सेक्सी हॉट बीएफ देसी

छवि स्रोत,मौसम गंज बासौदा

तस्वीर का शीर्षक ,

घोड़ी बीएफ: सेक्सी हॉट बीएफ देसी, मैं दिखने में औसत हूँ, उम्र 27 साल है, रंग गोरा है और हाइट 5 फुट 8 इंच है.

मोगली इंसानी बच्चा

उस पर एक बार जिसकी भी नजर पड़ जाए, तो समझो वो उसके शरीर को पूरा निहारे बिना नहीं रहेगा. एक्सएक्सएक्सबीपीदीदी का साथ भी मेरे सर पर था, शायद वो मेरे होंठों में अपने दूध देना चाहती थी.

फिर एक दिन उमेश सर ने होमवर्क दिया था, तो कई बच्चों की तरह मैं भी उनका दिया हुआ होमवर्क नहीं कर पाया था. सेक्सी गाने वीडियो सेक्सी गानेमैंने धीरे से मामी की चूचियों को छुआ तो मेरे बदन में करंट दौड़ गया.

उनके जाने के 2 मिनट बाद वो आदमी भी उठ कर वहां से टॉयलेट की तरफ़ निकल गया.सेक्सी हॉट बीएफ देसी: हम दोनों पति पत्नी की ये सब हरकतें मेरी सास देख रही थी और मुस्कुरा रही थी।करीब 11 बजे सब सोने की तैयारी करने लगे तो मैं बहुत खुश हो गया.

मैं- उफफ्फ़ अहह … तनिष्क चोद दो मुझे … आंह … और तेज़ और तेज़ उफ्फ़ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… फक तनिष्क … चोद दे अपनी रानी को … बड़ा मजा आ रहा है.दोस्तो, आपको हमारी ये भाभी सेक्स कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल करके ज़रूर बताएं.

एक्स एक्स एक्स वीडियो खचाखच - सेक्सी हॉट बीएफ देसी

ज़ोहरा आपा को भीड़ से बचाने के चक्कर में मैं अनजाने में आपा के पिछवाड़े पर चिपक गया था.उसकी चीख निकल पड़ी- आहह आहह ऊईई आहह ऊईई ऊईई सीईई आहह!वो बोली- राज, मैं मर जाऊंगी निकाल बाहर!मैंने उसकी एक न सुनी और झटके पे झटके लगाने लगा.

मैं चंडीगढ़ में अकेला था और किसी लड़की से दोस्ती करके चुदाई चाहता था. सेक्सी हॉट बीएफ देसी क्योंकि तब जूही नाबालिग थी तो उसको नौकरी नहीं मिल सकी।अभी इसी साल 19 की होने पर उसकी नौकरी मामा के जगह मिली तो घर के कुछ हालात सुधरे।मैं और मेरी मम्मी घर घर जा कर दुल्हन का शृंगार करती हैं और मामी घर संभालती है।अब काम के साथ साथ मैंने एक कंप्यूटर का कोर्स करने के लिए एक इंस्टीट्यूट में अपना एडमिशन करवा लिया.

’अंकल जोर जोर से उंगली को मॉम की चूत में घुसा रहे थे और मॉम कामुक सिसकारियां ले रही थीं.

सेक्सी हॉट बीएफ देसी?

मैंने उसे डांटते हुए कहा- बेवकूफ औरत … दिमाग नहीं है क्या तुझमें? घर में मैं अकेला हूं तो नॉक करके अंदर आना चाहिए ना?वो बोली- माफ़ करना साहब, कुंडी नहीं लगी थी तो मैंने सोचा कि कोई नहीं है अंदर!मैं बोला- नहीं, आज तूने हद कर दी. डॉक्टर ने कुछ ऐसा बताया कि उसको डॉक्टर के बाद कुछ हफ़्तों तक जाना पड़ा. आह वो एहसास … अद्भुत … अकथनीय लाजवाब!फिर मैं धीरे धीरे दबाव बढ़ाता गया और पूरा लंड अंदर कर दिया.

जैसे ही मैंने स्टेयरिंग सम्भाला, तो निशा भाभी थोड़ी सी ऊपर को उठीं और आगे को हो गईं. कुछ देर तक मैं उसकी चूचियों को दबाता रहा और वो मजे से अपने दूधों को मेरे हाथों में दबवाती रही. फिर भी सेवादार ने हम दोनों को देख लिया था और हमें भीड़ से बाहर निकाल कर मजार के अंदर ले आया.

कुछ ही देर में हम दोनों घर पहुंचने वाले ही थे कि तेज़ बारिश आ गई और मैं तेज बाइक चलाने लगा. धीरे से मैंने उसका कुर्ता भी ऊपर उठा कर निकाल दिया अब वो सिर्फ ब्रा में मेरे सामने खड़ी थी। अब वो भी जोश में आ गयी और उसने भी मेरी टीशर्ट और जिंस निकाल कर मेरे लन्ड को अंडरवियर के ऊपर से पकड़ कर खेलने लगी।मैं उसे बिस्तर पर लेटाकर उसे ऊपर से नीचे तक चूमने लगा जिससे उसकी मादक आवाज आना शुरू हो गयी. इधर मैंने दिन में ही मौक़ा निकाल कर अपनी बीवी की घमासान चुदाई करके उसे पूरा मजा देकर चोद दिया और अपना सारा माल अपनी बीवी की बच्चेदानी में भर कर रात की नींद को पूरा करने लगा.

तब चाची ने अपने हाथ से पकड़ कर मेरे लंड को अपनी चूत पर रखा और मैंने एक धक्का दिया. उसके बाद उसने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- इस दीये के चारों तरफ हम सात फेरे लेंगे।फिर हमने दीये के चारों तरफ घूमकर सात फेरे पूरे किए।मैंने पीहू को अपने सीने से लगाते हुए कहा- अब तुम मेरी दुल्हन हो, तुम्हारे मन और इस खूबसूरत तन पर किसका अधिकार है?तो वो बोली- मेरे प्यारे भइया का … जो अब मेरे सईंया भी हैं।मैंने पीहू से कहा- अब हम सुहागरात मनाएंगे.

अब आगे:तो दोस्तो, फिर मैं माँ के कमरे में चला गया और पापा पूर्वी के पास चले गए।माँ के बारे में मन में सोच सोच के ही मेरा लंड खड़ा हो चुका था।जब मैं माँ के कमरे में गया तो वो सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में आँखें बंद करके लेटी हुई थी। माँ को पता नहीं था कि पापा की जगह मैं उनके बाजु में लेटा हुआ हूं.

उस लड़के ने कोमलप्रीत कौर का नाम लेते हुए कहा- मैं आपसे बात करना चाहता हूँ.

चाची ने छोटा ब्लाउज, चमकीली साड़ी और होंठों पर लाल लिपस्टिक लगा रखी थी. वो किसी प्यासी रांड की सी नशीली आंखों से मेरी आंखों में देख रही थी. अब मैंने दोनों को नंगा देख लिया, तो सोचने लगा कि क्या करूं … कुछ बोलूंगा, तो दीदी भी बदनाम हो जाएंगी.

दो मिनट बाद जब मॉम नॉर्मल हुईं, तो मैंने उनके कान में बोला- रानी थोड़ा दर्द होगा, पर संभाल लेना … फिर मजा आएगा … बस हिलना मत. मैंने उसके पैर फैलाये और मैंने चूत के मोटे होंठों को हटाया तब जाकर गुलाब की कली की तरह छोटी सी चूत नज़र आयी।उसकी चूत का साइज बहुत छोटा था।मैंने अपनी जीभ मेघा की चूत पर रखी और चाटने लगा। मुझे चूत चाटने में मजा आने लगा. मैंने उसको समझाया कि देखो इस चीज़ से सबसे ज़्यादा मुझे दिक्कत होनी चाहिए, जो कि मुझे नहीं है.

मैंने अपना प्लान बना कर उन्हें बोला कि सिखा तो मैं दूंगा … लेकिन आप इन कपड़ों में नहीं सीख पाएंगी.

मां ने ब्रा खोलते हुए कहा- तू चड्डी खींच कर निकाल दे और आज बिना किसी डर के मुझे चोद दे. मैं एक अंडरवियर में रह गया था और प्रिया भाभी सिर्फ़ पैंटी में मेरे सामने चित पड़ी थी. इस पर सब मान गए और हम तीनों निकल पड़े, पर काजल घर में कुछ लेने वापस अन्दर गई और बैग में अपने कपड़े लेकर आ गई.

कई बार छुट्टियों के मौके पे मेरी मौसी की लड़की मोनिका ननिहाल आती रहती है. मैंने आज हिम्मत कर ली थी और चाय लेते समय ही जानबूझ कर कप अपनी शर्ट पर गिरा लिया. उनके चूचे टाइट हो गए थे और उनकी चूचियां ब्रा को फाड़कर बाहर आने को बेताब थीं.

तब तक माँ ने अपनी ब्रा और पैंटी भी निकाल दिया।माँ इतनी जल्दी कहाँ झड़ने वाली थी। थोड़ी देर चूत चूसने के बाद अब बारी उनकी थी.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और दबाव बनाते हुए नीचे से धीरे से लंड को उसकी चूत में उतारना शुरू कर दिया. कहानी का पिछ्ला भाग:ट्रेन के सफर में मेरे शौहर की कारस्तानी-3सुबह ठीक 5 बजे मेरी नींद खुल गई और मैं उठ कर बाथरूम को चल पडी़.

सेक्सी हॉट बीएफ देसी मैंने कई बार उसके निप्पलों को जोर जोर से निचोड़ा, उसकी चूचियां मुँह में लेकर चूसीं, उसकी चूत चाटी, उंगली डाल कर उसकी चूत की मुठ मारी. हम दोनों पसीने में डूबे हुए थे।5 मिनट बाद राखी ने मेरा लौड़ा बाहर निकाला और हम अलग अलग लेट गए।आज राखी की आंखों में चमक थी।वो बाथरूम जाने को उठी तो उसको चलने में दिक्कत हो रही थी.

सेक्सी हॉट बीएफ देसी दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं मां की चुत में ही झड़ गया और उनकी चूचियों से खेलने लगा. वो सिसकारने लगी- आह्ह … राज … आह्ह … ओह्ह … मजा आ रहा है यार … ओह्ह … ऊईई … आह्ह।मैं भी उसके निप्पलों को दांतों से काट देता था तो उसकी जोर की आह्ह निकल जाती थी.

वो खुश हो गये और बोले- मेरे एक गुरूजी हैं, उनका लंड मेरे लंड से भी ज्यादा बड़ा है.

गांव की लड़कियों की सेक्सी बीएफ

मैंने अपना मुंह उसकी जांघों के बीच में उसकी चूत पर रख दिया और वो एकदम से सिहर गयी. मैंने नजर भरके उनके रसभरे मम्मों को देखा और मॉम को सोफे पर लेटा कर खुद उनके ऊपर चढ़ गया. फिर क्या हुआ?हैलो सेक्सी लेडीज़ और मोटे लंड वाले हैंडसम दोस्तो!मैं आपका दोस्त दिल्ली बॉय आज फिर एक नई कहानी ले कर आया हूं। मैं अपनी कहानियों पर कमेंट पढ़ता हूं मगर कभी करता नहीं हूं।कुछ लोग मेरी कहानी पसंद करते हैं और कुछ नहीं करते हैं.

भाभी के जिस्म के स्पर्श को महसूस करके मैंने अपना पानी निकाला और फिर मैं शांत हो गया. साथ ही एकदम पागलों की तरह भाभी के मुँह पर, गरदन पर, होंठ पर किस करने लगा. दोस्तो, आपको मेरी ये टीचर की चुदाई की कहानी कैसी लगी, कमेंट में जरूर बताएं और आगे की सेक्स कहानी के लिए भी मैं कोशिश करूंगा कि आपको लिखूं कि मैंने मैम के अलावा और कौन कौन सी लड़कियों को भी चुदाई का मजा दिया.

ज़ोहरा अपने मन में हैरान परेशान सी सोच रही थी कि इतना बड़ा लंड इस दुनिया में किसी इंसान का नहीं हो सकता.

फिर हम पटना से वेस्ट बंगाल आ गए और इस बार मैं अकेले नहीं बल्कि अपनी रखैल के साथ आया था. मैंने हंसते हुए कहा- चारू क्या बात है … संदीप ने रात को कुछ ज्यादा ही प्यार कर दिया जो अपनी निशानी तुम्हारे गले पर डाल दी।चारू शर्माते हुए बोली- हां अन्नु भैया … बाकी तो इनसे कुछ होता ही नहीं है, बस यहां वहां ऐसे निशान ही बनाते रहते हैं. मैंने बिना देर किए उसकी चूत पर अपना जीभ को टिका दिया और चुत चाटने लगा.

अंकल को किसी बात की चिंता तो थी नहीं … क्योंकि मैं जो साथ था, इसलिए उन्होंने कुछ नहीं बोला. संदीप के रोके पर ही मेरी मुलाकात संदीप ने ही अपनी पत्नी चारू से कराई थी. तो वे बोलीं- इससे तुम्हारा वीर्य अन्दर तक उतर जाए … इसीलिए मैंने दूसरा तकिया रखा है.

मैं भी अपनी जैकेट उतार कर रजाई के अंदर घुस गया और फिर शुरू हुआ असली खेल. लेकिन उसके अलावा मुझे किस किस के सामने अपना सेक्सी बदन पेश किया?आपने अब तक की सेक्स कहानीबेटे के भविष्य के लिए कई मर्दों से चुदी-1में पढ़ा कि मैं अपने बेटे की ख़ुशी के लिए एक पुलिस इंस्पेक्टर से चुदवाने के लिए राजी हो गई थी.

मॉम ने उसे हाथ से सहलाते हुए पूछा- ये उदास क्यों है?अंकल बोले- तुम पहले सोफे पर बैठो. भाभी की दोनों टांगें मेरे कंधे के ऊपर थीं मैंने अपने लंड को चुत के ऊपर सैट किया और धक्के लगाना शुरू कर दिया. मैंने उनके मुँह की गर्मी को अपने लंड पर महसूस किया तो मेरी आह निकल गई.

इशा- आह … मर गयी मम्मी!वो राजीव को धक्का मारकर अपने ऊपर से हटाने लगी.

साथ ही साथ वो अपने चूतड़ आगे खिसका कर लण्ड चूत के अन्दर लेने की कोशिश कर रही थी. उसकी इस बात से मुझे उत्तेजना आ गई और मैं समझ गया कि आज ये मुझे चुत देने की बात कर रही है. पिता जी रोज की तरह दारू ले कर आए और मां से चखना और पानी देने के लिए कहने लगे.

बड़ी बुआ ने कहा कि मयूर आज पहली बार तूने हमें ये बताया है चुदाई किसे कहते हैं, वरना तेरे फूफा तो केवल लंड से 5 मिनट चोद कर सो जाते थे … और वो भी साल में एक बार में आना … और एक महीने में दो बार चोद कर फिर से विदेश चले जाना. क्योंकि जब तक पापा थे, तब तक हर हफ्ते सुधा उनसे चुदती थी और सुधा को अपनी गांड बजवाने का भी बहुत शौक है, इसीलिए उनका पिछवाड़ा भैस की तरह बाहर आ गया है।अब उन्होंने सागर से हाथ मिलाया और फिर वो उससे उसके बारे में पूछने लगी।कुछ देर बाद जूही आयी तो मैंने उसका भी परिचय सागर से कराया.

मेरी लम्बाई 5 फुट 7 इंच है, रंग सांवला है, शरीर ठीक-ठाक है और मेरा लंड 6. आज मैं भैया आपकी दुल्हन बनकर आपके साथ सुहागरात मनाना चाहती हूं। क्या आप मुझको अपनी दुल्हन बनायेंगे?मैंने कहा- क्यों नहीं मेरी प्यारी बहना।इसके बाद वो बाहर चली गयी कुछ देर बाद वापस आयी तो वो अपने साथ सिंदूर,एक ग्लास दूध और एक जलता हुआ दीया लेकर आई।उसने कहा- पहले मेरी मांग में सिंदूर भरिये!तो मैंने उसकी मांग में सिंदूर लगा दिया. अब मैंने चारू के वस्त्रविहीन जिस्म को अपनी जिह्वा से चाटना शुरू कर दिया.

इलाहाबाद की सेक्सी बीएफ

उसने अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ा दिए थे। मैंने धक्के लगाने चालू रखे.

फिर भाभी ने मुझे साइड में किया और उन्होंने अपनी गांड के नीचे दूसरा तकिया रख दिया. मेरी सच्ची हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे बड़े भाई ने छोटी बहन को चोदा. मेरे लंड को वो अपने गले तक लेकर जा रही थी। मैं भी हैरान था कि मामी मेरे लंड को पूरा का पूरा जड़ तक चूस रही थी।करीब 7-8 मिनट की चुसाई के बाद मुझसे रहा न गया; मैंने मामी के सिर को पकड़ा और जोर जोर से लंड के धक्के देने लगा.

वो एकदम मस्त माल थी कि कोई भी देखे तो उसके नाम की मुठ मारे बिना नहीं रह पाए।मोबाइल नंबर लेने के बाद हमारी सामान्य बातें व्हाट्सएप्प पर होती रही. मैंने उसका पट्टा खींचा और बोला- साली कुतिया बहुत तड़पाया है तूने … आज जाकर मेरे नीचे आयी तू … और क्या बोली थी तू उस दिन कि कुत्ते हरामजादे शर्म कर अपनी बहन से गन्दी हरकतें करते हुए. शुभ रात्रि कविताभाभी तेज आवाज में चिल्लाई- उउउ उई मां … उउउउई … मार डाला … मेरी चूत को फाड़ दिया।दोस्तो, मैं डर गया कि कहीं मेरी छोटी बहन जाग न जाए.

तो मैंने उसकी कुंवारी चूत कैसे फाड़ी?मेरे अन्तर्वासना के पाठक दोस्तो, आप सभी को नमस्कार, मेरा नाम जयेश है. तेल की शीशी से तेल हाथ पर लेकर मैंने उसकी गांड में अच्छे से तेल लगाया और उसकी गांड को अंदर तक चिकनी कर दिया.

मैं वहां से उठाकर उसको बेडरूम में ले गया, उसको वहां बेड पर लिटाया और वहां उसको 5 मिनट किस किया. और उसने एक सीनियर लड़की का नंबर दिया और कहा- सेटिंग मत कर लेना वरना फंस जाएगा और पिटेगा।हमारे ग्रुप में तो कोई लड़की थी नहीं, इसलिए ये सब काम हमें खुद ही करने थे. मैं भी तुरंत टॉयलेट की तरफ चला गया, पर मेरे बहुत खोजने पर भी उन दोनों में से कोई भी किसी भी टॉयलेट में नहीं दिखा.

मैंने उससे ऐसे ही बातें चालू कर दीं और उससे पूछा- तुम्हारा बॉयफ्रेंड कौन है?उसने जवाब नहीं दिया … उलटे मुझसे ही पूछ लिया कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड कौन है … पहले वो बताओ, फिर मैं बता दूंगी. वो उत्सुकता से मेरा बेल्ट खोलने लगी, जिसके तुरंत बाद ही उसने मेरी जीन्स और अंडरवियर दोनों एक झटके में उतार कर फेंक दी. फिर मैंने अपने दिल को समझाया कि मुर्गी को अंडा देने तक का इंतजार करना ठीक रहेगा.

एक ही झटके में मेरा पूरा लंड अपनी दीदी की चिकनी चुत के घर में सड़ाक से घुस गया.

बदन पर लगी मेहंदी को गीले कपड़े से मैंने साफ कर लिया और अपनी रंगबिरंगी माधवी भाभी को देखा. मैं 3 से 4 जोर के धक्के मारूँगा … प्लीज हिलना मत।शांता डरकर बोली- क्या गांड चोदना जरूरी है?मैंने कहा- तू चुपचाप खड़ी रह.

रात की बात याद करके मुझे बहुत शर्म भी आ रही थी और ठरक से लौड़ा भी टाइट हो रहा था. मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]फ्रेंड की वाइफ की सेक्स कहानी का अगला भाग:एक हसीना थी एक दीवाना था- 2. मैंने घर आने से पहले ही भाभी को कॉल कर दी थी कि मैं गेट पर पहुंचने वाला हूँ, दरवाजा खुला रखना.

फिर बाजी बोली- इमरान यकीन नहीं होता कि तूने और रुबीना ने एक बच्चा पैदा कर लिया और परिवार की तरह रहते हो।मैंने कहा- बाजी, मगर अम्मी और नजमा बाजी को ये हराम लगता है. मैं उधर ही रुक गया और उसकी तरफ हाथ से हाय किया, तो उसने भी मुझे रिप्लाई दिया. पहली चुदाई बहुत मजा आया … सच में!उसके बाद हम दोनों चिपक कर सो गये सुबह चार बजे का अलार्म लगाकर क्योंकि सुबह अपनी अपनी रजाई में जाना था.

सेक्सी हॉट बीएफ देसी उसके मुंह से एकदम से कामुस सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … फक मी मैडी… आह्ह … फास्ट … फक मी कमॉन… चोदो मुझे, और तेज … आह्ह बहुत मजा आ रहा है. कुछ पल रुकने के बाद मैंने थोड़ा सा लंड बाहर निकाला और एक जोरदार फिर से धक्का दे मारा.

मराठी लड़की की बीएफ

मैंने मेरी मां और मौसी की चूत पर तो बहुत बाल देखे थे लेकिन इन दीदी की चूत एकदम सफाचट क्लीन थी. यूँ तो मैंने चुचे पहले भी चूस रखे थे, मगर उसके मम्मों में कुछ अलग ही मज़ा था. कुछ ही देर में वह भी मेरा साथ देने लगी और अपनी गांड उठाकर मेरा पूरा लंड अपनी गांड में लेने लगी.

फिर उन्होंने खुद मेरे चेहरे को पकड़ा और फिर मेरे होंठों को चूसने लगीं. करीब बीस मिनट की लंबी चुदाई के बाद मैंने अपना लंड चुत से खींचा और लंड का सारा माल उसके चेहरे पर गिरा दिया. ब्लू पिक्चर चलते हुएमैं पहले भी उन दोनों के साथ नंगा हो चुका था इसलिए मुझे जरा भी समय नहीं लगा और मैं नंगा हो गया.

और उनकी सुनहरी मेहंदी लगी चूत का रस ऐसे लग रहा था जैसे शहद का तालाब हो.

उसकी इस अदा से मैं तो घायल ही हो गया। चारू आज मुझे हुस्न की मलिका दिखाई दे रही थी. तो मोनिका ने ही बोला- विजु, एक बात बोलूं?मैं- बोलो क्या हुआ?मोनिका- मेरा दूध पियेगा?मैं- बिल्कुल … आप नाराज नहीं हो तो.

दो मिनट बाद ही मेरी बहन का फोन आया, उसने बताया कि गैस मंगवाने की जरूरत नहीं है. मैंने अपना एक हाथ चारू के कंधे पर रखा और एक प्यारी सी पप्पी उसकी गर्दन पर दे दी. मकानमालिक की बेटी से मेरी दोस्ती हो गयी थी लेकिन बात आगे नहीं बढ़ी थी.

उसकी चूचियों को चूसने के बाद मैं उसकी जांघों को चूमते हुए उसकी पैंटी निकाल फेंकी.

मैं तो जैसे अंदर तक तृप्त हो गया उनकी चूत का रस पीकर।अब रस पिलाने की बारी मेरी थी. कम्बल बिछा कर हम खेलने लगे, मेरे शौहर और एक लड़का मेरे सामने बैठे थे और एक लड़का मेरी बगल में. अगर ये अब्बू को पता चला तो वो शर्म से मर जाएंगे।फिर मैंने कहा- बाजी अब मैं क्या करूं?बाजी ने कहा- अभी हम सब घर जाएंगे और घर में बता देंगे कि रुबीना को बुखार था। मगर किसी दूसरे अस्पताल में इसकी सफाई करवा देंगे। तू 4 हजार रूपए इकठ्ठे कर ले।उसके बाद सब घर आ गए और किसी को कुछ पता नहीं चला.

चोदा चोदी की कहानियांलंड का साइज मैं आपको बता ही चुका हूं और मेरी चुदाई का स्टाइल अब आप इस कहानी में भी जल्दी ही जान लोगे. उनकी नजरों से नजरें मिलते ही मैं घबरा गया और मैंने अपनी नजरें झट से नीचे कर लीं.

हिंदी की बीएफ हिंदी की बीएफ

मैंने मम्मी की चूत के नीचे मुँह खोल लिया और मम्मी ने अपनी पेशाब से मेरी प्यास बुझा दी. ज़ोहरा के निकाह के बाद पिछले 6 साल में वो बीसियों बार अपने शौहर रफ़ीक़ के लंड का रस अपनी बच्चेदानी में ले चुकी थी. उन्होंने मुझे उनकी चूचियां घूरते देख लिया। फिर भी गुस्सा होने के बजाए मुस्कुरा कर चली गयी।मैं रात होने का इंतजार करता रहा। शाम को सब खाना खा के टीवी देखने लगे। मैं अपनी बीवी को आंखों के इशारों से कह रहा था कि आज रात में हम बहुत मस्ती करेंगे.

मैंने उसकी गांड में लंड सटा दिया और उसको घुमाकर उसके होंठों को पीने लगा. दो साल मेरी तबियत बहुत खराब थी, इस लिए मेरा स्कूल से 2 साल की पढ़ाई पिछड़ गई थी. लग रहा था जैसे उसकी खूबसूरती निखारने के लिए ही वो ट्यूबलाइट दीवार पर लगी हो।मेरी सहेली के स्तन थोड़े उभरे हुए थे और सूट का हिस्सा थोड़ा टाइट सा था क्योंकि उस जगह खिंचाव होने से वो और खूबसूरती से शरीर को तराश रहा था।थोड़ा नीचे कमर उसकी पतली सी थी और उसने अपना हाथ कमर पर रख लिया.

मुझे शक हो गया कि कहीं उन्होंने रात को हमें देख तो नहीं लिया?तभी बुआ बोली- श्रुति, हमें अभी कुछ देर बाद इनके दोस्त के यहां एक फंक्शन में जाने के लिए निकलना है. दूसरी तरफ मेरी मौसी मेरे पिता के लिंग को हाथ में लेकर हस्तमैथुन करने लगीं. मेरी गांड में उसका मोटा लंड घुसा, तो मैं बस तड़फ गई … मगर दो तीन शॉट के बाद ही मेरे मुँह से मस्त आवाजें निकलने लगीं- बसस्स … अहह उफफ्फ़!करीब आधे घंटे तक उसने अलग अलग पोज़ में मेरी चुत और गांड मारी.

हमने उसके घर में बालकनी, सीढ़ियों पर, किचन में और यहां तक की लिफ्ट लॉबी में भी सेक्स किया. मैंने आकांक्षा से पूछा- क्या हुआ आकांक्षा … तुझे बुखार हो रहा है क्या … तेरा पूरा मुँह लाल क्यों हो गया है?आकांक्षा ने हड़बड़ाकर मेरी तरफ देखा और बिना कुछ बोले वो टॉयलेट की तरफ भाग गई.

मैंने चाय का प्याला पीकर खत्म किया और कुर्सी पर आराम से बैठ गया।संदीप आया और बोला- अनुराग चाय पी तुमने?मैंने कहा- हां यार … मैंने तो दो दो बार चाय पी ली.

उसके बाद उस लड़के ने भी तेरी मां को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया और वो भी उसकी चूत चोदने लगा. साडी ऑंटीफिर तेरी मां की चूत चुदाई की फिल्म वाली एक कॉपी मैंने भी ले ली और मैं भी तेरी मां को चोदने लगा. ब्लू सेक्सी इमेजमैंने कहा- सलोनी बेबी, अब मैं तुझे कभी प्यासी नहीं रहने दूँगा … कभी भी. एकदम से वो मेरी तरफ पलटी और बोली- क्या साहब?मैंने कहा- क्या … क्या मतलब? मुझे तेरी गांड चोदनी है.

फिर दो दिन बाद हमारी मैसेज पर बात होने लगी और हम अच्छे दोस्त बन गए.

अब मैंने उसको कुतिया की तरह दोनों हाथ और पैरों पर टॉयलेट तक चलने को कहा. अब गर्ल्स के लिए सबसे ज्यादा जरूर जानकारी मेरे लंड का साइज़ क्या है इसकी बात करते हैं. ऐसे ही मालिश करते हुए मेरे हाथ मौसी के चूतड़ों को हल्का हल्का दबाने लगे.

कोई 5 मिनट की धकापेल के बाद शकील के लंड का पानी अम्मी की चुत में निकल गया. मैंने अपने लंड के ऊपर थूका और उसकी की गीली चुत में ठेलना शुरू कर दिया. पहले तो अंकल ने मेरी चूत चाटी और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से घुसाने लगे.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी

वो बोली- अरे बापरे … इतना बड़ा … क्या तुम पोर्न एक्टर हो … मैंने आज तक इतना बड़ा ओर मोटा लंड सामने से नहीं देखा. लेकिन ना तो मुझे उसका नाम मालूम था और नहीं मैंने उसको कभी देखा हुआ था. मैं अपनी जिन्दगी के इस दर्द को आप लोगों के साथ बड़ी ही हिम्मत के साथ बांट रहा हूं.

भाभी ने मुझे अपना नाम मोहिनी बताया और कहा- मेरी शादी को 2 साल हो चुके हैं और मेरे पति दुबई में काम करते हैं.

मैंने बोला- भाभी मैं कॉलबॉय नहीं हूँ … वैसे कहिए आपकी क्या फरमाइश है?भाभी बोलीं- पहले खाना खा लो, मुझे भी खाना है.

ये समझ कर वो यीशा को दूसरे रूम में खींच कर ले जाने लगा और यीशा भी चुपचाप उसके साथ चली गई. 10 मिनट की आखिरी चुदाई में हम दोनों ढेर हो गये।फिर लेट कर मैं मेघा की चूत चाटने लगा और सहलाने लगा।मेघा दर्द होने की शिकायत कर रही थी।मैंने कहा- मैं दवाई ले आऊंगा, कुछ नहीं होगा तुझे. कैटरीना का सेक्सी वीडियोफिर उसने हाथ को मेरे शॉर्ट्स के अंदर डाल लिया और अंडरवियर के ऊपर से ही लंड को सहलाने लगी.

और अम्मी मुझसे बोली- अशफ़ाक तू अपनी आपा को लेकर ज़ल्दी आ कर खाना खा ले!आपा का नाम सुनकर मुझे फिर से बीती रात का वाकिया याद आ गया. उसके हाथ मेरे बालों पर जमे थे और वो बार बार लंड से चुदाई करने के लिए कह रही थी. मैं यहीं तुम्हारे बगल में लेट गया और फिर जब तुमने अपने ऊपर खींचा, तो मैंने अपना लंड तुम्हारी चूत में घुसेड़ दिया.

फिर वो बोलीं- आप अपनी शर्ट उतार सकते हैं क्या?मैंने कहा- हां हां क्यों नहीं भाभी जी मैं तो शर्ट क्या पैंट भी उतार सकता हूँ. छोटी बुआ ने मुझे बड़ी बुआ के कमरे में भेजा और तैयार होकर आने को बोला.

यह कहकर ज़ाफिरा ने मेरी सगी बहन आइला को पकड़ लिया और उसके मम्मों को दबाने लगी.

पर वर कुछ नहीं माँ, अपनी माँ के साथ सेक्स नहीं कर सकते, ये सब मिथ्या है असल में ऐसा कुछ भी नहीं है।”माँ ने कुछ सोचते हुए कहा- ठीक है. अब आगे:नमस्कार दोस्तो मैं फिर से हाजिर हूँ अपनी कहानी को लेकर!तो पीहू को खेत में चोदने के बाद मैं उसे उसके घर छोड़ने गया। वहाँ मैंने पीहू को उसका गिफ्ट नीले रंग की जीन्स और सफेद रंग का टॉप उसे दिया।उसे पीहू लेकर काफी खुश हो गयी. हमें ऐसा करते हुए शाम के 4 बज चुके थे, पर मॉम की चूत चोदनी अभी बाकी थी.

अच्छा बदाम गाना अब आगे देसी नंगी भाभी सेक्स स्टोरी:मैंने धीरे धीरे भाभी के मम्मों पर फूल की डिज़ाइन बना डाली. मैंने इसको बोला था कि तुम कुछ नहीं कर पाओगे लेकिन इसको मेरी चूत चोदने का मन था इसलिए मैं इसको यहां लेकर आयी थी.

उसके झड़ते ही मैंने उसकी चूत का रस पूरा चाटा और उसको सीधा करके खुद उसके ऊपर आ गया. मैं कुछ चिल्लाती या कुछ बोलती, तब तक उन चाचा जी ने मेरे मुँह में मेरी पैंटी को डाल दिया. खुशबू- लेनी है?मैंने कहा- कब से मर रहा हूँ … तेरी चिकनी चुत देख कर तो लंड फटा पड़ा है.

मध्य प्रदेश बीएफ सेक्सी

कोई दो मिनट बाद भाभी को भी मजा आने लगा और वो भी मस्ती से अपनी गांड उठा उठा कर लंड अन्दर तक लेने लगीं. मैं उसके घर आने से बहुत ज़्यादा खुश थी, लेकिन मुझे आरुषि कुछ गुमसुम सी लग रही थी. फिर मैंने इसी पोजीशन में उसको सीधा किया, जिसके कारण हमारे चेहरे अब एक दूसरे से दो इंच की दूरी पर थे.

अब मैं कमरे में जा रही हूँ।और भाग कर कमरे में आ गई।पूरी रात मैं बस उस पल को याद करती रही. फिर मैं उसकी चूत के दाने को मसलने लगा और बीच बीच में चूत के दाने को चाटने लगा.

उसके हाथ मेरे बालों पर जमे थे और वो बार बार लंड से चुदाई करने के लिए कह रही थी.

मेरी बेटी- मतलब?मैं- अब देखो जब तक तुम्हारे पापा थे, वो मेरे साथ कुछ नहीं करते थे. आंटी की जवान बेटी, आंटी कीछोटी कुंवारी बहनको भी मेरे लंड ने औरत बना दिया है. किचन में मामी काम कर रही थी और सागर उनके पूरे बदन को तड़ता हुआ उनसे बात कर रहा था।कुछ देर बाद मामी काम खत्म करके बोली- चलो टी वी देखते हैं।सागर मामी के साथ बाहर हाल में टीवी के सामने पड़े सोफे पर बैठ गया.

तभी उसने एक नहीं, दो नहीं, पूरे तीन जोरदार धक्के लगातार लगाए जिससे उसका पूरा लंड मेरी चूत में घुस गया. उसने मेरे बालों में हाथ डाल लिये और मैंने उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी. थोड़ी देर बाद हम दोनों अलग हुए और कँगना मेरा हाथ पकड़ के मुझे बेडरूम की तरफ ले गई।बेडरूम में लाइट काफी कम थी.

मुझे लड़के और लड़की दोनों में इंटरेस्ट है लेकिन मुझे पहले लण्ड ही मिला.

सेक्सी हॉट बीएफ देसी: उसकी चूत खुल गई।अब मैंने लंड को अंदर तक रास्ता दिखा दिया और धक्के लगाने लगा. और उनकी सुनहरी मेहंदी लगी चूत का रस ऐसे लग रहा था जैसे शहद का तालाब हो.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट ऊपर करके उसकी पैंटी को निकाल कर एक बार उसकी पैंटी को सूंघा … आह क्या गजब की खुशबू थी उसकी पैंटी में से … थोड़ी सी पेशाब और थोड़ी उसकी कच्ची बुर का रस … दोनों आपस में मिलकर जो महक आ रही थी, वो मुझे किसी परफ़्यूम की खुशबू से कहीं ज्यादा अच्छी लग रही थी. जब हम दोनों नीचे जा रहे थे, तब भाभी ने मुझसे कहा- मुझे अपने टीवी के डिश एंटीना को सैट करने के लिए एक मैकेनिक की जरूरत है. मुझे उम्मीद नहीं थी कि मौसी अपनी चूचियां ऐसे मेरे सामने नंगी दिखा देगी.

आप लोगों की इस बारे में क्या राय है मुझे अपने विचार और सुझाव कमेंट्स जरिये जरूर बतायें.

वो स्कर्ट के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फिरा रहा था और मेरे होंठों पर किस कर रहा था. मॉम बोली- ये क्या है?बॉस बोले- तुम्हारी चूत को चोदने की मशीन है ये!बॉस ने अब मॉम को अपनी ओर खींच लिया और उसकी चूत में हाथ को रगड़ने लगे. मैंने सर उठा कर देखा तो वो फोन कान से लगाए हुए मेरी तरफ देख रही थीं और खिलखिला रही थीं.