझे लिटाया और मेरे दोनों पैर अपने कंधों पर रखे और एक जोरदार शॉट में एक ही बार में पूरा लंड मेरी बुर में डाल दिया. कुछ ही पलों बाद शायद चुत को काफ़ी तेज रगड़ने से मौसी का बदन ऊपर की ओर उठा, फिर धम से खाट पर उनकी कमर गिरी और वो शांत हो गईं. जैसे ही मेरा पायजामा नीचे गिरा वैसे ही उसने मेरी निक्कर के ऊपर से मेरे लंड को चूम लिया.

वैसे अभी हो कहां?मैं- ऑफिस में!पीटर- मतलब अपने केबिन में हो या फ्लोर पर?मैं- केबिन में… बाकी सारे जा चुके हैं. कुछ देर के बाद गाड़ी मुझे किसी अज्ञात गंतव्य की ओर ले कर चल पड़ी और मैं अपने बेटे को छाती से लगाये खिड़की से बाहर भागते हुए खेत-खलिहान, पेड़-पौधे, घर-इमारतें तथा सड़कों-गलियों को देखती रही.

मैंने उसे छोड़ कर अपने हाथ दोनों तरफ फैला कर लेट गई और चुदाई का पूरा मजा लेने लगी.

एक दिन मुझे पिंकी टीचर का कॉल आया- कुछ अर्जेंट काम है, तुम मेरे ऑफिस में आ जाओ. तभी मैंने हल्का सा ढका मारा तो थोड़ा सा लंड अन्दर जाते ही ममता रानी तो उछल पड़ी- आह. कभी ये वाला पीता, कभी दूसरा… मुझे नशा सा चढ़ रहा था… और उसकी इस हरकत पर मजा भी आ रहा था.

सेक्सी मूवी गर्ल्स मैंने उसे आइसक्रीम लाने को कहा, वो नंगी ही चूतड़ मटकाती हुई आइसक्रीम लेने गई. जय ने मेरे ऊपर जरा सा रहम नहीं किया और बहुत जोरदार एक धक्का और लगा दिया.

डिनर के बाद बस ने हॉर्न मार दिया था, सभी बस में बैठने लगे थे, रश्मि टॉयलेट से आ गयी थी, सबसे आखरी में बस में चढ़ी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:अनजान जवान लड़कियों की कामुकता भरी गुलामी-2. फिर मैंने मेरे गाँव के एक लड़के जो मेरा पक्का यार था, से उससे कहलवाया कि प्रभाकर तुमसे बहुत प्यार करता है.

2019 को सेक्सी वीडियो

जब होंठों को किस करने की बारी आई तो मेरे ठोड़ी पे किस किया और कंधे की तरफ बढ़ने लगा. नीता का चेहरा सहलाते और उसके बालों में हाथ घुमाते हुए पप्पू उसका मुँह चोदते हुए बोला- आहहह साली… रंडी रूपा की छिनाल बेटी, बड़ा अच्छा लग रहा है मुझे तेरा मुँह चोदना. एक तो इतने दिनों से वो चुदी नहीं थी और फिर आज अपने पापा का हाथ सीधे चूत पर लगा तो बस उसकी चूत को बहने का मौका मिल गया.

मैं वापस अपने कमरे में आ रही थी तो पता नहीं कहाँ से एक बिल्ली आ गई, जो जोर से मेरे सामने से भागी और मैं इतनी डर गई कि मेरी समझ में ही नहीं आया कि क्या करूँ. मेरे को नीता कुछ ज्यादा ही पसंद थी और मैं उसको छूने के बहाने ढूंढता था.

तेरी गर्म चूत की कसम… कई चूतें चोदीं, पर तेरी जैसी माल आज तक नहीं मिली.

मैं- पीटर प्लीज, मत करवाओ ये सब अभी, तुम कहो तो मैं अभी आती हूँ तुम्हारे पास. हिम्मत करके मैंने धीरे से भैया का बेल्ट खोला और उनकी तरफ डरते हुए देख कर उनकी पैंट और अंडरवियर को थोड़ा नीचे करके उनके लंड का दीदार किया. अब मैंने उसे होंठों पर चूमते हुए उसके एक-एक करके सभी कपड़े उतार दिए.

हाए!साली तू तो अपनी कुँवारी ननद से भी खरा माल निकली!सुमित मस्ती में लंड चुसवा रहा था. मेरा नाम रानी है, मैं 21 साल की हूँ, पूर्वी उत्तरप्रदेश के एक छोटे कसबे में रहती हूँ. दोस्तो मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी आपको ये मुझे आप फ़ेसबुक पर मैसेज करके बताना और स्पेशल लड़कियों को बोल रहा हूँ कि मुझे ये स्टोरी पढ़ कर ज़रूर बताएं कि ये सेक्स स्टोरी कैसी लगी.

मैं उनके बाथरूम में गया और उनके नाम की मुठ मार कर वापस आकर बैठ गया.

पंजाब बीएफ सेक्सी: दोपहर को मैंने खाना बना कर डिब्बे में बंद करके थैले में डाला और वरुण को गोदी में उठा कर खेतों पर चली गयी. रात में घर जाकर हमने खाना खाया और फिर थोड़ी देर के बाद अपने-अपने कमरे में चले गए.

मेरी सीट कॉर्नर वाली थी तो एक लेडी मेरे बगल में थी और बाक़ी 2 मुझसे फासले पर थीं. अब उसकी स्पीड बढ़ गयी थी वो उसकी टांगों के बीच बैठ गया था और चूत से लेकर मम्मों तक उसने जबरदस्त तरीके से मसाज शुरू कर दी. तब हरमीत बोल उठी- सैम, ज़रा आराम से करना… अभी तक मैं गांड से कुंवारी हूँ.

वो जब वापिस आया तो सैफिना अब तक सहज हो चुकी थी उसने शहज़ाद का लंड हाथ में ले लिया, पहले कुछ देर वो उसके टोपे को होठों में ले कर चूसती रही जैसे कोई आइसक्रीम चूसते हैं, फिर धीरे-धीरे वो बिल्कुल सहज हो गई और लंड को थोड़ा ज्यादा फिर और ज्यादा मुंह में लेकर चूसने लगी.

अपना लौड़ा अच्छे से चुसवाने के बाद पप्पू ने नीता को खड़ा किया और उसे बांहों में भर कर उसके होंठ चूमने लगा. कोई नवविवाहित जोड़ा एक महीने बाद मिल रहा हो तो आप समझ ही सकते हैं कि सेक्स के लिए वो कितना तड़पे होंगे. उनकी पत्नी का नाम नीतू था और वो एक खूबसूरत महिला थीं, उम्र लगभग 52 साल की होगी, पर देखने में 45-46 साल की ही लगती थीं.